हींग का पानी पीने के 8 फायदे और नुकसान – 8 Benefits of Hing Water in Hindi

Written by

 

हींग के फायदों को देखते हुए इसका उपयोग अधिकतर खाद्य पदार्थों में किया जाता है। ठीक इसी तरह हींग का पानी भी लाभदायक होता है। प्राचीन काल से ही लोग कई समस्याओं से बचने के लिए हींग के पानी का उपयोग करते आ रहे हैं। आखिर हींग के पानी में ऐसे कौन से गुण होते हैं, जो इसे इतना फायदेमंद बनाते हैं, जानने के लिए इस लेख को पढ़ें। यहां हींग का पानी पीने के फायदे ही नहीं, बल्कि हींग पानी बनाने का तरीका और अधिकता होने पर हींग का पानी पीने के नुकसान की जानकारी दी गई है।

आगे पढ़ें

सबसे पहले जानते हैं कि हींग पानी पीने के फायदे क्या-क्या होते हैं।

हींग का पानी पीने के 8 फायदे – Hing Ka Pani Peene Ke Fayde in Hindi

हींग के फायदे की तरह ही हींग पानी के फायदे भी हो सकते हैं। लेख में आगे बढ़ते हुए हींग का पानी पीने के फायदे विस्तार से जानिए।

1.पाचन के लिए

पाचन से जुड़ी किसी तरह की समस्या है, तो इससे राहत पाने के लिए हींग पानी का उपयोग कर सकते हैं। एनसीबीआई (नेशनल सेंटर फॉर बायोटेक्नोलॉजी इंफॉर्मेशन) की वेबसाइट पर प्रकाशित एक रिसर्च में भी यह बात प्रमाणित हुई है। शोध के अनुसार, हींग में डाइजेस्टिव स्टीमुलेंट प्रभाव होता है, जो लार (सलाइवा) स्राव और सलाइवारी एमिलेज यानी एंजाइम की गतिविधि बढ़ा सकता है (1 )।

साथ ही यह बाइल फ्लो यानी पित्त के प्रवाह को उत्तेजित कर डायटरी लिपिड के पाचन में मदद कर सकता है। यही नहीं, बाइल एसिड का सिक्रिशन भी हींग पानी से बढ़ सकता है, जो खाना पचाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। बस इसके लिए हींग को गर्म पानी में अच्छे से घोलकर उपयोग करना होगा (1 )।

2.चयापचय में सुधार

हींग पानी पीने के फायदे में चयापचय को बेहतर करना भी शामिल है। एक वैज्ञानिक रिसर्च की मानें, तो हींग में मेटाबॉलिक गतिविधि होती है। यह गतिविधि चयापचय को बेहतर करने में मदद कर सकती है। इसके लिए भी हींग को गुनगुने पानी में मिलाकर पीना होगा। शोध में भी बताया गया है कि गुनगुना हींग पानी पीने से मेटाबॉलिक गतिविधि बेहतर हो सकती है (1 )।

3.वजन घटाने के लिए

वजन कम करने के लिए भी हींग का पानी पीने के फायदे देखे जा सकते हैं। इस संबंध में प्रकाशित एक वैज्ञानिक अध्ययन के मुताबिक, हींग में एंटी ओबेसिटी और फैट लोवरिंग प्रभाव होता है। इनकी मदद से शरीर के वजन के साथ ही फैट को भी कम किया जा सकता है। इससे वजन नियंत्रण में भी मदद मिल सकती है (1 )।

4.ब्लड शुगर के स्तर का नियंत्रण

हींग का पानी ब्लड शुगर को संतुलित कर सकता है। एक वैज्ञानिक रिसर्च के अनुसार, हींग को पानी में मिलाकर सेवन करने से रक्त शुगर का स्तर कम होता है। दरअसल, इसमें हाइपोग्लाइसेमिक प्रभाव होता है, जिसे ब्लड शुगर कम करने के लिए जाना जाता है। इससे मधुमेह के रोगियों को फायदा पहुंच सकता है (2 )।

5.कैंसर से बचाव

कैंसर से बचाव करने में हींग का पानी कुछ हद तक सहायक हो सकता है। इस संबंध में किए गए एक वैज्ञानिक अध्ययन में दिया है कि हींग एक तरह से एंटी कैंसर का काम कर सकता है। इसकी मदद से पेट संबंधी कैंसर से बचा सकता है। साथ ही हींग में कीमोप्रिवेंटिव एजेंट होते हैं। इससे कैंसर को बढ़ने से रोका जा सकता है। इसके लिए हींग को पानी में घोलकर पी सकते हैं (3)।

6.सर्दी से राहत

हींग का पानी पीने के फायदे में सर्दी से राहत पाना भी शामिल है। एक वैज्ञानिक शोध की मानें, तो हींग को सर्दी के पारंपरिक इलाज के तौर पर इस्तेमाल किया जाता है (4 )। दरअसल, हींग में एंटी-इंफ्लूएंजा और एंटी वायरल प्रभाव होते हैं, जो वायरल इंफेक्शन को रोकने का काम कर सकते हैं (5 )। सर्दी भी एक तरह का वायरल इंफेक्शन ही होता है (6 )। इसी वजह से हींग के पानी को सर्दी में लाभकारी माना जाता है।

7.सिरदर्द कम करने के लिए

हींग पानी पीने के फायदे में सिर दर्द को भी गिना जाता है। इससे जुड़े एक मेडिकल रिसर्च में दिया है कि हींग को उचित मात्रा में पानी में मिलाकर सेवन करने से माइग्रेन और सिरदर्द से राहत मिल सकती है। ध्यान दें कि इसका अधिक सेवन करने से सिरदर्द हो सकता है (7)। इसी वजह से हींग की मात्रा पर जरूर गौर करें।

8.मासिक धर्म के दर्द से छुटकारा

मासिक धर्म के समय अधिक दर्द होने पर हींग के पानी का उपयोग किया जा सकता है (5 )। एक वैज्ञानिक अध्ययन में दिया है कि हींग डिसमेनोरिया यानी मासिक धर्म के दौरान होने वाले दर्द में प्रभावी साबित हो सकता है (8 )। ऐसे में माना जा सकता है कि हींग का पानी पीने के फायदे में मासिक धर्म के दर्द से राहत पाना भी शामिल है।

पढ़ना जारी रखें

आइए, अब जान लेते हैं कि हींग का पानी कैसे बनता है।

हींग का पानी बनाने की विधि

हींग का पानी बनाने के लिए बहुत कम सामग्री की आवश्यकता होती है, जिस कारण इसे हर कोई घर में आसानी से बना सकता है। इसे बनाने का तरीका कुछ इस प्रकार है।

सामग्री :

  • चुटकी भर हींग पाउडर
  • आधा गिलास पानी

इसे बनाने की विधि :

  • सबसे पहले पानी को हल्का गर्म कर लें।
  • फिर इस पानी में हींग पाउडर डालकर अच्छी तरह मिक्स करें।
  • अब थोड़ा ठंडा होने पर इसका सेवन कर सकते हैं।

नीचे और जानकारी है

लेख के अगले भाग में हम हींग पानी पीने के तरीके बता रहे हैं।

हींग का पानी पीने का तरीका

हींग के पानी को कई तरह से इस्तेमाल कर सकते हैं। नीचे हम इसी उपयोग को जानिए।

कैसे और कब करें उपयोग :

  • नींबू डालकर हींग पानी पी सकते हैं।
  • हींग के पानी में शहद मिलाकर सेवन कर सकते हैं।
  • इसके पानी में गुड़ को अच्छी तरह मिलाकर पी सकते हैं।
  • नॉर्मल हींग पानी की जगह गुनगुने हींग पानी का सेवन किया जा सकता है।

कितना करें उपयोग :

  • आधा गिलास पानी में चुटकी भर हींग पाउडर डाल सकते हैं। इसकी सही मात्रा जानने के लिए डायटीशियन की मदद जरूर लें, क्योंकि इसकी मात्रा उम्र और लिंग के आधार पर अलग-अलग हो सकती है।

लेख में बने रहें

अब हम हींग का पानी पीने के नुकसान की जानकारी दे रहे हैं।

हींग का पानी पीने के नुकसान – Side Effects of Drinking Hing Water In Hindi

हींग पानी को हमेशा सीमित मात्रा में लेना चाहिए। इसे अधिक लेने पर हींग के नुकसान हो सकते हैं। हींग का पानी पीने के नुकसान में ये शामिल हैं (1) :

  • इसकी अधिकता से मुंह में सूजन हो सकती है।
  • कुछ लोगों को इससे पेट फूलने और दस्त जैसी पेट संबंधी समस्या हो सकती है।
  • हींग पानी का अधिक मात्रा में सेवन एंग्जायटी यानी चिंता और सिरदर्द का कारण बन सकता है।
  • गर्भवती महिलाओं को हींग लेने से माना किया जाता है।

हींग का उयोग कई समस्याओं में औषधि के रूप में किया जाता है। इसे इस्तेमाल करने का सबसे आसान और प्रभावी तरीका हींग पानी का सेवन करना है। बस इसे पानी में सीमित मात्रा में उपयोग करना चाहिए, तभी इसके फायदे होते हैं। इसकी अधिकता होने पर हींग पानी के नुकसान नजर आ सकते हैं। ऐसे में एक बार डायटिशियन से संपर्क करके हींग पानी में मिलाए जाने वाले हींग की सही मात्रा को जान लें। साथ ही अगर किसी बीमारी या कोई दवाई ले रहे हैं, तो बिना डॉक्टर के परामर्श के इसका सेवन करने से बचें।

अक्सर पूछे जाने वाले सवाल

क्या हींग का पानी त्वचा के लिए अच्छा है?

जी हां, हींग का पानी त्वचा के लिए अच्छा हो सकता है। दरअसल, हींग में एंटीऑक्सीडेंट प्रभाव होते हैं, जो त्वचा को सूरज की यूवी किरणों से सुरक्षा प्रदान कर सकते हैं (9)।

क्या मैं रोज हींग का पानी पी सकता हूं?

जी हां, हींग का पानी रोजाना सीमित मात्रा में पी सकते हैं। इसे रोजाना लेने से चार हफ्तों में मधुमेह की स्थिति में सुधार हो सकता है (2)।

Sources

Articles on StyleCraze are backed by verified information from peer-reviewed and academic research papers, reputed organizations, research institutions, and medical associations to ensure accuracy and relevance. Read our editorial policy to learn more.

  1. Biological activities and medicinal properties of Asafoetida: A review
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC5506628/
  2. Antihyperglycemic Effect of Asafoetida (Ferula assafoetida Oleo-Gum-Resin) in Streptozotocin-induced Diabetic Rats
    http://citeseerx.ist.psu.edu/viewdoc/download;jsessionid=DB248A4DAD147A86003D8B03BCC8401F?doi=10.1.1.389.4077&rep=rep1&type=pdf
  3. Chemopreventive efficacy of different doses of Ferula asafoetida oleo-gum-resin against 1 2-dimethylhydrazine (DMH) induced rat colon carcinogenesis
    http://www.phytopharmajournal.com/Vol4_Issue6_02.pdf
  4. Evaluation of Bronchoprotective Effect of Ferula Asafetida in Guinea pigs
    http://www.iosrjournals.org/iosr-jdms/papers/Vol16-issue3/Version-13/E1603131922.pdf
  5. Medicinal properties of some Indian spices
    https://citeseerx.ist.psu.edu/viewdoc/download?doi=10.1.1.1045.5278&rep=rep1&type=pdf
  6. The Common Cold
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC7152197/
  7. Ferula foetida“Hing”: A Review
    https://www.rjpbcs.com/pdf/2012_3(2)/[92].pdf
  8. CONCEPT AND MANAGEMENT OF DYSMENORRHEA IN UNANI SYSTEM OF MEDICINE Shabir Ahmad Bhat1
    Aysha Raza2
  9. Effects of Oleo Gum Resin of Ferula assa-foetida L. on Senescence in Human Dermal Fibroblasts
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC5633674/
Was this article helpful?
The following two tabs change content below.
भूपेंद्र वर्मा ने सेंट थॉमस कॉलेज से बीजेएमसी और एमआईटी एडीटी यूनिवर्सिटी से एमजेएमसी किया है। भूपेंद्र को लेखक के तौर पर फ्रीलांसिंग में काम करते 2 साल हो गए हैं। इनकी लिखी हुई कविताएं, गाने और रैप हर किसी को पसंद आते हैं। यह अपने लेखन और रैप करने के अनोखे स्टाइल की वजह से जाने जाते हैं। इन्होंने कुछ डॉक्यूमेंट्री फिल्म की स्टोरी और डायलॉग्स भी लिखे हैं। इन्हें संगीत सुनना, फिल्में देखना और घूमना पसंद है।

ताज़े आलेख