सामग्री और उपयोग

आम के 25 फायदे, उपयोग और नुकसान – Mango Benefits, Uses and Side Effects in Hindi

by
आम के 25 फायदे, उपयोग और नुकसान – Mango Benefits, Uses and Side Effects in Hindi Hyderabd040-395603080 August 28, 2019

भले ही गर्मी का मौसम चुभन भरा हो, फिर भी सभी को इस मौसम का इंतजार रहता है। अब आप सोचेंगे ऐसा क्यों, तो इसका जवाब मीठा-मीठा आम है। शायद ही कोई ऐसा होगा, जिसे गर्मियों में आम खाना पसंद नहीं होगा। आम का नाम सुनते ही, आपको इससे जुड़े अपने कई पुराने किस्से याद आ गए होंगे, जो आम के इर्द-गिर्द घूमते हैं। इसमें कोई दो राय नहीं कि आम सिर्फ फलों का राजा नहीं है, बल्कि आम के गुण कई हैं। स्टाइलक्रेज के इस लेख में हम आम के फायदे बता रहे हैं, तो आम के लाभ जानने के लिए जरूर पढ़ें यह लेख।

विषय सूची


आम के फायदे जानने से पहले हम आम से जुड़ी कुछ रोचक बातें जान लेते हैं।

आम क्या है? आम के बारे में जानिए कुछ दिलचस्प बातें

फलों का राजा आम लगभग हर जगह प्रसिद्ध है। कहते हैं न मीठी बोली और मीठा व्यवहार हर किसी का दिल जीत लेता है, वैसे ही आम की मीठी खूशबू और मिठास इसे फलों के राजा की उपाधि देती है। आम के बारे में कुछ दिलचस्प बातें इस प्रकार हैं :

  • आम का स्वाद ही नहीं, बल्कि इसका नाम भी बहुत मायने रखता है। आपको जानकर हैरानी हो सकती है कि आम के हर नाम के पीछे एक कहानी छुपी है।
  • आम जब थोड़ा कच्चा रहता है, तो उसमें विटामिन-सी की मात्रा ज्यादा होती है। वहीं, जब यह पक जाता है, तो इसमें विटामिन-ए की मात्रा अधिक हो जाती है।
  • आम का वैज्ञानिक नाम मेंगीफेरा इंडिका है और संस्कृत में आम को आम्रः कहते हैं।
  • आम उत्पादन की अगर बात करें, तो इसमें भारत का नाम सबसे पहले आता है। आम उत्पादन के मामले में भारत नंबर-1 है।
  • अल्फांसो (Alphonso) सबसे महंगे और चर्चित आमों में से एक है। अल्फांसो (Alphonso) की खेती मुख्य रूप से भारत के पश्चिमी भाग में की जाती है, जिसमें रत्नागिरी, रायगढ़ और भारत का कोंकण क्षेत्र शामिल है।
  • दुनिया भर में अन्य फलों की तुलना में सबसे ज्यादा आम खाया जाता है।
  • लोगों का मानना है कि आम की टोकरी देना दोस्ती का प्रतीक होता है।
  • कई लोगों का मानना है कि ऐसे कई आम के पेड़ हैं, जो 300 साल पुराने हैं। इन पेड़ों पर आज भी आम का मौसम आने पर फल लगते हैं।
  • आम को भारत का राष्ट्रीय फल कहा गया है। आम सिर्फ भारत ही नहीं, बल्कि पाकिस्तान और फिलीपीन्स का भी राष्ट्रीय फल है।
  • आम के पेड़ बांग्लादेश का राष्ट्रीय पेड़ है।
  • दिल्ली में ‘अंतरराष्ट्रीय मैंगो फेस्टिवल’ (International Mango Festival) का आयोजन होता है, जिसमें आम की कई किस्मों की प्रदर्शनी लगती है और आम खाने की कई तरह की प्रतियोगिताएं भी होती हैं।
  • आम के इस फेस्टिवल में कई दुर्लभ किस्म के आम देखने को मिलते हैं।
  • आम की लगभग 100 से भी ज्यादा किस्में पाई जाती हैं।
  • आम कई रंगों में आते हैं जैसे – हरा, लाल, पीला आदि। इतना ही नहीं, आम अलग-अलग आकार के भी होते हैं।
  • अगर सबसे भारी आम की बात करें, तो इसमें सहारनपुर के हाथीझूल आम का नाम आता है। इस एक आम का वजन करीब तीन से चार किलो तक हो सकता है।
  • कई लोग कच्चे आम का सेवन करना भी पसंद करते हैं। कच्चे आम में अगर नमक-मिर्च लगाकर खाया जाए, तो इसका स्वाद और बढ़ जाता है।
  • आम को खाते वक्त सावधानी बरतनी भी जरूरी है, क्योंकि कुछ आमों की प्रजातियों में कीड़े जल्दी लग सकते हैं। इसलिए, जब भी आम खाएं उसे पहले थोड़ा काटकर देख लें।
  • आपको जानकर हैरानी हो सकती है कि आम के साथ-साथ आम के पत्ते और छिलके भी फायदेमंद होते हैं। आम के पत्तों को न सिर्फ पूजा में और घर के द्वार में लगाने के लिए उपयोग किया जाता है, बल्कि कई प्रकार की दवाइयां बनाने में भी इसका उपयोग किया जाता है।
  • लोगों का मानना है कि भगवान बुद्ध आम के पेड़ के नीचे ही बैठकर ध्यान किया करते थे।
  • आम खरीदते वक्त उसके रंग पर न जाएं, जरूरी नहीं कि लाल या पीला आम पका हुआ हो।

नोट : इनमें से कुछ रोचक बातें लोगों की मान्यताओं और धारणाओं पर आधारित हैं। ये बातें कितनी सही हैं, उस बारे में ठीक-ठीक बोलना मुश्किल है।

क्या आम आपकी सेहत के लिए अच्छे हैं?

एक ऑस्ट्रेलियाई अध्ययन में आम को स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद माना गया है, क्योंकि इसमें कुछ बायोएक्टिव यौगिक होते हैं, जो सेहत के लिए फायदेमंद होते हैं (1)। आयोवा डिपार्टमेंट ऑफ पब्लिक हेल्थ (Iowa Department of Public Health) द्वारा प्रकाशित एक रिपोर्ट में कहा गया है कि आम में बीटा-कैरोटीन की मात्रा अधिक होती है, जो शरीर को कई बीमारियों से बचाने में कारगर है। आम में लगभग 20 विभिन्न खनिज और विटामिन होते हैं, जो इसे सबसे अधिक पोषक तत्व युक्त फलों में से एक बनाते हैं (2)। आम कई बीमारियां जैसे – कैंसर, सूजन, ह्रदय संबंधी समस्याएं और अन्य तरह की परेशानियों से बचाव कर सकता है(3)। यही कारण है कि आम के गुण कई हैं।

इससे पहले कि आप आम के फायदे जानें, आपको हम आम के कुछ मुख्य प्रकार बता रहे हैं।

आम के प्रकार – Types of Mango in Hindi

Types of Mango in Hindi Pinit

Shutterstock

वैसे तो दुनियाभर में आम की 400 से ज्यादा किस्म हैं, लेकिन उन सभी के बारे में बताना संभव नहीं है। इसलिए, हम आम की सबसे प्रसिद्ध प्रजातियों के बारे में बता रहे हैं।

  • अल्फांसो – महाराष्ट्र के रत्नागिरी में उत्पन्न होता है।
  • हिमसागर – पश्चिम बंगाल में उत्पन्न होने वाला आम।
  • बंगनपल्ली – आंध्र प्रदेश में उत्पन्न होने वाला आम।
  • दसेहरी – लखनऊ और मलिहाबाद में होने वाला आम।
  • बादामी – कर्नाटक में उत्पन्न होने वाला आम। इसे कर्नाटक का अल्फांसो भी कहा जाता है।
  • केसर – गुजरात के सौराष्ट्र में उत्पन्न होने वाला आम।
  • तोतापुरी – आंध्र प्रदेश, तेलंगाना, तमिलनाडु और कर्नाटक में उत्पन्न होने वाला आम।
  • लंगड़ा – वाराणसी, उत्तर प्रदेश में उगाया जाने वाला आम।
  • मनकुरद और मुसरद – यह आम गोवा में पाया जाता है।
  • मालदा – इसकी खेती बिहार के दीघा में होती है।
  • जर्दालू – यह भी बिहार में पाया जाने वाला आम है।
  • नीलम – यह आम हैदराबाद में पाया जाता है।

आम के बारे में इतना कुछ जानने के बाद बारी आती है, इसके फायदे जानने की। नीचे हम आपको आम के गुण के बारे में बता रहे हैं। इनके बारे में जानने के बाद आपको आम का स्वाद पहले से और ज्यादा मीठा लगने लगेगा।

आम के फायदे – Benefits of Mango in Hindi

यहां हम गुणों और स्वाद से भरपूर आम के फायदे बता रहे हैं। नीचे हम न सिर्फ सेहत के लिए, बल्कि त्वचा और बालों के लिए भी आम के फायदे बता रहे हैं।

1. कैंसर के लिए आम खाने के फायदे

Benefits of mango for Cancer in hindi Pinit

Shutterstock

लोगों की खराब जीवनशैली की वजह से दिन-ब-दिन कैंसर का खतरा बढ़ रहा है। इसलिए, खाने-पीने का ध्यान रखना जरूरी है। खाने की बात करें, तो आम कैंसर जैसी घातक बीमारी का खतरा कम कर सकता है। आम के फल के गूदे में कैरोटिनॉइड, एस्कॉर्बिक एसिड, टरपेनोइड्स और पॉलीफेनॉल्स होते हैं। इन तमाम खूबियों के कारण आम में कैंसर के खतरे को कम करने का गुण होता है (4)। 2010 में किए गए एक वैज्ञानिक अध्ययन ने भी आम के एंटी-कार्सिनोजेनिक प्रभावों का समर्थन किया है (5)।

आम में मौजूद एंटीकैंसर गुण को मैंगिफरिन (mangiferin) का नाम दिया गया है, जो फलों में पाया जाने वाला यौगिक है (6)। मैंगिफरिन पेट व लिवर में कैंसर कोशिकाओं और अन्य ट्यूमर कोशिकाओं को बढ़ने से रोकता है (7)। 2015 में किए गए एक अन्य अध्ययन में पाया गया कि आम के पॉलीफेनॉल्स स्तन कैंसर को दबा देते हैं (8)। टेक्सास ए एंड एम यूनिवर्सिटी (Texas A&M University) द्वारा प्रकाशित एक रिपोर्ट के अनुसार, आम में मौजूद पॉलीफेनॉलिक यौगिकों में एंटीऑक्सीडेंट गुण होते हैं, जो ऑक्सिडेटिव स्ट्रेस को कम करने में मदद करते हैं (ऑक्सिडेटिव स्ट्रेस कैंसर जैसी घातक बीमारियों का कारण बन सकता है)। इसके अलावा, इन यौगिकों में एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण भी होता है (9)।

2. दिल के लिए आम खाने के फायदे

ह्रदय स्वस्थ, तो आप स्वस्थ। ह्रदय को स्वस्थ रखने के लिए लोग खाने का खास ध्यान रखते हैं। अगर आप मौसमी फल आम को भी अपनी डायट में शामिल कर लें, तो दिल अच्छी तरह स्वस्थ हो सकता है। आम के सेवन से दिल की बीमारी का भी खतरा कम हो सकता है। इसमें मौजूद पोषक तत्व दिल को स्वस्थ रखने में मदद कर सकते हैं (10) (11)। इसलिए, आम के मौसम में इसका सेवन करना न भूलें।

3. रोग प्रतिरोधक शक्ति के लिए आम के फायदे

Mango for disease resistant power in hindi Pinit

Shutterstock

अगर शरीर को स्वस्थ रखना है, तो रोग प्रतिरोधक क्षमता का सही होना बहुत जरूरी है। अगर ऐसा नहीं हुआ, तो मौसम बदलने से या धूल-मिट्टी के कारण आसानी से शरीर संक्रमण का शिकार हो सकता है। इसलिए, आम को अपने डाइट में शामिल कर आप अपनी रोग प्रतिरोधक शक्ति को बढ़ा सकते हैं। रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने में विटामिन-सी काफी मदद करता है और आम विटामिन-सी से भरपूर है (12) (13)। भारत के राजस्थान में किए गए एक अध्ययन के अनुसार, विटामिन-सी एलर्जी की समस्या को कम करता है और संक्रमण से लड़ने में मदद कर सकता है (14)। इसलिए, इसका सेवन न सिर्फ स्वाद के लिए, बल्कि अपनी सही सेहत के लिए भी करें।

4. कोलेस्ट्रॉल के लिए आम के फायदे

जिन्हें कोलेस्ट्रॉल के खतरे से बचना है, वो भी आम का सेवन कर सकते हैं। आम में प्रचुर मात्रा में न्यूट्रासिटिकल (nutraceutical) मौजूद होता है, जो कोलेस्ट्रॉल के स्तर को कम करने में मदद कर सकता है (15)। एक वैज्ञानिक अध्ययन में चूहों पर मैंगिफरिन (आम में मौजूद अहम यौगिकों में से एक) का प्रयोग किया गया, जिससे उनमें कोलेस्ट्रॉल का स्तर कम हो गया (16)। यह एचडीएल (उच्च घनत्व वाले लिपोप्रोटीन) यानी अच्छे कोलेस्ट्रॉल के स्तर को बढ़ाने में भी मदद कर सकता है।

5. पाचन के लिए आम के फायदे

Mango Benefits for Digestion in hindi Pinit

Shutterstock

आम का सेवन करने से पाचन संबंधी समस्याओं से भी राहत मिल सकती है। इसमें लैक्सेटिव (laxative) यानी पेट को साफ करने का गुण होता है। यहां तक कि इससे कब्ज की समस्या भी दूर होती है। जब कब्ज की परेशानी नहीं होगी, तो पाचन शक्ति में भी सुधार होगा (17) (18)। साथ ही आम फाइबर का अच्छा स्त्रोत है, इस कारण से भी पाचन शक्ति में सुधार होता है (19)।

6. संभोग और शुक्राणु के लिए आम के फायदे

आम में कामोत्तेजक (aphrodisiac) गुण मौजूद होते हैं, जो संभोग की इच्छा को बढ़ा सकते हैं (17)। इसके साथ ही आम में मौजूद विटामिन-ई और बीटा-कैरोटीन (vitamin E and beta-carotene) का मिश्रण शुक्राणुओं को नष्ट होने से बचा सकता है (20)।

7. आंखों के लिए आम के फायदे

Mango Benefits for Eyes in hindi Pinit

Shutterstock

शरीर के अन्य अंगों की तरह आंखों का ध्यान रखना भी जरूरी है। उम्र के साथ आंखों की रोशनी कम होना सामान्य है, लेकिन कम उम्र में ही ऐसा हो, तो इसका मतलब यह है कि पोषक तत्वों की कमी के कारण ऐसा हो रहा है। खासकर, विटामिन-ए की कमी का असर आंखों की रोशनी पर पड़ता है (21) (22)।

ऐसे में आम का सेवन आंखों को स्वस्थ रख सकता है, क्योंकि इसमें विटामिन-ए मौजूद होता है। इसके अलावा, मानव आंख के दो प्रमुख कैरोटेनॉइड हैं – ल्यूटिन और जियाजैंथिन (utein and zeaxanthin)। आम को जियाजैंथिन का समृद्ध स्रोत माना गया है और यह आंखों को स्वास्थ्य रखने में मदद कर सकता है (23), (24)। यह उम्र के साथ आंखों की रोशनी को कमजोर होने से बचा सकता है। एक अध्ययन के अनुसार, आम में मौजूद क्रिप्टोजैन्थिन (cryptoxanthin) नामक कैरोटिनॉइड उम्र के साथ होने वाले कमजोर दृष्टि की समस्या को कम करने में मदद कर सकता है (25)।

8. दिमाग के लिए आम के फायदे

अगर आम खाने के फायदे देखें, तो आम दिमाग को तेज रखने के लिए और याददाश्त मजबूत करने में भी मदद करता है। आम में मौजूद बायोएक्टिव घटक दिमाग को स्वस्थ रखता है (26)। इसके अलावा, भारत के ग्रेटर नोएडा में किए गए एक अध्ययन से साबित हुआ है कि आम के अर्क में कुछ ऐसी चीजें होती हैं, जिससे याददाश्त तेज होती है (27)। वहीं, थाईलैंड में हुए एक अन्य अध्ययन में आम में न्यूरोप्रोटेक्टिव (neuroprotective) गुण होने की पुष्टि की गई है (28)।

9. ब्लड प्रेशर के लिए आम के फायदे

Mango Benefits for Blood Pressure in hindi Pinit

Shutterstock

अगर बात करें उच्च रक्तचाप की, तो आम का सेवन बहुत फायदेमंद हो सकता है। उच्च रक्तचाप की वजह से लोगों को ह्रदय संबंधी समस्याओं का खतरा बढ़ जाता है। ऐसे में अगर आम का सेवन किया जाए, तो यह बहुत लाभकारी हो सकता है (29) (30)। इसलिए, अगर ब्लड प्रेशर के खतरे से बचना है, तो आम के मौसम में इसका सेवन जरूर करें।

10. गर्मी से बचाव के लिए आम के फायदे

ये तो सभी जानते हैं कि आम गर्मियों के मौसम का फल है। यह शरीर को गर्मियों में चलने वाली गर्म हवा यानी लू से बचा सकता है। गर्मी के दिन में पके आम का जूस पीने से गर्मी के प्रकोप से बचा जा सकता है, क्योंकि यह न सिर्फ शरीर को ताजगी देता है, बल्कि हाइड्रेट भी करता है (29)। इसके अलावा, कई लोग लू लगने से और बुखार आने से कच्चे आम को उबालकर शरीर पर लगाते हैं, ऐसा माना जाता है कि इससे शरीर ठंडा होता है।

11. डायबिटीज के लिए आम के फायदे

Benefits of mango for diabetes in hindi Pinit

Shutterstock

मधुमेह यानी डायबिटीज के मरीज कई चीजों को खाने से कतराते हैं। खासकर, आम को लेकर उन्हें उलझन रहती है कि वो इसे खाएं या नहीं, तो हम इस उलझन को दूर करते हैं। डायबिटीज में कुछ हद तक आम का सेवन किया जा सकता है। मोटे लोगों में डायबिटीज का खतरा ज्यादा होता है। मोटापे से ग्रस्त 20 वयस्कों पर किए गए अध्ययन से पता चला है कि 12 सप्ताह तक ताजे आम के आधे भाग के सेवन से रक्त शर्करा का स्तर कम हो जाता है। शोधकर्ताओं के अनुसार, आम में फाइबर और मैंगिफरिन होता है (31)। इतना ही नहीं एक अन्य अध्ययन से साबित हुआ है कि आम के छिलके के अर्क में एंटीडायबिटिक गुण होते हैं (32) (33)।

इसके अलावा, मोटापे से ग्रस्त लोगों में टाइप 2 डायबिटीज के खतरे को भी कम किया जा सकता है, क्योंकि इसमें एंटी-डायबिटिक गुण मौजूद होते हैं, जो ब्लड ग्लूकोज के स्तर में सुधार करते हैं (34) (35)। इतना ही नहीं, जिन्हें टाइप 2 डायबिटीज है, उनमें हाई कोलेस्ट्रॉल के खतरे को भी कम किया जा सकता है (36)।

नोट : आम के इन तमाम गुणों के बावजूद आप इसे खाने से पहले एक बार डॉक्टर से जरूर पूछ लें।

12. गर्भावस्था में आम खाने के फायदे

गर्भावस्था के दौरान भी आम का सेवन फायदेमंद हो सकता है। गर्भवती महिला को पोषक तत्व और पौष्टिक आहार की बहुत जरूरत होती है, खासकर विटामिन-ए की। ऐसे में आम का सेवन लाभकारी हो सकता है, क्योंकि आम विटामिन-ए से भरपूर होता है (37)। फिर भी इसका सेवन संतुलित मात्रा में ही करें, क्योंकि इसके ज्यादा सेवन से जेस्टेशनल डायबिटीज होने का खतरा बढ़ सकता है।

नोट : आम की तासीर गर्म होती है, इसलिए इसके सेवन से पहले आप डॉक्टर से सलाह जरूर कर लें।

13. वजन कम करने के लिए आम के फायदे

 Benefits of mango for weight loss in hindi Pinit

Shutterstock

आजकल मोटापा या बढ़ता वजन हर दूसरे व्यक्ति की परेशानी है। ऐसे में अगर व्यायाम व योग के साथ सही डाइट पर ध्यान दिया जाए, तो इससे छुटकारा मिल सकता है। वजन घटाने के लिए आप अपनी डाइट में आम को शामिल कर सकते हैं। सिर्फ आम ही नहीं एक अध्ययन के अनुसार आम का छिलका (जो हम आमतौर पर फेंक देते हैं) भी मददगार साबित हो सकता है (38)। इसके अलावा, आम में फाइबर होता है, जो वजन घटाने में काफी मदद कर सकता है। मिनेसोटा विश्वविद्यालय के एक अध्ययन में यह साबित हुआ कि फलों और सब्जियों में मिलने वाले डाइटरी फाइबर (dietary fiber) के सेवन से वजन घटाने में काफी सहायता हो सकती है (39)। इसलिए, अपने आहार में आम को जरूर शामिल करें।

14. अस्थमा या दमा के लिए आम के फायदे

दमा के मरीज भी आम का सेवन कर सकते हैं। आम में एंटी-अस्थमैटिक गुण मौजूद होते हैं, जिस कारण दमा के मरीजों के लिए यह फायदेमंद हो सकता है (40) (41)। सिर्फ आम ही नहीं, बल्कि इसकी गुठली भी दमा के लिए फायदेमंद हो सकती है (29)। जिन्हें एलर्जी की समस्या है या जिन्हें किसी खास तरह के फल या खाद्य पदार्थ से एलर्जी है, तो वो आम का सेवन डॉक्टर से पूछकर करें।

15. किडनी स्टोन के लिए आम के फायदे

 Benefits of Mango for Kidney Stone in hindi Pinit

Shutterstock

गुर्दे की पथरी यानी किडनी स्टोन से बचाव के लिए भी आम का सेवन लाभकारी हो सकता है। आम विटामिन-बी6 से भरपूर होता है। एक अमेरिकी अध्ययन के अनुसार, यह विटामिन ऑक्सालेट पथरी को कम कर सकता है (42)। अगर आपके शरीर में ऑक्सालेट का स्तर अधिक है, तो अतिरिक्त ऑक्सालेट कैल्शियम के साथ मिलकर गुर्दे की पथरी का कारण बन सकता है।

16. हड्डियों के लिए आम के फायदे

अगर हड्डियों को स्वस्थ रखना है, तो भी आम का सेवन करना जरूरी है। आम में विटामिन-ए और सी मौजूद होता है। साथ ही इसमें कैल्शियम भी होता है, जो हड्डियों को मजबूत व स्वस्थ रखने में मदद करता है (43) (44) (45)। इतना ही नहीं आम में ल्यूपॉल (lupeol) नामक एक यौगिक भी होता है, जो सूजन और गठिया से बचाव कर सकता है (46)।

17. खून की कमी यानी एनीमिया में आम के फायदे

benefits of mango in anemia in hindi Pinit

Shutterstock

सही खान-पान न होने से और शरीर को जरूरी पौष्टिक तत्व न मिलने से खून की कमी की समस्या हो सकती है। ऐसे में आम का सेवन लाभकारी हो सकता है। सिर्फ आम नहीं, बल्कि आम का फूल भी खून की कमी में काफी फायदेमंद हो सकता है (41) (47)। आम कई तरह के पौष्टिक तत्वों से भरा हुआ है। आम में मौजूद विटामिन-सी शरीर में आयरन के अवशोषण में मदद कर सकता है (48) और एनीमिया की समस्या से राहत दिलाने में मदद कर सकता है।

18. डायरिया के लिए आम के फायदे

यह कई लोगों को थोड़ा चौंका सकता है कि डायरिया में आम का सेवन करना फायदेमंद हो सकता है। कई बार लोग इस दौरान आम का सेवन करने से मना करते हैं, क्योंकि यह गर्म होता है। वहीं, अगर आप डॉक्टर की सलाह लेकर आम का सेवन करते हैं, तो आपको फायदा हो सकता है। आम और आम के बीज में एंटी-डायरियल (Anti-diarrheal) गुण मौजूद होते हैं (41)। इसके अलावा, सिर्फ फल नहीं, बल्कि आम के पत्ते भी लाभकारी हो सकते हैं। आम के पत्ते टैनिन से भरपूर होते हैं और डायरिया के इलाज के लिए इसे सुखाकर खाया जा सकता है (49)। इतना ही नहीं कैरेबियाई द्वीप समूह के कुछ हिस्सों में आम के पत्तों के काढ़े का उपयोग दस्त के इलाज के लिए किया जाता है (50)।

19. नशा उतारने के लिए आम के फायदे

Benefits of mango Pinit

Shutterstock

दोस्तों के साथ पार्टी करना या ऑफिस के सहकर्मियों के साथ पार्टी में जाना और शराब का सेवन करना आजकल आम हो गया है। इसमें कोई दो राय नहीं कि शराब का सेवन सेहत के लिए हानिकारक है। फिर अगर आप शराब पीते हैं, तो उसका हैंगओवर उतारने के लिए आप आमतौर पर नींबू पानी का सहारा लेते हैं। आप नींबू पानी की जगह आम का भी सेवन कर सकते हैं। आम या आम का छिलका हैंगओवर को ठीक करने में मदद कर सकता है (51)।

20. आम में हैं एंटी-अल्सर गुण

आजकल के गलत खान-पान के कारण कई तरह की पेट संबंधी समस्याएं होती है और अल्सर उन्हीं में से एक है। भूख न लगना व पेट में दर्द इसके लक्षण होते हैं। ऐसे में डॉक्टर की सलाह और दवाइयों के साथ-साथ आम का सेवन भी फायदेमंद हो सकता है। आम में एंटी-अल्सर गुण मौजूद हैं, जिससे अल्सर की समस्या से राहत मिल सकती है (52) (53) (29)। आम के पॉलीफेनोलिक सूजन को कम करने में मदद कर सकते हैं (54)।

21. थायराइड के लिए आम के फायदे

Mango Benefits for Thyroid Pinit

Shutterstock

थायराइड की समस्या को ठीक करने के लिए भी आम का सेवन किया जा सकता है। दरअसल, आम, खरबूजा और तरबूज के छिलके के मिश्रण के सेवन से थायराइड हॉर्मोन संतुलित होते हैं और थायराइड की समस्या से कुछ हद तक राहत मिल सकती है। आपको इन तीनों छिलकों के मिश्रण का पाउडर बाजार में मिल सकता है (55)।

22. लिवर के लिए आम के फायदे

पेट से जुड़ी समस्याओं में लिवर की परेशानी भी हो सकती है। ऐसे में खाने-पीने का ध्यान रखना बहुत जरूरी होता है। इस स्थिति में डॉक्टर से बात करके आप आम को अपनी डाइट में शामिल कर सकते हैं। आम में हेपटोप्रोटेक्टिव (Hepatoprotective) गुण होते हैं, जिस कारण यह लिवर को स्वस्थ रखने में मदद कर सकता है (29)।

23. मलेरिया से बचाव के लिए आम के फायदे

 Benefits of Mango for Malaria in hindi Pinit

Shutterstock

मलेरिया मच्छरों से फैलने वाली एक गंभीर बीमारी है। अगर वक्त रहते इस पर ध्यान न दिया जाए, तो इससे मरीज की जान को खतरा हो सकता है। इसलिए, इसके बचाव पर ध्यान देना जरूरी है। हालांकि, अगर किसी को मलेरिया हो गया हो, तो डॉक्टर से इलाज के साथ-साथ, डॉक्टर की सलाह लेकर आम का सेवन भी किया जा सकता है। फलों के राजा के रूप में जाना जाने वाला आम, मलेरिया जैसी घातक बीमारी से भी छुटकारा दिलाने में मदद कर सकता है। आम में एंटी-मलेरियल गुण होते हैं, जो मलेरिया से राहत दिलाने में मदद कर सकते हैं (41)। हालांकि, मलेरिया के दौरान कई लोगों को पेट की परेशानी भी हो सकती है। ऐसी स्थिति में डॉक्टरों की देखरेख में आम का सेवन करें, क्योंकि डॉक्टर आपको बता सकते हैं कि आपको कितनी मात्रा में आम खाना चाहिए।

24. त्वचा के लिए आम के फायदे

इस भागादौड़ भरे वक्त में शरीर के साथ-साथ त्वचा का ध्यान रखना भी जरूरी है। हालांकि, देखभाल के अभाव के कारण और प्रदूषण की वजह से त्वचा अपनी चमक खोने लगती है। इस स्थिति में फलों का सेवन खासकर आम का सेवन लाभकारी हो सकता है। 2013 में एक कोरियाई अध्ययन के दौरान पाया गया कि सूरज की हानिकारक किरणों (UVB) के कारण चूहों की खराब हुई त्वचा पर आम के अर्क ने सकारात्मक प्रभाव दिखाया (56)।

आम में भरपूर मात्रा में बीटा-कैरोटीन और विटामिन-ए है और एक जर्मन अध्ययन के अनुसार ये कैरोटीनॉयड त्वचा को स्वस्थ बनाने में मदद कर सकते हैं (57)। बीटा-कैरोटीन भी एक फोटोप्रोटेक्टिव एजेंट है, जो त्वचा को पराबैंगनी किरणों से बचाता है (58)। इसके अलावा, एक चीनी अध्ययन के अनुसार, आम में मौजूद पॉलीफेनोल एंटीकैंसर गतिविधि को प्रदर्शित करते हैं, जो त्वचा के कैंसर को रोक सकते हैं (59)।

इसमें मौजूद, विटामिन-ए त्वचा को तैलीय होने से बचाता है। इसलिए, अगर आप कील-मुंहासों से परेशान हैं, तो अपनी डाइट में आम को शामिल कर सकते हैं (https://www.pacific.edu/Documents/student-life/health-services/Wellness in the Workplace.V3Issue11 (2).pdf)। साथ ही आम में मौजूद विटामिन-ए त्वचा को स्वस्थ बनाता है और झुर्रियों के शुरुआती लक्षणों को कम कर सकता है (61)। इसलिए, अगर आपको त्वचा में निखार लाना है और चमक को बरकरार रखना है, तो गर्मियों में आम का सेवन जरूर करें।

25. बालों के लिए आम के फायदे

 Benefits of mango for hair Pinit

Shutterstock

त्वचा के साथ-साथ बालों की खूबसूरती भी जरूरी है। बाल अगर लंबे हों, लेकिन स्वस्थ न हों, तो कोई फायदा नहीं है। बालों को स्वस्थ बनाने के लिए सिर्फ शैंपू, कंडीशनर और तेल ही नहीं, बल्कि सही डाइट भी जरूरी है। बालों को खूबसूरत और चमकदार बनाने के लिए आप आम का सेवन कर सकते हैं। आम में प्रचुर मात्रा में विटामिन-सी पाया जाता है, जो कोलेजन उत्पादन को बढ़ावा देता है और बालों को स्वस्थ बनाने में मदद करता है (62)। इसके अलावा भी आम में कई पौष्टिक तत्व हैं, जो बालों को घना और चमकदार बना सकते हैं।

अब जब आप आम के गुण जान चुके हैं, तो लेख के अगले भाग में हम आम में मौजूद पौष्टिक तत्वों के बारे में बता रहे हैं।

आम के पौष्टिक तत्व – Mango Nutritional Value in Hindi

नीचे जानिए आम में कौन-कौन से पोषक तत्व हैं, जो इसे न सिर्फ फलों का राजा बनाते हैं, बल्कि सभी का पसंदीदा फल भी बनाते हैं (63)।

पोषक तत्वयूनिट मात्रा1- वैल्यू पर 100 ग्रामएक कप आम के टुकड़े (165 ग्राम)बिना छिलके का आम (336 ग्राम)
पानीग्राम83.46137.71280.43
ऊर्जाकेसीएल6099202
प्रोटीनग्राम0.821.352.76
टोटल लिपिडफैटग्राम0.380.631.28
कार्बोहाइड्रेटग्राम14.9824.7250.33
फाइबर, टोटल डाइटरीग्राम1.62.65.4
शुगर, टोटलग्राम13.6622.5445.90
मिनरल
कैल्शियममिलीग्राम111837
आयरनमिलीग्राम0.160.260.54
मैग्नीशियममिलीग्राम101634
फास्फोरसमिलीग्राम142347
पोटैशियममिलीग्राम168277564
सोडियममिलीग्राम123
जिंकमिलीग्राम0.090.150.30
विटामिन
विटामिन सी, टोटल एस्कॉर्बिक एसिडमिलीग्राम36.460.1122.3
थायमिनमिलीग्राम0.0280.0460.094
राइबोफ्लेविनमिलीग्राम0.0380.0630.128
नियासिनमिलीग्राम0.6691.1042.248
विटामिन-बी6मिलीग्राम0.1190.1960.400
फोलेट, डीएफईमाइक्रोग्राम4371144
विटामिन-B12माइक्रोग्राम0.000.000.00
विटामिन-ए, आर ए इमाइक्रोग्राम5489181
विटामिन-ए, आईयूआईयू108217853636
विटामिन-ई (अल्फा-टोकोफेरोल)मिलीग्राम0.901.493.02
विटामिन-डी (डी2 + डी3)माइक्रोग्राम0.00.00.0
विटामिन-डीआईयू000
विटामिन-के (फिलोकिनोन – phylloquinone)माइक्रोग्राम4.26.914.1
लिपिड
फैटी एसिड, टोटल सैचुरेटेडग्राम0.0920.1520.309
फैटी एसिड, टोटल मोनोसैचुरेटेडग्राम0.1400.2310.470
फैटी एसिड, टोटल पॉलीसैचुरेटेडग्राम0.0710.1170.239
फैटी एसिड, टोटल ट्रांसग्राम0.0000.0000.000
कोलेस्ट्रॉलमिलीग्राम000
अन्य
कैफीनमिलीग्राम000

नोट : इस चार्ट में दिए गए पौष्टिक तत्व और उनकी मात्रा कच्चे आम की है, लेकिन कच्चे आम और पके हुए आम के पौष्टिक तत्वों व मात्रा में ज्यादा अंतर नहीं होता है।

आम का फायदा तभी होगा, जब इसका सही तरीके सेवन किया जाएगा। नीचे हम आम को उपयोग करने के तरीके बतांएगे।

आम का उपयोग – How to Use Mango in Hindi

How to Use Mango in Hindi Pinit

Shutterstock

अगर बात करें आम के उपयोग की, तो आम को कई तरह से उपयोग किया जा सकता है। नीचे जानिए इनके बारे में।

  • लू से बचने के लिए कच्चे आम का पन्ना बनाकर उसका सेवन किया जा सकता है। यहां हम आम पन्ना बनाने की विधि बता रहे हैं।
सामग्री :
  • एक या दो छोटे कच्चे आम
  • काला नमक
  • चीनी
  • भुना हुआ जीरा या जीरा पाउडर
  • काली मिर्च
बनाने की विधि :
  • आम पन्ना बनाने के लिए कच्चे आम को अच्छी तरह धोकर उबाल लें।
  • फिर इसे ठंडा होने दें और जब यह ठंडा हो जाए, तो उसके छिलके को निकाल दें।
  • अब इसमें जीरा पाउडर, काली मिर्च और काला नमक स्वादानुसार मिलाएं।
  • फिर इसमें आवश्यकतानुसार ठंडा पानी मिलाकर सेवन करें।

नोट : लू लगने पर आप आम को पकाकर अपने शरीर पर लगा भी सकते हैं।

  • पके हुए आम को धोकर उसका सेवन कर सकते हैं।
  • आम का मिल्कशेक, जूस या स्मूदी बनाकर पी सकते हैं।
  • आम की आइसक्रीम बनाकर भी खा सकते हैं।
  • आम के जैम, केक व अचार का भी सेवन कर सकते हैं।
  • इसके अलावा, खाने में आमचूर पाउडर का भी सेवन किया जा सकता है।
  • आप चाहें तो कच्चे आम की सब्जी और चटनी भी बनाकर सेवन कर सकते हैं।

नोट : ध्यान रहे कि जरूरत से ज्यादा या खाली पेट आम का सेवन न करें, क्योंकि ऐसा करने पेट में दर्द की समस्या हो सकती है।

आगे हम सही आम को चुनने और लंबे समय तक सुरक्षित रखने के तरीके बता रहे हैं।

आम का चयन और लंबे समय तक सुरक्षित रखना – Selection and Storage of Mango in Hindi

Selection and Storage of Mango in Hindi Pinit

Shutterstock

एक अच्छे आम का चुनाव कई लोगों के लिए चुनौती हो सकती है। आम के मौसम में बहुत ही बड़ी मात्रा में आम की बिक्री होती है और तरह-तरह के आम लोगों को आकर्षित करते हैं। अब इसमें अगर अच्छे आम की खरीदारी करनी है, तो नीचे दिए गए बातों का ध्यान रखना जरूरी है :

  • आपको पता होना चाहिए कि आम का चयन उनकी सुगंध द्वारा किया जाना चाहिए न कि उनके रंग से। उनके रंग अलग-अलग किस्म पर निर्भर करते हैं, लेकिन उनकी खुशबू मीठी होनी चाहिए।
  • आम खरीदते वक्त उन आमों को चुनें, जिनमें काले धब्बे या खरोंच के निशान न हों।
  • आम को छूकर और दबाकर देखें। अगर आप उसी दिन आम खाना चाहते हैं, तो पका हुआ आम लें। उसे छूकर या दबाकर देखें, अगर वो दब जाए, तो आम पका हुआ है। अगर आपको आम खरीदने के एक-दो दिन बाद खाना है, तो थोड़ा कड़ा आम लें। आप इस तरह के मिक्स आम भी ले सकते हैं।

आम को लंबे वक्त तक सुरक्षित कैसे रखें?

सिर्फ खूबसूरत आम खरीदना सब कुछ नहीं होता है, बल्कि आम को लंबे वक्त तक सही और ताजा रखना भी जरूरी है। नीचे हम इसी बारे में आपको कुछ सुझाव दे रहे हैं :

  • देखा जाए तो आम एक से दो हफ्तों तक ठीक रह सकता है और इसे तीन दिन तक फ्रिज में रखा जा सकता है।
  • अगर आम कठोर और हरे रंग का है, तो उन्हें पकने के लिए कुछ दिनों के लिए भूरे रंग के पेपर बैग में रखा जाना चाहिए। उन्हें कमरे के तापमान पर और धूप से दूर तब तक संग्रहीत किया जाना चाहिए, जब तक कि वो पक न जाएं। एक बार पकने के बाद, उन्हें रेफ्रिजरेटर में रखा जा सकता है।
  • आम को जमाकर भी खाया जा सकता है। उन्हें फ्रीज करने से उनकी त्वचा काली हो जाती है, लेकिन अंदर से वो ठीक होते हैं।
  • आप आम को पूरा या टुकड़ों में काटकर जमा सकते हैं।

आम के फायदे अनेक हैं, लेकिन आम के गुण के साथ-साथ कुछ अवगुण भी हैं।

आम के नुकसान – Side Effects of Mango in Hindi

फायदे और नुकसान हर चीज के होते हैं। उसी प्रकार आम के अगर फायदे हैं, तो उसके अधिक उपयोग से कुछ नुकसान भी हैं। इसलिए, नीचे हम आपको आम के कुछ नुकसान बता रहे हैं उन पर ध्यान दें :

  • ज्यादा कच्चे आम खाने से गैस या पेट दर्द की समस्या हो सकती है।
  • आम बहुत गर्म होता है, इसलिए इसका अधिक सेवन करने से शरीर में गर्मी बढ़ सकती है।
  • आम के सेवन से पेट खराब और उल्टी की परेशानी भी हो सकती है।
  • इसके सेवन से एलर्जी या गले में खराश की समस्या हो सकती है। गले में खराश तब होती है, जब आम के ऊपरी हिस्से को ठीक से साफ नहीं किया जाता या काटते वक्त उसका दूध नहीं निकाला जाता है। इससे खुजली या सूजन की समस्या भी हो सकती है।
  • जिनको गठिया की समस्या है, वो आम का सेवन डॉक्टर से पूछकर करें।
  • गर्भवती महिलाएं भी आम का सेवन डॉक्टर की सलाह लेकर करें।
  • जरूरत से ज्यादा आम के सेवन से वजन और डायबिटीज दोनों बढ़ सकते हैं।
  • कच्चा आम खाने के बाद भूलकर भी दूध न पिएं।
  • केमिकल से पके आम को खाने से नुकसान हो सकता है।

नोट : जब भी आम लाएं, उसे कुछ घंटाें के लिए पानी में रखने के बाद ही उसका सेवन करें।

आम के नुकसानों से आपको डरने की जरूरत नहीं है। आम एक शाही फल है और इस शाही फल का अगर सही तरीके से उपयोग होता है, तो यह गुणों का खजाना है। ऊपर आपने आम के फायदे पढ़ें, तो इन फायदों को ध्यान में रखकर संतुलित मात्रा में आम का सेवन करें और आम के गुण को अपने में अवशोषित करें। अगर आपके पास भी आम से जुड़ी कोई कहानी, रोचक बातें या आम के फायदे से जुड़ी कोई जानकारी है, जो इस लेख में नहीं है, तो उस बारे में हमें नीचे कमेंट बॉक्स में बताएं।

अक्सर पूछे जानें वाले सवाल

क्या डाइटिंग के लिए आम अच्छे हैं?

आधे कप कटे हुए आम में सिर्फ 50 कैलोरी होती है। आप आम को अपने किसी भी हाई-कैलोरी स्नैक्स के साथ बदल सकते हैं। यह आपके पेट को भरता है और आपकी भूख को कम करता है। इससे भी महत्वपूर्ण बात यह है कि आम फाइबर से भरपूर है, जो पाचन में सहायता करने के लिए जाना जाता है और आपके पेट को लंबे वक्त तक भरा हुआ महसूस कराता है। इसलिए, अगर आप डाइटिंग कर रहे हैं, तो आम आपके आहार के लिए बहुत अच्छा हो सकता है।

क्या आम में शुगर की मात्रा ज्यादा होती है?

हां, आम में चीनी की मात्रा अधिक होती है। एक आम में औसतन 31 ग्राम चीनी होती है, लेकिन अच्छी खबर यह है कि अन्य उच्च शुगर वाले फलों की तुलना में आम आपके रक्त शर्करा के स्तर को प्रभावित नहीं करता है। इसमें कैलोरी भी कम होती है (प्रति फल 110 कैलोरी) और इसकी मिठास आपको अन्य शुगर वाले नुकसानदेह स्नैक्स को खाने से रोकती है।

आम को कैसे पकाएं?

आम जल्दी पके उसके लिए कुछ ट्रिक्स हैं, जिसके बारे में हम नीचे आपको बता रहे हैं।
आप आम को पेपर बैग के अंदर रखकर रात भर के लिए किचन काउंटर पर छोड़ सकते हैं। आम से एथिलीन नामक गंधहीन गैस निकलता है, जो पकने की प्रक्रिया को तेज करती है। ध्यान रहे कि आपका पेपर बैग पूरी तरह से बंद न रहे, बल्कि उसमें से हवा और गैस निकलने की जगह रहे, ताकि आम खराब न हो।इसके अलावा, आप आम को चावल के डिब्बे में भी रख सकते हैं। यहां पर भी यही बात आती है कि चावल आम से निकलने वाले एथिलीन गैस को बाहर नहीं निकलने देता और आम के पकने की प्रक्रिया को तेज करता है।

क्या बच्चों को आम दे सकते हैं?

हां, आम बच्चों के लिए सुरक्षित हैं। आम पाचन में सहायता करता है और बच्चे की इम्यून क्षमता को भी बढ़ाता है। शिशु के शारीरिक विकास के साथ-साथ मानसिक विकास भी बहुत जरूरी है। आम खाने से बच्चे के मानसिक विकास में भी काफी सुधार होता है।
आम के छिलके या उसकी त्वचा से बच्चे के मुंह में एलर्जी भी हो सकती है। इसके अलावा, कुछ विशेषज्ञों के अनुसार, यह एलर्जी डायपर रैशेज की तरह भी हो सकती है। इससे बचने का सबसे अच्छा तरीका यह है कि आप बच्चे को आम देने से पहले उसे अच्छे से छील लें। आप आम को मैश करके, टुकड़ों में काटकर या उसका शेक व जूस बनाकर भी बच्चे को दे सकते हैं।नोट : ध्यान रहे कि बच्चे को ज्यादा आम न दें, वरना उसे दस्त भी हो सकते हैं। बच्चे को कितना आम देना है उसकी मात्रा आप डॉक्टर से पूछ सकते हैं। आम गर्म व भारी होता है और बच्चों की पाचन शक्ति कम होती है, इसलिए इसका ध्यान रखें।

आम के साथ कौन से फल खा सकते हैं?

आम के साथ आप केला खा सकते हैं। खासकर, अगर आप स्मूदी बना रहे हैं, तो यह कॉम्बिनेशन काफी स्वादिष्ट बनेगा। आम के साथ आप नारियल, संतरा और अनानास का भी सेवन कर सकते हैं।

क्या आप आम का छिलका खा सकते हैं?

जैसा कि हमने पहले भी चर्चा की है कि छिलके में महत्वपूर्ण पोषक तत्व होते हैं। यह स्वाद में कड़वा हो सकता है, लेकिन इसमें मैंगिफरिन जैसे स्वास्थ्यवर्धक यौगिक होते हैं। इसलिए, आप आम का छिलका खा सकते हैं।अगर आपको आम के छिलके से एलर्जी की समस्या है, तो इसका सेवन बिल्कुल न करें।

और पढ़े:

The following two tabs change content below.

Arpita Biswas

अर्पिता ने पटना विश्वविद्यालय से मास कम्यूनिकेशन में स्नातक किया है। इन्होंने 2014 से अपने लेखन करियर की शुरुआत की थी। इनके अभी तक 1000 से भी ज्यादा आर्टिकल पब्लिश हो चुके हैं। अर्पिता को विभिन्न विषयों पर लिखना पसंद है, लेकिन उनकी विशेष रूचि हेल्थ और घरेलू उपचारों पर लिखना है। उन्हें अपने काम के साथ एक्सपेरिमेंट करना और मल्टी-टास्किंग काम करना पसंद है। इन्हें लेखन के अलावा डांसिंग का भी शौक है। इन्हें खाली समय में मूवी व कार्टून देखना और गाने सुनना पसंद है।

संबंधित आलेख