आम की गुठली के फायदे, उपयोग और नुकसान – Aam ki guthli Benefits and Side Effects in Hindi

Written by , (शिक्षा- एमए इन जर्नलिज्म मीडिया कम्युनिकेशन)

हर कोई जानता है कि आम स्वाद में बेहतर होने के साथ ही स्वास्थ्य के लिए भी लाभकारी होता है। मगर क्या आपको पता है कि आम के फल की तरह ही इसकी गुठलियां भी फायदेमंद होती हैं? जी हां, आम की गुठली काफी उपयोगी होती है, इसलिए हम आम की गुठली के फायदे से जुड़ा यह लेख लेकर आए हैं। यहां इसके लाभ के साथ ही आम की गुठली का उपयोग करने का तरीका और आम की गुठली के नुकसान से जुड़ी जानकारी भी दी गई है।

स्क्रॉल कर नीचे पढ़ें

चलिए, अब पढ़ते हैं आम की गुठली के फायदे किस तरह से हो सकते हैं।

आम की गुठली के फायदे – Benefits of Aam ki guthli in Hindi

आम की गुठली में कई तरह के औषधीय गुण होते हैं, जो शरीर को अनेक लाभ पहुंचा सकते हैं। इसके उपयोग से कई बीमारियों के लक्षण को कम करने में भी मदद मिल सकती है। इसके इस्तेमाल से होने वाले लाभ कुछ इस प्रकार हैं।

1. दस्त से राहत

आम की गुठली के फायदे दस्त की परेशानी से राहत दिलाने में हो सकते हैं। नेशनल सेंटर फॉर बायोटेक्नोलॉजी इंफॉर्मेशन (एनसीबीआई) की वेबसाइट में प्रकशित रिसर्च द्वारा भी इसकी पुष्टि भी की गई है। इस शोध की मानें, तो आम के बीज का पानी वाला अर्क एक तरह से एंटी-डायरियल गतिविधि दिखाता है। इससे दस्त की समस्या को कम करने में सहायता मिल सकती है (1)। इसके लिए आम की गुठली का चूर्ण बनाकर सेवन किया जा सकता है।

2. कोलेस्ट्रॉल नियंत्रण

कोलेस्ट्रॉल को नियंत्रित रखने के लिए आम की गुठली का उपयोग अच्छा हो सकता है। दरअसल, आम के बीज में प्रोटीन की अच्छी मात्रा पाई जाती है (2)। प्रोटीन शरीर को नुकसान पहुंचाने वाले कोलेस्ट्रॉल को संतुलित रखने का काम कर सकता है (3)। ऐसे में कोलेस्ट्रॉल को नियंत्रित करने के लिए आम की गुठली का पाउडर ले सकते हैं।

3. प्रतिरक्षा प्रणाली के लिए

शरीर की प्रतिरक्षा प्रणाली बैक्टीरिया और वायरस से होने वाले नुकसान से बचाने में मदद करती है। इसके मजबूत रहने पर व्यक्ति जल्दी बीमार नहीं पड़ता (4)। इम्यून सिस्टम को बेहतर रखने में विटामिन ए, सी, ई, और बी-6 महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं (5)। वहीं, आम की गुठलियों में ये सभी पोषक तत्व मौजूद होते हैं (2)। इस आधार पर माना जा सकता है कि आम की गुठली के फायदे रोग प्रतिरोधक क्षमता पर दिखाई दे सकते हैं।

4. मासिक धर्म के समय

मासिक धर्म के दर्द को कम करने के लिए आम की गुठलियों का इस्तेमाल करना अच्छा हो सकता है। इस संबंध में प्रकाशित एक वैज्ञानिक शोध के अनुसार, आम की गुठलियों में एनाल्जेसिक गुण होता है। इस एनाल्जेसिक गुण को दर्द कम करने के लिए जाना जाता है (6)। ऐसे में यह मासिक धर्म के दर्द को कम करके महिलाओं को राहत पहुंचा सकता है। इसके लिए आम की गुठली को पानी में उबालकर पी सकते हैं।

5. उच्च रक्तचाप के लिए सहायक

बढ़ते रक्तचाप की समस्या को नियंत्रित करने के लिए आम की गुठलियां सहायक हो सकती हैं। असल में आम की गुठली में पोटैशियम की समृद्ध मात्रा होती है (2)। अधिक मात्रा में पोटैशियम लेने पर रक्तचाप को कम किया जा सकता है (7)। इसी वजह से रक्तचाप को संतुलित रखने में आम की गुठलियों को मददगार माना जाता है। इसके लिए आम की गुठली का पाउडर इस्तेमाल कर सकते हैं।

6. वजन कम करने में मददगार

वजन बढ़ने से परेशान लोगों के लिए भी आम की गुठली लाभदायक साबित हो सकती है। एक मेडिकल रिसर्च में दिया है कि आम के बीज के अर्क में प्रोटीन, फाइबर और एंटीऑक्सीडेंट की अच्छी मात्रा होती है। ये तीनों मिलकर वजन को कम करने में मदद कर सकते हैं (6)।

7. हृदय को रखे स्वस्थ

हृदय को स्वस्थ रखने के लिए आम की गुठली के फायदे देखे जा सकते हैं। वैज्ञानिकों द्वारा किए गए अध्ययन के मुताबिक, आम की गुठली में विटामिन ए, बी1, बी2, बी6, बी12 और सी की अच्छी मात्रा होती है। इन विटामिन्स में एंटीऑक्सीडेंट प्रभाव होता है, जिससे ऑक्सीडेटिव प्रक्रियाएं धीमी हो सकती हैं। इससे हृदय रोगों को पनपने से रोका जा सकता है (2)।

8. दांतों के लिए

आम के गुठलियों का उपयोग दांतों के लिए भी लाभकारी हो सकता है। विशेषज्ञों द्वारा किए गए अध्ययन से पता चलता है कि इसके बीज में कैल्शियम की अच्छी मात्रा होती है। कैल्शियम दांतों के विकास में मदद कर सकता है (2)। साथ ही कैल्शियम दांतों को मजबूत करने का भी काम कर सकता है (8)।

नीचे भी जानकारी है

आगे जानिए कि आम की गुठली में किस तरह के पोषक तत्व मौजूद होते हैं।

आम की गुठली के पौष्टिक तत्व – Aam ki guthli Nutritional Value in Hindi

आम की गुठलियों में पाए जाने वाले पोषक तत्वों की वजह से ही इसे उपयोग में लाया जाता है। इसमें मौजूद पोषक तत्वों में ये शामिल हैं (2)।

पोषक तत्वमूल्य प्रति 100 ग्राम 
विटामिन के 0.59 mcg
विटामिन ई 1.3 mg
विटामिन सी 0.56 mg 
विटामिन बी 6 0.19 mg
विटामिन बी 2 0.03 mg
विटामिन बी 12 0.12 mg
विटामिन बी 1 0.08 mg
विटामिन ए 15. 27 IU
सोडियम Na21.0 g
पोटैशियम K22.3 g
कैल्शियम Ca111.3 g
मैग्नीशियम Mg94.8 g
फाइबर  Fe11.9 g
जिंक Zn1.10 g
मैंगनीज Mn0.04 g

इन पोषक तत्वों के अलावा आम की गुठलियों में औसतन 6% प्रोटीन, 11% फैट, 77% कार्बोहाइड्रेट, 2% फाइबर और 2% ऐश भी होता है।

पढ़ना जारी रखें

इस लेख के अगले हिस्से में हम आम की गुठलियों के उपयोग के बारे में बताएंगे।

आम की गुठली का उपयोग – How to Use Aam ki guthli in Hindi

आम की गुठलियों को कई तरह से इस्तेमाल किया जा सकता है। इसके उपयोग की जानकारी हम नीचे बिन्दुओं के माध्यम से बता रहे हैं।

  • आम की गुठली का चूर्ण बनाकर सेवन कर सकते हैं। इस चूर्ण को पानी या दूध में मिलाकर पी सकते हैं।
  • इससे बने पाउडर को दही में मिलाकर सेवन किया जा सकता है।
  • आम की गुठली के पाउडर को ब्रश में डालकर दांतों पर घिस सकते हैं।
  • इसके बीज से तैयार किए गए तेल को त्वचा पर लगा सकते हैं।

लेख अंत तक पढ़ें

अब जान लेते हैं कि आम की गुठली के नुकसान किस तरह से हो सकते हैं।

आम की गुठली के नुकसान – Side Effects of Aam ki guthli in Hindi

आम की गुठलियों के लाभ के साथ ही इससे कुछ हानि भी हो सकती हैं। यहां पर हम आम की गुठली के नुकसान के बारे में बता रहे हैं।

  • निम्न रक्त शुगर वालों को आम की गुठली का सेवन नहीं करना चाहिए। इससे रक्त शुगर बहुत कम हो सकता है (2)।
  • अगर कोई मधुमेह के लिए दवाई ले रहे हैं, तो इसे लेने से पहले डॉक्टर की सलाह जरूर लें (2)।
  • जिन लोगों को नए खाद्य पदार्थ का सेवन करने से एलर्जी होती है, उन्हें एलर्जी की समस्या हो सकती है।

आम की गुठलियां के बारे में इतना सब कुछ जानने के बाद हमें यकीन है कि अब इसकी गुठलियों को फेकने से पहले आप दो बार जरूर सोचेंगे। इन गुठलियों को फेंकने के बजाय घर में इन्हें सुखाकर चूर्ण बना सकते हैं और इससे होने वाले फायदों का लाभ उठा सकते हैं। ऐसी ही उपयोगी जानकारियों के लिए पढ़ते रहें स्टाइलक्रेज की वेबसाइट में मौजूद अन्य आर्टिकल।

अक्सर पूछे जाने वाले सवाल

क्या आम की गुठली का तेल भी होता है?

जी हां, आम की गुठली का तेल भी होता है।

मैं आम की गुठली का तेल कहां से खरीद सकता हूं?

आम की गुठली का तेल आप आसानी से बाजार से या ऑनलाइन खरीद सकते हैं।

क्या आम की गुठली का पाउडर घर में बन सकता है?

हां, आम की गुठली का पाउडर घर में आसानी से बनाया जा सकता है। आम की गुठली का पाउडर बनाने के लिए इसकी गुठलियों को तेज धूप में दो-चार दिन सुखाकर पीस लिया जाता है।

संदर्भ (Sources) :

Articles on StyleCraze are backed by verified information from peer-reviewed and academic research papers, reputed organizations, research institutions, and medical associations to ensure accuracy and relevance. Read our editorial policy to learn more.

  1. Mangifera Indica (Mango)
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC3249901/
  2. Mango Seed: A potential source of nutrition from waste
    https://www.researchgate.net/publication/342870178_Mango_Seed_A_potential_source_of_nutrition_from_waste
  3. Review of clinical studies on cholesterol-lowering response to soy protein
    https://pubmed.ncbi.nlm.nih.gov/2071797/
  4. Immune response
    https://medlineplus.gov/ency/article/000821.htm
  5. Nutrition and the immune system: an introduction
    https://pubmed.ncbi.nlm.nih.gov/9250133/
  6. Design Construction and Performance Evaluation of A Bush Mango Juice And Seed Extractor
    https://www.ijert.org/research/design-construction-and-performance-evaluation-of-a-bush-mango-juice-and-seed-extractor-IJERTV2IS110341.pdf
  7. The Role of Potassium and Sodium in Your Diet
    https://www.cdc.gov/salt/potassium.htm
  8. Calcium
    https://medlineplus.gov/calcium.html
Was this article helpful?
thumbsupthumbsup
The following two tabs change content below.
पुजा कुमारी ने बनारस हिंदू यूनिवर्सिटी से जर्नलिज्म एंड मास कम्युनिकेशन में एमए किया है। इन्होंने वर्ष 2015 में अपने... more

ताज़े आलेख