75+ Quotes on Eyes in Hindi – आंखों पर शायरी | Aankhen Shayari in Hindi| आंखों की तारीफ शायरी

Written by , (एमए इन मास कम्युनिकेशन)

चेहरे की खूबसूरती पर प्यारी-प्यारी आंखें चार चांद लगा देती हैं। किसी की कातिलाना, किसी की नशीली, किसी की बड़ी, तो किसी की क्यूट-सी छोटी आंखें होती हैं। चाहे आंखें जैसी भी हों, लेकिन इनकी अपनी ही एक जुबान होती है। इसी जबान के चलते आशिक अपनी माशूका की आंखों को देखकर ही उसके दिल का हाल और दर्द दोनों समझ जाते हैं। हर महबूब की मोहब्बत में भी आंखों का जिक्र जरूर होता है। अब इतनी हसीन आंखों की तारीफ में शायरी न की जाए, तो जिंदगी में आखिर किया ही क्या।

नीचे पढ़ें आंखों पर शायरी

आइए, जानते हैं खूबसूरत आंखों के लिए बेहतरीन शायरियां।

75+ खूबसूरत आंखों पर शायरी : Shayari on Eyes in Hindi | Aankhe Quotes in Hindi | आँखों पर शायरी इन हिंदी

अगर किसी की आंखों की तारीफ करना चाह रहे हैं, तो लेख का यह भाग आपके लिए ही है। यहां हम आंखों पर शायरी दे रहे हैं।

  1. तेरी आंखों में अलग नशा है,
    सबसे अलग तेरी अदा है,
    देखकर तेरी आंखों को,
    मेरा ये दिल फिदा है।
  1. मैं तेरी आंखों में खो जाता हूं,
    उन्हें देखकर मदहोश हो जाता हूं,
    फिर मैं उन्हें देखे बिना,
    एक दिन भी नहीं रह पाता हूं।
  1. वैसे तो जुबां से चुप रहती है,
    पर आंखें बहुत कुछ कहती है,
    मुझे देखे बिना वो,
    एक पल भी नहीं रहती है।
  1. तेरी आंखों को मैं चूम लूं,
    तेरे साथ मस्ती में झूम लूं,
    तेरी आंखों को देखे बिना मन नहीं भरता,
    चाहे कितना भी उन्हें देख लूं।
  1. मुझे अपनी आंखों में बसा ले,
    मुझे तू अपना बना ले,
    मैं तेरी आंखों का काजल बनकर रहूंगा,
    मुझे तू अपनी आंखों में सजा ले।
  1. आंखों से वो कत्ल-ए-आम कर रही है,
    उनकी आंखें नशे में डूब रही है,
    मैं उससे दूर नहीं जा सकता है,
    उनकी आंखें मुझे बुला रही हैं।
  1. आंखों से इशारा करती है,
    वो मेरी आंखों में बसती है,
    ऐसी खूबसूरत बला है वो,
    जो लोगों को आंखों से घायल करती है।

नीचे पढ़ें आँखों पर शायरी

  1. आंखों ही आंखों में प्यार हो गया,
    देख दीवाना तेरा यार हो गया,
    उसके आंखों को देखकर मैं खो गया,
    अब मुझे कुछ सूझ नहीं रहा,
    पागल तेरा यार हो गया।
  1. वो मुझे देखकर शर्मा जाती है,
    उसकी आंखें हर किसी को भाती है,
    जो भी देख ले उसकी आंखों को
    उन्हें पाने की चाहता हो जाती है।
  1. मेरी आंखों में तुम दिखाई देती हो,
    इसलिए मेरी आंखें खूबसूरत हैं,
    तुम हमेशा मेरे पास रहना,
    मुझे तेरी बहुत जरूरत है।
  1. उनकी आंखों में मेरी दुनिया है,
    वो ही मेरी जिंदगी और जान है,
    उनके साथ मैं बहुत खुश रहता हूं
    वो ही मेरी खुशियों की खान है।
  1. मुझे दिल में बसा ले,
    मुझे अपनी आंखों में सजा ले,
    मैं तुम्हें बेपनाह प्यार करता हूं,
    मुझे अपनी चाहत बना ले।
  1. कितनी हसीन है तेरी निगाहें,
    तुझे बुला रही हैं मेरी बाहें,
    माना मैं तुमसे दूर हूं,
    पर इतनी भी अलग नहीं है राहें।
  1. तुझे सीने से लगाने का मन करता है,
    तुझे अपना बनाने का मन करता है,
    तू मेरे लिए इतनी खास है कि
    तुझे अपनी आंखों में सजाने का मन करता है।

आगे और हैं आँखों पे शायरी

  1. तेरी आंखें बहुत सुंदर है,
    मेरा दिल हो गया बंदर है,
    उछल-उछल कर तुझे पुकार रहा,
    जैसे मैं रेगिस्तान और तू समंदर है।
Now-what-should-I-do-to-praise-your-eyes,

Shutterstock

  1. अब क्या करूं तेरी आंखों की तारीफ,
    शब्द कम पड़ जाते हैं मेरे,
    जब से देखा है तेरी आंखों को
    होश खो गए हैं मेरे।
  1. यार तेरी आंखें कमाल है,
    इन आंखों में कई सवाल हैं,
    बातें तेरी बवाल है,
    अदाएं तेरी बेमिसाल हैं।
  1. इतनी खूबसूरत आंखें मैंने कभी देखी नहीं,
    किसी के आंखों के लिए शायरी कही नहीं,
    जब से देखा है तेरी आंखों को मैंने,
    तब से मेरी जिंदगी मेरी रही नहीं।
  1. होश मैं खो बैठा हूं,
    नींद मुझे आती नहीं है,
    जब से देखा है तेरी नशीली आंखों को,
    तब से मुझे कुछ और भाता नहीं है।
  1. तुम्हारी आंखों में मैं खुद को देखता हूं,
    तुमसे दूर होने से मैं डरता हूं,
    पल भर भी मैं जब तुम्हें नहीं पाता हूं,
    होश मैं अपना खो देता हूं।
  1. निगाहें तुम्हारी लाजवाब है,
    इनमें बसता मेरा ख्वाब है,
    तुम्हारा एक अपना ही रुआब है
    जिनमें फिदा ये जनाब है ।
  1. नशीली है तुम्हारी आंखें,
    नशीली है तुम्हारी बातें,
    मुझे अभी भी याद है,
    तुम्हारे साथ बिताई रातें।

आँखों की तारीफ में शायरी का सिलसिला जारी है

  1. इतना नशा है तेरी आंखों में कि उनसे जाम पिला देती हो,
    तारीफ में और क्या कहें, तुम आम को खास बना देती हो।
  1. तेरे नैनों ने लूट लिया मेरा चैन,
    जब से देखा है उन्हें हो गया हूं फैन,
    लोग देखकर उन्हें नशे में डूब रहें
    डरता हूं कही सरकार कर न दे उन्हें बैन।
  1. तेरे नैना मुझे ठग लेंगे,
    मुझे मुसीबत में डाल देंगे,
    इनके लिए बहुतों से लड़ा हूं,
    और भी लोगों से निपट लेंगे।
  1. तेरी आंखें घायल कर देती हैं,
    वो हर किसी को अपना बना लेती हैं,
    पर ये आंखें सिर्फ मेरी रहेंगी,
    क्योंकि वो मुझे ही मंजूरी देती हैं।
  1. समंदर से भी गहरी है तेरी आंखें
    इनमें डूब जाऊंगा मैं,
    तू सिर्फ मेरी ही रहना,
    जल्दी लौट आऊंगा मैं।
  1. तेरी आंखें इतनी सुंदर है कि उन्हें चूमने का जी करता है,
    तेरे साथ मुझे पूरी दुनिया घूमने का जी करता है।
  1. तेरी आंखों की गहराई में डूबने का जी करता है,
    बार-बार मन में ये ख्याल उठता है,
    जब न देखूं तेरी आंखों को,
    तब मुझे कुछ देखने का जी नहीं करता है।

पढ़ें आँखों पर शायरी इन हिंदी

  1. तेरी आंखों को देख लेता हूं तो काम में मन लगता है,
    जब भी देखूं तेरी आंखों को मेरा काम अच्छा होता है।
  1. तेरी आंखों में मस्ती है,
    जब भी तू हंसती है,
    बहुत सुंदर लगती है,
    तुझसे ही तो मेरी हस्ती है।
  1. तेरी आंखों का दीदार करना है मुझे,
    उन्हें चूमकर प्यार करना है मुझे,
    कितनी पसंद है तेरी आंखें मुझे,
    ये कैसे मैं बताऊं तुझे।
  1. तेरे आंखों को देखे बिना चैन नहीं मिलता है,
    उन्हें देखकर ही मेरा चेहरा खिलता है।
Your eyes are very special There is a different feeling of seeing in them,

Shutterstock

  1. तेरी आंखें बहुत खास हैं,
    उनमें देखने का अलग एहसास है,
    जब तक मेरे सीने में सांस है,
    तब तक रोजाना उन्हें देखने की आस है।
  1. तेरी आंखों की तारीफ करते थकता नही मैं,
    उन्हें देखे बिना एक दिन रहता नहीं मैं,
    उनमें ही बस जाऊं ऐसी आस रखता हूं मैं।
  1. तेरी आंखें बहुत मदहोश हैं, जैसे हो शराब का जाम,
    जी करता है उन्हें ही देखकर नशे में डूब जाऊं हर शाम।
  1. मासूमियत है तेरी आंखों में,
    आती है तू हर रात मेरे ख्वाबों में,
    पर मुझे उस दिन का इंतजार है
    जब आओगी तुम मेरी बाहों में।
  1. सबसे हसीन है उनकी आंखें,
    सबसे लाजवाब है उनकी बातें,
    मैं चाहता हूं उससे होती रहें,
    मेरी यूं ही मुलाकातें।
  1. पलके झपका कर जान ले लेती है,
    आंख मारकर घायल कर देती है,
    उनकी आंखों की तारीफ में क्या कहूं
    उनकी आंखें दिल में धमाल मचा देती हैं।

पढ़ते रहें आंखों की तारीफ शायरी

  1. तेरी नीली-नीली आंखें दीवाना बना देती है,
    दीवानों की कतार में मुझे खड़ा कर देती है,
    मैं चाहता हूं उन्हें चूमना,
    पर वो अक्सर नजरें फेर लेती है।
  1. तेरी आंखों में एक अलग सी चमक है,
    तेरी चेहरे में खूबसूरती की दमक है।
  1. आंखें चेहरे की खूबसूरती को बढ़ती हैं,
    बहुत लोगों को दीवाना बनती है,
    कई उन्हें देख मदहोस हो जाते हैं
    फिर उन्हें देखे बिना एक दिन नहीं रह पाते हैं।
  1. आंखों के इशारे को पहचान लेना तुम,
    मुझे अपनी आंखों से बातें करने देना तुम,
    जब भी मुझे देखना चाहोगी,
    अपनी आंखों में देख लेना तुम।
  1. चुपके-चुपके आंखों से इशारे करती है,
    मेरी आंखें उनकी खुबसूरत आंखों पर मरती है,
    उन्हें हमेशा अपने सामने देखना चाहती है,
    उन्हें अपने से दूर होते देखने से डरती है।
  1. तुम्हारी आंखें बहुत प्यारी हैं,
    मेरी चाहात को बढ़ा रही हैं,
    तुमसे मिलने के लिए,
    मेरी बेसब्री बढ़ती जा रही है।
  1. तेरी आंखें जिन्हें देख ले वो प्यार में पड़ जाएगा,
    उन्हें देखे बिना फिर दीवाना नहीं रह पाएगा।
  1. अपनी आंखों को छुपाकर रखना,
    लोगों को नजर से बचाकर रखना,
    इतनी प्यारी है कि उन्हें नजर लग जाएगी,
    इसलिए काला टिका लगाकर रखना।

नीचे भी है नशीली आँखों पर शायरी

  1. तेरी आंखें हर राज खोल देती है,
    जो तू छुपाना चाहती है
    वो आंखें बोल देती है।
  1. आंखों तेरी है शरबती
    निगाहें तेरी है शरारती
    नैन तेरे हैं कटारी
    जो मुझे हैं बुलाती।
  1. तेरी आंखों का काजल है बादल,
    चाहता हूं मैं जैसे हो कोई पागल,
    बसा ले मुझे अपनी निगाहों में
    और ओढ़ा दे मुझे सुकून का आंचल।
I love being in front of your eyes, You are always in my eyes.

Shutterstock

  1. तेरी नजरों के सामने रहना मुझे अच्छा लगता है,
    तू तो हमेशा से मेरी नजरों में ही बसता है।
  1. दिल की बात सारी आंखें कह देती हैं,
    जुबां चुप रहती है पर निगाहें बयां कर देती हैं।
  1. आंखों के सामने ही रहना,
    जैसे हो आंखों का गहना,
    जब तुम रहना,
    बस मेरे ही रहना।
  1. तेरे आंखों में सुकून है,
    उन्हें पाने का जुनून है।
  1. मुझे तेरी आंखों को पढ़ना है,
    कभी-कभी तुमसे प्यार से लड़ना है,
    जब तुम गुस्से से देखती हो मुझे
    तो क्या मुझे तुमसे डरना है?
  1. तेरी आंखों को पढ़ना है जैसे कोई किताब हो,
    तुम लगती हो मुझे ऐसे जैसे कोई आफताब हो।

आइए आँखों पर शायरी पढ़ते हैं

  1. तेरी आंखों के लिए नज्म लिखे हैं,
    वो नज्म लाखों में बीके हैं,
    हर कोई हो गया है उनका दीवाना
    क्योंकि तुम्हारी आंखें हैं कातिलाना।
  1. सुबह की नमाज से पहले तेरी आंखों को पढ़ लूं,
    उन्हें पढ़कर मैं खुदा को भी अपनी तरफ कर लूं ।
  1. मुझे तेरा आशिक रहने दे,
    इन आंखों में मुझे खोने दे,
    और कुछ नहीं पता मुझे,
    बस मुझे यूं ही अपनी बाहों में रहने दे।
  1. तेरी आंखें मेरी आंखों से ओझल न हो,
    तेरी आंखें न देखूं ऐसा मेरा कोई कल न हो।
  1. बातें तेरी मक्खन,
    आंखें तेरी चंचल,
    देखकर दिल में हो रही हलचल,
    इन्हें मैं देखना चाहता हूं हर पल।
  1. आंखों में शरारत भरी है,
    तुझे बहुत मस्ती चढ़ी है,
    देखने के लिए इन आंखों को,
    बहुत लंबी कतार लगी है।
  1. आंखें प्यारी बातें करती है,
    उन्हें समझने वाला होना चाहिए,
    दिल में बहुत प्यार है,
    उसे बस पढ़ने वाला चाहिए।
  1. आंखों को पर्दे में रहने दो,
    उन्हें कभी न बहने दो,
    बहुत खुबसूरत है आंखें,
    उनमें काजल लगा रहने दो।
  1. तेरी आंखों से मोहब्बत हो गई है,
    तेरे लिए चाहत और बढ़ गई है,
    देखते ही देखते हम दोनों की आंखें लड़ गई है।

नीचे भी है आँखों की तारीफ में शायरी

  1. तेरी आंखें माशाल्लाह, तेरा चेहरा सुभानल्लाह,
    तेरे आंखों के पीछे मैं घूम रहा गली मोहल्ला।
  1. छोटी-छोटी आंखें, पर है बहुत खुबसूरत,
    इन आंखों की मुझे है बहुत जरूरत।
  1. तेरी आंखें मेरी कमजोरी है,
    उन्हें देखना मेरे लिए जरूरी है,
    जब तक न देखूं मैं उन्हें,
    मेरी रातें अधूरी है।
  1. मैं तेरा ख्वाब देखता हूं,
    तेरे साथ जीवन बिताने की चाहत रखता हूं,
    तुझे देखे बिना एक दिन भी नहीं रह पाता हूं,
    तुझे कैसे बताऊं मैं तुम्हें कितना चाहता हूं।
  1. नजरें झुकाकर जब शर्माती है,
    तब आंखों की खूबसूरती बढ़ जाती है।
  1. नैन से नैन मिल जाए, तो जज्बात बढ़ जाते हैं,
    ऐसे हालत में उन्हें देखे बिना नहीं रह पाते हैं,
    उन्हें फिर हर दम देखना चाहते हैं,
    इसके लिए कुछ भी कर जाते हैं।
  1. नैन कजरारे हैं,
    बातें मतवाली हैं,
    वो कोई और नहीं
    मेरी घरवाली है।
  1. तेरी आंखों के जाल में फंस गए हैं,
    उन्हें देखकर उनमें खो गए हैं,
    जब से देखा है उन्हें,
    उनके आशिक हो गए हैं।
  1. तेरी आंखें सब कुछ बोल देती है,
    दिल में छुपे सारे राज खोल देती है,
    तू मुझसे कभी कुछ नहीं कहती है,
    पर तेरी निगाहें मुझे बहुत कुछ कहती है।

नीचे पढ़ें आंखों की तारीफ शायरी

  1. आंखों पर कुछ अच्छा कहना है,
    तेरी आंखों को पढ़ना है,
    बहुत उलझ जाता हूं तेरी आंखों में,
    मुझे तेरे आंखों को समझना है।
  1. आंखों से दूरी कर लेगी,
    पर दिल से कैसे निकालोगी,
    हम तो वाटर प्रूफ काजल हैं,
    आंखों से कैसे उतारोगी।
  1. आंखों में तेरे बसना है,
    निगाहों में तेरे रहना है,
    तू जानती है मुझे तुमसे प्यार है,
    फिर भी आई लव यू कहना है।
  1. तेरी आंखें बहुत मासूम है,
    उनमें बहुत जूनून है,
    जो भी देख ले,
    उन्हें मिलता बहुत सुकून है।

लोगों की आंखें नशीली, कातिलाना और प्यारी हों, तो बेझिझक उनकी तारीफ कर दें। उनके आंखों की तारीफ में शायरी का इस्तेमाल कर सकते हैं। इसके लिए लेख में दी गई आंखों पर शायरी की मदद ले सकते हैं। इन शायरियों को मैसेज के माध्यम से भी भेज सकते हैं। हम उम्मीद करते हैं कि इस लेख में मौजूद शायरियां और कोट्स आपको पसंद आए होंगे।

The following two tabs change content below.

ताज़े आलेख