आंखों के नीचे की झुर्रियों को हटाने के लिए घरेलू उपाय – Home Remedies for Under Eyes Wrinkles in Hindi

Written by , (शिक्षा- बैचलर ऑफ जर्नलिज्म एंड मीडिया कम्युनिकेशन)

आंखों के नीचे झुर्रियां होना बढ़ती उम्र का लक्षण होता है, लेकिन अब इस समस्या से कई युवा भी जूझ रहे हैं। वो इससे छुटकारा पाने के लिए तमाम तरह के केमिकल युक्त कॉस्मेटिक प्रोडक्ट्स इस्तेमाल करते हैं। शुरुआत में तो ये प्रोडक्ट्स फायदा करते हैं, लेकिन लंबे समय तक इस्तेमाल करने से त्वचा संबंधी समस्याएं भी हो सकती हैं। इसलिए, इन केमिकल युक्त उत्पाद की जगह घरेलू नुस्खे आजमाना सही निर्णय है। इसी आधार पर स्टाइलक्रेज के इस आर्टिकल में हम आंखों की झुर्रियों से बचने के उपाय के साथ-साथ इससे जुड़ी सभी जानकारी बताएंगे। साथ ही आप जानेंगे कि आंखों के नीचे झुर्रियों के लक्षण क्या-क्या होते हैं। पूरी जानकारी पाने के लिए लेख को अंत तक पढ़ें।

शुरू करते हैं लेख

शुरुआत में हम आंखों के नीचे झुर्रियां होने के कारण पर विस्तार से नजर डालते हैं।

आंखों के नीचे की झुर्रियां के कारण – Causes of Under Eyes Wrinkles in Hindi

आंखों के नीचे झुर्रियां होने के कई कारण हो सकते हैं, जिनमें कुछ प्रमुख इस प्रकार हैं (1)

  1. बढ़ती उम्र : त्वचा में बढ़ती उम्र के कारण एंटी-एजिंग की समस्याएं आम हो जाती हैं। दरअसल, बढ़ती उम्र के साथ शरीर में कई सारे पोषक तत्वों की कमी हो जाती है, जो आंखों के नीचे झुर्रियां का कारण बन सकते हैं (2)
  1. धूप में ज्यादा रहना : धूप में ज्यादा समय बिताने की वजह से भी आंखों के नीचे झुर्रियां हो सकती हैं। दरअसल, आंखें तेज धूप को ज्यादा देर तक बर्दाश नहीं कर पाती हैं।
  1. धूम्रपान की आदत : आंखों के नीचे की झुर्रियां उन लोगों में ज्यादा देखी गई हैं, जो धूम्रपान का सेवन अधिक करते हैं। धूम्रपान से विषैले तत्व शरीर में जाकर कई तरह के नुकसान पहुंचाते हैं, जो आंखों के नीचे झुर्रियां के कारण होते हैं।
  1. तनावग्रस्त रहना : तनाव के चलते आंखों के नीचे झुर्रियां होना आम है। दरअसल, तनाव का असर सिर्फ आंखों पर ही नहीं, बल्कि शरीर के सभी हिस्सों पर नजर आता है। इस आधार पर ये कहना गलत नहीं होगा कि आंखों के नीचे झुर्रियों के कारण में तनाव भी शामिल है (3)
  1. गैजेट्स का ज्यादा इस्तेमाल करना : आधुनिक लाइफस्टाइल में लोग कंप्यूटर, मोबाइल और इलेक्ट्रॉनिक गैजेट्स ज्यादा इस्तेमाल करते हैं। इनका असर दिमाग, आंख और चेहरे पर भी पड़ता है। इस कारण भी आंखों के नीचे रिंकल्स हो सकते हैं।

आगे स्क्रॉल करें

आंखों के नीचे झुर्रियां होने के कारण के बाद आंखों के नीचे झुर्रियों के लक्षण के बारे में बात करेंगे।

आंखों के नीचे की झुर्रियां के लक्षण – Symptoms of Under Eyes Wrinkles in Hindi

आंखों के नीचे झुर्रियां के लक्षण कुछ इस प्रकार के हो सकते हैं (4)

  • आंखों के नीचे की त्वचा का ज्यादा पतला होना।
  • चेहरे व गर्दन के चारों ओर बारीक रेखाओं का नजर आना।
  • चेहरे व गर्दन की त्वचा ढीली होना।

पढ़ते रहें यह लेख

आइए, अब जानते हैं कि आंखों की झुर्रियों को हटाने के लिए किस तरह के घरेलू उपाय कारगर हैं।

आंखों के नीचे झुर्रियां के लिए घरेलू उपचार – Home Remedies For Under Eyes Wrinkles in Hindi

आंखों के नीचे की त्वचा संवेदनशील होती है, जिसके कारण ये बहुत जल्दी प्रभावित हो जाती है। इसका उपचार बिना डॉक्टर के पास जाए भी घरेलू नुस्खों को अपनाकर किया जा सकता है। अगर ये समस्या गंभीर है और घरेलू नुस्खों से आराम नहीं मिल रहा, तो आप डॉक्टर की सलाह ले सकते हैं। यहां पर दी गई जानकारी वैज्ञानिक शोध के आधार पर दी गई है।

1. नारियल तेल

सामग्री:

  • एक छोटा चम्मच नारियल तेल

कैसे करें इस्तेमाल:

  • रात को सोने से पहले हल्के हाथों से नारियल तेल को आंखों के नीचे लगाएं।
  • फिर हाथों को हल्का गोल-गोल घुमाकर मसाज करें।
  • जब तक त्वचा तेल को सोख न ले, तब तक मसाज करते रहें।
  • इस प्रक्रिया को रोज रात को दोहराएं।

कैसे है उपयोगी:

चेहरे पर नारियल के तेल से मसाज करने पर फायदा हो सकता है। इसे लगाने से न सिर्फ झुर्रियों से राहत मिल सकती हैं, बल्कि सनबर्न में भी लाभकारी है और त्वचा पर ग्लो आ सकता है। दरअसल, नारियल तेल में विभिन्न प्रकार के फ्री फैटी एसिड होते हैं, जो मिलकर त्वचा पर असर करते हैं। नारियल तेल त्वचा पर प्राकृतिक मॉइस्चराइजर की तरह काम करता है। साथ ही सूरज की अल्ट्रावायलेट किरणों से भी बचा सकता है। इन तथ्यों की पुष्टि एनसीबीआई की साइट पर दिए गए एक शोध से होती है (5)। इसी आधार पर कहा जा सकता है कि नारियल तेल से आंखों की झुर्रियों का इलाज किया जा सकता है।

2. जैतून का तेल

सामग्री:

  • 3 से 4 बूंद जैतून का तेल

कैसे करें इस्तेमाल:

  • हथेलियों में जैतून के तेल को लेकर हल्के हाथों से चेहरे पर मसाज करें।
  • मसाज करने के बाद कुछ मिनट के लिए इसे लगा रहने दें।
  • करीब आधे घंटे बाद पानी से चेहरे को धो लें और नरम तौलिये से चेहरे को साफ करें।
  • ये प्रक्रिया नियमित रूप से दोहराएं।

कैसे है उपयोगी:

आंखों की झुर्रियों से बचाने में जैतून का तेल कारगर माना जा सकता है। जैतून का तेल त्वचा पर एंटी-एजिंग का काम कर सकता है। एक शोध के मुताबिक, एक्स्ट्रा वर्जिन जैतून के तेल में सेकोइरिडॉइड पॉलीफेनोल पाए जाते हैं, जिसमें एंटी-एजिंग गुण होते हैं। इसमें मौजूद ये गुण त्वचा के लिए लाभकारी हो सकते हैं (6)। इसी आधार पर कहा जा सकता है कि जैतून का तेल आंखों के नीचे झुर्रियों से छुटकारा दिलाने में मददगार हो सकता है।

3. दही

सामग्री:

  • एक चम्मच दही
  • एक चम्मच शहद

कैसे करें इस्तेमाल:

  • एक कटोरी में एक चम्मच दही और शहद को मिक्स कर लें।
  • इस पेस्ट को चेहरे पर 20 मिनट तक लगाकर रखें।
  • इसके बाद फेस मास्क को ठंडे पानी से धो लें।

कैसे है उपयोगी:

आंखों के नीचे पड़ी झुर्रियों को कम करने में दही कारगर हो सकता है। शोध के मुताबिक, योगर्ट यानी दही में प्रोबायोटिक तत्व पाया जाता है। यह बढ़ती उम्र के साथ पीएच स्तर को सामान्य रखने का प्रयास कर सकता है, इसलिए इसका उपयोग कई कॉस्मेटिक उत्पादों में भी होने लगा है। इसके साथ ही प्रोबायोटिक त्वचा को सूरज की हानिकारक किरणों से बचाने में भी मदद कर सकता है, जिसे झुर्रियां होने का प्रमुख कारण माना गया है। (7)

जैसा कि हमने ऊपर लेख में बताया है कि पोषक तत्वों की कमी होने से भी झुर्रियों की समस्या होती है। वहीं, दही में कैल्शियम, जिंक, विटामिन-बी व प्रोबायोटिक जैसे जरूरी पोषक तत्व होते हैं। ये सभी पोषक तत्व मिलकर त्वचा को एजिंग जैसी समस्या से बचा सकते हैं (8)

एक अन्य शोध के अनुसार, दही से युक्त प्राकृतिक फेस पैक का इस्तेमाल करने से त्वचा पर सकारात्मक असर पड़ता है। इससे त्वचा को प्राकृतिक मॉइस्चराइजर मिलता है, चेहरे पर ग्लो आता है व स्किन का ढीलापन भी सही हो सकता है (9)

4. अंगूर

सामग्री:

  • आधा चम्मच अंगूर के बीज का अर्क

कैसे करें इस्तेमाल:

  • अंगूर के अर्क को हथेलियों पर लेकर प्रभावित त्वचा पर लगाकर मसाज करें।
  • एक घंटे के लिए इसे चेहरे पर लगाकर छोड़ दें।
  • ठंडे पानी से एक घंटे बाद स्किन को साफ कर लें।
  • कुछ हफ्तों तक इस प्रक्रिया को प्रतिदिन अपनाएं।

कैसे है उपयोगी:

अंगूर के बीज के अर्क से आंखों की झुर्रियों से छुटकारा पाया जा सकता है। इसका कारण ये है कि अंगूर के बीज के अर्क में फैटी एसिड, पॉलीफेनोल और विटामिन-ई जैसे तत्व मौजूद होते हैं। ये त्वचा को एंटी-एजिंग और हेल्दी बनाने में सहायक हो सकते हैं।

खासकर, इसमें मौजूद विटामिन-ई बढ़ती उम्र के साथ होने वाली एजिंग की प्रक्रिया को धीमा कर सकता है। इस बात की पुष्टि एनसीबीआई की साइट पर उपलब्ध रिसर्च पेपर से होती है। यह रिसर्च ब्राजील की एक यूनिवर्सिटी की ओर से की गई थी (10)। इस आधार पर कहा जा सकता है कि अंगूर के बीच का अर्क आंखों की झुर्रियों के लिए कारगर साबित हो सकता है।

5. एलोवेरा

सामग्री:

  • एक चम्मच एलोवेरा जेल
  • आधा चम्मच अंडे का सफेद भाग

कैसे करें इस्तेमाल:

  • एलोवेरा जेल और अंडे के सफेद भाग को एक बर्तन में मिक्स कर लें।
  • अब तैयार फेस मास्क से त्वचा पर हल्के हाथों से मसाज करें।
  • फिर इसे आधे घंटे के लिए चेहरे पर लगा छोड़ दें।
  • गुनगुने पानी से समय पूरा होने के बाद चेहरे को साफ कर लें।
  • हफ्ते में दो बार इस प्रक्रिया को करें।

कैसे है उपयोगी:

आंखों के नीचे की झुर्रियों को कम करने के लिए एलोवेरा और अंडे का मिश्रण लाभकारी हो सकता है। दरअसल, त्वचा पर एलोवेरा जेल एंटी एजिंग की तरह काम करता है। साथ ही ये कोलेजन की उत्पादन को भी नियंत्रित कर सकता है, जिससे आंखों की झुर्रियों को कम करने में मदद मिल सकती है (11)

कोलेजन एक प्रकार का प्रोटीन होता है, जो स्किन पर तनाव पैदा करता है। वहीं, अंडे में प्रोटीन व फैट के साथ-साथ सभी जरूरी पोषक तत्व मौजूद होते हैं। ये स्किन को स्वस्थ, मुलायम और ग्लोइंग बनाने के लिए लाभकारी होते हैं। साथ ही ये त्वचा को फ्री रेडिकल्स से बचाते हैं। ऐसे में कह सकते हैं कि आंखों की झुर्रियों के लिए अंडा कारगर हो सकता है (12)

6. खीरा

सामग्री:

  • आधा चम्मच खीरे का रस
  • एक चम्मच दही

कैसे करें इस्तेमाल:

  • एक चम्मच दही में थोड़े-से खीरे के रस को मिक्स करें।
  • इस मिश्रण को अच्छे से चेहरे पर लगा लें।
  • अब 20 मिनट के लिए इस पेस्ट को लगा रहने दें।
  • फिर समय पूरा होने के बाद चेहरे को ठंडे पानी से धो लें।
  • हफ्ते में एक या दो बार इस प्रक्रिया को दोहराएं।

कैसे है उपयोगी:

आंखों के नीचे होने वाली झुर्रियों से छुटाकारा पाने के लिए खीरा उपयोगी माना गया है। ये काफी हद तक झुर्रियों को कम करने में मदद कर सकता है। दरअसल, एनसीबीआई की वेबसाइट पर दिए गए एक शोध के मुताबिक खीरे के रस में एस्कॉर्बिक एसिड पाया जाता है। यह एसिड एंटी-रिंकल की तरह काम करता है। इसलिए, कई कॉस्मेटिक उत्पादों में खीरे के रस को इस्तेमाल किया जा रहा है (13)। इसी आधार पर कहा जा सकता है कि खीरे में मौजूद प्राकृतिक गुण झुर्रियों से छुटकारा दिलाने में लाभकारी हो सकते हैं।

7. मेथी

सामग्री:

  • 2 मेथी के पत्ते
  • एक चम्मच दही

कैसे करें इस्तेमाल:

  • सबसे पहले मेथी के पत्तों को दही के साथ मिक्सी में पीसकर पेस्ट बना लें।
  • फिर फेसवॉस से चेहरा साफ करने के बाद इस फेस मास्क को आंखों के आसपास लगाएं।
  • 10 मिनट तक इस फेस मास्क को चेहरे पर लगा रहने दें।
  • इसके बाद चेहरे को ठंडे पानी से साफ कर लें।

कैसे है उपयोगी:

आंखों की झुर्रियों से छुटकारा पाने के लिए मेथी के पत्ते काफी हद तक कारगर हो सकते हैं। एनसीबी की बेवसाइट पर मौजूद एक रिसर्च पेपर के अनुसार, मेथी में कई एंटीऑक्सीडेंट तत्व मौजूद होते हैं, जो सौन्दर्य को निखारने में मददगार हो सकते हैं। साथ ही ये त्वचा के डेड सेल्स को भी निकालने में मदद कर सकते हैं, जिससे चेहरे के कील-मुहांसे, दाग धब्बे और आंखों की झुर्रियां दूर हो सकती हैं (14)

8. केला

सामग्री:

  • एक केला

कैसे करें इस्तेमाल:

  • एक कटोरी में केले को मैश कर लें।
  • फिर मैश किए हुए केले को हल्के हाथों से अपने चेहरे पर रगड़ें।
  • 15 मिनट के बाद चेहरे को ठंडे पानी से साफ कर लें।

कैसे है उपयोगी:

आंखों की झुर्रियों से निजात पाने के लिए केला कारगर माना गया है। दरअसल, यह फल विटामिन-ए, सी और ई से भरपूर होता है, जो बढ़ती उम्र के प्रभाव को धीमा करने में लाभकारी हो सकता है। साथ ही एंटी-रिंकल की तरह काम कर सकता है। इसके अलावा, पके हुए केले और उसके छिलकों में एंटीफंगल और एंटीबायोटिक गुण पाए जाते हैं, जो त्वचा पर माइकोबैक्टीरिया (फंगस) के खिलाफ काम करते हैं। यह स्किन पर होने वाली समस्याओं की रोकथाम के लिए उपयोगी होता है। इस आधार पर कहा जा सकता है कि आंखों की झुर्रियों के लिए केले से बना पेस्ट लगाना लाभकारी हो सकता है (15)

9. बादाम का तेल

सामग्री:

  • 1 बादाम
  • एक चम्मच मलाई
  • एक गुलाब की पंखुड़ियां

कैसे करें इस्तेमाल:

  • बादाम और गुलाब की पंखुड़ियों को मिक्सी में पीस लें।
  • फिर इसमें एक चम्मच मलाई मिला लें।
  • अब इस मिश्रण को चेहरे पर लगा लें।
  • पेस्ट सूख जाने पर चेहरे को ठंडे पानी से धो लें।

कैसे है उपयोगी:

आंखों की झुर्रियों के लिए बादाम, मलाई और गुलाब की कली से बनाया हुआ ये फेस मास्क बेहद फायदेमंद हो सकता है। ये मास्क सौंदर्य को बनाए रखने में लाभकारी साबित होता है। कील-मुंहासों और आंखों की झाइयों के लिए बादाम का इस्तेमाल कारगर माना जा सकता है। एनसीबी की वेबसाइट पर मौजूद एक रिसर्च के अनुसार, बादाम में फैटी एसिड और एंटीऑक्सीडेंट गुण पाए जाते हैं। ये त्वचा के सीबम उत्पादन को नियंत्रित करने में लाभकारी हो सकते है। इससे झुर्रियों की समस्या कुछ हद तक कम हो सकती है (16)

वहीं, एक जर्नल पेपर के अनुसार, गुलाब जल त्वचा के पीएच स्तर को संतुलित रखने में मदद कर सकता है। साथ ही अतिरिक्त तेल को साफ कर मुंहासों की समस्या से राहत दिला सकता है (17)

10. अरंडी का तेल

सामग्री:

  • अरंडी के तेल कुछ बूंदें
  • कॉटन बॉल

कैसे करें इस्तेमाल:

  • अरंडी के तेल को एक कटोरी में निकाल लें।
  • कॉटन बॉल को तेल में डुबोएं और प्रभावित स्किन पर लगाएं।
  • सोने से पहले इस प्रक्रिया को अपनाएं।

कैसे है उपयोगी:

अरंडी के तेल का इस्तेमाल आंखों की झुर्रियों से छुटकारा पाने में मददगार हो सकता है। दरअसल, इसमें फैटी एसिड पाया जाता है, जो त्वचा में कोलेजन के स्तर को बढ़ा सकता है। इसी आधार पर कह सकते हैं कि त्वचा पर दाग-धब्बों और झुर्रियों को कम करने में अरंडी का तेल लाभकारी हो सकता है। फिलहाल, इस संबंध में शोध की कमी है। अभी इस पर और रिसर्च किया जा रहा है।

11. पपीता

सामग्री:

  • थोड़ी मात्रा में पपीते का गूदा

कैसे करें इस्तेमाल:

  • पपीता को मैश करके पेस्ट बना लें।
  • इस पेस्ट को चेहरे पर लगा कर 15-20 मिनट के लिए छोड़ दें।
  • समय पूरा होने के बाद इसे गुनगुने पानी से धो लें।
  • इस फेम मास्क को हफ्ते में एक या दो बार इस्तेमाल करें।

कैसे है उपयोगी:

आंखों की झुर्रियों के लिए पपीते का फेस मास्क एक बेहतरीन घरेलू नुस्खा साबित हो सकता है। इसका कारण ये है कि पपीते में बीटा कैरोटीन नाम का विशेष तत्व पाया जाता है, जो त्वचा को सूरज की अल्ट्रावायलेट किरणों से बचाने में मदद करता है। वहीं, लेख के शुरुआत में हमने बताया है कि आंखों के नीचे झुर्रियां होने का एक कारण अल्ट्रावायलेट किरणें भी होती हैं (18)। इसी आधार पर ये कहा जा सकता है कि पपीपा का फेस पैक आंखों की झुर्रियों के लिए फायदेमंद साबित हो सकता है।

12. टमाटर

सामग्री:

  • एक छोटा टमाटर
  • 2 छोटा चम्मच नमक

कैसे करें इस्तेमाल:

  • टमाटर को दो टुकड़ों में काट लें।
  • फिर नमक में टमाटर के एक टुकड़े को मिलाएं।
  • इसके बाद टमाटर से अपने चेहरे पर हल्के हाथों से मसाज करें।
  • इस मास्क को त्वचा पर 5 मिनट के लिए लगाकर रखें।

कैसे है उपयोगी:

टमाटर में बीटा-कैरोटीन और लाइकोपीन गुण पाए जाते हैं, जो सूरज की किरणों के कारण त्वचा को होने वाले नुकसान को कम करते हैं। ऐसे में टमाटर के फेस पैक से फाइन लाइन्स, आंखों की झुर्रियों और दाग-धब्बों को कम किया जा सकता है (19)

13. ग्रीन टी

सामग्री:

  • 1 ग्रीन टी बैग
  • शहद की कुछ बूंदें (वैकल्पिक)

कैसे करें इस्तेमाल:

  • 2-3 मिनट के लिए गर्म पानी में ग्रीन टी के बैग को भिगोकर रख दें।
  • समय पूरा होने के बाद इस पानी में स्वाद के लिए शहद की कुछ बूंदें मिला लें।
  • अब ग्रीन टी का सेवन कर सकते हैं।
  • रोज दो से तीन कप ग्रीन टी का सेवन किया जा सकता है।

कैसे है उपयोगी:

ग्रीन टी का सेवन सेहत के अलावा त्वचा के लिए भी फायदेमंद हो सकता है। इसमें मौजूद एंटीऑक्सीडेंट, एंटी-कार्सिनोजेनिक, एंटी इंफ्लेमेटरी और एंटी-बैक्टीरियल गुण पूरे शरीर के लिए कारगर माने गए हैं। साथ ही इसमें पाया जाने वाला एंटी-एजिंग प्रभाव आंखों के नीचे झुर्रियों को कम करने में लाभकारी हो सकता है (20)

लेख अंत तक पढ़ें

आइए, अब जानते हैं कि आंखों की झुर्रियों से बचाव के लिए आहार में क्या-क्या शामिल कर सकते हैं।

आंखों के नीचे की झुर्रियां के लिए आहार – Diet For Under Eyes Wrinkles in Hindi

विशेषज्ञों का कहना है कि आंखों की झुर्रियों से निजात पाने के लिए पोषक तत्वों से युक्त खाद्य पदार्थों का सेवन करना चाहिए। नीचे हम ऐसे ही खाद्य पदार्थों के बारे में बता रहे हैं, जिनके सेवन से त्वचा को एजिंग जैसी समस्या से बचाया जा सकता है। (21)

  • लाल शिमला मिर्च
  • पपीता
  • ब्लू बैरीज
  • ब्रोकली
  • पालक
  • एवोकाडो
  • शकरकंदी
  • अनार
  • नट्स

आर्टिकल में आंखों के नीचे झुर्रियों से बचने के उपाय के बारे में जानेंगे।

आंखों के नीचे की झुर्रियां से बचने के उपाय – Prevention Tips for Under Eyes Wrinkles in Hindi

आंखों के नीचे झुर्रियों से छुटकारा पाने के लिए आप इन उपायों को अपना सकते हैं।

  • धूप में ज्यादा समय न बिताएं।
  • घर से निकलते वक्त सनस्क्रीन का इस्तेमाल जरूर करें।
  • धूप में जाते समय चेहरे को कपड़े से जरूर ढकें।
  • धूप से बचाव के लिए छाते का उपयोग भी कर सकते हैं।
  • बाहर से आने के बाद चेहरे को ठंडे पानी से धोएं।
  • चेहरे को धोने के लिए केमिकल रहित फेस वॉश इस्तेमाल करें।
  • रोज कम से कम 7-8 की नींद जरूर लें।
  • तनाव मुक्त रहने का प्रयास करें।
  • पानी का अधिक सेवन करें।
  • खाने में तैलीय चीजों को इस्तेमाल कम से कम करें।
  • धूम्रपान और शराब का सेवन करें।

बढ़ती उम्र के साथ आंखों में झुर्रियों का प्रभाव नजर आने लगता है। इस समस्या को देखते हुए लेख में 13 घरेलू नुस्खों के बारे में विस्तार से बताया गया है, जो आंखों की झुर्रियों से छुटकारा दिलाने में कारगर साबित हो सकते हैं। लेख में बताए गए उपायों में से अपनी सुविधानुसार किसी भी उपाय को अपना सकते हैं। साथ ही इस बात का भी खास ध्यान रखें कि आंखों से जुड़ी कोई गंभीर स्थिति है, तो हमेशा डॉक्टरी इलाज को ही प्राथमिकता दें। सेहत और ब्यूटी से जुड़ी ऐसी और जानकारी के लिए पढ़ते रहें स्टाइलक्रेज।

अक्सर पूछे जाने वाले सवाल

मेरी आंखों के नीचे झुर्रियां क्यों हैं?

आंखों के नीचे की त्वचा बेहद पतली और संवेदनशील होती है (1)। इसके कारण यह बहुत जल्दी प्रभावित होती हैं। आंखों के नीचे झुर्रियां होने के मुख्य कारणों के बारे में ऊपर लेख में विस्तार से बताया गया है। आपको यह समस्या किस कारण से हो रही है, उस संबंध में एक बार डॉक्टर से सलाह जरूर लें।

मैं अपनी आंखों के नीचे की स्किन को कैसे टाइट करूं?

आंखों के नीचे की स्किन को टाइट करने के लिए आप लेख में ऊपर बताए गए घरेलू नुस्खों का इस्तेमाल कर सकते हैं। इसके साथ ही त्वचा की हल्के हाथों से रोजाना मसाज करना भी फायदेमंद होता है। इससे खून का प्रवाह तेज बनता है और आप अपनी त्वचा को टाइट बना सकते हैं।

किस उम्र में आंखों के नीचे की झुर्रियां नजर आती हैं।

आंखों की झुर्रियां होने का कोई निर्धारित समय या उम्र नहीं होती है। ये कभी भी हो सकती हैं। आंखों की झुर्रियां होना अपनी त्वचा के ख्याल रखने के तरीके और खान-पान पर भी निर्भर करता है।

Sources

Articles on StyleCraze are backed by verified information from peer-reviewed and academic research papers, reputed organizations, research institutions, and medical associations to ensure accuracy and relevance. Read our editorial policy to learn more.

  1. Wrinkles
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC4278179/
  2. Forehead wrinkles: a histological and immunohistochemical evaluation
    https://pubmed.ncbi.nlm.nih.gov/25196685/
  3. Brain-Skin Connection: Stress Inflammation and Skin Aging
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC4082169/
  4. Aging changes in the face
    https://medlineplus.gov/ency/article/004004.htm
  5. Anti-Inflammatory and Skin Barrier Repair Effects of Topical Application of Some Plant Oils
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC5796020/
  6. Xenohormetic and anti-aging activity of secoiridoid polyphenols present in extra virgin olive oil
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC3594257/
  7. The effect of probiotics on immune regulation, acne, and photoaging
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC5418745/
  8. Yogurt: role in healthy and active aging
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC6410895/#idm139685091403376title
  9. Clinical efficacy of facial masks containing yoghurt and Opuntia humifusa Raf. (F-YOP)
    https://pubmed.ncbi.nlm.nih.gov/22152494/
  10. Grape Seed Oil Compounds: Biological and Chemical Actions for Health
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC4988453/
  11. Dietary Aloe Vera Supplementation Improves Facial Wrinkles and Elasticity and It Increases the Type I Procollagen Gene Expression in Human Skin in vivo
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC2883372/
  12. Reduction of facial wrinkles by hydrolyzed water-soluble egg membrane associated with reduction of free radical stress and support of matrix production by dermal fibroblasts
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC5072512/
  13. Cucumis sativus fruit-potential antioxidant, anti-hyaluronidase, and anti-elastase agent
    https://pubmed.ncbi.nlm.nih.gov/21153830/
  14. Fenugreek a multipurpose crop: Potentialities and improvements
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC4894452/
  15. Journal of Pharmacognosy and Phytochemistry
    https://www.phytojournal.com/vol1Issue3/Issue_sept_2012/9.1.pdf
  16. Prospective randomized controlled pilot study on the effects of almond consumption on skin lipids and wrinkles
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC6916293/#ptr6495-sec-0017title
  17. Formulation and evaluation of herbal face mist
    http://www.jipbs.com/VolumeArticles/FullTextPDF/471_JIPBSV7I102.pdf
  18. Discovering the link between nutrition and skin aging
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC3583891/
  19. An Update on the Health Effects of Tomato Lycopene
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC3850026/
  20. Anti-wrinkle Effects of Water Extracts of Teas in Hairless Mouse
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC4289929/
  21. Diet and Skin Aging—From the Perspective of Food Nutrition
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC7146365/
Was this article helpful?
The following two tabs change content below.

ताज़े आलेख