वजन कम करने के लिए एक्यूप्रेशर पॉइंट्स – Acupressure Points For Weight Loss in Hindi

Written by

पारंपरिक चिकित्सा पद्धति की मदद से शरीर को कई तरह के लाभ मिलते हैं। ऐसी ही एक चिकित्सा पद्धति है एक्यूप्रेशर, जिसके बारे में हम आज बात करेंगे। यूं तो एक्यूप्रेशर से शरीर को कई तरह के लाभ मिलते हैं, लेकिन इस लेख में हम बताएंगे कि यह वजन घटाने में कैसे सहायक हो सकता है। जी हां, अगर कोई वजन कम करना चाहता है, तो एक्यूप्रेशर पॉइंट्स की मदद ले सकता है। यहां हम उन सभी एक्यूप्रेशर पॉइंट्स का जिक्र करेंगे, जिनसे वजन कम हो सकता है। बस तो एक्यूप्रेशर पॉइंट्स और उसे दबाने का सही तरीका जानने के लिए इस आर्टिकल को अंत तक पढ़ें।

स्क्रॉल करें

सबसे पहले हम बता रहे हैं कि एक्यूप्रेशर वजन कम करने में कितना लाभदायक है।

क्या एक्यूप्रेशर पॉइंट्स वजन घटाने में कारगर हैं?

हां, वजन कम करने में एक्यूप्रेशर कारगर है। एनसीबीआई (नेशनल सेंटर फॉर बायोटेक्नोलॉजी) द्वारा पब्लिश एक रिसर्च पेपर में भी इस बात का जिक्र मिलता है। शोध में कहा गया है कि एक्यूप्रेशर सिर्फ अकेले या फिर अन्य उपचारों के साथ बॉडी मास इंडेक्स (बीएमआई) कम करने में मदद कर सकता है (1)

साथ ही रिसर्च बताती हैं कि एक्यूप्रेशर का इस्तेमाल पेट की चर्बी के साथ ही कमर व कूल्हों में बढ़ते वजन को कम करने के लिए भी किया जा सकता है। इतना ही नहीं, एक्यूप्रेशर को मोटापे से ग्रस्त लोगों के मस्तिष्क स्वास्थ्य को बेहतर करने में भी सहायक माना जाता है (1)

आगे पढ़ें

लेख में आगे बढ़ते हुए जानिए कि एक्यूप्रेशर थेरेपी वजन कम करने में कैसे मदद कर सकती है।

एक्यूप्रेशर थेरेपी से वजन कैसे घटता है?

रिसर्च में पाया गया है कि एक्यूप्रेशर पॉइंट्स को दबाकर मोटापे से संबंधित हार्मोन को नियंत्रित रखा जा सकता है। इसकी मदद से वजन को घटाया में मदद मिल सकती है (1)। यहीं नहीं, एक्यूप्रेशर वजन बढ़ने के कुछ कारणों को भी ठीक करके भी मोटापे से राहत दिला सकता है।

दरअसल, नींद ठीक से न आना, चिंता करना और स्ट्रेस लेना इन सबके कारण भी मोटापा होने लगता है (2)। शोध में स्पष्ट रूप से कहा गया है कि एक्यूप्रेशर नींद की गुणवत्ता में सुधार करने और मस्तिष्क की कार्यप्रणाली को सुधार कर तनाव को कम कर सकता है। इन्हीं कारणों के आधार पर एक्यूप्रेशर को वजन कम करने में सहायक कहा जा सकता है (1)

आगे जरूरी जानकारी है

अब जानते हैं कि वजन घटाने के लिए कौन से एक्यूप्रेशर पॉइंट मदद करते हैं।

वजन घटाने के लिए एक्यूप्रेशर – Acupressure  For Weight Loss in Hindi

किसी भी तरह की समस्या को कम करने और सेहतमंद रहने के लिए औषधीय उपचार के साथ ही पूरक यानी कॉम्प्लिमेंटरी चिकित्सा की भी मदद ली जा सकती है। एक्यूप्रेशर भी ऐसी ही कॉम्प्लिमेंटरी चिकित्सा है। बस ध्यान दें कि एक्यूप्रेशर और एक्यूपंचर दोनों अलग-अलग चीजें हैं। एक्यूपंचर को सुई की मदद से विशेषज्ञ करते हैं और एक्यूप्रेशर खुद से भी किया जा सकता है। आसान शब्दों में कहें, तो एक्यूप्रेशर भी एक्यूपंचर का ही एक प्रकार है (1)। आगे पढ़ें ऐसे कौन-कौन से एक्यूप्रेशर पॉइंट से वजन कम करने में मदद मिल सकती है।

1. अपर लिप – Renzhong (GV26 or 26 Du)

Shutterstock

ऐसा माना जाता है कि रेनजॉन्ग यानी ऊपरी होंठ में स्थित पॉइंट को दबाकर वजन कम करने में मदद मिल सकती है। यह पॉइंट फिलाटम पर स्थित होता है। फिलाट्रम नाक के दोनों हिस्से यानी नथुने जहां मिलते हैं, उससे करीब आधा इंच नीचे होता है। रेनजॉन्ग पॉइंट को चाइनीज में शुईगो (Shuigou) स्पॉट कहा जाता है। माना गया है कि इससे मेटाबॉलिज्म रेट बढ़ता है, जिससे वजन कम हो सकता है। एक रिसर्च में भी जिक्र मिलता है कि इस पॉइंट को दबाने से वजन कम हो सकता है (3)

एक्यूपॉइंट दबाने का तरीका :

  • नाक और अपर लिप के बीच के हिस्से पर उंगली रखें।
  • अब इस रेनजॉन्ग पॉइंट को दबाएं।
  • करीब दो से तीन मिनट गोलाकार में उंगली को घुमाते हुए इस पॉइंट को दबा सकते हैं।

2. घुटने के नीचे – Zusanli (ST36)

Shutterstock

जुसनली कहलाने वाला यह पॉइंट घुटने के नीचे होता है। इस पॉइंट को एसटी 36 (ST36) भी कहा जाता है। एनसीबीआई (नेशनल सेंटर फॉर बायोटेक्नोलॉजी इंफॉर्मेशन) द्वारा पब्लिश एक शोध में भी इस बात का जिक्र मिलता है। रिसर्च के अनुसार, यह एक्यूपॉइंट भोजन खाने की इच्छा को नियंत्रित करके वजन कम करने में मदद कर सकता है (4)। अन्य शोध की मानें, तो जुसनली एडिपोनेक्टिन के उत्पादन को बढ़ाकर वजन घटा सकता है (5)। एडिपोनेक्टिन एक तरह का प्रोटीन हार्मोन होता है, जिसे बढ़ते वजन को नियंत्रित करने में सहायक माना जाता है।

एक्यूपॉइंट दबाने का तरीका :

  • अपनी दो उंगलियों को जुसनली बिंदु पर रखें।
  • अब दोनों उंगलियों से उस पॉइंट पर दबाव बनाएं।
  • तकरीबन 2 से 3 मिनट तक उस बिंदु की गोलाकार में मालिक करें।
  • अब इस प्रक्रिया को दूसरे घुटने पर दोहराएं।

 

3. भीतरी टखने – Sanyinjiao (SP6)

Shutterstock

भीतरी टखने के कुछ पॉइंट दबाकर भी वजन को घटाया जा सकता है। इससे संबंधित एक रिसर्च के अनुसार, एक्यूप्रेशर के साथ ही आहार संबंधी बदलाव करने से वजन कम करने में मदद मिल सकती है (6)। शोध में कहा गया है कि एक्सरसाइज के बाद यह बिंदु दबाकर शरीर को रिलैक्स करने और थकान दूर करने के साथ ही एक्सरसाइज के परिणाम को बेहतर कर सकता है (7)। यह सनयिनजियाओ बिंदु भीतरी टखने की हड्डी से लगभग 3 इंच ऊपर स्थित होता है।

एक्यूपॉइंट दबाने का तरीका :

  • दो उंगली को इस पॉइंट पर रखें।
  • उसके बाद अच्छे से उस हिस्से को दबाएं।
  • अब गोलाकार में दो से तीन मिनट तक उस बिंदु की मालिश करें।
  • फिर दूसरे टखनों के बिंदु को दबाएं।

 

4. कान का एक्यूप्रेशर  – Auricular Point

Shutterstock

कानों के पास के एक्यूप्रेशर पॉइंट को दबाने से भी वजन कम हो सकता है। इस बात का जिक्र एक शोध में भी मिलता है। अध्ययन में लिखा है कि इसके सकारात्मक प्रभाव से जुड़ी बातें सात रिसर्च में सिद्ध हुई हैं। आगे कहा गया है कि कानों का एक्यूप्रेशर अकेले, आहार या एक्सरसाइज के साथ हर तरह से वजन कम करने में मदद कर सकता है (8)। दूसरे रिसर्च में कहा गया है कि कान के एक पॉइंट को दबाकर भूख नियंत्रित हो सकती है। यह बिंदु ट्रैगस (कान का बाहरी त्रिकोणीय हिस्सा) में स्थित होता है (9)

एक्यूपॉइंट दबाने का तरीका :

  • अपनी एक उंगली को ट्रैगस पॉइंट पर रखें।
  • फिर हल्का जोर लगाते हुए उस हिस्से को दबाएं।
  • अब अपने मुंह को खोले और बंद करें।
  • ऐसा करने के बाद करीब एक मिनट तक ट्रैगस हिस्से की गोलाकार में मालिश करें।
  • अब दूसरे कान के बिंदु को दबाते हुए इस प्रक्रिया को दोहराएं।

 

5. नाभी से ऊपर – Zhongwan (CV 12)

Shutterstock

वजन कम करने के लिए यह एक्यूप्रेशर भी लाभकारी हो सकता है। एक शोध में भी वजन कम करने के लिए किए जाने वाले एक्यूप्रेशर पॉइंट में जॉन्गवान का नाम भी शामिल है (6)। यह प्रेशर पॉइंट नाभि से करीबन चार इंच ऊपर होता है। एक अन्य रिसर्च में कहा गया है कि जॉन्गवान के साथ ही अन्य एक्यूप्रेशर पॉइंट को दबाने से कमर व पेट की चर्बी कम होने के साथ ही शरीर में वसा की दर में सुधार हो सकता है (10)

एक्यूपॉइंट दबाने का तरीका :

  • अपनी दो उंगली जॉन्गवान पॉइंट पर रखें।
  • फिर हल्का जोर लगाते हुए उस हिस्से को दबाएं।
  • ऐसा करने के बाद उस हिस्से की दो मिनट तक गोलाकार में मालिश करें।

एक्यूप्रेशर से वजन कम करने में कितनी मदद मिलती है, यह आप समझ ही गए होंगे। इन पॉइंट को दबाने से पहले ऊपर दी गई तस्वीरों को ठीक से देखकर इन बिंदुओं को पहचान लें, क्योंकि एक्यूप्रेशर का फायदा तभी मिलेगा जब सही पॉइंट को दबाया जाएगा। हम यह भी सुझाव देंगे कि वजन कम करने के लिए सिर्फ एक्यूप्रेशर पर निर्भर न रहें। वजन को नियंत्रित करने के लिए शारीरिक गतिविधियां, एक्सरसाइज और संतुलित डाइट भी जरूरी हैं।

अक्सर पूछे जाने वाले सवाल

क्या एक्यूपंचर से पेट की चर्बी कम करने में मदद मिल सकती है?

हां, एक्यूपंक्चर से पेट की चर्बी कम हो सकती है।

एक्यूपंक्चर से परिणाम देखने में कितना समय लगता है?

एक्यूपंक्चर के परिणाम इस बात पर निर्भर करता है कि व्यक्ति को कितना वजन कम करना है और एक्यूपंक्चर के साथ वो क्या सब चीजों को अपनी दिनचर्या में शामिल कर रहा है। तकरीबन 2-3 महीने में इसके परिणाम दिख सकते हैं।

वजन घटाने के लिए एक्यूप्रेशर कितना कारगर है?

रिसर्च बताती हैं कि वजन घटाने के लिए एक्यूप्रेशर काफी कारगर होता है (1)

वजन कम करने के लिए एक्यूप्रेशर पॉइंट में कौन-कौन से नाम शामिल हैं?

वजन कम करने के लिए एक्यूप्रेशर पॉइंट अच्छे होते हैं। इसमें कान का एक्यूप्रेशर, टखने (Sanyinjiao), नाभि के ऊपर का (Zhongwan) समेत कई एक्यूप्रेशर शामिल हैं।

Sources

Stylecraze has strict sourcing guidelines and relies on peer-reviewed studies, academic research institutions, and medical associations. We avoid using tertiary references. You can learn more about how we ensure our content is accurate and current by reading our editorial policy.

Was this article helpful?
The following two tabs change content below.

ताज़े आलेख