सामग्री और उपयोग
Stylecraze

अदरक-नींबू की चाय के 12 फायदे – Benefits Of Lemon Ginger Tea in Hindi

by
अदरक-नींबू की चाय के 12 फायदे – Benefits Of Lemon Ginger Tea in Hindi Hyderabd040-395603080 February 11, 2019

भारत में चाय और कॉफी के बिना जिंदगी मानो अधूरी है। खासकर, चाय में तो कई तरह के फ्लेवर मौजूद हैं। किसी को ग्रीन टी पसंद है, तो कोई कड़क चाय या फिर नींबू की चाय पीना पसंद करता है। वहीं, लेमन जिंजर टी पीने वालों की कमी नहीं है। सर्दी-जुकाम होने पर अदरक की चाय काफी फायदेमंद मानी गई है। वहीं, अगर इसमें नींबू भी डाल दिया जाए तो क्या कहने। कई लोग खुद को फ्रेश रखने के लिए सुबह-सुबह लेमन जिंजर टी का सेवन करते हैं, लेकिन क्या आपको पता है कि लेमन जिंजर टी के कई अन्य फायदे भी हैं। लेमन जिंजर टी पीने से जी मिचलाना, सिरदर्द व ठंड जैसी कई परेशानियों से राहत मिलती है। इस लेख में हम सेहत, त्वचा और बालों के लिए लेमन जिंजर टी के फायदे बताएंगे। इतना ही नहीं हम आपको लेमन जिंजर टी कैसे बनाएं और लेमन जिंजर टी उपयोग करने का तरीका भी बताएंगे।

विषय सूची


लेमन जिंजर टी के फायदे – Lemon Ginger Tea Benefits in Hindi

लेमन जिंजर टी के स्वाद और पोषक तत्वों को बढ़ाने के लिए आप इस चाय में पुदीना, शहद और दालचीनी मिला सकते हैं। हालांकि, लेमन जिंजर का कॉम्बो ही आपकी सेहत को फायदा पहुंचाने के लिए काफी है। इस बारे में विस्तार से हम नीचे बता रहे हैं।

1. मतली और उल्टी का इलाज

Lemon Ginger Tea for Nausea and Vomiting in Hindi Pinit

Shutterstock

चाहे गर्भावस्था हो, बुखार हो, कीमोथेरेपी हो या कोई अन्य बीमारी हो, जी मिचलाना या उल्टी आना आम लक्षणों में से एक है। ऐसे में कई बार अगर दवाई पास न हो, तो तुरंत किसी घरेलू इलाज की जरूरत होती है। इन मामलों में लेमन जिंजर टी से इस परेशानी से राहत मिल सकती है। ऐसे मामलों में नींबू-अदरक की चाय जादू की तरह काम करती है और तुरंत राहत देती है। अध्ययनों से पता चलता है कि अदरक गैस्ट्रोइंटेस्टाइनल समस्या जैसे – जी मिचलाना, उल्टी, अपच, डायरिया और पेट दर्द में काफी असरदार साबित हो सकता है (1)।

2. वजन कम करने में मददगार

गलत खान-पान और दिनचर्या की वजह से वजन बढ़ने की समस्या आम हो गई है। ऐसे में लोग तरह-तरह के उपाय जैसे – डाइटिंग व व्यायाम आदि करते हैं। ऐसे में अगर लेमन जिंजर टी को डाइट में शामिल किया जाए, तो वजन बढ़ने की परेशानी से काफी हद तक छुटकारा पाया जा सकता है। माना जाता है कि अदरक के सेवन से भूख की इच्छा कुछ हद तक कम हो सकती है। वहीं, नींबू को इंसुलिन प्रतिरोध की क्षमता को बढ़ाने और शरीर में फैट की मात्रा को कम करने के लिए जाना जाता है (2), (3)। अदरक और नींबू के मिश्रण के सेवन से चयापचय (metabolism) बढ़ता है व कैलोरी कम होती है।

3. रोग प्रतिरोधक शक्ति को बढ़ाए

नींबू में प्रचुर मात्रा में विटामिन-सी होता है और एंटीऑक्सीडेंट से भरपूर होता है। इसमें रोग प्रतिरोधक शक्ति को बढ़ाने के गुण होते हैं। अगर मौसम बदलने से आप जल्दी बीमार हो जाते हैं या जल्दी संक्रमण के शिकार हो जाते हैं, तो आप रोग प्रतिरोधक शक्ति को बढ़ाने के लिए इस चाय को पीना शुरू कर सकते हैं। यह आपके रोग प्रतिरोधक शक्ति में सुधार करेगा। नींबू और अदरक दोनों संक्रमण से लड़ने में काफी प्रभावशाली होते हैं। ये सर्दी, खांसी व फ्लू की अवधि को कम करते हैं और आपके शरीर को साल्मोनेला जैसे संक्रमणों से बचाते हैं (4), (5)।

4. याददाश्त को करे तेज

Lemon Ginger Tea for Strong Memory in Hindi Pinit

Shutterstock

दिमाग तेज करने के लिए भी अदरक या अदरक-नींबू की चाय फायदेमंद साबित हो सकती है। इसमें एंटी-इन्फ्लेमेटरी और एंटीऑक्सीडेंट गुण मौजूद होते हैं। एक अध्ययन के जरिए इस बात की पुष्टि की गई है कि अदरक के सेवन से मध्यम आयु वर्ग की महिलाओं की याददाश्त और उनके ज्ञान के स्तर में सुधार होता है (6)। हर सुबह नींबू-अदरक की चाय का सेवन आपके समग्र मस्तिष्क स्वास्थ्य के लिए लाभदायक है और अल्जाइमर के खतरे को भी कम करेगा।

5. ह्रदय को रखे स्वस्थ

हर दिन पी जाने वाली यह एक साधारण चाय आपको दिल की बीमारियों से बचाने के लिए पर्याप्त हो सकती है। नींबू विटामिन-सी से भरपूर होता है, जो धमनियों और नसों के माध्यम से रक्त के उचित प्रवाह को बढ़ावा देने और रक्त के थक्कों को बनने से रोकता है (7) । यह दिल के दौरे और स्ट्रोक के जोखिम को काफी कम करता है। वहीं, अदरक रक्त प्रवाह बढ़ाने और एंटी-इन्फ्लेमेटरी, एंटी प्लेटलेट (antiplatelet), हाइपोटेंसिव (hypotensive) व हाइपोलिपिडेमिक (hypolipidemic) जैसे प्रभावों के लिए जाना जाता है। ये सभी गुण हृदय रोगों की आशंका को कम करने में मदद करते हैं (8)।

6. शरीर को एल्कलाइन करता है

हम सभी को पता है कि नींबू एसिडिक होता है, लेकिन क्या आपको पता है कि जब यह आपके शरीर में जाता है, तो इसकी प्रकृति बदल जाती है और यह एल्कलाइज हो जाता है। जब एक कप गर्म चाय में नींबू का रस मिलाया जाता है, तो यह मेटाबॉलिज्म को ठीक करता है और शरीर को एल्कलाइज करना शुरू कर देता है। यह स्वस्थ दांतों और मसूड़ों को बनाए रखने में मदद करता है। साथ ही शरीर में खराब कोलेस्ट्रॉल व फैट के स्तर को कम करता है और मीठा खाने की इच्छा को कम करता है।

7. ओवेरियन सिस्ट के उपचार में सहायक

अगर आपको पीसीओएस की समस्या है और आप प्राकृतिक तरीके से ओवेरियन सिस्ट को कम करने का उपाय ढूंढ रहे हैं, तो लेमन जिंजर टी एक उत्तम उपाय है। नींबू और अदरक दोनों में ही हीलिंग और एंटी-इन्फ्लेमेटरी गुण हैं, जो ओवेरियन सिस्ट को कम करने में मददगार साबित हो सकते हैं। हालांकि, इस दावे को साबित करने के लिए बहुत अधिक शोध नहीं किया गया है, लेकिन इस हर्बल उपचार को दुनिया भर में सराहा गया है।

8. मूड और एकाग्रता में सुधार करता है

Lemon Ginger Tea to Improve Mood and Concentration in Hindi Pinit

Shutterstock

कई बार लोगों को मूड स्विंग की समस्या रहती है। पलभर में गुस्सा, पलभर में प्यार, तो कभी भावुक हो जाना, मूड स्विंग के ही लक्षण हैं। ऐसे में नींबू-अदरक की चाय पीने से आपके मूड स्विंग की परेशानी को नियंत्रित किया जा सकता है। इसी कारण अरोमा थेरेपी में भी नींबू का उपयोग होता है। इतना ही नहीं अदरक को शारीरिक तनाव कम करने के लिए भी जाना जाता है।

9. लिवर को सही करता है

आजकल उल्टा-सीधा और तेल-मसाले वाला भोजन करने से लिवर खराब हो जाता है। ऐसे में वक्त रहते इस पर ध्यान देना जरूरी है। नींबू और अदरक का कॉम्बिनेशन लिवर फंक्शन पर बहुत ही असरदार होता है और पूरे लिवर को स्वस्थ रखने की कोशिश करता है। अध्ययनों से पता चला है कि अदरक और नींबू का लंबे समय तक उपयोग व्यक्तिगत रूप से असरदार है। यह लिवर संबंधित रोगों को ठीक करने के लिए फायदेमंद होता है (9) (10)।

10. दर्द से राहत

अदरक और नींबू दोनों में ही एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण हैं, जो विभिन्न प्रकार के दर्द को कम करने में मदद करते हैं। फिर चाहे दर्द माइग्रेन का हो, मासिक धर्म में ऐंठन से संबंधित हो या फिर किसी बीमारी या सर्जरी से उबरने से संबंधित हो। इस चाय को नियमित रूप से पीने से काफी सुधार हो सकता है। आप हर रोज बेहतर महसूस करेंगे।

त्वचा के लिए लेमन जिंजर टी के फायदे

खूबसूरत व बेदाग त्वचा की चाह हर किसी को होती है। इसके लिए लोग तरह-तरह की क्रीम, लोशन और नुस्खों का उपयोग करते हैं। हालांकि, उनका असर एक नियमित वक्त तक ही रहता है , ऐसे में अगर आप अपने रूटीन में लेमन जिंजर टी शामिल करेंगे, तो इसका असर आपकी त्वचा पर भी नजर आएगा।

11. त्वचा को बेदाग और मुलायम बनाए

Lemon Ginger Tea for Unblemished and Soft Skin in Hindi Pinit

Shutterstock

नींबू और अदरक का मेल न सिर्फ आपके स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद है, बल्कि यह आपको सुंदर और बेदाग त्वचा भी देगा। नींबू-अदरक की चाय में विटामिन, खनिज, और एंटीऑक्सीडेंट की उच्च मात्रा होती है, जो आपकी त्वचा को स्वस्थ बनाते हैं। अदरक में एंटीबैक्टीरियल गुण भी होते हैं, जो त्वचा के संक्रमण से लड़ते हैं और त्वचा को साफ करते हैं।

बालों के लिए लेमन जिंजर टी के फायदे

स्वास्थ्य और त्वचा के साथ-साथ बालों का ध्यान रखना भी जरूरी होता है। धूल-मिट्टी और प्रदूषण के कारण बाल अपनी चमक खोकर उलझने लगते हैं और बेजान नजर आते हैं। ऐसे में जरूरी है कि वक्त रहते बालों पर ठीक तरीके से ध्यान दिया जाए। सही शैंपू, कंडीशनर और घरेलू नुस्खों के अलावा हमारा खान-पान भी बालों के लिए बहुत जरूरी है। अगर आप सही डाइट के साथ लेमन जिंजर टी को अपनी दिनचर्या में शामिल करेंगे, तो आपके बालों में चमक आएगी। इससे आपके बालों को पोषण मिलेगा और बाल अच्छी तरह से बढ़ सकेंगे।

12. बालों को बढ़ाने के लिए लेमन जिंजर टी

इस अदरक-नींबू की चाय को नियमित रूप से पीने से आपके स्कैल्प को विटामिन्स और मिनरल्स मिलेंगे, जो आपके बालों को मजबूत और चमकदार बनाएंगे। नींबू-अदरक की चाय बालों के झड़ने को कम करने में मदद करती है। यह स्कैल्प से संबंधित समस्याओं जैसे डैंड्रफ और खुजली से छुटकारा पाने में भी मदद करती है।

अब आपके मन में यह सवाल उठ रहा होगा कि लेमन जिंजर टी कैसे बनाएं? आगे हम अदरक-नींबू की चाय बनाने विधि भी आपको बता रहे हैं (lemon ginger tea recipe in hindi)।

लेमन जिंजर टी कैसे बनाएं – Lemon Ginger Tea Recipe in Hindi

Lemon Ginger Tea Recipe in Hindi Pinit

Shutterstock

इसे आप जब मन चाहे तब ठंडा और गर्म दोनों तरीके से बना सकते हैं।

सामग्री

  • नींबू के दो टुकड़े
  • आधा कप अदरक के टुकड़े
  • आधा कप कच्चा शहद या शहद

बनाने की विधि

  • एक शीशे के जार में सभी सामग्रियों को मिला लें।
  • उन्हें कुछ देर के लिए भीगने दें। आप चाहें तो रातभर के लिए इसे फ्रिज में भी रख सकते हैं।
  • नींबू और अदरक दोनों के रस शहद के साथ मिलकर गाढ़ा शरबत या सिरप का रूप ले लेते हैं।
  • अब चाय बनाने के लिए एक कप गर्म पानी में इस सिरप को एक या दो चम्मच मिलाएं और गर्मा-गरम चाय पिएं।
  • आप नींबू का रस और अदरक का एक टुकड़ा उबलते पानी में डालकर करीब 15 से 20 मिनट के लिए उबालकर ताजा-नींबू अदरक की चाय बना सकते हैं।
लेमन जिंजर टी से बेहतर परिणाम पाने के लिए कुछ और टिप्स
  1. अपनी सुबह की शुरुआत खाली पेट एक कप गरमा-गर्म लेमन जिंजर टी से करें।
  2. अगर आप वजन कम करने के लिए इस चाय को पी रहे हैं, तो सुबह-शाम खाने के आधे घंटे पहले इस चाय का सेवन करें।
  3. अगर आप इसके एंटी-इन्फ्लेमेटरी गुणों के फायदे चाहते हैं, तो इस चाय में चुटकीभर हल्दी मिला दें।
  4. आप इस चाय को और हेल्दी बनाने के लिए इसमें सेब का सिरका भी मिला सकते हैं।

लेमन जिंजर टी के नुकसान – Side effects of lemon-ginger tea on hindi

हालांकि, लेमन जिंजर टी के कुछ खास दुष्प्रभाव नहीं है, लेकिन सावधानी बरतना जरूरी है।

  1. इस चाय को ज्यादा पीने से सीने में जलन या पेट खराब की परेशानी हो सकती है।
  2. कुछ लोगों को अदरक या नींबू से एलर्जी हो सकती है। ऐसे में पेट की परेशानी और त्वचा पर रैशेज हो सकते हैं।

इस लेख में आपको लेमन जिंजर टी के फायदे तो पता चल ही गए हैं। वजन कम करना हो या संक्रमण से लड़ना हो, लेमन जिंजर टी हर मायने में लाभकारी है। सुबह एक कप गर्म नींबू-अदरक की चाय पीने से बेहतर और कुछ नहीं हो सकता। आप इस चाय को आसानी से कभी भी बना सकते हैं। आप लेमन जिंजर टी में स्वाद के लिए दालचीनी भी मिला सकते हैं और अगर आपको मीठा पसंद है, तो आप शहद भी मिला सकते हैं। लेमन जिंजर टी के फायदे अनेक हैं। अगर लेमन जिंजर टी का उपयोग सही तरीके से किया जाए, तो यह गुणों का खजाना है।

अक्सर पूछे जानें वाले सवाल

नींबू और अदरक की चाय पीने के अन्य तरीके क्या हो सकते हैं?

आप एक गिलास गर्म पानी में नींबू और अदरक के टुकड़े डालकर पी सकते हैं या आप आइस टी की तरह भी इसका सेवन कर सकते हैं।

लेमन-जिंजर टी के कुछ अच्छे ब्रांड कौन से हैं ?

ट्विनिंग्स (Twinings), लिप्टन (Lipton) और बिगेलो (Bigelow) लेमन जिंजर टी के कुछ लोकप्रिय ब्रांड हैं।

क्या गर्भवती महिलाएं इस चाय का सेवन कर सकती हैं ?

बेशक, यह चाय गर्भवती महिलाओं के लिए बहुत फायदेमंद है, खासकर उनकी मॉर्निंग सिकनेस को ठीक करने के लिए। फिर भी सुरक्षा के तौर पर आप अपने डॉक्टर से भी इस बारे में एक बार बात कर लें, क्योंकि सभी की गर्भावस्था एक जैसी नहीं होती है। हो सकता है किसी को यह गर्भावस्था में सूट करे, तो किसी को न करे।

क्या चाय में लहसुन मिलाने के कोई फायदे हैं?

हां, इस चाय में लहसुन को शामिल करने से इसके पोषण में काफी वृद्धि होगी और इसके कई लाभ मिलेंगे। हालांकि, लहसुन बहुत तीखा स्वाद प्रदान करता है, जो कुछ लोगों को पसंद नहीं आ सकता है।

इसमें और कौन-सी सामग्री जोड़ी जा सकती है?

जैसा कि इस लेख में हमने आपको बताया है कि आप इसमें पुदीना, दालचीनी और शहद मिला सकते हैं। इसके अलावा, आप इसके स्वाद में नयापन लाने के लिए लेमनग्रास और खीरा भी मिला सकते हैं।

और पढ़े:

संबंधित आलेख