घरेलू उपचार

अकल दाढ़ दर्द के कारण, लक्षण और घरेलू इलाज – Wisdom Tooth Pain Remedies in Hindi

by
अकल दाढ़ दर्द के कारण, लक्षण और घरेलू इलाज – Wisdom Tooth Pain Remedies in Hindi Hyderabd040-395603080 October 14, 2019

किशोरावस्था में मानसिक बदलाव के साथ कई शारीरिक बदलाव भी होते हैं। कुछ बदलाव सामान्य होते हैं, तो कुछ दर्दनाक होते हैं। अकल दाढ़ निकलना इन दर्दनाक बदलावों में से एक है। अकल दाढ़ निकलने पर किसी को हल्का दर्द होता है, तो किसी को तेज। इसकी वजह से मुंह की सूजन के साथ कई अन्य समस्याएं भी हो सकती हैं। स्टाइलक्रेज के इस लेख में हम आपको न सिर्फ अकल दाढ़ क्या है, इसके बारे में बताएंगे, बल्कि अकल दाढ़ में दर्द को कम करने के घरेलू उपाय भी आपके साथ शेयर करेंगे। इसके अलावा, हम आपको अकल दाढ़ दर्द का इलाज कैसे करें, इसकी भी जानकारी देंगे। अब बिना देर करते हुए जानिए अकल दाढ़ से संबंधित सभी महत्वपूर्ण जानकारियां।

अकल दाढ़ के इलाज जानने से पहले यह जान लेते हैं कि अकल दाढ़ क्या है?

अकल दाढ़ क्या है? – What is Wisdom Tooth in Hindi

What is Wisdom Tooth in Hindi Pinit

Shutterstock

अगर आपके मन में यह सवाल उठ रहा है कि अकल दाढ़ क्या है, तो हम आपको बता दें कि यह आपका सबसे आखिर में निकलने वाला दांत होता है, जो 20 साल की उम्र तक आ जाते हैं। सामान्य तौर पर चार अकल दाढ़ होती हैं, दो ऊपर के जबड़े पर और दो नीचे। अकल दाढ़ दर्द और बिना दर्द के भी निकल सकती हैं (1)। आइए अब नीचे जानते हैं कि यह दर्द क्यों होता है।

आखिर अकल दाढ़ निकलने के दौरान दर्द क्यों होता है? इस सवाल का जवाब हम आपको नीचे बता रहे हैं।

अकल दाढ़ दर्द के कारण – Causes of Wisdom Tooth Pain in Hindi

Causes of Wisdom Tooth Pain in Hindi Pinit

Shutterstock

अकल दाढ़ के दर्द के कुछ कारण हम आपको नीचे बता रहे हैं (1)।

  • कभी-कभी अकल दाढ़ टेढ़े-मेढ़े तरीके से निकलने लगती हैं, जिससे मसूड़े प्रभावित होते हैं और इस कारण दर्द होता है।
  • कुछ मामलों में अकल दाढ़ निकलने के दौरान आसपास के दांत प्रभावित होने लगते हैं, जिस कारण दर्द हो सकता है।
  • कभी-कभी अन्य दांतों की वजह से जब अकल दाढ़ ठीक तरह से नहीं निकल पाती है, तो भी दर्द हो सकता है।
  • अगर दांत में संक्रमण हो जाए, तो भी दर्द हो सकता है।

अकल दाढ़ में दर्द की वजह जानने के बाद अब आगे जानिए अक्ल दाढ़ निकलने के लक्षण।

अक्ल दाढ़ निकलने के लक्षण – Wisdom Tooth Symptoms in Hindi

आप कैसे जानेंगे कि अक्ल दाढ़ आने वाली हैं, तो इसके लिए कुछ लक्षण आपको महसूस हो सकते हैं, जिसके बारे में हम आपको नीचे जानकारी दे रहे हैं (1)।

  • मसूड़े में सूजन या लालिमा
  • दर्द
  • जबड़े के नीचे सूजन
  • मुंह खोलने में परेशानी
  • भोजन निगलने में कठिनाई
  • सांस की बदबू
  • मसूड़े से मवाद आना
  • बुखार

नोट : दर्द के साथ मसूड़े से मवाद या सांस की बदबू, संक्रमण के लक्षण हो सकते हैं। ऐसे लक्षण दिखने पर तुरंत डॉक्टर से संपर्क करें।

अगर अकल दाढ़ निकलने पर आपको हल्का दर्द होता है, तो आप अकल दाढ़ दर्द का इलाज घरेलू तरीके से कर सकते हैं। नीचे हम आपको अकल दाढ़ दर्द का इलाज करने के लिए कुछ घरेलू नुस्खे बता रहे हैं।

अकल दाढ़ दर्द के लिए घरेलू उपाय – Home Remedies for Wisdom Tooth Pain in Hindi

1. अकल दाढ़ में दर्द के लिए लहसुन

Garlic for ache molar pain Pinit

Shutterstock

सामग्री :

  • एक या दो लहसुन की कलियां

उपयोग करने का तरीका :

  • लहसुन की कलियों को कुचलकर पेस्ट बना लें।
  • अब इस पेस्ट को अकल दाढ़ में दर्द वाले हिस्से पर लगाएं।
  • इसके अलावा, आप अकल दाढ़ में दर्द वाले हिस्से पर कुछ देर लहसुन की एक कली दबाकर रख सकते हैं।
  • इस उपाय को जब तक दर्द से राहत न मिले, दिन में तीन से चार बार करें।

कैसे फायदेमंद है?

लहसुन में एलिसिन (Allicin) नामक यौगिक होता है, जिसमें एंटी-इन्फ्लेमेटरी गुण मौजूद होते हैं। लहसुन का यह गुण दर्द से राहत दिलाने में आपकी मदद कर सकता है। इसके अलावा, इसमें एनाल्जेसिक (Analgesic) यानी दर्द निवारक गुण भी होता है, जो दर्द को कम करने में मदद कर सकता है। इतना ही नहीं इसमें मौजूद एंटीबैक्टीरियल गुण मुंह में संक्रमण से बचाव करने का काम कर सकता है (2) (3)।

2. अकल दाढ़ में दर्द के लिए लौंग

सामग्री :

  • लौंग या लौंग का तेल

उपयोग करने का तरीका :

  • एक लौंग लें और उसे अकल दाढ़ के नीचे दबाएं, ताकि यह अपनी जगह से न हिले।
  • वैकल्पिक रूप से आप प्रभावित दांत पर और आसपास लौंग का तेल भी लगा सकते हैं।
  • आप लौंग या लौंग तेल को पूरे दिन में दो से तीन बार लगा सकते हैं, जब तक आपको दर्द से राहत न मिले।

कैसे फायदेमंद है?

दांत दर्द के लिए आपने लौंग के उपाय के बारे में जरूर सुना होगा। दरअसल, लौंग में एनाल्जेसिक गुण मौजूद होते हैं, जो दर्द को कम करने में मदद कर सकते हैं। इसी गुण के कारण यह अकल दाढ़ दर्द में भी लाभकारी साबित हो सकता है। इसमें मौजूद एंटीस्पेटिक, एंटी-वायरल, एंटीफंगल और एंटी-माइक्रोबियल गुण अकल दाढ़ से जुड़ी समस्याओं को दूर करने का काम करेंगे। इन सब गुणों के अलावा, यह ऐंटीनोसीसैप्टिव (Antinociceptive) की तरह भी काम कर सकता है, जो दर्द की संवेदनशीलता को कम करने में मदद कर सकता है (4)।

3. अकल दाढ़ में दर्द के लिए नमक का पानी

Salt water for ache in a molar Pinit

Shutterstock

सामग्री :

  • एक से दो चम्मच नमक
  • एक गिलास गर्म पानी

उपयोग करने का तरीका :

  • नमक को एक गिलास गर्म पानी में घोलें।
  • अब इस पानी से कुल्ला करें।
  • ध्यान रहे कि पानी गुनगुना हो।

कैसे फायदेमंद है?

गले में दर्द या दांत दर्द की स्थिति में अक्सर गर्म पानी में नमक डालकर कुल्ला करने की सलाह दी जाती है। यह उपाय आप अकल दाढ़ के दर्द को कम करने के लिए भी अपना सकते हैं (5) (6)।, जो अकल दाढ़ में संक्रमण से बचाव कर सकते हैं। इसके साथ इसमें एंटी-सेप्टिक गुण भी होता है, जो संक्रमण की वजह से होने वाले दांत दर्द को कम कर सकता है (7)। हालांकि, इस बारे में अभी और शोध कि आवश्यकता है कि नमक का पानी अकल दाढ़ दर्द के लिए कितना कारगर हो सकता है। अगर आपको एलर्जी की समस्या है या दर्द बहुत तेज है, तो नमक का पानी उपयोग करने से पहले एक बार डॉक्टर की सलाह भी ले लें।

4. ऑयल पुलिंग विथ कोकोनट ऑयल (नारियल तेल)

सामग्री :

  • एक बड़ा चम्मच नारियल तेल

उपयोग करने का तरीका :

  • एक चम्मच नारियल तेल को अपने मुंह में डालकर 5 से 10 मिनट के लिए घुमाएं।
  • फिर इसे थूक दें और गुनगुने पानी से कुल्ला कर लें।
  • आप सुबह ब्रश करने से पहले इस प्रक्रिया को कर सकते हैं।

कैसे फायदेमंद है?

ऑयल पुलिंग मसूड़ों की सूजन कम करने का एक कारगर तरीका हो सकता है (8)। अगर बात करें नारियल तेल की, तो इसमें एंटी-इंफ्लेमेटरी के साथ एनाल्जेसिक (Analgesic, दर्द निवारक) गुण भी मौजूद होते हैं, जो अकल दाढ़ के दर्द को बहुत हद तक कम कर सकते हैं (9)।

5. अकल दाढ़ में दर्द के लिए अमरूद की पत्तियां

Guava leaves for ache in a molar Pinit

Shutterstock

सामग्री :

  • एक मुट्ठी ताजी अमरूद की पत्तियां
  • एक से दो गिलास पानी

उपयोग करने का तरीका :

  • अमरूद की पत्तियों को पानी में उबाल लें।
  • अब इस पानी को थोड़ी देर गुनगुना होने के लिए रखें और फिर कुल्ला करें।
  • आप चाहें तो प्रभावित जगह पर अमरूद के पत्ते कुछ देर दबा कर भी रख सकते हैं।

कैसे फायदेमंद है?

शोध के मुताबिक यह पाया गया है कि अमरूद की पत्तियों में एनाल्जेसिक (Analgesic) यानी दर्द को कम करने, एंटी-इंफ्लेमेटरी और एंटीमाइक्रोबियल गुण मौजूद होते हैं, जो दांत दर्द से राहत दिलाने में मदद कर सकते हैं (7) (10)।

6. अकल दाढ़ में दर्द के लिए पीनट बटर

सामग्री :

  • थोड़ा-सा पीनट बटर

उपयोग करने का तरीका :

  • अपनी तर्जनी उंगली पर थोड़ा पीनट बटर लें और सीधे प्रभावित दांत पर लगाएं।
  • आप इसे एक दिन में दो से तीन बार लगा सकते हैं।

कैसे फायदेमंद है?

पीनट बटर में रेज्वेराट्रॉल (Resveratrol) नामक तत्व मौजूद होता है, जिसमें एनाल्जेसिक (Analgesic) यानी दर्द को कम करने और एंटी-इन्फ्लेमेटरी गुण मौजूद होते हैं, जो दर्द और सूजन को कम करने में मदद कर सकते हैं। हालांकि, यह अकल दाढ़ के दर्द में कितना लाभकारी है, उसका अभी तक कोई सटीक प्रमाण नहीं है। इसलिए, इस बारे में आप एक बार डॉक्टर की सलाह भी ले सकते हैं (11) (12) (13)।

7. अकल दाढ़ में दर्द के लिए हींग

Asafoetida for aching molar pain Pinit

Shutterstock

सामग्री :

  • चुटकी भर हींग
  • आधा चम्मच मोसंबी का रस

उपयोग करने का तरीका :

  • आधा या एक चम्मच मोसंबी के रस में चुटकी भर हींग डालकर मिला लें।
  • अब इस मिश्रण में रूई को भिगोएं और उस रूई को अकल दाढ़ के दर्द वाले जगह पर दबा लें।
  • इसे कुछ देर तक दबाएं रखें, फिर रूई को हटाकर चाहें तो गुनगुने पानी से कुल्ला कर लें।

कैसे फायदेमंद है?

हींग की बात करें, तो कई सालों से इसे न सिर्फ मसाले के रूप में, बल्कि औषधि के रूप में भी उपयोग किया जाता रहा है। सर्दी-जुकाम हो या किसी प्रकार का दर्द, यह एक बेहतरीन घरेलू नुस्खों में से एक है। इसमें मौजूद एनाल्जेसिक गुण और एंटी-इन्फ्लेमेटरी गुण अकल दाढ़ के दर्द से राहत दिलाने में मदद कर सकते हैं (14)।

8. अकल दाढ़ में दर्द के लिए सेब का सिरका

सामग्री :

  • एक से दो चम्मच सेब का सिरका
  • एक गिलास पानी

उपयोग करने का तरीका :

  • एक गिलास पानी में एक से दो चम्मच सेब का सिरका मिलाएं।
  • अब इस मिश्रण को माउथवॉश की तरह उपयोग में लाएं।
  • आप एक से दो बार इस मिश्रण का उपयोग कर सकते हैं।

कैसे फायदेमंद है?

यह न सिर्फ दांत दर्द को कम करने में मदद कर सकता है, बल्कि यह दांतों को साफ रखने में भी लाभकारी हो सकता है (7)। सेब के सिरके को घरेलू उपाय के तौर पर दांत दर्द के लिए उपयोग किया जाता रहा है, लेकिन यह अकल दाढ़ के दर्द से राहत दिलाने में कितना मदद कर सकता है, इस पर अभी और शोध की जरूरत है।

9. अकल दाढ़ में दर्द के लिए प्याज

Onion for ache molar pain Pinit

Shutterstock

सामग्री :

  • एक छोटा-सा प्याज या प्याज का छोटा टुकड़ा

उपयोग करने का तरीका :

  • आप प्याज को चबा सकते हैं।
  • इसके अलावा, दर्द से प्रभावित जगह पर प्याज की कली को थोड़े देर दबाकर रख सकते हैं।

कैसे फायदेमंद है?

कच्चे प्याज को चबाना दांत दर्द के घरेलू उपायों में से एक है। प्याज के एंटीमाइक्रोबियल और एंटीसेप्टिक गुण मुंह के बैक्टीरिया को खत्म कर दांत दर्द से राहत दिलाने में मदद कर सकते हैं। इतना ही नहीं इसमें क्वेरसेटिन (Quercetin) नामक फ्लेवेनॉइड भी होता है, जो गुणकारी एंटीऑक्सीडेंट है। यह दांत दर्द को कम करने में मदद कर सकता है। इसके अलावा, प्याज में मौजूद विटामिन-सी मसूड़ों को स्वस्थ बनाने में भी मदद कर सकता है (7)।

10. अकल दाढ़ में दर्द के लिए आइस पैक

सामग्री :

  • बर्फ के कुछ टुकड़े या आइस पैक

उपयोग करने का तरीका :

  • आइस पैक लें और इसे गाल पर रखें जहां अकल दाढ़ का दर्द है।
  • 10 से 15 मिनट के लिए इसे लगाए रखें।
  • जब तक दर्द से राहत न मिले, इसे रोजाना 3 से 4 बार दोहराएं।

कैसे फायदेमंद है?

बर्फ लगाने से दर्द वाला हिस्सा थोड़ी देर के लिए सुन्न हो जाता है, जिस कारण दर्द का एहसास नहीं होता है। यह कुछ देर के लिए आराम दिला सकता है, लेकिन फिर दर्द शुरू हो सकता है। इसलिए, अगर आप डॉक्टर के पास जाना चाहते हैं और उस दौरान थोड़ी देर की राहत चाहते हैं, तो इस नुस्खे को आजमा सकते हैं (7) (15)।

11. अकल दाढ़ में दर्द के लिए एसेंशियल ऑयल

(क) पिपरमिंट ऑयल

सामग्री :

  • एक चम्मच पिपरमिंट एसेंशियल ऑयल
  • एक चम्मच नारियल तेल

उपयोग करने का तरीका :

  • पेपरमिंट एसेंशियल ऑयल और नारियल तेल को समान मात्रा में मिलाएं।
  • इस मिश्रण को अपनी उंगली से प्रभावित दांत और उसके आसपास के मसूड़ों पर लगाएं।
  • 4 से 5 मिनट के लिए धीरे-धीरे मालिश करें।
  • अगर दर्द ज्यादा है, तो मालिश करने की जरूरत नहीं है, सिर्फ उसे हल्के से लगा लें।
  • फिर गुनगुने पानी से कुल्ला कर लें।
  • ऐसा आप रोजाना 1 से 2 बार कर सकते हैं।

कैसे फायदेमंद है?

पेपरमिंट एसेंशियल ऑयल में मेंथॉल होता है, जिसमें एनाल्जेसिक (Anlagesic) गुण यानी दर्द को कम करने के गुण मौजूद होते हैं। इसे अकल दांत में लगाने से दर्द से राहत मिल सकती है (16) (17) (18)।

(ख) टी ट्री ऑयल

सामग्री :

  • एक से दो बूंद टी ट्री ऑयल

उपयोग करने का तरीका :

  • एक या दो बूंद टी ट्री ऑयल लें और उसे दर्द से प्रभावित अकल दाढ़ पर उंगली या रूई से लगाएं।
  • अगर दर्द कम है, तो तेल से एक-दो मिनट तक मालिश करें और अगर दर्द ज्यादा है, तो मालिश न करें।
  • फिर गुनगुने पानी से कुल्ला कर लें।
  • आप एक से दो बार इस प्रक्रिया को दोहरा सकते हैं।

कैसे फायदेमंद है?

टी ट्री ऑयल को अपने एंटीसेप्टिक और एंटीमाइक्रोबियल गुणों के लिए जाना जाता है। ऐसे में अगर आप इसे अकल दाढ़ के दर्द से प्रभावित जगह पर लगाएंगे, तो यह संक्रमण से बचाव कर सकता है। इतना ही नहीं इसका एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण सूजन को भी कम करने में मदद कर सकता है। इतना ही नहीं, इसमें दर्द निवारक गुण भी होता हैं, जो दर्द को कम करने में मदद कर सकता है (7) (19) (20) (21)।

नोट : ध्यान रहे कि इस तेल को आप निगले न। इस तेल को निगलने से आपकी सेहत खराब हो सकती है (22)।

12. अकल दाढ़ में दर्द के लिए लिस्ट्रीन (Listerine)

सामग्री :

  • एक छोटा ढक्कन लिस्ट्रीन (Listerine)

उपयोग करने का तरीका :

  • एक छोटे गिलास में थोड़ा लिस्ट्रीन लेकर उससे कुल्ला करें।
  • आप रोज एक से दो बार इसका उपयोग करें, खासतौर पर खाने के बाद।

कैसे फायदेमंद है?

लिस्ट्रीन कई लोगों द्वारा उपयोग किया जाता है। अगर बात करें अकल दाढ़ में दर्द की समस्या की, तो इसके लिए भी यह उपयोग किया जा सकता है। लिस्ट्रीन के एंटी-माइक्रोबियल गुण मुंह के स्वास्थ्य के लिए लाभकारी माने जाते हैं। इसके उपयोग से कीटाणुओं का खतरा कम हो सकता है और दांत में होने वाले संक्रमण या दर्द का जोखिम भी कम हो सकता है (23)।

13. अकल दाढ़ में दर्द के लिए नींबू पानी और नमक

सामग्री :

  • आधा नींबू
  • चुटकी भर नमक
  • पानी

उपयोग करने का तरीका :

  • आधे नींबू को निचोड़कर रस निकाल लें।
  • अब इसमें कुछ बूंदें पानी की मिला लें।
  • फिर इस मिश्रण में चुटकी भर नमक मिलाकर मिश्रण बना लें।
  • अब इस मिश्रण को दर्द से प्रभावित जगह पर लगाएं।
  • जब भी आपको अकल दाढ़ में दर्द महसूस हो, तो यह मिश्रण लगा लें।

कैसे फायदेमंद है?

नींबू में एंटीबैक्टीरियल गुण मौजूद होते हैं, जिस वजह से यह रूट कैनाल में औषधि के रूप में उपयोग किया जाता है। ऐसे में आप इसे अकल दाढ़ में दर्द के इलाज के रूप में भी उपयोग कर सकते हैं (24)। इसके अलावा, नमक में एंटीसेप्टिक गुण होते हैं, जो संक्रमण से बचाव कर दर्द से राहत दिला सकते हैं (7)।

सावधानी- नींबू के रस को सीधे दांत पर न लगाएं, बल्कि पानी में मिलाकर लगाएं। अगर आप ऐसा नहीं करते हैं, तो यह आपके दांतों को नकारात्मक रूप से प्रभावित कर सकता है और आपका दांत ठीक होने के बजाय खराब भी हो सकता है।

14. अकल दाढ़ में दर्द के लिए हल्दी

Turmeric for ache molar pain Pinit

Shutterstock

सामग्री :

  • एक चम्मच हल्दी
  • आवश्यकतानुसार पानी

उपयोग करने का तरीका :

  • आप थोड़े से पानी में एक चम्मच हल्दी मिलाकर पेस्ट बना लें।
  • अब इस पेस्ट को ब्रश करने के बाद दर्द से प्रभावित जगह पर लगाएं।
  • इसे लगभग आधा घंटा लगा रहने दें औ फिर गुनगुने पानी से कुल्ला कर लें।
  • अगर आप ऐसे नहीं लगाना चाहते हैं, तो आप आधा चम्मच हल्दी को एक गिलास पानी में डालकर माउथ वॉश की तरह उपयोग कर सकते हैं।

कैसे फायदेमंद है?

एक औषधि के रूप में हल्दी का उपयोग प्राचीन समय से किया जाता रहा है। यह बेहतरीन घरेलू नुस्खों में से एक है। यह एंटीबायोटिक्स से भरपूर होती है। इतना ही नहीं इसका एंटी-इंफ्लेमेटरी और एंटीसेप्टिक गुण दर्द और सूजन को कम कर सकता है (7)।

नोट : ऊपर बताए गए अकल दाढ़ में दर्द के उपाय आपको दर्द से निपटने में मदद करेंगे। हो सकता है कि ये दर्द को पूरी तरह से ठीक न कर पाए, लेकिन यह कुछ देर के लिए आराम जरूर दिला सकते हैं। अगर इनके उपयोग से भी आपको आराम नहीं मिल रहा है, तो अकल दाढ़ दर्द का इलाज करने के लिए डॉक्टर से जरूर संपर्क करें। इसके अलावा, ऊपर बताई गई किसी भी सामग्री से अगर आपको एलर्जी है, तो उसका उपयोग न करें या डॉक्टर की सलाह अनुसार उपयोग करें।

कई बार घरेलू उपचार या दवाइयां असर नहीं करती और इन्हीं कारणों से अकल दाढ़ दर्द का इलाज उसे निकालना ही होता है। अकल दाढ़ निकालने के बाद नीचे बताए जा रहे हीलिंग टिप्स का पालन जरूर करें।

अक्ल दाढ़ निकालने के बाद कुछ जरूरी हीलिंग टिप्स

अक्ल दाढ़ निकालने के बाद दवाइयों के साथ-साथ अगर इन टिप्स को फॉलो करेंगे, तो आपको जल्द से जल्द फायदा हो सकता है और आपका दर्द ठीक होने में मदद मिल सकती है।

  • अकल दाढ़ की सर्जरी कराने के बाद कुछ घंटों तक कुछ खाने-पीने और यहां तक कि बात करने से बचे।
  • अकील दाढ़ निकल जाने के बाद कुछ दिनों तक उस जगह को छूने या जीभ लगाने से बचें। बार-बार छूने से संक्रमण या रक्तस्राव हो सकता है।
  • जब रक्तस्राव बंद हो जाए, तो खुद को हाइड्रेट रखने के लिए खूब पानी पिएं और अन्य पेय पदार्थों का सेवन करें।
  • सर्जरी के तुरंत बाद कसरत न करें।
  • जिस तरफ दर्द हो रहा है, उस गाल पर आइस पैक रखें।
  • हल्का भोजन करें, जिसमें आपको ज्यादा चबाने की जरूरत न हो।
  • बेहतर होगा कि डॉक्टर से अपनी डाइट के बारे में पूछ लें।

आशा करते हैं कि ऊपर बताए गए अकल दाढ़ में दर्द के घरेलू उपचार से आपको काफी हद तक आराम मिलेगा। अगर आपके पास भी अक्ल दाढ़ का दर्द ठीक करने के घरेलू नुस्खे हैं, तो उन्हें अपने अनुभव के साथ नीचे कमेंट बॉक्स में शेयर करें। इसके अलावा, इस लेख से जुड़ा कोई सवाल हो, तो उसे भी बेझिझक हमसे पूछें। अंत में आपको बताते चलें कि अकल दाढ़ निकलने का कहीं से भी यह मतलब नहीं है कि आपको अब जाकर अकल आई है। यह एक प्राकृतिक प्रक्रिया है, जो किशोरावस्था के दौरान होती है और अगर इसमें कोई परेशानी या दर्द हो, तो वक्त रहते अकल दाढ़ दर्द का इलाज करें। याद रखें आपका स्वास्थ्य आपके हाथों में है, इसलिए खुद का ध्यान रखें और स्वस्थ रहें।

 अक्सर पूछे जाने वाले सवाल

अकल दाढ़ को निकलवाना चाहिए या नहीं?

अगर आपकी अकल दाढ़ स्वस्थ है और उसमें किसी प्रकार का दर्द नहीं है, तो उसे निकालने की आवश्यकता नहीं है। वहीं, अगर आपकी अकल दाढ़ मसूड़ों के भीतर धंस गई है, ठीक से निकल नहीं पा रही है या उसमें असहनीय दर्द हो रहा है, तो उसे हटा देना बेहतर है। ऐसे में यह संक्रमण का कारण भी बन सकता है, जिसका प्रभाव मसूड़ों और अन्य दांतों पर भी पड़ सकता है (25) (26)।

क्या यह दाढ़ बहुत उपयोगी है?

यह दाढ़ जबड़े के सबसे पीछे वाली दाढ़ होती है और इसका चबाने में कुछ खास योगदान नहीं होता है। इतना ही नहीं कई लोगों की तो अकल दाढ़ आती भी नहीं है।

क्या अकल दाढ़, सामान्य दांत की तरह निकल सकती है?

कई बार अकल दाढ़ टेढ़ी-मेढ़ी निकलती हैं या मसूड़ों में दब जाती है या आसपास के दांत की वजह से ठीक तरह से निकल नहीं पाती है, जिस कारण यह दर्द की वजह बन जाती है। ऐसे में छोटी-सी सर्जरी की जरूरत हो सकती है। वहीं, कुछ लोगों को ज्यादा दर्द का एहसास नहीं होता और यह बिना दर्द के भी निकल सकती है।

The following two tabs change content below.

Arpita Biswas

अर्पिता ने पटना विश्वविद्यालय से मास कम्यूनिकेशन में स्नातक किया है। इन्होंने 2014 से अपने लेखन करियर की शुरुआत की थी। इनके अभी तक 1000 से भी ज्यादा आर्टिकल पब्लिश हो चुके हैं। अर्पिता को विभिन्न विषयों पर लिखना पसंद है, लेकिन उनकी विशेष रूचि हेल्थ और घरेलू उपचारों पर लिखना है। उन्हें अपने काम के साथ एक्सपेरिमेंट करना और मल्टी-टास्किंग काम करना पसंद है। इन्हें लेखन के अलावा डांसिंग का भी शौक है। इन्हें खाली समय में मूवी व कार्टून देखना और गाने सुनना पसंद है।

संबंधित आलेख