अल्फाल्फा के फायदे और नुकसान – Alfalfa Benefits and Side Effects in Hindi

by

आयुर्वेदिक उपचार में कई गुणकारी जड़ी-बूटियां का प्रयोग किया जाता है। ये इनका प्रभाव ही है कि आज आयुर्वेद के साथ-साथ आधुनिक मेडिकल पद्धतियों में भी इन जड़-बूटियों का इस्तेमाल किया जाने लगा है। इन्हीं में से एक है अल्फाल्फा। आपको जानकार हैरानी होगी कि कई होम्योपैथी दवाओं और सप्लीमेंट्स में अल्फाल्फा का उपयोग खासतौर पर किया जाता है। पोषक तत्वों और गुणों से भरपूर यह पौधा, कई समस्याओं जैसे मधुमेह, उच्च रक्तचाप व वजन आदि को नियंत्रित रखने में आपकी मदद कर सकता है। सिर्फ इतना ही नहीं, त्वचा की सुंदरता बढ़ाने के लिए भी आप अल्फाल्फा का उपयोग कर सकते हैं।

स्टाइलक्रेज के इस लेख में हम आपको अल्फाल्फा के स्वास्थ लाभ के बारे में बताएंगे। साथ ही इस लेख से आपको अल्फाल्फा के नुकसान के बारे में भी पता चलेगा।

आइए, सबसे पहले आपको बता दें कि यह होता क्या है।

अल्फाल्फा क्या है – What is Alfalfa in Hindi

अल्फाल्फा एक पौधा है, जिसका उपयोग दुनिया भर में एक कारगर औषधि के रूप में किया जाता है। वैज्ञानिक रूप से इसे मेडिकैगो सतीवा (Medicago sativa) कहा जाता है। चाइना, ईराक, तुर्की, भारत व अमरीका में इसका उपयोग कई बीमारियों को ठीक करने के लिए किया जाता है (1)। अल्फाल्फा के फायदे के कारण ही इसे ‘सभी पौधों का पिता’ माना जाता है (2)। असल में अल्फाल्फा पौधे की पत्तियों, फूल, बीज और अंकुरित भाग को औषधि के रूप में उपयोग किया जा सकता है (3)।

लेख के अगले भाग में जानिए अल्फाल्फा के फायदे के बारे में।

अल्फाल्फा के फायदे – Alfalfa Benefits in Hindi

अल्फाल्फा में कई ऐसे गुण पाए जाते हैं, जो आपके पूरे शरीर के लिए फायदेमंद हो सकते हैं। यह न सिर्फ विटामिन्स, मिनरल्स और पोषक तत्वों से भरपूर होता है, बल्कि इसमें एंटीऑक्सीडेंट, एंटी-माइक्रोबियल, एंटी-अल्सर और एंटी-इंफ्लेमेटरी जैसे गुण पाए जाते हैं। यह आपके स्वास्थ के साथ, आपकी त्वचा के लिए भी लाभकारी साबित हो सकता है। यह आपको एथेरोस्क्लेरोसिस, हृदय रोग, स्ट्रोक, कैंसर और मधुमेह जैसी समस्याओं से बचाने में मदद कर सकता है (1) (2)। अल्फाल्फा के फायदों में से कुछ फायदे ऐसे है –

  • वजन कम करने में मदद करता है
  • मधुमेह को नियंत्रण करता है
  • हृदय रोग का खतरा कम करता है
  • कोलेस्ट्रोल को कम करने में मदद करता है
  • मीनोपॉज में लाभदायक है
  • रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाता है
  • पाचन शक्ति को बेहतर करता है
  • त्वचा को साफ साफ़ और स्वस्थ बनाता है

आइए, अब अल्फाल्फा के ऐसे ही कुछ फायदों के बारेमें विस्तारित जानते है।

सेहत/स्वास्थ्य के लिए अल्फाल्फा के फायदे – Health Benefits of Alfalfa in Hindi

क्या आपने कभी सोचा है कि एक छोटा-सा पौधा आपको कितनी बीमारियों से बचा सकता है? जैसा कि हम आपको बता चुके हैं कि भारत में ही नहीं, बल्कि अन्य कई देशों में भी इसे एक औषधि की तरह इस्तेमाल किया जाता है। यहां हम बता रहे हैं कि वो कौन-सी बीमारियां हैं, जिनसे बचने के लिए आप अल्फाल्फा का उपयोग कर सकते हैं।

1. वजन कम करे

अल्फाल्फा का उपयोग वजन कम करने के लिए किया जा सकता है। यह फाइबर से भरपूर होता है। इसका सेवन करने से आपको देर तक पेट भरा हुआ महसूस होता है, आपको जल्दी भूख नहीं लगती और आप कम खाते हैं। इस प्रकार फाइबर से आपको वजन कम करने में मदद मिलेगी (4)। फाइबर के साथ इसमें विटामिन-सी भी पाया जाता है (5)। विटामिन-सी आपको वजन और उससे जुड़ी बीमारियों जैसे टाइप 2 मधुमेह और हृदय रोग का खतरा कम करने में भी मदद करता है (6)।

2. कैंसर

अल्फाल्फा का सेवन कैंसर को होने से रोक सकता है। इसमें कैनावाइन (canavanine) नामक खास एंटी-कैंसर तत्व पाया जाता है। यह खासकर अंकुरित अल्फाल्फा में पाया जाता है। यह कार्सिनोमा और दूसरे कैंसर के सेल्स को रोकने का काम करता है और कैंसर के खतरे से बचाता है (7)। फिलहाल, इसमें अभी और शोध की जरूरत है। साथ ही अगर किसी को कैंसर है, तो डॉक्टर से सही इलाज करवाना जरूरी है। इसे सिर्फ घरेल नुस्खों से ठीक नहीं किया जा सकता।

3. मधुमेह

अल्फाल्फा का उपयोग मधुमेह को नियंत्रित करने के लिए किया जा सकता है। एक शोध के अनुसार, अल्फाल्फा की पत्तियों के पाउडर का सेवन प्लाज्मा ग्लूकोज के स्तर को कम करता है। साथ ही शरीर में इंसुलिन के स्राव को बढ़ाता है, जिससे मधुमेह की बीमारी से छुटकारा मिल सकता है (8)।

4. हृदय रोग

हृदय रोग का खतरा कम करना भी अल्फाल्फा के फायदे में आता है। अल्फाल्फा में फाइबर होता है और फाइबर को हृदय रोग का खतरा कम करने के लिए बहुत उपयोगी माना गया है (5)। फाइबर टोटल सीरम और खराब कोलेस्ट्रोल को कम करता है और हृदय रोग के खतरे से आपको बचा सकता है (9)।

5. कोलेस्ट्रोल

अगर आपका कोलेस्ट्रोल बढ़ा हुआ है, तो उससे राहत पाने के लिए आप अंकुरित अल्फाल्फा का उपयोग कर सकते हैं। इसमें सेपोनिंस नाम का तत्व पाया जाता है, जो पाचन तंत्र में समा कर आपका कोलेस्ट्रोल कम कर सकता है। यह आपके शरीर में बुरे कोलेस्ट्रोल की मात्रा कम करता है और अच्छे कोलेस्ट्रोल को बढ़ाता है। इस वजह से यह कोलेस्ट्रोल और मधुमेह के कारण होने वाले हृदय रोग के खतरे को भी कम करता है (10)।

6. यूरिन संक्रमण

अल्फाल्फा विटामिन-सी का अच्छा स्रोत है (5)। विटामिन-सी यूरिन संक्रमण के कीटाणुओं से लड़ता है। संक्रमण पूरी तरह से ठीक न हो जाने तक हर घंटे विटामिन-सी की दो ग्राम मात्रा लेने की सलाह दी जाती है (11)। इसके साथ ही यह माना जाता है कि अल्फाल्फा में डायूरेटिक (diuretic) यानी मूत्रवर्धक गुण भी है (12)। इसलिए, कहा जा सकता है कि यह पेशाब के रास्ते यूरिन संक्रमण के कीटाणुओं को निकालने में मदद कर सकता है।

7. मीनोपॉज में लाभदायक

महिलाओं के एस्ट्रोजन हार्मोन जैसी ही रसायनिक संरचना जैसा एक तत्व अल्फाल्फा में पाया जाता है। इस तत्व का नाम है फाइटोएस्ट्रोजन (phytoestrogens) और यह तीन प्रकार के होते हैं – आइसोफ्लेवोंस (isoflavones), लिगनेन (lignans) और कुमेस्टन्स (coumestans)। अंकुरित अल्फाल्फा में कुमेस्टन्स पर्याप्त मात्रा में होता है, जो मीनोपॉज के लक्षणों से आराम दिला सकता है (13)। एक शोध के अनुसार, अल्फाल्फा के उपयोग से 30 में से 20 महिलाओं को मीनोपॉज के लक्षण जैसे हॉट फ्लश (आमतौर पर चेहरे, गर्दन और छाती पर तीव्र गर्माहट का अहसास), अनिद्रा, नींद में पसीना आना, चक्कर आना, सिरदर्द और तेज धड़कन से आराम मिलता है (14)।

8. रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाए

अल्फाल्फा के फायदे की बात की जाए, तो यह आपकी रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने में मदद कर सकता है। इसे लूसर्न (lucerne) भी कहा जाता है। यह प्रोटीन, विटामिन-ए, बी, सी, डी, ई, के व यू और मिनरल्स जैसे जिंक, आयरन, मैग्नीशियम व कैल्शियम आदि से भरपूर होता है। ये सारे पोषक तत्व आपको कई रोगों से बचा सकते हैं। ये आपकी रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के साथ-साथ शरीर में रक्त संचार को भी बेहतर करते हैं (15)।

9. रक्तस्राव को रोके

अल्फाल्फा में विटामिन-के की अच्छी मात्रा पाई जाती है (5)। यह विटामिन शरीर में खून के थक्के बनाता है और रक्तस्राव को रोकने में मदद करता है (16)।

10. पाचन शक्ति को बेहतर करे

पाचन शक्ति बेहतर करना भी अल्फाल्फा के फायदे में आता है। अल्फाल्फा में एमाइलेज, इनवर्टेज और पेक्टिनेज जैसे कई एंजाइम होते हैं। ये एंजाइम आपको आसानी से भोजन पचाने में मदद करते हैं (10)। साथ ही इसमें पर्याप्त मात्रा में फाइबर भी पाया जाता है (5)। फाइबर आपकी पाचन क्रिया को बेहतर करता है और कब्ज की समस्या से भी आराम दिलाता है (17)।

11. अवसाद से लड़े

अल्फाल्फा के फायदे अवसाद से लड़ने में भी देखे गए हैं। इसमें लिग्निन नामक रसायनिक कंपाउंड पाया जाता है, जो विषाक्ता की वजह से हो रहे अवसाद से लड़कर, आपको आराम दिला सकता है (18)।

12. रक्तचाप को नियंत्रित करे

अल्फाल्फा का उपयोग आप उच्च रक्तचाप की समस्या का समाधान करने के लिए भी कर सकते हैं। अल्फाल्फा पोटैशियम से समृद्ध होता है (5)। एक रिपोर्ट के अनुसार, पोटैशियम का सेवन करने से उच्च रक्तचाप और हाइपरटेंशन की समस्या से आराम मिल सकता है (19)।

13. विषाक्त पदार्थों को निकाले

अल्फाल्फा में लिग्निन नाम का एक रसायनिक कंपाउंड पाया जाता है। चूहों पर किए गए एक प्रयोग से ये पता चला है कि अल्फाल्फा के सेवन से आंत में जमा विषाक्त पदार्थों को कम किया जा सकता है (18)।

स्वास्थ के लिए अल्फाल्फा के फायदे तो आप जान ही गए होंगे। अब आपको बताते हैं कि त्वचा के लिए अल्फाल्फा के फायदे क्या हैं।

त्वचा के लिए अल्फाल्फा के फायदे – Skin Benefits of Alfalfa in Hindi

अपनी त्वचा को दमकदार और खूबसूरत रखने के लिए भी आप अल्फाल्फा का उपयोग कर सकते हैं। नीचे जानिए त्वचा के लिए अल्फाल्फा के फायदे।

14. त्वचा को साफ करे

अल्फाल्फा में भरपूर मात्रा में पानी पाया जाता है (5)। पानी के साथ इसमें कई एंजाइम, विटामिन और मिनरल भी पाए जाते हैं। ये सारे डिटॉक्सिंग तत्व हैं, मतलब शरीर से विषाक्त पदार्थों को बाहर निकाल कर त्वचा को साफ करने में मदद करते हैं। त्वचा को साफ रखने के लिए अल्फाल्फा की पत्तियों और अंकुरित का उपयोग किया जा सकता है। इनमें एंटी-ऑक्सीडेंट गुण होते हैं जो त्वचा की बढ़ती उम्र के लक्षणों को भी कम करते हैं (2)।

15. त्वचा की नमी बनाए रखे

अगर आप अपनी त्वचा की नमी को बरकरार रखना चाहते हैं, तो उसके लिए पानी से बेहतर कोई उपाय नहीं है। इसके लिए आपको ऐसे खाद्य पदार्थ का सेवन करना चाहिए, जिसमें पानी की मात्रा पर्याप्त हो। ऐसे में आप अल्फाल्फा का उपयोग कर सकते हैं, क्योंकि यह पानी से भरपूर होता है (5)। साथ ही, इसमें मौजूद विटामिन-सी भी होता है (5), जो त्वचा को नम बनाए रखने में मदद कर सकता है (20)।

16. त्वचा को स्वस्थ बनाए रखे

इसमें ऐसे कई विटामिन और मिनरल होते हैं, जो आपकी त्वचा को स्वस्थ रखने के लिए आवश्यक हैं, जैसे – विटामिन-ए, सी, ई, और जिंक। इनके अलावा, अल्फाल्फा में एंटी-इंफ्लेमेटरी व एंटी-ऑक्सीडेंट गुण भी पाए जाते हैं, जो आपकी त्वचा को बढ़ती उम्र के लक्षण और त्वचा के संक्रमण से बचा सकते हैं। इसमें मौजूद विटामिन-सी आपको फ्री-रेडिकल्स के प्रभाव से बचाता है और त्वचा को स्वस्थ बनाए रखने में मदद करता है (2) (20)।

अल्फाल्फा के फायदे जानने के बाद आगे जानिए इसमें मौजूद पौष्टिक तत्वों के बारे में।

अल्फाल्फा के पौष्टिक तत्व – Alfalfa Nutritional Value in Hindi

अल्फाल्फा के फायदे जानने के बाद आइए अब आपको बता दें कि इसमें कौन-से पोषक पाए जाते हैं और उनकी मात्रा कितनी होती है (5)।

पोषक तत्वमात्रा प्रति 100 ग्राम
पानी92.82 ग्राम
ऊर्जा23 ग्राम
प्रोटीन3.99 ग्राम
टोटल लिपिड (फैट)0.69 ग्राम
कार्बोहाइड्रेट2.10 ग्राम
फाइबर1.9 ग्राम
शुगर0.20 ग्राम
मिनरल्स
कैल्शियम32  मिलीग्राम
आयरन0.96  मिलीग्राम
मैग्नीशियम27 मिलीग्राम
फास्फोरस70  मिलीग्राम
पोटैशियम79  मिलीग्राम
सोडियम6  मिलीग्राम
जिंक0.92 मिलीग्राम
विटामिन्स
विटामिन-सी8.2  मिलीग्राम
विटामिन-बी 60.034  मिलीग्राम
फोलेट36 माइक्रोग्राम
विटामिन-ए RAE8 माइक्रोग्राम
विटामिन-ए IU155 IU
विटामिन-ई0.02 माइक्रोग्राम
विटामिन-के30.5 माइक्रोग्राम
लिपिड
फैटी एसिड, टोटल सैचुरेटेड0.069 ग्राम
फैटी एसिड, टोटल मोनोअनसैचुरेटेड0.056 ग्राम
फैटी एसिड, टोटल पॉलीअनसैचुरेटेड0.409 ग्राम

लेख के अगले भाग में जानिए कि अल्फाल्फा का उपयोग कैसे किया जा सकता है।

अल्फाल्फा का उपयोग – How to Use Alfalfa in Hindi

आप अल्फाल्फा का सेवन इस तरह से कर सकते हैं :

1. अल्फाल्फा की चाय

सामग्री:
  • अल्फाल्फा की पत्तियां/पाउडर
  • एक कप पानी
विधि:
  • एक पैन में एक कप पानी गर्म कर लें।
  • गर्म पानी में आधा चम्मच अल्फाल्फा की पत्तियां/पाउडर डाल लें।
  • चाय को दो से तीन मिनट तक उबालें।
  • अच्छी तरह उबल जाने के बाद चाय को छान लें और सेवन करें।

2. अंकुरित अल्फाल्फा

Shutterstock

सामग्री:
  • आधा कप अल्फाल्फा के बीज
विधि:
  • एक बाउल में आधा कप अल्फाल्फा के बीज लें और उन्हें अच्छी तरह धो लें।
  • अब बाउल में अल्फाल्फा के बीज से दो या तीन गुना ठंडा पानी डाल दें।
  • बीजों को 8-12 घंटों के लिए पानी में रहने दें।
  • इसके बाद सारा पानी निकाल दें और बीजों को ठंडे पानी से धो दें।
  • फिर बीजों को तीन दिन के लिए सामान्य तापमान पर ऐसी जगह रखें, जहां सीधी धूप पड़ती हो। हर 8-12 घंटों में बीजों को ठंडे पानी से धोते रहें।
  • चौथे दिन बीजों को धूप से हटा कर छांव में रख दें और हर 8-12 घंटो में बीजों को ठंडे पानी से धोते रहें।
  • पांचवें या छठे दिन अंकुरित अल्फाल्फा खाने के लिए तैयार हो जाएंगे।
  • आप इनमें कटे हुए टमाटर व खीरा आदि मिलाकर खा सकते हैं।

नोट: ध्यान रहे कि बीजों को अंकुरित होने के लिए बैक्टीरिया की जरूरत होती है। ये बैक्टीरिया संक्रमित न हो जाएं, इसलिए आवश्यक है कि आप बीजों को स्वच्छ वातावरण में रखें।

अल्फाल्फा का उपयोग जानने के बाद, जानिये अल्फाल्फा के नुकसान के बारे में।

अल्फाल्फा के नुकसान – Side Effects of Alfalfa in Hindi

बेशक, अल्फाल्फा स्वास्थ्य के लिहाज से फायदेमंद है, लेकिन लंबे समय तक सेवन करने से कुछ नुकसान हो सकते हैं। नीचे जानिए अल्फाल्फा के नुकसान के बारे में (21):

  • इससे आपकी त्वचा सूरज के प्रति अति-संवेदनशील हो सकती है।
  • गर्भवती और स्तनपान कराने वाली महिलाओं में यह एस्ट्रोजन हार्मोन की तरह काम कर सकता है। इससे गर्भवती महिला को अल्फाल्फा के नुकसान हो सकते हैं।
  • शरीर में एस्ट्रोजन की अधिक मात्रा से स्तन कैंसर, गर्भाशय कैंसर, ओवरियन कैंसर, एंडोमेट्रियोसिस या गर्भाशय फाइब्रॉएड का खतरा बढ़ सकता है।
  • अल्फाल्फा ब्लड शुगर का स्तर कम कर सकता है। इसलिए, अगर आपको मधुमेह की समस्या है और अल्फाल्फा का उपयोग करते हैं, तो नियमित रूप से डायबिटीज की जांच करवाते रहें।
  • अगर आप गर्भनिरोधक गोलियां ले रही हैं, तो साथ में अल्फाल्फा का सेवन करने से गर्भनिरोधक गोलियां का असर कम हो सकता हैं।
  • अल्फाल्फा रोग प्रतिरोधक क्षमता को अधिक सक्रिय बना सकता है। अल्फाल्फा के नुकसान यह है कि इससे उन बीमारियों का खतरा बढ़ जाता है, जिनमें रोग प्रतिरोधक तंत्र स्वस्थ कोशिकाओं पर हमला करता है।
  • अल्फाल्फा में विटामिन-के पाया जाता है (5)। विटामिन-के अधिक सेवन से खून को पतला करने वाली दवाइयों का असर कम हो सकता है। इसलिए, अगर आपका खून पतला करने की दवा ले रहे हैं, तो अल्फाल्फा का सेवन डॉक्टर की सलाह पर ही करें (22)।

अल्फाल्फा के नुकसान जानने के बाद, इसके सेवन से घबराने की जरूरत नहीं है। आप सीमित मात्रा में इसका उपयोग कर अल्फाल्फा के फायदे का भरपूर लाभ उठा सकते हैं। इसके पोषक तत्व कई समस्याओं से छुटकारा पाने में आपकी मदद कर सकते हैं। इसलिए, आप आज से ही अल्फाल्फा का उपयोग करना शुरू कर सकते हैं और इसके गुणकारी तत्वों के चमत्कार का अनुभव कर सकते हैं। अगर आप अल्फाल्फा का उपयोग पहले से कर रहे हैं, तो इसके लाभ और अपने अनुभव के बारे में नीचे दिए कमेंट बॉक्स में लिख कर बता सकते हैं। साथ ही, हमें यह जरूर बताएं कि यह लेख आपके लिए किस प्रकार फायदेमंद रहा।

और पढ़े:

Was this article helpful?
The following two tabs change content below.

Soumya Vyas

सौम्या व्यास ने माखनलाल चतुर्वेदी विश्वविद्यालय, भोपाल से इलेक्ट्रॉनिक मीडिया में बीएससी किया है और इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ जर्नलिज्म एंड न्यू मीडिया, बेंगलुरु से टेलीविजन मीडिया में पीजी किया है। सौम्या एक प्रशिक्षित डांसर हैं। साथ ही इन्हें कविताएं लिखने का भी शौक है। इनके सबसे पसंदीदा कवि फैज़ अहमद फैज़, गुलज़ार और रूमी हैं। साथ ही ये हैरी पॉटर की भी बड़ी प्रशंसक हैं। अपने खाली समय में सौम्या पढ़ना और फिल्मे देखना पसंद करती हैं।

ताज़े आलेख

scorecardresearch