Written by , (शिक्षा- एमए इन जर्नलिज्म मीडिया कम्युनिकेशन)

औषधीय गुणों से भरपूर आंवला और एलोवेरा के बारे में तो सभी जानते होंगे। साथ ही कुछ हद तक इनसे होने वाले स्वास्थ्य लाभ के विषय में भी सभी ने कुछ न कुछ पढ़ा या सुना होगा। मगर, क्या आप जानते हैं कि आंवला और एलोवेरा के जूस का एक साथ उपयोग आयुर्वेद में सेहत और स्वास्थ्य के लिए अधिक प्रभावी माना जाता है। मुमकिन है, इस संबंध में बहुत से लोगों को कुछ भी पता न हो। यही वजह है कि स्टाइलक्रेज के इस लेख में हम आंवला और एलोवेरा जूस के फायदे विस्तार से बताने जा रहे हैं। साथ ही यहां आंवला और एलोवेरा जूस के नुकसान से जुड़ी जानकारी भी दी जाएगी।

स्क्रॉल करें

तो आइए सबसे पहले हम आमला और एलोवेरा जूस के फायदे के विषय में जान लेते हैं।

आंवला और एलोवेरा जूस के फायदे – Benefits of Amla and Aloe Vera Juice in Hindi

आंवला और एलोवेरा जूस में पाए जाने वाले पोषक तत्व और प्राकृतिक गुण इसे सेहत के लिए कई प्रकार से फायदेमंद बनाते हैं। इसी बात को बेहतर तरीके से समझने के लिए यहां हम क्रमवार आंवला और एलोवेरा जूस के फायदे बताने जा रहे हैं, जिनके माध्यम से इस मिश्रण की उपयोगिता को समझने में मदद मिल सकती है। उससे पहले यह समझ लेना जरूरी है कि आंवला और एलोवारा का जूस कुछ समस्याओं में राहत तो पहुंचा सकता है, लेकिन उसे उन समस्याओं का उपचार नहीं कहा जा सकता। किसी भी समस्या का उपचार केवल डॉक्टरी परामर्श पर ही निर्भर करता है।

1. वजन कम करने में

शरीर में अतिरिक्त चर्बी बढ़ने के कारण मोटापे की समस्या हो सकती है, जो कई अन्य बीमारियों का कारण बन सकती है। ऐसे में आंवला और एलोवेरा के जूस का सेवन मोटापे की समस्या को कुछ हद तक कम करने में सहायक हो सकता है। आंवला और एलोवेरा से जुड़े दो अलग-अलग शोध से इस बात की पुष्टि होती है। एनसबीआई (National Center for Biotechnology Information) की वेबसाइट पर प्रकाशित शोध के अनुसार आंवलें में एंटीओबेसिटी प्रभाव होता है। यह प्रभाव वजन घटाने के लिए फायदेमंद हो सकता है (1)।

वहीं, अन्य शोध में जिक्र मिलता है कि एलोवेरा शरीर में ऊर्जा की खपत को बढ़ाने के साथ फैट को कम कर सकता है (2)। इस आधार पर हम कह सकते हैं कि वजन कम करने के उपाय के तौर पर आंवला और एलोवेरा का जूस वजन को कम करने में मददगार हो सकता है।

2. मधुमेह को नियंत्रित करने के लिए

रक्त में शुगर की मात्रा बढ़ने से मधुमेह की समस्या होने का खतरा हो सकता है। इस समस्या को कम करने में भी आंवला और एलोवेरा का जूस फायदेमंद हो सकता है। रिसर्च के मुताबिक आंवला के जूस में इंसुलिन की सक्रियता को बढ़ाने वाला गुण मौजूद होता है। आंवला जूस का यह गुण शुगर के स्तर को कम करने में मदद कर सकता है (3)। वहीं दूसरी ओर एलोवेरा में एंटी-डायबिटिक प्राॅपर्टी हाेती है, जो मधुमेह को नियंत्रित करने में मददगार हो सकती है (4)। आंवला और एलोवेरा में पाए जाने वाले यह प्रभाव मधुमेह की समस्या को कम करने में मददगार हो सकते हैं।

3. लिवर को स्वस्थ रखने में फायदेमंद

आंवला और एलोवेरा का जूस लिवर के स्वास्थ्य के लिए भी फायदेमंद हो सकता है। अध्ययन में पाया गया कि एलोवेरा में हेप्टोप्रोटेक्टिव (लिवर को सुरक्षा प्रदान करने वाला) गुण पाया जाता है। यह गुण लिवर से संबंधित सूजन और शराब के अधिक उपयोग से होने वाली लिवर की क्षति को दूर करने में सहायक हो सकता है (5)। वहीं आंवला से जुड़े शोध में भी माना गया है कि इसके अर्क में हेपटोप्रोटेक्टिव (लिवर की रक्षा करने वाला) गुण मौजूद होता है। इस कारण आंवला का जूस भी लिवर से जुड़े जोखिमों को दूर कर लिवर के स्वास्थ्य को बनाए रखने में मदद कर सकता है (6)।

4. हृदय को स्वस्थ्य रखे

अच्छी सेहत के साथ ही आंवला और एलोवेरा का जूस हृदय को स्वस्थ्य रखने में मददगार हो सकता है। चूहों पर आधारित एक रिसर्च से इस बात का पता चलता है। रिसर्च में माना गया है कि एलोवेरा में कार्डियो प्रोटेक्टिव (हृदय को सुरक्षा देने वाला) गुण होता है, जो हृदय से संबंधित जोखिम से सुरक्षा प्रदान कर सकता है (7)। इसके साथ ही आंवला के अर्क से जुड़े एक शोध में जिक्र मिलता है कि आंवला के जूस में पॉलीफिनोल्स पाए जाते हैं। इन पॉलीफिनोल्स की मौजूदगी के कारण आंवला का जूस सम्पूर्ण लिपिड प्रोफाइल (वसा, कोलेस्ट्रोल और ट्रिगलीसेराइड) को कम कर हृदय को सुरक्षा प्रदान कर सकता है (8)।

5. मजबूत प्रतिरक्षा प्रणाली के लिए

कमजोर प्रतिरक्षा प्रणाली के कारण कई प्रकार के संक्रमण और बीमारी होने का जोखिम बना रहता है। ऐसे में आंवला और एलोवेरा का जूस प्रतिरक्षा प्रणाली को बढ़ाने के उपाय के तौर पर इस्तेमाल किया जा सकता है। अध्ययन के अनुसार आंवला के रस में इम्यूनोमोड्यूलेट्री यानी प्रतिरक्षा प्रणाली को नियंत्रित करने वाला गुण मौजूद होता है। इस गुण की मौजूदगी के कारण आंवला का रस प्रतिरक्षा प्रणाली को मजबूत करने का काम कर सकता है (9)। इसके अलावा एलोवेरा भी इम्यून बूस्टर के जैसे कार्य करता है, जो प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने में मददगार हो सकता है (10)।

6. त्वचा के लिए आंवला और एलोवेरा जूस के फायदे

अच्छी सेहत के साथ ही आंवला और एलोवेरा जूस त्वचा के लिए भी फायदेमंद हो सकता है। शोध के मुताबिक एलोवेरा त्वचा को हायड्रेट और मॉइस्चराइज करने में उपयोगी हो सकता है (11)। वहीं, त्वचा के लिए भी आंवला के फायदे कम नहीं है। आंवला से जुड़े शोध में जिक्र मिलता है कि इसमें पाया जाने वाला एंटी-ऑक्सीडेंट प्रभाव त्वचा की रंगत को निखारने में मददगार हो सकता है (12)।

7. बालों की मजबूती के लिए

सेहत और त्वचा के लिए उपयोगी आंवला और एलोवेरा जूस बालों की देखभाल के लिए भी उपयोगी हो सकता है। दरअसल, हर्बल औषधि के रूप में बालों को झड़ने से रोकने और स्वस्थ रखने के लिए एलोवेरा उपयोगी माना जाता है (13)। वहीं, आंवले को एक बेहतरीन हेयर टॉनिक माना जाता है। इस कारण बालों के विकास के लिए आहार में भी आंवला जूस को शामिल करने की सलाह दी जाती है। यह बात आंवला से जुड़े एक शोध से स्पष्ट होती है। शोध में जिक्र मिलता है कि आंवला के जूस में प्रचुर मात्रा में विटामिन सी पाया जाता है, जो बालों के विकास को बढ़ावा दे सकता है । इस आधार पर माना जा सकता है कि आंवला और एलोवेरा का जूस बालों के लिए उपयोगी साबित हो सकता है।

पढ़ना जारी रखें

आंवला और एलोवेरा जूस के फायदे के बाद हम इनमें पाए जाने वाले पोषक तत्वों के बारे में बता रहे हैं।

आंवला और एलोवेरा जूस के पोषक तत्व – Amla And Aloe Vera Juice Nutritional Value in Hindi

आंवला और एलोवेरा जूस के फायदे इनमें पाए जाने वाले पोषक तत्वों के कारण ही प्राप्त हो पाते हैं। तो आइए यहां हम आंवला और एलोवेरा जूस में पाए जाने वाले पोषक तत्वों के बारे में अलग-अलग जान लेते हैं।

1. आंवला जूस में मौजूद पोषक तत्व

नीचे दिए गए चार्ट के माध्यम से हम आंवला के जूस में पाए जाने वाले पोषक तत्व के बारे में विस्तार से जान सकते हैं (14)।

पोषक तत्वमात्रा प्रति 100 ग्राम
पानी96.23 ग्राम
ऊर्जा15 केसीएएल
कार्बोहाइड्रेट3.75 ग्राम
शुगर3.75 ग्राम
केल्शियम8 मिलीग्राम
आयरन0.15 मिलीग्राम
सोडियम8 मिलीग्राम
विटामिन सी3.8 मिलीग्राम

2. एलोवेरा जूस में मौजूद पोषक तत्व

एलोवेरा जूस के पोषक तत्वों के बाद यहां हम आंवला के जूस में पाए जाने वाले पोषक तत्वों को नीचे दिए गए चार्ट के माध्यम से विस्तार से समझ लेते हैं (15)।

पोषक तत्वमात्रा
पानी80.1 ग्राम
ऊर्जा73 केसीएएल
प्रोटीन0.65 ग्राम
कार्बोहाइड्रेट18.75 ग्राम
फाइबर2.4 ग्राम
केल्शियम16 मिलीग्राम
आयरन0.33 मिलीग्राम
मेग्नीशियम6 मिलीग्राम
फासफोरस7 मिलीग्राम
पोटेशियम77 मिलीग्राम
सोडियम2 मिलीग्राम
जिंक0.11 मिलीग्राम
कॉपर0.217 मिलीग्राम
मैग्नीश0.177 मिलीग्राम
सेलेनियम0.4 मिलीग्राम
विटामिन सी10 मिलीग्राम
विटामिन बी 60.012 मिलीग्राम
फोलेट3 माइक्रोग्राम
विटामिन ए7 माइक्रोग्राम
फैटी एसिड टोटल सेचुरेटिड0.013 ग्राम
फैटी एसिड टोटल मोनेअनसेचुरेटिड0.018 ग्राम
फैटी एसिड टोटल पोलीआनसेचुरेटिड0.11 ग्राम

और भी है कुछ खास

पोषक तत्वों के बाद अब हम आंवला और एलोवेरा जूस के उपयोग के बारे में जान लेते हैं।

आंवला और एलोवेरा जूस का उपयोग – How to Use Amla and Aloe Vera Juice in Hindi

यहां अब हम कुछ बिन्दुओं के माध्यम से आंवला और एलोवेरा जूस के उपयोग के बारे में बताने जा रहे हैं।

  • रोजाना एक गिलास आंवला और एलोवेरा जूस नाश्ते में लिया जा सकता है।
  • इसके दिन में कभी भी रिफ्रेशमेंट के लिए भी ले सकते हैं।
  • आंवला और एलोवेरा जूस को तरबूज के जूस के साथ मिलाकर सेवन कर सकते हैं।
  • फेसपैक के रूप में भी आंवला और एलोवेरा जूस का उपयोग कर सकते हैं।
  • हेयर मास्क के रूप में भी यह जूस फायदेमंद हो सकता है।

मात्रा: एलोवेरा जूस को रोजाना 1200 मिलीग्राम मात्रा में लिया जा सकता है (16)। वहीं, आंवला की बात करें तो इसे प्रतिदिन एक गिलास पानी में एक चम्मच तक मिलाकर इस्तेमाल किया जा सकता है । हालांकि संयुक्त रूप से आंवला और एलोवेरा का जूस लेने के विषय कोई स्पष्ट प्रमाण उपलब्ध नहीं है। इसलिए व्यक्ति की उम्र और शारीरिक स्थिति पर इस संयुक्त मिश्रण को लेने की मात्रा निर्भर करती है। ऐसे में आंवला और एलोवेरा के जूस का नियमित सेवन करने से पूर्व इसकी ली जाने वाली मात्रा के विषय में डॉक्टरी सलाह जरूर ले लें।

नीचे स्क्रॉल करें

पोषक तत्वों और उपयोग के बाद आइए अब आंवला और एलोवेरा जूस के नुकसान जान लेते हैं।

आंवला और एलोवेरा जूस के नुकसान – Side Effects of Amla and Aloe Vera Juice in Hindi

अधिक मात्र में किसी भी चीज का सेवन हानिकारक माना जाता है। ऐसा ही कुछ आंवला और एलोवेरा जूस के साथ भी है। अधिक मात्रा में या कुछ विशेष परिस्थियों में आंवला और एलोवेरा जूस के नुकसान कुछ इस प्रकार देखने को मिल सकते हैं :

  • जिन्हें आंवला या एलोवेरा में से किसी एक से भी एलर्जी है, उनके लिए यह जूस नुकसानदायक साबित हो सकता है।
  • लो ब्लड प्रेशर वालों को इसके सेवन से बचना चाहिए, क्योंकि आंवला रक्तचाप को कम कर सकता है (17) ।
  • आंवला और एलोवेरा में एंटीडायबिटिक (ब्लड शुगर को कम करने वाला) गुण पाया जाता है, इसलिए डायबिटीज की दवा लेने वाले लोगों को इसके सेवन से पहले डॉक्टर की सलाह ले लेना चाहिए (4)।
  • एलोवेरा जूस पेट में ऐंठन, दस्त, पेशाब के रंग में परिवर्तन, हेपेटाइटिस (लीवर में इंफ्लेमेशन) और कब्ज की समस्या का कारण बन सकता है (18)।
  • गर्भवती और स्तनपान कराने वाली महिलाओं को एलोवेरा जूस के सेवन से बचना चाहिए। यह गर्भावस्था के दौरान गर्भाशय संकुचन और स्तनपान के दौरान नवजात में गैस्ट्रोइंटेस्टाइनल से जुड़ी समस्या खड़ी कर सकता है (18)।

आंमला और एलोवेरा जूस के फायदे और इसके औषधीय गुण जानने के बाद, अब आपकाे यह तो पता चल चुका होंगा कि इसका सेवन स्वास्थ्य के लिए किस प्रकार लाभदायक हो सकता है। ऐसे में यदि आप भी किसी खास समस्या के इलाज के लिए इसके सेवन के बारे में सोच रहे हैं, तो आंमला और एलोवेरा जूस के नुकसान पर भी जरूर गौर कर लें। वहीं समस्या गंभीर होने की स्थिति में डॉक्टर से संपर्क करने में देरी न करें, क्योंकि यह केवल समस्या में राहत दिला सकता है। समस्या का पूर्ण इलाज डॉक्टरी परामर्श पर ही निर्भर करता है।

अक्सर पूछे जाने वाले सवाल

क्या आंवला और एलोवेरा जूस को रोजाना पी सकते हैं?

हां, कई समस्याओं में राहत पाने के लिए आंवला और एलोवेरा दोनों को प्रतिदिन लिया जा सकता है (19) (20)। इन तथ्यों को देखते हुए यह माना जा सकता है कि आंवला और एलोवेरा के जूस का मिश्रण भी प्रतिदिन लिया जा सकता है। मगर, इसे नियमित इस्तेमाल में लाने से पूर्व एक बार डॉक्टर से परामर्श अवश्य कर लेना चाहिए।

हम आंवला और एलोवेरा जूस को कहां से प्राप्त कर सकते हैं?

आंवला और एलोवेरा जूस को आसानी से घर पर बनाया जा सकता है। इसके अलावा किसी भी आयुर्वेदिक मेडिकल शॉप से भी इसे खरीदा जा सकता है।

क्या आंवला और एलोवेरा जूस वजन कम कर सकता है?

हां, आंवला और एलोवेरा दोनों के अर्क में वजन को कम करने के गुण पाए जाते हैं (1) (2)। इस कारण यह माना जा सकता है कि आंवला और एलोवेरा जूस का सेवन वजन कम करने में मदद कर सकता है।

Sources

Articles on StyleCraze are backed by verified information from peer-reviewed and academic research papers, reputed organizations, research institutions, and medical associations to ensure accuracy and relevance. Read our editorial policy to learn more.

  1. Emblica officinalis – Anti-obesity activity
    https://pubmed.ncbi.nlm.nih.gov/29206643/
  2. Administration of dried Aloe vera gel powder reduced body fat mass in diet-induced obesity (DIO) rats
    https://pubmed.ncbi.nlm.nih.gov/22878390/
  3. Antidiabetic potential of gallic acid from Emblica officinalis: Improved glucose transporters and insulin sensitivity through PPAR-γ and Akt signaling
    https://pubmed.ncbi.nlm.nih.gov/31064680/
  4. Antidiabetic activity of Aloe vera L. juice. I. Clinical trial in new cases of diabetes mellitus
    https://pubmed.ncbi.nlm.nih.gov/23195077/
  5. Hepatoprotective potential of Aloe vera polysaccharides against chronic alcohol-induced hepatotoxicity in mice
    https://pubmed.ncbi.nlm.nih.gov/24272968/
  6. Hepatoprotective and antioxidant activity of standardized herbal extracts
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC3371432/
  7. Cardioprotective Effect of Aloe vera Biomacromolecules Conjugated with Selenium Trace Element on Myocardial Ischemia-Reperfusion Injury in Rats
    https://pubmed.ncbi.nlm.nih.gov/27873288/
  8. Protective effects of Ethanolic Extract of Emblica officinalis (amla) on Cardiovascular Pathophysiology of Rats, Fed with High Fat Diet
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC5713720/
  9. Immunomodulatory activity of Āmalaki Rasāyana: An experimental evaluation
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC3807964/
  10. Aloe vera: Potential candidate in health management via modulation of biological activities
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC4557234/
  11. Moisturizing effect of cosmetic formulations containing Aloe vera extract in different concentrations assessed by skin bioengineering techniques
    https://pubmed.ncbi.nlm.nih.gov/17026654/
  12. Critical review of Ayurvedic Varṇya herbs and their tyrosinase inhibition effect
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC4623628/
  13. Evaluation of the Nutritional and Metabolic Effects of Aloe vera
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/books/NBK92765/
  14. Beverages, aloe vera juice drink, fortified with Vitamin C
    https://fdc.nal.usda.gov/fdc-app.html#/food-details/174131/nutrients
  15. Gooseberries, canned, light syrup pack, solids and liquids
    https://fdc.nal.usda.gov/fdc-app.html#/food-details/173031/nutrients
  16. ALOE VERA: A VALUABLE WONDER PLANT FOR FOOD, MEDICINE AND COSMETIC USE – A REVIEW
    https://globalresearchonline.net/journalcontents/v13-1/010.pdf
  17. Emblica officinalis (Amla): A review for its phytochemistry, ethnomedicinal uses and medicinal potentials with respect to molecular mechanisms
    https://pubmed.ncbi.nlm.nih.gov/27320046/
  18. ALOE VERA: A SHORT REVIEW
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC2763764/
  19. Evaluation of Efficacy of Aloevera in the Treatment of Oral Submucous Fibrosis- A Clinical Study
    https://clinicaltrials.gov/ct2/show/NCT02714543
  20. Indian gooseberry (Emblica officinalis): Complete pharmacognosy review
    https://www.researchgate.net/publication/331857453_Indian_gooseberry_Emblica_officinalis_Complete_pharmacognosy_review
Was this article helpful?
thumbsupthumbsdown
The following two tabs change content below.
पुजा कुमारी ने बनारस हिंदू यूनिवर्सिटी से जर्नलिज्म एंड मास कम्युनिकेशन में एमए किया है। इन्होंने वर्ष 2015 में अपने... more

ताज़े आलेख