आंवला चूर्ण के फायदे, उपयोग और नुकसान – Amla Powder Benefits and Side Effects in Hindi

Medically reviewed by Neelanjana Singh, RD Neelanjana Singh Neelanjana SinghRD
Written by , हेल्थ एंड वेलनेस राइटर Puja Kumari हेल्थ एंड वेलनेस राइटर
 • 
 

घर की रसोई में आंवले का एक विशेष स्थान होता है। इससे बने अचार और मुरब्बे को लोग बड़े चाव से खाते हैं। इसके कई औषधीय गुण भी हैं, खासकर आंवले से बनाया जाने वाला आंवला पाउडर का इस्तेमाल शरीर की कई परेशानियों से निजात पाने के लिए किया जाता है। आंवला पाउडर के फायदे न सिर्फ आपकी सेहत, बल्कि बालों और त्वचा के लिए भी उपयोगी माने जाते हैं। स्टाइलक्रेज के इस लेख में हम बात करेंगे आंवला चूर्ण के फायदे, उपयोग और इससे होने वाले नुकसान के बारे में।

आइए, सबसे पहले जानते हैं आंवला चूर्ण के फायदे के बारे में।

आंवला चूर्ण के फायदे – Benefits of Amla Powder in Hindi

आंवले के साथ-साथ आंवला पाउडर भी शरीर के लिए लाभकारी माना जाता है। यहां हम बता रहे हैं कि शरीर के  लिए आवंला चूर्ण किस प्रकार फायदेमंद है।

1. वजन कम करने के लिए

आंवले के अंदर एथेनॉलिक (Ethanolic) नाम का यौगिक पाया जाता है। इस यौगिक में एंटीहाइपरलिपिडेमिक (फैट को कम करने वाला) और एंटीऑक्सीडेंट गुण पाए जाते हैं। इसके इन्हीं गुणों के कारण आंवले के सेवन से बढ़ता हुए वजन को नियंत्रित किया जा सकता है। साथ ही आंवला अतिरिक्त फैट को बर्न करने का काम भी कर सकता है (1)। इसके अलावा, आंवला चयापचय को बढ़ावा देने का काम भी करता है, जिससे वजन को नियंत्रित रखा जा सकता है (2)।

2. पाचन के लिए फायदेमंद 

आंवला एक आदर्श फल है, जो कई सारे फायदों को अपने आप में समेटे हुए है। यह पाचन के लिए प्रभावकारी माना जाता है। दरअसल, इसमें फाइबर की अच्छी मात्रा होती है (3)। फाइबर पाचन तंत्र को मजबूत बनाता है और कब्ज जैसी पेट संबंधी परेशानियों को ठीक करने का काम करता है (4)।

3. लीवर को स्वस्थ रखे 

दर्द निवारक दवाएं, एंटीबायोटिक और शराब का सेवन लिवर में टॉक्सिक पदार्थों का निर्माण करते हैं। नियमित आंवला का सेवन इन विषाक्त पदार्थों को शरीर से छुटकारा दिलाकर लिवर को स्वस्थ बनाए रखने में मदद कर सकता है (2)।

4. मधुमेह को करे नियंत्रित

आंवले में एंटी-हाइपोग्लाइसेमिक और लिपिड को कम करने वाले गुण पाए जाते हैं। आंवला में पाए जाने वाले ये गुण मधुमेह को नियंत्रित करने में मददगार हो सकते हैं। रोजाना आंवला पाउडर का सेवन रक्त में मौजूद ग्लूकोज के स्तर को कम करने में कारगर हो सकता है। इससे न सिर्फ मधुमेह को रोका जा सकता है, बल्कि इसके सेवन से मधुमेह को नियंत्रित भी किया जा सकता है (5)।

5. कैंसर की रोकथाम के लिए

आंवला में रेडियोमॉडुलेटरी (Radiomodulatory), केमोमोडायलेटरी (Chemomodulatory), केमप्रोवेन्टिव इफेक्ट (Chemopreventive effects), एंटीऑक्सीडेंट और एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण पाए जाते हैं। आंवला में पाए जाने वाले ये गुण कैंसर का उपचार और रोकथाम करने में मददगार हो सकते हैं (6)।

6. स्वस्थ हृदय के लिए आंवला चूर्ण के फायदे

शोध के अनुसार, आंवला हृदय को स्वस्थ रखने का काम कर सकता है। इसके अलावा, इसका उपयोग हाइपोलिपिडेमिक एजेंट के रूप में किया जाता है, जो रक्तचाप को रोकने के साथ ही कोरोनरी आर्टरी डिजीज (धमनी रोग) के खिलाफ सुरक्षा प्रदान कर सकता है, जिससे हृदय स्वस्थ रहता है (7)।

7. मजबूत हड्डियों के लिए

आंवला कैल्शियम का एक अच्छा प्राकृतिक स्रोत है (3)। कैल्शियम हड्डियों के लिए सबसे महत्वपूर्ण तत्व है। कैल्शियम की कमी आपकी हड्डियों को कमजोर कर सकती है, जिससे हड्डियाें के टूटने का डर रहता है। कैल्शियम हड्डियाें को मजबूत करने के साथ ही हड्डियों के विकास का काम करता है (8)।

8. रोग प्रतिरोधक क्षमता के लिए 

रोज एक आंवले का सेवन आपकी रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने में कारगर हो सकता है। इसमें एंटीऑक्सीडेंट के साथ इम्यूनोमॉड्यूलेटरी गुण भी मौजूद होते हैं, जिस कारण आंवला रोग प्रतिरक्षा को बूस्ट करने का काम करता है (9)।

9. आंखों के लिए आंवला चूर्ण के फायदे 

आंवले में पाया जाने वाला विटामिन-सी आंखों की रोशनी को बढ़ाने में मदद करता है। साथ ही आंवले में मौजूद आयरन और कई सारे खनिज आंखों की कई समस्याओं को दूर करने में फायदेमंद साबित हो सकते हैं। इसका उपयोग मोतियाबिंद के उपचार में भी किया जा सकता है (2)।

10. त्वचा के लिए आंवला पाउडर

आंवला में सबसे बेहतरीन प्राकृतिक एंटी-एजिंग गुण होते हैं, जो त्वचा को बूढ़ा होने से रोकने में मदद करता है। इसका उपयोग मुंहासे और अन्य त्वचा समस्याओं के उपचार में भी किया जा सकता है (10)।

11. बालों के लिए 

आंवले में कई औषधीय गुण पाए जाते हैं, जो बालों को पोषण देने कि लिए फायदेमंद हो सकते हैं। आंवले का उपयोग बालों को समय से पहले सफेद होने से रोकने के लिए, उन्हें मजबूत और रूसी से मुक्त बनाने के लिए किया जा सकता है। यह बालों के स्वास्थ्य और बेहतर विकास के अच्छा फल माना जा सकता है (10)। वहीं, इसके एंटीऑक्सीडेंट गुण के कारण यह प्रदूषण के प्रभावों का मुकाबला करने में मदद कर सकता है।

 आंवला चूर्ण के फायदों के बाद जानते हैं इसके पोषक तत्वों के बारे में।

आंवला पाउडर के पौष्टिक तत्व – Amla Powder Nutritional Value in Hindi

आंवला चूर्ण का सेवन सेहत के लिए फायदेमंद माना जाता है, क्योंकि इसमें काफी पोषक तत्व मौजूद होते हैं। आइए आंवला के चूर्ण में पाये जाने वाले पोषक तत्वों के बारे में जानते हैं (3)। 

पोषक तत्वमात्रा प्रति 100 ग्राम
मॉइस्चर81.2%
कैलोरी60 ग्राम
फाइबर3.4 ग्राम
प्रोटीन0.4 ग्राम
फैट0.5 ग्राम
कार्बोहाइड्रेट14 ग्राम
विटामिन बी128 माइक्रोग्राम
विटामिन बी3 0.4 ग्राम
विटामिन सी720 मिलीग्राम
कैल्शियम15 मिलीग्राम
आयरन1 मिलीग्राम
फास्फोरस21 मिलीग्राम

पोषक तत्वों को जानने के बाद आगे हम जानेंगे कि आंवला चूर्ण का उपयोग कब, कैसे और कितनी मात्रा में करना चाहिए।

आंवला चूर्ण का उपयोग – How to Use Amla Powder in Hindi

कब करें आंवला चूर्ण का उपयोग : 

आंवला पाउडर का उपयोग आप कभी भी कर सकते हैं।

कितनी मात्रा में आंवला पाउडर का उपयोग करना चाहिए : 

किसी भी नकारात्मक परिणामों से बचने के लिए इसका उपयोग सीमित मात्रा में करना चाहिए। साथ ही अगर आप दवाओं का उपयोग कर रहे हैं, तो आंवला चूर्ण का उपयोग डॉक्टर की सलाह पर ही करें (10)।

आंवला चूर्ण के फायदे हैं, तो इसके कुछ नुकसान भी हो सकते हैं, जानते हैं इसके नुकसान के बारे में।

आंवला पाउडर के नुकसान – Side Effects of Amla Powder in Hindi

कहते हैं किसी भी चीज का ज्यादा उपयोग उसे नुकसानदायक बना सकता है। ठीक वैसे ही आंवला पाउडर के ज्यादा उपयोग से इसके नुकसान हो सकते हैं। ये नुकसान कौन-कौन से हैं, आइए जानते हैं।

  • आंवला पाउडर का इस्तेमाल रक्त में मौजूद ग्लूकोज को कम करने के लिए किया जाता है। इसलिए, हाइपोग्लाइसीमिया (Low Blood Sugar) के मरीजों को इसका अधिक सेवन नहीं करना चाहिए (5)।
  • आंवले का सेवन तेजी से वजन कम कर सकता है। जिनका वजन पहले से ही कम है, उन्हें डॉक्टर की सलाह पर इसका सेवन करना चाहिए (2)।

इस आर्टिकल से यह तो साफ हो गया है कि आंवला चूर्ण के फायदे एक नहीं, बल्कि अनेक हैं। इसका प्रयोग स्वास्थ्य को ठीक रखने के साथ-साथ त्वचा और बालों के लिए भी किया जा सकता है। साथ ही ध्यान रहे कि इसका इस्तेमाल सीमित मात्रा में ही करें, वरना अधिक सेवन फायदे की जगह नुकसान पहुंचा सकता है। ऐसे में संतुलित मात्रा में इसका उपयोग कर इसके अच्छे गुणों का आनंद लें। इसके अलावा, लेख को दूसरों के साथ शेयर करके इसमें बताए गए आंवला चूर्ण के फायदे और घरेलू नुस्खों की जानकारी सभी के साथ साझा करें।

References

Articles on StyleCraze are backed by verified information from peer-reviewed and academic research papers, reputed organizations, research institutions, and medical associations to ensure accuracy and relevance. Read our editorial policy to learn more.

  1. Emblica officinalis – Anti-obesity activity
    https://pubmed.ncbi.nlm.nih.gov/29206643/
  2. Super food that heals you naturally
    https://www.academia.edu/12376229/Super_food_that_heals_you_naturally
  3. Amalaki (indian gooseberry): An ancient food supplement
    https://www.researchgate.net/publication/271236346_Amalaki_indian_gooseberry_An_ancient_food_supplement
  4. Fiber
    https://medlineplus.gov/ency/article/002470.htm#:~:text=Soluble%20fiber%20attracts%20water%20and,can%20help%20prevent%20heart%20disease.
  5. Effect of Amla fruit (Emblica officinalis Gaertn.) on blood glucose and lipid profile of normal subjects and type 2 diabetic patients
    https://pubmed.ncbi.nlm.nih.gov/21495900/
  6. Amla (Emblica officinalis Gaertn), a wonder berry in the treatment and prevention of cancer
    https://pubmed.ncbi.nlm.nih.gov/21317655/
  7. A comparative clinical study of hypolipidemic efficacy of Amla (Emblica officinalis) with 3-hydroxy-3-methylglutaryl-coenzyme-A reductase inhibitor simvastatin
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC3326920/
  8. Calcium and Bones
    https://medlineplus.gov/ency/article/002062.htm
  9. Immunomodulatory role of Emblica officinalis in arsenic induced oxidative damage and apoptosis in thymocytes of mice
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC3733846/
  10. Recent Trends in Potential Traditional Indian Herbs Emblica officinalis and Its Medicinal Importance
    http://citeseerx.ist.psu.edu/viewdoc/download?doi=10.1.1.1008.1346&rep=rep1&type=pdf
  11. A Literary Review on Emblica Officinalis in Pregnancy Induced Anaemia
    https://www.ijresm.com/Vol_1_2018/Vol1_Iss10_October18/IJRESM_V1_I10_116.pdf

और पढ़े:

Was this article helpful?
thumbsupthumbsdown
The following two tabs change content below.

ताज़े आलेख