आंवला तेल के 10 फायदे, उपयोग और नुकसान – Amla Oil Benefits and Side Effects in Hindi

Written by

आंवला को सदियों से सेहत और स्वास्थ्य के लिए लाभकारी फल माना जाता रहा है। आंवला की तरह ही आंवले का तेल भी उपयोगी होता है। इस लेख में हम इस तेल के फायदे और उपयोग बता रहे हैं। साथ ही यहां हम आंवले का तेल बनाने का तरीका भी समझाएंगे, ताकि घर में ही इसे तैयार कर इसके फायदे हासिल किए जा सकें। इसके उपयोग से पहले यह ध्यान दें कि आंवला तेल लेख में बताई गई समस्याओं के लक्षण कम कर सकता है, लेकिन उनका इलाज नहीं है।

पढ़ते रहें लेख

आइए, बिना देर किए पहले हम आंवला तेल के फायदे जानते हैं।

आंवला तेल के फायदे – Benefits of Amla Oil in Hindi

यहां हम आंवला तेल के फायदे और यह उन समस्याओं में कैसे काम करता है, ये सब क्रमवार बता रहे हैं। इसके लिए आपको यह समझना जरूरी है कि आंवला का तेल तैयार करने के लिए ताजा या सूखे आंवले को नारियल तेल के साथ गर्म किया जाता है (1)। इससे आंवला के औषधीय गुण और पोषक तत्व आंवला तेल में आ जाते हैं, जिसके कारण आंवला तेल निम्न समस्याओं में फायदेमंद साबित हो सकता है। आइए, अब गहराई से आंवला ऑयल के फायदे समझने का प्रयास करते हैं।

1. सूजन को कम करें

आंवला तेल सूजन को कम करने में सहायक हो सकता है। एनसबीआई (नेशनल सेंटर फॉर बायोटेक्नोलॉजी इंर्फोमेशन) पर प्रकाशित शोध में बताया गया है कि आंवला फल के अर्क में एंटी इंफ्लामेटरी प्रभाव होता है (2)। एंटी इंफ्लामेंटरी प्रभाव सूजन को कम करने में कारगर साबित हो सकता है (3)। इस आधार पर माना जा सकता है कि सूजन से राहत पाने के लिए आंवला का तेल प्रभावकारी हो सकता है।

2. एंटीऑक्सीडेंट से भरपूर

आंवला का तेल एंटीऑक्सीडेंट प्रभाव से भरपूर होता है। शोध की मानें तो आंवला में एस्कॉर्बिक एसिड पाया जाता है, जो अपने आप में एक शक्तिशाली एंटीऑक्सीडेंट है (4)। इससे हृदय संबंधी समस्या, डायबिटीज और मानसिक स्वास्थ्य पर सकारात्मक प्रभाव पड़ते हैं (5)।

ऐसे में माना जा सकता है कि एंटीऑक्सीडेंट से भरपूर आंवला का तेल उपरोक्त समस्याओं में राहत दिला सकता है। एंटीऑक्सीडेंट समृद्ध आंवले का गुण प्राप्त करने के लिए घर में खाने में उपयोग होने वाले तेल में आंवले के चूर्ण या जूस को मिलाकर इस्तेमाल करें। हां, इसके सेवन से पहले डॉक्टरी सलाह लेना बिल्कुल न भूलें।

3. हृदय के लिए उपयोगी

हृदय रोग की समस्या से ग्रसित लोगों के लिए आंवला तेल उपयोगी हो सकता है। इससे जुड़े एक शोध में लिखा है कि आंवला का अर्क बढ़े हुए कोलेस्ट्रॉल को कम कर हृदय संबंधी बीमारियों के जोखिम से बचा जा सकता है (6)। एक अन्य रिसर्च के अनुसार, आंवला अर्क संपूर्ण लिपिड प्रोफाइल को ठीक करके हृदय को स्वास्थ रख सकता है (7)।

ऐसे में माना जा सकता है कि आंवला तेल के फायदे हृदय रोग में हो सकते हैं। इस फायदे को पाने के लिए घर में खाने के लिए इस्तेमाल किए जाने वाले तेल में आंवले के चूर्ण या जूस को मिलाकर तेल तैयार करें। बस इसके सेवन से पहले डॉक्टरी सलाह अवश्य लें।

4. आंखों के लिए फायदेमंद

आंखों के लिए आंवला तेल का उपयोग लाभकारी हो सकता है। दरअसल, आंवला के अर्क पर आधारित एनसीबीआई के शोध से पता चलता है कि आंवले के अर्क में मौजूद एंटीऑक्सीडेंट गुण मोतियाबिंद के जोखिम कम हो सकते हैं (8)। इसके लिए आंखों के ऊपरी हिस्से की इससे मसाज कर सकते हैं। हालांकि, इसका इस्तेमाल चिकित्सक से परामर्श लेने के बाद ही करें।

5. प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाए

आंवला तेल शरीर की प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने में सहायक हो सकता है। दरअसल, लखनऊ के किंग जॉर्ज मेडिकल कॉलेज द्वारा किए गए शोध में जिक्र मिलता है कि आंवला के अर्क में एंटीऑक्सीडेंट गुण के साथ ही इम्यूनोमॉड्यूलेटरी प्रभाव होता है। इससे इम्यून सिस्टम को मॉड्यूलेट हो सकता है (9)।

इस आधार पर यह कहना गलत नहीं होगा कि आंवला तेल के फायदे प्रतिरोधक क्षमता में सुधार के लिए भी इस्तेमाल में लाया जा सकता है। इसके लाभ प्राप्त करने के लिए घर में भोजन के लिए इस्तेमाल होने वाले तेल में आंवले के चूर्ण या जूस को मिलाकर इस्तेमाल में ला सकते हैं। हालांकि, इसके सेवन से पहले डॉक्टरी सलाह अवश्य लें।

6. समय पूर्व बढ़ती उम्र के प्रभाव को कम करे

आंवला का अर्क एंटी रिंकल और एंटी फोटोएजिंग यानी सूर्य की हानिकारक किरणों से बचाव करके एजिंग से बचा सकता है (10)। साथ ही आंवला तेल बालों के विकास को बढ़ावा देकर टूटते-झड़ते बालों की समस्या को ठीक करके समय से पहले बालों की सफेदी यानी ग्रे हेयर को ठीक कर सकता है (11)। ऐसे में आंवला तेल को बढ़ती उम्र के प्रभाव से बचाव में घरेलू उपचार के तौर पर इस्तेमाल में लाया जा सकता है।

7. जोड़ों के दर्द में लाभकारी

आंवला ऑयल जोड़ों के दर्द में फायदेमंद हो सकता है। एक शोध की मानें, तो आंवला में एंटी इंफ्लामेटरी गुण होता है, जो गठिया की समस्या में होने वाली जोड़ों की सूजन को कम कर सकता है (12)। दरअसल, गठिया इंफ्लामेटरी रोग है, जो इंफ्लामेशन को कम करके गठिया से बचाव कर सकता है (13)। यही नहीं, आंवला में प्रचूर मात्रा में विटामिन सी मौजूद होता है (14)। विटामिन सी हड्डियों के स्वास्थ्य के लिए अच्छा हो सकता है (15)।

8. त्वचा के लिए उपयोगी

त्वचा के लिए भी आंवला तेल का उपयोग में किया जा सकता है। दरअसल, आंवला का अर्क कोलेजन यानी त्वचा में मिलने वाले प्रोटीन को बढ़ावा दे सकता है। यह कोलेजन त्वचा के स्वास्थ्य के लिए जरूरी होता है और त्वचा की लोच बनाए रख सकता है (16)। इस आधार पर यह कहा जा सकता है कि आंवला तेल के फायदे त्वचा के लिए हो सकते हैं।

9. डैंड्रफ हटाने में सहायक

डैंड्रफ की समस्या से राहत पाने के लिए आंवला तेल एक बेहतर विकल्प हो सकता है। वजह यह है कि आंवला के अर्क में एंटीफंगल प्रभाव होता है। इससे डैंड्रफ पैदा करने वाले मालासेजिया फुरफुर फंगस को नष्ट कर सकता है (17)। आंवला के अर्क से ही आंवला तेल बनता है। ऐसे में यह प्रभाव आंवला के तेल में भी हो सकता है, इसलिए यह कहना गलत नहीं होगा कि आंवला का तेल डैंड्रफ से राहत दिला सकता है।

10. बालों को झड़ने से बचाए

आंवला तेल त्वचा के साथ-साथ बालों के लिए भी उपयोगी माना गया है। यही कारण है कि इसे हेयर टॉनिक भी कहा जाता है। बालों से संबंधित एक शोध में जिक्र मिलता है कि आंवला का तेल बालों के विकास को बढ़ावा देता है, जिससे बाल झड़ने की समस्या से निजात मिल सकती है (11)। एक अन्य रिसर्च की मानें, तो एलोपेशीया की समस्या से राहत दिलाने में आंवला लाभकारी हो सकता है (18)। इसमें स्कैल्प के साथ ही शरीर के अन्य हिस्सों के बाल भी झड़ने लगते हैं (19)।

11. पित्त रोग में लाभदायक

पित्त संबंधित समस्या में आंवले का तेल लाभकारी हो सकता है। एक शोध में साफतौर से इस बात का जिक्र मिलता है कि पित्त रोग से जुड़ी कई समस्याओं को दूर करने के लिए आंवला का तेल अच्छा हो सकता है। इसके अलावा, गर्मियों के मौसम से होने वाली शरीर की गर्मी को शांत करने के लिए आंवला तेल को जाना जाता है (11)।

इसके लिए आंवला के चूर्ण या जूस को नारियल के शुद्ध तेल में डालकर पका लें। फिर इससे स्कैल्प की अच्छे से मसाज करें। ऐसा करने से पित्त रोग से काफी हद तक राहत मिलेगी। साथ ही गर्मियों के मौसम में शरीर ठंडा भी रहेगा (11)।
आगे पढ़ें

लेख के अगले भाग में अब हम आंवला तेल के पौष्टिक तत्वों से जुड़ी जानकारी देंगे।

आंवला तेल के पौष्टिक तत्व – Amla Oil Nutritional Value in Hindi

जैसा कि हम लेख में पहले ही बता चुके हैं कि ताजे या सूखे आंवला फल को नारियल के तेल में गर्म करके आंवला तेल को तैयार किया जाता है। ऐसा में माना जा सकता है कि ताजे या सूखे आंवले के पौष्टिक तत्व आंवले के तेल में भी मौजूद हो सकते हैं। हां, आंवला के तेल के निर्माण में नारियल के तेल का इस्तेमाल भी होता, इसलिए नारियल तेल के पोषक तत्वों से मिलकर इसके पोषक तत्व व मात्रा में बदलाव हो सकता है। यहां हम नीचे आंवले के पोषक तत्व बता रहे हैं (14)।

पोषक तत्वमात्रा 
पानी 87.9 ग्राम
ऊर्जा 44 केसीएएल
फैट0.58 ग्राम
कार्बोहाइड्रेट10.2 ग्राम
फाइबर4.3 ग्राम
कैल्शियम25 ग्राम
आयरन0.31 ग्राम
मैग्निशियम10 मिलीग्राम
पोटेशियम198 मिलीग्राम
विटामिन सी 27.7 मिलीग्राम

नीचे स्क्रॉल करें

लेख के अगले भाग में अब हम आंवला तेल का उपयोग कैसे करें, इस बारे में जानेंगे।

आंवला तेल का उपयोग – How to Use Amla Oil in Hindi

नीचे निम्न बिंदुओं के माध्यम से हम आंवला तेल का उपयोग करने की जानकारी दे रहे हैं।

  • त्वचा पर लगाने के लिए दो से तीन बूंद तक आंवला तेल का इस्तेमाल किया जा सकता है।
  • बालों के लिए इसे इस्तेमाल करना हो, तो करीब आधा या एक चम्मच आंवला तेल का इस्तेमाल कर सकते हैं।
  • आंवला तेल में नींबू मिलाकर स्कैल्प की मसाज कर सकते हैं।
  • सूजन से राहत पाने के लिए प्रभावित क्षेत्र पर आंवला का तेल लगा सकते हैं।

नोट – आंवले के तेल के सेवन से जुड़े सटीक वैज्ञानिक शोध का अभाव है, इसलिए सेवन के लिए इसका उपयोग करने से पहले डॉक्टरी परामर्श जरूर लें।

आगे है विधि

आंवला तेल का उपयोग जानने के बाद अब हम आंवले का तेल बनाने की विधि समझाएंगे।

आंवला तेल बनाने की विधि – How to Make Amla Oil in Hindi

वैसे तो बाजार में खाने और लगाने के लिए अलग-अलग तरीके से तैयार किए गए आंवला तेल उपलब्ध हैं, लेकिन इसे घर में भी आसानी से तैयार किया जा सकता है। घर में आंवले का तेल बनाने की विधि कुछ इस प्रकार है।

सामग्री :

  • एक चम्मच आंवला चूर्ण या तीन-चार ताजा आंवला (ग्राइंड किए और बीज निकले हुए)
  • एक कप शुद्ध नारियल तेल

आंवले का तेल बनाने का तरीका:

  • एक पैन में आंवला और नारियल तेल डालकर गैस पर चढ़ा दें।
  • इसे करीब 10 से 15 मिनट तक पकाएं।
  • जब तेल में बुलबुले उठने लगें, तो गैस को बंद कर दें।
  • जब पैन में रखा तेल ठंडा हो जाए, तो इसे छानकर किसी बोतल में भरकर रख लें।
  • इस प्रकार आंवले का तेल घर में बनाया जा सकता है।

आगे पढ़ें लेख

आंवले का तेल कैसे बनाएं जानने के बाद अब आंवला तेल को सुरक्षित रखने के तरीके के बारे समझिए।

आंवला तेल को लंबे समय तक सुरक्षित कैसे रखें – How to Store Amla Oil in Hindi

आंवला तेल को लंबे समय तक सुरक्षित रखने के लिए निम्न तरीकों को अपनाया जा सकता है।

  • आंवला तेल को किसी कांच या प्लास्टिक की एयर टाइट बोतल में भरकर रख सकते हैं।
  • ध्यान रहे कि इसे घर की किसी ठंडी या फिर ऐसी जगह पर रखें जहां अंधेरा हो।
  • आंवला तेल का इस्तेमाल करते समय ज्‍यादा देर तक शीशी को खोल कर रखने या फिर शीशी के अंदर उंगलियां लगाने से भी वह
  • खराब हो सकता है। ऐसे में किसी बाउल में निकालकर तेल का उपयोग करें।

नीचे स्क्रॉल करें

तैयार आमला तेल कहां से खरीदा जा सकता है, लेख के अगले भाग में हम इस बारे में जानेंगे।

आंवला तेल कहां से खरीदें?

बालों और त्वचा पर लगाने के उद्देश्य से अगर कोई आंवला तेल लेना चाहता है, तो वह इसे किसी भी ग्रोसरी स्टोर से ले सकते हैं। वहीं, अगर इसे खाने के लिए इस्तेमाल में लाना है, तो बेहतर होगा कि इसे किसी आयुर्वेदिक मेडिकल स्टोर से ही खरीदा जाए, जिसे खाने के साथ-साथ त्वचा और बालों पर लगाने के लिए भी इस्तेमाल में लाया जा सकता है।

पढ़ते रहें लेख

लेख के अगले भाग में अब हम आमला तेल के नुकसान बताएंगे।

आंवला तेल के नुकसान – Side Effects of Amla Oil in Hindi

आंवले के तेल के नुकसान से जुड़े सटीक वैज्ञानिक शोध का अभाव है। वहीं, जानकारों के मुताबिक कुछ स्थितियों में इसके दुष्प्रभाव देखने को मिल सकते हैं, जो कुछ इस प्रकार हैं।

  • आमला तेल का निर्माण कैरियर ऑयल जैसे :-नारियल तेल के साथ किया जाता है। ऐसे में कम गुणवत्ता वाले कैरियर ऑयल के कारण कुछ लोगों को त्वचा संबंधित सूजन या जलन की शिकायत हो सकती है।
  • अगर किसी को आंवले से एलर्जी है, तो वो आंवले के तेल का उपयोग न करें। इससे एलर्जी हो सकती है।
  • मिलावटी आंवला तेल का सेवन करने से पेट संबंधी समस्या हो सकती है।
  • आंवला चूर्ण में ब्लड शुगर को कम करने का प्रभाव पाया जाता है (20)। चूंकि आंवला के तेल में आंवला चूर्ण का इस्तेमाल किया जाता है, इसलिए डायबिटीज की दवा लेने वालों को इसे नहीं लेना चाहिए।

अब आंवला तेल के फायदे और नुकसान को लेकर शायद ही कोई संशय रह गया होगा। अगर कोई लेख में बताई गई समस्याओं में से किसी एक से भी जूझ रहा है, तो आंवला तेल को इस्तेमाल में ला सकता है। जरूरत है तो इसकी मात्रा और उपयोग के तरीके को ध्यान में रखने की, ताकि कोई संभावित आंवला तेल के नुकसान न हों। यहां आंवले का तेल बनाने की विधि भी बताई गई है, ताकि इसे घर में ही आसानी से बनाया जा सके।

अक्सर पूछे जाने वाले सवाल

बालों के विकास पर आंवला तेल का प्रभाव कब तक दिखेगा?

लेख में आपको बताया जा चुका है कि यह एक बेहतरीन हेयर टॉनिक है, जो बालों के विकास को बढ़ावा दे सकता है (1)। मगर, इसका असर कितने दिनों में दिखेगा, इस बात का कोई स्पष्ट प्रमाण उपलब्ध नहीं है। प्रत्येक व्यक्ति के बालों की स्थिति अलग-अलग होती है, इसलिए यह असर दिखाने में कुछ हफ्तों से महीनों तक का समय ले सकता है।

क्या आंवला तेल सफेद बालों को फिर से ठीक कर सकता है?

हां, आंवला तेल समय पूर्व बालों में आने वाली सफेदी की समस्या से राहत दिलाने में मदद कर सकता है (11)।

क्या आंवला तेल बालों में अवशोषित हो जाता है?

आंवला तेल बालों में नहीं, बल्कि स्कैल्प में अवशोषित होता है और फिर बालों के विकास को बढ़ावा देने का कार्य करता है।

क्या आंवला तेल बालों को सीधा करने का काम करता है?

नहीं, आंवला बालों को पार्लर में जैसे बाल सीधे किए जाते हैं, वैसे नहीं कर सकता है। हां, आंवला तेल बालों को सुलझाने और मजबूत करने में सहायक माना जाता है (21)।

क्या आंवला तेल मेलेनिन को बढ़ा सकता है?

हां, आंवला तेल मेलेनिन को बढ़ा सकता है। इसी वजह से आंवला को असमय सफेद होते बालों के लिए अच्छा माना गया है (11)। गौर हो कि मेलेनिन एक प्राकृतिक तत्व है, जो बालों के प्राकृतिक रंग को बनाए रखने में मदद करता है (22)।

कौन-सा आंवला तेल बालों के लिए सबसे अच्छा है?

पूरी तरह से प्योर आंवला तेल ही बालों के लिए सबसे अच्छा होता है। अगर तेल में किसी तरह के केमिकल होंगे और आंवला की मात्रा ‘ना’ के बराबर होगी, तो ऐसे आंवला तेल से किसी प्रकार का फायदा नहीं मिल सकता है।

नारियल तेल या आंवला तेल दोनों में से कौन बेहतर है?

आमतौर नारियल तेल सभी को सूट करता है, जबकि आंवला तेल को बालों के लिए एक टॉनिक माना जाता है। वहीं, घरेलू तौर पर आंवला तेल बनाने के लिए आंवला और नारियल तेल का उपयोग किया जाता है। ऐसे में आंवला और नारियल तेल को मिलाकर ही अधिकतर उपयोग में लाया जाता है। इसी वजह से दोनों ही तेल को अपनी-अपनी खूबियों की वजह से अच्छा कहा जा सकता है।

आमला तेल क्या है और आमला तेल के फायदे क्या होते हैं?

आंवला तेल को ही आमला तेल भी कहा जाता है। आमला तेल के फायदे भी वही होते हैं, जो आंवला तेल से होते हैं।

क्या आमला तेल का सेवन किया जा सकता है?

नहीं, बाजार में मौजूद आमला तेल का सेवन नहीं कर सकते हैं। कुछ आयुर्वेदिक डॉक्टर बताते हैं कि घर में तैयार किए आंवला तेल की कुछ बूंदों का सेवन जरूरत पड़ने पर चिकित्सक की सलाह और निगरानी पर कर सकते हैं।

संदर्भ (Sources) :

Articles on StyleCraze are backed by verified information from peer-reviewed and academic research papers, reputed organizations, research institutions, and medical associations to ensure accuracy and relevance. Read our editorial policy to learn more.

  1. Recent Trends in Potential Traditional Indian Herbs Emblica officinalis and Its Medicinal Importance
    https://www.phytojournal.com/vol1Issue1/Issue_may_2012/2.pdf
  2. Anti-Inflammatory Effect of Emblica officinalis in Rodent Models of Acute and Chronic Inflammation: Involvement of Possible Mechanisms
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC4158298/
  3. Amla (Emblica officinalis Gaertn.) extract inhibits lipopolysaccharide-induced procoagulant and pro-inflammatory factors in cultured vascular endothelial cells
    https://pubmed.ncbi.nlm.nih.gov/23742702/
  4. Supplementation of Emblica officinalis (Amla) extract reduces oxidative stress in uremic patients
    https://pubmed.ncbi.nlm.nih.gov/19222108/
  5. The Role of Food Antioxidants Benefits of Functional Foods and Influence of Feeding Habits on the Health of the Older Person: An Overview
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC5745491/
  6. Supplementation of a Standardized Extract from Phyllanthus emblica Improves Cardiovascular Risk Factors and Platelet Aggregation in Overweight/Class-1 Obese Adults
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC4390209/
  7. Protective effects of Ethanolic Extract of Emblica officinalis (amla) on Cardiovascular Pathophysiology of Rats Fed with High Fat Diet
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC5713720/
  8. Effect of Aqueous Extract of Embelica officinalis on Selenite Induced Cataract in Rats
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC3862062/
  9. Immunomodulatory role of Emblica officinalis in arsenic induced oxidative damage and apoptosis in thymocytes of mice
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC3733846/
  10. Effects of amla extract and collagen peptide on UVB-induced photoaging in hairless mice
    https://www.sciencedirect.com/science/article/pii/S1756464612001843
  11. Current Trends in the Research of Emblica officinalis (Amla): A Pharmacological Perspective
    https://globalresearchonline.net/journalcontents/v24-2/25.pdf
  12. Indian Gooseberry (Amla) Natural Purgative
    https://www.academia.edu/33153682/Indian_Gooseberry_Amla_Natural_Purgative
  13. Anti-Inflammatory Effect of Emblica officinalis in Rodent Models of Acute and Chronic Inflammation: Involvement of Possible Mechanisms
    https://www.hindawi.com/journals/iji/2014/178408/
  14. Gooseberries raw
    https://fdc.nal.usda.gov/fdc-app.html#/food-details/173030/nutrients
  15. Vitamin C
    https://medlineplus.gov/ency/article/002404.htm
  16. Amla (Emblica officinalis Gaertn.) extract promotes procollagen production and inhibits matrix metalloproteinase-1 in human skin fibroblasts
    https://pubmed.ncbi.nlm.nih.gov/18588964/
  17. Antifungal activity of plant extracts against dandruff causingorganism Malassezia furfur
    https://www.academia.edu/30934964/Antifungal_activity_of_plant_extracts_against_dandruff_causing_organism_Malassezia_furfur
  18. THE WONDER OF HERBS TO TREAT-ALOPECIA
    https://www.researchgate.net/publication/308780570_THE_WONDER_OF_HERBS_TO_TREAT-ALOPECIA
  19. Alopecia
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/books/NBK538178/
  20. Effect of Amla fruit (Emblica officinalis Gaertn.) on blood glucose and lipid profile of normal subjects and type 2 diabetic patients
    https://pubmed.ncbi.nlm.nih.gov/21495900/
  21. World Journal of Pharmaceutical Sciences
    https://www.wjpsonline.org/admin/uploads/tAax0z.pdf
  22. Premature Graying of Hair: Review with Updates
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC6290285/
Was this article helpful?
The following two tabs change content below.

ताज़े आलेख