सामग्री और उपयोग

अनार के बीज के तेल के फायदे और नुकसान – Pomegranate Seed Oil Benefits and Side Effects in Hindi

by
अनार के बीज के तेल के फायदे और नुकसान – Pomegranate Seed Oil Benefits and Side Effects in Hindi Hyderabd040-395603080 December 24, 2019

अनार की गिनती चुनिंदा स्वादिष्ट और गुणकारी फलों में की जाती है। इसका सेवन ज्यादातर इसके दानों को सीधे खाकर या जूस के रूप में किया जाता है। इसे खाने के कई स्वास्थ्य लाभ हैं, लेकिन इसके बीज भी गुणों के मामले में कम नहीं हैं। माना जाता है कि अनार के बीज का तेल कई शारीरिक परेशानियों पर प्रभावी असर दिखा सकता है। स्टाइलक्रेज के इस लेख में जानिए अनार के बीज के तेल के फायदे और साथ ही जानिए कि अनार के बीज के तेल का उपयोग किस प्रकार किया जा सकता है। अनार के बीज का तेल आपको स्वस्थ रखने के साथ-साथ कुछ बीमारियों से उबरने में मदद भी कर सकता है, लेकिन इसे किसी बीमारी का इलाज नहीं माना जा सकता।

चलिए, अब अनार के बीज के तेल के फायदे के बारे में जानते हैं।

अनार के बीज के तेल के फायदे – Benefits of Pomegranate Seed Oil in Hindi

अनार के बीज के तेल का इस्तेमाल कई तरह के शारीरिक लाभ पहुंचाने का काम कर सकता है। जो इस प्रकार से हो सकते हैं।

1. प्रतिरक्षा प्रणाली के लिए

अनार के बीज से बने तेल का उपयोग करने से शरीर की प्रतिरक्षा प्रणाली को मजबूत किया जा सकता है। दरअसल, एक वैज्ञानिक शोध में पाया गया है कि अनार के तेल में प्यूनिक एसिड पाया जाता है, जो इम्यून सिस्टम को बेहतर करने में मदद कर सकता है (1) (2)।

2. कोलेस्ट्रोल

अनार के बीज का तेल कोलेस्ट्रोल को नियंत्रित करने का काम कर सकता है। दरअसल, अनार के बीज का तेल फाइटोकेमिकल्स से समृद्ध होता है। इसके सप्लीमेंट बढ़ते कोलेस्ट्रोल, खासकर एलडीएल (खराब कोलेस्ट्रोल) को बाधित कर कोलेस्ट्रोल को नियंत्रित करने का काम कर सकते हैं (3)।

3. हृदय स्वास्थ्य के लिए

अनार के बीज के तेल का लाभ हृदय को स्वस्थ रखने में भी देखा जा सकता है। दरअसल, अनार के बीज के तेल का सेवन हृदय संबंधी रोगों से बचाव का काम कर सकता है। इस लाभ के पीछे इसमें मौजूद पॉलीअनसैचुरेटेड फैटी एसिड को जिम्मेदार माना जा सकता है। फिलहाल, इस संबंध में अभी और शोध की आवश्यकता है (3)।

4. वजन घटाने के लिए

अगर कोई बढ़ते वजन को लेकर परेशान है, तो अनार के बीज का तेल वजन को कम करने में मददगार साबित हो सकता है। दरअसल, अनार के बीज से निकले तेल में शरीर के फैट को कम करने (Body Fat Reducing) और लिपिड मेटाबॉलिज्म को सामान्य (Lipid Metabolism-Normalizing) करने जैसे गुण पाए जाते हैं, जो मोटापे की समस्या को कुछ हद तक कम कर सकते हैं (4)।

5. रक्तचाप कम करने के लिए

रक्तचाप के बढ़ने से कई शारीरिक समस्याओं का जन्म हो सकता है। बढ़ते रक्तचाप को नियंत्रित करने के लिए अनार के बीज के तेल का उपयोग किया जा सकता है। एनसीबीआई की वेबसाइट पर प्रकाशित शोध के अनुसार, अनार के बीज के तेल में एंटी हाइपरटेंसिव प्रभाव (Antihypertensive Effects) पाए जाते हैं, जो उच्च रक्तचाप को कम करने में अहम भूमिका निभा सकते हैं (5)। यहां हम स्पष्ट कर दें कि अनार के बीज का तेल रक्तचाप को कुछ हद तक कम जरूर कर सकता है, लेकिन इसे पूरी तरह से ठीक नहीं कर सकता है। इसलिए, गंभीर अवस्था में डॉक्टरी इलाज जरूरी है।

6. बैक्टीरियल इन्फेक्शन के लिए

अनार के उत्पाद एंटीबैक्टीरियल और एंटी फंगल गुणों से समृद्ध होते हैं, जिसमें अनार के बीज का तेल भी शामिल है। इसलिए, ऐसा कहा जा सकता है कि अनार के बीज का तेल बैक्टीरियल संक्रमण पर प्रभावी असर दिखा सकता है (6)।

7. कैंसर के लिए

कैंसर जैसी जानलेवा बीमारी से बचाव में अनार के बीज का तेल सहायक भूमिका निभा सकता है। यहां भी इस तेल में मौजूद प्यूनिक एसिड अपना असर दिखा सकता है। इसी प्यूनिक एसिड में एंटीइंफ्लेमेटरी व एंटी कैंसर गुण पाए जाते हैं, जो कैंसर से बचाव में मदद कर सकते हैं (7)। वहीं, अगर किसी को कैंसर जैसी घातक बीमारी है, तो उसे बिना देरी किए डॉक्टर से इलाज जरूर करवाना चाहिए। साथ ही डॉक्टर की सलाह पर इस घरेलू नुस्खे को भी इस्तेमाल किया जा सकता है।

8. मुंहासे कम करने के लिए

अनार के बीज के तेल का उपयोग मुंहासों की समस्या को दूर करने में किया जा सकता है। दरअसल, मुंहासे होने की एक वजह बैक्टीरिया भी होता है (8)। जैसा कि हमने आपको ऊपर बताया कि अनार के बीज के तेल में एंटी बैक्टीरियल गुण पाए जाते हैं (6)। इसलिए, ऐसा कहा जा सकता है कि बैक्टीरिया के कारण पनपने वाले मुंहासों को ठीक करने में यह खास तेल अहम भूमिका निभा सकता है।

9. त्वचा को मॉइस्चराइज करने के लिए

त्वचा को मॉइस्चराइज और टाइट करने में अनार के बीज का तेल कुछ हद तक असर दिखा सकता है। दरअसल, उम्र बढ़ने के साथ-साथ त्वचा अपनी नमी और लोच (Elasticity) खोने लगती है, परिणामस्वरूप, त्वचा रूखी और ढीली होने लगती है (9)। ऐसे में इस तेल की अहम भूमिका देखी जा सकती है, क्योंकि यह एंटी-एजिंग के रूप में काम कर सकता है (10)। हालांकि, यह दोनों स्थितियों में कितना कारगर होगा, इस पर सटीक वैज्ञानिक प्रमाण उपलब्ध नहीं है।

10. स्किन पिगमेंटेशन और फोटोएजिंग

सूरज की हानिकारक पराबैंगनी किरणों के कारण त्वचा प्रभावित हो सकती है। इससे फोटोएंजिग और हाइपरपिगमेंटेशन जैसी समस्या हो सकती है। ऐसे में अनार के बीज से निकले तेल के कुछ फायदे देखे जा सकते हैं, क्योंकि यह त्वचा की मरम्मत कर यूवी किरणों के प्रभाव को कम कर सकता है (11)। इसलिए, कहा जा सकता है कि अनार के फायदे स्किन पिगमेंटशन को बनाए रखने के साथ-साथ फोटोएजिंग के असर को कम कर सकता है।

चलिए, अब जानते हैं कि अनार के तेल को किस तरह उपयोग किया जा सकता है।

अनार के बीज के तेल का उपयोग – How to Use Pomegranate Seed Oil in Hindi

अनार के बीज के तेल को निम्नलिखित रूप से इस्तेमाल किया जा सकता है –

  • अनार के बीज से निकले तेल को भोजन तैयार करने के लिए इस्तेमाल किया जा सकता है।
  • मुंहासों जैसी समस्या के लिए अनार के बीज के तेल को त्वचा पर लगाया जा सकता है।
  • अनार के तेल को बालों में भी लगाया जा सकता है।

आगे अनार के बीज के तेल से होने वाले नुकसान के बारे में पढ़ेंगे।

अनार के बीज के तेल के नुकसान – Side Effects of Pomegranate Seed Oil in Hindi

अनार के बीज का तेल जिस तरह आपके लिए फायदेमंद हो सकता है, वैसे ही इससे कुछ नुकसान भी हो सकते हैं, जैसे –

  • जैसा कि हमने बताया इसमें एंटी हाइपरटेंसिव गुण पाया जाता है, जो उच्च रक्तचाप को कम करने का काम करता है (5)। ऐसे में जिन लोगों को निम्न रक्तचाप की समस्या है, उन्हें इसके सेवन से बचना चाहिए।
  • कुछ लोगों की त्वचा संवेदनशील होती है। ऐसे लोगोंं को अनार के बीज के तेल से एलर्जी हो सकती है।
  • इस तेल का अधिक मात्रा में सेवन करने से पेट संबंधी समस्या उत्पन्न हो सकती है, जिसमें उलटी, दस्त और पचान तंत्र की समस्या शामिल है। फिलहाल, इस तथ्य की पुष्टि के लिए सटीक वैज्ञानिक प्रमाण उपलब्ध नहीं हैं।

अनार के बीज के तेल से इतने फायदे जानकर आप जरूर हैरान हो गए होंगे, लेकिन यह तेल वास्तव में कारगर है। फिर भी इस तेल को इस्तेमाल में लाने से पहले इस लेख को अच्छे से पढ़ लें और साथ ही इसके इस्तेमाल संबंधी जानकारी के लिए डॉक्टर से भी सलाह लें। इसके अलावा, बाजार से अनार के बीज का तेल लेते समय सावधानी बरतें, क्योंकि यह नकली भी हो सकता है। उम्मीद करते हैं कि यह लेख आपके लिए उपयोगी सिद्ध होगा। इस तेल से संबंधित कोई सवाल या सुझाव हो, तो आप कमेंट बॉक्स के माध्यम से हमसे पूछ सकते हैं।

और पढ़े:

The following two tabs change content below.

Bhupendra Verma

भूपेंद्र वर्मा ने सेंट थॉमस कॉलेज से बीजेएमसी और एमआईटी एडीटी यूनिवर्सिटी से एमजेएमसी किया है। भूपेंद्र को लेखक के तौर पर फ्रीलांसिंग में काम करते 2 साल हो गए हैं। इनकी लिखी हुई कविताएं, गाने और रैप हर किसी को पसंद आते हैं। यह अपने लेखन और रैप करने के अनोखे स्टाइल की वजह से जाने जाते हैं। इन्होंने कुछ डॉक्यूमेंट्री फिल्म की स्टोरी और डायलॉग्स भी लिखे हैं। इन्हें संगीत सुनना, फिल्में देखना और घूमना पसंद है।

संबंधित आलेख