सामग्री और उपयोग

अंगूर के बीज के तेल के फायदे और नुकसान – Grape Seed Oil Benefits and Side Effects in Hindi

by
अंगूर के बीज के तेल के फायदे और नुकसान – Grape Seed Oil Benefits and Side Effects in Hindi Hyderabd040-395603080 October 16, 2019

अंगूर का सेवन तो आपने खूब किया होगा। साथ ही कई बार इन्हें खाते हुए आपके मुंह में इसके बीज भी आए होंगे। क्या आपने कभी सोचा है कि अंगूर के बीज के तेल का उपयोग भी किया जा सकता है। अंगूर के बीज के तेल को विभिन्न प्रक्रिया के तहत तैयार किया जाता है। अंगूर के बीज से निकले तेल का प्रयोग पिछले कुछ वर्षों में तेजी से बढ़ा है। इसे देखते हुए स्टाइलक्रेज के इस लेख में आपको अंगूर के बीज के तेल के फायदे और अंगूर के बीज के तेल के नुकसान के बारे में जानकारी दी जाएगी। इससे भविष्य में आप इसका प्रयोग स्वास्थ्य समस्याओं से बचने के लिए भी कर सकेंगे। इसलिए, लेख में बताई जा रही जानकारियों को अंत तक ध्यान से पढ़िए।

चलिए, अब सीधे आपको अंगूर के बीज के तेल से होने वाले फायदों के बारे में बताते हैं।

अंगूर के बीज के तेल के फायदे – Benefits of Grape Seed Oil in Hindi

नीचे आपको अंगूर के तेल के फायदे के बारे में विस्तार से बताया जा रहा है।

1. एंटी-इन्फ्लेमेटरी

अंगूर के तेल का उपयोग शरीर में आई सूजन व अन्य शारीरिक समस्याओं को दूर करने के लिए किया जा सकता है। दरअसल, अंगूर के बीज से बने तेल में एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण पाए जाते हैं। एक वैज्ञानिक अध्ययन में देखा गया है कि मोटापे की समस्या से जूझ रही महिलाओं में इसका सेवन करने से इंसुलिन स्तर और सूजन की विभिन्न स्थितियों को ठीक करने में मदद मिल सकती है (1)।

2. हृदय स्वास्थ्य

cardiovascular health Pinit

Shutterstock

अगर आप भी अपने हृदय को स्वस्थ रखना चाहते हैं, तो अंगूर के तेल का सेवन आपके लिए लाभदायक हो सकता है। हाल ही में जारी की गई एक वैज्ञानिक रिपोर्ट के अनुसार, अंगूर के बीज के तेल में ओमेगा-6 पॉलीअनसैचुरेटेड फैटी एसिड पाया जाता है। ओमेगा-6 पॉलीअनसैचुरेटेड फैटी एसिड का पर्याप्त सेवन करने पर हृदय रोग के साथ-साथ स्ट्रोक के खतरे को भी कम किया जा सकता है (2)।

3. कैंसर

कैंसर के जोखिम से बचे रहने के लिए आप अपने आहार में अंगूर के तेल का उपयोग कर सकते हैं। इसका कारण यह है कि अंगूर के बीज के तेल में पाए जाने वाले एक विशेष प्रकार के फैनोलिक यौगिकों में एंटी-कैंसर गतिविधियां होती हैं। इस गुण के कारण यह तेल स्वस्थ कोशिकाओं को नुकसान पहुंचाए बिना ट्यूमर कोशिकाओं को खत्म करने का काम करता है। इससे कैंसर जैसी खतरनाक बीमारी से बचा जा सकता है (3)।

4. मस्तिष्क स्वास्थ्य

बेहतर मस्तिष्क स्वास्थ्य के लिए अगर आप अंगूर के बीज के तेल का सेवन कर सकते हैं। दरअसल, अंगूर के बीज के तेल को ओमेगा-3 फैटी एसिड के उच्च स्रोतों में गिना जाता है। विशेषज्ञों के द्वारा किए गए वैज्ञानिक शोध में पुष्टि की गई है कि अंगूर के बीज में पाए जाने वाले ओमेगा-3 फैटी एसिड का सेवन करने से आपके मस्तिष्क की कार्यक्षमता बढ़ सकती है (4)।

5. गठिया के लिए

For arthritis Pinit

Shutterstock

गठिया यानी जोड़ों में होने वाले दर्द के लिए भी अंगूर के बीज से निकले तेल के फायदे देखे जा सकते हैं। अंगूर के बीज के तेल में ओमेगा-3 फैटी एसिड पाया जाता है। अंगूर के बीज के तेल में पाए जाने वाले ओमेगा-3 के सेवन से गठिया की समस्या में लाभदायक परिणाम देखने को मिल सकते हैं (4)।

6. डायबिटीज की समस्या में

डायबिटीज की समस्या से बचने के लिए भी आप अंगूर के बीज के तेल का इस्तेमाल कर सकते हैं। अंगूर के बीज के तेल को लिपिड से भरपूर आहार का स्रोत माना जाता है। अगर लिपिड से भरपूर तेल को भोजन में शामिल किया जाए, तो यह डायबिटीज के खतरे को कम कर सकता है। साथ ही यह हृदय रोगों के खतरे को भी कम कर देता है (5)।

7. त्वचा के लिए

अंगूर के बीज के तेल का उपयोग त्वचा के लिए भी किया जा सकता है। इसका कारण यह है कि अंगूर के बीज के तेल में एंटी-ऑक्सीडेंट गुण पाया जाता है। शोध के आधार पर वैज्ञानिकों का भी मानना है कि त्वचा के लिए एंटी-ऑक्सीडेंट जरूरी है। यह फाइन लाइन्स (चेहरे पर रेखाओं के निशान) और त्वचा पर मौजूद झुर्रियों जैसी स्किन एजिंग की समस्या में सुधार कर सकता है। यह न केवल इन समस्याओं को ठीक कर सकता है, बल्कि त्वचा को पर्याप्त मॉइस्चर प्रदान कर फ्री रेडिकल्स के हमले से भी बचाता है (6)।

8. बालों के लिए

For hair Pinit

Shutterstock

अंगूर के बीज के तेल के फायदे आपके बालों के लिए भी लाभदायक साबित हो सकते हैं। दरअसल, अंगूर के बीज के तेल में विटामिन-ई पाया जाता है (7)। विटामिन-ई बालों के विकास को बढ़ावा दे सकता है। इसके अलावा, यह स्कैल्प की त्वचा सुरक्षा के लिए भी सक्रिय माना जाता है (8)।

9. भोजन बनाने के लिए

अगर आप खाना पकाने में किसी अच्छी तेल का प्रयोग करना चाहते हैं, तो अंगूल के बीज से निकले तेल पर भरोसा कर सकते हैं। यह तेल न सिर्फ पोषक तत्वों से भरपूर होता है, बल्कि इसमें हाई स्मोक पॉइंट होता है। हाई स्मोक पॉइंट से मतलब यह है कि उच्च तापमान पर भी इस तेल से धुआं नहीं निकलता है। वहीं, इस तेल में पॉलीअनसैचुरेटेड फैट की मात्रा भी पाई जाती है (9)। पॉलीअनसैचुरेटेड फैट के सेवन से हृदय रोगों का जोखिम भी कम हो सकता है (10) ।

आइए, अब लेख के अगले भाग में अंगूर के बीज से निकलने वाले तेल में मौजूद पौष्टिक तत्वों के बारे में जान लेते हैं।

अंगूर के बीज के तेल के पौष्टिक तत्व – Grape Seed Oil Nutritional Value in Hindi

अंगूर के बीज के तेल में खास प्रकार के पौष्टिक तत्व पाए जाते हैं, जो इस प्रकार हैं (11) :

पोषक तत्वमात्रा प्रति 100 मिली लीटर
एनर्जी867kcal
प्रोटीन0.00g
कुल लिपिड (वसा)93.33g
कार्बोहाइड्रेट0.00g
लिपिड
फैटी एसिड, टोटल सैचुरेटेड10.000g
फैटी एसिड, टोटल मोनो अनसैचुरेटेड16.670 mg
फैटी एसिड, टोटल पॉलीअनसैचुरेटेड66.670g
कोलेस्ट्रोल0

अंगूर के बीज के पौष्टिक तत्वों के बाद अब हम इसके उपयोग के बारे में जानकारी दे रहे हैं।

अंगूर के बीज के तेल का उपयोग – How to Use Grape Seed Oil in Hindi

How to Use Grape Seed Oil in Hindi Pinit

Shutterstock

अंगूर के बीज के तेल का उपयोग निम्न प्रकार से किया जा सकता है।

  • अंगूर के बीज के तेल को आप बालों में लगा सकते हैं।
  • आप इस तेल को त्वचा पर लगाने के लिए इस्तेमाल कर सकते हैं।
  • खाना बनाने के लिए भी अंगूर के बीज के तेल को इस्तेमाल कर सकते हैं।
  • शरीर की मालिश के लिए भी अंगूर के बीज के तेल का इस्तेमाल किया जा सकता है।

कब करें इस्तेमाल : अंगूर के बीज के तेल को आप अपनी आवश्यकता के अनुसार से दिन में किसी भी समय उपयोग कर सकते हैं।

कितना करें इस्तेमाल: एक दिन में अंगूर के बीज के तेल की लगभग 30 मिली लीटर मात्रा का उपयोग किया जा सकता है।

आइए, अब लेख इस भाग में जानते हैं कि अंगूर के बीज के तेल से क्या नुकसान हो सकते हैं।

अंगूर के बीज के तेल के नुकसान – Side Effects of Grape Seed Oil in Hindi

  • अंगूर के बीज के तेल का अधिक उपयोग स्पर्म की गुणवत्ता पर प्रतिकूल प्रभाव डाल सकता है (11)।
  • अंगूर के बीज के तेल में पॉलीअनसैचुरेटेड फैटी एसिड अधिक मात्रा में पाया जाता है। इसका अधिक सेवन करने से वजन बढ़ सकता है (9), (12)।
  • अंगूर के बीज के तेल में कुछ मात्रा सैचुरेटेड फैट की भी पाई जाती है (3)। इसका अधिक सेवन करने से हृदय रोगों का खतरा बढ़ सकता है (13)।

आपने इस लेख में पढ़ा कि अंगूर के बीज से तैयार किए गए तेल को दिनचर्या में शामिल करने से कई प्रकार के लाभ हो सकते हैं। साथ ही इसे प्रयोग करते समय कुछ सावधानियों पर गौर करना भी जरूरी है। इसलिए, अगर आप इस तेल को इस्तेमाल करने का मन बना चुके हैं, तो पहले कम मात्रा में प्रयोग करें। अगर आपको इससे फायदा हो, तभी इसे पूरी तरह से अपनी डाइट में शामिल करें। साथ ही हमें जरूर बताएं कि आपको इस तेल से किस प्रकार फायदा हुआ। आप अपनी प्रतिक्रिया नीचे दिए गए कॉमेंट बॉक्स के जरिए हम तक भेज सकते हैं।

स्टाइलक्रेज पढ़ते रहें, स्वस्थ रहें।

और पढ़े:

The following two tabs change content below.

Somendra Singh

सोमेंद्र ने इलाहाबाद विश्वविद्यालय से 2019 में बी.वोक इन मीडिया स्टडीज की है। पढ़ाई के दौरान ही इन्होंने पढ़ाई से अतिरिक्त समय बचाकर काम करना शुरू कर दिया था। इस दौरान सोमेंद्र ने 5 वेबसाइट पर समाचार लेखन से लेकर इन्हें पब्लिश करने का काम भी किया। यह मुख्य रूप से राजनीति, मनोरंजन और लाइफस्टइल पर लिखना पसंद करते हैं। सोमेंद्र को फोटोग्राफी का भी शौक है और इन्होंने इस क्षेत्र में कई पुरस्कार भी जीते हैं। सोमेंद्र को वीडियो एडिटिंग की भी अच्छी जानकारी है। इन्हें एक्शन और डिटेक्टिव टाइप की फिल्में देखना और घूमना पसंद है।

संबंधित आलेख