घरेलू उपचार

अनिद्रा के कारण, लक्षण और घरेलू उपाय – Insomnia Symptoms and Home Remedies in Hindi

अनिद्रा के कारण, लक्षण और घरेलू उपाय – Insomnia Symptoms and Home Remedies in Hindi Hyderabd040-395603080 June 21, 2019

शरीर को आराम देने के लिए नींद कितनी जरूरी है, इस तथ्य से तो आप जरूर वाकिफ होंगे। साथ ही आप यह जानकर भी हैरान होंगे कि नींद न आने की समस्या मौत का कारण भी बन सकती है (1)। जी हां, मानसिक दवाब या किसी अन्य कारण की वजह से अगर आपको लगातार सोने में दिक्कत हो रही है, तो ये लक्षण अनिद्रा के हो सकते हैं।

आइए, इस लेख के माध्यम से जानते हैं कि अनिद्रा के लक्षण, इसके कारण और इससे निजात पाने के सबसे सरल घरेलू उपाय क्या हैं। उससे पहले यह जान लेते हैं कि आखिर अनिद्रा क्या है?

अनिद्रा क्या है – What is Insomnia in Hindi 

अनिद्रा जिसे अंग्रेजी में इंसोमनिया कहते हैं, नींद से जुड़ा एक प्रकार का विकार है। इससे ग्रसित इंसान को सोने में दिक्कत आती है या वो पूरी तरह से सो नहीं पाता। नतीजतन, उसे पर्याप्त नींद नहीं मिल पाती है और वो थका-थका महसूस करता है। अगर अनिद्रा ज्यादा दिनों तक हावी रह जाए, तो पीड़ित कई तरह की शारीरिक समस्याओं की चपेट में आ सकता है (2)।

अनिद्रा के प्रकार – Types Insomnia in Hindi

अनिद्रा आपको दो प्रकारों से प्रभावित कर सकती है, एक एक्यूट इंसोमनिया और दूसरा क्रॉनिक इंसोमनिया (2)।

एक्यूट इंसोमनिया – अनिद्रा की यह स्थिति कुछ दिनों या कुछ हफ्तों तक आपको परेशान कर सकती है। यह अनिद्रा का आम प्रकार है, जो काम या पारिवारिक दवाब के कारण हो सकता है।

क्रॉनिक इंसोमनिया – यह अनिद्रा की गंभीर अवस्था है, जो महीने भर से ज्यादा आपको परेशान कर सकती है। कई मामलों में अनिद्रा का यह प्रकार किसी अन्य शारीरिक बीमारी के दुष्प्रभाव के रूप में आ सकता है।

अनिद्रा क्या है और इसके प्रकार जानने के बाद आगे जानते हैं अनिद्रा के कारण।

अनिद्रा के कारण – Causes of Insomnia Hindi 

नींद न आने के पीछे कई कारण हो सकते हैं। इनमें से प्रमुख कारणों के बारे में हम यहां बता रहे हैं (2) :

  • अवसाद ( Depression)
  • चिंता
  • तनाव
  • अल्जाइमर और पार्किंसंस जैसे न्यूरोलॉजिकल रोग
  • गठिया और सिरदर्द
  • अस्थमा और ह्रदयाघात
  • सीने में जलन
  • स्ट्रोक
  • नींद से जुड़े विकार
  • रजोनिवृत्ति
  • किसी दवाई का दुष्प्रभाव

अनिद्रा के कारण के बाद चलिए अब जान लेते हैं अनिद्रा की पहचान कैसे करें।

अनिद्रा के लक्षण – Symptoms of Insomnia in Hindi 

आपको नींद से जुड़ी समस्या है या नहीं इसकी पहचान करना बहुत ही जरूरी है। नीचे जानिए अनिद्रा के लक्षण (3)।

  • सोने से पहले देर तक जागना
  • कुछ देर ही नींद आना
  • रात में देर तक जागना
  • महसूस होना कि आप बिल्कुल नहीं सोए
  • बहुत जल्दी जागना

अनिद्रा के कारण और लक्षण के बाद नीचे जानिए अनिद्रा रोग का उपचार कैसे करें।

अनिद्रा के घरेलू उपचार – Home Remedies for Insomnia in Hindi

1. केला

1. केला Pinit

Shutterstock

सामग्री :
  • दो-तीन केले
कैसे करें इस्तेमाल :
  • अनिद्रा से निजात पाने के लिए आप रोजाना सोने से ठीक डेढ़ घंटे पहले दो से तीन केलों का सेवन कर सकते हैं।
कैसे है लाभदायक :

अनिद्रा को दूर करने के लिए केला आपकी मदद कर सकता है। यह एक गुणकारी फल है, जो कई औषधीय गुणों से भरपूर होता है। एक रिपोर्ट के अनुसार, यह स्वादिष्ट फल सेरोटोनिन और मेलाटोनिन जैसे पोषक तत्वों से समृद्ध होता है, जो अच्छी नींद को बढ़ावा देने का काम करते हैं। केला मैग्नीशियम से भी समृद्ध होता है, जो मांसपेशियों को आराम देने के लिए जाना जाता है और पर्याप्त नींद लेने में आपकी मदद करेगा (4)।

2. कीवी 

सामग्री :
  • दो कीवी
कैसे करें इस्तेमाल :
  • बिस्तर पर जाने से एक घंटे पहले दो ताजे कीवी फल खाएं।
कितनी बार करें :

रोजाना सेवन कर सकते हैं।

कैसे है लाभदायक :

कीवी एक खास फल है, जो एंटीऑक्सीडेंट गुणों से भरपूर होता है। एंटीऑक्सीडेंट मस्तिष्क पर ऑक्सिडेटिव स्ट्रेस को कम करने का काम करता है, जो अनिद्रा का कारण बन सकता है। इसके अलावा, कीवी में सेरोटोनिन मौजूद होता है, जो दिमाग को शांत करने में मदद करता है (5)।

3. शहद 

सामग्री :
  1. एक-दो बड़े चम्मच शहद
कैसे करें इस्तेमाल :
  • बिस्तर पर जाने से पहले शहद का सेवन करें।
कितनी बार करें :

यह प्रक्रिया आप रोजाना करें।

कैसे है लाभदायक :

शहद में ग्लूकोज की मात्रा कम होती है, जो ओरेक्सिन को बंद करने के लिए मस्तिष्क के साथ संचार करता है। ओरेक्सिन एक न्यूरोट्रांसमीटर है, जो सतर्कता (Alertness) में योगदान देता है (4)। शहद नींद से जुड़ी परेशानियों से निजात दिलाने का काम करता है (5)। एक आरामदायक नींद लेने के लिए आप रोजाना बताए गए तरीके से शहद का सेवन कर सकते हैं।

4. दूध

4. दूध Pinit

Shutterstock

सामग्री :
  • दूध
कैसे करें इस्तेमाल :
  • दूध को हल्का गर्म करें और रात में सोने से 10-15 मिनट पहले पिएं।
कितनी बार करें :

यह प्रक्रिया रोजाना करें।

कैसे है लाभदायक :

दूध में ट्रिप्टोफैन नामक एमिनो एसिड होता है, जो अच्छी नींद को बढ़ावा देने का काम करता है। आरामदायक नींद लेने के लिए आप रोजाना बताए गए तरीके से दूध का सेवन करें (6)।

5. सेब का सिरका 

सामग्री :
  • एक चम्मच सेब का सिरका
  • एक कप गर्म पानी
  • एक चम्मच शहद
कैसे करें इस्तेमाल :
  • एक कप गर्म पानी में सिरका और शहद मिलाएं और हल्का ठंडा करके पिएं।
कितनी बार करें :

रोजाना रात को सोने से पहले लें।

कैसे है लाभदायक :

इंसोमनिया का एक बड़ा कारण ऑक्सिडेटिव स्ट्रेस है। वहीं, सेब का सिरका एंटीऑक्सीडेंट  गुणों से समृद्ध है, जो ऑक्सिडेटिव स्ट्रेस को कम करने का काम करता है। अच्छी नींद के लिए आप सेब के सिरके का बताए गए तरीके से सेवन कर सकते हैं (7), (8)।

6. भाप

अच्छी नींद लेने के लिए आप स्टीम बाथ का सहारा ले सकते हैं। कई हेल्थ क्लब और जिम में यह सुविधा उपलब्ध है। इससे शरीर की थकान दूर करने में मदद मिलती है (9)। जब आपका शरीर थकान मुक्त होता है, तो आपको अच्छी नींद आती है। ध्यान रहे कि स्टीम बाथ हेल्थ एक्सपर्ट की निगरानी में ही लें। गलत तरीके से स्टीम बाथ लेना जोखिम भरा हो सकता है।

7. लैवेंडर का तेल 

सामग्री :
  • लैंवेंडर तेल की तीन-चार बूंदें
  • पांच-छह चम्मच पानी
  • एक इलेक्ट्रिक डिफ्यूजर
कैसे करें इस्तेमाल :
  • रात को सोने से कुछ देर पहले कमरे के किसी कोने में इलेक्ट्रिक डिफ्यूजर रखें।
  • डिफ्यूजर को ऑन करें और ऊपर खाली जगह को पानी से भर दें।
  • फिर ऊपर से लैंवेंडर तेल की तीन-चार बूंदें डालें।
कैसे है लाभदायक :

कोरिया में महिलाओं पर हुए अध्ययन से पता चला है कि लैंवेंडर तेल से की गई एरोमाथेरेपी अनिद्रा को कम कर सकती है। इसके अलावा, एरोमाथेरेपी डिलीवरी के बाद महिलाओं में अच्छी नींद लाने में मददगार साबित हो सकती है। इनसोमनिया से पीड़ित मरीजों में नींद की गुणवत्ता में सुधार लाने के लिए लैंवेंडर के तेल का इस प्रकार से उपयोग किया जा सकता है (10)।

8. अरंडी का तेल

8. अरंडी का तेल Pinit

Shutterstock

सामग्री :
  • अरंडी के तेल की एक-दो बूंदें
कैसे करें इस्तेमाल :
  • अपनी पलकों पर तेल की बूंदें लगाएं और हल्के-हल्के हाथों से रगड़ें। ध्यान रहे कि तेल की बूंदें आंखों के अदंर न जाएं।
कितनी बार करें :

ऐसा हर रात सोने जाने से पहले कर सकते हैं।

कैसे है लाभदायक :

अनिद्रा की शिकायत दूर करने के लिए आप अरंडी के तेल का इस्तेमाल कर सकते हैं। नींद को बढ़ावा देने के लिए इस खास तेल का प्रयोग लंबे समय से किया जा रहा है (11)।

9. नारियल का तेल 

सामग्री :
  • नारियल तेल (आवश्यकतानुसार)
कैसे करें इस्तेमाल :
  • नारियल तेल से पूरे शरीर की अच्छी तरह से मसाज करें।
कितनी बार करें :

रोजाना दिन में एक बार शरीर की मसाज करें।

कैसे है लाभदायक :

शरीर को आराम देने के लिए मसाज थेरेपी सबसे कारगर मानी जाती है। मजास थेरेपी मांसपेशियों को आराम पहुंचाकर आपकी नींद में सुधार लाने का काम करेगी (12)। मसाज के लिए नारियल तेल इस्तेमाल में ला सकते हैं ।

10. कलौंजी 

सामग्री :
  • एक चम्मच कलौंजी का तेल
  • एक गिलास गुनगुना पानी
कैसे करें इस्तेमाल :
  • तेल का सेवन करें और तुरंत ऊपर से गुनगुना पानी पिएं।
कितनी बार करें :

अच्छे परिणामों के लिए रोजाना तीन से चार सप्ताह सोने से पहले यह उपाय करें।

कैसे है लाभदायक :

कलौंजी यानी काले जीरे का तेल मस्तिष्क में ट्रिप्टोफैन के स्तर को बढ़ाता है (13)। ट्रिप्टोफैन एक एमिनो एसिड है और एक अध्ययन के अनुसार ट्रिप्टोफैन नींद विकारों पर सकारात्मक प्रभाव डाल सकता है (14)। इससे आप एक आरामदायक नींद का आनंद ले सकते हैं।

11. फिश ऑयल 

सामग्री :
  • एक फिश ऑयल कैप्सूल
कैसे है लाभदायक :
  • भोजन के साथ दिन में एक बार कैप्सूल लें।
कितनी बार करें :

अच्छे परिणामों के लिए रोजाना यह उपाय करें।

कैसे है लाभदायक :

फिश ऑयल ओमेगा-3 फैटी एसिड से समृद्ध होता है और एक अध्ययन के अनुसार ओमेगा फैटी एसिड नींद विकारों को ठीक करने का काम कर सकता है। अनिद्रा से जूझ रहे मरीज फिश ऑयल का सेवन कर सकते हैं (15), (16)।

12. शीशम का तेल 

सामग्री :
  • शीशम तेल की कुछ बूंदें
  • पांच-छह चम्मच पानी
  • ऑयल डिफ्यूजर
कैसे करें इस्तेमाल :
  • रात में सोने से पहले कमरे में ऑयल डिफ्यूजर रखें।
  • डिफ्यूजर में पानी डालें और ऊपर से शीशम तेल की कुछ बूंदें डालें।
कितनी बार करें :

आवश्यकता पड़ने पर इस एरोमाथेरेपी का उपाय करें।

कैसे है लाभदायक :

शीशम तेल का इस्तेमाल एरोमाथेरेपी के लिए किया जाता है। तेल की सुंगध अच्छी नींद को बढ़ावा देने का काम कर सकती है (17)।

13. टार्ट चेरी का जूस

13. टार्ट चेरी का जूस Pinit

Shutterstock

सामग्री :
  • 250ml टार्ट चेरी के रस
कैसे करें इस्तेमाल :
  • दिन में दो बार लगभग 250ml टार्ट चेरी का रस पिएं।
कितनी बार करें :

इस रस को रोजाना पिएं।

कैसे है लाभदायक :

चेरी के रस में एंथोसायनिन (फ्लेवोनॉयड) और एंटी-इंफ्लेमेटरी गुणों होते हैं। साथ ही इसमें मेलाटोनिन भी पाया जाता है, जो अच्छी नींद लेने में अहम भूमिका निभा सकता है। अध्ययन के अनुसार, नींद विकारों से ग्रसित मरीजों में चेरी का रस नींद का समय बढ़ा सकता है (18)।

14. मेथी

सामग्री :
  • एक चम्मच मेथी के बीज
  • एक गिलास पानी
कैसे करें इस्तेमाल :
  • एक गिलास पानी में मेथी के बीजों को डालकर छोड़ दें।
  • सुबह पानी को छानकर पिएं।
कितनी बार करें :

अच्छे परिणाम के लिए कुछ हफ्तों तक यह उपाय रोजाना करें।

कैसे है लाभदायक : 

मेथी के बीज खास एंटी डिप्रेसेंट गुणों से समृद्ध होते हैं, जो आपको अच्छी नींद लेने में मदद कर सकते हैं। एक रिपोर्ट के अनुसार, मेथी के बीजों में एक खास तत्व होता है, जो एंटी डिप्रेशन और एंटी एंजाइटी की तरह काम कर सकता है (19)। अनिद्रा से ग्रसित मरीज मेथी के बीजों का इस्तेमाल ऊपर बताए गए तरीके से कर सकते हैं।

15. लहसुन 

सामग्री :
  • एक कप दूध
  • एक लहसुन की कली
  • एक चौथाई कप पानी
कैसे करें इस्तेमाल :
  • लहसुन को मसल कर दूध में मिलाएं।
  • अब इसमें पानी डालें और तब तक उबालें, जब तक कि यह एक कप न रह जाए।
  • रात को सोने से कुछ मिनट पहले लहसुन दूध का सेवन करें।
कितनी बार करें :

कुछ हफ्तों तक इस उपाय को रोजाना करें।

कैसे है लाभदायक :

अनिद्रा के उपाय के लिए आप लहसुन प्रयोग में ला सकते हैं। यह एक प्राकृतिक पदार्थ है, जो नींद न आने की शिकायत को दूर कर सकता है। एक रिपोर्ट के अनुसार, लहसुन अवसाद और चिंता से छुटकारा दिलाने में मदद कर सकता है, जिससे नींद को बढ़ावा मिल सकता है (20)।

16. जूजूबे 

सामग्री :
  • मुट्ठी भर जूजूबे (बेर)
  • दो-तीन कप पानी
कैसे करें इस्तेमाल :
  • बेरों को लगभग 10 मिनट तक उबालें।
  • पानी को ठंडा करें और एक कप में डालकर पिएं। बाकी बचे हुए काढ़े को फ्रिज में स्टोर कर लें।
कितनी बार करें :

एक या दो बार इस उपाय को करें।

कैसे है लाभदायक :

अनिद्रा के उपाय के लिए आप जूजूबे का काढ़ा बनाकर पी सकते हैं। नींद से जुड़े विकारों के इलाज के लिए प्राचीन चीनी हर्बल औषधि में जूजूबे का उपयोग लंबे समय से किया जा रहा है। यह नींद को बढ़ावा देने वाला महत्वपूर्ण खाद्य पदार्थ है, जो हिप्पोकैम्पस (मस्तिष्क का एक भाग) को प्रभावित करता है और प्राकृतिक रूप से नींद लेने में सहायता करता है (21), (22)।

17. कैमोमाइल

17. कैमोमाइल Pinit

Shutterstock

सामग्री :
  • एक कैमोमाइल टी बैग
  • एक कप गर्म पानी
  • नींबू के रस की कुछ बूंदें
कैसे करें इस्तेमाल :
  • कुछ मिनट के लिए गर्म पानी में कैमोमाइल टी बैग को डालें।
  • स्वाद के लिए नींबू के रस की कुछ बूंदें मिलाएं और फिर इसे चाय की तरह पिएं।
कितनी बार करें :

एक कप कैमोमाइल चाय थकान को दूर कर नींद को बढ़ावा दे सकती है।

कैसे है लाभदायक :

अनिद्रा के घरेलू उपचार के रूप में आप कैमोमाइल की चाय का सेवन कर सकते हैं। यह हर्बल टी अनिद्रा की शिकायत को दूर करने के साथ-साथ नसों को भी शांत करती है। इसके अलावा, यह चिंता और बुरे सपनों से भी छुटकारा देने में मदद करती है। नींद से जुड़े विकारों का इलाज करने के लिए आप इस खास चाय का सेवन कर सकते हैं (23)।

18. ग्रीन टी

सामग्री :
  • एक ग्रीन टी बैग
  • एक कप गर्म पानी
  • शहद (वैकल्पिक)
कैसे करें इस्तेमाल :
  • ग्रीन टी बैग को एक कप गर्म पानी में कुछ मिनट के लिए डालें।
  • अब इसमें स्वाद के लिए शहद डालें और अच्छी तरह मिलाएं।
  • अब धीरे-धीरे चाय का आनंद लें।
कितनी बार करें :

बिस्तर पर जाने से पहले एक कप ग्रीन टी पिएं।

कैसे है लाभदायक :

नींद आने की दवा के लिए आप ग्रीन टी का सेवन कर सकते हैं। यह नींद न आने की समस्या से छुटकारा पाने का कारगर प्राकृतिक तरीका है। यह एक खास अमीनो एसिड एल-थिएनाइन से समृद्ध होता है, जो नींद को बढ़ाना देने का काम करता है (24)।

19. जायफल (नटमेग)

सामग्री :
  • चुटकी भर जायफल
  • एक गिलास गर्म दूध
कैसे करें इस्तेमाल :

रात में सोने से पहले एक गिलास गर्म दूध में चुटकी भर जायफल चूर्ण मिलाकर पिएं।

कितनी बार करें :

बेहतर परिणाम के लिए कुछ हफ्तों तक रोजाना यह उपाय करें।

कैसे है लाभदायक :

नींद आने की दवा के रूप में आप जायफल चूर्ण को दूध में मिलाकर पी सकते हैं। यह एक प्राकृतिक औषधि है, जो आपकी अनिद्रा की समस्या को दूर करने काम करेगी (25)।

20. केसर

20. केसर Pinit

Shutterstock

सामग्री :
  • सात-आठ केसर के रेशे
  • एक गिलास दूध
कैसे करें इस्तेमाल :
  • एक गिलास दूध को केसर के साथ अच्छी तरह गर्म करें।
  • हल्का ठंडा होने पर केसर दूध का सेवन करें।
कितनी बार करें :

रोजाना बिस्तर पर जाने से पहले यह उपाय करें।

कैसे है लाभदायक :

अनिद्रा रोग का उपचार करने के लिए आप केसर का सेवन कर सकते हैं। एक अध्ययन के अनुसार, केसर अवसाद और चिंता को दूर करने के साथ-साथ अनिद्रा से भी निजात दिला सकता है (26)। एक अन्य शोध के अनुसार, केसर का सेवन ‘नॉन रैपिड आई मूवमेंट स्लीप’ में सुधार कर सकता है (27)।

21. जीरा 

सामग्री :
  • एक केला
  • आधा चम्मच जीरा पाउडर
कैसे करें इस्तेमाल :
  • सबसे पहले आधा चम्मच जीरा पाउडर के लिए पर्याप्त जीरे के बीजों को भून लें।
  • अब एक केला लेकर एक बाउल में उसे अच्छी तरह मैश कर लें।
  • फिर मैश किए हुए केले में जीरा पाउडर मिलाकर सेवन करें।
कितनी बार करें :

अच्छे परिणामों के लिए रोजाना सोने से एक-दो घंटे पहले यह उपाय करें।

कैसे है लाभदायक :

अनिद्रा के उपचार के लिए आप जीरे का सेवन कर सकते हैं। जीरा एक प्राकृतिक औषधि है, जिसका इस्तेमाल लंबे समय से नींद विकारों को दूर करने और रक्तचाप को नियंत्रित करने के लिए किया जा रहा है (28)। अनिद्रा से निजात पाने के लिए आप जीरे का इस्तेमाल बताए गए तरीके से कर सकते हैं।

22. लेमन बाम 

सामग्री :
  • एक या दो चम्मच सूखा लेमन बाम
  • एक कप गर्म पानी
कैसे करें इस्तेमाल :
  • लेमन बाम की पत्तियों को गर्म पानी में पांच मिनट तक डुबो कर रखें।
  • अब चाय को एक कप में छान लें और धीरे-धीरे पिएं।
कितनी बार करें :

आप रोजाना इस चाय के दो से तीन कप पी सकते हैं।

कैसे है लाभदायक :

अनिद्रा के घरेलू उपचार के रूप में आप लेमन बाम की पत्तियों का उपयोग कर सकते हैं। एक अध्ययन के अनुसार, ये पत्तियां नींद से जुड़े विकारों को दूर करने का काम कर सकती हैं (29)।

23. गर्म स्नान 

नींद आने के घरेलू उपाय के तौर पर आप गर्म पानी (सहन करने योग्य) से स्नान भी कर सकते हैं। गर्म पानी शरीर की थकान को दूर कर आपको रिफ्रेश करेगा, जिससे आरामदायक नींद लेने में मदद मिल सकती है (30)।

24. विटामिन 

अनिद्रा के उपचार के लिए विटामिन की मदद ले सकते हैं। स्वस्थ नींद के लिए शरीर में विटामिन आवश्यक तत्व है। यहां विटामिन-बी आपकी मदद कर सकता है। विटामिन-बी अनिद्रा निवारक के रूप में काम करता है। खासकर, विटामिन-बी समूह का विटामिन-बी6 मानसिक तनाव और नींद की तकलीफों को दूर करने का काम करता है (31)।

विटामिन-ए मस्तिष्क के कामकाज में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है, खासकर जब नींद और याददाश्त की बात आती है (32)। मस्तिष्क के स्वास्थ्य के लिए आप विटामिन-ए से भरपूर खाद्य पदार्थों का सेवन कर सकते हैं।

तनाव को नींद न आने की सबसे बड़ी बाधाओं में गिना जाता है। इससे निजात पाने के लिए आप विटामिन-सी से भरपूर खाद्य पदार्थों को दैनिक आहार में शामिल कर सकते हैं, जैसे स्ट्रॉबेरी, टमाटर व संतरा आदि (31)।

25. व्यायाम, योग और ध्यान

25. व्यायाम, योग और ध्यान Pinit

Shutterstock

अनिद्रा के उपचार के लिए आप व्यायाम, योग और ध्यान का सहारा ले सकते हैं। ये तीनों विभिन्न गतिविधियां मस्तिष्क समेत शरीर के सभी भागों को स्वस्थ रखने का काम करेंगी। खासकर, मन-मस्तिष्क की शांति के लिए आप व्यायाम, योग और ध्यान अवश्य करें (34), (35), (36)।

नींद आने के घरेलू उपाय के बाद आइए नीचे जान लेते हैं इससे बचने के कुछ और टिप्स।

अनिद्रा से बचाव – Prevention Tips for Insomnia in Hindi 

आप अनिद्रा से राहत पाने के लिए इन सुझावों का भी पालन कर सकते हैं।

  • समय से सोने और उठने का प्रयास करें।
  • शराब और अन्य नशे के पदार्थों का सेवन न करें।
  • भारी, तले और मसालेदार भोजन न करें।
  • रोजाना सुबह पैदल चलने का प्रयास करें।
  • अपने कमरे को साफ और रिफ्रेश रखें, कमरे की गंदगी से आपका मूड खराब हो सकता है।
  • हफ्ते में दो-तीन दिन शरीर की पूरी मसाज कराएं।
  • खुश रहने का प्रयास करें

नींद न आने की समस्या कभी भी और किसी को भी हो सकती है, जो आगे चलकर घातक परिणामों का कारण बन सकती है। इसलिए, जरूरी है कि आप जितना हो सके इस बीमारी के प्रति जागरूक रहें और इससे निजात पाने के लिए बताए गए घरेलू उपचारों का पालन करें। हो सकता है कि आपके परिवार का कोई सदस्य या आसपास कोई अन्य इस समस्या से पीड़ित हो, इसलिए इस जानकारी को अन्य लोगों के साथ भी साझा करें। आशा है कि यह लेख आपको पसंद आया होगा। अपने सुझाव और सवालों के लिए आप हमसे नीचे कमेंट बॉक्स में संपर्क कर सकते हैं।

संबंधित आलेख