घरेलू उपचार

बदहजमी (अपच) के कारण, लक्षण और घरेलू उपाय – Indigestion Symptoms and Home Remedies in Hindi

बदहजमी (अपच) के कारण, लक्षण और घरेलू उपाय – Indigestion Symptoms and Home Remedies in Hindi Hyderabd040-395603080 July 3, 2019

बदहजमी यानी अपच ऐसी समस्या है, जो आपके पूरे स्वास्थ्य को बिगाड़कर रख देती है। जब पेट के ऊपरी हिस्से में दर्द या बेचैनी हो, तो यह बदहजमी का संकेत हो सकता है। पाचन तंत्र में खराबी होने के कारण बदहजमी की समस्या होने लगती है। कुछ लोग बदहजमी का इलाज करने के लिए डॉक्टर से दवा लेते हैं, तो कुछ घरेलू उपचार अपनाकर बदहजमी के उपाय करते हैं।

स्टाइलक्रेज का यह लेख अपच की समस्या पर ही है। इस लेख में हम आपको अपच के घरेलू उपाय बताएंगे। साथ ही आपको इसके कारण और लक्षण के बारे में भी बताएंगे। आइए, पहले जानते हैं कि बदहजमी के कारण क्या हैं।

बदहजमी के कारण – Causes of Indigestion Hindi

बदहजमी होने के कई कारण हो सकते हैं, जैसे (1):

  • जरूरत से ज्यादा खा लेना।
  • मसालेदार और तैलीय भोजन करना।
  • भोजन के तुरंत बाद लेट जाना।
  • धूम्रपान करना।
  • शराब का सेवन।
  • एस्पिरिन और इबुप्रोफेन जैसी कुछ दवाएं।
  • एसिड रिफलक्स, गैस्ट्रिक कैंसर, अग्नाशय में असमानता या पेप्टिक अल्सर जैसी चिकित्सीय स्थितियां।

बदहजमी (अपच) के लक्षण – Symptoms of Indigestion in Hindi

बदहजमी होने पर आपको कई तरह के लक्षण महसूस हो सकते हैं। नीचे हम इन्हीं लक्षणों के बारे में बता रहे हैं (1):

  • पेट फूलना
  • जी-मिचलाना
  • उल्टी
  • सीने में जलन
  • खाना खाते समय पेट भरा महसूस होना
  • पेट में जलन
  • डकार आना
  • उल्टी में खून आना
  • वजन घटना
  • निगलने में कठिनाई
  • काला मल आना

आगे हम आपको अपच के घरेलू उपाय बताने जा रहे हैं।

बदहजमी का घरेलू इलाज – Home Remedies for Indigestion in Hindi

समस्या कोई भी हो, अमूमन लोग पहले उसका घरेलू उपचार करना पसंद करते हैं। ये घरेलू उपचार असरदार भी होते हैं और किसी तरह का नुकसान भी नहीं पहुंचाते।

1. बेकिंग सोडा

Baking soda for Indigestion in Hindi Pinit

Shutterstock

सामग्री :
  • आधा चम्मच बेकिंग सोडा
  • आधा गिलास गर्म पानी
क्या करें?
  • आधे गिलास पानी में आधा चम्मच बेकिंग सोडा डालकर अच्छी तरह मिलाएं।
  • फिर इस पानी को पी लें।
  • बेहतर परिणाम के लिए कुछ सप्ताह तक दिन में दो से तीन बार आप इसे पिएं।
यह कैसे काम करता है?

अपच का इलाज करने के लिए बेकिंग सोडा काफी फायदेमंद हो सकता है। बेकिंग सोडा एक प्राकृतिक एंटासिड है, जो अपच और सीने की जलन का इलाज करने में मदद करता है। यह अपच को ठीक करने के लिए पेट के एसिड को बेअसर करता है (2)।

सावधानी : अगर खाना खाने के बाद आपका पेट पूरी तरह से भर गया है, तो बेकिंग सोडे का सेवन न करें।

2. दालचीनी

सामग्री :
  • एक इंच दालचीनी का टुकड़ा
  • एक कप गर्म पानी
  • शहद
क्या करें?
  • एक कप गर्म पानी में दालचीनी का टुकड़ा डालें।
  • इसे 5 से 10 मिनट के लिए पानी में ही रहने दें, फिर पानी को छान लें।
  • जैसे ही पानी थोड़ा-सा ठंडा होने लगे, इसमें शहद मिलाएं और तुरंत पी लें।
  • इसे रोजाना दिन में दो से तीन बार पिएं।
यह कैसे काम करता है?

अपच का इलाज करने के लिए दालचीनी गुणकारी हो सकती है। दालचीनी के एंटीस्पास्मोडिक गुण आपके पाचन तंत्र की मांसपेशियों को आराम पहुंचाते हैं। साथ ही इसके एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण सूजन को कम करने में मदद करते हैं, जो अपच का कारण हो सकते हैं (3) (4)।

3. कैमोमाइल टी

सामग्री :
  • कैमोमाइल चाय का 1 चम्मच
  • 1 कप गर्म पानी
  • शहद
क्या करें?
  • एक कप गर्म पानी में एक चम्मच कैमोमाइल चाय मिलाएं।
  • इसे 5 से 10 मिनट के लिए पानी में रहने दें।
  • फिर इसे छान लें और शहद मिलाकर इसे पी जाएं।
  • बेहतर परिणाम के लिए आप इसे रोजाना दिन में दो से तीन बार पिएं।
यह कैसे फायदा करता है?

कैमोमाइल टी भी अपच में फायदा पहुंचाती है। इसमें मौजूद एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण एसिड के कारण हुई सूजन को कम करने में मदद करते हैं (5)।

4. नींबू और अदरक की चाय

Lemon and ginger tea for Indigestion in Hindi Pinit

Shutterstock

सामग्री :
  • एक इंंच अदरक का टुकड़ा
  • 1 चम्मच नींबू का रस
  • 1 कप गर्म पानी
  • शहद
क्या करें?
  • एक कप गर्म पानी में अदकर का टुकड़ा डालें।
  • फिर इसमें एक चम्मच नींबू का रस डालें।
  • 5 से 10 मिनट के बाद इस पानी को छान लें।
  • जब यह चाय गुनगुनी हो जाए, तो इसमें थोड़ा-सा शहद डालें और तुरंत पी लें।
यह कैसे फायदा करता है?

नींबू और अदरक की यह चाए न सिर्फ आपका पाचन ठीक करती है, बल्कि ब्लोटिंग से भी राहत दिलाती है। इसमें मौजूद एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण पेट में एसिडिटी से राहत दिलाते हैं (6) (7)।

5. जीरा

सामग्री :
  • 1 चम्मच जीरा
  • 1 कप गर्म पानी (वैकल्पिक)
क्या करें?
  • एक कप गर्म पानी में एक चम्मच जीरा डालें।
  • इसे 5 से 10 मिनट तक मिलाएं और फिर छान लें।
  • इस गर्म पानी को आप चाय की तरह पिएं।
  • आप खाना खाने के बाद आधे चम्मच जीरे को चबा भी सकते हैं।
यह कैसे फायदेमंद है?

जीरे में एंटी-फ्लैट्यूलेंट गुण होते हैं, जो ब्लोटिंग जैसी समस्या को कम कर पाचन को ठीक करने में मदद करते हैं (8)।

6. सेब का सिरका

Apple Cider Vinegar for Indigestion in Hindi Pinit

Shutterstock

सामग्री :
  • 1-2 चम्मच सेब का सिरका
  • 1 गिलास पानी
क्या करें?
  • एक गिलास गर्म पानी में एक से दो चम्मच सेब का सिरका मिलाएं।
  • आप स्वाद के लिए इसमें थोड़ा-सा शहद मिला सकते हैं।
  • फिर इस मिश्रण को पी लें।
यह कैसे काम करता है?

सेब के सिरके में एसिटिक एसिड होता है, जो एसिडिटी को कम करने में मदद करता है (8)।

7. छाछ

सामग्री :
  • एक कप छाछ
क्या करें?
  • जब भी आपको अपच की शिकायत हो, तो एक कप छाछ पी लें।
  • आप चाहें तो इसमें थोड़ा-सा भुना हुआ जीरा भी मिला सकते हैं।
यह कैसे फायदा करता है?

छाछ में भरपूर मात्रा में लैक्टिक एसिड होता है, जो पेट के एसिड को कम कर अपच की समस्या से राहत दिलाने में मदद करता है (9)।

8. अजवाइन

सामग्री :
  • आधा चम्मच अजवाइन
क्या करें?

जब भी आपको अपच महसूस हो, तो अजवाइन के बीज को चबाएं।

यह कैसे काम करता है?

अजवाइन में एंटीस्पास्मोडिक और कार्मिनेटिव गुण होते हैं, जो बदहजमी के कारण पेट फूलने की समस्या को कम करने में मदद करते हैं (10)।

9. दूध

Milk for Indigestion in Hindi Pinit

Shutterstock

सामग्री :
  • फैट फ्री दूध
क्या करें?

जब भी आपको बदहजमी महसूस होने लगे, तो एक कप फैट फ्री दूध पी लें।

यह कैसे फायदा करता है?

दूध पेट में एसिड को कम करने में मदद करता है। इस वजह से यह पेट के एसिड को बेअसर करता है और अपच की समस्या से राहत दिलाता है।

10. एसेंशियल ऑयल

सामग्री :
  • एक बूंद लेमन एसेंशियल ऑयल
  • एक गिलास पानी
क्या करें?
  • एक गिलास पानी में एक बूंद लेमन एसेंशियल ऑयल डालकर अच्छी तरह मिलाएं।
  • फिर इस पानी को आप खाना खाने के आधा घंटा पहले पी लें।
  •  आप रोजाना दिन में दो से तीन बार यह पी सकते हैं।
यह कैसे फायदेमंद है?

लेमन एसेंशियल ऑयल में कार्मिनेटिव और एल्कलाइन गुण होते हैं, जो पेट के एसिड को बेअसर कर बदहजमी से बचाते हैं। इसके अलावा, इसमें मौजूद एंटीबैक्टीरियल और डिटॉक्स के गुण आपकी पाचन प्रणाली को साफ करने में मदद करते हैं (11)।

11. शहद

सामग्री :
  • एक चम्मच ऑर्गेनिक शहद
  • एक गिलास पानी (वैकल्पिक)
क्या करें?
  • एक गिलास पानी में एक चम्मच शहद को अच्छी तरह मिला लें।
  • इस पानी को रोजाना खाने से एक घंटा पहले पिएं।
  • इसके अलावा, आप एक चम्मच शहद को बिना पानी के भी ले सकते हैं।
यह कैसे फायदा करता है?

शहद में कई तरह के गुण होते हैं, जो पाचन को दुरुस्त करने में मदद करते हैं (12)। इसमें मौजूद मिनरल जैसे पोटैशियम पेट के एसिड को कम कर अपच की समस्या से राहत दिलाने में मदद करता है।

12. ओटमील

सामग्री :
  • एक बाउल पका हुआ ओटमील
क्या करें?

अपच की शिकायत होने पर एक बाउल ओटमील खाएं।

कैसे फायदा करता है?

ओटमील में भरपूर मात्रा में फाइबर होता है, जो आपका पेट ठीक रखने में मदद करता है और आपको बदहजमी से बचाता है (9)।

13. नारियल का तेल

सामग्री :
  • वर्जिन नारियल तेल के 1-2 बड़े चम्मच
क्या करें?
  • अपच की समस्या होने पर आप रोजाना दो चम्मच नारियल तेल पिएं।
  • आप इसे सलाद में डालकर या अपनी पसंदीदा ड्रिंक में मिलाकर भी पी सकते हैं।
कैसे फायदा करता है?

नारियल तेल में लॉरिक एसिड और कैपरिक एसिड होता है, जो पाचन तंत्र को ठीक रखने में मदद करते हैं (10)। इसके अलावा, नारियल तेल को पचाना आसान होता है।

14. एलोवेरा

Aloe Vera for Indigestion in Hindi Pinit

Shutterstock

सामग्री :
  • ¼ कप एलोवेरा जूस
क्या करें?

बदहजमी होने पर आप एक चौथाई एलोवेरा का जूस पी लें।

यह कैसे फायदा करता है?

बदहजमी का इलाज करने के एलोवेरा काफी कारगर होता है। एलोवेरा जूस में विटामिन, खनिज और अमीनो एसिड होता है, जो आपके शरीर को डिटॉक्स करने और पाचन शक्ति बढ़ाने में मदद कर सकता है। इसमें एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण भी होते हैं, जो आपके शरीर में किसी भी तरह की सूजन को कम करने में मदद करते हैं।

15. कार्बोनेटेड वॉटर

सामग्री :
  • एक कैन कार्बोनेटेड वॉटर
क्या करें?

दिन भर में थोड़ा-थोड़ा कार्बोनेटेड वॉटर पीते रहें। जब तक आपको अपच से राहत न मिले, इसे पीते रहें।

यह कैसे काम करता है?

कार्बोनेटेड वॉटर में कार्बनडाईऑक्साइड की मात्रा अधिक होती है। इसमें मौजूद एंटासिड इफेक्ट अपच की समस्या से राहत दिलाने में मदद करता है (11)।

बदहजमी (अपच) में क्या खाना चाहिए – Foods to Eat for Indigestion in Hindi

बदहजमी का इलाज करने के लिए सही खानपान भी जरूरी है। आप अपने खानपान में नीचे बताई हुई चीजें शामिल करें। ये बदहजमी के दौरान आपको फायदा पहुंचा सकती हैं :

सब्जियां – अपच की समस्या होने पर आप हरी सब्जियां जैसे बीन्स व ब्रोकली का सेवन कर सकते हैं, क्योंकि इनमें फैट और शुगर की मात्रा कम होती है, जिन्हें पचाने में आसानी होती है।
ओटमील – आप ओटमील का इस्तेमाल करें, क्योंकि इसमें प्रचुर मात्रा में फाइबर होता है, जो आपके पेट को ठीक रखने में मदद करता है।
केला – अपच की समस्या होने पर आप केले का सेवन कर सकते हैं। केले में प्रीबायोटिक गुण होते हैं, जो इस समस्या से राहत दिलाने में मदद करते हैं (12)।
योगर्ट – बदहजमी दूर करने के लिए आप योगर्ट का इस्तेमाल कर सकते हैं। इसके सेवन से पेट को ठंडक मिलती है।
खरबूजा या तरबूज – आप खरबूजे या तरबूज का भी सेवन कर सकते हैं, क्योंकि इन्हें पचाना आसान होता है।
अंडे का सफेद भाग – अपच के दौरान अंडे का सफेद भाग भी फायदा पहुंचा सकता है। इसमें एसिड कंटेंट की कमी होती है और प्रोटीन की मात्रा अधिक होती है।

आर्टिकल के इस हिस्से में हम कुछ ऐसे टिप्स दे रहे हैं, जिनसे आपको बदहजमी नहीं होगी।

बदहजमी से बचने के कुछ और उपाय – Other Tips for Indigestion in Hindi

यूं तो आप ऊपर बताए गए बदहजमी दूर करने के उपाय अपना सकते हैं, लेकिन आप कुछ बातों का ध्यान रखते हुए खुद को अपच की समस्या से बचा सकते हैं। नीचे हम बदहजमी से बचने के लिए यही कुछ टिप्स दे रहे हैं :

  • आप एक साथ बहुत सारा खाना न खाते हुए थोड़ा-थोड़ा करके हर कुछ देर में खाएं।
  • धीरे-धीरे और अच्छी तरह खाने को चबाएं।
  • मसालेदार और तली हुई चीजों से परहेज करें।
  • खाना खाने के तुरंत बाद लेटे नहीं। खाने के बाद थोड़ा टहलें, फिर बिस्तर पर जाएं।
  • शराब और कैफीन से दूर रहें।
  • नियमित रूप से व्यायाम करें।
  • योग और मेडिटेशन का सहारा लेते हुए तनाव से दूर रहने की कोशिश करें।

इस लेख में हमने आपको कई तरह के बदहजमी दूर करने के उपाय बताने की कोशिश की है। अगर आप इस समस्या से परेशान रहते हैं और बदहजमी के उपाय तलाश रहे हैं, तो यकीनन यह लेख आपके काम आएगा। उम्मीद है कि इस लेख में दिए अपच के घरेलू उपाय आपकी समस्या को कम करने में मदद करेंगे। नीचे दिए गए कमेंट बॉक्स में हमें बताएं कि आपने बदहजमी के लिए इनमें से कौन से उपाय अपनाए। इसके अलावा, अगर आपको कोई अन्य बदहजमी का इलाज पता है, तो हमारे साथ जरूर शेयर करें।

और पढ़े:

संबंधित आलेख