अरबी के पत्ते के 10 फायदे और नुकसान – Benefits Of Arbi Leaves in Hindi

Written by , (शिक्षा- एमए इन जर्नलिज्म मीडिया कम्युनिकेशन)

अरबी की सब्जी लोग बहुत चाव से खाते हैं, लेकिन क्या आपने कभी अरबी के पत्तों का सेवन किया है। अरबी पत्ते से तैयार व्यंजन न सिर्फ स्वादिष्ट होते हैं, बल्कि स्वास्थ्य के लिए वरदान समान माने जाते हैं। यही वजह है कि सालों से अरबी के पत्तों का इस्तेमाल आयुर्वेदिक औषधि के रूप में किया जा रहा है। इसलिए स्टाइलक्रेज के इस लेख में हम बताएंगे कि अरबी के पत्ते के फायदे क्या हैं व अरबी लीव्स का उपयोग कैसे किया जा सकता है।

पढ़ना शुरू करें

सबसे पहले जानते हैं अरबी लीव्स यानी अरबी के पत्तों के फायदे के बारे में ।

अरबी के पत्ते के फायदे – Benefits of Arbi Leaves in Hindi

अरबी के पत्ते के फायदे से ज्यादातर लोग वाकिफ नहीं है। यहां हम अरबी पत्ते खाने के फायदों से जुड़ी जानकारी दे रहे हैं। इन्हें जानकर आप अरबी के पत्तों को अपने आहार में शामिल करने से खुद को रोक नहीं पाएंगे।

1. आंखों के लिए

बेनेफिट्स ऑफ अरबी लीव्स में सबसे पहले आंखो के लिए अरबी के पत्तों के फायदे के बारे में बात करेंगे। एक शोध में साफ तौर से इस बात का जिक्र मिलता है कि अरबी के पत्तों में बीटा-कैरोटीन पाया जाता है, जो शरीर में विटामिन-ए के रूप में परिवर्तित होता है। यह उम्र बढ़ने के साथ होने वाली आंखों से संबंधित परेशानियों से बचाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभा सकता है (1)। ऐसे में माना जा सकता है कि आंखों को स्वस्थ रखने के लिए अरबी के पत्तों के फायदे हासिल किए जा सकते हैं।

2. कोलेस्ट्रॉल को नियंत्रित करने के लिए

अरबी के पत्ते खाने के फायदे कोलेस्ट्रॉल संबंधी समस्या में भी देखे जा सकते हैं। पशुओं पर किए गए एक शोध में कोलेस्ट्रोल को नियंत्रित करने के लिए इसका सकारात्मक प्रभाव देखा गया। इसके अलावा, शोध में यह भी बताया गया है कि अरबी के सूखे पत्ते के चूर्ण का सेवन लिपिड प्रोफाइल को ठीक करने में मदद कर सकता है (2)। इस आधार पर माना जा सकता है कि कोलेस्ट्रॉल नियंत्रण में अरबी के पत्ते सहायक हो सकते हैं।

3. हृदय स्वास्थ्य के लिए

हृदय को स्वस्थ रखने में भी अरबी के पत्ते के फायदे देखे जा सकते हैं। दरअसल, अरबी के पत्ते में फाइबर की मात्रा मौजूद होती है (3)। एनसीबीआई पर प्रकाशित एक शोध की मानें, तो फाइबर युक्त आहार के सेवन से हृदय रोग के जोखिम से बचा जा सकता है (4)। वहीं, एक अन्य शोध में बताया गया है कि अरबी के पत्तों और ड्रैगन फ्रूट से तैयार पाउडर का सेवन करने से हृदय रोग के जोखिम को काफी हद तक कम किया जा सकता है (5)।

4. एनीमिया में लाभकारी

अरबी के पत्तों के फायदे एनीमिया में भी देखे जा सकते हैं। एनीमिया एक चिकित्सकीय स्थिति है, जिसमें हीमोग्लोबिन का स्तर सामान्य से कम हो जाता है। शरीर में आयरन की कमी इसके मुख्य कारणों में से एक है (6)। वहीं, अरबी का पत्ता आयरन से समृद्ध होता है (7)। इसी संबंध में एनीमिया से पीड़ित चूहों पर एक शोध किया गया। शोध में चूहों के आहार में अरबी के पत्तों को शामिल करने से एनीमिया के लक्षण में काफी सुधार देखने को मिला (8)। इसके पीछे अरबी के पत्तों में मौजूद आयरन का प्रभाव माना जा सकता है।

5. उच्च रक्तचाप में मददगार

अरबी के पत्ते के गुण कई सारे हैं। इस पर हुए एक शोध में बताया गया है कि आयुर्वेद चिकित्सा पद्धति में उच्च रक्तचाप के इलाज के लिए अरबी के पत्तों का उपयोग सालों से किया जा रहै है (9)। वहीं, एक अन्य शोध के अनुसार, अरबी के पत्ते में एंटीहाइपरटेंसिव गुण मौजूद होता है, जो उच्च रक्तचाप के स्तर को काफी हद तक नियंत्रित करने में सहायक हो सकता है (10)। ऐसे में अरबी के पत्तों के फायदे उच्च रक्तचाप की समस्या से निजात पाने में भी देखे जा सकते हैं।

6. पाचन तंत्र में लाभकारी

पाचन तंत्र को स्वस्थ बनाए रखने के लिए अरबी के पत्तों का सेवन गुणकारी हो सकता है। दरअसल, अरबी के पत्तों में फाइबर प्रचुर मात्रा में उपलब्ध होता है (11 )। वहीं, फाइबर मुख्य रूप से पाचन तंत्र को स्वस्थ रखने के लिए आवश्यक माना जाता है (12)। साथ ही फाइबर पाचन शक्ति को मजबूत बनाने के साथ-साथ कब्ज जैसी समस्या को रोकने में भी मदद कर सकता है (13)। ऐसे में अरबी के पत्ते के गुण पाचन तंत्र को स्वस्थ बनाए रखने के लिए मददगार हो सकते हैं।

7. प्रेगनेंसी में सहायक

अरबी के पत्ते के गुण प्रेगनेंसी में होने वाली परेशानियों में भी सहायक हो सकते हैं। एक अध्ययन की मानें, तो प्रसव के दौरान होने वाली कठिनाइयों से राहत पाने के लिए अरबी के पत्तों को उबालकर खाने की बात कही गई है (14)। वहीं, ये भी बता दें कि अरबी का पत्ता फोलेट से समृद्ध होता है (7)। कई बार गर्भावस्था के दौरान फोलेट की कमी के कारण एनीमिया की समस्या हो सकती है (15)। ऐसे में गर्भावस्था के दौरान एनीमिया की समस्या से बचने के लिए अरबी का पत्ता लाभकारी हो सकता है।

8. वजन नियंत्रण में सहायक

अरबी के पत्ते खाने के फायदे में वजन नियंत्रण भी शामिल है। अरबी के पत्ते में फाइबर की मात्रा मौजूद होती है (3)। फाइबर के सेवन से भूख कम लगती है और शरीर में ऊर्जा भी बनी रहती है। इसलिए अरबी के पत्ते का सेवन वजन को नियंत्रित करने में मदद कर सकता है (13)। ऐसे में जो लोग मोटापे की समस्या से परेशान हैं उनके लिए भोजन में फाइबर युक्त अरबी को शामिल करना लाभकारी साबित हो सकता है।

9. त्वचा स्वास्थ के लिए

अरबी के पत्ते खाने के फायदे त्वचा से जुड़ी समस्याओं में भी देखे जा सकते हैं। दरअसल, अरबी के पत्तों के जूस में विटामिन ए के साथ बीटा-कैरोटीन और क्रिप्टोक्सैन्थिन नामक यौगिक मौजूद होते हैं, जो त्वचा को स्वस्थ बनाए रखने के लिए लाभकारी माने जा सकते हैं (16)। ऐसे में माना जा सकता है कि त्वचा को स्वस्थ बनाए रखने में अरबी के पत्ते अहम भूमिका निभा सकते हैं।

10. बालों के लिए

अरबी के पत्ते में एंटी फंगल प्रभाव मौजूद होता है (17)। बालों में डैंड्रफ की समस्या भी मलेसेजिया नामक फंगस के कारण होती है (18)। ऐसे में एंटी फंगल समृद्ध अरबी के पत्ते डैंड्रफ से राहत प्रदान कर सकते हैं। एक अन्य शोध की मानें, तो अरबी के कंद के जूस का उपयोग एलोपेसिया यानी बाल झड़ने की समस्या से राहत पाने के लिए किया जा सकता है (16)। ऐसे में मान सकते हैं कि बालों के लिए अरबी के पत्ते लाभकारी सिद्ध हो सकते हैं।

आगे अभी और है

बेनेफिट्स ऑफ अरबी लीव्स के बाद आइए जानते हैं, इसमें पाए जाने वाले पौष्टिक तत्वों के बारे में।

अरबी के पत्ते के पौष्टिक तत्व – Nutrition Facts of Arbi Leaves in Hindi

अरबी के पत्ते में कई पोषक तत्व पाए जाते हैं, जो हमारे स्वास्थ के लिए अच्छे हो सकते हैं। आइए, जानते हैं कि अरबी के पत्ते में कौने-कौन से पोषक तत्व होते हैं (7)।

पोषक तत्वमात्रा प्रति 100 ग्राम
पानी 92.2  ग्राम
उर्जा24 कैलोरी
कोलेस्ट्रॉल 0 मिलीग्राम 
कार्बोहाइड्रेट 4.02 ग्राम
वसा 0.41 ग्राम
प्रोटीन 2.72 ग्राम
मैग्नीशियम 20 मिलीग्राम
फाइबर  2 ग्राम
कैल्शियम 86 मिलीग्राम 
आयरन1.18 मिलीग्राम 
जिंक0.21 मिलीग्राम
विटामिन सी 35.5 मिलीग्राम
विटामिन ए 212 माइक्रोग्राम

स्क्रॉल करें

पौष्टिक तत्वों के बारे में जानने के बाद जानते हैं अरबी की पत्ती के उपयोग कैसे करें।

अरबी के पत्ते का उपयोग – How to Use Arbi Leaves in Hindi

अरबी के पत्ते का उपयोग कई तरीकों से किया जा सकता है, लेकिन ध्यान रहे कि अरुई के पत्ता का सेवन अच्छे से पकाकर ही करें। आइए जानते हैं अरबी पत्ता के उपयोग के बारे में।

  • अरबी के पत्ते के पकोड़े बनाकर सेवन कर सकते हैं।
  • अरबी के पत्ते की सब्जी भी बनाई जा सकती है।
  • अरबी के पत्ते के रस का उपयोग बिच्छू या सांप के काटने पर लगाया जाता है (16)।
  • कुछ लोग अरबी के पत्ते की चटनी बनाकर भी सेवन करते हैं।
  • हृदय रोग से बचने के लिए अरबी के पत्तों और ड्रैगन फ्रूट का पाउडर बनाकर सेवन करने की सलाह दी जाती है (5)।
  • बेसन के साथ अरुई का पत्ता मिलाकर भजिया बना सकते हैं।
  • अरबी के पत्ते का जूस बनाकर पी सकते हैं (16)। ध्यान रखें अत्यधिक मात्रा में इसे लेने से गले में खुजली हो सकती है। इसलिए सीमित मात्रा में इसका जूस लें। जूस में बराबर मात्रा में पानी मिलाकर ही पिएं।

पढ़ते रहें लेख

लेख के अगले भाग में अब हम अरबी पत्ता के नुकसान बताएंगे।

अरबी के पत्ते के नुकसान – Side Effects of Arbi Leaves in Hindi

अरबी पत्ता के फायदे को जानने के बाद अब अरबी के पत्ते के नुकसान के बारे में जान लेते हैं।

  • अरबी के पत्तों में ऑक्सालिक एसिड होता है (19)। ऑक्सालिक एसिड का सेवन अधिक मात्रा में करने से पथरी की समस्या हो सकती है (20)।
  • अरबी के पत्ते का कच्चा सेवन जहरीला हो सकता है। इसमें कैल्शियम ऑक्सालेट मौजूद होता है, जिसे पकाते समय नष्ट किया जाना चाहिए (21)।
  • अरबी के पत्ते का कच्चा सेवन करने से मुंह में खुजली, जलन, दर्द या फिर जीभ और होंठों में सूजन, अत्यधिक लार, उल्टी आदि समस्या हो सकती है (22)।

इस लेख के माध्यम से आप अरबी के पत्ते का उपयोग और नुकसान के बारे में जान गए होंगे। साथ ही यह भी जाना कि अरबी का पत्ता कई स्वास्थ्य संबंधी समस्याओं के लिए फायदेमंद है। लेख में बताए गए अरबी के पत्ते में मौजूद गुणों को जानकर इसे अपनी रोजमर्रा की जीवनशैली में जरूर शामिल करें। उम्मीद है कि यह जानकारी आपके लिए लाभकारी सिद्ध होगी।

अक्सर पूछे जाने वाले सवाल

अरबी के पत्ते में कौन सा विटामिन होता है?

अरबी के पत्ते में विटामिन ए, बी-6 व सी मौजूद होता है (7)।

अरबी के पत्ते का उपयोग कैसे किया जाता है?

अरबी की पत्ती के उपयोग भिन्न तरीकों से किया जा सकता है, जिनके बारे में नीचे बता रहे हैं:

  • अरबी के पत्ते के रस का उपयोग बिच्छू या सांप के काटने पर लगाया जाता है (16)।
  • कुछ लोग अरबी के पत्ते की चटनी पकौड़े या सब्जी बनाकर सेवन करते हैं।
  • हृदय रोग से बचने के लिए अरबी के पत्तों और ड्रैगन फ्रूट से तैयार पाउडर का सेवन कर सकते हैं (5)।

अरबी के पत्ते में कितनी कैलोरी होती है?

प्रति 100 ग्राम अरबी का पत्ते 24 कैलोरी की मात्रा मौजूद होती है (7)।

संदर्भ (Sources) :

Articles on StyleCraze are backed by verified information from peer-reviewed and academic research papers, reputed organizations, research institutions, and medical associations to ensure accuracy and relevance. Read our editorial policy to learn more.

  1. Phytochemical Analysis and Antioxidant Activity of Colocasia esculenta (L.) Leaves
    https://www.researchgate.net/publication/337048772_Phytochemical_Analysis_and_Antioxidant_Activity_of_Colocasia_esculenta_L_Leaves
  2. Effect of colocasia leaves (Colocasia antiquorum) on serum and tissue lipids in cholesterol-fed rats
    https://pubmed.ncbi.nlm.nih.gov/2608634/
  3. An overview of Taro (Colocasia esculenta): A review
    https://academiapublishing.org/journals/ajar/pdf/2018/Oct/Rashmi%20et%20al.pdf
  4. Dietary fibre intake and risk of cardiovascular disease: systematic review and meta-analysis
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC3898422/
  5. Potential Use of Dragon Fruit and Taro leaves as functional food: a Review
    https://www.researchgate.net/publication/333995973_Potential_Use_of_Dragon_Fruit_and_Taro_leaves_as_functional_food_a_Review
  6. Anemia
    https://medlineplus.gov/anemia.html
  7. Taro leaves cooked steamed without salt
    https://fdc.nal.usda.gov/fdc-app.html#/food-details/168488/nutrients
  8. Effects of Colocasia esculenta leaf extract in anemic and normal wistar rats
    https://www.jmedscindmc.com/article.asp?issn=1011-4564;year=2018;volume=38;issue=3;spage=102;epage=106;aulast=Ufelle
  9. Antihypertensive and Diuretic Effects of the Aqueous Extract of Colocasia esculenta Linn. Leaves in Experimental Paradigms
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC3832168/
  10. Potential of Colocasia leaves in human nutrition: Review on nutritional and phytochemical properties
    https://onlinelibrary.wiley.com/doi/10.1111/jfbc.12878
  11. Taro (Colocasia esculenta): An overview
    https://www.plantsjournal.com/archives/2018/vol6issue4/PartC/6-4-19-887.pdf
  12. Dietary fibre
    https://www.betterhealth.vic.gov.au/health/healthyliving/fibre-in-food
  13. Fiber
    https://medlineplus.gov/ency/article/002470.htm
  14. THE POTENTIAL OF TARO (COLOCASIA ESCULENTA) AS A DIETARY PREBIOTIC SOURCE FOR THE PREVENTION OF COLORECTAL CANCER
    https://scholarspace.manoa.hawaii.edu/bitstream/10125/73368/Saxby_hawii_0085A_10844.pdf
  15. Iron deficiency anemia in pregnancy: intravenous versus oral route
    https://pubmed.ncbi.nlm.nih.gov/23730037/
  16. An Overview of Traditionally Used Herb Colocasia esculenta as a Phytomedicine
    https://www.longdom.org/open-access/an-overview-of-traditionally-used-herb-colocasia-esculenta-as-a-phytomedicine-2167-0412-1000317.pdf
  17. A STUDY OF ANTIBACTERIAL AND ANTIFUNGAL ACTIVITY OF THE LEAVES OF COLOCASIA ESCULENTA LINN.
    https://ijpsr.com/bft-article/a-study-of-antibacterial-and-antifungal-activity-of-the-leaves-of-colocasia-esculenta-linn/
  18. A New Postulate on Two Stages of Dandruff: A Clinical Perspective
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC3129121/#ref16
  19. Oxalate Content of Taro Leaves Grown in Central Vietnam
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC5296671/
  20. Oxalate content of foods and its effect on humans
    https://pubmed.ncbi.nlm.nih.gov/24393738/
  21. Taro (Colocasia esculenta): An overview
    https://www.researchgate.net/publication/330397951_Taro_Colocasia_esculenta_An_overview
  22. Colocasia esculenta
    https://plants.ces.ncsu.edu/plants/colocasia-esculenta/
Was this article helpful?
thumbsupthumbsup
The following two tabs change content below.
पुजा कुमारी ने बनारस हिंदू यूनिवर्सिटी से जर्नलिज्म एंड मास कम्युनिकेशन में एमए किया है। इन्होंने वर्ष 2015 में अपने... more

ताज़े आलेख