बाल बढ़ाने के लिए एक्यूप्रेशर पॉइंट्स – Acupressure Points For Hair Growth in Hindi

Written by , MA (Mass Communication) Kavita Singh MA (Mass Communication) linkedin_icon
 • 
 

हेयर फॉल और बाल न बढ़ने की समस्या को एक चिंता का विषय माना जा सकता है। वहीं, इस समस्या से पीड़ित व्यक्ति बाल बढ़ाने का सटीक इलाज पाना चाहते हैं और यही वजह है कि लोग कई तरह के कॉस्मेटिक प्रोडक्ट और मेडिकल ट्रीटमेंट में हजारों रुपए खर्च कर देते हैं। देखा जाए, तो कुछ आसान वैकल्पिक चिकित्सा पद्धति के जरिए हेयर ग्रोथ को बढ़ावा दिया जा सकता है। इसी क्रम में स्टाइलक्रेज के इस लेख में हम हेयर ग्रोथ के लिये एक्यूप्रेशर के फायदे बताने जा रहे हैं। यहां आप जान पाएंगे कि बाल बढ़ने के लिए एक्यूप्रेशर पॉइंट्स किस प्रकार काम कर सकते हैं। पूरी जानकारी के लिए इस लेख को अंत तक पढ़ें।

विस्तार से पढ़ें

आइये, जानें कि कैसे एक्यूप्रेशर बढ़ा सकता है बालो की ग्रोथ।

क्या एक्यूप्रेशर वाकई में हेयर ग्रोथ में मदद करता है? – Does Acupressure Really Help For Hair Growth?

हेयर ग्रोथ के लिये एक्यूप्रेशर एक कारगर ट्रीटमेंट हो सकता है। दरअसल, बालों की सही ग्रोथ के लिए ब्लड सर्कुलेशन का सही होना जरूरी है। एनसीबीआई (National Center for Biotechnology Information) की वेबसाइट पर प्रकाशित एक शोध में जिक्र मिलता है कि ब्लड सर्कुलेशन की कमी बाल झड़ने का कारण बन सकती है। वहीं, शोध में आगे जिक्र मिलता है कि बालों के रोम के विकास और उनकी मरम्मत के लिए सही ब्लड सप्लाई को होना जरूरी है (1)। वहीं, एक अन्य शोध में जिक्र मिलता है कि बालों के रोम (hair follicles) में ब्लड सर्कुलेशन की कमी गंजेपन का जोखिम बढ़ा सकती है (2)।

इस स्थिति में एक्यूप्रेशर के लाभ देखे जा सकते हैं, क्योंकि एक्यूप्रेशर ब्लड सर्कुलेशन को बढ़ावा देने का काम कर सकता है (3)। ऐसे में कहा जा सकता है कि शरीर में ब्लड सर्कुलेशन को बढ़ावा देकर एक्यूप्रेशर बाल बढ़ाने में मदद कर सकता है। हालांकि, सीधे तौर पर हेयर ग्रोथ के लिए एक्यूप्रेशर के फायदे से जुड़े शोध का अभाव है।

आगे पढ़ें

आइये, एक्यूप्रेशर मसाज के बारे में थोड़ी जानकारी हासिल कर लेते हैं।

एक्यूप्रेशर क्या है और एक्यूप्रेशर मसाज कैसे की जाती है? – How To Do An Acupressure Massage and What Is Acupressure?

एक्यूप्रेशर एक वैकल्पिक चिकित्सा पद्धति है, जिसकी उत्पत्ति चीन में हुई और यहां प्राचीन समय से इस पद्धति को चिकित्सा क्षेत्र में अपनाया जा रहा है। आज भारत समेत कई देशों में इस चिकित्सा पद्धति का इस्तेमाल और अभ्यास किया जा रहा है। एनसीबीआई की वेबसाइट पर प्रकाशित एक शोध के अनुसार, यह एक प्रकार का एक्यूपंचर है और ये दोनों ही शरीर में मौजूद विभिन्न एक्यूपॉइंट्स (ऊर्जा बिंदु) को एक्टिव करने के सिद्धांत पर आधारित हैं (4)।

आइये, नीचे जानते हैं कि एक्यूप्रेशर मसाज कैसे की जाती है :

हेयर ग्रोथ के लिए एक्यूप्रेशर मसाज आमतौर पर की जाने वाली मसाज के बिलकुल अलग है। इसके अंतर्गत शारीरिक समस्या से जुड़े किसी विशेष एक्यूपॉइंट पर दबाव बनाया जाता है, ताकि शारीरिक ऊर्जा के प्रवाह को बनाए रखा जा सके (4)। इसके लिए उंगलियों की नोक या एक्यूप्रेशर जिमी (प्रेशर बनाने के लिए इस्तेमाल होने वाला टूल) का इस्तेमाल किया जाता है। बालों को बढ़ाने के लिए कई एक्यूप्रेशर पॉइंट्स शरीर में मौजूद हैं, जिन पर दबाव बनाकर हेयर ग्रोथ को बढ़ावा दिया जा सकता है। अगर क्रमवार समझें, तो हेयर ग्रोथ के लिए एक्यूप्रेशर का निम्नलिखित तरीका हो सकता है :

  • एक्यूप्रेशर विशेषज्ञ सबसे पहले व्यक्ति को सुविधा अनुसार बैठने या लेटने के लिए कहेगा।
  • फिर समस्या से जुड़े जैसे हेयर ग्रोथ को बढ़ावा देने वाले एक्यूप्रेशर पॉइंट्स पर धीरे-धीरे दबाव बनाया जाएगा। जैसा कि हमने ऊपर बताया कि यह दबाव
  • उंगलियों के जरिए भी बनाया जा सकता है या खास एक्यूप्रेशर जिमी की मदद से भी।
  • कुछ सेकंड या मिनट तक यह दबाव बनाने की प्रक्रिया जारी रखी जाएगी।
  • फिर कुछ दिनों या हफ्तों तक यह प्रक्रिया दोहराई जा सकती है।
  • कुछ इस प्रकार की जाती है हेयर ग्रोथ के लिए एक्यूप्रेशर मसाज।

जारी रखें पढ़ना

आगे जानिये बाल बढ़ाने के लिए एक्यूप्रेशर पॉइंट्स किस प्रकार सहायक हैं।

एक्यूप्रेशर की मदद से कैसे हेयर फॉल से छुटकारा पाएं? – How To Get Rid Of Hair Fall With Acupressure

बाल बढ़ाने के लिए एक्यूप्रेशर पॉइंट्स पर मसाज करने से बालों के झड़ने की समस्या कम हो सकती है और हेयर ग्रोथ को बढ़ावा मिल सकता है। नीचे जानिए बाल बढ़ाने के लिए एक्यूप्रेशर पॉइंट्स जिनकी मदद से हेयर फॉल से छुटकारा पाने में मदद मिल सकती है।

नोट : बालों के लिए एक्यूप्रेशर पॉइंट्स से जुड़े वैज्ञानिक शोध की कमी है। फिर भी हम नीचे बालों के विकास के लिए कारगर माने जाने वाले कुछ एक्यूप्रेशर पॉइंट्स के बारे में बता रहे हैं। इस बात का ध्यान रखें कि ये सिर्फ जानकारी हेतु हैं। बालों के लिए एक्यूप्रेशर ट्रीटमेंट किसी एक्यूप्रेशर विशेषज्ञ से ही लें। वहीं, बिना एक्यूप्रेशर विशेषज्ञ के इन एक्यूप्रेशर पॉइंट्स पर दबाव न बनाएं। अब पढ़ें नीचे :

  1. LI1 : यह एक्यू पॉइंट तर्जनी उंगली के नाखून के कोने में (अंगूठे की ओर) मौजूद होता है। रोजाना कुछ मिनट तक इस बिंदु पर प्रेशर देने से झड़ते बालों की समस्या से निजात मिल सकता है।
  1. LU6 : यह बिंदु कलाई और कोहनी के बीच मौजूद होता है। इसे रोजाना दबाने से भी हेयर ग्रोथ को बढ़ावा मिल सकता है।
  1. LU9 : यह अंगूठे के नीचे कलाई में होता है, यह ब्लड सर्कुलेशन में मददगार हो सकता है, जिससे बाल झड़ने की समस्या को कम करने में मदद मिल सकती है।
  1. B13 : यह पॉइंट शोल्डर ब्लेड और स्पाइन के बीच होता है। इस पॉइंट पर प्रेशर देने से बॉडी को तो आराम मिलता ही है, साथ ही ब्लड सर्कुलेशन को बढ़ावा मिल सकता है, जिससे हेयर ग्रोथ को बढ़ावा मिल सकता है
  1. GV12 और GV14 : ये दोनों पॉइंट्स हेयर ग्रोथ को बढ़ावा देने में सहायक हो सकते हैं। GV12 शोल्डर ब्लेड्स के बीच में स्थित होता है और GV14 गर्दन के पीछे होता है।
  1. पैहुई (Paihui) : यह एक्यूप्रेशर पॉइंट भी बालों के विकास में मददगार हो सकता है। यह बिंदु सिर के ऊपर के भाग में होता है। इसके लिए नाक से एक काल्पनिक रेखा बनाएं और कानों से भी काल्पनिक रेखाएं बनाएं। इन्हें सिर के ऊपर तक लेकर जाएं, जहां ये रेखाएं मिलेंगी, उसे ही पैहुई पॉइंट कहते हैं। यह एक्यूपॉइंट भी बालों के विकास में सहायक हो सकता है।

लेख को अंत तक पढ़ें

नीचे पढ़ें एक्यूप्रेशर कैसे बढ़ाता है हेयर ग्रोथ।

कैसे काम करता है एक्यूप्रेशर? – How Does Acupressure Work?

जैसा कि हमने ऊपर बताया कि ब्लड सर्कुलेशन की कमी बालों के विकास में बाधा डाल सकती है और बाल झड़ने की समस्या उत्पन्न कर सकती है (1) (2)। वहीं, बाल बढ़ाने के लिए एक्यूप्रेशर पॉइंट्स ब्लड सर्कुलेशन में सुधार कर बालों के विकास में सहयोग कर सकते हैं (3)। इसके लिए ऊपर बताए गए बाल बढ़ाने के लिए एक्यूप्रेशर पॉइंट्स मददगार साबित हो सकते हैं। कुछ इस प्रकार हेयर ग्रोथ में मदद कर सकता है एक्यूप्रेशर।

पढ़ना जारी रखें

आगे पढ़ें एक्यूपॉइंट्स को उत्तेजित करने के कुछ तरीके।

एक्यूपॉइंट्स को उत्तेजित करने की विभिन्न प्रक्रिया – Methods To Stimulate Acupoints in Hindi

अब बात करते हैं एक्यूपॉइंट्स को उत्तेजित करने वाले कुछ तरीकों की, जो बालों के विकास में मददगार साबित हो सकते हैं :

1. डीप टिश्यू मसाज (Deep Tissue Massage) : यह एक प्रकार की मसाज थेरेपी है, जिसमें मांसपेशियों और कनेक्टिव टिश्यू पर ध्यान दिया जाता है। इसमें प्रेशर के साथ धीरे-धीरे टिश्यू मसाज की जाती है। इस मसाज का ज्यादा उपयोग मांसपेशियों में ऐंठन व क्रॉनिक पेन के लिए किया जाता है। ब्लड सर्कुलेशन में भी यह मसाज मददगार हो सकती है (5)।

2. लेजर एक्यूपंक्चर (Laser Acupuncture) : यह एक्यूपंक्चर का एक आधुनिक तरीका है, जिसमें नॉन थर्मल और लो इंटेंसिटी लेजर के जरिए एक्यूपॉइंट्स को उत्तेजित किया जाता है (6)। जो लोग नीडल के जरिए एक्यूपंक्चर नहीं करवाना चाहते हैं, वो डॉक्टर की सलाह पर एक्यूपंक्चर विशेषज्ञ से यह ट्रीटमेंट ले सकते हैं।

3. कपिंग थेरेपी (Cupping Therapy) – यह भी एक प्रकार की वैकल्पिक थेरेपी है। इसमें छोटे-छोटे कप्स को त्वचा पर रखा जाता है, जो स्किन को अपनी ओर खींचने का काम करते हैं। इससे नेगेटिव प्रेशर उत्पन्न होता है। इस थेरेपी को भी प्राचीन समय से इस्तेमाल में लाया जा रहा है। यह थेरेपी भी ब्लड सर्कुलेशन में मददगार हो सकती है (7)।

4. गुआ शा थेरेपी (Gua Sha Therapy) : यह एक खास तरह की थेरेपी है, जिसमें किसी खास चीज से त्वचा को खुरचा जाता है, इससे त्वचा पर लाल खरोंच के हल्के निशान भी बन जाते हैं। यह थेरेपी त्वचा के इम्यून फंक्शन में सुधार का काम कर सकती है (8)। वहीं, माना जाता है कि इससे भी बल्ड सर्कुलेशन में सुधार करने में मदद मिल सकती है। फिलहाल, इस विषय पर अभी और शोध की आवश्यकता है।

हेयर ग्रोथ के लिए एक्यूप्रेशर किस प्रकार मददगार हो सकता है, अब आप अच्छी तरह समझ गए होंगे। वहीं, इस बात पर जरूर ध्यान दें कि यह एक वैकल्पिक थेरेपी है और हेयर ग्रोथ के लिए इसके सीधे प्रभाव पर सटीक शोध का अभाव है। इसलिए, बाल बढ़ाने के लिए एक्यूप्रेशर पॉइंट्स मसाज लेने से पहले डॉक्टरी सलाह जरूर लें और इस थेरेपी को किसी एक्यूप्रेशर विशेषज्ञ से ही लें। इसके अलावा, अपने दैनिक आहार में संतुलित भोजन को शामिल करें और रोजाना व्यायाम करें। उम्मीद करते हैं कि यह लेख आपके लिए मददगार रहा होगा।

अक्सर पूछे जाने वाले सवाल :

एक्यूप्रेशर का परिणाम दिखने में कितना समय लग जाता है?

इस बारे में सटीक नहीं कहा जा सकता है, क्योंकि इस विषय में शोध का अभाव है। अच्छा होगा इस विषय में एक बार एक्यूप्रेशर विशेषज्ञ से बात करें।

क्या नाखूनों को आपस में रगड़ने से बाल लंबे होते हैं?

नाखूनों को आपस में रगड़ना एक योग क्रिया है, जिसे बालायाम योग के नाम से जाना जाता है। माना जाता है कि इसका नियमित अभ्यास बालों को बढ़ाने में मदद कर सकता है (9)।

References

Articles on StyleCraze are backed by verified information from peer-reviewed and academic research papers, reputed organizations, research institutions, and medical associations to ensure accuracy and relevance. Read our editorial policy to learn more.

  1. Anatomy, Hair,
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/books/NBK513312/#:~:text=As%20the%20hair%20follicle%20develops,some%20forms%20of%20hair%20loss
  2. Subcutaneous blood flow in early male pattern baldness,
    https://pubmed.ncbi.nlm.nih.gov/2715645/
  3. Acupressure,
    https://main.ayush.gov.in/about-the-systems/naturopathy/techniques-and-benefits-different-modalities-naturopathy/acupressure
  4. Contemporary acupressure therapy: Adroit cure for painless recovery of therapeutic ailments,
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC5388088/#:~:text=In%20acupressure%2C%20muscular%20tension%20is,flow%20of%20the%20physiological%20energy
  5. Comparison of Deep Tissue Massage and Therapeutic Massage for Lower Back Pain, Disease Activity, and Functional Capacity of Ankylosing Spondylitis Patients: A Randomized Clinical Pilot Study,
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC5563410/
  6. Laser Acupuncture: A Concise Review,
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC6604908/
  7. Cupping Therapy,
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/books/NBK538253/
  8. Gua Sha, a press-stroke treatment of the skin, boosts the immune response to intradermal vaccination,
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC5028785/
  9. Effects of Reflexology Massage on Hair Regrowth After Chemotherapy-induced Alopecia Among Women with Cancer: A Randomised Clinical Trial,
    http://cms.galenos.com.tr/Uploads/Article_39939/BezmialemScience-8-215-En.pdf
Was this article helpful?
thumbsupthumbsdown
Kavita Singh

Kavita Singhब्यूटी एंड लाइफस्टाइल राइटर

कविता सिंह ने पंजाब तकनीकी विश्वविद्यालय से मास कम्युनिकेशन में स्नातक हैं। इन्होंने वर्ष 2014 में एक प्रख्यात न्यूज चैनल से अपने करियर की शुरुआत की थी। उसके बाद कविता ने ऑनलाइन मीडिया की तरफ रुख किया और विभिन्न मीडिया संस्थानों में कंटेंट राइटर के तौर पर अपनी सेवाएं देती रहीं। इन्हें अपने पसंदीदा विषय त्वचा और बालों की देखभाल...read full bio

ताज़े आलेख