बालों के लिए चावल के पानी का उपयोग – How To Use Rice Water For Hair in Hindi

हर महिला की चाहत होती है कि उसके बाल काले, लंबे और घने हों। इसके लिए वो कई जतन और तरीके आजमाती हैं। वो बात और है कि ये तरीके अक्सर कारगर साबित नहीं होते। ऐसे में अगर कुछ घरेलू उपाय आजमाए जाएं, तो आपके बालों में निखार व प्राकृतिक चमक आना तय है। इस लेख में हम ऐसे ही घरेलू उपाय यानी चावल के पानी के बारे में आपको बता रहे हैं। एक गिलास चावल का पानी आपके बालों को खूबसूरत बनाने के लिए काफी है। सबसे अच्छी बात यह है कि इसे आसानी से घर में बनाकर इस्तेमाल किया जा सकता है। इसलिए, हम आपको स्टाइलक्रेज के इस लेख में चावल का पानी बनाने और उसे इस्तेमाल करने के तरीके के बारे में बता रहे हैं।

विषय सूची


सबसे पहले बात करते हैं कि चावल का पानी होता क्या है।

क्या है चावल का पानी?

यह तो आप जानते ही होंगे कि चावल बनाते कैसे हैं। आप चावल बनाने से पहले उसे थोड़ी देर के लिए पानी में भिगोकर रख देते हैं और बाद में पानी को छानकर चावल बनाते हैं। अब अगली बार जब आप चावल को भिगोने के बाद उसे छानने लगें, तो पानी को फेंके नहीं, क्योंकि यही चावल का पानी आपकी त्वचा और आपके बालों के लिए फायदेमंद होता है।

चावल का पानी हल्का दूधिया तरल पदार्थ जैसा दिखता है और पानी का ऐसा रंग चावल से निकलने वाले मांड (starch) की वजह से है। इसे आप पी भी सकते हैं, क्योंकि यह विटामिन और मिनरल से भरपूर होता है (1)। चावल का पानी आपकी त्वचा में कसावट ला सकता है और आपके बालों को स्वस्थ कर सकता है। यह आपके शरीर में रक्त प्रवाह में सुधार ला सकता है, त्वचा की कोशिकाओं को बेहतर कर त्वचा को जवां और खूबसूरत दिखा सकता है। साथ ही यह शुष्क त्वचा की समस्या के लिए भी उपयोगी हो सकता है। इतना कुछ जानने के बाद अब आप यह भी जानना चाहते होंगे कि चावल के पानी का उपयोग कैसे किया जाए? इसके बारे में भी हम नीचे आपको बता रहे हैं।

बालों के लिए चावल के पानी के इस्तेमाल का इतिहास

चीनी में ‘हुआंग्लुओ’ (Huangluo) नाम से एक गांव है, जिसे रपुन्ज़ल की भूमि के नाम से भी जाना जाता है। वहां रेड याओ (Red Yao) नाम का कबीला रहता है। इस गांव की महिलाएं वर्षों से चावल के पानी से अपने बाल धोती आ रही हैं, जिस कारण इनके बाल बेहद लंबे हैं। इन महिलाओं ने वर्ल्ड रिकॉर्ड तक बनाया हुआ है। इस गांव का नाम गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड में ‘दुनिया का सबसे लंबा बालों वाला गांव’ के रूप में दर्ज है।

कुछ ऐसी ही कहानी एक अन्य देश की भी है। 800 ईसवी में जापानी शाही राजघराने की महिलाएं अपने खूबसूरत लंबे बालों के लिए जानी जाती थीं। वो भी अपने बाल चावल के पानी से धोती थीं। यह परंपरा पीढ़ी दर पीढ़ी चलती गई। अब जब इंटरनेट के कारण कई प्रथाओं और पुराने नुस्खों का आदान-प्रदान होता है, तो हम भी बालों के लिए चावल का पानी उपयोग करने के कई तरीके लेकर आए हैं।

क्या बालों के लिए फायदेमंद है चावल का पानी?

हां, चावल का पानी आपके बालों के लिए उत्तम है। अब सवाल यह उठता है कि इसमें ऐसा क्या है, जो यह बालों के लिए इतना लाभकारी है। अध्ययन से पता चलता है कि चावल के पानी में इनोसिटोल (inositol) और कार्बोहाइड्रेट होता है, जो आपके रूखे, बेजान और खराब बालों को ठीक करता है (2)। जब आप बालों को चावल के पानी से धो लेते हैं, तो उसके बाद इनोसिटोल ( inositol ) बालों में ढाल या परत के रूप में काम करता है और उनकी क्षति होने से बचाता है। इसके अलावा, चावल के पानी में एमिनो एसिड भी पाया जाता है, जो बालों की जड़ों को मजबूत कर उन्हें घना, मुलायम और चमकदार बनाता है (3)। इस प्रकार हम कह सकते हैं कि चावल का पानी आपके बालों के लिए फायदेमंद, प्राकृतिक, सुरक्षित और इसके कोई साइड इफेक्ट भी नहीं है। यह आपके बालों को स्वस्थ और सुंदर बनाता है।

इस लेख में आगे हम बताएंगे कि चावल का पानी कैसे बनाएं और इसका इस्तेमाल कैसे करें।

सादा चावल का पानी या फर्मेंटेड चावल का पानी – कौनसा ज्यादा बेहतर है?

चावल का पानी मुख्य रूप से दो प्रकार का होता है एक सादा और दूसरा फर्मेंटेड चावल का पानी। अब सवाल यह उठता है कि दोनों में से बेहतर कौन है? इस लेख में हम आपको इस बारे में भी जानकारी दे रहे हैं।

चावल के सादे पानी का पीएच स्तर बालों के पीएच के स्तर से ज्यादा होता है (4)। वहीं, फेर्मेंटेशन से चावल के पानी का पीएच स्तर कम होता है और यह बालों की जड़ों में जाकर छिद्रों को बंद कर देता है। इससे बाल सुरक्षित और मजबूत होते हैं। चावल के पानी को फर्मेंट करने से इसमें मौजूद विटामिन और पोषक तत्वों का स्तर बढ़ जाता है, जो आपके बालों अच्छे से पोषण देते हैं। यह आपके बालों को स्वस्थ रखता है और बालों में चमक लाता है।

इसके अलावा, चावल के पानी को फर्मेंट करते समय इसमें पिटेरा (pitera) नाम का पदार्थ बनता है, जिसमें भरपूर मात्रा में विटामिन, खनिज, एमिनो एसिड और कार्बनिक एसिड होता है (5)। पिटेरा कोशिकाओं को फिर से पोषित करने में सहयोग कर सकता है और त्वचा व बालों को स्वस्थ बना सकता है।

फर्मेंटेड चावल का पानी एसिडिक होता है। जब आप इससे बालों को धोते हैं, तो यह आपके बालों का पीएच स्तर संतुलित रखता है। फर्मेंटेड चावल का पानी, सादे चावल के पानी के गुणों को बढ़ा देता है और आप इन दोनों में से किसी का भी इस्तेमाल कर सकते हैं। यह आप पर और आपके बालों की स्थिति पर निर्भर करता है कि आप कौन-सा चावल का पानी इस्तेमाल करना चाहते हैं।

अब इतनी जानकारी के बाद समय आ गया है, यह जानने का कि चावल का पानी कैसे बनाएं।

चावल का पानी बनाने की विधि या चावल का पानी कैसे बनाएं?

इस लेख में हम आपको चावल का पानी बनाने की दो आसान विधियां बता रहे हैं।

1. उबले चावल का पानी

उबले चावल का पानी क्या है ?

जब आप चावल को उबलते हैं, तो उसके बाद जो पानी बच जाता है, उसे उबले चावल का पानी कहते हैं। इस पानी से आप मुंह और बाल धो सकते हैं।

उबले चावल का पानी कैसे बनाएं?
  • एक पतीले में चावल लें (आप सफेद, भूरा या बासमती किसी भी प्रकार का चावल ले सकते हैं)
  • इसमें आम दिनों के मुकाबले ज्यादा पानी डालें (आमतौर पर आप चावल पकाते समय जितना पानी लेते हैं उससे ज्यादा पानी लें)
  • अब चावल को थोड़ी देर उबलने दें।
  • यह पानी थोड़ा दूधिया रंग का होगा और बालों के लिए बेहतरीन कंडीशनर की तरह काम करेगा।
चावल के पानी का उपयोग कैसे करें?
  • एक मग चावल का पानी लें और इसमें कुछ बूंदें रोजमेरी, लैवेंडर या कैमोमाइल एसेंशियल ऑइल की मिलाएं।
  • अब अपने बालों पर शैंपू लगाएं और ऊपर से चावल का पानी डाल दें। इसे करीब 5 से 20 मिनट तक रखें या फिर जितनी देर आप चाहें।
  • इस दौरान बालों और स्कैल्प की हल्के-हल्के हाथों से मसाज करते रहें।
  • फिर थोड़े देर बाद अपने बालों को पानी से धो लें।
  • अच्छे परिणाम के लिए ऐसा हफ्ते में कम से कम एक बार जरूर करें।

2. फर्मेंटेड चावल का पानी

फर्मेंटेड चावल का पानी वो होता है, जिसे कुछ वक्त के लिए फर्मेंटेशन यानी खमीर उठने के लिए रख दिया जाता है। फेर्मेंटेशन से चावल के पानी का गुण और ज्यादा बढ़ जाता है। इसे इस्तेमाल करने से पहले पानी में मिलाकर थोड़ा पतला भी करना पड़ता है।

कैसे बनाएं फर्मेन्टेड चावल का पानी ?
  • आधा कप कच्चे चावल लें और उसे दो कप पानी में भिगो दें। इसे 15 से 30 मिनट के लिए रख दें।
  • अब चावल को छानकर पानी को अलग कर दें।
  • अब इस पानी को एक जार में निकाल लें और एक या दो दिनों के लिए सामान्य तापमान में रहने दें।
  • जब आपको इस पानी से खट्टी महक आने लगे, तो इसे फ्रिज में रख दें।
  • फिर जब आप इसे उपयोग करें, तो उससे पहले इसमें एक या दो कप पानी मिला लें।
  • बिना पानी मिलाएं इसे उपयोग न करें।
फर्मेन्टेड चावल का पानी कैसे उपयोग करें ?
  • आप इसे हेयर मास्क की तरह इस्तेमाल कर सकते हैं। नीचे हम हेयर मास्क बनाने की विधि आपके साथ शेयर कर रहे हैं।
  • पर्याप्त मात्रा में सरसों का पाउडर फर्मेंटेड चावल के पानी में मिलाकर पेस्ट बना लें।
  • फिर इसमें थोड़ा जैतून का तेल मिलाएं।
  • अब इस पेस्ट को स्कैल्प में लगा लें, ध्यान रहे कि इस पेस्ट को आप बालों में न फैलाएं।
  • इस मास्क को 15 मिनट के लिए सूखने दें फिर शैंपू कर लें।

अब जब आप चावल का पानी बनाने की विधि जान गए हैं, तो अब बारी है इसके फायदे जानने की।

बालों के लिए चावल के पानी के फायदे

चावल के पानी में इनोसिटोल (inositol) होता है, जो एक तरह का कार्बोहाइड्रेट होता है। यह बालों को मजबूत और घना बनाता है। नीचे हम बालों के लिए चावल के पानी के कुछ बेहतरीन लाभ आपको बता रहे हैं।

1. बालों के बढ़ने में मददगार

बालों का झड़ना कम करने के लिए और बालों को बढ़ाने के लिए चावल का पानी एक उत्तम उपाय हो सकता है। चावल में एमिनो एसिड मौजूद होते हैं (6)। माना जाता है कि बालों को बढ़ाने में एमिनो एसिड उपयोगी हो सकते हैं। बालों को बढ़ाने के लिए आप बाल धोने के बाद चावल के पानी से एक बार फिर बालों को धो सकते हैं। आप इस प्रक्रिया को हफ्ते में दो बार कर सकते हैं। हालांकि, इस विषय में अभी वैज्ञानिक अध्ययनों की कमी है। लेकिन, यह एक सुरक्षित उपाय है इसलिए परीक्षण के तौर पर इसका उपयोग किया जा सकता है।

2. दो मुंहे बालों को कम करता है

बालों पर तरह-तरह के स्टाइल और शैंपू इस्तेमाल करने से बाल रूखे और बेजान तो होते ही हैं, साथ ही दो मुंहे भी होने लगते हैं। इससे बालों के ग्रोथ पर असर पड़ता है और बालों का आकर्षण भी खोने लगता है। ऐसे में आपके बालों को भरपूर मात्रा में प्रोटीन चाहिए होता है, जो चावल के पानी में आसानी से उपलब्ध है। चावल के पानी में मौजूद एमिनो एसिड और स्टार्च क्षतिग्रस्त बालों को ठीक कर सकता है।

अपने दो मुंहे बालों को चावल के पानी से भिगोकर 15-20 मिनट छोड़ दें और फिर धो लें। हर कुछ दिनों में ऐसा करने से आपको अपने बालों में सुधार दिखने लगेगा।

3. बाल धोने के काम आता है

शैंपू करने के बाद कंडीशनर के बदले अगर आप चावल के पानी से बाल धोएंगे, तो यह आपके बालों को घना व मुलायम बनाएगा। इसके अलावा, यह आपके बालों को नर्म, मजबूत और स्वस्थ भी बनाएगा।

4. बालों को खराब होने से बचाता है

चावल का पानी स्कैल्प को पोषण प्रदान करता है और बालों में लचीलापन बढ़ाता है। इसमें इनोसिटोल (inositol) नामक कार्बोहाइड्रेट होता है, जो खराब बालों को ठीक करता है और उन्हें सुरक्षित रखता है (7)। यह दूसरे घरेलू उपायों से अलग इसलिए है, क्योंकि इसमें मौजूद इनोसिटोल (inositol) बाल धोने के बाद भी बालों के लिए रक्षा कवच का काम करता है और बालों को नुकसान होने से बचाता है।

5. बालों को मुलायम और जड़ों को मजबूत बनाता है

चमकदार बालों के साथ-साथ उनकी मजबूती भी जरूरी है। चावल के पानी में एमिनो एसिड होता है, जिससे बालों में चमक आती है और मुलायम बनते हैं। इसके अलावा, यह बालों की जड़ों को भी मजबूत बनाता है।

6. डैंड्रफ से छुटकारा दिलाता है

डैंड्रफ यानी रूसी बहुत ही सामान्य समस्या है, लेकिन अगर वक्त रहते इस पर ध्यान न दिया जाए, तो इससे बाल खराब भी हो सकते हैं। इसके अलावा, डैंड्रफ कभी-कभी शर्मिंदगी की वजह भी बन जाता है। कई बार इससे स्कैल्प में खुजली या जलन भी होने लगती है। ऐसे में अगर नियमित तौर से चावल के पानी से बाल धोए जाएं, तो यह डैंड्रफ को कम कर सकता है (8)। इसके नियमित इस्तेमाल से आपको फर्क नजर आ सकता है। हालांकि, अगर किसी को रूसी की गंभीर समस्या हो, तो चावल के पानी का उपयोग कुछ खास असरदार न हो।

7. बालों को मुलायम और चमकदार बनाता है

आजकल लगभग हर किसी को मुलायम और चमकदार बालों की चाहत होती है। इसके लिए लोग कई तरह के स्टाइल और शैंपू का उपयोग करते हैं, लेकिन इनका असर ज्यादा देर तक नहीं रहता है। इसलिए, आप चावल के पानी का हेयर मास्क इस्तेमाल करें। इसे बालों पर लगाकर 15 मिनट के छोड़ दें और फिर पानी से धो लें। इसे लगाने के बाद आप शैंपू और कंडीशनर का उपयोग कर सकते हैं। अगर आप चावल के पानी में गुलाब जल मिला देंगे, तो आपको और बेहतर परिणाम मिल सकते हैं।

8. जुओं के लिए

कई बार बच्चों और बड़ों के सिर में जुएं हो जाती हैं। ऐसे में माना जाता है कि जुओं के लिए चावल का पानी उपयोगी हो सकता है। मानना है कि चावल के पानी में मौजूद स्टार्च जुओं को आसानी से मार सकता है। हालांकि, इस विषय पर कोई वैज्ञानिक प्रमाण उपलब्ध नहीं है और यह बस लोगों की धारणा के आधार पर है।

9. कंडीशनर के तौर पर इस्तेमाल कर सकते हैं

शैंपू करने के बाद कंडीशनर लगाना भी जरूरी होता है, लेकिन कई बार कंडीशनर महंगे होते हैं या बालों के हिसाब से कंडीशनर चुनना मुश्किल होता है। ऐसे में अगर आपको सस्ता और अच्छा घरेलू कंडीशनर उपयोग करना है, तो चावल के पानी से बेहतर कुछ नहीं हो सकता। चावल के पानी में थोड़ा-सा रोजमेरी, लैवेंडर या जिरेनियम का तेल मिलाएं और आपका कंडीशनर तैयार है। इस मिश्रण को अपने पूरे बालों पर लगाएं और 10 से 30 मिनट के लिए लगा रहने दें और फिर ठंडे पानी से धो लें। चावल का पानी आपके बालों को न सिर्फ रिपेयर और स्वस्थ बनाता है, बल्कि मजबूत भी करता है (9)।

चावल के पानी से बाल धोने के टिप्स

चावल के पानी से बाल धोते वक्त आपको कुछ बातों को ध्यान रखना जरूरी है। चावल के पानी में सैपोनिन (saponin) होता है, जो बालों को साफ करने के काम आता है। इसे और असरदार बनाने के लिए आप इसमें एक चम्मच आंवला, नींबू या शिकाकाई मिला सकते हैं। आप चाहें तो इसमें ग्रीन-टी भी मिला सकते हैं। इससे आपके बालों में चमक और मजबूती आएगी और बाल झड़ने कम होंगे।

अक्सर पूछे जाने वाले सवाल

क्या चावल के पानी को रातभर बालों में लगाकर रखा जा सकता है ?

यह जरूरी नहीं है। 15 से 30 मिनट की अवधि काफी है। चावल के पानी में मौजूद कार्बोहाइड्रेट बाल धोने के बाद भी बालों के लिए सुरक्षा कवच का काम करता है।

क्या चावल के पानी को पी सकते हैं?

हां, चावल के पानी के फायदे सिर्फ बालों के लिए ही नहीं हैं, बल्कि स्वास्थ्य के लिए भी होते हैं।

इससे पहले कि आप चावल के पानी का उपयोग करें, हम आपको यह बता दें कि चावल के पानी की गंध शायद आपको अच्छी न लगे, खासकर फर्मेंटेड चावल के पानी की। बेशक, यहां चावल के पानी के जो फायदे बताएं गए हैं, उसका कोई प्रमाण नहीं है, लेकिन हमने इसे लोगों के अनुभव के आधार पर आपके साथ साझा किया है। यह एक आसान और सुरक्षित नुस्खा है। हालांकि, सावधानी के तौर पर इसके उपयोग से पहले पैच टेस्ट भी जरूर करें। तो, बिना देर करते हुए आप भी इसका उपयोग करें और इस लेख को दूसरों के साथ भी जरूर शेयर करें।

9 संदर्भ (Sources)

Stylecraze has strict sourcing guidelines and relies on peer-reviewed studies, academic research institutions, and medical associations. We avoid using tertiary references. You can learn more about how we ensure our content is accurate and current by reading our editorial policy.

और पढ़े:

Was this article helpful?
The following two tabs change content below.

Arpita Biswas

अर्पिता ने पटना विश्वविद्यालय से मास कम्यूनिकेशन में स्नातक किया है। इन्होंने 2014 से अपने लेखन करियर की शुरुआत की थी। इनके अभी तक 1000 से भी ज्यादा आर्टिकल पब्लिश हो चुके हैं। अर्पिता को विभिन्न विषयों पर लिखना पसंद है, लेकिन उनकी विशेष रूचि हेल्थ और घरेलू उपचारों पर लिखना है। उन्हें अपने काम के साथ एक्सपेरिमेंट करना और मल्टी-टास्किंग काम करना पसंद है। इन्हें लेखन के अलावा डांसिंग का भी शौक है। इन्हें खाली समय में मूवी व कार्टून देखना और गाने सुनना पसंद है।

ताज़े आलेख

scorecardresearch