बालों के लिए करी पत्ते के फायदे और उपयोग – Benefits of Curry Leaves For Hair Growth in Hindi

by

दुनिया भर में कई जड़ी-बूटियां और प्राकृतिक संसाधन मौजूद हैं। बेशक, हम इनका इस्तेमाल वर्षों से कर रहे हैं, लेकिन इनके कई गुणों से अनजान हैं। इन्हीं प्राकृतिक संसाधनों में से एक है करी पत्ता। हालांकि, इसका ज्यादा उपयोग खाने में किया जाता है, लेकिन क्या आप जानते हैं कि आपके आहार में तड़का लगाने के लिए मशहूर करी पत्ता बालों के लिए भी फायदेमंद है। प्रोटीन, विटामिन और बीटा-कैरोटीन जैसे पोषक तत्वों से भरपूर करी पत्ता बालों को मजबूत करता है और उन्हें लंबा, घना व खूबसूरत बनाता है। साथ ही यह एंटीऑक्सीडेंट, एंटी-डायबिटिक, एंटी-हिस्टामिनिक, एंटी-कार्सिनोजेनिक और एंटी-बैक्टीरियल जैसे गुणों का अच्छा स्रोत है (1)। स्टाइलक्रेज के इस आर्टिकल में हम बालों के लिए करी पत्ता के फायदों की बात करेंगे।

आर्टिकल के इस हिस्से में हम जानेंगे कि बालों के लिए करी पत्ता कैसे फायदेमंद हो सकता है।

बालों के लिए करी पत्ते के फायदे – Benefits of Curry Leaves for Hair in Hindi

आयुर्वेद में इस करी पत्ते का उपयोग कई प्रकार की बीमारियों के उपचार में किया जाता है। यहां हम जानेंगे कि इसका उपयोग बालों के लिए किस प्रकार फायदेमंद हो सकता है।

1. बालों के विकास के लिए

Shutterstock

करी पत्ता प्रोटीन और आयरन का अच्छा स्रोत है (1)। ये दोनों ही पोषक तत्व बालों के लिए जरूरी हैं। ये बालों को जड़ों से मजबूत कर उन्हें बढ़ने में मदद करते हैं (2)। आइए, जानते हैं कि इसका उपयोग हम बालों के विकास के लिए कैसे कर सकते हैं :

सामग्री :

  • एक मुट्ठी ताजा करी पत्ते
  • 2-3 बड़े चम्मच नारियल तेल

कैसे करें उपयोग :

  • एक पैन में नारियल तेल और करी पत्ते को डालें।
  • तेल को तब तक गर्म करें, जब तक कि आपको पत्तियों के चारों ओर कालापन दिखाई न दें। तेल के छींटों से बचने के लिए पैन से थोड़ा दूर खड़े रहें।
  • जब पत्तियों में कालापन नजर आने लगे, तो गैस को बंद कर दें और मिश्रण को ठंडा होने दें।
  • ठंडा होने के बाद तेल को बालों की जड़ों में लगाएं और फिर उंगलियों से धीरे-धीरे मालिश करें।
  • फिर इसे एक घंटे के लिए ऐसे ही छोड़ दें और फिर शैम्पू से धो लें।

कब करें उपयोग :

जल्दी फायदा पाने के लिए आप इसका उपयोग हफ्ते में एक बार बाल धोने से पहले कर सकते हैं।

2. बालों को लंबा और मजबूत करने के लिए

Shutterstock

करी पत्ते प्रोटीन से युक्त होते हैं (1)। प्रोटीन कमजोर बालों की जड़ों में पर्याप्त पोषण देते हैं, जिससे बाल लंबे और मजबूत होते हैं। इसके अलावा, ये बालों को पतला होने से भी रोकने में मदद करते हैं (3)।

सामग्री :

  • मुट्ठी भर करी पत्ते
  • 3 बड़े चम्मच दही

कैसे करें उपयोग :

  • करी पत्तों और दही को ब्लेंडर में डालें और गाढ़ा व चिकना पेस्ट बना लें।
  • फिर इस हेयर मास्क को अपने स्कैल्प और बालों की जड़ों में लगाकर हल्के-हल्के हाथों से मालिश करें।
  • इसे करीब 30 मिनट के लिए छोड़ दें और फिर शैम्पू से धो लें।

कब करें उपयोग :

आप इसका उपयोग हफ्ते में एक से दो बार नहाने से पहले कर सकते हैं।

3. सफेद बालों की रोकथाम के लिए

Shutterstock

करी पत्ते के अर्क में कई औषधीय गुण पाए जाते हैं, जो बालों के लिए फायदेमंद हाे सकते हैं। इसके औषधीय गुण आपके बालों को सफेद होने से भी रोक सकते हैं। जिससे बालों को उनका प्राकृतिक रंग फिर से मिल सकता है (5)।

सामग्री :

  • 1 चम्मच करी पत्ते का तेल
  • आधा चम्मच नारियल का तेल

कैसे करें उपयोग :

  • दोनों तेल को आपस में मिला लें।
  • फिर इस मिश्रण को बालों में लगाकर मसाज करें और करीब आधे घंटे बाद शैंपू कर लें।

कब करें उपयोग :

आप जब भी आप बाल धोएं, तो उससे पहले इस मिश्रण का उपयोग कर सकते हैं।

4. डैंड्रफ से बचने के लिए

Shutterstock

करी पत्ते में एंटीफंगल गुण होते हैं, जो डैंड्रफ और रूखेपन से बालों की रक्षा करते हैं। इसलिए, डैंड्रफ से बचने के लिए करी पत्ते का उपयोग फायदेमंद हो सकता है (6)।

सामग्री :

  • 1 चम्मच करी पत्ता का तेल
  • कपूर के तेल की कुछ बूंदें

कैसे करें उपयोग :

  • दोनों तेलों को अच्छी तरह से मिलाएं।
  • इस मिश्रण से अपने बालों में हल्के-हल्के हाथों से मसाज करें।
  • इसके बाद शैंपू से बालों को धो लें।

कब करें उपयोग :

आप इसका उपयोग 15 दिन में एक बार नहाने से पहले कर सकते हैं।

5. स्कैल्प के संक्रमण को रोकने के लिए

Shutterstock

बालों के झड़ने और बैक्टीरिया के प्रभाव से स्कैल्प संक्रमित हो जाता है। जैसा कि ऊपर बताया गया है कि करी पत्ते में एंटीबैक्टीरियल गुण होते हैं और ये बालों को झड़ने से भी रोकते हैं (7)। करी पत्ते के इस गुण के कारण त्वचा में मौजूद बैक्टीरिया को साफ किया जा सकता है और स्कैल्प के संक्रमण को रोका जा सकता है।

सामग्री :

  • 1 चम्मच करी पत्ते का तेल
  • 1 चम्मच नारियल तेल
  • आधा चम्मच कपूर तेल

कैसे करें उपयोग :

  • इन सभी तेलों को आपस में अच्छी तरह से मिला लें।
  • फिर इस मिश्रण को अपने स्कैल्प पर लगाकर आराम-आराम से मालिश करें।
  • इसके करीब 30 मिनट बाद शैंपू से बालों को धो लें।

कब करें उपयोग :

आप इसका उपयोग महीने में एक बार कर सकते हैं।

आर्टिकल के इस भाग में हम जानेंगे कि करी पत्ते के फायदे बालों के लिए और कौन-कौन से हाे सकते हैं।

बालों के लिए करी पत्ते को इस्तेमाल करने के कुछ और टिप्स – Other Tips To Use Curry Leaves for Hair in Hindi

यहां हम आपके लिए बालों के लिए करी पत्ते के कुछ और उपयोग बता रहे हैं, जो आप के बालों के स्वास्थ्य और ग्रोथ के लिए कारगर हो सकते हैं।

  • हेयर टाॅनिक के रूप में: करी पत्ते का अर्क और नारियल तेल को मिला इसे सीधे स्कैल्प पर लगाएं। करीब एक घंटे बाद बालों को शैम्पू से धो लें। यह टॉनिक बालों के कई प्रकार के नुकसान से बचा सकता है।
  • करी पत्ते की चाय: करी पत्ते को पानी में कुछ देर उबालने के बाद इसे छान लें। फिर इसमें चीनी मिलाकर इसका सेवन करें। लगभग एक सप्ताह तक रोजाना पीने के बाद इससे बालों की ग्रोथ बढ़ेगी और बाल चमकदार बनेंगे।
  • भोजन में करी पत्ते का उपयोग: दक्षिण भारत में करी पत्ते का उपयोग भोजन को जायकेदार बनाने के लिए किया जाता है।
  • हेयर ऑयल के रूप में: आप करी पत्ते का उपयोग हेयर ऑयल के रूप में भी कर सकते हैं। इससे अच्छी तरह मालिश करने के कुछ समय बाद बालों को अच्छी तरह से धो लें।

इस आर्टिकल में आपने जाना कि किस प्रकार से करी पत्ता आपके बालों की समस्याओं को दूर करता है और उन्हें पर्याप्त पोषण दे सकता है। अगर आप भी बालों की किसी भी समस्या से परेशान हैं, तो आर्टिकल में दी गई बालों के लिए करी पत्ता की जानकारी आपके लिए फायदेमंद साबित हो सकती है। साथ ही अगर आपके मन में बालों के लिए करी पत्ते से जुड़ा कोई सवाल है, तो आप नीचे दिए कमेंट बाॅक्स में उसे शेयर करना न भूलें। इसके अलावा, आप अपने अनुभव भी हमारे साथ शेयर कर सकते हैं।

और पढ़े:

Was this article helpful?
The following two tabs change content below.

Saral Jain

सरल जैन ने श्री रामानन्दाचार्य संस्कृत विश्वविद्यालय, राजस्थान से संस्कृत और जैन दर्शन में बीए और डॉ. सी. वी. रमन विश्वविद्यालय, छत्तीसगढ़ से पत्रकारिता में बीए किया है। सरल को इलेक्ट्रानिक मीडिया का लगभग 8 वर्षों का एवं प्रिंट मीडिया का एक साल का अनुभव है। इन्होंने 3 साल तक टीवी चैनल के कई कार्यक्रमों में एंकर की भूमिका भी निभाई है। इन्हें फोटोग्राफी, वीडियोग्राफी, एडवंचर व वाइल्ड लाइफ शूट, कैंपिंग व घूमना पसंद है। सरल जैन संस्कृत, हिंदी, अंग्रेजी, गुजराती, मराठी व कन्नड़ भाषाओं के जानकार हैं।

ताज़े आलेख

scorecardresearch