बालों की देखभाल

बालों के लिए गुड़हल के फायदे और घरेलू उपाय – Hibiscus Oil For Hair Growth in Hindi

by
बालों के लिए गुड़हल के फायदे और घरेलू उपाय – Hibiscus Oil For Hair Growth in Hindi Hyderabd040-395603080 September 18, 2019

गुड़हल का फूल आपके घर के आसपास या आंगन में जरूर नजर आ जाएगा। यह फूल अक्सर पूजा के लिए इस्तेमाल में लाया जाता है, लेकिन, क्या आप जानते हैं कि गुड़हल का फूल और इसकी पत्तियां आपके बालों के लिए लाभकारी साबित हो सकती हैं। यह फूल आपके बालों को मजबूती देने के साथ ही, इनकी ग्रोथ में भी मदद करता है। इसके अलावा, बालों से संबंधित परेशानी जैसे डैंड्रफ आदि से आपको बचाता है। इसके इस्तेमाल से आपके बाल इतने मुलायाम हो जाते हैं कि ये उलझते ही नहीं। गुड़हल के फूल के फायदे के बारे में हम स्ट्राइलक्रेज के इस लेख में सिलसिलेवार बताएंगे। इसके उपयोग के तरीके और गुड़हल हेयर मास्क के बारे में जानने के लिए इस लेख को जरूर पढ़ें।

चलिए, सबसे पहले बात करते हैं बालों के लिए गुड़हल के फायदे की, उसके बाद विभिन्न तरह के हेयर मास्क बनाने की विधि जानेंगे।

बालों के लिए गुड़हल के फायदे – Benefits of Hibiscus Oil for Hair in Hindi

1. घने व लंबे बाल

गुड़ल का फूल आपके बालों को पोषण देता है। गुड़ल के फूल और इसका अर्क निष्क्रिय हो चुके बालों के रोम (फॉलिकल्स) और सिर के उस हिस्से जहां से बाल जा चुके हैं, वहां बालों को दोबारा उगाने में मदद करता है। इसमें मौजूद विटामिन-सी आपके बालों को घना करने में भी सहायक होता है (1) (2) (3) (4)। इससे बालों का स्वस्थ विकास होता है और बाल घने व लंबे होते हैं।

2. मजबूत बाल

हिबिस्कस तेल बालों के विकास को बढ़ावा देने के साथ ही बालों को जड़ों से मजबूत करता है। इससे आपके बाल चमकदार और स्वस्थ दिखते हैं। विटामिन-सी से समृद्ध गुड़ल का तेल हेयर फॉलिकल्स यानी बालों के रोम को मजबूत बनाता है (2)।

3. डैंड्रफ से राहत

गुड़हल आपकी स्कैल्प का भी ख्याल रखता है। इसमें मौजूद एंटी-फंगल गतिविधि की वजह से इसका इस्तेमाल डैंड्रफ से निजात दिलाने वाले तेलों में भी किया जाता है (5)। इसलिए, आप स्कैल्प में होने वाली खुजली और रूसी से लड़ने के लिए इसका इस्तेमाल कर सकते हैं।

4. रूखे बालों से छुटकारा

हिबिस्कस की पत्तियां आपके बालों को मजबूत, पौष्टिक और हाइड्रेटेड रखती हैं, जिससे दो-मुंहे बालों की समस्या से छुटकारा पाने में मदद मिलती है (6)। इससे बालों का रूखापन कम होता है और उन्हें मुलायम बनाकर उलझने से बचाया जा सकता है।

5. चमकदार बाल

गुड़हल के फूलों में मॉस्चराइजिंग गुण होते हैं (7)। इसके अलावा इसमें मौजूद पोषक तत्व और बालों को एक नया जीवन देने के साथ ही एक नया रंग भी देने में मदद करते हैं। दरअसल, गुड़हल का इस्तेमाल हेयर कलरेंट के रूप में भी किया जाता है, इसके इस्तेमाल से आपके बालों में एक अलग रंग की चमक दिखने लगती है (8)। वहीं, लोगों के अनुभव के आधार पर कहा जाए तो गुड़हल के फूल का पेस्ट बनाकर बालों में लगाने से बाल काफी मुलायम और चमकदार हो जाते हैं।

गुड़हल के फूल बालों के लिए कितने फायदेमंद हैं, यह तो आप जान ही चुके हैं। आगे हम गुड़हल के फूल से बनने वाले हेयर मास्क के बारे में बता रहे हैं।

बालों को बढ़ाने के लिए गुड़हल के फूल के उपयोग – How to Use Hibiscus Flower For Hair Growth in Hindi

1. गुड़हल से बना तेल

Jaggery oil Pinit

Shutterstock

सामग्री :

  • 8 गुड़हल के फूल
  • 8 गुड़हल के पत्ते
  • 1 कप नारियल का तेल

उपयोग का तरीका :

  • गुड़हल के फूल और पत्तियों को धोकर पीस लें और महीन पेस्ट बना लें।
  • अब एक सॉस पैन में एक कप नारियल का तेल गर्म करें और इसमें गुड़हल (हिबिस्कस) का पेस्ट डालें।
  • कुछ मिनट के लिए इसे गरम करके पैन पर ढक्कन लगाकर गैस बंद कर दें।
  • तेल के ठंडा होने के बाद इसे एक जार या बोतल में स्टोर कर लें।
  • अब आप आवश्यकतानुसार इस तेल से बालों की मसाज करें।
  • मसाज करने के 30 मिनट बाद माइल्ड शैम्पू से बालों को धो लें।
  • आप हफ्ते में तीन बार इसका इस्तेमाल कर सकते हैं।

कैसे लाभदायक है :

बालों के लिए गुड़हल का तेल काफी फायदेमंद है। हिबिस्कस यानी गुड़हल से बनाया गया यह तेल आपके बालों को पोषण देने में मदद करता है। दरअसल, इसमें कैल्शियम, फास्फोरस व आयरन जैसे पोषक तत्व भरपूर मात्रा में होते हैं, जो बालों को बढ़ाने में मदद करते हैं (1)। वहीं, नारियल का तेल आपके टूटते बालों को रोकने में मदद करता है (9)।

2. गुड़हल और दही

सामग्री :

  • 1 गुड़हल (हिबिस्कस) का फूल
  • 3-4 हिबिस्कस के पत्ते
  • 4 चम्मच दही

उपयोग का तरीका :

  • हिबिस्कस के फूल को पत्तियों के साथ बारीक पीस लें।
  • इसे दही के साथ मिलाएं और अच्छे से फेंट लें।
  • इस हेयर मास्क को अपने स्कैल्प और बालों पर लगाएं और लगभग एक घंटे तक लगा रहने दें।
  • अब गुनगुने पानी से इस मास्क को हटाएं और बालों को शैम्पू करें।
  • आप इस हेयर मास्क को हफ्ते में एक या दो बार इस्तेमाल कर सकती हैं।

कैसे लाभदायक है :

यह हेयर मास्क बालों की जड़ों को मजबूत बनाने और बालों के विकास को बढ़ावा देने के लिए जाना जाता है। यह आपके बालों को मजबूत बनाता है और पोषण भी देता है। दही में मौजूद प्रोटीन बालों के स्वास्थ्य को बनाए रखने में मदद करता है (10) (11)।

3. गुड़हल और मेथी का एंटी डैंड्रफ हेयर मास्क

सामग्री :

  • हिबिस्कस के कुछ पत्ते
  • 1 बड़ा चम्मच मेथी दाना
  • 1/4 कप छाछ

उपयोग का तरीका :

  • मेथी के दानों को रात भर के लिए पानी में भिगो दें।
  • अगली सुबह बीज और हिबिस्कस के पत्तों को पीसकर एक महीन पेस्ट बना लें।
  • अब इस पेस्ट में छाछ डालकर अच्छे से मिला लें।
  • इस पेस्ट को अपने स्कैल्प और बालों पर लगाएं और एक घंटे के लिए छोड़ दें।
  • मास्क के सूखने के बाद गुनगुने पानी से इसे साफ करें और बालों को शैम्पू करें।

कैसे लाभदायक है :

हम आपको इस लेख में बता ही चुके हैं कि गुड़हल डैंड्रफ दूर करने में सहायक है। वहीं, मेथी के बीज में भी एंटी-डैंड्रफ गुण पाए जाते हैं। दरअसल, इसके पेस्ट को स्कैल्प पर लगाने से डैंड्रफ की समस्या से छुटकारा मिल सकता है (12)। ऐसे में गुड़हल और मेथी दोनों का मिश्रण गहराई से आपके स्कैल्प से डैंड्रफ को हटाने में मदद करता है। संभवत यही वजह है कि मेथी का इस्तेमाल एंटी-डैंड्रफ शैंपू बनाने के लिए भी किया जाता है (13)।

4. गुड़हल और मेहंदी का एंटी डैंड्रफ हेयर पैक

सामग्री :

  • 10 गुड़हल के फूल
  • 10 गुड़हल के पत्ते
  • 10 मेहंदी के पत्ते या एक चम्मच पाउडर
  • 1/2 नींबू

उपयोग का तरीका :

  • मेहंदी के पत्तों, हिबिस्कस के फूलों और पत्तियों को एक साथ पीस लें।
  • इस मिश्रण में नींबू का रस डालकर अच्छे से मिलाएं।
  • इस पेस्ट को अब अपने स्कैल्प और बालों पर लगाकर एक घंटे के लिए छोड़ दें।
  • फिर बालों को माइल्ड शैम्पू से धो लें।
  • आप इस हेयर मास्क को हफ्ते में दो बार लगा सकती हैं।

कैसे लाभदायक है :

यह हेयर पैक आपके बालों को नमी देने के साथ ही स्कैल्प से डैंड्रफ को खत्म करने में मदद करता है। यह पैक बालों को अच्छी तरह से मॉइस्चराइज करने के साथ ही रूसी को पनपने से रोकता है, क्योंकि गुड़हल की तरह ही मेहंदी यानी हिना में भी एंटीफंगल गुण होता है (14)।

5. गुड़हल और आंवले का हेयर मास्क

Hibiscus and gooseberry hair mask Pinit

Shutterstock

सामग्री :

  • 6 चम्मच हिबिस्कस के फूल और पत्तियों का पेस्ट
  • 3 चम्मच आंवला पाउडर

उपयोग का तरीका :

  • गुड़हल का पेस्ट और आंवला पाउडर मिलाकर मिश्रण तैयार कर लें।
  • अब आप पानी की कुछ बूंदें इसमें डालकर अच्छे से मिलाएं।
  • इस मिश्रण को अब आप अपने स्कैल्प और बालों पर लगाकर करीब 40 मिनट के लिए छोड़ दें।
  • अब गुनगुने पानी से बालों को धो लें और फिर शैम्पू करें।
  • हफ्ते में दो बार आप इस मास्क का प्रयोग कर सकती हैं।

कैसे लाभदायक है :

यह हेयर मास्क बालों के रोम को मजबूत करने के साथ ही स्कैल्प के स्वास्थ्य को बनाए रखने में मदद करता है। दरअसल, आंवला और गुड़हल के फूल में विटामिन-सी और अन्य जरूरी खनिज पाए जाते हैं, जो बालों को मजबूत बनाने के साथ ही इनकी ग्रोथ को बढ़ाते हैं (1)। इस हेयर मास्क की मदद से आपके बाल घने और स्वस्थ बने रहेंगे।

6. गुड़हल का शैम्पू

सामग्री :

  • 15 हिबिस्कस के पत्ते
  • 5 हिबिस्कस के फूल
  • 1 कप पानी
  • 1 बड़ा चम्मच बेसन

उपयोग का तरीका :

  • हिबिस्कस के फूल और पत्तियों को एक कप पानी में डालकर 5 मिनट तक उबालें। पानी के ठंडा होने के बाद इसमें बेसन डालकर अच्छे से मिलाएं।
  • अब इस मिश्रण को आप अपने बालों को धोने के लिए इस्तेमाल में ला सकती हैं।
  • यह शैम्पू की तरह ही काम करता है।
  • हफ्ते में तीन बार आप इसका इस्तेमाल कर सकती हैं।

कैसे लाभदायक है :

अक्सर हर्बल शैम्पू में हिबिस्कस यानी गुड़हल का इस्तेमाल किया जाता है (15)। घर में इसके पत्तों और फूल से शैम्पू बनाकर आप अपने बालों को बाजार में मौजूद उत्पादों के रसायन से बचा सकते हैं। दरअसल, गुड़हल के फूल और इसकी पत्तियों में एक हल्का-सा झाग होता है, जो बालों में मौजूद प्राकृतिक तेलों को नुकसान पहुंचाए बिना बालों को प्रभावी ढंग से साफ करते हैं।

7. हिबिस्कस (गुड़हल) डीप कंडीशनिंग ट्रीटमेंट

सामग्री :

  • 8 हिबिस्कस फूल
  • आवश्कतानुसार पानी

उपयोग का तरीका :

  • हिबिस्कस के फूलों को मसले और इसमें पानी मिलाकर एक पेस्ट तैयार कर लें।
  • अब इस पेस्ट को अपने स्कैल्प और बालों पर लगाकर एक घंटे के लिए छोड़ दें।
  • अब गुनगुने पानी से बालों को धो लें।
  • आप हफ्ते में दो बार इस प्रक्रिया को दोहरा सकते हैं।

कैसे लाभदायक है :

माना जाता है कि हिबिस्कस में बालों को डीप कंडीशनिंग करने के गुण होते हैं, जो बालों में नमी बनाए रखने में मदद करते हैं। इसलिए, इसका इस्तेमाल रूखे और दो-मुंहे बालों से छुटकारा पाने के लिए किया जा सकता है।

8. नारियल का दूध और गुड़हल का फूल

सामग्री :

  • 5 चम्मच हिबिस्कस के फूल का पेस्ट
  • 2 चम्मच नारियल का दूध
  • 2 चम्मच शहद
  • 2 चम्मच दही
  • 4 चम्मच एलोवेरा जेल

उपयोग का तरीका :

  • सभी सामग्रियों को मिलाकर गाढ़ा पेस्ट तैयार कर लें।
  • अब पेस्ट को अपने स्कैल्प और बालों पर लगाएं और 30 मिनट के लिए छोड़ दें।
  • अब इस हेयर मास्क को गुनगुने पानी से धो लें। आप शैम्पू भी कर सकते हैं।
  • हफ्ते में इसे एक बार दोहराएं।

कैसे लाभदायक है :

यह पेस्ट रूखे बालों को नमी देकर उन्हें दो मुंहे होने से बचाता है। इसके अलावा, नारियल के दूध में मौजूद पोषक तत्व जैसे विटामिन, आयरन, जिंक और अन्य खनिज बालों को बढ़ने में मदद करते हैं (16)। दरअसल, पोषक तत्वों की कमी की वजह से बाल गिरते हैं (17)।

9. अदरक और गुड़हल की पत्तियां

सामग्री :

  • 3 चम्मच अदरक का रस
  • 2 चम्मच हिबिस्कस फूल का पेस्ट

उपयोग का तरीका :

  • एक कटोरी में सभी सामग्रियों को अच्छे से मिला लें।
  • अब इसे स्कैल्प व बालों पर लगाकर मालिश करें।
  • इसके करीब 20 मिनट बाद बालों को गुनगुने पानी से धोएं।
  • आप हफ्ते में दो बार इसका इस्तेमालल कर सकते हैं।

कैसे लाभदायक है :

अदरक और हिबिस्कस दोनों बालों के विकास में मदद करते हैं। इससे स्कैल्प की मालिश करने से बल्ड सर्कूलेशन को उत्तेजित (stimulate) करता है। इसके अलावा, अदरक में मौजूद सिलिकॉन केमिकल कंपाउंड बालों के स्वास्थ्य को बढ़ावा देता है (18)।

10. अंडा और गुड़हल

Egg and Hibiscus Pinit

Shutterstock

सामग्री :

  • 2 अंडों का सफेद भाग
  • 3 बड़े चम्मच गुड़हल फूल का पेस्ट

उपयोग का तरीका :

  • दोनों सामग्रियों को एक कटोरे में मिलाकर मिश्रण तैयार कर लें।
  • इस मिश्रण को अपने बालों में तब तक लगाएं, जब तक पूरे बाल इससे ढक न जाएं। हेयर मास्क लगाने के 20 मिनट बाद बालों को शैम्पू कर लें।
  • आप हफ्ते में एक बार इसे इस्तेमाल कर सकते हैं।

कैसे लाभदायक है :

यह पैक प्रोटीन से समृद्ध है। इस मास्क की मदद से आप बालों के झड़ने से रोक सकते हैं। अंडा बालों की ग्रोथ को बढ़ाने में मदद करता है (19)। दरअसल, अंडे में बालों के लिए सभी जरूरी विटामिन और मिनरल्स जैसे आयरन, प्रोटीन व जिंक मौजूद होते हैं (20)।

11. नीम और गुड़हल

सामग्री :

  • 10 नीम के पत्ते
  • मुट्ठी भर हिबिस्कस के पत्ते
  • 1/4 कप पानी

उपयोग का तरीका :

  • नीम के पत्तों को पानी के साथ पीस लें और फिर रस को छान लें।
  • हिबिस्कस के पत्तों को पीसकर एक गाढ़ा पेस्ट बना लें और इसमें नीम का रस मिला लें।
  • अब इसे अपने स्कैल्प और बालों पर लगाएं।
  • करीब 20 मिनट बाद अपने बालों को गुनगुने पानी से धो लें।
  • आप हफ्ते में दो बार इसका इस्तेमाल कर सकते हैं।

कैसे लाभदायक है :

नीम आपके स्कैल्प के स्वास्थ्य को ठीक रखने में मदद करता है। दरअसल, इसमें कीटनाशक गुण पाए जाते हैं, जो आपके बालों में मौजूद जूं को खत्म करने में मदद करता है (21)।

12. जैतून या बादाम का तेल और गुड़हल

सामग्री :

  • 1 चम्मच जैतून या बादाम का तेल
  • 5 गुड़हल के पत्ते
  • 5 गुड़हल के फूल

उपयोग का तरीका :

  • गुड़हल की पत्तियों और फूलों को पीस कर पेस्ट बना लें।
  • अब इस पेस्ट में जैतून का तेल या बादाम तेल का एक चम्मच मिला दें।
  • मिश्रण को अपने स्कैल्प और बालों पर लगाएं।
  • 30 मिनट के बाद इसे गुनगुने पानी से धो लें।
  • अगर बाल चिपचिपे लगें, तो आप शैम्पू भी कर सकते हैं।
  • सप्ताह में तीन बार आप इस प्रक्रिया को दोहरा सकते हैं।

कैसे लाभदायक है :

यह पेस्ट बालों के विकास को बढ़ावा देने में मदद करता है और आपके रोम व बालों की जड़ों को पोषण प्रदान करता है। यह आपके बालों को मॉइस्चराइज करने में भी मदद करता है (22)। दरअसल, जैतून के तेल में ओलयूरोपिन – Oleuropein तत्व पाया जाता है, जो बालों के विकास में मदद करता है (23)। इससे स्कैल्प की मसाज करने से बालों का झड़ना भी कम होता है (24)। वहीं, बादाम का तेल विटामिन-ई से भरपूर होता है (25), जो बालों की ग्रोथ में मदद करने के साथ ही बालों से संबंधित विकार को दूर करने में मदद कर सकता है (26)।

13. एलोवेरा और गुड़हल

Aloe vera and jaggery Pinit

Shutterstock

सामग्री :

  • 2 चम्मच हिबिस्कुस के फूलों का पेस्ट
  • आधा कप एलोवेरा जेल

उपयोग का तरीका :

  • एलोवेरा जेल और गुड़हल को मिलाकर पेस्ट तैयार कर लें।
  • अब इस पेस्ट को अपने बालों और स्कैल्प पर लगाएं।
  • 45 मिनट बाद इसे गुनगुने पानी से धो लें।
  • आप सप्ताह में तीन बार इसे दोहरा सकते हैं।

कैसे लाभदायक है :

यह मास्क आपके बालों को टूटने, झड़ने और दो-मुंहे होने से बचाता है। दरअसल, एलोवेरा में बालों के लिए जरूरी विटामिन-सी और अन्य मिनरल्स मौजूद होते हैं। इसके अलावा, इसमें मॉइस्चराइजिंग गुण भी होता है (27)। यह गुण बालों को भी नमी देने में मदद कर सकता है। साथ ही यह बालों को टूटने से रोकने में भी मदद कर सकता है (28) (29)।

14. गुड़हल और करी पत्ता

सामग्री :

  • मुट्ठी भर हिबिस्कस के पत्ते
  • मुट्ठी भर करी पत्ता
  • 1 चम्मच नारियल का तेल

उपयोग का तरीका :

  • सभी सामग्रियों को ब्लेंड करके पेस्ट बना लें।
  • अब इस पेस्ट को अपने स्कैल्प और बालों पर लगाकर 10 मिनट तक मालिश करें।
  • मालिश के 30 मिनट बाद इसे गुनगुने पानी से धो लें।
  • हफ्ते में तीन बार आप इस हेयर मास्क को लगा सकते हैं।

कैसे लाभदायक है :

गुड़हल और करी पत्ता आपके बालों में जादुई असर दिखा सकता है। यह आपके बालों को सफेद होने से रोकने के साथ ही बालों के लिए टॉनिक के रूप में काम करता है, जो बा0लों के स्वास्थ्य को बढ़ावा देने में मदद कर सकता है (30)।

15. गुड़हल और प्याज

Jaggery and onion Pinit

Shutterstock

सामग्री :

  • 1 प्याज का रस
  • मुट्ठी भर गुड़हल के पत्तों का रस
  • 1/4 कप पानी

उपयोग का तरीका :

  • दोनों रसों को अच्छी तरह से मिला लें।
  • अब इस मिश्रण को अपने बालों और स्कैल्प पर लगाएं।
  • इसे पूरे बालों में लगाने के बाद 15 मिनट तक सूखने दें।
  • अब गुनगुने पानी से बालों को धो लें।
  • आप इसे हफ्ते में तीन बार इस्तेमाल कर सकते हैं।

कैसे लाभदायक है :

त्वचा संबंधी रोगों की वजह से अगर आपके बाल झड़ रहे हैं, तो करी पत्ते का यह मास्क आपके बालों के लिए फायदेमंद साबित हो सकता है। यह आपके सिर से खत्म होते बालों को दोबारा से उगाने में मदद करता है (31)।

अक्सर, बालों की देखभाल अच्छे से न होने के कारण ये रूखे होकर झड़ने लगते हैं। इस वजह से आपके बाल बेजान और बिखरे-बिखरे से दिखते हैं। ऐसे में आप इस लेख में दिए गए गुड़हल के हेयर मास्क का इस्तेमाल कर अपने बेजान बालों को मजबूत और चमकदार बना सकते हैं। बेशक, व्यस्त दिनचर्या में बालों की देखभाल इतना आसान नहीं है, लेकिन आप अपने कीमती समय से कुछ मिनट अपनी सुंदरता को बढ़ाने वाले बालों को तो दे ही सकते हैं। अगर आप बालों के संबंध में कुछ और पूछना चाहते हैं, तो नीचे दिए गए कमेंट बॉक्स के माध्यम से हमसे जुड़ सकते हैं।

The following two tabs change content below.

vinita pangeni

विनिता पंगेनी ने एनएनबी गढ़वाल विश्वविद्यालय से मास कम्यूनिकेशन में बीए ऑनर्स और एमए किया है। टेलीविजन और डिजिटल मीडिया में काम करते हुए इन्हें करीब चार साल हो गए हैं। इन्हें उत्तराखंड के कई पॉलिटिकल लीडर और लोकल कलाकारों के इंटरव्यू लेना और लेखन का अनुभव है। विशेष कर इन्हें आम लोगों से जुड़ी रिपोर्ट्स करना और उस पर लेख लिखना पसंद है। इसके अलावा, इन्हें बाइक चलाना, नई जगह घूमना और नए लोगों से मिलकर उनके जीवन के अनुभव जानना अच्छा लगता है।

संबंधित आलेख