बालों के लिए मुलेठी के फायदे और उपयोग – Benefits of Mulethi for Hair in Hindi

Written by

मुलेठी को नद्यपान जड़ भी कहा जाता है। यह त्वचा और शरीर के साथ बालों के लिए भी लाभकारी हो सकती है। कई वैज्ञानिक अध्ययनों में बालों के लिए मुलेठी के लाभ देखे गए हैं। यही वजह है कि स्टाइलक्रेज के इस लेख में हम बालों के लिए मुलेठी के फायदे बताने जा रहे हैं। आप यहां जान पाएंगे कि मुलेठी का उपयोग किस प्रकार बालों पर सकारात्मक प्रभाव डाल सकता है। इसके अलावा, बालों के लिए मुलेठी के उपयोग का तरीका भी यहां बताया गया है। वहीं, बालों के लिए मुलेठी के नुकसान भी यहां बताए गए हैं। बालों के लिए मुलेठी के फायदे जानने के लिए लेख को पूरा जरूर पढ़ें।

शुरू करते हैं लेख

आइये, सबसे पहले जानते हैं कि बालों के लिए मुलेठी कितनी अच्छी है।

क्या आपके बालों के लिए मुलेठी अच्छी है?

बालों के लिए मुलेठी का उपयोग लाभकारी साबित हो सकता है। दरअसल, एक शोध में साफ तौर से जिक्र मिलता है कि मुलेठी बालों के विकास में मददगार हो सकती है (1)। वहीं, बालों के लिए इसका उपयोग लंबे समय से किया जा रहा है। खासकर, सैपोनिन और फाइटोकाॅन्स्टिट्यूएंट्स जैसे कंपाउंड की मौजूदगी की वजह से इसका उपयोग कॉस्मेटिक इंडस्ट्री में किया जाता है। इस बात की जानकारी एनसीबीआई (National Center for Biotechnology Information) की वेबसाइट पर प्रकाशित एक शोध से मिलती है (2)। आगे जानिए बालों के लिए मुलेठी और किस प्रकार लाभकारी हो सकती है।

पढ़ते रहें

नीचे जानिए बालों के लिए मुलेठी के फायदे।

बालों के लिए मुलेठी के फायदे – Benefits Of Mulethi For Hair in Hindi

बालों के लिए मुलेठी के फायदे किस प्रकार काम कर सकते हैं, यह जानकारी हम नीचे दे रहे हैं। वहीं, इस बात का ध्यान जरूर रखें कि यह बालों से जुड़ी किसी भी समस्या का इलाज नहीं है। इसका उपयोग कुछ हद तक बालों के लिए लाभकारी हो सकता है। अब पढ़ें बालों के लिए मुलेठी के फायदे :

1. स्कैल्प के लिए

बालों के साथ-साथ मुलेठी का उपयोग स्कैल्प के स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद हो सकता है। दरअसल,  एनसीबीआई द्वारा प्रकाशित एक शोध में मुलेठी युक्त हर्बल शैम्पू को रूसी के साथ स्कैल्प की जलन व खुजली के लिए लाभकारी माना गया है (2)। वहीं, एक शोध में इसके एंटीबैक्टीरियल और एंटी फंगल गुणों के विषय में जिक्र मिलता है, यानी इसका उपयोग स्कैल्प को बैक्टीरियल और फंगल संक्रमण से बचाने का का भी काम कर सकता है (3)।

2. डैंड्रफ के लिए

जैसा कि हमने ऊपर बताया कि मुलेठी युक्त हर्बल शैम्पू स्कैल्प की जलन को कम करने के साथ-साथ रूसी यानी डैंड्रफ से भी निजात दिलाने में लाभकारी हो सकता है (2)। इसके अलावा, इसमें एंटीफंगल प्रभाव भी पाया जाता है, जो फंगल (मालासेजिया) की वजह से होने वाली डैंड्रफ की समस्या से बचाव का काम कर सकता है (3) (4)।

3. बालों के विकास के लिए

बालों के विकास में भी मुलेठी के लाभ देखे जा सकते हैं। जैसा कि हमने ऊपर बताया कि मुलेठी का उपयोग हेयर ग्रोथ में सहायक साबित हो सकता है। वहीं, शोध में इस बात का साफ तौर से जिक्र मिलता है कि मुलेठी का उपयोग एलोपेसिया की समस्या (बाल झड़ने की गंभीर समस्या) में लाभकारी हो सकता है (1)। इस आधार पर मुलेठी को बालों के विकास में मददगार माना जा सकता है।

4. एंटी-बैक्टीरियल

फोलिक्युलाईटिस, एक ऐसी समस्या है, जिसमें बालों के रोम (hair follicles) में सूजन आ जाती है और वहां की त्वचा लाल हो सकती है। वहीं, इसके होने की एक वजह बैक्टीरियल संक्रमण हो सकता है (5)। यहां मुलेठी के लाभ देखे जा सकते हैं, क्योंकि मुलेठी में एंटीबैक्टीरियल प्रभाव पाया जाता है, जो  फोलिक्युलाईटिस के जोखिम को कम करने में लाभकारी हो सकता है (3)।

5. बालों को कंडीशन करने के लिए

माना जाता है कि बालों में मुलेठी का इस्तेमाल उन्हें कंडीशन करने का काम कर सकता है। हालांकि, इस तथ्य से जुड़े सटीक वैज्ञानिक शोध का अभाव है। इसलिए, हेयर कंडीशनर के रूप में मुलेठी का उपयोग करने से पहले विशेषज्ञ से परामर्श जरूर करें।

पढ़ते रहिए

नीचे जानिए बालों के लिए मुलेठी के हेयर पैक बनाने का तरीका।

बालों के लिए मुलेठी हेयर पैक – Mulethi Hair Packs in Hindi

मुलेठी बालों के लिए कैसे फायदेमंद है, यह हम ऊपर जान चुके हैं। इसके अलावा, बालों से जुड़ी विभिन्न समस्याओं में बालों के लिए मुलेठी के हेयर पैक बनाने का तरीका नीचे क्रमवार बताया गया है।

1. बालों के विकास के लिए मुलेठी हेयर पैक

सामग्री :

  • एक चम्मच मुलेठी पाउडर
  • एक चम्मच अरंडी या बादाम का तेल
  • पानी आवश्यकतानुसार

बनाने की विधि :

  • मुलेठी पाउडर को एक कटोरी में डालें।
  • अब इसमें एक चम्मच अरंडी या बादाम का तेल मिलाएं।
  • फिर इसमें पानी डालें।
  • सभी सामग्रियों को अच्छे से मिक्स करें।
  • पेस्ट बनने के बाद बालों और स्कैल्प की 15 मिनट तक मालिश करें।
  • मालिश के बाद आधे घंटे तक बालों को ऐसे ही छोड़ दें।
  • अंत में शैम्पू से सिर को धो लें।
  • ध्यान रहे कि हेयर मास्क न ही ज्यादा पतला और न ही ज्यादा गाढ़ा हो।

कैसे है फायदेमंद

बालों के विकास में मुलेठी किस प्रकार लाभदायक हो सकती है, इसकी जानकारी हम ऊपर दे चुके हैं। वहीं, इसके साथ बादाम या अरंडी का तेल भी इस काम में मददगार साबित हो सकता है। दरअसल, इससे जुड़े एक शोध में जिक्र मिलता है कि बादाम का तेल विटामिन-ई से समृद्ध होता है, जो हेयर फॉल को कम करने के साथ बालों को मजबूत बनाने में मदद कर सकता है (6)। ऐसे में बादाम का तेल बालों के विकास को बढ़ावा दे सकता है। वहीं, अरंडी का तेल भी बालों के विकास में मदद कर सकता है और साथ ही डैंड्रफ से भी छुटकारा दिलाने में मददगार हो सकता है (7)।

2. डैंड्रफ के लिए मुलेठी हेयर पैक

सामग्री :

  • एक चम्मच मुलेठी पाउडर
  • एक चम्मच नीम की पत्तियों का पाउडर
  • एक चम्मच नींबू का रस
  • पानी आवश्यकतानुसार

बनाने की विधि :

  • एक कटोरी में मुलेठी और नीम की पत्तियों का पाउडर डालें।
  • फिर इसमें नींबू का रस मिलाएं।
  • फिर इसमें पानी डालें।
  • सभी सामग्रियों को अच्छे से मिक्स कर लें।
  • इस पेस्ट से 15 मिनट तक बालों और स्कैल्प की मालिश करें।
  • मालिश के बाद 45 मिनट तक बालों को ऐसे ही छोड़ दें।
  • अंत में हर्बल शैम्पू से बालों को धो लें।

कैसे है फायदेमंद

डैंड्रफ को कम करने में मुलेठी किस प्रकार मददगार हो सकती है, यह हम ऊपर बता चुके हैं। वहीं, इसमें इस्तेमाल नींबू में एंटी-फंगल गुण होता हैं, जिसे डैंड्रफ का कारण बनने वाले मालासेजिया फंगस के खिलाफ कारगर पाया गया है (8)। वहीं, नीम में एंटी-फगल के साथ-साथ एंटी-बैक्टीरियल गुण भी मौजूद होता है, जो डैंड्रफ का कारण बनने वाले फंगस और बैक्टीरिया से बचाव या उनके प्रभाव को कम करने में मदद कर सकते हैं (9) (10)।

3. सूखे और डैमेज बालों के लिए

सामग्री :

  • एक चम्मच मुलेठी पाउडर
  • एक चम्मच भृंगराज पाउडर
  • एक चम्मच सरसों का तेल
  • पानी आवश्यकतानुसार

बनाने की विधि :

  • मुलेठी और भृंगराज पाउडर को एक कटोरी में डालें।
  • फिर इसमें सरसों का तेल मिलाएं।
  • इसके बाद पानी डालकर सामग्री को अच्छे से मिक्स कर लें।
  • ध्यान रहे कि पेस्ट न ही ज्यादा गाढ़ा हो और न ही ज्यादा पतला।
  • बालों और जड़ों में लगाकार हल्के हाथ से मालिश करें।
  • 30 से 40 मिनट बाद बालों को शैम्पू से धो लें।

कैसे है फायदेमंद

सूखे बालों के लिए भी मुलेठी के लाभ देखे जा सकते हैं। दरअसल, एक शोध में जिक्र मिलता है कि मुलेठी में विटामिन-ई की मात्रा भी पाई जाती है (11)। वहीं, विटामिन-ई में हाइड्रेट करने वाला प्रभाव पाया जाता है, जो सूखे बालों को हाइड्रेट करने में मदद कर सकता है (12)। वहीं, इसमें मौजूद भृंगराज बालों का झड़ना और दो मुंहे बालों की समस्या को भी कम कर सकता है (13)। इसके अलावा, सरसों का तेल हेयर विटालिजेर (बालों को मजबूत करने और टूटने से बचाने में मदद करने वाला) की तरह काम कर सकता है (14)।

4. खुजली वाले स्कैल्प के लिए

सामग्री :

  • एक चम्मच मुलेठी पाउडर
  • एक चम्मच नीम की पत्ती का पाउडर
  • एक चम्मच नींबू का रस
  • पानी आवश्यकतानुसार

बनाने की विधि :

  • मुलेठी और नीम की पत्तियों के पाउडर को एक कटोरी में डालें।
  • फिर इसमें एक चम्मच नींबू का रस मिलाएं।
  • फिर इसमें पानी डालें।
  • सभी सामग्रियों को अच्छे से मिक्स कर लें।
  • फिर इस पेस्ट से  बालों और स्कैल्प की 15 मिनट तक मालिश करें।
  • मालिश के बाद 45 मिनट तक बालों को ऐसे ही छोड़ दें।
  • अंत में बालों को शैम्पू से धो लें।

कैसे है फायदेमंद

जैसा कि हमने ऊपर बताया है कि मुलेठी का उपयोग स्कैल्प की खुजली को कम करने में मदद कर सकता है। वहीं, नीम का उपयोग भी इस काम में मदद कर सकता है। दरअसल, इससे जुड़े एक शोध में जिक्र मिलता है कि नीम का इस्तेमाल खुजली से राहत दिलाने में मददगार हो सकता है (15)। वहीं, नींबू का उपयोग स्कैल्प पर सूदिंग (आराम) प्रभाव प्रदर्शित कर सकता है (16)। इस आधार पर मुलेठी के इस हेयर पैक को स्कैल्प की खुजली के लिए लाभकारी माना जा सकता है।

5. उलझे बालों के लिए

सामग्री :

  • एक चम्मच मुलेठी पाउडर
  • एक चम्मच अरंडी का तेल
  • एक चम्मच जैतून का तेल

बनाने की विधि :

  • एक कप में सभी सामग्रियों को अच्छे से मिक्स कर लें।
  • इसके बाद बालों और जड़ में अच्छे से लगाएं।
  • फिर स्कैल्प की करीब 10 मिनट तक मालिश करें।
  • अंत में 30 से 40 मिनट बाद शैम्पू से बालों को धो लें।

कैसे है फायदेमंद

एनसीबीआई की वेबसाइट पर प्रकाशित एक शोध में मुलेठी को बालों से जुड़ी समस्याओं के लिए लाभकारी माना गया है (2)। ऐसे में हम कह सकते हैं कि यह उलझे बालों की समस्या को ठीक करने में भी लाभदायक हो सकता है। हालांकि, इसे लेकर अभी और सटीक शोध की आवश्यकता है। वहीं, एक अन्य शोध में जिक्र मिलता है कि अरंडी का तेल जैतून के तेल के साथ मिलकर बालों को कंडीशन कर सकता है, जिससे उलझे बालों को सुलझाने में मदद मिल सकती है (17)।

बने रहें हमारे साथ

नीचे जानिए बालों के लिए मुलेठी के नुकसान।

बालों में मुलेठी लगाने के नुकसान – Side Effects of Mulethi On Hair In Hindi

बालों के लिए मुलेठी के फायदे और मुलेठी हेयर मास्क बनाने का तरीका जानने के बाद बालों के लिए मुलेठी के नुकसान जानना भी जरूरी है। बता दें कि बालों के लिए इसके नुकसान से जुड़े सटीक शोध का अभाव है, लेकिन फिर भी कुछ संभावित नुकसान देखे जा सकते हैं, जो निम्नलिखित है :

  • अगर किसी को मुलेठी से एलर्जी है, तो स्कैल्प पर इसका इस्तेमाल एलर्जी का कारण बन सकता है।
  • वहीं, ऊपर बताए गए मुलेठी हेयर पैक में शामिल किसी भी सामग्री से अगर किसी को एलर्जी है, तो उसे उपयोग में लाएं, क्योंकि इससे एलर्जी की समस्या हो सकती है।

इस लेख को पढ़कर आप बालों के लिए मुलेठी के फायदे अच्छी तरह समझ चुके होंगे। वहीं, बालों के लिए मुलेठी का हेयर पैक कैसे बनाना है, इसकी भी जानकारी आपको हो गई होगी। अब आप चाहें, तो अपने बालों को स्वस्थ बनाए रखने के लिए मुलेठी हेयर पैक का इस्तेमाल कर सकते हैं। वहीं, इसके उपयोग के बाद अगर स्कैल्प में किसी भी तरह की जलन या खुजली होती है, तो इसका उपयोग बंद करें और डॉक्टर से संपर्क करें। हम उम्मीद करते हैं कि यह लेख आपके के लिए फायदेमंद साबित होगा। नीचे हम पाठकों द्वारा अक्सर पूछे जाने वाले कुछ जरूरी सवालों के जवाब दे रहे हैं।

अक्सर पूछे जाने वाले सवाल :

क्या मैं रात भर बालों में मुलेठी लगाकर छोड़ सकता हूं?

बालों में आप आधे से एक घंटे के लिए मुलेठी हेयर पैक लगाकर रख सकते हैं।

क्या रोज बालों में मुलेठी लगाई जा सकती है?

मुलेठी का ज्यादा उपयोग नुकसानदायक भी हो सकता है। इसलिए, हफ्ते में दो-तीन बार इसके हेयर पैक का इस्तेमाल किया जा सकता है।

क्या हम मुलेठी को बालों में सीधे लगा सकते हैं?

हां, पानी में इसकी कुछ मात्रा को मिलाकर बालों में लगाया जा सकता है। वहीं, अगर किसी को इससे एलर्जी है, तो इसे उपयोग में न लाएं।

क्या मुलेठी को शैम्पू के रूप में उपयोग कर सकते हैं?

मुलेठी का उपयोग शैम्पू के रूप में किया जा सकता है। बाजार में भी मुलेठी के कई प्रकार के शैम्पू उपलब्ध हैं।

Sources

Articles on StyleCraze are backed by verified information from peer-reviewed and academic research papers, reputed organizations, research institutions, and medical associations to ensure accuracy and relevance. Read our editorial policy to learn more.

  1. HAIR GROWTH STIMULATING EFFECT AND PHYTOCHEMICAL EVALUATION OF HYDRO-ALCOHOLIC EXTRACT OF GLYCYRRHIZA GLABRA
    https://www.researchgate.net/publication/260281460_HAIR_GROWTH_STIMULATING_EFFECT_AND_PHYTOCHEMICAL_EVALUATION_OF_HYDRO-ALCOHOLIC_EXTRACT_OF_GLYCYRRHIZA_GLABRA
  2. Formulation and Evaluation of Licorice Shampoo in Comparison with Commercial Shampoo
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC6266641/
  3. Pharmacological Activities and Phytochemical Constituents
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC7120246/
  4. Malassezia Fungi Are Specialized to Live on Skin and Associated with Dandruff, Eczema, and Other Skin Diseases
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC3380954/
  5. Folliculitis
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/books/NBK547754/
  6. PREPARATION AND EVALUATION OF HERBAL HAIR OIL
    http://ijrar.com/upload_issue/ijrar_issue_20542769.pdf
  7. Ricinus Communis (Castor) An Overview
    http://www.ijrpp.com/sites/default/files/articles/IJRPP_14_711_136-144.pdf
  8. Analysis on the Natural Remedies to Cure Dandruff/Skin Disease-causing Fungus – Malassezia furfur
    https://www.researchgate.net/publication/261071142_Analysis_on_the_Natural_Remedies_to_Cure_DandruffSkin_Disease-causing_Fungus_-_Malassezia_furfur
  9. Therapeutics Role of Azadirachta indica (Neem) and Their Active Constituents in Diseases Prevention and Treatment
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC4791507/
  10. Dandruff is associated with the conjoined interactions between host and microorganisms
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC4864613/
  11. Liquorice (Glycyrrhiza glabra): A phytochemical and pharmacological review
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC7167772/
  12. Influence of vitamin E acetate on stratum corneum hydration
    https://pubmed.ncbi.nlm.nih.gov/9706379/
  13. Formulation and evaluation of herbal antidandruff shampoo
    http://www.ijplsjournal.com/issues%20PDF%20files/2019/February-2019/4.pdf
  14. Ultrasonic Studies on Mustard Oil: A Critical Review
    https://www.ijsr.net/archive/v4i8/SUB157340.pdf
  15. Herbal Remedies of Azadirachta indica and its Medicinal Application
    https://www.mchemist.com/herboglo/pdf/2%20neem.pdf
  16. BASKETFUL BENEFIT OF CITRUS LIMON
    https://www.researchgate.net/publication/304995022_BASKETFUL_BENEFIT_OF_CITRUS_LIMON
  17. Ethnopharmacological survey of home remedies used for treatment of hair and scalp and their methods of preparation in the West Bank-Palestine
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC5499037/
Was this article helpful?
The following two tabs change content below.

ताज़े आलेख