बालों के लिए मुल्तानी मिट्टी के फायदे – Benefits of Multani Mitti for Hair in Hindi

by

बात जब खूबसूरती की आती है, तो त्वचा के साथ-साथ बालों की भी भूमिका महत्वपूर्ण होती है। इसलिए, बालों को स्वस्थ बनाए रखना भी जरूरी हो जाता है। इसके लिए विभिन्न घरेलू उपाय किए जा सकते हैं, जिसमें मुल्तानी मिट्टी भी शामिल हो सकती है। जी हां, त्वचा के साथ-साथ बालों में मुल्तानी मिट्टी लगाने के फायदे भी कई हैं। यही वजह है कि स्टाइलक्रेज के इस लेख में हम बालों के लिए मुल्तानी मिट्टी हेयर पैक और बालों में मुल्तानी मिट्टी लगाने के फायदे बता रहे हैं। पूरी जानकारी के लिए लेख को अंत तक पढ़ें।

विस्तार से पढ़ें लेख

आइये, सबसे पहले जानते हैं कि मुल्तानी मिट्टी बालों के लिए किस प्रकार लाभकारी है।

मुल्तानी मिट्टी बालों की समस्या को कैसे दूर करती है? – How does Multani Mitti help with Hair Problems?

बालों से जुड़ी कई समस्याओं को कम करने में मुल्तानी मिट्टी कारगर साबित हो सकती है। दरअसल, इसमें कई ऐसे गुण पाए जाते हैं, जो बालों के साथ-साथ स्कैल्प के लिए भी लाभकारी हो सकते हैं। यह बालों की सफाई से लेकर उनको मॉइस्चराइज करने का काम भी कर सकती है (1) (2)। साथ ही इसमें मौजूद एंटीमाइक्रोबियल गुण स्कैल्प को फंगल और बैक्टीरियल संक्रमण से बचाने में मददगार हो सकते हैं।

साथ ही यह ब्लड सर्कुलेशन में सुधार कर बाल झड़ने की समस्या में लाभकारी हो सकती है (3) (4)। बालों के लिए मुल्तानी मिट्टी और किस प्रकार लाभकारी हो सकती है, इसके बारे में विस्तार से हम नीचे बता रहे हैं।

बने रहें हमारे साथ

लेख के इस हिस्से में हम बालों के लिए मुल्तानी मिट्टी के फायदे बता रहे हैं।

बालों के लिए मुल्तानी मिट्टी के फायदे – Benefits of Multani Mitti for Hair in Hindi

मुल्तानी मिट्टी को बालों में कैसे लगाएं जानने से पहले उससे होने वाले फायदों के बारे में जानकारी होना जरूरी है। हेयर पैक के रूप में इसका इस्तेमाल बालों को कई तरह से लाभ पहुंचा सकता है। इसलिए, यहां हम क्रमवार बालों के लिए हेयर मास्क के तौर पर मुल्तानी मिट्टी लगाने के फायदे बता रहे हैं :

  1. बालों की सफाई : इससे जुड़े एक अध्ययन में साफ तौर से जिक्र मिलता है कि बालों की सफाई के लिए घरेलू उपचार के तौर पर इसका इस्तेमाल सालों से किया जाता रहा है। इसमें मौजूद क्लींजिंग गुण बालों से गंदगी हटाने में कारगर साबित हो सकते हैं (1)।
  2. बाल झड़ने की समस्या में मददगार : एनसीबीआई (National Center for Biotechnology Information) की वेबसाइट पर प्रकाशित एक शोध में साफ तौर से जिक्र मिलता है कि बालों के रोम में ब्लड फ्लो की कमी बाल झड़ने का कारण बन सकती है (4)। यहां मुल्तानी मिट्टी के लाभ देखे जा सकते हैं, क्योंकि इसमें ब्लड फ्लो को बढ़ाने वाले गुण पाए जाते हैं (3)।
  3. ऑयली स्कैल्प के लिए : क्लींजिंग गुण के साथ-साथ इसमें सोखने वाला (absorbent) प्रभाव भी पाया जाता है, जो बालों और स्कैल्प की त्वचा से अतिरिक्त तेल को सोखने में सहायक हो सकता है। इस गुण के पीछे मुल्तानी मिट्टी में मौजूद ‘एल्यूमीनियम ‘मैग्नीशियम सिलिकेट’ नामक कंपाउंड की मौजूदगी बताई जाती है (3)।
  4. रूसी से छुटकारा : एक शोध में मुल्तानी मिट्टी के एंटीमाइक्रोबियल गुण के बारे में भी पता चलता है (3)। एंटीमाइक्रोबियल यानी फंगल, बैक्टीरिया, वायरस व परजीवियों से सुरक्षा देने वाला (5)। ऐसे में हम मान सकते हैं कि एंटीमाइक्रोबियल के रूप में मुल्तानी मिट्टी रूसी (Dandruff) का कारण बनने वाले फंगल (मालासेजिया) के प्रभाव को कम करने में मदद कर सकती है (6)। इसके अलावा, यह स्कैल्प को बैक्टीरियल और फंगल संक्रमण के जोखिम से बचाने में भी मदद कर सकती है।
  5. प्राकृतिक मॉइस्चराइजर : ऊपर बताए गए गुणों के अलावा, मुल्तानी मिट्टी बालों के लिए एक कारगर प्राकृतिक मॉइस्चराइजर की तरह भी काम कर सकती है। इस बात की पुष्टि इससे जुड़े एक शोध में होती है। इससे रूखे बेजान बालों की देखभाल में मदद मिल सकती है (2)।
  6. बालों की चमक बढ़ाने में मददगार : माना जाता है कि मुल्तानी मिट्टी का उपयोग बालों की चमक बढ़ाने और उन्हें मुलायम करने में मदद कर सकता है। हालांकि, इससे जुड़े सटीक वैज्ञानिक शोध का अभाव है।
  7. स्कैल्प से जुड़ा सेबोरहाइक डर्मेटाइटिस : यह सूजन से जुड़ी एक त्वचा समस्या है, जिसमें त्वचा पर सफेद और पीली पपड़ी बनती है और फिर वो उखड़ने लगती है। साथ ही प्रभावित त्वचा लाल भी पड़ सकती है। यह समस्या तैलीय जगह को निशाना बनाती है, जिसमें चेहरे के साथ स्कैल्प भी शामिल है (7)।

यहां भी मुल्तानी मिट्टी के लाभ देखे जा सकते हैं, क्योंकि जैसा कि हमने ऊपर बताया कि मुल्तानी मिट्टी में अतिरिक्त तेल को सोखने वाला गुण पाया जाता है (3)। साथ ही इसमें सूजन को कम करने वाला प्रभाव भी पाया जाता है (8)। ऐसे में हम कह सकते हैं कि मुल्तानी मिट्टी का उपयोग सूजन को कम करके और अतिरिक्त तेल को सोख कर सेबोरहाइक डर्मेटाइटिस के जोखिम को कम करने में मदद कर सकता है।

  1. दो मुंहे बालों की समस्या : हेयर स्टाइलिंग, बालों के लिए केमिकल युक्त उत्पादों का उपयोग और प्रदूषण की वजह से दो मुंहे बालों की समस्या हो सकती है (9)। यहां मुल्तानी मिट्टी कुछ हद तक लाभकारी हो सकती है। दरअसल, मुल्तानी मिट्टी केमिकल रहित एक प्राकृतिक उत्पाद है और यह एक कारगर क्लींजिंग एजेंट की तरह काम कर सकती है, जिससे बालों पर मौजूद केमिकल युक्त हेयर प्रोडक्ट के अवशेषों को निकालने में मदद मिल सकती है (1)।

इस प्रकार मुल्तानी मिट्टी दो मुंहे बालों की समस्या से बचाव का काम कर सकती है, हालांकि, यह सीधे तौर पर कितनी कारगर हो सकती है, इसे लेकर और शोध किए जाने की आवश्यकता है।

बने रहें हमारे साथ

मुल्तानी मिट्टी के फायदे जानने के बाद चलिए बताते हैं बालों में मुल्तानी मिट्टी कैसे लगाएं।

बालों के लिए मुल्तानी मिट्टी का प्रयोग –  How to use Multani Mitti for Hair in Hindi

इसमें कोई दो राय नहीं कि बालों में मुल्तानी मिट्टी लगाने के फायदे कई सारे हैं। चलिए अब हम आपको बालों के लिए मुल्तानी मिट्टी हेयर पैक के बारे में भी जानकारी दे रहे हैं, जो कुछ इस प्रकार हैं :

1. झड़ते बालों के लिए मुल्तानी मिट्टी हेयर पैक

सामग्री

  • मुल्तानी मिट्टी – 2 चम्मच
  • नींबू का रस – 1 चम्मच
  • एलोवेरा जेल – 2 चम्मच 
  • आवश्यकतानुसार पानी

उपयोग करने का तरीका :  

  • एक बर्तन में मुल्तानी मिट्टी, नींबू का रस और एलोवेरा जेल को अच्छे से मिला लें।
  • फिर आवश्यकतानुसार पानी मिलाकर एक पेस्ट बना लें।
  • अब इस हेयर पैक को पूरे बालों पर लगाएं।
  •  फिर इस पैक को 30 मिनट तक बालों पर रहने दें।
  • इसके बाद शैम्पू कर बालों को धो लें।
  • हफ्ते में तीन बार इस हेयर पैक का इस्तेमाल कर सकते हैं। 

कैसे है फायदेमंद

बालों में मुल्तानी मिट्टी लगाने के फायदे तो हम बता ही चुके हैं। वहीं, इसके साथ अगर बालों के लिए नींबू और एलोवेरा का उपयोग किया जाए, तो यह हेयर पैक और भी लाभकारी हो सकता है। दरअसल, नींबू का उपयोग बालों के झड़ने की समस्या में मददगार साबित हो सकता है (10)।

वहीं, एलोवेरा भी बालों को झड़ने से बचाने का काम कर सकता है। इस विषय से जुड़े एक शोध में इस बात का साफ जिक्र मिलता है कि एलोवेरा बाल झड़ने की समस्या को रोकने में सहायक हो सकता है (11)। इस आधार पर इस मुल्तानी हेयर पैक को बालों झड़ने की समस्या में मददगार माना जा सकता है।

2. दो मुंहे बालों के लिए मुल्तानी मिट्टी हेयर पैक

सामग्री

  • जैतून का तेल – 2 चम्मच
  • मुल्तानी मिट्टी – 4 चम्मच
  • दही – 1 कप  

उपयोग करने का तरीका

  • रात में सोने से पहले जैतून के तेल से बालों की मालिश करें।
  • इसके बाद अगले सुबह एक बर्तन में मुल्तानी मिट्टी और दही का मिश्रण तैयार करें और उसे बालों पर लगा लें।
  • 20 मिनट तक इसे अपने बालों पर लगा रहने दें।
  • फिर पानी से बाल धो लें और अगले दिन शैम्पू कर लें।
  • सप्ताह में एक बार इस हेयर पैक का इस्तेमाल किया जा स सकता है।

कैसे है फायदेमंद

दो मुंहे बालों की समस्या में मुल्तानी मिट्टी किस प्रकार मददगार हो सकती है, इसकी जानकारी हमने ऊपर दे दी है। वहीं, एनसीबीआई (National Center for Biotechnology Information) की वेबसाइट पर प्रकाशित एक शोध में जिक्र मिलता है कि ऑलिव ऑयल दो मुंहे बालों को सुधारने में कुछ हद तक लाभकारी हो सकता है।

इसके अलावा, दही का उपयोग हेयर डैमेज और दो मुंहे बालों की स्थिति को सुधारने में लाभकारी हो सकता है (12)। कुछ इस प्रकार दही और ऑलिव ऑयल के साथ मुल्तानी मिट्टी के फायदे बालों के लिए देखे जा सकते हैं।

3. सामान्य बालों के लिए मुल्तानी मिट्टी हेयर पैक

सामग्री :  

  • मुल्तानी मिट्टी – 2 चम्मच
  •  एलोवेरा जेल – एक चम्मच
  • बादाम का तेल – एक चम्मच 

उपयोग करने का तरीका

  •  सबसे पहले एक बर्तन में मुल्तानी मिट्टी, बादाम का तेल और एलोवेरा को अच्छे से मिला लें।
  • अब इस मिश्रण को बालों पर अच्छी तरह से लगाएं।
  • 20 मिनट बाद जब यह सूखने लगे, तो बालों पर शैम्पू कर लें।
  • इस हेयर पैक को हफ्ते में एक बार लगा सकते हैं।  

कैसे है फायदेमंद

सामान्य बालों की देखभाल करना बहुत आसान है। इसके लिए मुल्तानी मिट्टी, बादाम का तेल और एलोवेरा से बने इस हेयर पैक का इस्तेमाल किया जा सकता है। बता दें कि एलोवेरा स्कैल्प के डेड सेल्स की मरम्मत करने के अलावा, एक बेहतरीन कंडीशनर के रूप में भी काम कर सकता है। यह बालों को सिल्की बनाए रखने साथ-साथ मुलायम बनाए रखने में मदद कर सकता है। यही नहीं, बालों के विकास में भी एलोवेरा महत्वपूर्ण भूमिका निभा सकता है।

इसके अलावा, स्कैल्प पर होने वाली खुजली और रूसी को कम करने में भी एलोवेरा मददगार साबित हो सकता है। वहीं, अगर बात करें, बादाम के तेल के फायदे कि तो यह बालों के झड़ने की समस्या को कम कर बालों को मजबूत बनाने में मदद कर सकता है (13)। वहीं, मुल्तानी मिट्टी को बालों में लगाने के फायदे तो हम लेख में बात ही चुके हैं।

जारी रखें पढ़ना

4. ऑयली हेयर के लिए मुल्तानी मिट्टी हेयर पैक

सामग्री

  • मुल्तानी मिट्टी – 3 चम्मच
  •  रीठा पाउडर – 3 चम्मच
  • पानी – 1 कप 

उपयोग करने का तरीका

  • सबसे पहले मुल्तानी मिट्टी को 3-4 घंटे के लिए पानी में भिगोकर रख दें।
  • अब इसमें रीठा पाउडर मिला लें और फिर से एक घंटे के लिए और रख दें।
  • 1 घंटे बाद इस पैक को बालों पर लगा लें।
  • 20 मिनट बाद जब यह सूखने लगे, तो पानी से बालों को धो लें।
  • इस हेयर पैक को हफ्ते में तीन बार लगा सकते हैं।  

कैसे है फायदेमंद

तैलीय बालों का मुख्य कारण होता है, स्कैल्प में मौजूद ऑयल ग्लैंड्स से अत्यधिक तेल का निकलना (14)। इसे आसान भाषा में सीबम (तेल) कहा जाता है। रीठा और मुल्तानी मिट्टी का यह पैक ऑयली हेयर के लिए फायदेमंद हो सकता है। जैसा कि हमने लेख के शुरुआत में ही बताया कि मुल्तानी मिट्टी में सोखने के गुण होते हैं, जो बालों से अतिरिक्त सीबम को निकालने में मदद कर सकते हैं (1)।

वहीं, रीठा बालों को कई तरह से लाभ पहुंचा सकता है। दरअसल, इसमें सैपोनिन (saponins) भरपूर मात्रा में मौजूद होता है, जो बालों को स्वस्थ और चमकदार बनाने में मदद कर सकता है। यही नहीं, रीठा एक बेहतरीन हेयर क्लींजर के रूप में भी जाना जाता है (15)। यही कारण है कि ऑयली बालों के लिए मुल्तानी मिट्टी हेयर पैक में रीठा को शामिल करना लाभकारी माना जाता है।

5. रूखे-सूखे बालों के लिए मुल्तानी मिट्टी हेयर पैक

सामग्री :  

  • मुल्तानी मिट्टी – 4 चम्मच
  • दही – 1/2 कप
  • आधे नींबू का रस
  • शहद – 2 चम्मच

उपयोग करने का तरीका

  •  सभी सामग्री को एक बर्तन में मिलाकर पेस्ट तैयार कर लें।
  • अब इस पेस्ट को पूरे बालों पर अच्छे से लगाएं।
  • 20 मिनट तक इसे बालों पर लगा रहने दें।
  • फिर शैम्पू कर लें।
  • हफ्ते में एक से दो बार इस प्रक्रिया को कर सकते हैं। 

कैसे है फायदेमंद

जैसा कि हमने ऊपर बताया कि मुल्तानी मिट्टी एक प्राकृतिक हेयर मॉइस्चराइजर की तरह काम कर सकती है, जिससे ड्राई हेयर की समस्या से निजात मिल सकता है। वहीं, बालों के लिए दही को भी लाभकारी माना जाता है। दही में बालों को कंडीशनिंग करने का गुण होता है, जो बालों को मुलायम बनाए रखने में मदद कर सकता है (16)।

वहीं, नींबू का उपयोग भी बालों को मुलायम और चिकना बनाए रखने में मदद कर सकता है (17)। इसके अलावा, रूखे और बेजान बालों के लिए शहद का इस्तेमाल भी गुणकारी माना जा सकता है। दरअसल, शहद एक बेहतर हेयर कंडीशनर के रूप में जाना जाता है, जो बालों को मुलायम बनाने में मदद कर सकता है (18)।

6. डैंड्रफ कम करने के लिए मुल्तानी मिट्टी हेयर पैक

सामग्री

  • मेथी के दाने – 6 चम्मच
  • मुल्तानी मिट्टी – 4 चम्मच
  • नींबू का रस – 1 चम्मच 
  • आवश्यकतानुसार पानी

उपयोग करने का तरीका

  • सबसे पहले मेथी को रातभर पानी में भिगोकर रख दें।
  •  फिर अगली सुबह इसे पीसकर पेस्ट तैयार कर लें।
  • इसके बाद इसमें मुल्तानी मिट्टी और नींबू का रस मिलाएं।
  • जरूरत पड़ने पर आवश्यकतानुसार पानी मिलाया जा सकता है।
  • अब जड़ों से शुरू करते हुए इसे पूरे बालों पर लगाएं।
  • तकरीबन 30 मिनट तक इसे लगा रहने दें। फिर शैम्पू कर लें।
  • हफ्ते में एक बार इस हेयर पैक का प्रयोग कर सकते हैं।  

कैसे है फायदेमंद

बालों से रूसी हटाने के लिए में मुल्तानी मिट्टी, नींबू और मेथी से बना हेयर पैक बेहद लाभकारी साबित हो सकता है। दरअसल, डैंड्रफ की एक मुख्य वजह मालासेजिया फुरफुर (Malassezia furfur) नामक फंगस भी है। वहीं, नींबू और मेथी के बीज दोनों में एंटी फंगल गुण मौजूद होते हैं, जो मालासेजिया फुरफुर के खिलाफ प्रभावी हो सकते हैं (19) (20)।

इसके अलावा, मुल्तानी मिट्टी किस प्रकार डैंड्रफ के खिलाफ प्रभावी असर दिखा सकती है, इसकी जानकारी हम ऊपर लेख में दे चुके हैं। कुछ इस प्रकार मुल्तानी मिट्टी को बालों पर लगाने के फायदे देखे जा सकते हैं।

7. बालों के विकास के लिए मुल्तानी मिट्टी हेयर पैक

सामग्री

  • रीठा पाउडर – 2 चम्मच
  • शिकाकाई पाउडर – 2 चम्मच
  • मुल्तानी मिट्टी – 2 चम्मच
  • आंवला पाउडर – 2 चम्मच
  • नींबू का रस – 1 चम्मच
  • पानी – एक कप 

उपयोग करने का तरीका

  • सभी सामग्री को एक बर्तन में मिलाकर पेस्ट तैयार कर लें।
  • फिर इसे अपने बालों पर लगाकर 1 से 2 घंटे के लिए छोड़ दें।
  • उसके बाद शैम्पू कर के बालों पर कंडीशनर लगा लें।
  • हफ्ते में दो से तीन बार इस हेयर पैक का इस्तेमाल किया जा सकता है। 

कैसे है फायदेमंद

जैसा कि हमने ऊपर बताया कि मुल्तानी मिट्टी स्कैल्प के ब्लड सर्कुलेशन में सुधार कर बाल झड़ने की समस्या में मददगार हो सकती है। इससे बालों के विकास को बढ़ावा मिल सकता है। हालांकि, सीधे तौर पर यह कितनी कारगर होगी, इसे लेकर अभी और शोध किए जाने की आवश्यकता है।

वहीं, इसमें मौजूद नींबू को बालों और स्कैल्प के लिए लाभकारी माना गया है (12)। वहीं, इस पैक में मौजूद रीठा और शिकाकाई प्राकृतिक क्लींजिंग एजेंट के रूप में काम कर सकते हैं, जिससे बालों और स्कैल्प पर मौजूद गंदगी को हटाने में मदद मिल सकती है (17) (10)।

वहीं, एक शोध में साफ जिक्र मिलता है कि रीठा का उपयोग बालों के विकास में मदद करने के साथ-साथ रूसी की समस्या से निजात दिलाने में सहायक हो सकता है। वहीं, बालों पर शिकाकाई का उपयोग बालों को मजबूत बनाने और उन्हें कंडीशन करने में मदद कर सकता है। इसके अलावा, आंवला में एंटीबैक्टीरिल और एंटीऑक्सीडेंट गुण मौजूद होते हैं, जो बालों के विकास को बढ़ावा देने में मदद कर सकते हैं (15)।

नोट : लेख में बताई गई सामग्रियों के उपयोग से पहले एक बार पैच टेस्ट करके यह सुनिश्चित कर लें कि कहीं इससे किसी को एलर्जी तो नहीं।

नीचे स्क्रॉल करें

नीचे हम मुल्तानी मिट्टी के उपयोग के वक्त बरती जाने वाली सावधानियां बता रहे हैं।

हेयर केयर के रूप में मुल्तानी मिट्टी के उपयोग के समय ध्यान रखने योग्य बातें – What to keep in mind while adding Multani Mitti to your Hair Care Routine in Hindi

मुल्तानी मिट्टी को बालों में कैसे लगाएं, यह तो आप समझ गए। वहीं, इसके इस्तेमाल के वक्त कुछ बातों का ध्यान रखना जरूरी है, ताकि इससे किसी तरह का नुकसान न हो। तो चलिए जान लेते हैं मुल्तानी मिट्टी के उपयोग के वक्त ध्यान रखने वाली बातें :

  • हमेशा अच्छी ब्रांड की मुल्तानी मिट्टी का प्रयोग करें।
  • मुल्तानी मिट्टी को हेयर पैक में डालते वक्त उसे अच्छे से मिलाएं, ताकि उसमें गांठे न पड़े।
  • बालों पर मुल्तानी मिट्टी हेयर पैक को पूरी तरह सूखने से पहले ही धो लें, क्योंकि पूरी तरह सूखने से बालों को नुकसान पहुंच सकता है।
  •  बालों पर हेयर पैक लगाने बाद शैम्पू और कंडीशनर करना न भूलें। 

जानकारी बाकी है

अंत में हम बालों में मुल्तानी मिट्टी लगाने के नुकसान बता रहे हैं।

बालों में मुल्तानी मिट्टी लगाने के नुकसान – Side Effects of Applying Multani Mitti On Hair in Hindi

बालों के लिए मुल्तानी मिट्टी हेयर पैक की जानकारी तो आपको हो गई। चलिए, अब हम यहां आपको बालों में मुल्तानी मिट्टी लगाने के कुछ संभावित नुकसान बता देते हैं :

  • जैसा कि हमने लेख में बताया कि मुल्तानी मिट्टी में अत्यधिक तेल को सोखने वाला गुण पाया जाता है (1)। इसलिए, इसका इस्तेमाल थोड़ा संभल कर करें, क्योंकि अधिक मात्रा और लंबे समय तक मुल्तानी मिट्टी का उपयोग स्कैल्प के प्राकृतिक तेल को छीन सकता है।
  • ठंड के मौसम में सिर पर इसका प्रयोग करने से बचें, क्योंकि मुल्तानी मिट्टी की तासीर ठंडी होती है, इससे सर्दी-जुकाम का जोखिम बढ़ सकता है। फिलहाल, इससे जुड़े वैज्ञानिक शोध का अभाव है।
  • इसके अलावा, लेख में बताई गई किसी भी सामग्री से अगर किसी को एलर्जी की समस्या है, तो उसका उपयोग करने से बचें।

इसमें कोई शक नहीं कि बालों के लिए मुल्तानी मिट्टी के फायदे कई सारे हैं। वहीं, इसके इस्तेमाल से जुड़ी जरूरी बातों का ध्यान जरूर रखें। इस लेख में हमने बालों में मुल्तानी मिट्टी कैसे लगाएं और उससे होने वाले लाभ के बारे में विस्तार से बताया है। तो अब आप बेझिझक यहां बताए गए मुल्तानी मिट्टी हेयर पैक में से अपनी सुविधा अनुसार किसी एक का चुनाव कर उसे इस्तेमाल में ला सकते हैं। हम उम्मीद करते हैं कि आपके बालों को स्वस्थ और चमकदार बनाने में हमारा यह लेख मददगार साबित होगा।

अक्सर पूछे जाने वाले सवाल :

क्या मैं मुल्तानी मिट्टी को रात भर अपने बालों पर लगाकर छोड़ सकती हूं?

नहीं, मुल्तानी मिट्टी को रात भर अपने बालों पर लगा कर नहीं छोड़ना चाहिए। इससे सर्दी-जुकाम होने का जोखिम बढ़ सकता है।साथ ही मिट्टी के ज्यादा सूख जाने की स्थिति में बालों को नुकसान भी पहुंच सकता है।

क्या मैं बालों पर मुल्तानी मिट्टी का उपयोग रोजाना कर सकती हूं?

नहीं, मुल्तानी मिट्टी का उपयोग रोजाना बालों पर नहीं करना चाहिए। जैसा कि हमने ऊपर बताया कि मुल्तानी मिट्टी में सोखने वाला प्रभाव पाया जाता है (21)। ऐसे में रोजाना इसका इस्तेमाल बालों से प्राकृतिक नमी और स्कैल्प के प्राकृतिक तेल को छीन सकता है। इसलिए, इसका इस्तेमाल रोजाना करने के बजाय हफ्ते में दो या तीन बार कर सकते हैं।  

क्या सीधे तौर पर बालों पर मुल्तानी मिट्टी लगा सकते हैं?

हां, मुल्तानी मिट्टी को सीधे तौर पर भी बालों पर लगा सकते हैं। 

मुल्तानी मिट्टी को बालों से कैसे निकाल सकते हैं?

मुल्तानी मिट्टी को बालों से निकालने के लिए शैम्पू का प्रयोग कर सकते हैं।

क्या मैं मुल्तानी मिट्टी को शैम्पू के रूप में उपयोग कर सकती हूं?

हां, शैम्पू के रूप में भी मुल्तानी मिट्टी का प्रयोग किया जा सकता है। यह बालों पर जमी गंदगी को निकालकर उसे साफ करने में मदद कर सकता है।

क्या मुल्तानी मिट्टी बालों को चमकदार और सिल्की बना सकती है?

मुल्तानी मिट्टी बालों को चमकदार और सिल्की बना सकती है या नहीं, फिलहाल इस बारे में शोध का अभाव है।

क्या मुल्तानी मिट्टी बालों को दो मुंहे होने से बचा सकती है?

दो मुंहे बालों के लिए मुल्तानी मिट्टी कैसे मददगार हो सकती है, इसे बारे में हमने ऊपर विस्तार से बताया है।

क्या मुल्तानी मिट्टी बालों को सीधा कर सकती है?

माना जाता है कि मुल्तानी मिट्टी बालों में वजन देकर कर्ल्स को सीधा करने में मदद कर सकती है। हालांकि, इस तथ्य की पुष्टि के लिए कोई वैज्ञानिक शोध उपलब्ध नहीं है।

क्या मुल्तानी मिट्टी बालों से बदबू को निकालने में मदद कर सकती है?

जैसा कि हमने ऊपर बताया कि मुल्तानी मिट्टी में क्लींजिंग गुण होता है, जो बालों की सफाई करने में मदद कर सकता है, जिससे बालों से बदबू निकालने में मदद मिल सकती है। हालांकि, यह इस काम में कितनी कारगर होगी, फिलहाल इसे लेकर सटीक शोध का अभाव है।

21 Sources

Was this article helpful?
The following two tabs change content below.

Aviriti Gautam

आवृति गौतम ने सेंट्रल यूनिवर्सिटी ऑफ साउथ बिहार से मास कम्युनिकेशन में एमए किया है। इन्होंने अपने करियर की शुरूआत डिजिटल मीडिया से ही की थी। इस क्षेत्र में इन्हें काम करते हुए दो वर्ष से ज्यादा हो गए हैं। आवृति को स्वास्थ्य विषयों पर लिखना और अलग-अलग विषयों पर विडियो बनाना खासा पसंद है। साथ ही इन्हें तरह-तरह की किताबें पढ़ने का, नई-नई जगहों पर घूमने का और गाने सुनने का भी शौक है।

ताज़े आलेख

scorecardresearch