घरेलू उपचार

बालों से जुएं निकालने के घरेलू उपाय – Home Remedies for Lice in Hindi

by
बालों से जुएं निकालने के घरेलू उपाय – Home Remedies for Lice in Hindi Hyderabd040-395603080 November 18, 2019

जुएं एक तरह के कीट हैं, जो इंसान के सिर को अपना घर बना लेते हैं। ये बालों की जड़ों में रहकर न केवल खून चूसते हैं, बल्कि सिर में दर्द, खुजली और त्वचा संक्रमण जैसी समस्याओं को भी जन्म देते हैं। इनकी संख्या तेजी से बढ़ती है, इस कारण से ये एक से दूसरे व्यक्ति में आसानी से चले जाते हैं। स्टाइलक्रेज के इस लेख में हम जूं से संबंधित लक्षण और कारण के बारे में विस्तार से चर्चा करेंगे। साथ ही जुएं मारने के घरेलू उपाय और सिर में जूं का इलाज कैसे किया जाए, इस बारे में भी जानकारी देंगे।

इस लेख के आगे के भाग में हम जूं होने के कारणों की जानकारी देंगे।

जूं होने का कारण – Causes of Lice in Hindi

सिर में जुएं संक्रमण के कारण होती हैं। इन जुओं को मेडिकल भाषा में पेडिक्युलोसिस कैपिटिस कहा जाता है। सिर में रहने वाली जुओं का आकार स्ट्रॉबेरी के बीज के सामान और भूरे रंग का होता है। यह सिर से खून चूस कर जिंदा रहती है। मादा जूं एक तरह का चिपचिपा पदार्थ निकालती है, जिससे अंडों को बालों में बनाए रखने में मदद मिलती है। जुओं के होने के और कई कारण हो सकते हैं, जो इस प्रकार हैं (1) :

  • जुओं से प्रभावित व्यक्ति के संपर्क में आने से यह आपके बालों पर आ सकते हैं।
  • जुओं की समस्या से जूझ रहे व्यक्ति के कपड़े इस्तेमाल करने या बिस्तर शेयर करने से आप जुओं की समस्या से परेशान हो सकते हैं।
  • जुओं से परेशान व्यक्ति के साथ टोपी, तौलिया या कंघी शेयर करने से आपके सिर में भी जुएं होने की आशंका प्रबल हो जाती है।

लेख के आगे के भाग में हम जूं के लक्षणों के बारे में बात करेंगे।

जूं के लक्षण – Symptoms of Lice in Hindi

आपको बालों में जुएं हैं या नहीं, उसे इन लक्षणों के जरिए पहचाना जा सकता है (1) (2) :

  • किसी चीज का बालों में हिलना या रेंगना महसूस होना जुएं होने का इशारा हो सकता है।
  • सिर में खुजली का होना जूं होने का लक्षण हो सकता है। बता दें कि जूं के काटने के कारण एलर्जिक रिएक्शन होता है। इस कारण काटने वाली जगह पर खुजली का एहसास होता है।
  • अंधेरे में जूं अत्यधिक सक्रिय हो जाते हैं। इस कारण रात को नींद न आना और चिड़चिड़ापन जुएं के सक्रिय होने के लक्षण हो सकते हैं।
  • सिर में त्वचा संक्रमण की समस्या भी जूं होने का लक्षण हो सकती है। ज्यादा खुजली करने की वजह से सिर की त्वचा पर घाव हो सकते हैं। यह घाव त्वचा पर पाए जाने वाले बैक्टीरिया की वजह से संक्रमित हो सकते हैं।
  • सिर, गर्दन और कंधों पर छोटे दाने जैसा कुछ दिखाई देना।
  • प्रत्येक बाल के निचले भाग पर छोटे-छोटे सफेद रंग के अंडों का दिखाई देना।

आगे हम जुएं कम करने के लिए घरेलू उपाय की जानकारी दे रहे हैं।

जुएं कम करने के लिए घरेलू उपाय – Home Remedies To Cure Lice in Hindi

1. टी ट्री ऑयल

सामग्री :

  • टी ट्री ऑयल की कुछ बूंदें
  • तौलिया
  • कंघी

कैसे उपयोग करें :

  • सोने से पहले बालों पर टी ट्री ऑयल की कुछ बूंदें लगाएं।
  • तकिये पर तौलिया रखें और सो जाएं।
  • अगली सुबह मरी हुई जुओं को निकालने के लिए कंघी का उपयोग करें।

कितनी बार करें :

  • इस प्रक्रिया को हफ्ते में तीन बार दोहराएं।

कैसे है लाभदायक :

जुएं एक प्राकृतिक कीट हैं। इससे छुटकारा दिलाने में टी ट्री ऑयल उपयोगी सिद्ध होता है। इसका कारण यह है कि टी ट्री ऑयल में कीटनाशक और ओविसाइडल (कीट के अंडो को नष्ट करने वाला) प्रभाव होता है, जो जुओं और उसके अंडों से छुटकारा पाने में सहायक माना जाता है (3)।

2. बेकिंग सोडा

सामग्री :

  • 1 चम्मच बेकिंग सोडा
  • 3 चम्मच कंडीशनर
  • कंघी
  • कागज या तौलिया

कैसे उपयोग करें :

  • बेकिंग सोडा और कंडीशनर को मिलाकर बालों में लगाएं।
  • इसे लगाने के कुछ समय बाद बालों में कंघी करें।
  • अच्छी तरह से कंघी करने के बाद बाल को शैम्पू से धो लें।

कितनी बार करें :

  • जुओं को पूरी तरह हटाने के लिए हफ्ते में 3 दिन इस प्रक्रिया को दोहराएं।

कैसे है लाभदायक :

व्यक्तिगत अनुभव से यह पता चला है कि बेकिंग सोडा और कंडीशनर का उपयोग जुओं की समस्या को दूर करने के लिए किया जा सकता है। बता दें कि इसमें एसिडिक प्रभाव होता है, इसलिए यह नुकसान का कारण भी बन सकता है। इसलिए, इसके इस्तेमाल से पहले चिकित्सक की सलाह जरूर लें।

नोट : इस संबंध में अभी वैज्ञानिक शोध किया जा रहा है, इसलिए इस संबंध में कोई वैज्ञानिक प्रमाण उपलब्ध नहीं है।

[ पढ़े: बेकिंग सोडा के 21 फायदे, उपयोग और नुकसान ]

3. पेट्रोलियम जेली

सामग्री :

  • पेट्रोलियम जेली
  • शॉवर कैप
  • कंघी

कैसे उपयोग करें :

  • बालों पर पेट्रोलियम जेली को लगाएं।
  • इसे अगली सुबह तक शॉवर कैप से ढक कर रखें।
  • जुएं निकालने के लिए कंघी का उपयोग करें।
  • कंघी करने के बाद बालों को शैम्पू से अच्छी तरह धो लें।

कितनी बार करें :

  • इस उपचार को आवश्यकतानुसार तब तक दोहराए, जब तक कि सारी जुएं खत्म न हो जाएं।

कैसे है लाभदायक :

जुएं मारने के घरेलू उपाय में पेट्रोलियम जेली को भी शामिल किया जा सकता है। एक वैज्ञानिक शोध में यह सिद्ध भी किया गया है कि सिर की जुओं और उनके अंडे को दूर करने के लिए पेट्रोलियम जेली बेहतरीन तरीका है (4)।

4. सिरके से जुओं का इलाज

सामग्री :

  • 1 चम्मच सफेद सिरका
  • पानी (आवश्यकतानुसार)
  • तौलिया
  • कंघी

कैसे उपयोग करें :

  • पानी और सिरके को मिलाएं और इसे बालों पर लगाएं।
  • तौलिया से सिर को लपेटें और इसे 30 मिनट के लिए छोड़ दें।
  • फिर जुओं और उसके अंडे को निकालने के लिए बालों में कंघी करें।

कितनी बार करें :

इस प्रक्रिया को हफ्ते में दो बार प्रयोग में लाएं।

कैसे है लाभदायक :

सिरके का उपयोग जुओं और उसके अंडे की समस्या को दूर करने के लिए किया जा सकता है। कारण, इसमें एसिटिक एसिड के गुण पाए जाते हैं, जो बालों में मौजूद जुओं को बेहोश करने का काम करते हैं (5)। ऐसा माना जाता है कि बेहोश होने के बाद जूं की पकड़ कमजोर हो जाती हैं, जिससे कंघी की सहायता से उन्हें बाहर किया जा सकता है।

5. नमक से जूं का इलाज

सामग्री :

  • एक चौथाई कप नमक
  • एक चौथाई कप सिरका
  • स्प्रे बोतल
  • शॉवर कैप

कैसे उपयोग करें :

  • नमक को सिरके में अच्छी तरह मिलाएं और स्प्रे बोतल में डालें।
  • फिर इससे बालों पर अच्छी तरह से स्प्रे करें। ध्यान रहे कि यह आंखों और कान में न जाए।
  • बालों को शॉवर कैप से कवर करें और इसे एक या दो घंटे के लिए छोड़ दें।
  • समय पूरा होने पर इसे शैम्पू से धो लें।

कितनी बार करें :

  • इस प्रक्रिया को हफ्ते में दो या तीन बार करें।

कैसे है लाभदायक :

जुएं मारने के उपाय में नमक को भी इस्तेमाल में लाया जा सकता है। दरअसल, विशेषज्ञों के मुताबिक सोडियम क्लोराइड (नमक का रासायनिक नाम) का इस्तेमाल जुओं से छुटकारा दिलाने में सहायक साबित हो सकता है। इस कारण ऐसा कहा जा सकता है कि नमक का इस्तेमाल जुओं की समस्या से निजात दिलाने में सहायक साबित हो सकता है (6)।

6. जैतून का तेल

Olive oil Pinit

Shutterstock

सामग्री :

  • 2 चम्मच जैतून का तेल
  • शॉवर कैप

कैसे उपयोग करें :

  • तेल को बालों पर अच्छी तरह से लगाएं।
  • शॉवर कैप से कवर करें और इसे पूरी रात के लिए ऐसे ही छोड़ दें।
  • मरे हुई जुओं और अंडों को निकालने के लिए कंघी करें।
  • उसके बाद गुनगुने पानी से बाल को धो लें।

कितनी बार करें :

  • इसे हफ्ते में एक या दो बार दोहराएं।

कैसे है लाभदायक :

जैतून के तेल के कई फायदे हैं। उन्हीं फायदों में से एक है, जुओं से छुटकारा। इस संबंध में किए गए वैज्ञानिक शोध में पाया गया है कि कुछ विशेष तेलों का उपयोग जुओं की समस्या से छुटकारा दिलाने में सहायक साबित हो सकता है। इन तेलों में जैतून के तेल का भी जिक्र किया गया है। इस कारण ऐसा माना जा सकता है कि जैतून के तेल का इस्तेमाल आपको इस समस्या से निजात दिलाने में मददगार साबित हो सकता है (4)।

7. शराब से जूं का इलाज

सामग्री :

  • रेड वाइन (बेंजिल अल्कोहल) का घोल
  • कंघी

कैसे उपयोग करें :

  • घोल को बालों में लगाएं। साथ ही कानों के पीछे और गर्दन पर लगाना न भूलें।
  • इसे 10 मिनट के लिए छोड़ दें।
  • फिर मरी हुई जुओं को निकलने के लिए कंघी करें।
  • इसके बाद बाल को धो लें।

कितनी बार करें :

  • हफ्ते में एक बार उपयोग करें।

कैसे है लाभदायक :

अंगूर के उपयोग से बनी शराब में बेंजिल अल्कोहल पाया जाता है। वहीं, एक अन्य वैज्ञानिक शोध में इस बात की पुष्टि की गई है कि बेंजिल अल्कोहल का उपयोग जुएं मारने के उपाय में शामिल किया जा सकता है। साथ ही शोध में इस बात का भी जिक्र किया गया है कि त्वचा पर इसका नॉन-न्यूरोटॉक्सिक प्रभाव रहता है। इस वजह से इसका उपयोग त्वचा के लिए भी सुरक्षित है (7) (8)।

8. नीम तेल

सामग्री :

  • 1 चम्मच नीम का तेल
  • शैम्पू
  • कंघी

कैसे उपयोग करें :

  • अपने रोजाना उपयोग वाले शैम्पू में नीम के तेल की कुछ बूंदें मिला लें।
  • फिर उसे बालों को धोने के लिए उपयोग करें।
  • बालों को धोने के बाद अच्छे से कंघी करें।

कितनी बार करें :

  • इसे हफ्ते में 2 से 3 बार उपयोग करें।

कैसे है लाभदायक :

जुओं की समस्या को दूर करने के लिए तेलों को हर्बल उपचार के रूप में प्रयोग किया जाता है। इन तेलों में नीम के तेल को शामिल किया जाता है। एक साइंटिफिक रिसर्च के मुताबिक, जुओं को मारने के लिए नीम के तेल का इस्तेमाल सबसे बेहतर माना गया (9)। इस कारण ऐसा माना जा सकता है कि नीम का तेल जुओं के साथ-साथ उसके अंडे से भी निजात पाने में सहायक साबित हो सकता है।

9. नारियल का तेल

सामग्री :

  • 1 चम्मच नारियल का तेल
  • शॉवर कैप
  • शैम्पू
  • कंघी

कैसे उपयोग करें :

  • तेल को गर्म करें और इसे बालों पर लगाएं।
  • कुछ मिनट के लिए मालिश करें और शॉवर कैप के साथ कवर करें।
  • इसे दो घंटे तक ऐसे ही रहने दें।
  • फिर मरी हुई जुओं को निकालने के लिए कंघी करें।
  • इसके बाद शैम्पू से बालों को धो लें।

कितनी बार करें :

  • इस प्रक्रिया को हफ्ते में एक या दो बार दोहराएं।

कैसे है लाभदायक :

नारियल तेल का उपयोग जुओं की समस्या से छुटकारा पाने में मददगार साबित हो सकता है। विशेषज्ञों के मुताबिक, इस संबंध में किए गए शोध में पाया गया है कि नारियल का तेल जुओं को मारने में 80 प्रतिशत तक कारगर साबित हुआ है (10)। वहीं, यह भी माना जाता है कि नारियल तेल का इस्तेमाल बालों को मजबूत और चमकदार बनाने में भी सहायक है।

10. बेबी ऑयल

सामग्री :

  • बेबी ऑयल
  • शॉवर कैप
  • कंघी
  • शैम्पू
  • पानी

कैसे उपयोग करें :

  • बालों पर सामान्य मात्रा में बेबी ऑयल लगाएं।
  • कुछ मिनट तक मालिश करें और शॉवर कैप से कवर करें।
  • इसे रात भर लगा रहने दें।
  • सुबह मरी हुए जुओं को निकलने के लिए कंघी का उपयोग करें।
  • हमेशा की तरह बालों को धो लें।
  • ध्यान रहे, बालों से गिरने वाला पानी आंख, कान और मुंह में न जाए।

कितनी बार करें :

  • कुछ दिनों के अंतराल पर इस प्रयोग को बार-बार दोहराएं, जब तक कि सभी जुएं निकल न जाएं।

कैसे है लाभदायक :

विशेषज्ञों के मुताबिक, जैतून का तेल जुओं की समस्या से निजात दिलाने में सहायक साबित हो सकता है। खास बात यह है कि जैतून का तेल बेबी ऑयल में आमतौर पर प्रयोग किया जाता है। इस कारण इसे बेबी ऑयल की कैटेगिरी में गिना जा सकता है। इस कारण हम कह सकते हैं कि बेबी ऑयल का उपयोग जुओं की समस्या से छुटकारा पाने का एक उत्तम उपाय साबित हो सकता है (11)।

11. वेजिटेबल ऑयल

सामग्री :

  • 1 चम्मच वेजिटेबल ऑयल
  • शॉवर कैप
  • कंघी
  • शैम्पू

कैसे उपयोग करें :

  • बालों पर वेजिटेबल ऑयल लगाएं।
  • फिर शॉवर कैप से कवर कर लें।
  • इसे रात भर के लिए छोड़ दें।
  • अगली सुबह शैम्पू से धो लें।
  • फिर कंघी से जूं निकाल लें।

कितनी बार करें :

  • इसे प्रक्रिया को कुछ रातों तक दोहराएं, जब तक कि सभी जुएं और उसके अंडे निकल नहीं जाते।

कैसे है लाभदायक :

वेजिटेबल ऑयल का उपयोग सब्जी बनने के साथ-साथ सिर में जूं की दवा के रूप में भी किया जा सकता है। विशेषज्ञों के मुताबिक, ऐसा माना जाता है कि इसका उपयोग जुएं के साथ-साथ उसके अंडों को निकालने में भी मददगार साबित हो सकता है (12)। ध्यान रहे, शोध में इस बात का जिक्र किया गया है कि इस संबंध में ज्यादा प्रमाण उपलब्ध नहीं है।

12. नीलगिरी का तेल

सामग्री :

  • नीलगिरी तेल की कुछ बूंदें
  • टी ट्री ऑयल की कुछ बूंदें
  • शॉवर कैप
  • कंघी

कैसे उपयोग करें :

  • नीलगिरी और टी ट्री ऑयल को मिलाएं और बालों पर लगाएं।
  • शॉवर कैप से बालों को कवर करें।
  • इसे रात भर छोड़ दें।
  • मरी हुई जुओं को निकालने के लिए कंघी करें।

कितनी बार करें :

  • जरूरत पढ़ने पर इसे तब तक दोहराएं जब तक कि जूं पूरी तरह खत्म न हो जाएं।

कैसे है लाभदायक :

नीलगीरी के तेल को जुएं मारने के घरेलू उपाय के रूप में भी उपयोग किया जा सकता है। इस संबंध में किए गए एक शोध में यह पाया गया है कि नीलगिरी के तेल का इस्तेमाल जुओं की समस्या से छुटकारा दिलाने में मददगार साबित हो सकता है। साथ ही यह भी बताया गया है कि इसका इस्तेमाल सिर की त्वचा के लिए पूरी तरह से सुरक्षित है (13)।

13. मेयोनेज से जूं का इलाज

सामग्री :

  • मेयोनेज (आवश्यकतानुसार)
  • शॉवर कैप

कैसे उपयोग करें :

  • बालों पर मेयोनेज को रगड़ें।
  • इसके बाद बालों को शॉवर कैप से कवर करें और रात भर के लिए छोड़ दें।
  • फिर अगली सुबह बालों को शैंपू से धो लें।

कितनी बार करें :

  • आवश्यकता हो तो इस प्रक्रिया को कुछ दिनों बाद फिर से दोहराएं।

कैसे है लाभदायक :

मेयोनेज से सिर में जूं का इलाज किया जा सकता है। इसका उपयोग कम समय में अधिक से अधिक जूं और उसके अंडे को मारने में सहायक साबित हो सकता है। ध्यान रहे, इसका असर तभी होगा, जब इसे 12 घंटे तक बालों में लगाकर रखा जाए (14)।

घरेलू उपचार के बारे में जानने के बाद आगे लेख में हम सिर में जूं का इलाज क्या है, इस विषय पर चर्चा करेंगे।

जूं का इलाज – Treatment for Lice in Hindi

अगर लाख उपाय करने के बावजूद जुओं की समस्या से छुटकारा नहीं मिल रहा है, तो सिर में जूं का इलाज करने के लिए आप नीचे दिए गए सुझावों को अपना सकते हैं (15)।

  • जुओं और उनके अंडे से छुटकारा पाने के लिए नियमित रूप से नहाएं।
  • कपड़ों को नियमित रूप से बदलते रहें।
  • कपड़े को हमेशा गर्म पानी से धोएं।
  • जिन सामानों (गद्दे,सोफा) को धोया नहीं जा सकता है, उन्हें वैक्यूम से साफ करना चाहिए ताकि उन चीजों में मौजूद जुएं और उसके अंडे दोबार संपर्क में न आएं।

इस लेख के आगे के भाग में हम जुओं से बचने के उपाय के बारे में बताएंगे।

जूं से बचने के उपाय – Prevention Tips for Lice in Hindi

आइए, जुओं से बचने के उपाय की जानकारी के बारे में जानने के लिए नीचे दिए गए बिंदुओं पर डालते हैं एक नजर (1) :

  • जिसके सिर में अधिक जुएं हैं, उनके साथ हेयर ब्रश, कंघी, टोपी, बिस्तर, तौलिये या कपड़े शेयर न करें।
  • आपको या आपके बच्चे के सिर में जुएं हैं, तो उन्हें खुद से अलग सुलाएं। इससे जुएं की समस्या को फैलने से रोकने में मदद मिल सकती है।
  • बालों को धोने के लिए डिशवॉशिंग डिटर्जेंट का उपयोग कर सकते हैं, जो जुओं के अंडों को निकालने में सहायता कर सकता है, जिससे जुओं की समस्या दूर हो सकती है।

अब तो आप अच्छी तरह से जान ही गए होंगे कि जुएं क्या होती है और इससे ग्रसित होने की स्थिति में किन-किन परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है। साथ ही आपको लेख में इस समस्या से बचने के कुछ घरेलू उपचार और उपायों की जानकारी भी मिल गई होगी। अगर आपके घर में कोई भी इस समस्या से परेशान हैं, तो लेख में दी गई सभी जानकारियों को पहले अच्छी तरह से पढ़ लें। उसके बात ही इन घरेलू उपचारों को इस्तेमाल में लाएं। हम उम्मीद करते हैं कि यह लेख आपको इस समस्या से निजात दिलाने में काफी हद तक मददगार साबित होगा। आपके पास सिर में जूं की दवा और समस्या से जुड़ी कोई अन्य जानकारी हो, तो आप कमेंट बॉक्स के माध्यम से उसे हमारे साथ साझा कर सकते हैं।

और पढ़े:

The following two tabs change content below.

Bhupendra Verma

भूपेंद्र वर्मा ने सेंट थॉमस कॉलेज से बीजेएमसी और एमआईटी एडीटी यूनिवर्सिटी से एमजेएमसी किया है। भूपेंद्र को लेखक के तौर पर फ्रीलांसिंग में काम करते 2 साल हो गए हैं। इनकी लिखी हुई कविताएं, गाने और रैप हर किसी को पसंद आते हैं। यह अपने लेखन और रैप करने के अनोखे स्टाइल की वजह से जाने जाते हैं। इन्होंने कुछ डॉक्यूमेंट्री फिल्म की स्टोरी और डायलॉग्स भी लिखे हैं। इन्हें संगीत सुनना, फिल्में देखना और घूमना पसंद है।

संबंधित आलेख