50+ Best Childhood Memories Quotes In Hindi – बचपन की यादें | Bachpan Ki Yaadein

by

बचपन के दिनों को जिंदगी के सबसे सुनहरे दिनों में गिना जाता है। ये वो सबसे खास पल होते हैं, जब न ही किसी चीज की चिंता होती है और न ही किसी चीज की परवाह। हर किसी के बचपन का सफर यादगार और हसीन होता है, इसलिए अक्सर लोगों से मुंह से यह कहते जरूर सुना होगा कि “वो दिन भी क्या दिन थे।” अगर आप बचपन की यादों में खोना चाहते हैं, तो स्टाइलक्रेज इसमें आपकी मदद कर सकता है। हमने इस लेख में 50 से भी ज्यादा बचपन शायरी और कोट्स को शामिल किया है। इनके जरिए आप बचपन की यादें ताजा कर सकते हैं।

स्क्रॉल करें

चलिए अब सीधा नजर डालते हैं बचपन की यादों से जुड़ी बेहतरीन शायरियों पर।

50+ बचपन की शायरी : Bachpan Ki Yaadein Quotes In Hindi

हमने इस लेख में बचपन शायरी और बचपन कोट्स को कई कैटेगरी में विभाजित किया है। इन कैटेगरी में मौजूद शायरियों को पढ़ें और बचपन की यादों को ताज करें। वहीं, इन्हें आप अपने दोस्तों के साथ भी शेयर कर सकते हैं। आइये, सबसे पहले पढ़ते हैं दो लाइन की बचपन की शायरियां।

बचपन की यादों से जुड़ी दो लाइन की शायरी

भाव अगर सही हो, तो दो लाइन में पूरी बात कही जा सकती है। नीचे पढ़ें बचपन की यादों को ताजा कर देने वाली दो लाइन की बचपन शायरी।

  1. बचपन की कहानी थी बड़ी सुहानी,
    बचपन में रह जाता, नहीं आनी थी जवानी।
  1. बचपन की हंसी कहीं गुम हो गई है,
    शायद बड़े होने के सफर में पीछे रह गई है।
  1. बचपन में न चिंता थी और न फिक्र,
    अब रहता है करियर का डर।
  1. वो दिन कितने अच्छे थे,
    जब हम बच्चे थे।
  1. बचपन की दोस्ती सच्ची थी,
    मतलब पता नहीं था, पर अच्छी थी।
  1. काश लौट आए बचपन के वो दिन,
    जब गुजरते थे मस्ती में पूरे दिन।
  1. बचपन के दोस्त आज भी साथ हैं,
    मेरे सभी दोस्त मेरे लिए खास हैं।
  1. मेरा पूरा दिन खेल में बीतता था,
    बचपन के दिनों को खुलकर जीता था।
  1. पिता के कंधों पर बैठकर गांव घूमा,
    बड़े होने पर बचपन को शहर की सड़को पर ढूंढा।
  1. बचपन की सारी यादें साथ हैं,
    वे सारे लम्हें मेरे लिए खास हैं।
  1. न कुछ पाने की चाहत, न कुछ खोने का डर था,
    मेरा बचपन, मेरी खुशियों का सफर था।
  1. बचपन में मां की गोद में सुकून था,
    हर वक्त कुछ नया करने का जूनून था।
  1. खेलते-खेलते दिन बिता देते थे,
    बचपन में खेल में खुद को भुला देते थे।

नीचे भी कोट्स हैं

अब वक्त आ चुका है स्कूल की सुनहरी यादों में खोने का।

स्कूल मेमोरीज कोट्स – School Memories Quotes In Hindi

50+ Best Childhood Memories Quotes In Hindi

Shutterstock

स्कूल लाइफ मस्ती और शरारतों से भरा होती है। स्कूल की यादें हर किसी के जीवन का एक अहम हिस्सा होती हैं। यह वो समय होता है, जब आप भविष्य के लिए अपनी नींव तैयार कर रहे होते हैं। वहीं, इस दौरान नए-नए दोस्तों और नए-नए अनुभवों का साथ मिलता है। आइये, नीचे बचपन की यादें शायरी के जरिए याद करते हैं स्कूल के दिनों को।

  1. स्कूल के पहले दिन मुझे काफी डर लगा,
    कुछ वक्त बाद मुझे स्कूल अपना घर लगा,
    आज काफी साल हो गए स्कूल छोड़े मुझे,
    पर अब भी मुझे स्कूल में अपनापन लगा।
  1. बचपन में स्कूल के टेबल को बजाना,
    टीचर के ना होने पर गाना गाना,
    इतना आसान नहीं है,
    उन हसीन लम्हों को भूल जाना।
  1. स्कूल के यार अब भी साथ हैं,
    उनका प्यार अब भी मेरे पास है।
  1. स्कूल की किताबों में मन नहीं लगता था,
    पढ़ाई करने के लिए रातों को नहीं जगता था,
    अब सारी-सारी रात रिसर्च पेपर पढ़ता हूं,
    पर बीच-बीच में बचपन की यादों में खो जाता हूं।
  1. टेबल में कौन साथ बैठेगा,
    इस बात पर लड़ा करते थे,
    टीचर के सवाल का जवाब न देने पर,
    हाथ उठाकर खड़े हुआ करते थे।
  1. स्कूल में सब होम वर्क नकल करते थे,
    बेस्ट फ्रेंड के लिए दूसरे से लड़ते थे,
    स्कूल की लड़ाई दूसरे दिन भूल जाते थे,
    फिर सभी आपस में दोस्त बन जाते थे।
  1. बेल बजने से पहले स्कूल से निकलने के लिए तैयार हो जाते थे,
    मम्मी-पापा से पैसे लिए बिना स्कूल नहीं जाते थे।
  1. सुबह उठकर तैयार रहता था,
    स्कूल बस आने की राह देखता था,
    बचपन को मैंने अपने,
    काफी खुश रहकर जिया था।
  1. स्कूल से ही किताबों से दोस्ती है,
    सब कुछ किताबों से ही सीखा है,
    किताबों की मदद से ही मैंने,
    अपना नसीब खुद से लिखा है।
  1. कभी-कभी स्कूल में मन नहीं लगता था,
    पर दोस्तों की वजह से स्कूल जाता था,
    स्कूल के दोस्तों के साथ ही मैं,
    खुद को हमेशा खुश पाता था।
  1. साइकिल से स्कूल जाते हुए मस्ती करना,
    एक-दूसरे की साइकिल को खींचते हुए लड़ना,
    बहुत ही हसीन वक्त था वो भी,
    अब तो उन यारों से बहुत कम होता है मिलना।
  1. स्कूल के दिनों में काफी सुकून था,
    काम ने सब सुकून छीन लिया है,
    जीवन के सभी पलों में,
    सबसे अच्छा बचपन का पल जिया है।
  1. अच्छाई-बुराई के बारे स्कूल में समझ आया,
    तभी आज मैं एक अच्छा इंसान बन पाया,
    किताबों से था मैंने दिल लगाया,
    अच्छे ज्ञान की वजह से कामयाब हो पाया।

पढ़ते रहें शायरियां

चलिए, अब आगे कॉलेज मेमोरीज से जुड़े कोट्स पढ़ते हैं।

कॉलेज मेमोरीज कोट्स – College Memories Quotes In Hindi

50+ Best Childhood Memories Quotes In Hindi

Shutterstock

स्कूल के बाद कॉलेज का सफर भी यादगार होता है। यह दुनिया को करीब से जानने और समझने का समय होता है। इस दौरान आप अपने भविष्य को मजबूत करने के प्रयास में होते हैं। वहीं, कॉलेज से भी कई खट्टी-मीठी यादें जुड़ी होती हैं। आइये, नीचे पढ़ते हैं कॉलेज मेमोरीज कोट्स।

  1. कॉलेज के होस्टल में खूब मस्ती की,
    होस्टल लाइफ को भी काफी अच्छे से जिया,
    कॉलेज खत्म होने के बाद,
    हर वक्त उन दिनों को याद किया।
  1. कॉलेज के दोस्तों के साथ मूवी के लिए जाना,
    क्लास बंक करके कैंटीन में दिन बिताना,
    अगर मुझे कोई पूछे कि किन दिनों में है वापस जाना,
    तो मैं उनसे यही कहूंगा कि मुझे कॉलेज के दिनों में ले जाना।
  1. देर तक दोस्तों के साथ घूमते थे,
    मस्ती में हर पल झूमते थे,
    कॉलेज के दिन ही ऐसे थे,
    जब हम घर जाना भी भूलते थे।
  1. कॉलेज के यारों के साथ नाइट बिताना,
    हर लम्हों को खुलकर खुशी से जी पाना,
    ऐसी जिंदगी को जी कर आया हूं मैं,
    जब होता था मेरा कॉलेज जाना।
  1. माना अब सब साथ नहीं हैं,
    एक दूसरे के पास नहीं हैं,
    पर यादें हमेशा साथ रहेंगी,
    कॉलेज की बातें हमेशा याद रहेंगी।
  1. सामने एक-दूसरे के टांग खींचते थे,
    पीठ पीछे एक-दूसरे के लिए लड़ लेते थे,
    ऐसी थी कॉलेज के यारों के साथ दोस्ती,
    कि बिन बताए केयर कर लेते थे।
  1. एक दूसरे का खाना खा लेते,
    कोई रूठ जाता, तो मना लेते,
    कॉलेज के यार ही ऐसे थे,
    जो हर काम में थे साथ देते।
  1. दोस्तों के साथ लॉन्ग ड्राइव पर जाना,
    कॉलेज का था ऐसा शानदार जमाना।
  1. कॉलेज के दोस्तों ने बहुत बर्थडे बम दिया है,
    उनके साथ जन्मदिन को अच्छे से एन्जॉय किया है,
    अब कोई नहीं पास जन्मदिन मनाने के लिए,
    काश कोई मुझे कॉलेज के दिन वापस लौटा दे।
  1. सेल्फी में सबको है आना,
    एक बाइक में तीनों का बैठ जाना,
    अब भी याद आता है मुझे,
    मेरा कॉलेज का वो जमाना।
  1. अपनी बाइक घर में छोड़कर आना,
    दोस्त से बाइक लेने के लिए गिड़गिड़ाना,
    बाइक मिलने पर शान से उसे घुमाना,
    कुछ ऐसा है मेरे कॉलेज का फसाना।
  1. कॉलेज की कैंटीन का खाना,
    क्लास में बैठकर टेबल पर तबला बजाना,
    ब्रेक के बाद दोस्त का लव स्टोरी बताना,
    मैं हूं उन दिनों का दीवाना।
  1. हर रोज नई लड़की से दोस्ती होना,
    पुराने दोस्तों का नए दोस्त को देखकर जलना,
    नए दोस्तों से दूर करने की कोशिश करना,
    अब मुश्किल है ऐसे दोस्तों का मिलना।

आगे भी कोट्स हैं

अब पढ़िए कुछ फनी चाइल्डहुड मेमोरीज कोट्स।

फनी चाइल्डहुड मेमोरीज कोट्स – Funny Childhood Memories Quotes In Hindi

50+ Best Childhood Memories Quotes In Hindi

Shutterstock

बचपन का समय कई मजेदार किस्सों से भरा होता है, तभी लोग अपने बचपन के दिनों को याद करके बहुत हंसते हैं और खुश होते हैं। नीचे हम कुछ ऐसे ही मजेदार लम्हों को फनी चाइल्डहुड मेमोरीज के माध्यम से आपके सामने रख रहे हैं।

  1. बचपन में मम्मी लड़की के कपड़े पहनाती थी,
    कई बार आंखों में काजल भी लगाती थी,
    बचपन के कुछ साल लड़की बनकर जिया,
    बड़े होकर खुद को लड़कियों के कपड़े से आजाद किया।
  1. बचपन में भूतों की कहानी सुनकर डरता था मैं,
    बाथरूम साथ जाने के लिए भाई के पैर पड़ता था मैं,
    अब कहानी से डर नहीं लगता है मुझे,
    पर वो भी क्या दिन थे कैसे समझाऊ मैं तुम्हें।
  1. बांसुरी लिए नटखट गोपाल बना था मैं,
    कृष्णा की तरह मयूर पंख लगाए सजा था मैं,
    पापा की जेब से पैसे लेते पकड़ा जाता था मैं,
    कह देता था झूठ कि चोरी नहीं करता हूं मैं।
  1. बचपन में आम के बगीचे में चोरी करते पकड़ा गया,
    पेड़ पर ही चढ़ा रहा जब तक मालिक पेड़ से दूर न गया।
  1. साइकिल से गिरने का डर लगा रहता था,
    तेरा दोस्त हूं, मुझे ना गिराना साइकिल से कहता था,
    यह देख मेरे बाकी दोस्त मुझपर हंसते थे,
    वे साइकिल के लिए मेरी भावना को नहीं समझते थे।
  1. मम्मी ने बहुत पिटाई की है,
    बचपन मम्मी के खौफ में गुजारा है,
    पर यादगार हैं वो सभी दिन,
    जिन्हें मैंने मम्मी के साथ गुजारा है।
  1. पापा के स्कूटर में सामने बैठता था, तो सोचता था मैं चलाता हूं,
    बाद में पता चला मैं स्कूटर को संभाल ही नहीं पाता हूं।
  1. बच्चे थे, तो मन के सच्चे थे,
    बचपन से ही हम बहुत अच्छे थे,
    ऐसा ही सब ने सोच कर रखा है,
    पर हम जानते हैं कि हम कैसे थे।
  1. बचपन में सुकून की नींद आती थी तब,
    मम्मी से अच्छे से पिटाई हो जाती थी जब।
  1. बचपन में मम्मी की मार के बाद घर छोड़कर जाने का सोचता था,
    फिल्मों की तरह बहुत पैसे वाला बनकर वापस आने का सोचता था।
  1. बचपन में घर छोड़कर भाग गया था,
    एक घंटे बाद भूख लगी, तो घर वापस आ गया था।
  1. सुबह की पिटाई के बाद स्कूल जाता था,
    कभी-कभी रोते-रोते नाश्ता खाता था।

इन सभी कोट्स को पढ़कर आप जरूर बचपन की यादों में खो गए होंगे। बचपन की यादें ही ऐसी हैं कि हर कोई उनमें खो सा जाता है। इन यादों को और ताजा बनाने के लिए आप इन बचपन की यादें शायरी को अपने बचपन के दोस्तों को भेज सकते हैं या फिर सोशल मीडिया पर शेयर कर सकते हैं। हम उम्मीद करते हैं आपको हमारे सभी चाइल्डहुड कोट्स पसंद आए होंगे। इसी तरह कोट्स और शायरियां पाने के लिए जुड़े रहें स्टाइलक्रेज के साथ।

Was this article helpful?
The following two tabs change content below.

Bhupendra Verma

भूपेंद्र वर्मा ने सेंट थॉमस कॉलेज से बीजेएमसी और एमआईटी एडीटी यूनिवर्सिटी से एमजेएमसी किया है। भूपेंद्र को लेखक के तौर पर फ्रीलांसिंग में काम करते 2 साल हो गए हैं। इनकी लिखी हुई कविताएं, गाने और रैप हर किसी को पसंद आते हैं। यह अपने लेखन और रैप करने के अनोखे स्टाइल की वजह से जाने जाते हैं। इन्होंने कुछ डॉक्यूमेंट्री फिल्म की स्टोरी और डायलॉग्स भी लिखे हैं। इन्हें संगीत सुनना, फिल्में देखना और घूमना पसंद है।

ताज़े आलेख

scorecardresearch