बादाम दूध के फायदे, उपयोग और नुकसान – Almond Milk Benefits, Uses and Side Effects in Hindi

Medically Reviewed By Neelanjana Singh, RD
Written by , (एमए इन जर्नलिज्म)

बादाम का उपयोग इसके गुणों और स्वाद के कारण हम किसी न किसी रूप में करते ही रहते हैं। यह एक गुणकारी खाद्य पदार्थ है, जो शरीर को कई तरीके से लाभ पहुंचाता है। बादाम से अलग अगर इसके दूध की बात की जाए, तो पोषण के मामले में यह भी कम नहीं है। बादाम का दूध स्वास्थ्य के लिए कई तरह से लाभकारी हो सकता है। स्टाइलक्रेज के इस लेख में हम बात करेंगे बादाम दूध के फायदे, उपयोग और नुकसान के बारे में। साथ ही हम मिल्क बादाम बनाने की विधि के बारे में भी जानकारी देंगे।

पढ़ना शुरू करें

यहां हम सबसे पहले बताएंगे कि बादाम का दूध सेहत के लिए अच्छा कैसे है।

बादाम दूध पीना आपकी सेहत के लिए क्यों अच्छा है?

बादाम के दूध का इस्तेमाल खाद्य पदार्थों के साथ-साथ हेल्दी ड्रिंक में भी किया जाता है। बादाम के दूध में कोलेस्ट्रॉल और सैचुरेटेड फैट नहीं होता है और यह लैक्टोज मुक्त होता है। कम कैलोरी के कारण यह वजन कम करने का एक शानदार तरीका हो सकता है। बादाम का दूध आयरन, विटामिन-ई और मैग्नीशियम प्रदान करता है, जो आपके स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद होते हैं। बादाम के दूध में पाए जाने वाले एंटीऑक्सीडेंट और एंटी इंफ्लेमेटरी गुण कई बीमारियों को दूर करने के मदद कर सकते हैं।

इसके अलावा, बादाम के दूध का सेवन करने से खून के थक्के जमने का डर नहीं होता। इसके अलावा, यह प्रतिरक्षा प्रणाली में वृद्धि करने में भी कारगर हो सकता है। बादाम दूध में मौजूद राइबोफ्लेविन, कार्बोहाइड्रेट को ऊर्जा में परिवर्तित करके पाचन में सहायता कर सकता है। इस तरह आपने देखा कि बादाम के दूध के एक नहीं कई फायदे हो सकते हैं (1)।

आगे पढ़े

लेख के इस भाग में जानते हैं बादाम दूध पीने के फायदे क्या हैं।

बादाम दूध पीने के फायदे – Benefits of Almond Milk in Hindi

जैसा कि आपने ऊपर पढ़ा कि बादाम के दूध का सेवन कई प्रकार से फायदेमंद हो सकता है। नीचे हम इसका सेवन करने से होने वाले प्रमुख फायदों के बारे में विस्तार से बता रहे हैं।

1. हृदय के लिए बादाम दूध के फायदे

हृदय के लिए बादाम का दूध लाभकारी हो सकता है। एक शोध की मानें तो बादाम एलडीएल यानी खराब कोलेस्ट्रॉल को कम करने व एचडीएल यानी अच्छे कोलेस्ट्रॉल को बनाए रखने में सहायक हो सकता है। शोध में यह भी बताया गया है कि लगभग 45 ग्राम बादाम का दैनिक सेवन सीवीडी यानी हृदय संबंधी बीमारियों के जोखिम को कम कर सकता है (2)। बादाम का दूध भी बादाम से ही तैयार किया जाता है (1)। इस आधार पर कहा जा सकता है कि हृदय स्वास्थ्य के लिए बादाम का दूध फायदेमंद हो सकता है।

2. हड्डियों के लिए बादाम दूध पीने के फायदे

बादाम दूध पीने के फायदे हड्डियों के लिए भी हासिल किए जा सकते हैं। बड़ों के साथ ही बच्चों को भी मजबूत हड्डियों के निर्माण के लिए विटामिन-डी और कैल्शियम की आवश्यकता होती है (3)। बादाम के दूध में विटामिन-डी और कैल्शियम की अच्छी मात्रा पाई जाती है (4)। ऐसे में माना जा सकता है कि बादाम के दूध का सेवन हड्डियों की  मजबूती प्रदान करने के साथ ही इनके विकास में मददगार हो सकता है।   

3. प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने के लिए

बादाम का दूध प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाकर रोगों से लड़ने की शक्ति प्रदान कर सकता है। दरअसल, इसमें विटामिन-डी और विटामिन-ई की अच्छी मात्रा पाई जाती है (4)। बता दें, विटामिन डी रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने में मदद कर सकता है (5)। इसके अलावा, विटामिन ई में एंटीऑक्सीडेंट गुण पाए जाते हैं, जो बीमारियों से लड़ने में मदद कर सकते हैं (6)। इस आधार पर इम्यूनिटी को बूस्ट करने के लिए बादाम दूध का सेवन लाभकारी हो सकता है।

4. आंखों के लिए बादाम दूध पीने के फायदे

अगर आंखों से संबंधित किसी समस्या से परेशान हैं, तो बादाम का दूध कारगर औषधि के रूप में काम कर सकता है। दरअसल, इसमें राइबोफ्लेविन के साथ ही विटामिन-ए और विटमिन-डी की मात्रा पाई जाती है (4)।राइबोफ्लेविन मोतियाबिंद जैसी आंखों की समस्या को दूर करने में आपकी मदद कर सकता है (7)।

5. मांसपेशियों के लिए बादाम दूध के फायदे

मजबूत मांसपेशियों के लिए भी बादाम का दूध कारगर हो सकता है। बादाम के दूध में कैल्शियम और मैग्नीशियम की मात्रा मौजूद होती है (4)। कैल्शियम मांसपेशियों को रिलैक्स कर सकता है और दर्द से आराम दे सकता है (8)। वहीं, मैग्नीशियम मांसपेशियों की कार्य प्रणाली में सुधार कर ज्यादा देर तक कार्य करने की क्षमता प्रदान करता है (9)।

6. कैंसर से बचाव के लिए

बादाम के दूध का सेवन कैंसर की बीमारी से बचाने में कारगर हो सकता है। जैसा कि हमने पहले भी बताया कि इसमें कई सारे पोषक तत्व पाए जाते हैं , इन्हीं में से एक है विटामिन-ई (4)। बादाम के दूध में विटामिन-ई की अच्छी मात्रा पाई जाती है और विटामिन-ई कैंसर की समस्या को दूर करने के लिए अच्छा एंटीऑक्सीडेंट माना जाता है। इसमें पाया जाने वाला टोकोट्रिनोल (Tocotrienols) नाम का घटक कैंसर से बचाव का काम कर सकता है। साथ ही इसके एंटी-ट्यूमर गुण के कारण ये कैंसर को बढ़ाने वाले ट्यूमर को पनपने से भी राेकता है (10)।

7. वजन कम करने के लिए

वजन कम करने के लिए बादाम का दूध फायदेमंद हो सकता है। इसका प्रमुख कारण यह है कि इसमें कैलोरी की मात्रा कम पाई जाती है। 240 मिली बादाम दूध में मात्र 30 से 50 कैलोरी होती है, वहीं डेयरी मिल्क में 146 कैलोरी होती है। मतलब बादाम के दूध में डेयरी के दूध की अपेक्षा 65 से 80 प्रतिशत तक कम कैलोरी होती है और कम कैलोरी आपके वजन काे बढ़ने नहीं देती। दिनभर में दो से तीन बार डेयरी मिल्क की जगह बादाम दूध का सेवन कर सकते हैं। इससे प्रतिदिन 348 कैलोरी को कम कर सकते हैं (11)। इसके अलावा, इसमें पाया जाने वाला प्लांट प्रोटीन भी वजन को नियंत्रित रखने में कारगर हो सकता है (12)।

8. रक्त में मौजूद शुगर के लिए

खाद्य पदार्थों में मौजुद शुगर डायबिटीज की समस्या को और जटिल बना सकती है। ऐसे में बादाम के दूध का सेवन काफी फायदेमंद हो सकता है। इसमें शुगर और कार्बोहाइड्रेट की कम मात्रा पाई जाती है (4)। साथ ही इसमें पाया जाने वाला फाइबर रक्त शर्करा यानी ब्लड शुगर को नियंत्रित करने का काम कर सकता है (13)।

9. अच्छे पाचन के लिए बादाम दूध पीने के फायदे

फाइबर युक्त बादाम का दूध पाचन को दुरुस्त रखने के लिए लाभदकारी हो सकता है (4)। फाइबर पाचन तंत्र में सुधार कर कब्ज व अपच जैसी समस्याओं को दूर करने का काम करता है। इसके अलावा, फाइबर मल त्याग को आसान करता है, जिससे पाचन संबंधी समस्याएं काफी हद तक कम हो जाती हैं (14)। ऐसे में पाचन संबंधित परेशानियों के घरेलू इलाज के तौर पर बादाम दूध को बेहतर विकल्प माना जा सकता है।

10. अनिद्रा को दूर करने के लिए बादाम दूध के फायदे

नींद न आने की स्थिति को अनिद्रा कहते हैं। इस समस्या से छुटकारा पाने के लिए बादाम का दूध आपके लिए प्रकृति का अच्छा उपहार हाे सकता है। बादाम दूध में ट्रिप्टोफैन (Tryptophan) नामक यौगिक पाया जाता है, जो नींद न आने की समस्या को दूर करने में कारगर हो सकता है (15)। शोध के अनुसार, ट्रिप्टोफैन (Tryptophan) अनिद्रा जैसी स्थिति को दूर कर नींद के समय को बढ़ाने में मदद कर बेहतरीन नींद प्रदान करने में मदद करता है (16)।

11. त्वचा के लिए

बादाम दूध त्वचा के लिए भी लाभदायक है। इसमें पाए जाने वाले पोषक तत्व त्वचा की कई समस्याओं को दूर करने में मदद कर सकते हैं। इसमें खास तौर से विटामिन-डी और विटामिन-ई की अच्छी मात्रा पाई जाती है (4)। विटामिन-डी त्वचा को यूवी सुरक्षा देने के साथ-साथ हानिकारक बैक्टीरिया से भी बचाता है। वहीं विटामिन-ई लिपिड पेरोक्सीडेशन यानी त्वचा की कोशिकाओं की क्षति की एक वजह के प्रभावों से बचाने के लिए त्वचा को एक सुरक्षा कवच प्रदान करते हैं (17)।

12. बालों के लिए

बालों के लिए भी बादाम दूध के फायदे देखे जा सकते हैं। एक शोध में साफतौर से बताया गया है कि बादाम में पाए जाने वाले प्रोटीन, विटामिन और टोकोफेरोल, बालों के विकास को बढ़ावा देने में जरूरी भूमिका निभा सकते हैं (18)। वहीं, लेख में ऊपर पहले ही बताया जा चुका है कि बादाम का दूध बादाम से तैयार होता है। ऐसे में बालों के लिए बादाम दूध को गुणकारी कहना गलत नहीं होगा।

पढ़ते रहें लेख

बादाम दूध के फायदे जानने के बाद अब जानते हैं बादाम दूध के पौष्टिक तत्व के बारे में।

बादाम दूध के पौष्टिक तत्व – Almond Milk Nutritional Value in Hindi

बादाम दूध के इतने सब फायदे उसमें मौजूद पोषक तत्वों की वजह से हैं। तो फिर जानते हैं कि आखिर बादाम दूध में वो कौन-से पोषक तत्व पाए जाते हैं, जो इसे सेहत के लिए इतना फायदेमंद बनाते हैं (4)।

पोषक तत्वमात्रा प्रति 100 ग्राम
पानी96.54 ग्राम
ऊर्जा15 कैलोरी
प्रोटीन0.4 ग्राम
फैट0.96 ग्राम
कार्बोहाइड्रेट1.31 ग्राम
फाइबर0.2 ग्राम
शुगर0.81 ग्राम
कैल्शियम184 मिलीग्राम
आयरन0.28 मिलीग्राम
मैग्नीशियम6 मिलीग्राम
फास्फोरस9 मिलीग्राम
पोटैशियम67 मिलीग्राम
सोडियम72 मिलीग्राम
जिंक0.06 मिलीग्राम
कॉपर0.02 मिलीग्राम
मैंगनीज0.04 मिलीग्राम
विटामिन-ई6.33 मिलीग्राम
टोकोफेरोल, बीटा0.12 मिलीग्राम
विटामिन-डी 31 यूजी
फैटी एसिड टोटल सैचुरेटेड0.08 ग्राम
फैटी एसिड टोटल मोनोअनसैचुरेटेड0.59 ग्राम
फैटी एसिड टोटल पॉलीअनसैचुरेटेड0.24 ग्राम

स्क्रॉल करें

लेख में आगे जानेंगे कि घर पर बादाम दूध कैसे बनाएं।

घर पर बादाम दूध कैसे बनाये?

जरूरी नहीं कि बादाम दूध को बाजार से ही खरीद कर लाएं। इसे घर पर भी आसानी से बनाया जा सकता है। यहां हम घर में बादाम दूध बनाने की आसान विधि बता रहे हैं।

सामग्री:

  • 1 कप कच्चा बादाम
  • 2 कप पानी
  • आवश्यकतानुसार शहद या चीनी

बादाम दूध बनाने की विधि:

  • सबसे पहले बादाम को रात भर भिगो कर रखें।
  • अगले दिन भीगे हुए बादामों धो लें और छिलकों को अलग कर दें।
  • बादाम को ब्लेंडर में एक कप पानी के साथ डालकर कुछ मिनट तक अच्छी तरह ब्लेंड कर लें।
  • अब इसे अच्छी तरह छान कर रख लें, ताकि बादाम का दूध अच्छी तरह अलग हो जाए।
  • फिर दूसरे बर्तन में आप दूध को निकाल लें और मिठास के लिए स्वादानुसार शहद या चीनी मिला लें।
  • बादाम दूध उपयोग करने के लिए तैयार है।
  • बादाम दूध बनाने की विधि के बाद जानते हैं कि बादाम दूध का उपयोग कब, कैसे और कितनी मात्रा में कर सकते हैं।

आगे है ओर जानकारी

बादाम दूध बनाने की विधि  जानने के बाद अब जानेंगे बादाम दूध का उपयोग।

बादाम दूध का उपयोग – How to Use Almond Milk in Hindi

जैसा कि हमने बताया कि बादाम का दूध शरीर के लिए फायदेमंद माना जाता है। बादाम दूध का उपयोग कई प्रकार से कर सकते हैं।

  • इसका उपयोग गाय के दूध के स्थान पर पीने के लिए कर सकते हैं।
  • डेयरी मिल्क के स्थान पर इसका उपयोग करके आइसक्रीम या हल्वा आदि मिष्ठान बनाने में कर सकते हैं।
  • बादाम दूध का उपयोग शेक या स्मूदी में भी कर सकते हैं।
  • इसका उपयोग सेब और केले जैसे फलों के साथ मिलाकर स्मूदी के रूप मे भी कर सकते हैं।
  • गर्मी के मौसम में आप इसे ठंडा करके ठंडाई के रूप में पी सकते हैं।

अंत तक बने रहें

अब एक नजर बादाम दूध के नुकसान पर डाल लेते हैं।

बादाम दूध के नुकसान – Side Effects of Almond Milk in Hindi

बादाम का दूध यूं तो फायदेमंद होता है, लेकिन कभी-कभी ऐसी परिस्थिति भी बन जाती है, जब यह नुकसानदायक हो सकता है। जैसे:

  • जिन्हें बादाम से एलर्जी होती है, उन्हें बादाम दूध का सेवन नहीं करना चाहिए। इसके परिणाम हानिकारक हो सकते हैं (19)।
  • बादाम के दूध में पोटैशियम की अच्छी मात्रा पाई जाती है (4)। ऐसे में अगर कोई व्यक्ति दवाओं के सेवन के कारण या किडनी या लिवर की बीमारी जैसी कुछ रोग स्थितियों के कारण पोटैशियम का स्तर बढ़ाया है, तो बेहतर है बादाम दूध के सेवन से पहले डॉक्टरी सलाह लें।
  • अगर कोई व्यक्ति किसी स्वास्थ्य समस्या या किसी खास दवा का सेवन कर रह हो तो तब भी बादाम दूध के सेवन से पहले डॉक्टर से सलाह जरूर लें।

इस लेख में आपने जाना कि बादाम का दूध आपके लिए किस प्रकार से फायदेमंद हो सकता है। अगर इसे सीमित मात्रा में लिया जाए, तो यह औषधि का काम करता है। वहीं, अधिक मात्रा में इसका सेवन कई समस्याओं का कारण भी बन सकता है। सबसे अच्छी बात यह है कि अगर अन्य दूध पसंद नहीं है, तो बादाम के दूध का सेवन आपके लिए बेहतर विकल्प साबित हो सकता है। बादाम दूध के सारे फायदे आपने ऊपर पढ़ ही लिए हैं, तो देर किस बात की, अच्छी सेहत के लिए जल्द ही इसे डाइट में शामिल करें।

अक्सर पूछे जाने वाले सवाल

क्या रोजाना बादाम का दूध पीना हानिकारक है?

बादाम दूध के फायदे देखते हुए यह कहा जा सकता है कि रोजाना इसका सेवन फायदेमंद हो सकता है। वहीं, एक शोध में बताया गया है कि दिनभर में दो से तीन बार डेयरी मिल्क की जगह बादाम दूध का सेवन करके प्रतिदिन 348 कैलोरी को कम किया जा सकता है (11)। ऐसे में रोजाना बादाम का दूध पीना फायदेमंद माना जा सकता है।

क्या बादाम का दूध सामान्य दूध की तुलना में स्वास्थ्यवर्धक होता है?

सामान्य दूध की तुलना में बादाम के दूध में कम कैलोरी होती है। साथ ही यह सामान्य दूध में पाए जाने वाले सभी पोषक तत्वों से भरपूर होता है (11)। ऐसे में बादाम दूध को सामान्य दूध की तुलना में स्वास्थ्यवर्धक कहना गलत नहीं होगा।

बादाम मिल्क या जई का दूध, दोनों में से क्या बेहतर है?

बादाम व जई का दूध दोनों ही प्लांट बेस्ड व नॉन डेयरी मिल्क की श्रेणी में आते हैं। इन दोनों के अपने अलग-अलग फायदे हैं। बादाम के दूध में मौजूद एंटीऑक्सिडेंट फ्री रेडिकल्स से शरीर को होने वाले नुकसान से बचाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं। वहीं, ओट्स मिल्क एलडीएल कोलेस्ट्रॉल को कम करने में सहायक हो सकता है (11)। ऐसे में दोनों में से किसी एक को बेहतर कहना मुश्किल होगा।

क्या बादाम का दूध वजन बढ़ाता है?

नहीं, एक शोध में साफतौर से इस बात का जिक्र मिलता है कि बादाम दूध में पाए जाने वाला प्लांट प्रोटीन वजन को नियंत्रित रखने में सहायक हो सकता है (20)।

संदर्भ (Sources)

Articles on StyleCraze are backed by verified information from peer-reviewed and academic research papers, reputed organizations, research institutions, and medical associations to ensure accuracy and relevance. Read our editorial policy to learn more.

  1. Milk Nutrition and Perceptions
    https://scholarsarchive.jwu.edu/cgi/viewcontent.cgi?article=1032&context=student_scholarship
  2. Almonds and Cardiovascular Health: A Review
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC5946253/
  3. Cow’s Milk and Milk Alternatives
    https://www.cdc.gov/nutrition/infantandtoddlernutrition/foods-and-drinks/cows-milk-and-milk-alternatives.html
  4. Beverages almond milk unsweetened shelf stable
    https://fdc.nal.usda.gov/fdc-app.html#/food-details/174832/nutrients
  5. Vitamin effects on the immune system: vitamins A and D take centre stage
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC2906676/
  6. Vitamin E and immunity
    https://pubmed.ncbi.nlm.nih.gov/10714244/
  7. Riboflavin Deficiency
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/books/NBK470460/
  8. Calcium in diet
    https://medlineplus.gov/ency/article/002412.htm
  9. Magnesium in diet
    https://medlineplus.gov/ency/article/002423.htm
  10. Cancer preventive effects of vitamin E
    https://pubmed.ncbi.nlm.nih.gov/21466429/
  11. Plant-based milk alternatives an emerging segment of functional beverages: a review
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC5069255/
  12. The role of protein in weight management
    https://pubmed.ncbi.nlm.nih.gov/18296329/
  13. Effect of dietary fiber on constipation: A meta analysis
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC3544045/
  14. Effect of dietary fiber on constipation: A meta analysis
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC3544045/
  15. Effects of L-tryptophan on sleepiness and on sleep
    https://pubmed.ncbi.nlm.nih.gov/6764927/
  16. Discovering the link between nutrition and skin aging
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC3583891/
  17. Diet and hair loss: effects of nutrient deficiency and supplement use
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC5315033/
  18. Almond : A health diamond MILIND PARLE AND MEENU BHORIA
    http://researchjournal.co.in/upload/assignments/1_147-151.pdf
  19. Nut allergies
    https://www.betterhealth.vic.gov.au/health/ConditionsAndTreatments/nut-allergies
  20. The role of protein in weight management
    https://pubmed.ncbi.nlm.nih.gov/18296329/
Was this article helpful?
thumbsupthumbsup
The following two tabs change content below.
मोना नारंग ने चौधरी चरण सिंह यूनिवर्सिटी से जर्नलिज्म एंड मास कॉम में बीए और माखन लाल चतुर्वेदी यूनिवर्सिटी से... more

Neelanjana Singh

(RD)
Neelanjana Singh has over 30 years of experience in the field of nutrition and dietetics. She created and headed the... more

ताज़े आलेख