सामग्री और उपयोग

बादाम तेल (Badam Tel) के 13 फायदे, उपयोग और नुकसान – Almond Oil Benefits, Uses and Side Effects in Hindi

by
बादाम तेल (Badam Tel) के 13 फायदे, उपयोग और नुकसान – Almond Oil Benefits, Uses and Side Effects in Hindi Hyderabd040-395603080 October 15, 2019

बादाम का तेल कई सारे पोषक तत्वों से भरपूर होता है। इसका इस्तेमाल सिर्फ खाने में ही नहीं, बल्कि शरीर पर लगाने के लिए भी किया जाता है। वैसे बादाम तेल को आप में से कई इस्तेमाल भी करते होंगे, लेकिन क्या आपको पता है कि बादाम तेल कई सारी बीमारियों से आपको बचा सकता है। जी हां, बादाम तेल के कुछ ऐसे ही उपयोग के बारे में हम आपको बताएंगे। स्टाइलक्रेज के इस लेख में आप जानेंगे बादाम तेल के फायदे, उपयोग और इसके नुकसान के बारे में।

विषय सूची


जरूरी पोषक तत्वों से भरपूर बादाम तेल का इस्तेमाल स्वास्थ्य के लिए लंबे समय से किया जाता रहा है। जानिए, बादाम का तेल आपके लिए किस प्रकार अच्छा है।

बादाम का तेल आपके लिए क्यों अच्छा है?

हम बचपन से सुनते आ रहे हैं कि बादाम खाना शरीर के लिए अच्छा होता है, लेकिन क्या आपको मालूम है, बादाम तेल का इस्तेमाल भी हमारे लिए उतना ही फायदेमंद होता है, जितना कि बादाम। बादाम और बादाम के तेल में एंटी-इंफ्लेमेटरी, इम्यूनिटी-बूस्टिंग सहित कई गुण होते हैं (1)। इसलिए, बादाम का तेल आपकी त्वचा से लेकर आंतरिक स्वास्थ्य को बनाए रखने में मददगार साबित हो सकता है।

आइए अब विस्तार से जानते हैं, बादाम तेल के फायदे। 

बादाम तेल (Badam Tel) के फायदे – Benefits of Almond Oil in Hindi

बादाम के तेल के फायदे अनेक हैं। इस लेख में आगे पढ़ें बादाम तेल के इस्तेमाल से हमारे शरीर को क्या-क्या फायदे हो सकते हैं-

1. ह्रदय स्वास्थ्य

बादाम तेल (Badam Tel) के 13 फायदे, उपयोग और नुकसान - Almond Oil Benefits, Uses and Side Effects in Hindi Pinit

iStock

बादाम तेल में मौजूद मोनोअनसैचुरेटेड फैट (Monounsaturated fats) एलडीएल कोलेस्ट्रॉल (खराब कोलेस्ट्रॉल) को कम करता है और एचडीएल कोलेस्ट्रॉल (अच्छे कोलेस्ट्रॉल) को बढ़ाता है, जिससे ह्रदय रोग के जोखिम से बचा जा सकता है (2)। साथ ही बादाम तेल में मौजूद मोनोअनसैचुरेटेड फैटी एसिड रक्तचाप को कम कर ह्रदय स्वास्थ्य के लिए कारगर साबित हो सकता है (3)

 2. डायबिटीज

बादाम का तेल ब्लड शुगर को कम करने में मदद कर सकता है। एक वैज्ञानिक अध्ययन के मुताबिक, जिन लोगों ने नाश्ते में बादाम के तेल को शामिल किया था, उनके ब्लड में शुगर की मात्रा अन्य लोगों के मुकाबले काफी कम पाई गई। वहीं, बादाम की तुलना में बादाम तेल का सीधा सेवन डायबिटीज के लिए ज्यादा लाभकारी पाया गया है (4)

3. वजन कम करने में सहायक

बादाम के तेल के फायदे में वजन कम करना भी शामिल है। दरअसल, बादाम में मौजूद मोनोअनसैचुरेटेड फैट वजन घटाने में मदद कर सकता है (5)। बादाम के तेल में बादाम की तरह फाइबर नहीं होता। ऐसे में वजन कम करने के लिए बादाम तेल का उपयोग संतुलित मात्रा में करें (6)

4. आंखों के लिए फायदेमंद

बादाम तेल (Badam Tel) के 13 फायदे, उपयोग और नुकसान - Almond Oil Benefits, Uses and Side E (3) Pinit

iStock

बादाम तेल आंखों के लिए भी फायदेमंद माना जाता है। बादाम के तेल में मिलने वाला विटामिन-ई आंखों को स्वस्थ बनाने का काम करता है। दरअसल, बादाम के तेल में अल्फा टोकोफेरॉल (alpha-tocopherol) नामक विटामिन-ई मौजूद होता है, जो बूढ़ी होती आंखों की सेहत का ख्याल रखने के साथ ही आंखों की रोशनी को भी बढ़ा सकता है (7), (8)। आंखों की सेहत के लिए आप बादाम के तेल को पी भी सकते हैं और इससे आंखों की मसाज करना भी फायदेमंद माना जाता है। इसके अलावा, बादाम तेल का इस्तेमाल सूखी आंखों (Dry eye) के उपचार के लिए प्रयोग में लाए जाने वाले आई-ड्रॉप में भी किया जाता है (9)

5. पाचन स्वास्थ्य

बादाम का तेल पाचन स्वास्थ्य को बढ़ाने में भी उपयोगी माना जाता है। दरअसल, बादाम तेल का सेवन आंत से संबंधित क्रिया को बेहतर करने में सहायक है। यह इर्रिटेबल बाउल सिंड्रोम यानी आंत से जुड़ी समस्या (कब्ज, डायरिया, पेट दर्द आदि) को दूर करता है (1)। ऐसे में कहा जा सकता है कि बादाम तेल पाचन स्वास्थ्य को भी बनाए रखने में मदद करता है।

बादाम के तेल का इस्तेमाल बतौर इंजेक्शन भी होता है। बादाम के तेल के इंजेक्शन से बच्चों को होने वाले रेक्टल प्रोलैप्स (10) का इलाज किया जाता है। रेक्टल प्रोलैप्स बच्चों में पाई जाने वाली एक दुर्लभ स्थिति है, जिसमें बड़ी आंत का एक हिस्सा मल द्वार (एनस) के बाहर खिसक जाता है। यह पाचन तंत्र से जुड़ी एक ऐसी समस्या है, जिसका स्पष्ट कारण अब तक पता नहीं चल पाया है। यह समस्या कब्ज व डायरिया की वजह से हो सकती है (11)

6. कब्ज

बादाम का तेल इर्रिटेबल बाउल सिंड्रोम (Irritable Bowel Syndrome) के लक्षणों जैसे पेट में दर्द, कब्ज व मल से संबंधी अन्य परेशानी को दूर करने में सहायक साबित हो सकता है (1)। आप सोने से पहले एक गिलास हल्के गर्म दूध में 6 से 10 ml बादाम तेल मिलाकर पी सकते हैं, जिससे मल त्याग में होने वाली परेशानी से राहत मिल सकती है (12)

7. कान का संक्रमण

बादाम के तेल के फायदे में कान का मैल (Earwax) हटाना भी शामिल है। दरअसल, कान में सहने योग्य गर्म बादाम का तेल डालने से कान का मैल नरम हो जाता है, जिससे इसे निकालना आसान हो जाता है (13)। एक अध्ययन के मुताबिक, ईयर वैक्स हटाने वाले सेरमेनोलिटिक (ceruminolytic) की तरह बादाम का तेल कान के लिए ऑटो टॉक्सिसिटी यानी जहरीलेपन का कारण नहीं है। इस प्रकार कहा जा सकता है कि अगर आप कान के मैल को बादाम तेल की सहायता से निकालें, तो आप कान को संक्रमण से बचा सकते हैं। वहीं, बादाम के तेल से कान के सुनने की क्षमता बढ़ती है या नहीं  इसको लेकर शोध की जरूरत है (14)

8. अरोमाथेरेपी

अरोमाथेरेपी के लिए बादाम तेल का इस्तेमाल आपको सुखद अनुभूति दे सकता है। एक वैज्ञानिक शोध के अनुसार, दिन में दो बार बादाम तेल का उपयोग करने से नींद की गुणवत्ता में सुधार और थकान से निजात पाया जा सकता है। इसके अलावा, राइनो कंजक्टिवाइटिस (बहती नाक, छींक, लाल आंखें) से भी आराम पाया जा सकता है (15)

9. नवजात को होने वाले क्रैडल कैप में सहायक

बादाम तेल (Badam Tel) के 13 फायदे, उपयोग और नुकसान - Almond Oil Benefits, Uses and Side E Pinit

iStock

नवजात के सिर पर जमने वाली परत को क्रैडल कैप (Cradle Cap) कहा जाता है (16)। इससे छुटकारा पाने के लिए बादाम तेल सहायक हो सकता है। बादाम तेल में शुष्क त्वचा को ठीक करने के गुण मौजूद होते हैं (1)। इसलिए, माना जाता है कि क्रैडल कैप से निजात दिलाने में भी बादाम तेल मदद कर सकता है। इस विषय पर अभी और वैज्ञानिक शोध की आवश्यकता है।

10. दमकती त्वचा

बादाम के तेल में त्वचा को निखारने और उसको जीवंत करने की क्षमता होती है। इसमें मौजूद इमोलिएंट (emollient) और स्केलेरोसेंट (sclerosant) गुण चेहरे की रंगत में निखार लाते हैं। इसलिए, दमकती त्वचा के लिए बादाम का तेल चेहरे पर लगा सकते हैं। इसके अलावा, बादाम का तेल चोट और त्वचा पर अन्य निशानों को कम करने में भी सहायक हो सकता है (1)

11. काले घेरे

आंखों के नीचे पड़ने वाले काले घेरे को कम करने में भी बादाम तेल को सहायक माना जाता है। एक अध्ययन के मुताबिक, विटामिन-ई आंखों के नीचे पड़े काले घेरे को दूर करने में लाभदायक है (17)। बता दें कि बादाम स्किन लाइटनिंग गुण और विटामिन-ई से भरपूर होता है (1), (18)। बादाम तेल की दो-तीन बूंदें आंखों के नीचे लगाकर हल्की मसाज करने से काले घेरों से छुटकारा मिल सकता है।

12. सोरायसिस और एक्जिमा में सहायक

त्वचा के लिए बादाम तेल का इस्तेमाल लंबे समय से किया जा रहा है। प्राचीन चीनी और भारतीय आयुर्वेद उपचार में इसका इस्तेमाल सोरायसिस (Psoriasis) और एक्जिमा (Eczema) जैसी त्वचा संबंधी गंभीर समस्याओं के लिए किया जाता रहा है (1)। बता दें कि सोरायसिस एक त्वचा रोग है, जिसमें त्वचा लाल और पपड़ीदार हो जाती है। इस दौरान त्वचा में दर्द, सूजन भी हो सकती है (19)। वहीं, एक्जिमा त्वचा पर पड़ने वाले चकत्तों और लाल धब्बों को कहा जाता है (20)

[ पढ़े: सोरायसिस (छाल रोग) के कारण, लक्षण और घरेलू उपाय ]

13. बालों का स्वास्थ्य

बादाम तेल (Badam Tel) के 13 फायदे, उपयोग और नुकसान - Almond Oil Benefits, Uses and Side Eff Pinit

iStock

बालों को स्वस्थ बनाए रखने के लिए आप बादाम तेल का इस्तेमाल कर सकते हैं। बादाम का तेल विटामिन-ई से भरपूर होता है (18)। आप बादाम तेल को बालों की जड़ों में लगाकर मालिश कर सकते हैं, जिससे बालों में चमक आती है। बालों के लिए बादाम का तेल लाइट होता है। इसके इस्तेमाल करने से स्कैल्प के छिद्र बंद नहीं होते, जिसकी वजह से बालों के विकास में कोई रुकावट नहीं आती (21)

बादाम तेल के फायदे के बाद आगे लेख में पढ़िए इसमें कौन-कौन से पोषक तत्व पाए जाते हैं, जो हमारे शरीर के लिए लाभदायक हैं।

बादाम के तेल के पौष्टिक तत्व – Almond Oil Nutritional Value in Hindi

बादाम तेल को पोषक तत्वों का खजाना कहा जाए, तो गलत नहीं होगा। यह आपके शरीर को ऊर्जा देने के साथ ही कई रोगों से निजात दिलाने का काम भी करता है। खूबसूरती और सेहत के लिए इस्तेमाल होने वाले बादाम तेल में मौजूद पोषक तत्व इस प्रकार हैं (18) :

पोषक तत्वप्रति 100 ग्राम
ऊर्जा844 kacl
कुल लिपिड (वसा)100 g
विटामिन ई (अल्फा-टोकोफेरॉल)39.20 mg
विटामिन के (फाइलोक्विनोन)7.0 µg
फैटी एसिड, सैचुरेटेड8.200 g
फैटी एसिड, मोनोअनसैचुरेटेड69.900 g
फैटी एसिड, पॉलीअनसैचुरेटेड17.400 g

बादाम तेल में मौजूद पोषक तत्व के बारे में तो आपको पता चल ही गया है। अब इसके उपयोग और नुकसान नीचे पढ़ें।

बादाम तेल (Badam Tel) का उपयोग – How to Use Almond Oil in Hindi

बादाम के तेल का उपयोग सदियों से त्वचा को आराम पहुंचाने, मामूली घावों और चोट का इलाज करने के लिए किया जाता रहा है। बादाम के तेल का उपयोग आप निम्न तरीकों से कर सकते हैं –

  • दिनभर की थकावट दूर करने के लिए आप दो चम्मच बादाम के तेल से पूरे शरीर की मालिश कर सकते हैं, जिससे आपको काफी आराम महसूस होगा।
  • बादाम के तेल से आप चेहरे के लिए एक एंटी एजिंग लेप भी तैयार कर सकते हैं। इसके लिए आप 1 बड़ा चम्मच बादाम तेल और 1 चम्मच गुलाब जल मिलाकर चेहरे पर लगाएं और 15 मिनट बाद गुनगुने पानी से अपने चेहरे को धो लें।
  • बादाम के तेल को आप दूध के साथ पीने में भी इस्तेमाल कर सकते हैं।
  • इसके अलावा, बादाम के तेल का इस्तेमाल खाना बनाने में भी कर सकते हैं (22)
  • आप बादाम के तेल को सेब के सिरके के साथ मिलाकर सलाद ड्रेसिंग के लिए भी उपयोग कर सकते हैं।
  • आप पास्ता में भी बादाम तेल की कुछ बूंदें डालकर खा सकते हैं, इससे आपको स्वस्थ फैट मिलेगा।
  • अगर आपको बादाम तेल का स्वाद पसंद है, तो इसे आप अन्य किसी भी डिश के ऊपर भी डालकर इस्तेमाल में ला सकते हैं।
  • बादाम का तेल त्वचा के लिए भी उपयोगी माना गया है। आप अपने चेहरे को जवां और मुलायम बनाने के लिए बादाम के तेल की मालिश चेहरे पर कर सकते हैं।
  • विटामिन-ई से भरपूर होने की वजह से बादाम तेल आपके लिए सेहतमंद साबित हो सकता है। बता दें कि बादाम का तेल मीठा और कड़वा दो किस्म का होता है। बिटर यानी कड़वे बादाम तेल का इस्तेमाल दवाई बनाने के लिए होता है(23)

नोट: बादाम तेल का चेहरे या बालों पर इस्तेमाल करने से पहले देख लें कि कही आपको इससे एलर्जी तो नहीं है। अगर ऐसा कुछ होता है, तो आप इसका इस्तेमाल करने से पहले डॉक्टर की सलाह जरूर ले लें। 

बादाम तेल के उपयोग जानने के बाद अब हम इस तेल को घर में बनाने का तरीका जानते हैं।

घर में बादाम तेल बनाने की विधि – Make Almond Oil At Home in Hindi

घर में बादाम तेल बनाने की विधि - Make Almond Oil At Home in Hindi Pinit

iStock

बादाम रोगन तेल के फायदे को देखते हुए हर कोई इसका इस्तेमाल करना पसंद करता है, लेकिन इसकी शुद्धता को लेकर लोग हमेशा असमंजस में रहते हैं। क्या आप जानते हैं कि कुछ आसान तरीकों से आप बादाम का तेल घर पर ही बना सकते हैं। आइए जानते हैं बादाम तेल बनाने की विधि – 

सामग्री :
  • दो कप बादाम
  • एक बड़ा चम्मच जैतून का तेल
बनाने की विधि
  • बादाम को एक ब्लेंडर में डालकर पीस लें।
  • जब बादाम आपस में चिपकने लगें तो ब्लेंडर बंद कर दें।
  • अब जार में चिपके हुए बादाम के टुकड़ों को चम्मच से हटाकर बीच में करें और फिर दोबारा ब्लेंडर चलाएं।
  • बादाम से जब हल्का-हल्का तेल निकलने लगे, तो इसमें एक बड़ा चम्मच जैतून का तेल मिला दें।
  • कुछ देर ब्लेंडर चलाने के बाद इस पेस्ट को एक बर्तन में निकालकर कमरे के तापमान में रख दें।
  • इस दौरान पेस्ट से तेल अलग हो जाएगा।
  • इस प्रकार आप बादाम का तेल निकाल सकते हैं।

बादाम तेल के फायदे और इसे घर पर कैसे बनाया जाए, यह तो आप जान चुके हैं। चलिए अब बात करते हैं बादाम तेल के नुकसान के बारे में।

बादाम तेल के नुकसान – Side Effects of Almond Oil in Hindi

बादाम का तेल पोषक तत्वों से भरपूर होता है, लेकिन इसके स्वास्थ्य लाभ के साथ इसके नुकसान को नजरअंदाज नहीं किया जा सकता है। नीचे जानिए बादाम तेल का अत्यधिक सेवन से होने वाले नुकसान –

  • बादाम के तेल का अत्यधिक इस्तेमाल आपके वजन को बढ़ा सकता है, क्योंकि इसमें काफी मात्रा में कैलोरी मौजूद होती है। महज 28 ग्राम बादाम में 164 कैलोरी पाई जाती है(24)। वहीं, जब इसका तेल बनाया जाता है, तो इसमें कैलोरी और फैट और ज्यादा बढ़ जाता है।
  • एक अध्ययन के मुताबिक, गर्भवती महिलाओं द्वारा बादाम तेल का रोजाना सेवन निर्धारित समय से पहले प्रसव का खतरा बढ़ा सकता (25)
  • बादाम का तेल रक्त में ग्लूकोज के स्तर को कम करता है, इसलिए अगर आप इसे ज्यादा मात्रा में लेंगे तो हाइपोग्लाइसीमिया (Hypoglycemia) यानी ब्लड शुगर की मात्रा काफी कम हो जाती है। फिलहाल इस तथ्य की पुष्टि के लिए कोई सटीक वैज्ञानिक प्रमाण उपलब्ध नहीं है।

बादाम तेल के फायदे जानने के बाद आप इसका इस्तेमाल अपनी जरूरत के हिसाब से कर सकते हैं। हम आशा करते हैं कि बादाम तेल से जुड़ी सभी जानकारी आपको इस लेख के माध्यम से मिल गई होगी। अगर आप बादाम तेल के बारे में और कुछ जानना चाहते हैं, तो नीचे दिए कमेंट बॉक्स में सवाल पूछ सकते हैं। साथ ही लेख में दिए गए घरेलू नुस्खों को अपनाने के बाद आपका अनुभव कैसे रहा, यह भी आप हमारे साथ साझा कर सकते हैं।

और पढ़े:

The following two tabs change content below.

vinita pangeni

विनिता पंगेनी ने एनएनबी गढ़वाल विश्वविद्यालय से मास कम्यूनिकेशन में बीए ऑनर्स और एमए किया है। टेलीविजन और डिजिटल मीडिया में काम करते हुए इन्हें करीब चार साल हो गए हैं। इन्हें उत्तराखंड के कई पॉलिटिकल लीडर और लोकल कलाकारों के इंटरव्यू लेना और लेखन का अनुभव है। विशेष कर इन्हें आम लोगों से जुड़ी रिपोर्ट्स करना और उस पर लेख लिखना पसंद है। इसके अलावा, इन्हें बाइक चलाना, नई जगह घूमना और नए लोगों से मिलकर उनके जीवन के अनुभव जानना अच्छा लगता है।

संबंधित आलेख