Reviewed By Neelanjana Singh, RD
Written by , (शिक्षा- एमए इन जर्नलिज्म मीडिया कम्युनिकेशन)

कॉफी के शौकीन लोगों को यह बात जानकर बेहद खुशी होगी कि ब्लैक कॉफी शरीर के लिए फायदेमंद हो सकती है। जी हां, ब्लैक कॉफी पीना फायदे का सौदा साबित हो सकता है, अगर इसका सेवन सही समय और सही मात्रा में किया जाए। ब्लैक कॉफी के सेवन से शारीरिक और मानसिक विकारों से राहत पाने में मदद मिल सकती है। साथ ही ब्लैक कॉफी से दिन की शुरुआत करने पर व्यक्ति थकान मुक्त महसूस कर सकता है। यही वजह है कि स्टाइलक्रेज के इस लेख में ब्लैक कॉफी पीने के फायदे और ब्लैक कॉफी के नुकसान को लेकर विस्तार से जानकारी दी गई है।

पढ़ें विस्तार से

आइए, ब्लैक कॉफी पीने के फायदे जानने से पहले जानते हैं कि ब्लैक कॉफी क्या है?

ब्लैक कॉफी क्या है – What is Black Coffee in Hindi

कॉफी को कॉफिया अरेबिका (Coffea Arabica) नाम के एक पेड़ पर लगने वाले फल से प्राप्त किया जाता है (1)। कॉफिया अरेबिका के पेड़ पर लगने वाले इन फलों (कॉफी बीन्स) को भूनकर पीस लिया जाता है। इस कॉफी पाउडर से कई तरह की कॉफी बनाई जाती है, जिनमें से एक है ब्लैक कॉफी। ब्लैक कॉफी बनाने की विधि इस लेख में आगे दी गई है। ब्लैक कॉफी में दूध और शक्कर का इस्तेमाल नहीं किया जाता है, जिसकी वजह से शुद्ध कॉफी में पाए जाने वाले गुण ज्यादा प्रभावित नहीं होते, जिससे शरीर को फायदा पहुंच सकता है। ब्लैक कॉफी पीने के फायदे के बारे में विस्तृत जानकारी आगे लेख में दी गई है। ब्लैक कॉफी पीने के फायदे और नुकसान जानने में यह आर्टिकल उपयोगी साबित हो सकता है।

अंत तक पढ़ें

आइए, अब जानते हैं कि ब्लैक कॉफी के फायदे यानी ब्लैक कॉफी बेनिफिट्स क्या हैं?

ब्लैक कॉफी के फायदे – Benefits of Black Coffee in Hindi

ब्लैक कॉफी शरीर पर क्या असर डालती है, इस विषय पर सीधे तौर पर बहुत ही कम शोध उपलब्ध हैं। इसलिए, आगे जो ब्लैक कॉफी के फायदे बताए जा रहे हैं, वो कुछ सीधे तौर पर ब्लैक कॉफी, सामान्य कॉफी और इसमें मौजूद पोषक तत्वों पर आधारित हैं। वहीं, पाठक इस बात का भी ध्यान रखें कि ब्लैक कॉफी लेख में शामिल किसी भी बीमारी का डॉक्टरी इलाज नहीं है। यह केवल समस्या से बचाव और उनके लक्षणों को कुछ हद तक कम करने में मददगार हो सकती है। वहीं, इसका अधिक सेवन ब्लैक कॉफी के नुकसान का कारण भी बन सकता है, जिसे आगे विस्तार से बताया गया है। अब पढ़िए आगे –

1. वजन कम करने में ब्लैक कॉफी के फायदे

ब्लैक कॉफी का सेवन करके वजन को कम किया जा सकता है। दरअसल, इसमें कैफीन नामक तत्व होता है, जो मेटाबॉलिज्म यानी भोजन से ऊर्जा बनने की क्रिया में सुधार कर सकता है। एनसीबीआई (नेशनल सेंटर फॉर बायोटेक्नोलॉजी इन्फोर्मेशन) की वेबसाइट पर प्रकाशित एक स्टडी के अनुसार कैफीन का सेवन उर्जा को संतुलित कर सकता है और गर्म प्रभाव (Thermogenesis Effect) पैदा कर मोटापे को नियंत्रित करने में मददगार हो सकता है (2)। कुछ रिसर्च का यह भी कहना है कि कैफीन के द्वारा मेटाबॉलिज्म का बढ़ना, वजन कम करने में सहायता कर सकता है (3)

2. तनाव से राहत देने में ब्लैक कॉफी के फायदे

ब्लैक कॉफी बेनिफिट्स में तनाव से राहत भी शामिल है। डिप्रेशन, चिंता, तनाव और उबाऊपन, ये सभी अत्यधिक नींद और सुस्ती आने का कारण बन सकते हैं (4)ब्लैक कॉफी में कैफीन की अच्छी मात्रा पाई जाती है, यह मस्तिष्क और नर्वस सिस्टम को उत्तेजित कर सकता है। विशेषज्ञ कहते हैं कि कैफीन लेने से सुस्ती और थकान को कुछ समय के लिए कम किया जा सकता है, जोकि तनाव के लक्षण हैं। हालांकि, तनाव की स्थिति में इसका अधिक सेवन करना भी सही नहीं माना जाता है, इसके लिए मनोचिकित्सक से सलाह जरूर लें (5)

वहीं, एक अन्य शोध में इस बात की पुष्टि हुई है कि कैफीन कोर्टिसोल हार्मोन (जिसे स्ट्रेस हार्मोन भी कहते हैं) को बढ़ाने का काम कर सकता है। इस हार्मोन का बढ़ा हुआ स्तर तनाव, अवसाद और नींद आने में समस्या के साथ मस्तिष्क को क्षति पहुंचाने का काम कर सकता है। इसलिए, तनाव की स्थिति में कैफिन के स्रोत के लिए ब्लैक कॉफी का सेवन करने से पहले डॉक्टरी परामर्श जरूर लें (6) (7)

3.  मधुमेह के लिए ब्लैक कॉफी के फायदे

एक शोध में पाया गया है कि कॉफी के सेवन से रक्त में ग्लूकोज की मात्रा को कम किया जा सकता है। इससे मधुमेह की समस्या से निजात पाया जा सकता है। साथ ही इसमें क्लोरोजेनिक एसिड पाया जाता है, जो एंटीऑक्सीडेंट की तरह काम करता है। क्लोरोजेनिक एसिड आंतों द्वारा ग्लूकोज अवशोषण को रोक सकता है और इंसुलिन संवेदनशीलता (इंसुलिन द्वारा रक्त शर्करा को प्रभावी ढंग से कम करना) में सुधार कर सकता है। वहीं, इस रिसर्च में यूनाइटेड स्टेट्स में हुई एक स्टडी का भी जिक्र मिलता है, जिसमें प्रतिदिन ब्लैक कॉफी पीने वालों में मधुमेह का जोखिम कम देखा गया है। इसलिए, कहा जा सकता है कि ब्लैक कॉफी मधुमेह के रोगियों के लिए अच्छा विकल्प हो सकती है, लेकिन ब्लैक कॉफी पीने का फायदा तभी है, जब इसे बिना शुगर के पिया जाए (8)। ब्लैक कॉफी के फायदों के लिए मधुमेह मरीज डॉक्टरी सलाह के अनुसार, इसे अपने डायबिटीज डाइट में भी शामिल कर सकते हैं।

4. दिमाग के लिए ब्लैक कॉफी के फायदे

ब्लैक कॉफी का सेवन दिमाग के लिए फायदेमंद हो सकता है। कॉफी में पाया जाने वाला कैफीन कॉग्निटिव (मस्तिष्क संबंधी) और मूड संबंधी लाभ प्रदान कर सकता है। इससे जुड़े शोध में जिक्र मिलता है कि कॉफी का सेवन सजगता (Alertness) बनाए रखने में सहायक हो सकता है। साथ ही यह थकान और सिरदर्द को भी दूर करने का काम कर सकता है। इस शोध में डीकैफिनेटड कॉफी (बिना कैफीन वाली) को भी अलर्टनेस बढ़ाने में कारगर पाया गया है (9)। इसलिए, ब्लैक कॉफी पीने के फायदे दिमाग के लिए कारगर हो सकते हैं।

5. हृदय के लिए ब्लैक कॉफी के फायदे

ब्लैक कॉफी के फायदे में हृदय को स्वस्थ रखना भी शामिल हो सकता है। दरअसल, इससे जुड़ा एक शोध एनसीबीआई की वेबसाइट पर प्रकाशित है। शोध में जिक्र मिलता है कि कॉफी में कई ऐसे फाइटोकेमिकल्स पाए जाते हैं, जो ग्लूकोज मेटाबॉलिज्म में सुधार करके, ऑक्सीडेटिव स्ट्रेस को दूर करके, प्लेटलेट फंक्शन और इम्यूनोमॉड्यूलेशन पर प्रभाव डालकर हृदय को सुरक्षा देने का काम कर सकते हैं (10)

वहीं, एक अध्ययन में कॉफी के सेवन और हार्ट फेल्योर के मध्य एक विपरीत संबंध को दर्शाया गया है यानी कॉफी का सीमित मात्रा में सेवन हृदय रोग के जोखिम को कुछ हद तक कम कर सकता है। वहीं, इस शोध में इस बात को भी साफ किया गया है कि कॉफी का सेवन हृदय रोग को बढ़ाने का काम भी कर सकता है (11)। ऐसे में यह कहना थोड़ा मुश्किल हो सकता है कि ब्लैक कॉफी के फायदे किस प्रकार हृदय को लाभ पहुंचाने का काम कर सकते हैं। इसलिए, हृदय के लिए ब्लैक कॉफी का सेवन करने से पहले डॉक्टरी परामर्श जरूर लें।

जारी रखें पढ़ना

6. लीवर के लिए ब्लैक कॉफी के फायदे

एक रिसर्च में पाया गया है कि ब्लैक कॉफी पीने के फायदे लीवर के लिए भी लाभकारी हो सकते है। कॉफी में पॉलीफेनोल, कैफीन और डिटरपीनोइड (एक प्रकार का यौगिक) होते हैं, जो लीवर को ठीक से काम करने में मदद कर सकते हैं। कॉफी के सेवन से शरीर में फैटी एसिड व लीवर में सूजन में कमी आ सकती है। वहीं, कई शोध कॉफी के हेप्टोप्रोटेक्टिव गुणों की भी पुष्टि करते हैं। अध्ययन कहते हैं कि कॉफी का सेवन लीवर स्टीटोसिस (लीवर कोशिकाओं में फैट का जमा होना) को कम कर सकता है। साथ ही यह लीवर ऊतकों को क्षति से बचाने के साथ-साथ लीवर कैंसर के जोखिम को भी कम करने में मदद कर सकती है (12)। इसलिए, लीवर स्वास्थ्य के लिए इसे प्रभावी माना जा सकता है।

7. कैंसर के लिए ब्लैक कॉफी के फायदे

कैंसर से बचाव में भी ब्लैक कॉफी के लाभ देखे जा सकते हैं। एनसीबीआई की वेबसाइट पर प्रकाशित एक स्टडी के अनुसार कॉफी में मौजूद कैफीन गैस्ट्रिक यानी पेट के कैंसर से बचाव में सहायक हो सकता है। यह कैंसर कोशिका को बढ़ने से रोक सकता है। इतना ही नहीं, कॉफी (कैफीन) ग्रासनली, स्तन, लिवर और मस्तिष्क जैसे अंगों पर भी एंटी कैंसर प्रभाव दिखा सकती है (13)। इस तरह ब्लैक कॉफी के फायदे कैंसर में लाभकारी हो सकते हैं, लेकिन ब्लैक कॉफी के नुकसान से बचने के लिए एक बार डॉक्टर से सलाह मशवरा करना जरूरी है। ध्यान दें कि ब्लैक कॉफी कैंसर का इलाज नहीं है, अगर कोई इस बीमारी से जूझ रहा है, तो इसका डॉक्टरी उपचार करवाना अतिआवश्यक है। 

8. पार्किंसंस रोग के लिए ब्लैक कॉफी के लाभ

पार्किंसंस, एक तंत्रिका तंत्र विकार है, जिसमें हाथ-पैर कांपने लगते हैं। इससे जुड़े एक शोध में जिक्र मिलता है कि कॉफी में मौजूद कैफिन का सेवन पार्किंसंस के जोखिम को कम करने में मदद कर सकता है (14)। वहीं, एक अन्य शोध में पाया गया है कि कैफीन में तंत्रिका तंत्र को उत्तेजित करने वाले (न्यूरोस्टिमुलेंट) और इसको सुरक्षा देने वाले (न्यूरोप्रोटेक्टिव) गुण पाए जाते हैं। इस आधार पर कहा जा सकता है कि केंद्रीय तंत्रिका तंत्र पर कैफीन का सकारात्मक असर हो सकता है। कॉफी के इन्हीं गुणों के चलते पार्किसंस रोग से निजात पाने के लिए इसका सेवन किया जा सकता है (15)।  

9. डिप्रेशन के लिए ब्लैक कॉफी के लाभ

कॉफी डिप्रेशन को दूर करने का काम कर सकती है। इससे जुड़े एक शोध में जिक्र मिलता है कि कॉफी का अधिक सेवन अवसाद के जोखिम को कम कर सकता है। शोध में इन दोनों के मध्य विपरीत संबंध को बताया गया है (16)। हालांकि, अधिक मात्रा में यह शरीर को नुकसान भी पहुंचा सकती है, जिसका आगे लेख में जिक्र किया गया है।

10. शारीरिक क्षमता बढ़ाने में ब्लैक कॉफी के लाभ

कई कसरत करने वाले लोग शरीर के स्टैमिना को बढ़ाने के लिए कैफीन का उपयोग करते हैं। हालांकि, ऐसा करना सुरक्षित है या नहीं, इसकी पुष्टि नहीं की जा सकी है (17)। दरअसल, कॉफी में कैफीन की अच्छी मात्रा पाई जाती है। इसलिए, ऐसा कहा जा सकता है कि कॉफी के सेवन से शरीर की ऊर्जा को बढ़ाने में मदद मिल सकती है (18)। फिलहाल, इस विषय पर अभी और शोध किए जाने की आवश्यकता है।

अधिक जानकारी आगे है

ब्लैक कॉफी पीने के फायदे के बाद जानते हैं कि ब्लैक कॉफी में कौन-कौन से पौष्टिक तत्व पाए जाते हैं।

ब्लैक कॉफी के पौष्टिक तत्व – Black Coffee Nutritional Value in Hindi

ब्‍लैक कॉफी के फायदे जानने के बाद इसमें मौजूद पोषक तत्वों की जानकारी लेना भी जरूरी है। नीचे हम कॉफी के पोषक तत्व बताने जा रहे हैं, जो ब्लैक कॉफी में भी मौजूद हो सकते हैं (19)

पोषक तत्वमात्रा प्रति 100 ग्राम
पानी99.39 ग्राम
ऊर्जा1 कैलोरी
प्रोटीन0.12 ग्राम
टोटल लिपिड (फैट)0.02 ग्राम
कैल्शियम2 ग्राम
आयरन0.01 मिलीग्राम
मैग्नीशियम3 मिलीग्राम
फास्फोरस3 मिलीग्राम
पोटेशियम49 मिलीग्राम
सोडियम2  मिलीग्राम
जिंक0.02 मिलीग्राम
विटामिन-सी, टोटल एस्कॉर्बिक एसिड0.0 मिलीग्राम
थियामिन0.014 मिलीग्राम
राइबोफ्लेविन0.076 मिलीग्राम
नियासिन0.191 मिलीग्राम
फोलेट, फूड2 माइक्रोग्राम
विटामिन-ई (अल्फा टोकोफेरॉल)0.01 मिलीग्राम
विटामिन बी-60.001 मिलीग्राम
विटामिन के (पिल्लोक्विनोने)0.1 माइक्रोग्राम
फैटी एसिड, टोटल सैचुरेटेड0.002 ग्राम
फैटी एसिड, टोटल मोनोअनसैचुरेटेड0.015 ग्राम
फैटी एसिड, टोटल पॉलीअनसैचुरेटेड0.001 ग्राम
कैफिन40 एमजी

है ना जानकारी मजेदार

आइए, अब जानते हैं कि ब्लैक कॉफी बनाने की सही विधि क्या है?  

ब्लैक कॉफी बनाने की विधि – How to Prepare Black Coffee in Hindi

ब्लैक कॉफी बनाना बेहद आसान है। इसके लिए चाहिए एक अच्छे ब्रांड की कॉफी, जो दमदार खुशबू और स्वाद दे सके। आइए जानते हैं इसे कैसे बनाएं? 

सामग्री:

  • 1 कप पानी
  • ½ टेबलस्पून कॉफी पाउडर ‘
  • 1 टेबलस्पून ब्राउन शुगर (वैकल्पिक) 

बनाने की विधि:

  • कॉफी पाउडर को एक कप में डालें।
  • पानी को अलग से उबालने के लिए रख दें।
  • उबलने के बाद इसमें से एक चौथाई कप पानी कॉफी वाले कप में डालें।
  • कॉफी पाउडर को इस पानी में चम्मच की मदद से मिलाएं।
  • जब कॉफी अच्छी तरह घुल जाए, तो बाकि बचा पानी भी कप में डाल लें।
  • स्वाद बढ़ाने के लिए इसमें ब्राउन शुगर वैकल्पिक रूप से मिलाई जा सकती है।
  • ब्लैक कॉफी तैयार है, इसे गर्मागर्म पिएं।

अंत तक पढ़ें

आइए, अब जानते हैं कि ब्लैक कॉफी पीने का सही समय कौन-सा होता है।

ब्लैक कॉफी पीने का सही समय – When to Drink Black Coffee in Hindi

विशेषज्ञों का यह कहना है कि कॉफी पीने का सबसे अच्छा समय सुबह 9:30–11:30 बजे हो सकता है, जब अधिकांश लोगों का कोर्टिसोल (स्ट्रेस हार्मोन) स्तर कम होता है। जैसा कि हमने ऊपर जानकारी दी कि कैफीन का सेवन कोर्टिसोल को बढ़ा सकता है। कोर्टिसोल का बढ़ा हुआ स्तर शरीर को कई तरह से नुकसान पहुंचाने का काम कर सकता है (20)। ब्‍लैक कॉफी के फायदे लेने के लिए इसकी मात्रा और पीने से सही समय को लेकर डॉक्टरी परामर्श लिया जा सकता है।

जारी रखें पढ़ना

लेख में आगे जानते हैं कि कॉफी कहां से खरीदें।

ब्लैक कॉफी कहां से खरीदें?

ब्लैक कॉफी साधारण कॉफी से ही बनती है, लेकिन इसे खरीदते समय नकली उत्पाद से बचना बहुत जरूरी है। कॉफी किसी भी लोकल ग्रोसरी स्टोर पर मिल जाती है, लेकिन इसे हमेशा विश्वसनीय विक्रेता से ही खरीदें। कॉफी खरीदते समय ब्रांड का बहुत ख्याल रखें। जाने-पहचाने और लोकप्रिय ब्रांड की कॉफी खरीदना एक सही निर्णय हो सकता है। अगर सही कॉफी ब्रांड का इस्तेमाल किया जाए, तो ब्‍लैक कॉफी के फायदे अधिकतम लिए जा सकते हैं।

पढ़ें आगे

ब्लैक कॉफी के बारे में काफी जानकारी पाठक हासिल कर चुके हैं, अब एक नजर डालते हैं ब्लैक कॉफी के नुकसान पर।

ब्लैक कॉफी के नुकसान – Side Effects of Black Coffee in Hindi

ब्लैक कॉफी के फायदे वाकई लाजवाब हैं, लेकिन इसके कुछ नुकसान भी है, जिन्हें नजरअंदाज नहीं करना चाहिए। दरअसल, कॉफी में कैफीन की मात्रा पाई जाती है। अगर इसे अधिक मात्रा में लिया जाए, तो निम्न प्रकार के दुष्प्रभाव हो सकते हैं (5)

  • दिल की धड़कन तेज हो सकती है।
  • चिंता का कारण बन सकती है।
  • नींद में कमी आ सकती है।
  • उल्टी होने की समस्या हो सकती है।
  • बेचैनी बढ़ सकती है।
  • बार-बार पेशाब आने की समस्या हो सकती है।
  • उपरोक्त नुकसान के अलावा, कैफीन का अधिक सेवन कोर्टिसोल (स्ट्रेस हार्मोन) को बढ़ा सकता है, इससे मानसिक समस्याएं पैदा हो सकती हैं (7)

बेशक, ब्लैक कॉफी पीने के फायदे अधिक और नुकसान कम हैं। इसलिए, अगर आप इससे दिन की शुरुआत करना चाहते हैं, तो पहले इस लेख में शामिल ब्लैक कॉफी के फायदे और नुकसान को ध्यान से पढ़ें। साथ ही इसमें मौजूद पौष्टिक तत्वों को भी लेख में दिए चार्ट के माध्यम से समझा जा सकता है, जिससे आपको पता चल सकेगा कि इसमें कौन-कौन से गुण पाए जाते हैं। हम उम्मीद करते हैं कि हमारे द्वारा दी गई ब्लैक कॉफी बेनिफिट्स की जानकारी आपके लिए उपयोगी सिद्ध होगी है। इस जानकारी को अपने दोस्तों के साथ शेयर जरूर करें।

अक्सर पूछे जाने वाले सवाल

एक दिन में कितनी ब्लैक कॉफी पी जा सकती है?

एक स्वस्थ व्यक्ति एक दिन में 2 से 3 कप कॉफी पी सकता है। इससे अधिक कॉफी का सेवन करना स्वास्थ्य के लिए हानिकारक हो सकता है (21)। अच्छा होगा कि इसकी सही मात्रा के लिए डॉक्टरी परामर्श लिया जाए।

क्या ब्लैक कॉफी व्यक्ति को मोटा बनाती है?

कॉफी में अगर चीनी मिलाते हैं, तो इससे वजन बढ़ने का जोखिम पैदा हो सकता है। चीनी या शुगर, वजन बढ़ने का कारण बन सकता है। इसलिए, ब्लैक कॉफी के अधिकतम फायदे लेने के लिए इसमें शुगर न मिलाएं (22)

क्या हम खाली पेट ब्लैक कॉफी पी सकते हैं?

हां, ब्लैक कॉफी को खाली पेट पी जा सकती है।हालांकि, अगर किसी को कोई स्वास्थ्य संबंधी समस्या हो, तो खाली पेट ब्लैक कॉफी के सेवन से पहले डॉक्टरी सलाह जरूर लें।

क्या ब्लैक कॉफी पेट की चर्बी को कम कर सकती है?

हां, ब्लैक कॉफी का सेवन कुछ हद तक पेट की चर्बी को कम कर सकता है। इसमें मौजूद कैफीन मेटाबॉलिज्म बढ़ाकर चर्बी को कम करने में मदद कर सकता है (3)

References

Articles on StyleCraze are backed by verified information from peer-reviewed and academic research papers, reputed organizations, research institutions, and medical associations to ensure accuracy and relevance. Read our editorial policy to learn more.

  1. Genetic Diversity of Arabica Coffee (Coffea arabica L.) in Nicaragua as Estimated by Simple Sequence Repeat Markers
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC3373144/
  2. Normal caffeine consumption: influence on thermogenesis and daily energy expenditure in lean and postobese human volunteers
    https://pubmed.ncbi.nlm.nih.gov/2912010/
  3. Weight-Loss and Maintenance Strategies
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/books/NBK221839/
  4. Drowsiness
    https://medlineplus.gov/ency/article/003208.htm
  5. Caffeine in the diet
    https://medlineplus.gov/ency/article/002445.htm
  6. Dose Effect of Caffeine on Testosterone and Cortisol Responses to Resistance Exercise
    https://pdfs.semanticscholar.org/7db2/b4007e7451ededb9a50f551ca466738c427d.pdf
  7. High Cortisol and the Risk of Dementia and Alzheimer’s Disease: A Review of the Literature
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC6405479/
  8. Effect of Coffee Consumption on the Progression of Type 2 Diabetes Mellitus among Prediabetic Individuals
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC4754290/
  9. The Acute Effects of Caffeinated Black Coffee on Cognition and Mood in Healthy Young and Older Adults
    https://pubmed.ncbi.nlm.nih.gov/30274327/
  10. Effects of tea and coffee on cardiovascular disease risk
    https://pubmed.ncbi.nlm.nih.gov/22456725/
  11. Coffee Consumption and Cardiovascular Health: Getting to the Heart of the Matter
    https://www.researchgate.net/publication/256291160_Coffee_Consumption_and_Cardiovascular_Health_Getting_to_the_Heart_of_the_Matter
  12. Potential Mechanisms Underlying the Role of Coffee in Liver Health
    https://pubmed.ncbi.nlm.nih.gov/30041273/
  13. Caffeine induces sustained apoptosis of human gastric cancer cells by activating the caspase-9/caspase-3 signalling pathway
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC5547974/
  14. Association of Coffee and Caffeine Intake With the Risk of Parkinson Disease
    https://www.researchgate.net/publication/12497939_Association_of_Coffee_and_Caffeine_Intake_With_the_Risk_of_Parkinson_Disease
  15. Potential Role of Caffeine in the Treatment of Parkinson’s Disease
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC4962431/
  16. Coffee Consumption and the Risk of Depression in a Middle-Aged Cohort: The SUN Project
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC6163886/
  17. Caffeine and Exercise: What Next?
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC6548757/
  18. Caffeine and exercise: metabolism, endurance and performance
    https://pubmed.ncbi.nlm.nih.gov/11583104/
  19. coffee , brewed
    https://fdc.nal.usda.gov/fdc-app.html#/food-details/171890/nutrients
  20. Caffeine Stimulation of Cortisol Secretion Across the Waking Hours in Relation to Caffeine Intake Levels
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC2257922/
  21. Coffee
    https://www.hsph.harvard.edu/nutritionsource/food-features/coffee/
  22. Sugar consumption, metabolic disease and obesity: The state of the controversy
    https://pubmed.ncbi.nlm.nih.gov/26376619/

और पढ़े:

Was this article helpful?
thumbsupthumbsdown
The following two tabs change content below.

ताज़े आलेख