सामग्री और उपयोग

ब्लूबेरी (नीलबदरी) के 15 फायदे, उपयोग और नुकसान – Blueberry Benefits and Side Effects in Hindi

by
ब्लूबेरी (नीलबदरी) के 15 फायदे, उपयोग और नुकसान – Blueberry Benefits and Side Effects in Hindi Hyderabd040-395603080 December 5, 2019

प्रकृति ने हमें कई प्रकार के फल, सब्जियां और जड़ी-बूटियां दी हैं। इनमें पाए जाने वाले औषधीय गुण हमारे संपूर्ण स्वास्थ्य के लिए जरूरी हैं। कोई फल वजन को बढ़ाने में मदद करता है, तो कोई वजन कम करने में। किसी में एंटीकैंसर गुण होते हैं, तो किसी में शुगर को कंट्रोल करने की क्षमता होती है। स्टाइलक्रेज के इस आर्टिकल में हम ऐसे फल की बात कर रहे हैं, जो न सिर्फ स्वाद में भरपूर है, बल्कि इसमें पाए जाने वाले कई औषधीय गुण हमारी सेहत के लिए भी लाभदायक हो सकते हैं। हम बात कर रहे हैं गुणकारी फल ब्लूबेरी की, जिसे नीलबदरी के नाम से भी जाना जाता है। ब्लूबेरी फल देखने में जितना आकर्षक है, उतना ही फायदेमंद भी है। आइए, ब्लूबेरी के फायदे, उपयोग और नुकसान के बारे में विस्तार से जानते हैं।

क्या आप जानते हैं कि दुनिया भर में ब्लूबेरी के विभिन्न प्रकार उपलब्ध हैं। आइए, लेख की शुरुआत इसी से करते हैं।

 ब्लूबेरी के प्रकार – Types of Blueberry in Hindi

 ब्लूबेरी एक ग्रीष्मकालीन फसल है, जो एरिकेसी (Ericaceae) नामक पौधे के परिवार से संबंध रखता है। ब्लूबेरी के मुख्य रूप से दो परिवार हैं, जिनमें में तीन अलग-अलग प्रकार के ब्लूबेरी शामिल हैं (1) :

  • रेबिटआई ब्लूबेरी (Rabbiteye Blueberry Bush): इसमें प्रीमियर, टिफब्लू और पाउडरब्लू प्रकार की बेरीज शामिल होती हैं।
  • हाईबश ब्लूबेरी (Highbush Blueberry Bush): यह बेरी जल्द ही पक जाती है और ठंड को सहन कर सकती हैं। इसमें क्रोएशिया, जर्सी और मर्फी ये तीन प्रकार की बेरीज शामिल हैं।

प्रकारों को जानने के बाद हम ब्लूबेरी के फायदों के बारे में बात करेंगे।

ब्लूबेरी के फायदे – Benefits of Blueberry in Hindi

ब्लूबेरी में कई ऐसे औषधीय गुण होते हैं, जाे हमारी सेहत के लिए फायदेमंद हो सकते हैं। इन फायदों के बारे में हम यहां विस्तार से बता रहे हैं।

1. वजन कम करने के लिए ब्लूबेरी खाने के फायदे

मोटापा और बढ़ता वजन हर किसी के लिए एक समस्या बन गया है। इस मुसीबत से छुटकारा पाने के लिए ब्लूबेरी का सेवन आपके लिए फायदेमंद हो सकता है। इसमें एन्थोसायनिन (anthocyanins) नामक यौगिक पाया जाता है। यह यौगिक बढ़ते हुए वजन को नियंत्रित करने के साथ ही वजन को कम करने में आपकी मदद कर सकता है (2)।

2. हृदय के लिए ब्लूबेरी के फायदे

बात करें हृदय की समस्या को दूर करने की, तो इसमें भी ब्लूबेरी आपके लिए बेहतर प्राकृतिक विकल्प साबित हो सकती है। ब्लूबेरी को पॉलीफेनॉल्स का अच्छा स्रोत माना गया है। पॉलीफेनॉल्स हृदय संबंधी समस्याओं से आपकी सुरक्षा कर सकते हैं। इसके अलावा, इसमें एंथोसायनिन और फाइबर जैसे अन्य पोषक तत्व भी होते हैं, जो कोलेस्ट्रोल, लिपिड और ग्लूकोज के स्तर में सुधार करने में सक्षम होते हैं। इन तीनों के स्तर में गड़बड़ी होने से हृदय रोग की समस्या पैदा हो सकती है (3)।

3. आंखों के लिए

आंखों की कई समस्याओं को दूर करने के लिए भी आप ब्लूबेरी का उपयोग कर सकते हैं। इसके सेवन से आंखों की कई बीमारियों को ठीक किया जा सकता है। इसमें एंथोसायनिन पाया जाता है, जो शक्तिशाली एंटीऑक्सीडेंट है। ब्लूबेरी में पाए जाने वाले इस एंथोकायनिन यौगिक से मैक्यूलर डिजनरेशन (Macular degeneration) के खतरे को कम किया जा सकता है। यह आंखों की बीमारी तब होती है, जब रेटिना का छोटा मध्य भाग, जिसे मैक्युला कहा जाता है, किसी कारण से खराब हो जाता है (4)।

4. कैंसर के लिए

ब्लूबेरी के अंदर कई रोगों के उपचार के औषधीय गुण पाए जाते हैं, उन्हीं में से एक है कैंसर से बचाव। वैज्ञानिकों का मानना है कि ब्लूबेरी कैंसर जैसी बीमारियों को कुछ हद तक ठीक करने में सक्षम है। इसमें टेरोस्टिलबिन (pterostilbene) नामक घटक पाया जाता है, जिसे कई बीमारियों को ठीक करने के लिए औषधि के रूप में उपयोग किया जाता है। ब्लूबेरी में पाया जाने वाला यह घटक कई प्रकार के कैंसर को दूर कर सकता है, जिसमें स्तन कैंसर का उपचार करना भी शामिल है (5)।

5. पाचन के लिए ब्लूबेरी खाने के फायदे

कहते हैं अच्छी पाचन क्षमता कई रोगों की दवा होती है। आपको जानकर अच्छा लगेगा कि ब्लूबेरी का जूस आपकी पाचन क्षमता को सुधार सकता है। दरअसल, इसमें कुछ मात्रा फाइबर की भी पाई जाती है और फाइबर आपकी पाचन शक्ति को ठीक करने का काम करता है (6)। यह आपकी कब्ज जैसी समस्याओं के साथ दस्त और अपच की परेशानी को दूर करता है और पाचन संबंधी समस्या का अच्छा सॉल्यूशन हाे सकता है (7)।

6. मस्तिष्क के लिए ब्लूबेरी

अगर आप मस्तिष्क संबंधी किसी समस्या से जूझ रहे हैं, तो ब्लूबेरी का सेवन शुरू कर सकते हैं। इसमें पाया जाने वाला एंथोसायनिन मस्तिष्क से जुड़ी कई समस्याओं को दूर करने के लिए जाना जाता है। यह मस्तिष्क के रक्त संचार को बेहतर करने में मदद करने के अलावा बढ़ती उम्र के साथ होने वाले मस्तिष्क विकार को दूर करता है। इसके अलावा, यह मस्तिष्क की कार्यप्रणाली को बेहतर करने वाले न्यूरॉन्स के विकास में मदद करता है। इस प्रकार कहा जा सकता है कि ब्लूबेरी का सेवन आपके मस्तिष्क के पोषण और विकास के लिए फायदेमंद हो सकता है (8)।

7. मधुमेह के लिए ब्लूबेरी के खाने के फायदे

मधुमेह की समस्या तेजी फैल रही है। हर वर्ष कई लोग इसका शिकार हो रहे हैं। अगर आप भी इस समस्या से परेशान हैं, तो ब्लूबेरी का सेवन आपके लिए फायदेमंद साबित हो सकता है। जैसा कि आप ऊपर पढ़ चुके हैं, ब्लूबेरी में एन्थोसायनिन नामक यौगिक पाया जाता है। इस यौगिक में एंटीडायबिटिक गुण पाए गए हैं, जो रक्त में मौजूद शुगर को कम करने में मदद कर सकते हैं। इससे मधुमेह को नियंत्रित करने के साथ ही इसकी समस्या को भी दूर किया जा सकता है (9)।

8. कोलेस्ट्रोल के नियंत्रण के लिए ब्लूबेरी के फायदे

हृदय की समस्या हो या फिर रक्तचाप का डर, ये सभी हमारे रक्त में मौजूद उच्च कोलेस्ट्रोल की वजह से होता है। ऐसे में ब्लूबेरी का सेवन आपके एलडीएल यानी अच्छे कोलेस्ट्रोल के स्तर को बेहतर करने में मदद कर सकता है। इसमें एंथोसायनिन और फाइबर पाया जाता है, जो हानिकारक कोलेस्ट्रोल यानी एलडीएल को कम करने का काम करता है। इसलिए, कोलेस्ट्रोल की समस्या को दूर करने लिए ब्लूबेरी का सेवन आपके लिए फायदेमंद हो सकता है (3)।

9. मजबूत हड्डियों के लिए ब्लूबेरी

समय से पहले हड्डियाें का कमजोर होना अब आम समस्या बनती जा रही है। आप इस समस्या से बचने के लिए भी ब्लूबेरी का सेवन कर सकते हैं। इससे हड्डियां मजबूत होती हैं। ब्लूबेरी पॉलीफेनॉल्स से समृद्ध होती है, जो मजबूत और स्वस्थ हड्डियों के निर्माण करने में आपकी मदद करती है। हड्डियों के मजबूत होने से ऑस्टियोपोरोसिस (कमजोर हड्डियां) नामक बीमारी से बचा जा सकता है (10)।

10. प्रतिरोधक क्षमता के लिए ब्लूबेरी खाने के फायदे

अगर आप आसानी से किसी भी रोग के चपेट में आ जाते हैं, तो इसका मतलब यह है कि आपकी रोग प्रतिरोधक क्षमता कमजोर है। रोग प्रतिरोधक क्षमता को मजबूत करने के लिए ब्लूबेरी का सेवन आपके लिए लाभदायक हो सकता है। ब्लूबेरी में अच्छी मात्रा में फाइटोकेमिकल्स पाए जाते हैं, जो प्रतिरोधक कोशिकाओं की क्षमता को बेहतर करते हैं। मजबूत प्रतिरोधक क्षमता ट्यूमर जैसी समस्या को भी दूर करती है, जोकि कैंसर जैसी बीमारियों का कारण होती है (11)।

11. तनाव को दूर करने के लिए ब्लूबेरी के फायदे

भागदौड़ भरी जिंदगी में जिसे देखो वही तनाव में है। लगातार तनाव में रहना आपके लिए हानिकारक साबित हो सकता है। आपको तनाव से बचाने में ब्लूबेरी बेहतर विकल्प साबित हो सकती है। इसमें पाए जाने वाले एंटीऑक्सीडेंट गुण आपके तनाव को दूर करने में सक्षम होते हैं। इसके अलावा, ब्लूबेरी के सेवन से आप क्रोनिक तनाव और ऑक्सिडेटिव स्ट्रैस को भी दूर कर सकते हैं (12)।

12. याददाश्त बढ़ाने के लिए ब्लूबेरी

बढ़ती उम्र के साथ याददाश्त भी प्रभावित होने लगती है। याददाश्त को बढ़ाने के लिए ब्लूबेरी पर भरोसा कर सकते हैं। ब्लूबेरी में पाए जाने वाले एंथोसायनिन में एंटीऑक्सीडेंट और एंटीइंफ्लेमेटरी गुण होते हैं। ब्लूबेरी में इनकी मौजूदगी याददाश्त में सुधार करने के साथ ही न्यूरोडीजेनेरेशन और अल्जाइमर जैसी भूलने की बीमारी के उपचार में भी आपकी मदद कर सकती है (13)।

13. यूटीआई के लिए ब्लूबेरी

अक्सर महिलाओं को बैक्टीरिया या फिर संक्रमण की वजह से यूरिनरी ट्रैक्ट इंफेक्शन (यूटीआई) की समस्या हो जाती है। इस संक्रमण को रोकने के लिए ब्लूबेरी के रस का सेवन आपके लिए कारगर औषधि का काम कर सकता है। ब्लूबेरी में विटामिन-सी की मात्रा पाई जाती है, जो यूटीआई का कारण बनने वाले बैक्टीरिया को पनपने से रोकता है। इस गुण के कारण ब्लूबेरी के सेवन से यूटीआई को रोका जा सकता है (14)।

14. त्वचा के लिए ब्लूबेरी के फायदे

ब्लूबेरी आपकी त्वचा के लिए भी फायदेमंद है। इसमें पाया जाने वाला विटामिन-ई आपकी त्वचा के लिए फायदेमंद साबित हाे सकता है (15)। विटामिन-ई में एंटीऑक्सीडेंट गुण पाए जाते हैं। यह न सिर्फ आपकी त्वचा को सूर्य की हानिकारक किरणों से बचाता है, बल्कि त्वचा को पर्याप्त पोषण देकर उसे विभिन्न प्रकार के हानिकारक प्रभावों से भी बचाता है। इसके अलावा, विटामिन-ई ऑक्सिडेटिव स्ट्रैस को कम कर इससे होने वाली झुर्रियों को कम कर त्वचा को वापस युवा बनाता है। यह त्वचा को चमकदार और सुंदर बनाने के साथ-साथ स्किन कैंसर की रोकथाम में भी आपकी मदद करता है (16)।

15. बालों के लिए ब्लूबेरी

संपूर्ण सेहत के बाद जब बात आती है, बालों के विकास और उनकी मजबूती की, तो इसके लिए भी ब्लूबेरी को इस्तेमाल किया जा सकता है। जैसा कि आप जान ही चुके हैं कि ब्लूबेरी को विटामिन-ए, विटामिन-सी और विटामिन-ई का अच्छा स्रोत माना गया है (17)। ब्लूबेरी में पाए जाने वाले ये पोषक तत्व न सिर्फ आपके बालों को लंबा और घना बनाते हैं, बल्कि डैंड्रफ से बचाते हुए चमकदार, मजबूत और आकर्षक बनाने में भी मदद करते हैं (18)।

ब्लूबेरी के फायदों के बाद अब इसमें मौजूद पोषक तत्वों के बारे में भी बात कर लेते हैं।

ब्लूबेरी के पौष्टिक तत्व – Blueberry Nutritional Value in Hindi

ब्लूबेरी में पाए जाने वाले पोषक तत्व ही हैं, जिनकी वजह से यह हमारी संपूर्ण सेहत के लिए इतना फायदेमंद है। आइए, जानते हैं कि इसमें कौन-कौन से पोषक तत्व पाए जाते हैं (17)।

पोषक तत्वमात्रा प्रति 100 ग्राम
पानी 84.21 ग्राम
कैलोरी57 kcal
ऊर्जा240 किलोजूल
प्रोटीन0.74 ग्राम
फैट0.33 ग्राम
कार्बोहाइड्रेट14.49 ग्राम
फाइबर2.4 ग्राम
शुगर9.96 ग्राम
मिनरल्स
कैल्शियम6 मिलीग्राम
आयरन0.28 मिलीग्राम
मैग्नीशियम6 मिलीग्राम
फास्फोरस12 मिलीग्राम
पोटैशियम77 मिलीग्राम
सोडियम1 मिलीग्राम
जिंक0.16 मिलीग्राम
 कॉपर0.057 मिलीग्राम
मैग्नीशियम0.336 मिलीग्राम
सेलेनियम0.1 माइक्रोग्राम
विटामिन
विटामिन सी9.7 मिलीग्राम
थायमिन0.037 मिलीग्राम
राइबोफ्लेविन0.041 मिलीग्राम
नियासिन0.418 मिलीग्राम
विटामिन-बी 60.052 मिलीग्राम
फोलेट6 माइक्रोग्राम
कोलिन6 मिलीग्राम
विटामिन-ए, RAE3 माइक्रोग्राम
बीटा-कैरोटिन32 माइक्रोग्राम
विटामिन-ए, आईयू54 आईयू
विटामिन-ई0.57 मिलीग्राम
विटामिन-के19.3 माइक्रोग्राम
लिपिड्स
फैटी एसिड टोटल सैचुरेटेड0.028 ग्राम
फैटी एसिड टोटल मोनोअनसैचुरेटेड0.047 ग्राम
फैटी एसिड टोटल पॉलीअनसैचुरेटेड0.146 ग्राम

पोषक तत्वों के बाद जानते हैं कि इसका इस्तेमाल किस-किस तरीके से किया जा सकता है।

ब्लूबेरी का उपयोग – How to Use Blueberry in Hindi

यहां हम आपको ब्लूबेरी के स्टोरेज और सेवन की मात्रा के साथ यह भी बता रहे हैं कि आप इसका उपयोग कैसे-कैसे कर सकते हैं (19)।

स्टोरेज और रखरखाव :

  • आप हमेशा ताजा ब्लूबेरी चुनें, जो कड़क और नीले रंग की हो।
  • ब्लूबेरी को हमेशा खाने से पहले धोना चाहिए। इसे धोकर रख देने से इसे सड़ने से बचाने वाली कोटिंग निकल जाती है और ये जल्दी सड़ने लगते हैं।
  • जमे हुए, सूखे और डिब्बाबंद ब्लूबेरी को आप साल भर तक खा सकते हैं।
  • ब्लूबेरी को रेफ्रिजरेटर में दो सप्ताह तक स्टोर करके रखा जा सकता है।

कितनी मात्रा में करें सेवन?

बच्चे इसका सेवन प्रतिदिन दो से चार कप तक कर सकते हैं। वहीं, पुरुषों के लिए इसका सेवन रोजाना चार से छह कप बताया गया है। इसके अलावा, महिलाएं इसका सेवन तीन से पांच कप तक कर सकती हैं (19)।

उपयोग :

  • ब्लूबेरी को आप ओट्स या फिर ब्रेड के साथ मिलाकर ब्रेकफास्ट में ले सकते हैं।
  • आप ब्लूबेरी को जैम के रूप में रोटी या फिर ब्रेड पर लगाकर खा सकते हैं।
  • ब्लूबेरी को केक के ऊपर लगाकर केक का स्वाद कई गुणा बढ़ाया जा सकता है।
  • आप इसका उपयोग स्मूदी के रूप में भी कर सकते हैं।
  • आप इसे धोकर सीधा भी खा सकते हैं।
  • गर्मी के मौसम में ब्लूबेरी की आइसक्रीम हर किसी के लिए फेवरेट डिश हो सकती है।
  • आप इसे अन्य फलों के साथ मिलाकर जायकेदार फ्रूट सलाद बना सकते हैं।

ब्लूबेरी के फायदे और उपयोग के बाद हम इससे होने वाले नुकसान के बारे में बता रहे हैं।

ब्लूबेरी के नुकसान – Side Effects of Blueberry in Hindi

वैसे तो ब्लूबेरी फायदेमंद है, लेकिन अधिक मात्रा में किया गया इसका सेवन आपके लिए हानिकारक भी हो सकता है। अधिक ब्लूबेरी खाने से निम्न प्रकार के दुष्प्रभाव हो सकते हैं :

  • सबसे पहली बात तो यह कि जिन्हें बेरी वाले फलों से एलर्जी है, उन्हें ब्लूबेरी से दूर रहना चाहिए (20)।
  • इसमें रक्त के शुगर को कम करने की क्षमता होती है, इसलिए जिन्हें लो ब्लड शुगर की परेशानी है, वो इसका उपयोग डॉक्टर की सलाह पर ही करें (9)।
  • आप इसे धाेकर ही खाएं, वरना इस पर किए गए कीटनाशक पदार्थ का छिड़काव आपकी सेहत के लिए नुकसानदायक हो सकता है।
  • इसमें फाइबर की अच्छी मात्रा पाई जाती है (6)। सीमित मात्रा में फाइबर का उपयोग आपकी सेहत के लिए अच्छा होता है, लेकिन अधिक मात्रा में किया गया फाइबर का सेवन गैस व आंत जैसी पेट की कई समस्याओं का कारण बन सकता है (21)।
  • जिनका वजन सामान्य से कम है, उन्हें भी इसका सेवन सीमित मात्रा में करना चाहिए। इसमें पाया जाने वाला एन्थोसायनिन (anthocyanins) नामक यौगिक आपके वजन को और अधिक कम कर सकता है (2)।

इस आर्टिकल को पढ़ने के बाद यह तो स्पष्ट हो गया कि ब्लूबेरी मतलब नीलबदरी के फायदे कई हैं। यह सेहत के साथ-साथ त्वचा और बालों के लिए भी फायदेमंद है। ब्लूबेरी की जानकारी देता यह आर्टिकल आपको कैसा लगा, आप हमें नीचे दिए कमेंट बॉक्स में जरूर बताएं। साथ ही इस विषय से जुड़े अपने सवाल और सुझाव कमेंट बॉक्स के जरिए हमारे साथ शेयर कर सकते हैं।

और पढ़े:

The following two tabs change content below.

Saral Jain

सरल जैन ने श्री रामानन्दाचार्य संस्कृत विश्वविद्यालय, राजस्थान से संस्कृत और जैन दर्शन में बीए और डॉ. सी. वी. रमन विश्वविद्यालय, छत्तीसगढ़ से पत्रकारिता में बीए किया है। सरल को इलेक्ट्रानिक मीडिया का लगभग 8 वर्षों का एवं प्रिंट मीडिया का एक साल का अनुभव है। इन्होंने 3 साल तक टीवी चैनल के कई कार्यक्रमों में एंकर की भूमिका भी निभाई है। इन्हें फोटोग्राफी, वीडियोग्राफी, एडवंचर व वाइल्ड लाइफ शूट, कैंपिंग व घूमना पसंद है। सरल जैन संस्कृत, हिंदी, अंग्रेजी, गुजराती, मराठी व कन्नड़ भाषाओं के जानकार हैं।

संबंधित आलेख