ब्रेस्ट (स्तन) साइज बढ़ाने के 10 घरेलू उपाय – How to Increase Breast Size in Hindi

by

हर महिला का सपना होता है कि उसकी काया ख़ूबसूरत नज़र आए। इसके लिए स्तनों (ब्रेस्ट) का आकार काफ़ी महत्व रखता है। कई महिलाओं को अपने स्तनों के आकार को लेकर हमेशा शिकायत रहती है। उम्र के साथ-साथ उनके स्तनों का ठीक तरह से विकसित न होना, उन्हें हीन भावना से ग्रस्त कर देता है। कई बार महिलाएं ब्रेस्ट को बड़ा करने के लिए तरह-तरह के उपाय आज़माती हैं। कुछ महिलाएं दवाइयां तक लेती है और परिणामस्वरूप साइड इफ़ेक्ट का सामना करना पड़ता है, लेकिन हम आपकी यह चिंता काफ़ी हद तक दूर कर सकते हैं। इस लेख में हम आपको स्तनों का आकार बढ़ाने के आसान तरीके बता रहे हैं।

विषय सूची


सबसे पहले जानते हैं कि किन कारणों से स्तनों का आकार छोटा रह जाता है।

स्तन (ब्रेस्ट) छोटे होने के कारण – Reasons of Having Small Breasts in Hindi

ब्रेस्ट बढ़ाने के उपाय जानने से पहले स्तनों के विकसित न होने का कारण जानना ज़रूरी है। ऐसे ही कुछ कारणों का उल्लेख यहां किया जा रहा है।

  1. सही आहार या पौष्टिक तत्व न लेना।
  2. युवावस्था के दौरान हार्मोन की कमी या असंतुलित हार्मोन।
  3. वज़न का कम होना।
  4. कभी-कभी स्तनों की वृद्धि न होने का कारण अनुवांशिक भी होता है। अगर परिवार में किसी महिला को यह समस्या रही हो, तो हो सकता है कि अगली पीढ़ी को भी इसका सामना करना पड़े।
  5. कभी-कभी तनाव की वजह से हार्मोन असंतुलित हो जाते हैं, जिस कारण स्तन ठीक तरह विकसित नहीं हो पाते।
  6. किसी तरह की दवाई का असर।

ऊपर हमने स्तनों के छोटे होने के कारण आपको बताएं हैं, अब वक़्त हैं उनके कुछ उपाय जानने का।

ब्रेस्ट बढ़ाने के घरेलू उपाय – Home Remedies to Increase Breast Size in Hindi

यहां हम ब्रेस्ट का आकार बढ़ाने के आसान तरीके बता रहे हैं, जो न सिर्फ़ आसान हैं, बल्कि इनसे कोई ख़तरा भी नहीं है।

1.मेंथी

Shutterstock

सामग्री

  • मेथी का तेल या कैप्सूल

क्या करें ?

  • दो चम्मच मेथी का तेल हथेली पर लगाकर स्तनों की मालिश करें।
  • आप हर रोज़ रात को सोने से पहले मालिश कर सकती हैं।
  • आप डॉक्टर से बात करके मेथी के कैप्सूल भी ले सकती हैं।

कैसे फायदेमंद है ?

मेथी में प्राकृतिक रूप से एस्ट्रोजनिक (एक प्रकार का हार्मोन) होता है, जो स्तनों के विकास में मदद करता है (1)। इसके अलावा, अगर आप मेथी के तेल से स्तनों की मालिश करती हैं, तो इससे आपके सीने के आसपास की त्वचा फैलती है। प्रतिदिन इसका प्रयोग करने से स्तन विकसित होने लगते हैं।

2. क्रकच ताल (Saw Palmetto)

सामग्री

  • 500 एमजी का कैप्सूल

क्या करें ?

  • रोज़ 500 एमजी का एक या दो क्रकच ताल कैप्सूल खा सकते हैं।

कैसे फायदेमंद है ?

क्रकच ताल (Saw Palmetto) एक तरह की जड़ी-बूटी है। इसका पौधा करीब तीन-चार फुट लंबा होता है। यह महिलाओं व पुरुषों के हार्मोन को बूस्ट करने में मदद करती है। हालांकि, अभी तक इसका कोई कथित प्रमाण सामने नहीं आया है, लेकिन स्तनों के विकास के लिए इसे उपयुक्त हर्बल उत्पाद माना गया है (2)।

नोट : अगर आपको किसी चीज़ से एलर्जी है या आप किसी अन्य दवा का सेवन कर रही हैं, तो इसके सेवन से पहले एक बार डॉक्टर से सलाह-परामर्श ज़रूर कर लें।

3. सौंफ

Shutterstock

सामग्री

  • एक चम्मच सौंफ
  • एक कप पानी
  • शहद (इच्छानुसार)

क्या करें ?

  • एक पैन में पानी और सौंफ डालकर उबालें।
  • इसे पांच-दस मिनट तक उबालें।
  • जब यह पीने लायक हो जाए, तो इसे गर्मा-गर्म पिएं।
  • स्वाद के लिए इसमें आप शहद भी मिला सकते हैं।
  • इसे रोज़ कम से कम दो बार पिएं।

कैसे फायदेमंद है ?

सौंफ़ के बीज फ्लेवोनोइड्स (flavonoids) से भरपूर होते हैं, जिनमें एस्ट्रोजनिक गतिविधि होती है (3)। इससे शरीर में एस्ट्रोजन का उत्पादन बढ़ जाता है और स्तनों के विकास में मदद मिलती है।

4. दूब (red clover)

सामग्री

  • एक या दो चम्मच सूखा हुआ दूब
  • एक कप पानी
  • शहद (इच्छानुसार)

क्या करें ?

  • एक पैन में पानी डालकर उसमें सूखा हुआ दूब डालकर, पांच-दस मिनट तक उबालें।
  • इसे ठंडा होने से पहले पिएं।
  • आप इसमें स्वादानुसार शहद मिला सकते हैं।
  • आप इसे रोज़ तीन से चार बार पिएं।

कैसे फायदेमंद है ?

दूब (red clover) में आइसोफ्लेवोंस (isoflavones) पाया जाता है, जो शरीर के अंदर एस्ट्रोजन की तरह काम करता है। इसके अलावा, इसमें मजबूत फाइटोन्यूट्रिएंट भी शामिल है, जिसे जेनिस्टीन (genistein) कहा जाता है। इन यौगिकों की उपस्थिति से स्तनों का विकास होता है (4)।

5. जंगली रतालू

सामग्री

  • दो चम्मच जंगली रतालू की जड़
  • एक कप पानी
  • शहद (इच्छनुसार)

क्या करें ?

  • जंगली रतालू की जड़ को एक कप पानी में कुछ देर उबालें।
  • पानी के सामान्य होते ही पी लें।
  • आप चाहें, तो स्वाद के लिए इसमें शहद मिला सकते हैं।
  • आप इसे रोज़ दो बार पी सकते हैं।

कैसे फ़ायदेमंद है ?

जंगली रतालू, स्तनों के टिश्यू को स्वस्थ रखता है और यह महिला के प्रजनन प्रणाली के लिए भी फायदेमंद होता है। जंगली रतालू में फाइटोएस्ट्रोजन (phytoestrogen) होता है, जिसे डायोसजेनिन (diosgenin) भी कहा जाता है। यह स्तन ऊतकों की वृद्धि में मदद करता है (2)।

6. विटामिन

Shutterstock

स्तनों के विकास के लिए विटामिन का सेवन सुरक्षित तरीका है। विटामिन-ए, बी3, सी, और ई के न सिर्फ कई स्वास्थ लाभ हैं, बल्कि स्तनों के विकास के लिए भी लोकप्रिय हैं। विटामिन-ए, कोलेजन के उत्पादन में सहायता करता है, जो स्तनों को मजबूत करने में मदद करता है। विटामिन-बी3, आपके रक्त परिसंचरण में सुधार करने में मदद करता है, जिससे स्तनों के विकास में मदद मिलती है। विटामिन-सी, कोलेजन पैदा करता है, जो स्तनों की कोशिकाओं को हाइड्रेटेड रखता है। इससे शरीर के हार्मोन संतुलित रहते हैं और स्तनों के आकार को सकारात्मक रूप से प्रभावित करते हैं। वहीं, विटामिन-ई आपके कोलेस्ट्रॉल के स्तर को नियंत्रित रखकर, स्तन के आकार को बढ़ाने में फ़ायदेमंद हो सकता है (5) (6)।

7. मालिश

आपके स्तनों के लिए मालिश बहुत ज़रूरी है। इसलिए, रोज़ 15 से 20 मिनट के लिए अपने स्तनों की मालिश करें। आप जैतून का तेल, मेथी का तेल या फिर सोयाबीन का तेल मालिश के लिए इस्तेमाल कर सकते हैं।

8. अलसी

अलसी में मौजूद पोषक तत्व स्वास्थ्य के लिए फ़ायदेमंद होते हैं। इसमें चमत्कारी तत्व लिगनेन (lignans) होता है। आप अलसी के तेल को स्तनों के आकार में वृद्धि के लिए उपयोग कर सकते हैं।

9. सोय प्रोडक्ट या सोय मिल्क (सोयाबीन का दूध)

Shutterstock

क्या करें ?

  • एक से दो कप बिना मीठा या चीनी वाला सोयाबीन का दूध।
  • आप हर दिन एक से दो बार सोयाबीन के दूध का सेवन करें।

कैसे फायदेमंद है ?

सोया दूध सोयाबीन से लिया गया है। इसमें आइसोफ्लावोन (isoflavones ) नामक फाइटोएस्ट्रोजन (phytoestrogens) के उच्च स्तर होते हैं, जो धीरे-धीरे आपके स्तनों के आकार को बढ़ाने में मदद करते हैं। हालांकि, आइसोफ्लावोन का सेवन रजोनिवृत्ति (मेनपॉज) के बाद स्तनों की वृद्धि में कुछ ख़ास परिवर्तन नहीं कर सकता, लेकिन उससे पहले महिलाओं के स्तन घनत्व में थोड़ी वृद्धि हो सकती है (7)।

10. दूध

आप डेयरी उत्पाद जैसे – दूध का सेवन कर सकते हैं। दूध में बहुत से पोषक तत्व मौजूद हैं। गाय के दूध में तो एस्ट्रोजन व प्रोजेस्ट्रोन जैसे हॉर्मोन के अलावा विटामिन-डी भी मौजूद है (8)। ये सभी तत्व स्तनों का आकार बढ़ाने में सहायक होते हैं।

सिर्फ़ खाना-पीना ही नहीं, बल्कि ब्रेस्ट बढ़ाने के उपाय में व्यायाम भी मुख्य भूमिका निभाते हैं।

ब्रेस्ट साइज बढ़ाने के लिए व्यायाम – Exercise to Increase Breast Size in Hindi

नीचे हम कुछ व्यायाम आपको बता रहे हैं, जिससे आपके ब्रेस्ट की वृद्धि में मदद मिलेगी।

1.वॉल पुश-अप

Shutterstock

आप एक दीवार के सामने खड़े हो जाएं और अपने दोनों हाथों को दीवार पर रखें। अब आप दीवार को धक्का देने की कोशिश करें और फिर दीवार से दूर जाएं। यह आसानी से होने वाला व्यायाम है। इसके लिए आपको जिम जाने की ज़रूरत नहीं, इसे आप घर पर ही कर सकते हैं।

2. बारबेल बेंच प्रेस

Shutterstock

इसमें आप बेंच पर अपने पीठ के बल लेट जाएं और अपने पैरों को ज़मीन पर रखें। अब लेटे हुए ही वज़न वाली रॉड को स्टैंड से धीरे-धीरे हटाएं। अब रॉड को अपने सीने की ओर नीचे लाएं और फिर ऊपर की ओर करें। ध्यान रहे कि यह व्यायाम आप किसी एक्सपर्ट की निगरानी में ही करें।

3. पुश अप

Shutterstock

यह वॉल पुश-अप की तरह ही होता है। फ़र्क बस इतना है कि इसे दीवार पर न करके ज़मीन पर किया जाता है।

इसके आलावा आप ब्रेस्ट बड़े करने के लिए बेंच प्रेस, रोटेशन फ्लाई व इसोमेट्रिक चेस्ट कन्ट्रैक्शन जैसे व्यायाम भी कर सकते हैं। इसके अलावा आप योग जैसे – उतरासना, वृक्षासन, भुजंगासन, धनुरासन का भी सहारा ले सकते हैं।

नोट : आप जो भी व्यायाम या योग करें, वो किसी एक्सपर्ट की निगरानी में ही करें। अगर आपको किसी भी व्यायाम या योग को करते समय या करने के बाद कोई असुविधा महसूस हो, तो उसे तुरंत बंद करें और डॉक्टर से संपर्क करें।

सिर्फ व्यायाम ही नहीं, बल्कि ब्रेस्ट का आकार बढ़ाने के लिए आपकी डाइट भी बहुत मायने रखती है।

ब्रेस्ट साइज बढ़ाने के लिए आहार – Diet to Increase Breast Size in Hindi

आपके आहार में सभी ज़रूरी पोषक तत्व जैसे – प्रोटीन व विटामिन होने चाहिए। नीचे हम कुछ ऐसे ही खाद्य पदार्थों के बारे में आपको बता रहे हैं।

  1. फलों का सेवन करें, जैसे – सेब, बेरी, पीच।
  2. हरी सब्ज़ियों का सेवन करें, जैसे – पालक, गाजर, मटर।
  3. चिकन, अंडा या सी-फ़ूड का सेवन करें।
  4. नट्स, जैसे – काजू, पिस्ता व अखरोट खाएं।
  5. पोषक तत्व से भरपूर पेय पदार्थ, जैसे – हर्बल-टी व ग्रीन-टी का सेवन करें।

ज़्यादातर पूछे जानें वाले सवाल

क्या वजन घटाने से ब्रेस्ट छोटे हो जाते हैं?

अधिकांश स्तन फैट टिश्यू से बने होते हैं, जो वजन बढ़ाने पर विकसित होते हैं। इसलिए, जब आप वजन कम करते हैं, तो आपके स्तन के आकार में गिरावट की आशंका अधिक होती है। हालांकि, कुछ लोगों में कम वसा वाले ऊतकों के साथ ज़्यादा विकसित स्तन होते हैं। ऐसे मामलों में, स्तन के आकार में गिरावट कम ही होती है।

उम्र के हिसाब से ब्रेस्ट साइज क्या होना चाहिए?

यह महिला के शारीरिक संरचना या फिर उनके जीन पर निर्भर करता है। हालांकि, सामान्यत: स्तन का आकार 15 वर्ष और उससे अधिक आयु की लड़कियों या महिलाओं में 30 से 40 इंच तक हो सकता है।

अब इंतज़ार किस बात का, ऊपर दिए गए ब्रेस्ट साइज़ बढ़ाने के आसान तरीके आज़मा कर, आप आसानी से अपने स्तनों के आकार में सुधार ला सकते हैं। हालांकि, ब्रेस्ट बढ़ाने के तरीके आज़माने के साथ-साथ आपको धैर्य भी रखना होगा, क्योंकि इसमें थोड़ा समय लगेगा। अगर जल्द परिणाम न मिले, तो निराश होने की ज़रूरत नहीं है। शरीर को सही आकार में आने के लिए थोड़ा समय लगता है, क्योंकि आपका शरीर प्रकृति के अनुसार सही समय पर सही रूप लेता है।

और पढ़े:

Was this article helpful?
The following two tabs change content below.

Arpita Biswas

अर्पिता ने पटना विश्वविद्यालय से मास कम्यूनिकेशन में स्नातक किया है। इन्होंने 2014 से अपने लेखन करियर की शुरुआत की थी। इनके अभी तक 1000 से भी ज्यादा आर्टिकल पब्लिश हो चुके हैं। अर्पिता को विभिन्न विषयों पर लिखना पसंद है, लेकिन उनकी विशेष रूचि हेल्थ और घरेलू उपचारों पर लिखना है। उन्हें अपने काम के साथ एक्सपेरिमेंट करना और मल्टी-टास्किंग काम करना पसंद है। इन्हें लेखन के अलावा डांसिंग का भी शौक है। इन्हें खाली समय में मूवी व कार्टून देखना और गाने सुनना पसंद है।

ताज़े आलेख

scorecardresearch