सामग्री और उपयोग

ब्रोकली के 19 फायदे, उपयोग और नुकसान – Broccoli Benefits, Uses and Side Effects in Hindi

by
ब्रोकली के 19 फायदे, उपयोग और नुकसान – Broccoli Benefits, Uses and Side Effects in Hindi Hyderabd040-395603080 August 29, 2019

जैसा कि आप सभी जानते हैं सब्जियां और फल हमारे स्वास्थ्य के लिए लाभदायक होते हैं। उन्हीं में से एक सब्जी है ब्रोकली, जो आपके स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद हो सकती है। इसके सेवन से कई तरह की बीमारियों से छुटकारा मिल सकता है। स्टाइलक्रेज के इस लेख में हम आगे आपको ब्रोकली क्या है, ब्रोकली के फायदे और ब्रोकली बनाने की विधि के बारे में बताएंगे।

इससे पहले कि आप ब्रोकली के फायदे जानें, हम आपको ब्रोकली क्या है इसके बारे में थोड़ी जानकारी देते हैं।

ब्रोकली क्या है – What is Broccoli in Hindi

ब्रोकली एक तरह की सब्जी है, जिसे हम खाने के लिए उपयोग करते हैं। यह सब्जी फूलगोभी प्रजाति की होती है, लेकिन इसका स्वाद फूलगोभी से अलग होता है। ब्रोकली नाम इटेलियन शब्द ब्रोक्कोलो से आया है, जिसका मतलब होता है गोभी के फूल की शिखाI ब्रोकली के लाभ अनेक हैं। इसके सेवन से शरीर में पोषक तत्वों की कमी को पूरा किया जा सकता है।

ब्रोकली आपकी सेहत के लिए क्यों अच्छी है?

ब्रोकली में प्रोटीन, कैल्शियम, कार्बोहाइड्रेट, आयरन, विटामिन-ए और सी व कई अन्य तरह के पोषक तत्व भारी मात्रा में पाए जाते हैं, जो सेहत के लिए अच्छे होते हैं (1)। ब्रोकली में मौजूद पोषक तत्व आपको हृदय रोग, आंखों की समस्या, पाचन की समस्या व मधुमेह की समस्या और इस तरह के अन्य समस्याओं से निजात दिला सकते हैं। आगे लेख में हम ब्रोकली के प्रकार बता रहे हैं।

ब्रोकली के प्रकार – Types of Broccoli in Hindi

यहां हम आपको ब्रोकली के बारे में जानकारी दे रहे हैं कि यह कितने प्रकार की होती है और किस तरह की दिखाई देती है।

  1. केलाब्रेसी ब्रोकली (Calabrese broccoli)– ब्रोकली की इस प्रजाति का नाम इटली के मशहूर शहर कालाब्रिया के नाम पर पड़ा है। इसका ऊपरी भाग गहरा हरा रंग का होता है। इसे ठंड के दिनों में या ठंडी जगह पर उगाया जाता है।
  2. ब्रोकली रेब (Broccoli rabe)– ब्रोकली रेब को ब्रोकली रॉब के नाम से भी जाना जाता है। यह पालक की तरह पत्तेदार होती है।
  3. ब्रोकोफ्लोवर (Broccoflower)– यह ब्रोकली की तरह कम और फूलगोभी की तरह ज्यादा दिखती है। इसका स्वाद भी कुछ-कुछ फूलगोभी की तरह होता है।
  4. अंकुरित ब्रोकली (Sprouting broccoli)– इसका ऊपरी भाग फैला हुआ होता है और इसमें कई डंठल होते हैं।
  5. गई-लन ब्रोकली (Gai-lan) – इसे चायनीज ब्रोकली के नाम से भी जाना जाता है। यह लंबी और पत्तेदार होती है और सामान्य ब्रोकली की तुलना में ज्यादा पौष्टिक होती है।
  6. पर्पल कॉलीफ्लॉवर (Purple cauliflower) – पर्पल ब्रोकली भी ब्रोकली का एक प्रकार है। यह बैंगनी रंग की होती है। इसे अमेरिका और यूरोप में ज्यादा उपयोग किया जाता है।

जैसा कि आपने अभी ब्रोकली के प्रकार पढ़े और अब आगे हम आपको ब्रोकली से होने वाले फायदों के बारे में बता रहे हैं।

ब्रोकली के फायदे – Benefits of Broccoli in Hindi

1. हृदय के लिए ब्रोकली के फायदे

 Benefits of broccoli for the heart Pinit

Shutterstock

शरीर में पर्याप्त मात्रा में पौष्टिक तत्व की पूर्ति न होने से हृदय संबंधित समस्याएं उत्पन्न होने लगती हैं। ब्रोकली में सेलेनियम और ग्लूकोसिनोलेट्स अधिक मात्रा में पाए जाते हैं। ये दोनों शरीर में प्रोटीन की मात्रा को बढ़ाकर आपके हृदय को स्वस्थ रखने में मदद कर सकते हैं (2)। अगर आप ब्रोकली नहीं खाते हैं, तो इसे अपने डायट चार्ट में डाल सकते हैं और ब्रोकली के फायदे ले सकते हैं, ताकि आपका दिल स्वस्थ रहे।

2. कैंसर के लिए ब्रोकली के फायदे

कैंसर होने के कई कारण हो सकते हैं और इसके इलाज पर लाखों रुपये खर्च हो जाते हैं, लेकिन क्या आपको पता है कि ब्रोकली के सेवन से आप कैंसर से बच सकते हैं। ब्रोकली में सल्फोराफेन नामक यौगिक होता है, जो कैंसर को होने से रोकने में अहम भूमिका निभा सकता है। आप ब्रोकली को अंकुरित करके भी खा सकते हैं और कैंसर जैसी बीमारी को दूर रख सकते हैं (3)।

3. वजन घटाने के लिए ब्रोकली के फायदे

 Benefits of Broccoli for Weight Loss in hindi Pinit

Shutterstock

वजन का बढ़ना और घटना यह आपके खान-पान पर निर्भर करता है। ज्यादा तैलीय और बाहरी चीजें खाने से वजन बढ़ने की समस्या आम हो चुकी है। ऐसे में ब्रोकली के सेवन से बढ़ते वजन की समस्या से छुटकारा पाया जा सकता है। ब्रोकली में विटामिन-सी और एंटीऑक्सीडेंट होता है, जो आपके चर्बी को घटाने में मदद कर सकता है (4)। इसलिए, ब्रोकली खाएं और वजन घटाएं। ब्रोकली खाने के साथ-साथ आपको नियमित व्यायाम और उचित खान-पान पर ध्यान देना भी जरूरी है।

4. लिवर के लिए ब्रोकली के फायदे

लिवर में फैट के बढ़ने से लिवर से जुड़ी समस्याएं होने लगती है। लिवर काम करना बंद भी कर सकता है। ऐसे में ब्रोकली में पाया जाने वाला सल्फोराफेन फैटी लिवर की समस्या से बचा सकता है, लेकिन लिवर कैंसर जैसी घातक बीमारी में इसका असर नहीं हो सकता (4)। इसलिए, स्वस्थ लिवर के लिए ब्रोकली का सेवन जरूर करें।

5. हड्डियों और दांत के लिए ब्रोकली

Broccoli for bones and teeth in hindi Pinit

Shutterstock

पोषण की कमी से हड्डियां और दांत कमजोर होने लगते हैं और जब तक इससे संबंधित कोई बड़ी समस्या न हो, हमें इस बारे में पता भी नहीं चलता। ब्रोकली में भरपूर मात्रा में पोषक तत्व जैसे – विटामिन-के, कैल्शियम, पोटैशियम और मैग्नीशियम पाए जाते हैं, जो आपकी हड्डियों और दांतों के लिए फायदेमंद हो सकते हैं (5)।

6. आंखों के लिए ब्रोकली

आंखें हमारे शरीर का जरूरी अंग होती हैं और शरीर के बाकी हिस्सों की तरह इसे भी पोषक तत्व की जरूरत होती है। ऐसे लोगों की कमी नहीं है, जिनकी आंखें कम उम्र में ही खराब हो जाती हैं। यहां तक कि बच्चों को भी चश्मे लग जाते हैं। ऐसे में उनके लिए ब्रोकली फायदेमंद साबित हो सकती है। ब्रोकली में ल्यूटिन और जियाजैंथिन जैसे गुण होते हैं, जो आंखों के लिए सबसे उत्तम पोषक तत्व माने जाते हैं। यह आपकी आंखों को कमजोर होने से बचाती हैं (6), तो ब्रोकली खाइए और आंखों की रोशनी बढ़ाइए।

7. दिमाग के लिए ब्रोकली

 Broccoli for brain in hindi Pinit

Shutterstock

भूलने की समस्या बच्चे हों या बुजुर्ग सभी को परेशान करती है। कुछ बच्चे परीक्षा के लिए बहुत पढ़ाई करते हैं, लेकिन परीक्षा कक्ष में सब भूल जाते हैं। यह समस्या उम्र बढ़ने के साथ-साथ गंभीर होती चली जाती है। इस समस्या का इलाज भी ब्रोकली में छुपा है। ब्रोकली में विभिन्न तरह के विटामिन होते हैं और इसके सेवन से ऑक्सिडेटिव स्ट्रेस कम होता है। इस कारण से ब्रोकली आपकी याददाश्त को मजबूत करने में सहायता कर सकती है (7)। इसलिए, ब्रोकली खाना न भूलें।

8. गर्भावस्था में ब्रोकली के फायदे

गर्भावस्था के समय शरीर को पर्याप्त मात्रा में पोषक तत्व मिलना जरूरी होता है। अगर ऐसा न हो, तो होने वाला शिशु कुपोषण का शिकार हो सकता है। यहां तक कि उसकी जान को भी खतरा हो सकता है। इसलिए, गर्भावस्था में ब्रोकली का सेवन करना गर्भवती के लिए लाभदायक हो सकता है, क्योंकि ब्रोकली में अधिक मात्रा में विटामिन, सल्फोराफेन और प्रोटीन पाए जाते हैं, जो गर्भावस्था में भी आपको चुस्त व तंदुरुस्त रखते हैं (8)। इससे आप समझ ही गए होंगे कि ब्रोकली में होते हैं ऐसे पोषक तत्व, जो रखें बच्चे और मां दोनों को स्वस्थ।

नोट : गर्भावस्था में सभी की सेहत एक जैसी नहीं होती है, इसलिए इसे खाने से पहले एक बार डॉक्टर की सलाह जरूर लें।

9. शरीर को डिटॉक्सीफाई करने के लिए ब्रोकली

 Broccoli to detoxify the body in hindi Pinit

Shutterstock

आजकल हम ज्यादातर बाहर के खाने का सेवन करने लगे हैं। कुछ मजबूरी में, तो कुछ शौक के कारण ऐसा करते हैं, लेकिन ज्यादा बाहर की चीजें खाने से हमारे शरीर में विषैले तत्व जमने लगते हैं। इस कारण कई शारीरिक समस्याएं हो सकती हैं। ब्रोकली में ग्लूकोराफेनिन (glucoraphanin), ग्लूकोनास्ट्यूरिन (gluconasturtiin) और ग्लूकोब्रैसीसिन (glucobrassicin) होते हैं, जो आपके शरीर से विषैले तत्वों को बाहर निकालने में सहायक हो सकते है (9)। इसलिए, ब्रोकली का सेवन ज्यादा से ज्यादा करना चाहिए ।

10. ब्रोकली पाचन के लिए

बेशक, जंक फूड का स्वाद सभी को अच्छा लगता है, लेकिन इसे खाने से पाचन तंत्र खराब हो जाता है। इस कारण पाचन तंत्र से जुड़ी समस्याएं होने लगती हैं। ऐसे में ब्रोकली आपके पाचन क्रिया में मदद कर सकती है। ब्रोकली में ग्लूकोसिनोलेट्स और विटामिन-सी होते हैं, जो आपके खाने को शीघ्र पचाने में मदद कर सकते हैं (10)।

11. मधुमेह के लिए ब्रोकली

 Broccoli for diabetes in hindi Pinit

Shutterstock

मधुमेह के मरीज को कई चीजों का सेवन करना मना होता है, क्योंकि इनमें कुछ ऐसे तत्व होते हैं, जो मधुमेह की समस्या को बढ़ा सकते हैं। ऐसे में डॉक्टर आपको ब्रोकली खाने की सलाह दे सकते हैं, क्योंकि इसमें पाए जाने वाले पोषक तत्व मधुमेह की समस्या को नियंत्रित रखने में सहायक हो सकते हैं। ब्रोकली में एंटीआक्सीडेंट गुण होते हैं, जो ब्लड ग्लूकोज और ऑक्सिडेटिव स्ट्रेस को कम करने में मदद करते हैं (11)। ऐसा ब्रोकली में पाए जाने वाले फाइबर के कारण संभव है, जो मधुमेह की बीमारी को कम करने में सहायता पहुंचा सकता है।

12. चयापचय (Metabolism) के लिए ब्रोकली

भोजन आपके चयापचय की प्रक्रिया को प्रभावित कर सकता है। अगर आप समय पर भोजन ग्रहण नहीं करते हैं, तो इसका प्रभाव आपके चयापचय क्रिया पर पड़ता है और वह आपके खाने को ऊर्जा के रूप में परिवर्तित नहीं कर पाता है। ब्रोकली में कैल्शियम और विटामिन-सी पाए जाते हैं, जो साथ में मिलकर चयापचय की क्रिया को बढ़ा सकते हैं। ब्रोकली में फाइबर होता है, जो पेट की जलन को शांत करने का कार्य करता है( 12)। यह शरीर के लिए अच्छा हो सकता है।

13. एलर्जी में ब्रोकली

Broccoli in allergy in hindi Pinit

Shutterstock

एलर्जी होने के कई कारण होते हैं और उन्हीं कारणों में से एक है प्रोटीन की कमी। ब्रोकली के गुणों में यह गुण भी शामिल है कि इसमें प्रोटीन की मात्रा अधिक होती है। इसके सेवन से शरीर को पर्याप्त मात्रा में प्रोटीन मिलता है और कोशिकाओं में एंटीऑक्सीडेंट बनने लगता है (13)। इस प्रकार यह किसी भी तरह की एलर्जी के इलाज में काम कर सकता है।

14. ब्रोकली रोग प्रतिरोधक शक्ति के लिए

कई लोग मौसम में थोड़ा बदलाव आते ही बीमार हो जाते हैं। ऐसे में अगर हरी सब्जियों की बात करें, तो ब्रोकली अच्छा विकल्प है। ब्रोकली में सल्फोराफेन पाया जाता है (14)। यह आपके शरीर में रोग प्रतिरोधक शक्ति को बढ़ाने का काम करता है। इसके सेवन से बीमार होने की समस्या कुछ हद तक कम हो सकती है। इसलिए, ब्रोकली लीजिए और खुद को रोग मुक्त कीजिए।

15. पुरुषों में यौन स्वास्थ के लिए ब्रोकली

कई पुरुष ऐसे हैं जिनका सामाजिक जीवन तो अच्छा होता है, लेकिन वैवाहिक जीवन ठीक नहीं होता है। इसका कारण यौन क्षमता में कमी होने से है। ऐसे में ब्रोकली के गुण आपके यौन स्वास्थ को बढ़ाने में मदद कर सकते हैं। ब्रोकली के पोषक तत्वों में विटामिन-सी और लाइकोपीन जैसे महत्वपूर्ण तत्व हैं (15) (16)। ये पुरुषों के वीर्य की गुणवत्ता को बढ़ा सकते हैं। इससे पुरुषों का यौन जीवन पहले से बेहतर हो सकता है।

16. शरीर के पीएच स्तर के लिए ब्रोकली

सही मात्रा में प्रोटीन व विटामिन न लेने से शरीर में पीएच स्तर असंंतुलित हो जाता है। अगर आप शरीर को स्वस्थ रखना चाहते हैं, तो पीएच स्तर का सामान्य रहना जरूरी है। ऐसे में आप ब्रोकली पर भरोसा कर सकते हैं। इस सब्जी में एल्कलाइन होता है (17) (18), जो एसिडिक पदार्थ को आपके शरीर से बाहर निकाल सकता है और पीएच स्तर को संतुलित कर सकता है ।

17. एजिंग के प्रभाव के लिए ब्रोकली

Broccoli for Effect of Aging in hindi Pinit

Shutterstock

बढ़ती उम्र के साथ चेहरे पर झुर्रियां दिखाई देना आम बात है। इन झुर्रियों को तेजी से बढ़ने से रोकने के लिए कई उपाय हैं, जिनमें ब्रोकली की सब्जी भी शामिल है। ब्रोकली में सल्फोराफेन पाया जाता है, जो एजिंग के प्रभाव को कम करता है (19) (20)I

18. त्वचा के लिए ब्रोकली के फायदे

ब्रोकली के कई फायदों के बारे में आपने पढ़ा है, लेकिन क्या आपको पता है कि ब्रोकली आपकी त्वचा के लिए भी फायदेमंद है। दरअसल, ब्रोकली में विटामिन-सी और सल्फोराफेन होता हैं, जो आपकी त्वचा को स्वस्थ रखने में मदद कर सकता है (21) (22)। इसके प्रयोग से त्वचा से संबंधी समस्याओं से छुटकारा मिल सकता है।

19. बालों के लिए ब्रोकली के फायदे

 Benefits of broccoli for hair in hindi Pinit

Shutterstock

बालों के झड़ने और गंजेपन की समस्या के कारण कई बार आप अपनी उम्र से ज्यादा बड़े दिखने लगते हैं। साथ ही यह समस्या चिंता का कारण भी बन जाती है। ऐसे में पर्याप्त पोषक तत्वों का सेवन जरूरी है और इनकी पूर्ति हरी सब्जियां के सेवन से हो सकती है। हरी सब्जियों में भी ब्रोकली को जरूर अपने खाने में शामिल करें, क्योंकि ब्रोकली में विटामिन-बी और विटामिन-सी पाए जाते हैं। ये आपके बालों को मजबूत बनाते हैं और उन्हें झड़ने से रोक सकते हैं (23)।

जैसा कि आपने ऊपर ब्रोकली के फायदे जाने। अब आगे के भाग में हम ब्रोकली में मौजूद पौष्टिक तत्वों के बारे में बताएंगे।

ब्रोकली के पौष्टिक तत्व – Broccoli Nutritional Value in Hindi

ब्रोकली में अनेक प्रकार के पौष्टिक तत्व पाए जाते हैं। इन पौष्टिक तत्वों को आपको इस चार्ट के माध्यम से बता रहे हैं (24)।

पोषक तत्वमूल्य प्रति ग्राम
पानी89.30 g
ऊर्जा34 Kcal
प्रोटीन2.82 g
टोटल लिपिड (फैट)0.37 g
कार्बोहाइड्रेट6.64 g
फाइबर टोटल डाइटरी2.6 g
शुगर टोटल1 .70 g
मिनरल्स
कैल्शियम Ca47 mg
आयरन Fe0.73 mg
मैग्नीशियम Mg21 mg
फास्फोरस P66 mg
पोटैशियम K316 mg
सोडियम Na33 mg
जिंक Zn0.41 mg
विटामिन्स
विटामिन सी टोटल एस्कॉर्बिक एसिड89.2 mg
थायमिन0. 071 mg
राइबोफ्लेविन0.117 mg
नियासिन0.639 mg
विटामिन -बी60.175 mg
फोलेट63 µg
विटामिन-बी120.00 µg
विटामिन-एRAE31 µg
विटामिन-एIU623 IU
विटामिन-ई (अल्फा-टोकोफेरोल )0.78 mg
विटामिन (डी2 +डी3 )0.0 µg
विटामिन-डी0 IU
विटामिन-के (फाइलोकिनने)101.6 µg
लिपिड
फैटी टोटल सैचुरेटेड0.114 g
फैटी टोटल मोनोसैचुरेटेड0.031 g
फैटी टोटल पोलोअनसैचुरेटेड0.112 g
फैटी टोटलट्रांस0.000 mg
कोलेस्ट्रॉल0 mg

ब्रोकली का उपयोग – How to Use Broccoli in Hindi

 How to Use Broccoli in Hindi Pinit

Shutterstock

बेशक, आपको ब्रोकली के बारे में जानकारी विस्तार में मिल गई है, लेकिन अगर ब्रोकली बनाने की विधि सही है, तभी ब्रोकली के फायदे आपको पूरी तरह से मिलेंगे। इसलिए, नीचे हम ब्रोकोली के उपयोग के बारे में बता रहे हैं।

  • ब्रोकली को सब्जी की तरह खाया जा सकता है। इसे चिकन और अंडे के साथ भी मिलाकर बनाया जा सकता है ।
  • आप ब्रोकली का सूप बना सकते हैं या फिर इसे उबाल कर भी खाया जा सकता है।
  • ब्रोकली की सलाद भी बनाई जा सकती है। फिटनेस के शौकीन इसे सलाद के रूप में उपयोग कर सकते हैं।
  • ब्रोकली को अंकुरित करके भी खाया जा सकता है ।
  • अगर ब्रोकली को पास्ता और नूडल्स में मिक्स किया जाए, तो इससे न सिर्फ उनका स्वाद बढ़ता है, बल्कि जरूरी पोषक तत्व भी मिल जाते हैं।

अभी आपने ब्रोकली के उपयोग पढ़े। आगे हम ताजी ब्रोकली को चुनने और उसे लंबे समय तक सुरक्षित रखने के टिप्स बता रहे हैं।

ब्रोकली का चयन कैसे करें और लंबे समय तक सुरक्षित कैसे रखें?

  • ब्रोकली को सब्जी मंडी से खरीदना चाहिए, क्योंकि वहां सब्जियां प्रतिदिन लाई जाती हैं। ताजी सब्जी में प्रोटीन व विटामिन भरपूर मात्रा में पाए जाते हैं, जो आपको स्वस्थ रखने में सहायक हो सकते हैं। इस प्रकार ब्रोकली के लाभ अधिक होते हैं।
  • सुपर मार्केट या फिर किसी दुकान से ब्रोकली खरीदते समय ध्यान रखें कि उसकी पत्तियां हरी हों और उनमें कीड़ा न लगा हो।
  • ऑर्गेनिक ब्रोकली का चुनाव करें, यह आपके स्वास्थ के लिए ज्यादा लाभदायक होगी।

अभी आपने ब्रोकली के चुनाव के बारे में पढ़ा और अब आगे हम ब्रोकली के नुकसान के बारे में जानेंगे।

ब्रोकली के नुकसान – Side Effects of Broccoli in Hindi

  • ब्रोकली का अधिक मात्रा में सेवन करना आपके लिए हानिकारक हो सकता है, क्योंकि इसमें फाइबर की मात्रा अधिक होती है। इसके कारण पेट की समस्या हो सकती है (25) ।
  • ब्रोकली से कुछ लोगों को एलर्जी भी हो सकती है (26)।
  • गर्भावस्था में ब्रोकली का सेवन कम मात्रा में करें। अधिक मात्रा में सेवन करना सेहत के लिए नुकसानदायक हो सकता है।

ब्रोकली के नुकसान से आपको डरने की जरूरत नहीं है। अगर आप इसका सही मात्रा में उपयोग करेंगे, तो आपको ब्रोकली के फायदे जरूर मिलेंगे। इस लेख में ब्रोकली के बारे में दिए जानकारी से आपको इसे सही तरीके से सेवन करने के बारे में भी पता चल गया होगा। इसलिए, अब जल्द से जल्द ब्रोकली को अपनी डाइट में शामिल करें। साथ ही अपने अनुभव नीचे दिए गए कमेंट बॉक्स के जरिए हमारे साथ जरूर शेयर करें। अगर आपके पास भी ब्रोकली से जुड़ी कोई जानकारी है, जो इस लेख में नहीं दी गई है, तो उसे भी आप हमारे साथ शेयर कर सकते हैं।

और पढ़े:

The following two tabs change content below.

Bhupendra Verma

भूपेंद्र वर्मा ने सेंट थॉमस कॉलेज से बीजेएमसी और एमआईटी एडीटी यूनिवर्सिटी से एमजेएमसी किया है। भूपेंद्र को लेखक के तौर पर फ्रीलांसिंग में काम करते 2 साल हो गए हैं। इनकी लिखी हुई कविताएं, गाने और रैप हर किसी को पसंद आते हैं। यह अपने लेखन और रैप करने के अनोखे स्टाइल की वजह से जाने जाते हैं। इन्होंने कुछ डॉक्यूमेंट्री फिल्म की स्टोरी और डायलॉग्स भी लिखे हैं। इन्हें संगीत सुनना, फिल्में देखना और घूमना पसंद है।

संबंधित आलेख