क्या ब्राउन शुगर साधारण चीनी से बेहतर है? – Brown Sugar vs. White Sugar in Hindi

Medically Reviewed By Neelanjana Singh, Nutrition Therapist & Wellness Consultant
Written by

लोग धीरे-धीरे स्वास्थ्य को लेकर सजग होने रहे हैं। यही कारण है कि लोग सोचने लगे हैं कि कौन-सी चीनी बेहतर है। जी हां, बाजार में शुगर के कई प्रकार मौजूद हैं, जिनमें से व्हाइट और ब्राउन शुगर का इस्तेमाल लोग ज्यादा करते हैं। ऐसे में कई लोगों के मन में यह सवाल उठता है कि सफेद चीनी और ब्राउन शुगर में से क्या बेहतर है? इसका जवाब आपको इस लेख में मिलेगा। साथ ही यहां हम ब्राउन शुगर और सफेद चीनी में क्या अंतर है और ब्राउन शुगर और व्हाइट शुगर का उपयोग करने का तरीका भी बताएंगे।

शुरू करते हैं लेख

लेख के पहले भाग में ब्राउन शुगर और वाइट शुगर कैसे बनते हैं, इस बारे में विस्तार से जानिए।

ब्राउन शुगर और वाइट शुगर कैसे बनते है?

ब्राउन शुगर को गन्ने से बनाया जाता है। वैसे तो गन्ने के जूस के मुख्य उत्पादों में से एक रिफाइंड चीनी है, लेकिन इस दौरान कई अन्य उत्पाद भी बनते हैं। उन्हीं में से एक ब्राउन शुगर भी है। इस प्रक्रिया में जो ब्राउन शुगर बनता है, वो अनरिफाइंड ब्राउन शुगर होता है (1)।

इसमें पहले से ही गुड़ (ब्राउन शुगर सिरप) बचा हुआ रहता है, जिस कारण इसका रंग भूरा होता है और स्वाद भी थोड़ा अलग होता है। वहीं, रिफाइंड ब्राउन शुगर को बनाने के लिए सफेद दानेदार चीनी के क्रिस्टल को गुड़ के सिरप में मिलाया जाता है (2)।

अब वाइट शुगर की बात करें, तो इसे बनाने के लिए भी गन्ने का उपयोग ही किया जाता है। इसके लिए गन्ने के रस को निकाल कर रिफाइंड किया जाता है। इसे बनाते समय गन्ने के रस में फास्फोरिक एसिड, सल्फर डाई आक्साइड भी मिलाया जाता है।

लेख पढ़ते रहें

चलिए, अब जानते हैं रॉ शुगर और ब्राउन शुगर में क्या अंतर है।

ब्राउन शुगर और साधारण चीनी में क्या अंतर है?

वैसे तो सामान्य चीनी और भूरी चीनी में कुछ खास अंतर नहीं है, लेकिन जो भी थोड़ा बहुत अंतर है उसके बारे में हम आपको नीचे जानकारी दे रहे हैं।

1.पोषक तत्व में अंतर : ब्राउन शुगर में सामान्य शुगर के मुकाबले कम कैलोरी होती है। वहीं, कैल्शियम, आयरन और पोटेशियम की मात्रा ब्राउन शुगर में सामान्य चीनी के मुकाबले ज्यादा होती है। नीचे दी गई तालिका के माध्यम से इनके बीच पोषक तत्वों के अंतर को समझिए (3) (4)।

पोषक तत्वब्राउन शुगर (मात्रा प्रति 100 ग्राम)सफेद शुगर (मात्रा प्रति 100 ग्राम)
पानी1.34 ग्राम 0.02 ग्राम
एनर्जी380 केसीएल385 केसीएल
प्रोटीन0.12 ग्राम0 ग्राम
कार्बोहाइड्रेट98.09 ग्राम99.6 ग्राम
शुगर, टोटल इन्क्लूडिंग एनएलइए (NLEA)97.02 ग्राम 99.8 ग्राम
कैल्शियम83  मिलीग्राम1  मिलीग्राम
आयरन0.71 मिलीग्राम0.05 मिलीग्राम
पोटैशियम133 मिलीग्राम2 मिलीग्राम
फास्फोरस4 मिलीग्राम0 मिलीग्राम
जिंक0.03 मिलीग्राम0.01मिलीग्राम
कॉपर0.047 मिलीग्राम0.007 मिलीग्राम
नियासिन0.11 मिलीग्राम0 मिलीग्राम
विटामिन बी-60.041 मिलीग्राम0 मिलीग्राम
फोलेट, टोटल1 माइक्रोग्राम0 माइक्रोग्राम

2.बनाने में अंतर : ब्राउन शुगर और सफेद चीनी को बनाने की विधि में थोड़ा अंतर है। चीनी को बनाने के लिए सबसे पहले गन्ने से रस निकाला जाता है, जिसके बाद रस को साफ करके उसे गर्म करके गाढ़ा घोल तैयार किया जाता है। अंत में गाढ़े घोल से दानेदार चीनी बनाई जाती है। वहीं, ब्राउन शुगर इन प्रक्रियाओं से दूर रहती है।

ब्राउन शुगर दो तरह से बन सकते हैं, एक रिफाइंड और दूसरा अनरिफाइंड। अनरिफाइंड ब्राउन शुगर उसे कहते है, जिसमें प्राकृतिक रूप से गुड़ (ब्राउन शुगर सिरप) बचा हुआ रहता है, जो इसे भूरा रंग और एक अलग स्वाद देता है। यह शुगर कम रासायनिक प्रक्रियाओं से गुजरकर मूल पोषक तत्वों को बरकरार रखता है। वहीं, रिफाइंड ब्राउन शुगर मूल रूप से सफेद चीनी होती है। इस ब्राउन शुगर को रिफाइंड यानी साफ सफेद चीनी में गुड़ मिलाकर बनाया जाता है।

3.खाना बनाने के लिए : सामान्य चीनी की तरह ब्राउन शुगर को भी खाने में उपयोग कर सकते हैं। कुछ मामलों में तो चीनी के बदले ब्राउन शुगर का उपयोग कर सकते हैं। ब्राउन शुगर में गुड़ नमी बनाए रखता है। इसी वजह से इसका उपयोग करके बेक किए हुए खाद्य पदार्थ नरम होते हैं। मिठास के लिए अचार, सॉस, चटनी में भी ब्राउन शुगर डाल सकते हैं।

4.स्वाद और रंग : सफेद और भूरी चीनी के बीच मुख्य अंतर उनके स्वाद और रंग में हैं। ब्राउन शुगर से खाना बनाने से खाद्य पदार्थ हल्का भूरा रंग ले सकता है। ब्राउन शुगर को गुड़ से बनाया जाता है, इसलिए इसका स्वाद कैरेमल या टॉफी की तरह होता है।

वहीं, सफेद चीनी, ब्राउन शुगर की तुलना में ज्यादा मीठी होती है। यह आप और आपकी पसंद पर निर्भर करता है कि आप किस चीनी को अपने डिश में मिलाना पसंद करेंगे।

5.दाम में अंतर: दोनों के दाम में भी काफी अंतर है। ब्राउन शुगर की तुलना में व्हाइट शुगर सस्ती होती है।

लेख में बने रहें

आगे जानिए कि ब्राउन शुगर और व्हाइट शुगर में किसका इस्तेमाल सबसे अच्छा होता है।

ब्राउन शुगर और साधारण चीनी में से कौन-सा बेहतर है?

अब बारी आती है यह उलझन दूर करने की कि ब्राउन शुगर और साधारण चीनी में किसका उपयोग ज्यादा बेहतर है? सफेद चीनी चुनें या भूरी, यह व्यक्तिगत फैसला है। ब्राउन शुगर का उपयोग और साधारण चीनी के इस्तेमाल से सिर्फ स्वाद और रंग का फर्क पड़ेगा। हां, ब्राउन शुगर के कुछ पौष्टिक तत्व साधारण चीनी से थोड़े ज्यादा होते हैं और कैलोरी के मामले में ब्राउन शुगर साधारण चीनी से कम है।

अगर कोई सोच रहे हैं कि ब्राउन शुगर के फायदे साधारण चीनी के तुलना में थोड़े ज्यादा हैं और वे इसका जितना चाहे उतना उपयोग कर सकते हैं, तो वो गलत हैं। ध्यान रहे कि किसी भी प्रकार की चीनी का सेवन जरूरत से ज्यादा करने पर नुकसान ही होते हैं। ब्राउन शुगर में भी पौष्टिक तत्वों की मात्रा इतनी कम होती है कि कुछ खास स्वास्थ्य लाभ नहीं होते। ऐसे में ब्राउन हो या साधारण चीनी, दोनों का ही सेवन सीमित मात्रा में करना ही सेहत के लिए बेहतर होगा।

शुगर किसी भी प्रकार का क्यों न हो, इसे अधिक मात्रा में लेना नुकसानदायक होता है। ऐसे में ब्राउन शुगर के फायदे तभी होगे, जब इसे सीमित मात्रा में लिया जाए। इस लेख में हमने रॉ शुगर और ब्राउन शुगर में क्या अंतर है, यह भी स्पष्ट कर दिया है। इससे आपको सही चीनी का चयन करने में आसानी हो सकती है। इस लेख के अगले हिस्से में ब्राउन और व्हाइट शुगर से संबंधित कुछ सवाल के जवाब जान लीजिए।

अक्सर पूछे जाने वाले सवाल

क्या शहद, ब्राउन और वाइट शुगर में से अच्छा कौन-सा होता है?

शहद सेहत के लिए रॉ शुगर और ब्राउन शुगर से अच्छा होता है (5)।

क्या गुड़, ब्राउन और वाइट शुगर का बेहतर विकल्प है?

जी हां, गुड़ ब्राउन शुगर और व्हाइट शुगर का एक अच्छा विकल्प साबित हो सकता है (6)

Sources

Articles on StyleCraze are backed by verified information from peer-reviewed and academic research papers, reputed organizations, research institutions, and medical associations to ensure accuracy and relevance. Read our editorial policy to learn more.

  1. Phytochemical profile of sugarcane and its potential health aspects
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC4441162/
  2. Sweeteners – sugars
    https://medlineplus.gov/ency/article/002444.htm
  3. Sugars brown
    https://fdc.nal.usda.gov/fdc-app.html#/food-details/168833/nutrients
  4. Sugar white granulated or lump
    https://fdc.nal.usda.gov/fdc-app.html#/food-details/1103933/nutrients
  5. Nutraceutical values of natural honey and its contribution to human health and wealth
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC3583289/
  6. Effect of replacement of sugar with jaggery on pasting properties of wheat flour physico-sensory and storage characteristics of muffins
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC6046027/
Was this article helpful?
The following two tabs change content below.
सरल जैन ने श्री रामानन्दाचार्य संस्कृत विश्वविद्यालय, राजस्थान से संस्कृत और जैन दर्शन में बीए और डॉ. सी. वी. रमन विश्वविद्यालय, छत्तीसगढ़ से पत्रकारिता में बीए किया है। सरल को इलेक्ट्रानिक मीडिया का लगभग 8 वर्षों का एवं प्रिंट मीडिया का एक साल का अनुभव है। इन्होंने 3 साल तक टीवी चैनल के कई कार्यक्रमों में एंकर की भूमिका भी निभाई है। इन्हें फोटोग्राफी, वीडियोग्राफी, एडवंचर व वाइल्ड लाइफ शूट, कैंपिंग व घूमना पसंद है। सरल जैन संस्कृत, हिंदी, अंग्रेजी, गुजराती, मराठी व कन्नड़ भाषाओं के जानकार हैं।

ताज़े आलेख