मक्खन (बटर) के फायदे, उपयोग और नुकसान – Butter (Makhan) Benefits and Side Effects in Hindi

Medically Reviewed By Neelanjana Singh, Nutrition Therapist & Wellness Consultant, RD
Written by

अच्छी सेहत और रोगों को दूर रखने के लिए पोषक तत्वों से युक्त आहार को प्राथमिकता देना जरूरी है। ऐसे में उचित आहार का चुनाव करना हमारे लिए जरूरी होता है। यही नियम मक्खन पर भी लागू होता है। अब आप सोचेंगे कि मक्खन कैसे सेहत के लिए लाभदायक हो सकता है। इसमें तो जरूरत से ज्यादा फैट होता है, लेकिन तब भी हम यही कहेंगे कि कुछ मामलों में मक्खन सेहत के लिए फायदेमंद है। अब सेहत के लिहाज से कौन-सा मक्खन खाना चाहिए और कौन सा नहीं, यह आपको लेख में आगे जानने को मिलेगा। स्टाइलक्रेज के इस आर्टिकल में हम मक्खन के फायदे, मक्खन के नुकसान और मक्खन का उपयोग कैसे करें, इस बारे में विस्तार से बताएंगे।

इस आर्टिकल में सबसे पहले हम यह जानेंगे कि मक्खन क्या है।

विषय सूची


मक्खन क्‍या है? – What is Butter in Hindi

मक्खन एक तरह का डेयरी उत्पाद है। इसे दही, लस्सी, मलाई व दूध को मथकर निकाला जाता है। मक्खन को दधिज या माखन के नाम से भी जाना जाता है। मक्खन को दधिज या माखन के नाम से भी जाना जाता है। मक्खन कई प्रकार के होते हैं, जिनमें दूध से बना बटर, पीनट बटर व कोको बटर मुख्य है। मक्खन में ऊर्जा और वसा जैसे मुख्य पोषक तत्व होते हैं (1)। मोनोअनसैचुरेटेड और पॉलीअनसैचुरेटेड फैट वाला बटर का सेवन बेहतर होता है। ध्यान रहे कि इतने गुणों के बाद भी इसे कम मात्रा में सेवन करना ही उचित होगा। ऐसा इसलिए, क्योंकि अगर हाई सैचुरेटेड फैट और ट्रांस फैट वाले बटर का सेवन कर रहे हैं, तो हृदय रोग की समस्या बढ़ सकती है (2)। वहीं, बाजार में मार्जरीन (margarines) नामक स्प्रेड भी मौजूद है, जो बटर के विकल्प के रूप में उपयोग किया जाता है। इस आर्टिकल में आगे हम बटर का उपयोग करने के विभिन्न तरीकों व फायदों के बारे में विस्तार से बताएंगे।

आर्टिकल के अगले हिस्से में बटर के फायदे जानेंगे।

मक्खन (बटर) के फायदे – Benefits of Butter in Hindi

स्वास्थ्य के लिहाज से मक्खन के कई फायदे हैं, जिनके बारे में हम यहां बता रहे हैं। साथ ही हम स्पष्ट कर दें कि इसे दवा या किसी मेडिकल ट्रीटमेंट का विकल्प न समझा जाए। यह घरेलू नुस्खे की तरह सिर्फ स्वस्थ्य रहने में मदद कर सकता है। वहीं, अगर कोई बीमार है, तो उसे डॉक्टर की सलाह पर ही इसका सेवन करना चाहिए।

1. हृदय को स्वस्थ रखने के लिए

हृदय को स्वस्थ रखने की बात करें, तो इस मामले में पीनट बटर सबसे बेहतर है, क्योंकि इसमें मोनोअनसैचुरेटेड फैट पाए जाता हैं, जिसे स्वास्थ्य के लिए लाभदायक माना जा सकता है। मोनोअनसैचुरेटेड फैट, कोलेस्ट्रॉल की मात्रा को कम करने में मदद कर सकता है। शरीर में कोलेस्ट्रॉल की मात्रा कम होने पर हृदय रोग से बचना आसान हो जाता है। वहीं, आम बटर में सैचुरेटेड फैट की मात्रा ज्यादा पाई जाती है (3)। इसलिए, ऐसा माना जा सकता है कि मक्खन के फायदे स्वस्थ हृदय के लिए हो सकते हैं।

2. पेट व वजन को कम करे

पेट को बढ़ाने से रोकने में मक्खन का सेवन मददगार हो सकता है। दरअसल, कम फैट वाले आहार का सेवन करने पर बढ़ते मोटापा से छुटकारा पाया जा सकता है। इसके अलावा, कंजुगेटेड लिनोलिक एसिड (CLA) युक्त खाद्य पदार्थ के सेवन से भी वजन को जरूरत से ज्यादा बढ़ने से रोका जा सकता है (4) (5) (6)। इसमें पेट का बढ़ना (Abdominal Obesity) भी शामिल है। वहीं मक्खन में यह गुण पाया जाता है। हम यह स्पष्ट कर दें कि कंजुगेटेड लिनोलिक एसिड (CLA) डेयरी प्रोडक्ट में मौजूद होता है और यहां हम डेयरी प्रोडक्ट युक्त मक्खन के बारे में चर्चा कर रहे हैं। फिलहाल, इस संबंध में और शोध किए जाने की जरूरत है (7)।

3. प्रतिरक्षा को मजबूत करने में मददगार

द नेशनल एकेडमी प्रेस (The National Academies Press) के मुताबिक, कमजोर प्रतिरक्षा प्रणाली के कारण शरीर में संक्रमण और कई अन्य समस्याएं उत्पन्न हो सकती हैं। वहीं, प्रतिरक्षा प्रणाली को मजबूत करने के लिए विटामिन-ए मददगार हो सकता है। जिन खाद्य आहार में विटामिन-ए पाए जाते हैं, उनमें मक्खन भी शामिल है (8) इसलिए, मक्खन को इम्यून सिस्टम के लिए लाभकारी कहा जा सकता है,

4. एंटी कैंसर की तरह

बटर के फायदे कैंसर जैसी जानलेवा समस्या को दूर रखने के लिए हो सकते हैं। पीनट में आइसोफ्लेवोन्स, फाइटोस्टेरोल, रेसवेराट्रोल और फेनोलिक एसिड पाए जाते है, जो एक तरह कि एंटी कैंसर की तरह काम करता है। चुकी पीनट बटर, पीनट से बनाए जाते हैं। जो कैंसर की समस्या को दूर रखने के साथ साथ इसके लक्षण से भी राहत दिलाने का काम कर सकता है। इसलिए, ऐसा कहा जा सकता है कि पीनट बटर को एंटी-कैंसर की तरह इस्तेमाल किया जा सकता है (9)।

इस आर्टिकल के अगले हिस्से में मक्खन के पौष्टिक तत्व के बारे में जानेंगे।

मक्खन के पौष्टिक तत्व – Butter Nutritional Value in Hindi

मक्खन में कौन-कौन से पोषक तत्व पाए जाते हैं, उस बारे में हम नीचे एक टेबल के जरिए बता रहे(1)

पोषक तत्वमूल्य प्रति 100 g
पानी15.87 g
ऊर्जा717 kcal
प्रोटीन0.85 g
टोटल लिपिड (फैट)81.11 g
कार्बोहाइड्रेट0.06 g
शुगर0.06 g
कैल्शियम, Ca24 Mg
आयरन Fe0.02 Mg
मैग्नीशियम, Mg2 Mg
फॉस्फोरस, P24 Mg
पोटैशियम, K24 Mg
सोडियम, Na643 Mg
जिंक0.09 Mg
थायमिन0.005 Mg
राइबोफ्लेविन0.034 Mg
नियासिन0.042 Mg
विटामिन बी-60.003 Mg
फोलेट3 µg
विटामिन ई2.32 Mg
फैटी एसिड, टोटल सैचुरेटेड51.368 g
फैटी एसिड, टोटल मोनोअनसैचुरेटेड21.021 g
फैटी एसिड, टोटल पोलीअनसैचुरेटेड3.043 g

आइए, अब यह भी जान लेते हैं कि मक्खन का उपयोग किस प्रकार किया जा सकता है।

मक्खन का उपयोग – How to Use Butter in Hindi

मक्खन को कई तरह से इस्तेमाल किया जा सकता है, जिनमें से सबसे आम तरीकों के बारे में हम यहां बता रहे हैं।

कैसे खाएं:

  • ब्राउन ब्रेड पर मक्खन (बटर) को लगाकर खाया जा सकता है।
  • रोटी या पराठे के साथ भी मक्खन को खाया जा सकता है।
  • घी या तेल के बदले बटर का उपयोग दाल में भी तड़का लगाने के लिए किया जा सकता है।
  • कुछ मक्खन ऐसे होते हैं, जिनसे सब्जी बनाकर भी खाया जा सकता है।
  • कई आहार में बटर को ऊपर से गार्निश किया जा सकता है।
  • बटर को आमलेट बनाने के लिए भी इस्तेमाल किया जा सकता है।

कब खाएं:

  • सुबह ब्रेड के साथ खाया जा सकता है।
  • दोपहर या रात की सब्जी तैयार करने के लिए इसका इस्तेमाल किया जा सकता है।
  • शाम के नाश्ता में आमलेट के साथ इस्तेमाल कर सकते हैं।

कितना खाएं:

    • प्रतिदिन एक चम्मच या 10-14 g मक्खन यानी पूरे दिन में आधे से एक चम्मच मक्खन खाना स्वास्थ्य के लिहाज से फायदेमंद हो सकता है (10) फिर भी इसके सेवन से पहले आहार विशेषज्ञ की सलाह जरूर लें। वह आपके स्वास्थ्य के अनुसार इसकी उचित मात्रा का सही जानकारी देंगे।

आगे हम बता रहे हैं कि मक्खन के सेवन से क्या-क्या नुकसान हो सकते हैं।

मक्खन के नुकसान – Side Effects of Butter in Hindi

जिस तरह बटर के फायदे हैं, उसी तरह हाई सैचुरेटेड फैट वाले मक्खन के सेवन से नुकसान भी हो सकते हैं (2), जो इस तरह से हैं:

  • मक्खन में सैचुरेटेड फैट की मात्रा अधिक होती है। इसके अधिक मात्रा में सेवन से कोलेस्ट्रॉल बढ़ने का जोखिम हो सकता है (11)।
  • मक्खन के सेवन से कोलेस्ट्रॉल के बढ़ने पर हृदय रोग की समस्या भी हो सकती है (11)।
  • मक्खन में वसा की अच्छी मात्रा पाई जाती है। इसलिए, इसके अधिक मात्रा में सेवन करने पर मोटापा बढ़ सकता है।

इस आर्टिकल को पढ़कर यह तो समझ आ ही गया होगा कि मक्खन कितने प्रकार के होते हैं। साथ ही किस तरह के बटर का सेवन उचित होगा। आप मक्खन जरूर खाएं, लेकिन कम फैट वाला और सीमित मात्रा में। साथ ही ध्यान रहे मक्खन किसी भी बीमारी का उपचार नहीं है। इन गंभीर बीमारी की अवस्था में मेडिकल ट्रीटमेंट से बेहतर कुछ नहीं है। उम्मीद करते हैं कि यह लेख आपके लिए उपयोगी सिद्ध होगी।

अक्सर पूछे जाने वाले सवाल

क्या मक्खन से इर्रिटेबल बाउल सिंड्रोम का इलाज हो सकता है?

नहीं, मक्खन इर्रिटेबल बाउल सिंड्रोम का इलाज नहीं है। अगर किसी को यह समस्या है तो बेहतर है इस बारे में डॉक्टरी परामर्श लें और डॉक्टरी के कहे अनुसार ही डाइट में मक्खन को शामिल करें।

और पढ़े:

Sources

Articles on StyleCraze are backed by verified information from peer-reviewed and academic research papers, reputed organizations, research institutions, and medical associations to ensure accuracy and relevance. Read our editorial policy to learn more.

  1. Butter,NFS
    https://fdc.nal.usda.gov/fdc-app.html#/food-details/1103822/nutrients
  2. .

  3. Facts about monounsaturated fats
    https://medlineplus.gov/ency/patientinstructions/000785.htm
  4. Choosing Heart-Healthy Fats
    https://www.in.gov/spd/files/HHE-HeartHealthyFats.pdf
  5. Butter naturally enriched in conjugated linoleic acid and vaccenic acid alters tissue fatty acids and improves the plasma lipoprotein profile in cholesterol-fed hamsters
    https://pubmed.ncbi.nlm.nih.gov/16046719/
  6. Efficacy of conjugated linoleic acid for reducing fat mass: a meta-analysis in humans
    https://pubmed.ncbi.nlm.nih.gov/17490954/
  7. .

  8. Conjugated linoleic acid reduces body fat mass in overweight and obese humans
    https://pubmed.ncbi.nlm.nih.gov/11110851/
  9. A review on effects of conjugated linoleic fatty acid (CLA) upon body composition and energetic metabolism
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC4574006/
  10. .

  11. Vitamin A and Immune Function
    https://www.nap.edu/read/6450/chapter/19
  12. The relationship between nut intake and risk of colorectal cancer: a case control study
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC5840774/
  13. Butter, salted
    https://fns-prod.azureedge.net/sites/default/files/resource-files/Butter_Salted.pdf
  14. Butter, margarine, and cooking oils
    https://medlineplus.gov/ency/patientinstructions/000095.htm
Was this article helpful?
The following two tabs change content below.

Neelanjana Singh

(Nutrition Therapist & Wellness Consultant, RD)
Neelanjana Singh has over 30 years of experience in the field of nutrition and dietetics. She created and headed the... more

ताज़े आलेख