कैलामाइन लोशन के 11 अद्भुत फायदे – Benefits Of Calamine Lotion in Hindi

Medically Reviewed By Suvina Attavar (Dermatologist & Hair transplant surgeon)
Written by
497483

विश्व स्वास्थ्य संगठन की जरूरी दवाओं की सूची में कैलामाइन लोशन भी शामिल है। यह जिंक ऑक्साइड और फेरिक ऑक्साइड का प्रभावी मिश्रण है। इसे फिनोल और कैल्शियम हाइड्रॉक्साइड जैसे जरूरी तत्वों के साथ मिलाकर बनाया जाता है। शरीर से जुड़ी समस्याओं के लिए इसका उपयोग लगभग कई वर्षों से किया जा रहा है। त्वचा संबंधी बैक्टीरियल और फंगल इंफेक्शन के लिए कैलामाइन एक प्रभावी उपचार है (1)। स्टाइलक्रेज के इस लेख में हम कैलामाइन लोशन का उपयोग व कैलामाइन लोशन के फायदे के साथ ही कैलामाइन लोशन के नुकसान के बारे में विस्तार से बताएंगे।

स्क्रॉल कर पढ़ें

चलिए, सबसे पहले जानते हैं कि कैलामाइन लोशन कहा किसे जाता है।

कैलामाइन लोशन क्या है और ये कैसे काम करता है?

कैलामाइन लोशन एक दवा है, जिसे खुजली और त्वचा संबंधी कई समस्याओं से निपटने के लिए इस्तेमाल किया जा सकता है। इन उपयोग में कीड़े के काटने, सनबर्न, हल्के त्वचा संबंधी रोग और अन्य रोग शामिल हैं (1)। कैलामाइन अपने काउंटर-इरिटेंट प्रभाव के चलते काम कर सकता है। जब कोई इस लोशन को लगाते हैं, तो यह भाप में बदलकर त्वचा पर शीतल प्रभाव छोड़ सकता है। इस लोशन का कूलिंग प्रभाव खुजली और जलन से त्वचा को राहत देने का काम कर सकता है। इस लोशन में जिंक ऑक्साइड के साथ-साथ एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण भी मौजूद होता है, जो शरीर को कई मायनों में लाभ पहुंचाता है।

आइए, अब कैलामाइन लोशन के फायदे के बारे में जानते हैं।

कैलामाइन लोशन के फायदे – Benefits of Calamine Lotion in Hindi

कैलामाइन लोशन को लगाने से कई तरह के लाभ हो सकते हैं, जिसके बारे में नीचे वैज्ञानिक शोध के आधार बताया गया है। साथ ही हम स्पष्ट कर दें कि गंभीर अवस्था में सिर्फ कैलामाइन लोशन इस्तेमाल करने की जगह डॉक्टर की सलाह लेना सही होता है।

1. पॉइजन आइवी रैश के इलाज में सहायक

पॉइजन आइवी रैश से छुटकारा पाने के लिए कैलामाइन लोशन का इस्तेमाल करना अच्छा निर्णय साबित हो सकता हैं। पॉइजन आइवी रैश एक तरह का एलर्जिक रिएक्शन होता है, जिसे कैलामाइन लोशन में मौजूद गुण कम कर सकता है। इसे पॉइजन आइवी रैश की समस्या में दवाई के तौर पर उपयोग किया जा सकता है (2)। फिलहाल, इस पर अभी और शोध की आवश्यकता है, ताकि पता चल सके कि कैलामाइन लोशन का कौन-सा गुण इसमें मदद करता है।

2. मुंहासों का इलाज

जो लोग मुंहासे की समस्या से परेशान हैं, उनके लिए कैलामाइन लोशन मददगार साबित हो सकता हैं। एनसीबीआई (नेशनल सेंटर फॉर बायोटेक्नोलॉजी इंफार्मेशन) की वेबसाइट पर प्रकाशित एक वैज्ञानिक शोध के अनुसार कैलमाइन में जिंक ऑक्साइड के अलावा एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण भी होता है। एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण कुछ हद तक मुंहासे की समस्या को दूर करने का काम कर सकता है (3)। इसे खासतौर से पीठ और चेस्ट के दाने को मिटाने के लिए उपयोग किया जा सकता है। मुंहासे के लिए चेहरे पर कैलामाइन का उपयोग करने से त्वचा पर जलन और रूखापन महसूस हो सकता है।

3. चिकन पॉक्स के लक्षण से राहत

वेरिसेला-जोस्टर नामक वायरस के कारण होने वाले संक्रमण को चिकनपॉक्स कहा जाता है। इससे शरीर पर दाग और फफोले पड़ जाते हैं। यह संक्रमण अमूमन 15 साल से कम उम्र के बच्चों को होता है, लेकिन बड़े बच्चे और वयस्क भी इसके चपेट में आ सकते हैं। यह एक व्यक्ति से दूसरे में भी आसानी से फैल सकता है। ऐसी स्थिति में कैलामाइन लोशन का इस्तेमाल करने पर इससे होने वाले खुजली से राहत मिल सकती हैं (4)।

4. डायपर रैशेज से राहत

त्वचा की जलन को कम करने के लिए कैलामाइन लोशन का उपयोग किया जा सकता है। इसलिए, इसका प्रयोग बच्चों के डायपर रैशेज को ठीक करने के लिए भी किया जा सकता है। यह लोशन त्वचा को नमी से युक्त रखकर रैशेज को दोबारा आने से रोक सकता है (5)। फिलहाल, इस पर सटीक वैज्ञानिक शोध मौजूद नहीं है।

5. कीड़े के काटने, हीव्स और स्कैबीज का इलाज

कीड़े के काटने, हीव्स (एक तरह के चकत्ते) और स्कैबीज (एक तरह के संक्रमण की समस्या) के इलाज में भी कैलामाइन लोशन का उपयोग किया जा सकता है। एक वैज्ञानिक शोध की माने, तो पिस्सू यानी फ्ली (Flea) नामक कीड़े के काटने से होने वाले खुजली को कम करने के लिए इस लोशन का इस्तेमाल किया जा सकता है (6)। वहीं, हीव्स में सुधार करने के लिए त्वचा को सूद करने के लिए कैलामाइन लोशन में मौजूद मेंथॉल मदद कर सकता है। इसके अलावा, स्कैबीज की स्थिति में त्वचा में अधिक खुजली होती है, जिसे कैलामाइन लोशन के जरिए कम किया जा सकता है (7)। इससे स्कैबीज की खुजली शांत हो सकती है, लेकिन इसके इन्फेक्शन को दूर करने के लिए डॉक्टरी इलाज का सहारा जरूर लें।

6. सनबर्न से राहत

सनबर्न यानी धूप से हुए त्वचा के नुकसान को ठीक करने के लिए भी कैलामाइन लोशन के फायदे हो सकते हैं। इस संबंध में हुए एक वैज्ञानिक शोध में दिया हुआ है कि कैलामाइन त्वचा को सूरज की अल्ट्रावायलेट किरणों से सुरक्षा प्रदान करने का काम कर सकता है। साथ ही सनबर्न को भी ठीक किया जा सकता है (8)। फिलहाल, इस पर और शोध किया जा रहा है।

7. गर्भवस्था के दौरान होने वाले खुजली से राहत

कैलामाइन लोशन के फायदे गर्भवती महिलाओं के लिए भी हो सकता हैं। एनसीबीआई की वेबसाइट पर पब्लिश एक मेडिकल रिसर्च के मुताबिक, प्रुराइटस गर्भवती महिलाओं को होने वाली आम समस्या है। इसकी वजह से शरीर में खुजली शुरू होती है। अध्ययनों के अनुसार, एंटीपयरेटिक के रूप में कैलामाइन लोशन का इस्तेमाल किया जा सकता है (9)।

8. एक्जिमा और सोरायसिस को ठीक करने के लिए

एक्जिमा और सोरायसिस के लिए कैलामाइन लोशन का उपयोग किया जा सकता है। हालांकि, कैलामाइन इन समस्याओं को ठीक तो नहीं करता, लेकिन कम जरूर कर सकता है। इन समस्या से कुछ हद तक राहत दिलाने के लिए लोशन में मौजूद जिंक ऑक्साइड और फेरस ऑक्साइड की भूमिका अहम होती है। जिंक ऑक्साइड एक कारगर एंटीसेप्टिक है, जो संक्रमण को रोक सकता है और फेरस ऑक्साइड एंटीप्रुरिटिक की तरह काम कर त्वचा को स्वस्थ रखने में मदद कर सकता है (3)।

9. दाद (शिंगल्स) में कमी

शिंगल्स यानी दाद एक तरह का फंगल इन्फेक्शन होता है, जो दर्दनाक फफोले वाला रैशेज होता है। यह वेरिकाला-जोस्टर वायरस के कारण होता है। यह वायरस चिकनपॉक्स का भी कारण बनता है (10)। इस स्थिति से राहत पाने के लिए कैलामाइन लोशन की अहम भूमिका हो सकती हैं (11), लेकिन इस संबंध में अभी ज्यादा शोध उपलब्ध नहीं है।

10. फंगल इन्फेक्शन में कमी

फंगस इन्फेक्शन को कम करने के लिए कैलामाइन लोशन का उपयोग किया जा सकता है। एक वैज्ञानिक शोध के अनुसार, कैलामाइन लोशन में एंटीबैक्टीरियल गुण पाए जाते हैं, जो बैक्टीरिया के साथ ही फंगस को भी दूर कर सकता हैं। इससे फंगल इन्फेक्शन की समस्या को कम किया जा सकता है (13)।

11. घाव और स्किन अल्सर का इलाज

कैलामाइन लोशन के फायदे घाव भरने और अल्सर के इलाज करने के लिए भी हो सकते हैं। एक मेडिकल रिसर्च की माने, तो यह यह लोशन घाव और त्वचा के अल्सर को ठीक कर सकता है। साथ ही त्वचा की जलन और खुजली को कम कर सकता है (14)। फिलहाल, इस संबंध में ज्यादा वैज्ञानिक शोध उपलब्ध नहीं हैं।

स्क्रॉल करें

इस लेख के अगले भाग में हम कैलामाइन लोशन का प्रयोग कैसे करना है, इसके बारे में बताएंगे।

कैलामाइन लोशन का प्रयोग कैसे करें – How to Apply Calamine Lotion in Hindi

कैलामाइन लोशन को खरीदने के बाद इसे सही तरह से लगाना भी जरूरी होता है, ताकि इस लोशन का पूरा लाभ मिल सके। नीचे हम कैलामाइन लोशन लगाने के तरीका बता रहे हैं।

  • सबसे पहले लोशन की बोतल को अच्छे से हिलाएं यानी शेक करें।
  • इसके बाद लोशन को रूई पर निकालें। रूई को गीला होने दें।
  • फिर इसे रूई के मदद से प्रभावित त्वचा पर लगाएं।
  • लोशन को त्वचा में समाने दें।
  • अगले दिन जरूरत महसूस होने पर फिर से लगाएं।

आगे है और जानकारी

चलिए, अब जानते हैं कि कैलामाइन लोशन को कहां से खरीदा जा सकता है।

कैलामाइन लोशन कहां से खरीदें?

कैलामाइन लोशन को हमेशा प्रतिष्ठित मेडिकल स्टोर से खरीदना चाहिए। इससे नकली उत्पाद मिलने का जोखिम कम रहता है। नकली कैलामाइन लोशन त्वचा के लिए हानिकारक हो सकता है।

नीचे भी पढ़ें

इस लेख के आगे भाग में हम कैलामाइन लोशन के नुकसान की जानकारी दे रहे हैं।

कैलामाइन लोशन के नुकसान – Side Effects of Calamine Lotion in Hindi

वैसे तो कैलामाइन लोशन के फायदे अधिक हैं, लेकिन कैलामाइन लोशन के नुकसान भी हो सकते हैं। नीचे हम इन्हीं नुकसान के बारे में बता रहे हैं।

  • इस लोशन के उपयोग से त्वचा ज्यादा रूखी हो सकती है।
  • इससे कुछ लोगों को त्वचा में हल्की जलन महसूस हो सकती हैं।
  • कुछ लोगों को इस लोशन के इस्तेमाल से एलर्जी हो सकती हैं।

कैलामाइन युक्त लोशन त्वचा पर कई चमत्कारी प्रभाव डाल सकता है, जिसके बारे में जानने के लिए कैलामाइन लोशन का उपयोग करने की आवश्यकता है। वहीं, अधिक संवेदनशील त्वचा वालों को कैलामाइन युक्त लोशन के चयन से पहले पैच टेस्ट कर लेना चाहिए, क्योंकि कुछ लोगों को इससे हल्की जलन महसूस हो सकती है। ऊपर बताए गए त्वचा की समस्या के इलाज के लिए कोई इस लोशन को इस्तेमाल करना चाहता है, तो वो एक बार इस संबंध में डॉक्टर से बात कर लें। हम आशा करते हैं कि हमारे इस लेख में दिए गए सभी जानकारियां रीडर के लिए उपयोगी साबित होगी।

नीचे हम कैलामाइन लोशन के बारे में पाठकों के सवालों के जवाब दे रहे हैं।

अक्सर पूछे जाने वाले सवाल

क्या कटने पर कैलामाइन लोशन का उपयोग कर सकते हैं?

जी हां, इसे कटने पर उपयोग किया जा सकता है, लेकिन बेहतर होगा कि इस अवस्था में इस्तेमाल करने से पहले डॉक्टर से जरूर पूछ लें।

क्या रात भर कैलामाइन लोशन लगा कर रख सकते हैं?

जी हां, इस लोशन को रात भर लगाकर रख सकते हैं। फिर सुबह सामान्य पानी से धो लें।

क्या अधिक मात्रा में कैलेमाइन लोशन का उपयोग कर सकते हैं?

कैलेमाइन लोशन का उपयोग सामान्य मात्रा में करना ही बेहतर होगा। अधिक मात्रा में लगाने से त्वचा पर एलर्जी हो सकती है।

क्या कैलेमाइन लोशन काले धब्बे हटा सकता है?

जी हां, कैलेमाइन लोशन काले धब्बे हटाने में मदद कर सकता है (15)।

कैलेमाइन लोशन स्कार को फेड कर सकता है?

जी हां, कैलेमाइन लोशन स्कार को कम कर सकता है, लेकिन इस पर वैज्ञानिक शोध उपलब्ध नहीं है।

क्या कैलेमाइन लोशन एक एंटीहिस्टामाइन है?

जी नहीं , कैलेमाइन लोशन एंटीहिस्टामाइन नहीं है। फिलहाल, इस बात की पुष्टि करने के लिए किसी तरह का मेडिकल रिसर्च उपलब्ध नहीं है।

इस दवा का प्रभाव कितने दिनों के भीतर देखा जा सकता है?

इस लोशन का असर कुछ लोगों में 3 से 4 दिन में दिखाई दे सकता है और कुछ लोगो में एक हफ्ते से भी ज्यादा का समय लग सकता है। यह मुख्य रूप से त्वचा की बनावट पर भी निर्भर करता है।

कौन-सा कैलामाइन लोशन सबसे अच्छा उपलब्ध है?

लैक्टो कैलामाइन लोशन को सबसे अच्छा कहा जा सकता है।

Sources

Articles on StyleCraze are backed by verified information from peer-reviewed and academic research papers, reputed organizations, research institutions, and medical associations to ensure accuracy and relevance. Check out our editorial policy for further details.
Was this article helpful?
The following two tabs change content below.

Suvina Attavar (Dermatologist & Hair transplant surgeon)

()
Dr. Suvina Attavar - I have a thirst for learning and a passion for Dermatology, Cosmetology and hair transplantation. I am well versed with lasers, chemical peels, and other minor dermatologic procedures. I have been doing hair transplants since 2018.  I have written articles on dermatology topics for Residream during my residency as well as for practo and icliniq. 

ताज़े आलेख

497483