घरेलू उपचार
Stylecraze

चक्कर आना – कारण, लक्षण और घरेलू उपाय – Home Remedies for Dizziness in Hindi

by
चक्कर आना – कारण, लक्षण और घरेलू उपाय – Home Remedies for Dizziness in Hindi March 14, 2019

आपने कभी न कभी महसूस किया ही होगा कि अचानक से आपकी आंखों के आगे अंधेरा-सा छा गया हो, फिर चाहे आप बैठे हों या खड़े हों। साथ ही कभी न कभी आपको ऐसा भी लगा होगा कि अचानक आपका सिर घूमने लगा है। अगर हां, तो यह चक्कर आने के लक्षण हैं। अगर आपको भी बार बार चक्कर आना या सिर चकराने जैसी समस्या हुई है, तो स्टाइलक्रेज का यह लेख खास आपके लिए है। इस लेख में हम आपको बताएंगे कि चक्कर किन कारणों से आते हैं, इसके लक्षण क्या हैं और इनसे राहत पाने के लिए क्या किया जा सकता है।

विषय सूची


सबसे पहले हम यह जानते हैं कि चक्कर आने के कारण क्या हैं।

चक्कर आने का कारण – Causes of Dizziness in Hindi

चक्कर आने के कई कारण हो सकते हैं, नीचे हम इसके कुछ सामान्य कारण बता रहे हैं, जिस वजह से यह समस्या हो सकती है (1) :

  1. माइग्रेन : यह ऐसा विकार है, जिसमें गंभीर सिरदर्द होता है। माइग्रेन होने पर सिरदर्द के पहले या सिरदर्द के बाद चक्कर आ सकते हैं।
  2. चिंता या तनाव : चिंता या तनाव भी चक्कर आने का कारण बन सकता है। ऐसे में आपको असामान्य रूप से सांस लेने की समस्या हो सकती है।
  3. लो ब्लड शुगर : सिर में चक्कर आना लो ब्लड प्रेशर के कारण भी हो सकता है। यह आमतौर पर डायबिटीज के मरीजों में देखने को मिलता है।
  4. लो ब्लड प्रेशर : लो ब्लड प्रेशर यानी कम रक्तचाप के कारण चक्कर आना आम है। कम रक्तचाप होने से मस्तिष्क में पर्याप्त ऑक्सीजन नहीं पहुंच पाती, जिस कारण चक्कर आने लगते हैं।
  5. अचानक से रक्त प्रवाह होना : जब आप काफी देर से बैठे हो और अचानक से उठो, तो रक्त प्रवाह में तेजी से बदलाव आता है, जिस कारण कभी-कभी चक्कर आ सकते हैं।
  6. डिहाइड्रेशन, गर्मी या थकान : तेज गर्मी में, शरीर में पानी की कमी होने पर या फिर थकान होने पर भी चक्कर आ सकते हैं।

इसके अलावा, बार-बार चक्कर आने के पीछे कुछ दुर्लभ कारण भी हो सकते हैं, जैसे :

  • सिर या कान पर चोट लगने के कारण।
  • शरीर में आयरन या विटामिन की कमी होना।
  • मस्तिष्क के पीछे वाले भाग में रक्त का प्रवाह कम होना।

चक्कर आने का लक्षण – Symptoms of Dizziness in Hindi

चक्कर आने पर व्यक्ति को आसपास की चीजें घूमती हुईं और धुंधली नजर आती हैं। इसके अलावा, चक्कर आने से पहले घबराहट और जी-मिचलाने की समस्या हो सकती है। इनके अलावा, चक्कर आने पर नीचे बताए गए लक्षण नजर आते हैं (2) :

  • सिर एक तरफ झुक जाना।
  • बैठते हुए या खड़े होते समय नियंत्रण न हो पाना।
  • किसी एक स्थिति में न बैठ पाना।
  • ऐसा महसूस होना कि आप आगे या पीछे की तरफ गिर रहे हो।
  • आसपास की चीजें घूमती हुईं और सिर चकराता हुआ महसूस होना।

आगे हम चक्कर आने के विभिन्न प्रकारों के बारे में बता रहे हैं।

चक्कर आने के प्रकार – Types of Dizziness in Hindi

चक्कर आने के दो प्रकार होते हैं :

  • हल्के दर्द के साथ सिर में चक्कर आना : ऐसा होने पर आपको लगेगा कि आप बेहोश होने वाले हो। यह आमतौर पर तेज सांस लेने पर महसूस होता है।
  • वर्टिगो : ऐसे में आपको महसूस होगा कि आसपास की चीजें घूम रही हैं, लेकिन असल में ऐसा होता नहीं है (3)।

चक्कर आने के प्रकार जानने के बाद हम चक्कर आने के घरेलू उपायों के बारे में जान लेते हैं।

चक्कर आने पर अपनाए इन घरेलू उपायों को – Home Remedies for Dizziness in Hindi

सिर में चक्कर आना कोई बीमारी नहीं है। अगर इसका सही तरीके से इलाज किया जाए, तो इस समस्या से राहत पाई जा सकती है। चक्कर आने पर कुछ घरेलू उपाय अपनाए जा सकते हैं, जो काफी राहत प्रदान करते हैं। नीचे हम चक्कर दूर करने के घरेलू उपाय बता रहे हैं :

1. अदरक

Ginger Pinit

Shutterstock

चक्कर से राहत दिलाने के लिए अदरक का सेवन फायदेमंद होता है। यह मस्तिष्क के साथ-साथ शरीर के अन्य हिस्से तक रक्त प्रवाह को दुरुस्त करता है, जिससे चक्कर की समस्या से राहत मिलती है (4)।

क्या करें?
  • पहला तरीका : ताजे अदरक को छोटे-छोटे टुकड़ों में काट लें। अब इन टुकड़ों को चबाएं।
  • दूसरा तरीका : दिन में दो या तीन बार अदरक की चाय पीने से भी चक्कर आने की समस्या दूर होती है।

इसके अलावा, आप डॉक्टर की सलाह से अदरक के सप्लीमेंट्स भी ले सकते हैं।

2. आंवला

चक्कर आने पर आंवले का सेवन लंबे समय से किया जा रहा है। आंवले में विटामिन-ए और विटामिन-सी प्रचुर मात्रा में होता है। इससे शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ती है। इसके अलावा, इससे रक्त संचार भी दुरुस्त रहता है, जिससे चक्कर आने की समस्या से राहत मिलती है (5)।

क्या करें?
  • आप आंवले का पेस्ट बनाकर इस्तेमाल कर सकते हैं। इसके लिए आप 10 ग्राम आंवला लें। उसमें तीन काली मिर्च और कुछ बताशे मिलाकर पीस लें। इस पेस्ट का आप 15 दिन तक रोजाना सेवन करें। इससे आपकी चक्कर आने की समस्या धीरे-धीरे कम होगी।
  • इसके अलावा, आप आंवले का मुरब्बा या आंवला कैंडी का सेवन भी नियमित रूप से कर सकते हैं।

3. नींबू

चक्कर आने पर नींबू का सेवन करना काफी प्रभावी होता है। इसमें विटामिन-सी होता है, जो रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाता है। इसके अलावा, नींबू शरीर को हाइड्रेट रखता है, जिससे चक्कर आने के दौरान राहत मिलती है (6)।

क्या करें?
  • चक्कर आने पर एक गिलास पानी में आधा नींबू निचोड़ लें।
  • इस पानी में एक चम्मच चीनी डालें और इस मिश्रण को पी लें।
  • सलाद में नींबू का सेवन करने से भी आपको आराम मिलेगा (6)।

4. शहद

चक्कर आने पर शहद काफी प्रभावी तरीके असर डालता है। आपको बता दें कि जब शरीर में ब्लड शुगर का स्तर कम होने लगता है, तो चक्कर आने लगते हैं। ऐसे में शहद का सेवन करना चाहिए, जिसमें प्राकृतिक शर्करा होती है। शहद आपको ऊर्जा प्रदान करती है। इससे ब्लड शुगर लेवल नियंत्रित रहता है (7)।

5. तुलसी

सिर चकराने से राहत पाने के लिए तुलसी का सेवन करना फायदेमंद हो सकता है (8)। तुलसी में ऐसे कई गुण होते हैं, जो आपको चक्कर आने पर राहत दिलाने में मदद करते हैं।

क्या करें?

अगर आपको चक्कर आएं, तो तुलसी के पत्तों का रस निकालें और इस रस में चीनी मिलाकर सेवन करें। इसके अलावा, तुलसी के रस में शहद मिलाकर लेने से चक्कर आने से राहत पा सकते हैं।

6. बादाम

बादाम पौष्टिक गुणों से भरपूर है। एक स्वस्थ शरीर के लिए नियमित रूप से बादाम का सेवन काफी फायदेमंद साबित हो सकता है। बादाम में प्रचुर मात्रा में विटामिन-ई व विटामिन-बी होता है, जो आपको ऊर्जा प्रदान करता है। ऊर्जा से भरपूर बादाम चक्कर आने से राहत दिलाता है (6)।

क्या करें?

आप कुछ बादाम पीसकर, गर्म दूध में मिलाएं और इसे पी लें। इससे आपको ऊर्जा मिलेगी और चक्कर आने की समस्या से राहत मिलेगी।

7. गिंको बाइलोबा

Ginco biloba Pinit

Shutterstock

चक्कर के लिए गिंको बाइलोबा को बेहतरीन जड़ी-बूटी माना गया है। यह जड़ी-बूटी न सिर्फ चक्कर से राहत दिलाती है, बल्कि ऐसे में होने वाले सिरदर्द, मतली और उल्टी से भी आराम मिलने में मदद मिलती है। इसके अलावा, यह रक्त परिसंचरण ठीक करने में मदद करती है (9)।

क्या करें?

गिंको बाइलोबा आपको बाजार में जूस, टेबलेट और सूखी पत्तियों के रूप में मिल जाएगा। आप डॉक्टर की सलाह पर नियमित रूप से इसका सेवन करें।

8. स्वस्थ आहार लें

अगर आपको चक्कर आने की समस्या है और चक्कर की दवा से बचना चाहते हैं, तो जरूरी है कि आप स्वस्थ खानपान लें। एक स्वस्थ खानपान आपको कई समस्याओं से दूर रखने में मदद करता है। खाना ऐसा खाएं, जो जरूरी पोषक तत्वों से भरपूर हो। अपने आहार में आयरन, विटामिन-ए, फाइबर व फोलेट से भरपूर खाद्य पदार्थ लें। नीचे हम बता रहे हैं कि चक्कर आने से बचने के लिए आपको अपने खानपान में क्या शामिल करना चाहिए :

  • विटामिन-सी : चक्कर से बचने के लिए विटामिन-सी लेना जरूरी है। इसके लिए आप संतरे, नींबू व अंगूर जैसी चीजों का सेवन करें।
  • आयरन : जैसा कि हमने बताया शरीर में खून की कमी होने से भी चक्कर आते हैं। ऐसे में आयरन की जरूरत होती है। आप आयरन युक्त चीजें जैसे पालक, सेब व खजूर आदि का सेवन करें।
  • फोलिक एसिड : फोलिक एसिड का सेवन करना भी जरूरी है। इसके लिए आप हरी सब्जियों जैसे – ब्रोकली, अनाज, मूंगफलियां व केले को अपने खानपान में शामिल करें।

9. भरपूर मात्रा में पिएं पानी

कई लोगों को डिहाइड्रेशन के कारण चक्कर आने लगते हैं। ऐसे में आपको डिहाइड्रेशन न हो, उसके लिए भरपूर मात्रा में पानी पीना जरूरी है। आप दिन भर में आठ से 10 गिलास पानी जरूर पिएं। इसके अलावा, जब भी चक्कर जैसा महसूस हो, तो पानी पिएं।

10. गहरी सांस लें

चक्कर आने पर लंबी और गहरी सांस लेने से चमत्कारी असर होता है। इससे आपके दिमाग तक पर्याप्त ऑक्सीजन पहुंचती है, जिससे चक्कर आने पर आराम मिलता है (6)।

क्या करें?
  • जब आपको चक्कर आए, तो पहले आराम से बैठ जाएं।
  • फिर नाक से धीरे-धीरे सांस लेते हुए पेट को फुला लें।
  • दो-तीन सेकंड बाद धीरे-धीरे सांस छोड़ें।
  • आप इस प्रक्रिया को चक्कर आने पर 10 से 20 बार दोहरा सकते हैं। इससे आपको राहत मिलेगी।

चक्कर आने से बचाव – Prevention Tips for Dizziness in Hindi

Prevention Tips for Dizziness in Hindi Pinit

Shutterstock

अगर आप कुछ बातों का ध्यान रखते हुए जरूरी सावधानियां बरतेंगे, तो यकीनन चक्कर आने से बचाव किया जा सकता है। नीचे हम बताने जा रहे हैं कि किस तरह आप चक्कर आने से बचाव कर सकते हैं :

  • सिर को तेजी से न घुमाएं। इससे चक्कर आ सकते हैं।
  • हर काम आराम से करें। धीरे-धीरे काम करने से आप चक्कर से बच सकेंगे।
  • तनाव लेने से बचें। इससे चक्कर आने की समस्या बढ़ सकती है।
  • अगर आप काफी देर से एक ही अवस्था में बैठे हैं, तो अचानक से न उठते हुए धीरे-धीरे उठें।
  • अगर आप लेटे हुए हैं, तो उठने के लिए पहले बैठें फिर धीरे से उठें।
  • अगर यात्रा करते समय चक्कर आते हैं, तो इस दौरान किताब पढ़ने से बचें और फोन में लगातार न देखें।
  • किसी-किसी को कार की पिछली सीट पर बैठकर चक्कर आते हैं। ऐसे में पिछली सीट पर बैठने से बचें।

बार बार चक्कर आने को अनदेखा नहीं करना चाहिए। अगर आप चक्कर की दवा नहीं लेना चाहते, तो ऊपर बताए गए तरीके आपके काम जरूर आएंगे। अगर फिर भी आपको लगे कि समस्या ज्यादा बढ़ रही है, तो डॉक्टर से संपर्क करने में कोताही न बरतें। हम उम्मीद करते हैं चक्कर आने से संबंधित जरूरी सवालों के जवाब आपको मिल गए होंगे। इसके अलावा, अगर आप इससे संबंधित किसी अन्य सवाल का जवाब चाहते हैं, तो नीचे दिए गए कमेंट बॉक्स में हमसे पूछ सकते हैं।

संबंधित आलेख