चकोतरा के फायदे और नुकसान – Grapefruit (Chakotara) Benefits and Side Effects in Hindi

Medically reviewed by Neelanjana Singh, Nutrition Therapist & Wellness Consultant
Written by

संतरे और नींबू के परिवार से संबंध रखने वाला चकोतरा फल औषधीय गुणों से भरपूर होता है। माना जाता है कि इसका सेवन स्वास्थ्य से जुड़ी कई समस्याओं पर सकारात्मक प्रभाव दिखा सकता है। इसी बात को ध्यान में रखते हुए हम स्टाइलक्रेज के इस लेख में चकोतरा के फायदे बताने जा रहे हैं। इस लेख में शरीर के लिए चकोतरा फल के फायदे के साथ चकोतरा फल के उपयोग के तरीके भी बताए जाएंगे। साथ ही चकोतरा खाने के नुकसान से जुड़ी जानकारी भी दी जाएगी। इस बात का ध्यान रखें कि चकोतरा फल लेख में बताई गई किसी भी बीमारी का इलाज नहीं है, लेकिन ये इन बीमारियों के लक्षण और प्रभाव को कम करने में मदद जरूर कर सकता है।

आइए, लेख में आगे बढ़ने से पहले जान लेते हैं कि चकोतरा फल क्या है ?

चकोतरा फल क्या है?

चकोतरा एक सिट्रस फल है, जो संतरे के परिवार (Rutaceae) से संबंध रखता है। यह आकार में संतरे से बड़ा होता है और इसका स्वाद खट्टा-मीठा होता है। इस फल को अंग्रेजी में ग्रेपफ्रूट के नाम से जाना जाता है। स्वाद के साथ-साथ यह औषधीय गुणों का भी खजाना है। यह कई पोषक तत्वों से भरपूर होता है, जैसे विटामिन (सी, बी & ए), फोलेट, आयरन, फाइबर, पोटेशियम आदि (1)। स्वास्थ्य के लिए यह कई तरीके से फायदेमंद हो सकता है, जिसकी जानकारी आगे लेख में दी गई है (2)।

अब जानते हैं कि चकोतरा खाने के फायदे क्या-क्या हो सकते हैं।

चकोतरा के फायदे – Benefits of Grapefruit (Chakotara) in Hindi

1. मधुमेह के लिए चकोतरा फल के फायदे

डायबिटीज के मरीज चकोतरा का सेवन कर सकते हैं। दरअसल, इससे जुड़ा एक शोध एनसीबीआई (NCBI – National Center for Biotechnology Information) ने प्रकाशित किया है। अध्ययन के अनुसार, जिन लोगों ने भोजन से पहले चकोतरा का सेवन किया, उनमें इंसुलिन के स्तर और इंसुलिन प्रतिरोध (Insulin Resistance) में कमी पायी गई (3)। जिससे यह अनुमान लगाया जा सकता है कि मधुमेह रोगी इस फल का सेवन कर सकते हैं।

इसके अलावा, चकोतरा एक लो ग्लाइसेमिक इंडेक्स (Glycemic Index) फल होता है। ग्लाइसेमिक इंडेक्स (GI – जीआई) से जानकारी मिलती है कि भोजन कितनी जल्दी ब्लड शुगर (ग्लूकोज) को बढ़ा या घटा सकता है। अगर किसी खाद्य पदार्थ का ग्लाइसेमिक इंडेक्स ज्यादा है, तो वो ब्लड ग्लूकोज की मात्रा बढ़ा सकता है। चकोतरा एक लो ग्लाइसेमिक इंडेक्स फल है (4)। यह फल रक्त में ग्लूकोज की मात्रा को नियंत्रित करने में मदद कर सकता है। ऐसे में सावधानी के तौर पर डायबिटीज के मरीज इसका सेवन डॉक्टर के सलाह अनुसार कर सकते हैं।

2. दिल के लिए चकोतरा खाने के फायदे

चकोतरा फल दिल की बीमारी के जोखिम को कम कर सकता है। इस संबंध में किए गए एक शोध में इस बात कि पुष्टि की गई है कि चकोतरा में मौजूद फ्लेवोनोइड्स हृदय रोगों पर सकारात्मक प्रभाव दिखा सकते हैं। शोध में बताया गया है कि फ्लेवोनोइड युक्त आहार के सेवन से इस्केमिक स्ट्रोक (रक्त के थक्कों की वजह से मस्तिष्क तक रक्त की आपूर्ति न होना) और हृदय संबंधी समस्याओं का जोखिम कम हो सकता है (5)।

वहीं दूसरी ओर उच्च रक्तचाप और कोलेस्ट्रॉल दिल की बीमारी के जोखिम को बढ़ा सकते हैं (6)। ऐसे में चकोतरा फल का सेवन ब्लड प्रेशर को कम कर सकता है और साथ ही हानिकारक कोलेस्ट्रॉल (LDL) को कम कर अच्छे कोलेस्ट्रॉल से सुधार कर सकता है (5)।

3. कैंसर के जोखिम को कम करने के लिए चकोतरा के गुण

चकोतरा का सेवन कैंसर के जोखिम को कम करने में सहायक साबित हो सकता है। दरअसल, एनसीबीआई की वेबसाइट पर इस संबंध में एक शोध उपलब्ध है। शोध के अनुसार चकोतरा फल में एपिजेनिन (Apigenin) नामक फ्लेवोनोइड मौजूद होता है। इसमें एंटी इंफ्लेमेटरी और फ्री रेडिकल को खत्म करने के गुण मौजूद होते हैं। इतना ही नहीं यह एंटी कैंसर एजेंट के रूप में काम कर सामान्य कोशिकाओं को प्रभावित किए बिना कैंसर सेल्स के प्रसार को कम करने में मदद कर सकता है।

इसके साथ ही इसमें नरिंगीन (Naringin) और नरिंगेनीन (Naringenin) नामक फ्लेवोनोन्स भी मौजूद होते हैं। इन दोनों फ्लेवोनोन्स में एंटी-कार्सिनोजेनिक (कैंसर को बढ़ने से रोकने वाला) गुण पाए गए हैं। शोध में बताया गया है कि चकोतरा फल का सेवन पेट के कैंसर से बचाव कर सकता है (7)। हालांकि, अगर किसी को यह बीमारी है तो डॉक्टरी उपचार को नजरअंदाज न करें।

4. रोग प्रतिरोधक क्षमता के लिए चकोतरा के फायदे

शरीर को स्वस्थ रखने के लिए व्यक्ति की रोग प्रतिरोधक क्षमता का सही होना बहुत जरूरी होता है। एक मजबूत इम्यून सिस्टम, बीमारियों और संक्रमण से बचाव का काम करता है (8)। यहां चकोतरा के फायदे देखे जा सकते हैं। चकोतरा फल विटामिन ए और सी के साथ-साथ एंटीऑक्सीडेंट गुणों से भी भरपूर होता है, जो रोग प्रतिरोधक क्षमता सुधारने में मदद कर सकते हैं (9) (1)। ये पोषक तत्व शरीर के लिए सुरक्षा कवच की तरह काम कर रोगों को दूर रखने में सहायक भूमिका निभाते हैं (10) (11)।

5. ब्लड प्रेशर के लिए चकोतरा फल

ब्लड प्रेशर की समस्या दिल की बीमारी के साथ हार्ट अटैक का खतरा बढ़ा सकती है (6)। इसलिए, जरूरी है कि खानपान का ध्यान रखकर रक्तचाप को नियंत्रण में रखा जाए। उच्च रक्तचाप को नियंत्रण में रखने के लिए व्यक्ति चकोतरा फल का सेवन कर सकता है। इसी विषय पर किए गए अध्ययन के अनुसार, चकोतरा फल का सेवन न सिर्फ ब्लड प्रेशर को कम कर सकता है, बल्कि हानिकारक कोलेस्ट्रॉल को भी कम कर सकता है (5)।

इसके अलावा, पर्याप्त पोटेशियम का सेवन उच्च रक्तचाप के जोखिम को कम कर सकता है (12) (13)। ऐसे में पोटेशियम से भरपूर चकोतरा फल का सेवन लाभकारी हो सकता है (1)।

6. वजन कम करने के लिए चकोतरा फल

बढ़ता वजन मधुमेह, उच्च रक्तचाप, लिवर संबंधी समस्याओं आदि का कारण बन सकता है (14)। इस स्थिति में बेहतर है कि वक्त रहते वजन को नियंत्रित किया जाए। यहां चकोतरा लाभकारी हो सकता है। दरअसल, इस संबंध में एक शोध किया गया है। शोध में परीक्षण के लिए 91 लोगों को शामिल किया गया। परीक्षण के दौरान 12 हफ्तों तक कुछ लोगों को चकोतरा फल का सेवन कराया गया, कुछ लोगों को चकोतरा फल के रस का, कुछ लोगों को चकोतरा फल के सप्लीमेंट का और कुछ लोगों को प्लेसिबो नामक कैप्सूल का। 12 हफ्ते के बाद यह बात सामने आई कि जिन लोगों ने चकोतरा और चकोतरे के रस का सेवन किया, उनके वजन में कमी देखी गई (15)।

7. त्वचा के लिए चकोतरा फल

चकोतरा फल न सिर्फ सेहत के लिए बल्कि त्वचा के लिए भी लाभकारी हो सकता है। यह बात एनसीबीआई की वेबसाइट पर प्रकाशित एक शोध में सामने आई है। इस शोध में उन महिलाओं को शामिल किया गया, जिनमें फोटोऐजिंग के लक्षण देखे गए। उन्हें चकोतरा फल और रोजमेरी से बना पाउडर मिश्रण (Nutroxsun) का सेवन कराया गया। इस शोध से यह बात सामने आई कि रोजमेरी और चकोतरा से बना पाउडर मिश्रण न सिर्फ सूरज की हानिकारक किरणों से त्वचा का बचाव कर सकता है, बल्कि त्वचा की झुर्रियों को भी कम कर सकता है (16) (17)। इस सप्लीमेंट को आप डॉक्टरी परामर्श पर ले सकते हैं।

लेख के इस भाग में जानिए चकोतरा फल के पौष्टिक तत्वों के बारे में।

चकोतरा के पौष्टिक तत्व – Grapefruit (Chakotara) Nutritional Value in Hindi

नीचे दी गई सूची में चकोतरा फल के पौष्टिक तत्वों की जानकारी दी गई है (1)।

पौष्टिकतत्वमात्रा (प्रति 100 ग्राम)
पानी 88.06 ग्राम
एनर्जी 42 केएसीएल
प्रोटीन 0.77 ग्राम
टोटल लिपिड (फैट)0.14 ग्राम
कार्बोहाइड्रेट 10.66 ग्राम
फाइबर, टोटल डायटरी1.6 ग्राम
शुगर, टोटल 6.89 ग्राम
कैल्शियम22 मिलीग्राम
आयरन0.08 मिलीग्राम
मैग्नीशियम 9 मिलीग्राम
फास्फोरस 18 मिलीग्राम
पोटेशियम135 मिलीग्राम
जिंक 0.07 मिलीग्राम
कॉपर 0.032 मिलीग्राम
सेलेनियम0.1 माइक्रोग्राम
विटामिन सी31.2 मिलीग्राम
 थियामिन0.043 मिलीग्राम
राइबोफ्लेविन0.031मिलीग्राम
नियासिन0.204 मिलीग्राम
विटामिन बी-60.053 मिलीग्राम
फोलेट, टोटल13 माइक्रोग्राम
कोलीन, टोटल7.7 मिलीग्राम
विटामिन ए, आरएई58 माइक्रोग्राम
कैरोटीन, बीटा686 माइक्रोग्राम
ल्यूटिन + जियाजैंथिन5 माइक्रोग्राम
विटामिन इ (अल्फा-टोकोफेरोल)0.13 मिलीग्राम
फैटी एसिड, टोटल सैचुरेटेड0.021 ग्राम
फैटी एसिड, टोटल मोनोअनसैचुरेटेड0.02 ग्राम
फैटी एसिड, टोटल पॉलीअनसैचुरेटेड0.036 ग्राम

अब जानिए चकोतरा का उपयोग किन-किन तरीकों से किया जा सकता है।

चकोतरा का उपयोग – How to Use Grapefruit (Chakotara) in Hindi

नीचे जानिए कैसे आप चकोतरा फल को आसानी से उपयोग में ला सकते हैं।

  • चकोतरा फल का सेवन टुकड़ों में काटकर सीधे किया जा सकता है।
  • चकोतरा फल के जूस का सेवन किया जा सकता है।
  • चकोतरा को अन्य फलों के साथ फ्रूट सलाद के रूप में खाया जा सकता है।
  • चकोतरा फल को स्क्रब या फेसपैक की तरह त्वचा पर उपयोग किया जा सकता है।
  • चकोतरा फल का रस भी चेहरे पर लगाया जा सकता है।
  • बालों के लिए चकोतरा फल का हेयर मास्क उपयोग किया जा सकता है।

नोट : चकोतरा फल का सेवन कितनी मात्रा में करना है, यह व्यक्ति की उम्र और उसकी सेहत पर निर्भर करता है। इसलिए, इसके बारे में ज्यादा जानकारी के लिए व्यक्ति आहार विशेषज्ञ की सलाह ले सकता है।

लेख के अंत में जान लीजिए चकोतरा फल से होने वाले नुकसान के बारे में।

चकोतरा के नुकसान – Side Effects of Grapefruit (Chakotara) in Hindi

चकोतरा फल का अधिक मात्रा में सेवन नुकसान का कारण बन सकता है। नीचे इसी विषय पर जानकारी दी गई है।

  • अगर कोई व्यक्ति ब्लड प्रेशर या कोलेस्ट्रॉल कम करने की दवा ले रहा है, तो वो डॉक्टरी परामर्श पर ही चकोतरा फल का सेवन करे। इन दवाइयों के साथ चकोतरा फल का सेवन हानिकारक हो सकता है (18)। दरअसल, ग्रेपफ्रूट में मौजूद बायोएक्टिव यौगिकों के कारण कुछ खास तरह की दवाइयों के साथ मिलकर ये प्रतिक्रिया दे सकते हैं। इसलिए अगर कोई दवा का सेवन कर रहा है तो चकोतरा का सेवन करने से पहले डॉक्टर की सलाह जरूर लें।
  • चकोतरा एक सिट्रस फल है। ऐसे में जिसके दांत संवेदनशील है, उन्हें इसका सेवन कम करना चाहिए। इसके सेवन से दांतों में झनझनाहट की समस्या हो सकती है।

पौष्टिक तत्वों से भरपूर चकोतरा फल का सही और सीमित मात्रा में सेवन व्यक्ति के लिए लाभकारी हो सकता है। लेकिन, बेहतर है कि चकोतरा फल का सेवन इसके नुकसानों को ध्यान में रखते हुए ही किया जाए। जैसे कि हमने पहले ही जानकारी दी है कि इसका सेवन कुछ दवाइयों के साथ प्रतिक्रिया दे सकता है। ऐसे में अगर कोई किसी स्वास्थ्य संबंधी समस्या के लिए दवा का सेवन कर रहा है तो बेहतर है चकोतरा को डाइट में शामिल करने से पहले डॉक्टरी सलाह लें। उम्मीद करते हैं कि यह लेख आपके लिए उपयोगी साबित होगा।

और पढ़े:

Sources

Articles on StyleCraze are backed by verified information from peer-reviewed and academic research papers, reputed organizations, research institutions, and medical associations to ensure accuracy and relevance. Read our editorial policy to learn more.

    1. Grapefruit, raw
      https://fdc.nal.usda.gov/fdc-app.html#/food-details/1102591/nutrients
    2. Grapefruit
      https://medlineplus.gov/druginfo/natural/946.html
    3. The effects of grapefruit on weight and insulin resistance: relationship to the metabolic syndrome
      https://pubmed.ncbi.nlm.nih.gov/16579728/
    4. Glycemic index and diabetes
      https://medlineplus.gov/ency/patientinstructions/000941.htm
    5. An Updated Mini Review on Grapefruit: Interactions with Drugs, Obesity and Cardiovascular Risk Factors
      https://pdfs.semanticscholar.org/2e54/777f3deed3aed1db14d8580ef5df482c2601.pdf
    6. How to Prevent Heart Disease
      https://medlineplus.gov/howtopreventheartdisease.html
    7. Chemopreventive Agents and Inhibitors of Cancer Hallmarks: May Citrus Offer New Perspectives
      https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC5133085/
    8. Overview of the Immune System
      https://www.niaid.nih.gov/research/immune-system-overview
    9. Antimicrobial Effect of Grapefruit Crude Extracts on Selected Bacterial Isolates
      https://www.academia.edu/24678456/Antimicrobial_Effect_of_Grapefruit_Crude_Extracts_on_Selected_Bacterial_Isolates
    10. Vitamin C and Immune Function
      https://pubmed.ncbi.nlm.nih.gov/29099763/
    11. Vitamin A, immunity, and infection
      https://pubmed.ncbi.nlm.nih.gov/7811869/
    12. Potassium in hypertension and cardiovascular disease
      https://pubmed.ncbi.nlm.nih.gov/23953805/
    13. Beneficial effects of potassium on human health
      https://pubmed.ncbi.nlm.nih.gov/18724413/
    14. Health risks of obesity
      https://medlineplus.gov/ency/patientinstructions/000348.htm
    15. The effects of grapefruit on weight and insulin resistance: relationship to the metabolic syndrome
      https://pubmed.ncbi.nlm.nih.gov/16579728/
    16. Skin photoprotective and antiageing effects of a combination of rosemary (Rosmarinus officinalis) and grapefruit (Citrus paradisi) polyphenols
      https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC4931025/
    17. Nutraceuticals for Skin Care: A Comprehensive Review of Human Clinical Studies
      https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC5946188/
    18. Grapefruit Juice and Some Drugs Don’t Mix
      https://www.fda.gov/consumers/consumer-updates/grapefruit-juice-and-some-drugs-dont-mix
Was this article helpful?
The following two tabs change content below.
अर्पिता ने पटना विश्वविद्यालय से मास कम्यूनिकेशन में स्नातक किया है। इन्होंने 2014 से अपने लेखन करियर की शुरुआत की थी। इनके अभी तक 1000 से भी ज्यादा आर्टिकल पब्लिश हो चुके हैं। अर्पिता को विभिन्न विषयों पर लिखना पसंद है, लेकिन उनकी विशेष रूचि हेल्थ और घरेलू उपचारों पर लिखना है। उन्हें अपने काम के साथ एक्सपेरिमेंट करना और मल्टी-टास्किंग काम करना पसंद है। इन्हें लेखन के अलावा डांसिंग का भी शौक है। इन्हें खाली समय में मूवी व कार्टून देखना और गाने सुनना पसंद है।

ताज़े आलेख