चिकन खाने के 15 फायदे और नुकसान – Chicken Benefits and Side Effects in Hindi

by

हमारे समाज का एक बड़ा तबका सर्वाहारी है, यानी ऐसे लोग जो अपने आहार में सब्जियों और अनाज के साथ मांस का भी उपयोग करते हैं। ये लोग सेवन के लिए मांस, मछली और चिकन को उपयोग में लाते हैं। इनमें से चिकन ऐसा आहार है, जो हमेशा से सभी का पसंदीदा रहा है। वजह है, आसान उपलब्धता, नरम-मुलायम मांस और इसकी कम कीमत। यह तो हो गई आम बात। अब अगर बात करें स्वास्थ्य संबंधी फायदों की, तो चिकन का उपयोग सबसे बेहतर माना गया है। यह कई घातक बीमारियों को न केवल होने से रोकता है, बल्कि उनसे छुटकारा दिलाने में भी सहायक माना जाता है। स्टाइलक्रेज के इस लेख में हम आपको ऐसे कई चिकन खाने के फायदे बता रहे हैं, जिनके बारे में शायद ही आप जानते हों।

लेख में हम चिकन खाने के फायदे और नुकसान संबंधी जानकारी आपको देने जा रहे हैं। आइए, इन पर डालते हैं एक नजर।

चिकन खाने के फायदे – Chicken Benefits in Hindi

1. वजन घटाने में मददगार

चिकन प्रोटीन का ऐसा स्रोत है, जिसमें अधिक एनर्जी और कम वसा पाई जाती है (1)। ऐसे में अगर आप भी वजन घटाने का प्रयास कर रहे हैं तो चिकन आपको इस काम में मदद कर सकता है। कारण यह है कि यह भूख को शांत करता है और शरीर को जरूरी ऊर्जा देना का काम करता है। इस तरह आपको पोषण तो मिलता ही है, साथ ही भूख का एहसास भी कम होता है। आपको यह ध्यान रखना होगा कि वजन घटाने के लिए आप इसका सेवन संतुलित मात्रा में ही करें। साथ ही व्यायाम भी नियमित रूप से करते रहें (2) (3)।

2. ब्लड प्रेशर को करता है कंट्रोल

चिकन के फायदे हाई ब्लड प्रेशर की समस्या में भी लाभ पहुंचाते हैं। एक शोध के अनुसार, यह बच्चों और किशोरों में ब्लड प्रेशर, वजन और ऊंचाई को नियंत्रित करने का काम करता है, जो उनके शारीरिक और मानसिक विकास के लिए जरूरी है (4)। वहीं, बड़ों में हाई ब्लड प्रेशर की समस्या होने पर चिकित्सक कम फैट होने के कारण प्रोटीन और ऊर्जा के लिए स्रोत के रूप में चिकन खाने की सलाह देते हैं (5)। ऐसे में यह माना जा सकता है कि चिकन ब्लड प्रेशर से संबंधित जोखिमों को कम करने में मददगार साबित हो सकता है।

3. कोलेस्ट्रोल को करता है कम

कोलेस्ट्रोल की अधिक मात्रा होने पर चिकित्सक इसे नियंत्रित करने के लिए कम वसा और कम कोलेस्ट्रोल वाले आहार का सेवन करने की सलाह देते हैं। वहीं, चिकन में वसा और कोलेस्ट्रोल काफी कम मात्रा में पाए जाते हैं। इसलिए, ऐसा कहा जा सकता है कि चिकन के फायदे में कोलेस्ट्रोल की मात्रा को नियंत्रित करना भी शामिल है (6)। ध्यान रहे, इस समस्या से निजात पाने के लिए इसका सेवन कम मसाले और तेल के साथ ही किया जाना चाहिए।

4. प्रोटीन, विटामिन और मिनरल से है भरपूर

कम वसा और एनर्जी के साथ चिकन में आयरन, सोडियम और विटामिन सी मौजूद होता है। यह हमारे शरीर के पोषण में अहम भूमिका निभाते हैं। साथ ही इनकी कमी से होने वाली कई गंभीर समस्याओं को दूर करने में सहायक होते हैं (1)।

5. हड्डियों और दांतों को दे मजबूती

हड्डियों और दांतों से संबंधित एक शोध में इस बात का जिक्र मिलता है कि हड्डी से युक्त मांस का सेवन कैल्शियम की कमी को पूरा करने में मदद करता है, जिसमें चिकन भी शामिल है। इस आधार पर यह माना जा सकता है कि हड्डी युक्त चिकन का सेवन कैल्शियम की पूर्ति कर सकता है, जो दांत और हड्डियों की मजबूती के लिए जरूरी होता है (7)।

6. उपापचय (मेटाबॉलिज्म) में सुधार

विशेषज्ञों के मुताबिक चिकन में ब्लड शुगर को नियंत्रित करने और इंसुलिन की सक्रियता को बढ़ाने वाले गुण पाए जाते हैं, जो उपापचय की प्रक्रिया से संबंधित हैं। इस कारण यह कहा जा सकता है कि चिकन का सेवन करने से मानव शरीर में उपापचय की प्रक्रिया भी मजबूत हो सकती है (8)।

7. एनीमिया में लाभदायक

एनीमिया का एक बड़ा जोखिम कारक आयरन की कमी का होना है। चिकन आयरन का अच्छा स्रोत है। इस कारण एनीमिया की समस्या होने पर चिकन का सेवन लाभकारी परिणाम दे सकता है (9)।

8. प्रतिरोधक क्षमता में सुधार

अन्य स्वास्थ्य लाभों के साथ चिकन मांस का इस्तेमाल रोग प्रतिरोधक क्षमता को दूर करने में भी सहायक साबित होता है। विशेषज्ञों के मुताबिक, चिकन में मुख्य रूप से कुछ प्राकृतिक बैक्टीरिया पाए जाते हैं, जो उन्हें रोगों से लड़ने की क्षमता प्रदान करते हैं। ये बैक्टीरिया चिकन को खाने से हमें भी हासिल होते हैं और मानव प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने में मदद करते हैं (10)।

9. डिप्रेशन को करे दूर

चिकन का सेवन पोषण और स्वास्थ्य के साथ-साथ आपके मानसिक सुधार में भी फायदेमंद साबित होता है। विशेषज्ञों के मुताबिक, इसमें कुछ ऐसे खास तत्व पाए जाते हैं, जिनके कारण यह मनुष्यों में खुशी का संचार करता है। साथ ही तनाव, चिंता और अवसाद जैसी समस्याओं को दूर करता है (11)।

10. नाखूनों के लिए चिकन के फायदे

त्वचा, बाल, नाखून, मांसपेशियों व हड्डी को मजबूत करने में प्रोटीन अहम भूमिका निभाता है और इनसे संबंधित विकारों को दूर रखने में मदद करता है (12)। वहीं, हम आपको लेख में पहले भी बता चुके हैं कि चिकन प्रोटीन का अच्छा स्रोत है (1)। इस कारण ऐसा माना जा सकता है कि चिकन का सेवन नाखूनों से संबंधित विकारों (नाखूनों का टूटना, चिटकना या कमजोर होना) को दूर रखने में मददगार साबित होता है।

11. हृदय स्वास्थ्य के लिए लाभदायक

चिकन का सेवन करने से खराब कोलेस्ट्रोल (LDL) और वसा की मात्रा को नियंत्रित किया जा सकता है (2)। यह दोनों तत्व मोटापे और हृदय स्वास्थ्य से संबंधित समस्याओं के लिए एक बड़े जोखिम कारक के रूप में जाने जाते हैं (13)। इस कारण यह कहा जा सकता है कि चिकन का सेवन मोटापे की समस्या को दूर करने के साथ-साथ हृदय संबंधी समस्याओं में भी मददगार साबित हो सकता है।

12. कैंसर से करता है बचाव

विशेषज्ञों के मुताबिक गोसीपल (Gossypol) नामक तत्व से समृद्ध चिकन खाने से स्तन कैंसर के जोखिमों को कम किया जा सकता है। बता दें कि यह तत्व मुर्गियों में प्राकृतिक रूप से मौजूद नहीं होता है। इसलिए, मुर्गी पालन के दौरान इन्हें इस तत्व से युक्त खाद्य सामग्री दी जाती है। ऐसी मुर्गियों के मांस में इस तत्व का कुछ अंश आ जाता है। यही कारण है कि कैंसर से बचाव के लिए गोसीपल नामक तत्व से समृद्ध चिकन खाने की ही सलाह दी जाती है (14)।

13. सर्दी से बचाए

हमेशा से सर्दी से बचाव के लिए चिकन सूप पीने की सलाह दी जाती है। माना जाता है कि चिकन सूप सर्दी के कारणों को खत्म करने के साथ बंद नाक को खोलने और छाती में जमा बलगम बाहर निकालने में मदद कर सकता है (15)।

14. आंखों के लिए चिकन के फायदे

चिकन में अन्य पोषक और विटामिन सी के साथ जिंक भी उपलब्ध होता है (1) (16), जो आंखों की रोशनी बढ़ाने में सहायक माना जाता है (17)। इस कारण यह कहना गलत नहीं होगा कि इसका सेवन आंखों के लिए भी लाभकारी साबित हो सकता है।

15. त्वचा के लिए लाभकारी

जैसा कि आपको पहले भी बताया जा चुका है कि चिकन में प्रोटीन, एनर्जी और कई आवश्यक मिनरल्स के साथ विटामिन-सी भी मौजूद होता है (1)। वहीं, विटामिन सी त्वचा संबंधी कई विकारों जैसे :- एलर्जी, फंगल इन्फेक्शन, स्किन एजिंग और सनबर्न में लाभकारी माना जाता है (18)। इस कारण हम यह कह सकते हैं कि चिकन के सेवन से त्वचा संबंधी कई समस्याओं को दूर रखा जा सकता है।

चिकन खाने के फायदे जानने के बाद अब हम इसके पौष्टिक तत्वों से संबंधित जानकारी हासिल करेंगे।

चिकन के पौष्टिक तत्व – Chicken Nutritional Value in Hindi

चिकन में पाए जाने वाले पौष्टिक तत्वों को जानने के लिए आप नीचे दिए गए चार्ट की मदद ले सकते हैं (1)।

पोषक तत्वयूनिटमात्रा प्रति 100 ग्राम
एनर्जीKcal110
प्रोटीनg26.00
टोटल लिपिड (फैट)g1.00
कार्बोहाइड्रेटg0.00
मिनरल
आयरनmg1.44
सोडियमmg85
विटामिन
विटामिन सीmg2.4
लिपिड
फैटी एसिड (सैचुरेटेड)g0.000
फैटी एसिड (टोटल ट्रांस)g0.000
कोलेस्ट्रोलmg75

लेख के आगे के भाग में हम आपको चिकन खाने के तरीके के बारे में बताएंगे।

चिकन खाने का सही तरीका – How to Eat Chicken in Hindi

चिकन को खाने के तरीके की बात करें] तो इसे हल्की आंच पर उबाल कर, भून कर या फ्राई करके खाया जा सकता है। यहां ध्यान देने वाली बात यह है कि आपको इसमें अधिक वसा वाले खाद्य पदार्थों और सॉस को नहीं शामिल करना चाहिए।
कब खाएं :

  • आप इसे सुबह नाश्ते में स्नैक्स के रूप में बर्गर या रोल के साथ इस्तेमाल कर सकते हैं।
  • लंच टाइम में आप उबला हुआ या ग्रिल किया हुआ चिकन इस्तेमाल कर सकते हैं।
  • रात के खाने में आप कम मसाले और तेल में बनी चिकन करी उपयोग कर सकते हैं।

मात्रा- दिन में करीब 100 ग्राम चिकन का सेवन करना लाभदायक माना जाता है।

चिकन खाने का सही तरीका जानने के बाद अब हम आपको चिकन खाने के नुकसान बताएंगे।

चिकन खाने के नुकसान – Side Effects of Chicken in Hindi

हालांकि, चिकन का सेवन कई तरह से फायदेमंद होता है, लेकिन कुछ खास स्थितियों में चिकन खाने के नुकसान भी देखे जा सकते हैं (19)।

  • स्किन के साथ पकाया गया चिकन मोटापे की समस्या पैदा कर सकता है।
  • अधिक आंच पर पकाया गया चिकन कैंसर के जोखिमों को बढ़ा सकता है।
  • अधिक मात्रा में सेवन से डायबिटीज की समस्या होने का भी खतरा रहता है।
  • अधिक तेल या वसा युक्त पदार्थों के साथ तैयार चिकन हृदय संबंधित समस्याओं को भी बढ़ा सकता है।
  • चिकन का सेवन करने से मुर्गियों से फैलने वाली कुछ बीमारी भी हो सकती हैं।

अब तो आप चिकन क्या है इस बारे में अच्छे से जान ही गए होंगे। साथ ही आपको चिकन से होने वाले स्वास्थ्य लाभों के बारे में भी पता चल गया होगा। लेख के माध्यम से हमने आपको इसके पौष्टिक तत्वों और इसे खाने के सही तरीके के बारे में भी विस्तार से बताया है। ऐसे में अगर आप भी चिकन खाने के फायदे जानकर प्रभावित हुए हैं और इसे अपने आहार में शामिल करने की सोच रहे हैं, तो बेहतर होगा कि पहले आप लेख में दी गई इससे संबंधित सभी जानकारियों को अच्छे से पढ़ लें। उसके बाद ही कोई कदम बढ़ाएं। उम्मीद करते हैं कि यह लेख आपकी कई स्वास्थ्य संबंधी समस्याओं को दूर करने में सहायक साबित होगा। चिकन खाने के फायदे और नुकसान संबंध में किसी अन्य सवाल या सुझाव के लिए आप हमसे नीचे दिए कॉमेंट बॉक्स के माध्यम से संपर्क कर सकते हैं।

और पढ़े:

Was this article helpful?
The following two tabs change content below.

Ankit Rastogi

अंकित रस्तोगी ने साल 2013 में हिसार यूनिवर्सिटी, हरियाणा से एमए मास कॉम की डिग्री हासिल की है। वहीं, इन्होंने अपने स्नातक के पहले वर्ष में कदम रखते ही टीवी और प्रिंट मीडिया का अनुभव लेना शुरू कर दिया था। वहीं, प्रोफेसनल तौर पर इन्हें इस फील्ड में करीब 6 सालों का अनुभव है। प्रिंट, टीवी और डिजिटल मीडिया में इन्होंने संपादन का काम किया है। कई डिजिटल वेबसाइट पर इनके राजनीतिक, स्वास्थ्य और लाइफस्टाइल से संबंधित कई लेख प्रकाशित हुए हैं। इनकी मुख्य रुचि फीचर लेखन में है। इन्हें गीत सुनने और गाने के साथ-साथ कई तरह के म्यूजिकल इंस्ट्रूमेंट बजाने का शौक भी हैं।

ताज़े आलेख

scorecardresearch