छुहारे के फायदे, उपयोग और नुकसान – Dry Dates Benefits, Uses and Side Effects in Hindi

Medically reviewed by Neelanjana Singh, Nutrition Therapist & Wellness Consultant
Written by

क्या आप जानते हैं कि खजूर (डेट्स) के गुणों की वजह से इसके पेड़ को जीवन का वृक्ष, रेगिस्तान की रोटी आदि नामों से जाना जाता है (1)। यह पसंदीदा सूखे मेवों में से एक है, जिसके कई लाभ हैं। इसके चार प्रकार हैं और उन्हीं में से एक है छुहारा (सूखा खजूर) (2)। खजूर की ही तरह छुहारा भी कई गुणों से भरपूर होता है, लेकिन खजूर की तुलना में छुहारे के गुण की मात्रा कम होती है। स्टाइलक्रेज के इस लेख में हम छुहारे खाने के फायदे और नुकसान के ही बारे में बात करने वाले हैं। इस लेख में ऐसी कुछ समस्याएं बताई गई हैं, जिनके लक्षणों को कम करने के लिए छुहारे का उपयोग किया जा सकता है। छुहारे के गुण आपको स्वस्थ बनाए रखने में मदद जरूर कर सकते हैं, लेकिन किसी बीमारी का इलाज साबित नहीं हो सकते।

लेख के अंत तक आप छुहारे खाने के लाभ के साथ छुहारे खाने के तरीके के बारे में भी अच्छी तरह समझ जाएंगे। आइए, अब आपको छुहारे के फायदे बता दें।

छुहारे के फायदे – Benefits of Dry Dates in Hindi

छुहारे खाने के फायदे की बात करें, तो डेट्स कई गुणों से समृद्ध होते हैं, जैसे एंटी-इंफ्लेमेटरी, एंटीऑक्सीडेंट, एंटी माइक्रोबियल आदि (3)। अरब देशों में छुहारों का उपयोग कई बीमारियों को दूर भगाने के लिए किया जाता है। इन बीमारियों में कैंसर का भी नाम शामिल है। छुहारे खाने के लाभ सेहत के साथ-साथ बालों और त्वचा को स्वस्थ रखने में भी दिख सकते हैं। इन सभी फायदों के बारे में हम आपको लेख में आगे बताएंगे। जैसा कि हम आपको बता चुके है कि खजूर की ही तरह छुहारा भी कई गुणों से भरपूर होता है, लेकिन खजूर की तुलना में छुहारे के गुण की मात्रा कम होती है।

लेख के अगले भाग में जानिए स्वास्थ्य के लिए छुहारे के लाभ।

सेहत/स्वास्थ्य के लिए छुहारे के फायदे – Health Benefits of Dry Dates in Hindi

1. स्वस्थ मुंह के लिए छुहारे के लाभ

छुहारे मुंह को स्वस्थ बनाए रखने में मदद कर सकते हैं। साथ ही ये मुंह के संक्रमण से भी बचा सकते हैं। यहां इसमें मौजूद एंटीमाइक्रोबियल गुण काम करते हैं (3)। शोध में पाया गया है कि एंटीमाइक्रोबियल गुण एक नहीं बल्कि कई प्रकार के संक्रमण फैलाने वाले में जीवाणुओं को खत्म कर सकता है और ओरल हेल्थ को बनाए रखने में मदद कर सकता है (4)। साथ ही इसमें कई पोषक तत्व भी पाए जाते हैं, जैसे प्रोटीन, कैल्शियम, विटामिन-ए और विटामिन-सी (2)। ये सभी विटामिन मुंह को स्वस्थ बनाए रखने के लिए जरूरी माने जाते हैं (5)।

2. पेट की समस्या से आराम

पेट से जुड़ी समस्या किसी को भी हो सकती है। इससे जीवनशैली पर तो प्रभाव पड़ता ही है, साथ ही पेट के कैंसर का खतरा भी बढ़ जाता है। पेट से जुड़ी समस्या जैसे कब्ज, अपचन, इर्रिटेबल बाउल सिंड्रोम (आंत से जुड़ा विकार) आदि से राहत पाने के लिए ऐसे खाद्य पदार्थों का सेवन करने की सलाह दी जाती है, जो फाइबरयुक्त हो। हाई फाइबर का सेवन करने से मल प्रवाह बेहतर होता है, जिससे पेट से जुड़ी समस्याओं से आराम मिल सकता है (6)। ऐसे में आप छुहारों का सेवन कर सकते हैं, क्योंकि ये फाइबर से भरपूर होते हैं (2)।

3. हृदयरोग का खतरा कम करे

हृदय रोग को दुनिया में मृत्यु का सबसे बड़ा कारण माना जाता है। छुहारे खाने के लाभ हृदय रोग का जोखिम कम करने में भी मिल सकते हैं। यह उच्च रक्तचाप, कोलेस्ट्रॉल, लिपिड ऑक्सीडेशन (फ्री रेडिकल्स का एक तरह का प्रभाव) और ऑक्सीडेटिव स्ट्रेस को कम करता है, जो कार्डियोवस्कुलर रोग होने के अहम कारणों माने जाते हैं। इन कारणों को कम करके छुहारे के गुण हृदय रोग का खतरा कम करने में मदद कर सकते हैं (7)।

4. ऊर्जा बढ़ाने में छुहारे खाने के लाभ

कार्बोहाइड्रेट्स को जरूरी पोषक तत्व माना जाता है। शरीर का पाचन तंत्र कार्बोहाइड्रेट को ग्लूकोज (ब्लड शुगर) में बदलता है, जो शरीर के लिए ऊर्जा का स्रोत बनता है (8)। यहां छुहारे खाने के फायदे ये हैं कि इनमें कार्बोहाइड्रेट की समृद्ध मात्रा पाई जाती है, जिस वजह से इन्हें ऊर्जा का अच्छा स्रोत माना जा सकता है (2)।

5. एनीमिया से आराम पाने में छुहारे के लाभ

शरीर में आयरन की कमी एनीमिया का कारण बनती है। आयरन की मदद से शरीर हीमोग्लोबिन बनाता है। यह एक प्रकार का प्रोटीन होता है, जो खून की मदद से पूरे शरीर में ऑक्सीजन पहुंचाने का काम करता है। आयरन की कमी से शरीर पर्याप्त हीमोग्लोबिन नहीं बना पाता और शरीर में ऑक्सीजन सप्लाई में समस्या आती है (9)। छुहारे खाने के फायदे आपको एनीमिया से आराम पाने में भी मिल सकते हैं। दरअसल, डेट्स को आयरन की कमी के दौरान आयरन सप्लीमेंट्स की तरह उपयोग किया जा सकता है। यह बिना किसी दुष्प्रभाव के आयरन की कमी को पूरा करने में मदद करता है (2)। ध्यान रहे कि एनीमिया की समस्या में डॉक्टरी उपचार को नजरअंदाज न करें।

यहां हम आपको एक बार फिर से बता दें कि खजूर की ही तरह छुहारा भी उन्हीं पोषक तत्वों से भरपूर होता है, लेकिन खजूर की तुलना में छुहारे में पानी की मात्रा कम होती है, लेकिन इसमें कुछ सूखे रूप में पोषक तत्व मौजूद होते हैं।

6. संक्रमण से राहत दिलाए

जैसा कि हम आपको बता चुके हैं कि छुहारे कई गुणों से भरपूर होते हैं और ऐसा ही एक गुण है एंटीमाइक्रोबियल। इसके एंटीमाइक्रोबियल गुण की वजह से इसका उपयोग कई प्रकार के संक्रमण फैलाने वाले बैक्टीरिया को खत्म करने के लिए किया जा सकता है। संक्रमण फैलाने वाले बैक्टीरिया को खत्म करने के साथ, यह उन्हें दोबारा पनपने से भी रोक सकता है (3)।

7. मांसपेशियों को मजबूत बनाए

मांसपेशियों को मजबूत बनाने के लिए अक्सर लोग प्रोटीन सप्लीमेंट्स लेते हैं। ऐसा इसलिए, क्योंकि एक्सरसाइज के साथ प्रोटीन मसल्स मास को बढ़ाता है और मांसपेशियों को मजबूत बनाने में मदद करता है (10)। छुहारे में भी समृद्ध मात्रा में प्रोटीन पाया जाता है, जो मांसपेशियों को मजबूत बनाए रखने में आपकी मदद कर सकता है (2)। शारीरिक मांसपेशियों के साथ-साथ छुहारा कार्डियोमायोपैथी (हृदय की मांसपेशियों का रोग) के दौरान हृदय की मांसपेशियों को मजबूत बनाए रखने में भी मदद कर सकता है (11)। फिलहाल, इस पर अभी और शोध की आवश्यकता है।

8. कैंसर के लिए छुहारे के फायदे

छुहारे के गुण कैंसर से बचाए रखने के लिए भी उपयोग किए जा सकते हैं। शोध में पाया गया है कि छुहारा में एंटीट्यूमर और एंटी कैंसर गुण होते हैं, जो कैंसर के कुछ लक्षणों को कम करने का काम कर सकते हैं (3)। साथ ही छुहारे खाने के लाभ यह भी हैं कि यह आंत में अच्छे बैक्टीरिया को बढ़ा सकता है, जिससे आंत स्वस्थ बनी रहती हैं। साथ ही, यह आंत के कैंसर (कोलन कैंसर) की कोशिकाओं को नष्ट करने का काम भी कर सकता है (12)। कैंसर के मामले में छुहारा सिर्फ कुछ हद तक मदद कर सकता है, लेकिन मेडिकल ट्रीटमेंट का विकल्प नहीं हो सकता। इसलिए, अगर किसी को कैंसर हो, तो उसे डॉक्टर से इलाज जरूर करवाना चाहिए।

स्वास्थ्य के लिए छुहारे खाने के फायदे बताने के बाद, आइए अब आपको बता दें कि त्वचा के लिए छुहारे के फायदे क्या हैं।

त्वचा के लिए छुहारे के फायदे – Skin Benefits of Dry Dates in Hindi

1. त्वचा की क्षतिग्रस्त कोशिकाओं के लिए

शोध में पाया गया है कि यूवी किरणें त्वचा पर ऑक्सीडेटिव स्ट्रेस और ऑक्सीडेशन के प्रभाव को बढ़ाकर कोशिकाओं को नुकसान पहुंचाती है। इस वजह से त्वचा रूखी, बेजान और खींची हुई महसूस हो सकती है। ऐसे में छुहारे के गुण आपके काम आ सकते हैं। इसमें मौजूद एंटीऑक्सीडेंट गुण ऑक्सीडेटिव स्ट्रेस को कम करता है और त्वचा को स्वस्थ बनाए रखने में मदद कर सकता है (13) (3)।

2. त्वचा को स्वस्थ बनाए रखे

त्वचा को स्वस्थ बनाए रखने के लिए कई पोषक तत्वों की जरूरत होती है। इनमें नाम शामिल हैं, जिंक, कॉपर व सिलेनियम जैसे खनिज और विटामिन ए व सी। त्वचा को छुहारे खाने के लाभ उसमें मौजूद पोषक तत्वों की वजह से मिल सकता है (2)। इसमें मौजूद जिंक त्वचा पर बढ़ती उम्र के लक्षण को कम कर सकता है। साथ ही इसमें मौजूद सिलेनियम और विटामिन-ए त्वचा को सोरायसिस रोग से बचाने का काम कर सकते हैं। वहीं, कॉपर त्वचा के लिए एंटीऑक्सीडेंट की तरह कम करता है और विटामिन-सी त्वचा को फ्री रेडिकल्स व ऑक्सीडेटिव स्ट्रेस के प्रभाव से बचाने और उसे नम बनाए रखने में मदद कर सकता है (14)।

3. त्वचा को जवान बनाए रखे

उम्र के बढ़ने के अलावा त्वचा पर बढ़ती उम्र के लक्षण, जैसे झुर्रियां दिखने की कई वजह हैं, जैसे यूवी किरणों का ऑक्सीडेटिव प्रभाव और पोषक तत्वों की कमी। ऐसे में छुहारे के फायदे यह हैं कि ये बढ़ती उम्र के इन लक्षणों को कम करने में मददगार साबित हो सकते हैं। जैसा कि हम लेख में ऊपर भी बता चुके हैं कि इसमें एंटीऑक्सीडेंट गुण होते हैं, जो ऑक्सीडेटिव प्रभाव को कम कर सकते हैं। साथ ही, इसमें विटामिन-सी, विटामिन-ए और पॉलीफेनोल्स भी पाए जाते हैं, जो त्वचा पर एंटीएजिंग गुणों की तरह काम करते हैं और त्वचा को जवां बनाए रखने में मदद कर सकते हैं (15) (2)।

त्वचा की खूबसूरती और स्वास्थ्य के लिए छुहारे के लाभ उठाने के लिए आप उसका उपयोग नीचे बताई गई प्रक्रिया की मदद से कर सकते हैं।

सामग्री :
  • तीन से पांच छुहारे
  • आधा कप दूध
  • एक छोटा चम्मच सूजी
  • एक छोटा चम्मच शहद
विधि :
  • छुहारे को पानी से अच्छी तरह धोकर साफ कर लें और उसके बीज निकाल लें।
  • एक पैन में आधा कप दूध डालकर उबाल लें।
  • उबले हुए दूध में छुहारों को कुछ देर के लिए भिगोकर रख दें।
  • लगभग 30 मिनट भिगोने के बाद दूध और छुहारों को ब्लेंडर में डाल कर पीस लें और एक बाउल में निकाल लें।
  • अब इस घोल में एक चम्मच सूजी और एक चम्मच शहद डालकर पेस्ट बना लें।
  • अब अपने चेहरे को पानी और क्लिंजर की मदद से साफ कर लें।
  • चेहरे को तौलिये से थपथपा कर पोंछने के बाद इस पेस्ट को अच्छी तरह चेहरे पर लगाएं।
  • लगभग 30 मिनट तक पेस्ट को सूखने दें।
  • जब पैक अच्छी तरह सूख जाए, तो अपनी हथेलियों को गीला कर चेहरे पर गोल-गोल घुमाएं और चेहरे को स्क्रब करें।
  • लगभग तीन से पांच मिनट स्क्रब करने के बाद चेहरे को साफ पानी से धो लें और तौलिये से पोंछे लें।
  • अंत में चेहरे पर मॉइस्चराइजर लगा लें।

लेख के अगले भाग में हम आपको बालों के लिए छुहारे के लाभ बताने जा रहे हैं।

बालों के लिए छुहारे के फायदे – Hair Benefits of Dry Dates in Hindi

1. बालों को स्वस्थ बनाए रखे

बालों को स्वस्थ बनाए रखने के लिए जरूरी पोषक तत्व बहुत आवश्यक होते हैं। बालों के जरूरी इन पोषक तत्वों में गिनती होती है, आयरन, जिंक, सिलेनियम, विटामिन-ए और विटामिन-सी की। ये पोषक तत्व बालों को स्वस्थ रखने के साथ उन्हें झड़ने से रोकने में भी मदद करते हैं। खासकर, छुहारे में मौजूद विटामिन सी और सिलेनियम प्रभावी एंटीऑक्सीडेंट की तरह काम करते हैं और बालों को ऑक्सीडेटिव प्रभाव से होने वाली क्षति से बचाने का काम कर सकते हैं (2) (16)।

2. बालों की जड़ों और स्कैल्प के लिए लाभदायक

बालों की जड़ों या स्कैल्प से जुड़ी समस्याओं की कई वजह हो सकती हैं, जैसे डर्मेटाइटिस या सोरायसिस। इससे बालों में खुजली भी हो सकती है (17)। इन समस्याओं से आराम पाने के लिए छुहारों का उपयोग किया जा सकता है। इसमें मौजूद विटामिन-सी सोरायसिस जैसी समस्याओं से आराम दिला सकता है और जिंक एंटीमाइक्रोबियल एजेंट की तरह काम करके संक्रमण को खत्म करने में मदद कर सकता है (2) (14)।

बालों के लिए छुहारे के फायदे आप नीचे बताई गए तरीके से उठा सकते हैं।

सामग्री :
  • 8 से 10 छुहारे
  • एक लीटर पानी
विधि :
  • एक पैन में एक लीटर पानी उबाल लें।
  • उबले हुए पानी में छुहारे रात भर के लिए भिगोकर रख दें।
  • रात भर भिगोने के बाद, सुबह छुहारों को पानी से निकाल लें और इस पानी से अपने बालों को धोएं।
  • अंत में साफ पानी से बालों को धो लें।

लेख के अगले भाग में जानिए कि छुहारा में कौन से पोषक तत्व पाए जाते हैं।

छुहारे के पौष्टिक तत्व – Dry Dates Nutritional Value in Hindi

छुहारे में कार्बोहाइड्रेट, शुगर, फाइबर और प्रोटीन के साथ नीचे बताए गए कई पोषक तत्व पाए जाते हैं (2):

मिनरल – सिलेनियम, कॉपर, पोटैशियम, मैग्नीशियम, मैंगनीज, आयरन, फास्फोरस, कैल्शियम और बोरोन
विटामिन – राइबोफ्लेविन, पाइरिडोक्सिन, नियासिन, फोलिक एसिड, विटामिन ए और विटामिन सी
लिपिड – सैचुरेटेड फैटी एसिड और अनसैचुरेटेड फैटी एसिड

छुहारे के गुण और छुहारे खाने के लाभ जानने के बाद, अब आपको छुहारे खाने के तरीके के बारे में बताते हैं।

छुहारे का उपयोग – How to Use Dry Dates in Hindi

छुहारे खाने के तरीके के बारे में बात करें, तो आप नीचे बताए गए तरीकों से छुहारों का सेवन कर सकते हैं।

कैसे खाएं :
  • आप छुहारों को साबुत खा सकते हैं।
  • आप इसका पेस्ट बना कर इसे मिठाइयों में शक्कर की जगह उपयोग कर सकते हैं।
  • आप एक गिलास गर्म दूध में एक या दो छुहारों को डालकर सेवन कर सकते हैं।
  • आप ठंडे दूध में भी छुहारा डालकर स्मूदी तैयार कर सकते हैं।
  • आप इसका इस्तेमाल मीठे व्यंजनों में ड्राई फ्रूट की तरह भी कर सकते हैं।
  • आप इसके टुकड़े करके सिरीअल या मुस्ली में डाल कर भी खा सकते हैं।
कब खाना चाहिए :

माना जाता है कि छुहारों का सेवन सर्दियों के दौरान ज्यादा करना चाहिए। इसके अलावा, इसे नाश्ते में खाने की सलाह दी जाती है। हालांकि, आप इच्छानुसार किसी भी समय इसका सेवन कर सकते हैं।

कितना खाना चाहिए :

साबुत दो या तीन छुहारों का सेवन किया जा सकता है। साथ ही व्यक्ति के स्वास्थ्य के आधार पर इसकी मात्रा में बदलाव हो सकता है। इस संबंध में आहार विशेषज्ञ आपको सही सलाह दे सकते हैं।

छुहारे खाने के फायदे के बारे में तो आप अच्छी तरह समझ गए होंगे। अब लेख के अगले भाग में जानिए छुहारे खाने के नुकसान के बारे में।

छुहारे के नुकसान – Side Effects of Dry Dates in Hindi

खजूर का ही सूखा रूप छुहारा होता है। इसलिए, खजूर से होने वाले नुकसान छुहारे के जरिए भी हो सकते हैं। नीचे जानिए छुहारे खाने के नुकसान – :

  • ब्लोटिंग (पेट फूलना)
  • मधुमेह रोगी इसके अधिक सेवन से बचें, क्योंकि अधिक सेवन से ब्लड शुगर का स्तर बढ़ सकता है।

नोट : छुहारे में भरपूर मात्रा में शुगर पाया जाता है और इसका अधिक सेवन ब्लड शुगर के स्तर को बढ़ा सकता है।

अब आप छुहारे खाने के फायदे और नुकसान के बारे में अच्छी तरह समझ गए होंगे। इस लेख को पढ़कर आप यह भी समझ गए होंगे कि छुहारे के गुण सिर्फ आपकी सेहत के लिए ही नहीं, बल्कि आपके बालों और आपकी त्वचा के लिए भी फायदेमंद हो सकते हैं। छुहारे खाने के लाभ आपको रोजमर्रा के जीवन में ऊर्जा बढ़ाने से लेकर बीमारियों का खतरा कम करने में मिल सकते हैं। इस बात का ध्यान जरूर रखें कि छुहारे का उपयोग किसी प्रकार का मेडिकल ट्रीटमेंट नहीं है और किसी भी बीमारी के लिए इसका उपयोग करने से पहले एक बार डॉक्टर से परामर्श अवश्य कर लें। साथ में यह भी ध्यान रखें कि छुहारे खाने के नुकसान से बचने के लिए इसका उपयोग सीमित मात्रा में ही करें। इसके अलावा, इस लेख से जुड़ा कोई भी सवाल आप नीचे दिए कमेंट बॉक्स में लिख कर हमसे पूछ सकते हैं।

और पढ़े:

Sources

Articles on StyleCraze are backed by verified information from peer-reviewed and academic research papers, reputed organizations, research institutions, and medical associations to ensure accuracy and relevance. Read our editorial policy to learn more.

    1. Date fruit (Phoenix dactylifera L.): An underutilized food seeking industrial valorization
      https://www.sciencedirect.com/science/article/pii/S2352364616300463#bb0250
    2. Nutritional and Medicinal Value of Date Fruit
      https://www.researchgate.net/publication/257416165_Nutritional_and_Medicinal_Value_of_Date_Fruit
    3. Therapeutic effects of date fruits (Phoenix dactylifera) in the prevention of diseases via modulation of anti-inflammatory, anti-oxidant and anti-tumour activity
      https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC3992385/
    4. The efficacy of antimicrobial mouth rinses in oral health care
      https://pubmed.ncbi.nlm.nih.gov/9663026/
    5. Malnutrition and its Oral Outcome – A Review
      https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC3576783/
    6. High Fiber Diets: Their Role in Gastrointestinal Disorders
      https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC2153876/
    7. An extract from date palm fruit (Phoenix dactylifera) acts as a co-agonist ligand for the nuclear receptor FXR and differentially modulates FXR target-gene expression in vitro
      https://storage.googleapis.com/plos-corpus-prod/10.1371/journal.pone.0190210/1/pone.0190210.pdf?X-Goog-Algorithm=GOOG4-RSA-SHA256&X-Goog-Credential=wombat-sa%40plos-prod.iam.gserviceaccount.com%2F20210125%2Fauto%2Fstorage%2Fgoog4_request&X-Goog-Date=20210125T173111Z&X-Goog-Expires=3600&X-Goog-SignedHeaders=host&X-Goog-Signature=326d722581c6a42853733e52f560e1db9a7dadc35e90912a7c86db1e2d33c50d4dd4be3865e4aa9c3d6a579488dcc194d4cfbb457069ef6c43a7995c5f3f92d0b3ff42f0d15e6da742c894415d57396fb3c911af58580651ca22666a7fe7645cf083c4e528f02613c9cfa10efd54aaf05272b749a3e15b0511bf8f05008a26ad9c3912a967bb9d900b4a83cfc1dee199162d8836c4a45b280c665d92318ce5674210af44fbc634a18e55197cf8560eb1c45c9872b54e1d7e3e2706f339c19a6c3857384f1a51c7df74b6e11067cb609732654dd85acd4518967a30cd6373beed377716b6fd7f199ab62f2633f041c70d30486ec209b60ab00932597ab2a72e54
    8. Carbohydrates
      https://medlineplus.gov/carbohydrates.html
    9. Anemia
      https://medlineplus.gov/anemia.html
    10. The effects of protein supplements on muscle mass, strength, and aerobic and anaerobic power in healthy adults: a systematic review
      https://pubmed.ncbi.nlm.nih.gov/25169440/
    11. Date Palm (Phoenix dactylifera) Fruits as a Potential Cardioprotective Agent: The Role of Circulating Progenitor Cells
      https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC5591459/
    12. The impact of date palm fruits and their component polyphenols, on gut microbial ecology, bacterial metabolites and colon cancer cell proliferation
      https://www.cambridge.org/core/journals/journal-of-nutritional-science/article/impact-of-date-palm-fruits-and-their-component-polyphenols-on-gut-microbial-ecology-bacterial-metabolites-and-colon-cancer-cell-proliferation/1CE834125919772A67CA21561BD68952
    13. Skin Photoaging and the Role of Antioxidants in Its Prevention
      https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC3789494/#sec2title
    14. Role of Micronutrients in Skin Health and Function
      https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC4428712/
    15. Discovering the link between nutrition and skin aging
      https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC3583891/
    16. The Role of Vitamins and Minerals in Hair Loss: A Review
      https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC6380979/
    17. Dandruff and itching scalp
      https://www.betterhealth.vic.gov.au/health/conditionsandtreatments/dandruff-and-itching-scalp
Was this article helpful?
The following two tabs change content below.
सौम्या व्यास ने माखनलाल चतुर्वेदी विश्वविद्यालय, भोपाल से इलेक्ट्रॉनिक मीडिया में बीएससी किया है और इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ जर्नलिज्म एंड न्यू मीडिया, बेंगलुरु से टेलीविजन मीडिया में पीजी किया है। सौम्या एक प्रशिक्षित डांसर हैं। साथ ही इन्हें कविताएं लिखने का भी शौक है। इनके सबसे पसंदीदा कवि फैज़ अहमद फैज़, गुलज़ार और रूमी हैं। साथ ही ये हैरी पॉटर की भी बड़ी प्रशंसक हैं। अपने खाली समय में सौम्या पढ़ना और फिल्मे देखना पसंद करती हैं।

ताज़े आलेख