कॉड लिवर आयल के फायदे, उपयोग और नुकसान – Cod Liver Oil Benefits and Side Effects in Hindi

by

शरीर को कई तरह के पोषक तत्वों की आवश्यकता होती है। हालांकि, अधिकांश पोषक तत्वों की पूर्ति रोज खाए जाने वाले खाद्य पदार्थों से हो जाती है, लेकिन कभी-कभी सप्लीमेंट्स की भी जरूरत पड़ती है। कॉड लिवर आयल भी इन्हीं में से एक है। यही कारण है कि स्टाइलक्रेज के इस लेख का विषय भी कॉड लिवर आयल है। यहां हम आपको कॉड लिवर आयल क्या है, कॉड लिवर आयल के फायदे व इसके उपयोग के बारे में वैज्ञानिक प्रमाण के साथ जानकारी देने की कोशिश करेंगे। साथ ही आपको कॉड लिवर आयल से नुकसान के विषय में भी जानकारी देंगे।

कॉड लिवर आयल आपको स्वस्थ रखने में मदद जरूर कर सकता है, लेकिन यह किसी बीमारी का उपचार नहीं हो सकता। इसलिए, पूरी तरह से कॉड लिवर आयल पर निर्भर होने के बजाय गंभीर शारीरिक समस्या में डॉक्टरी परामर्श जरूरी है।

सबसे पहले जानते हैं कि कॉड लिवर आयल क्या है? लेख के इस भाग में हम इसी बारे में जानकारी दे रहे हैं।

कॉड लिवर आयल क्या है? What is Cod Liver Oil in Hindi

इस तेल को ताजा कॉड (एक प्रकार की मछली) के लिवर को खाने से या सप्लीमेंट लेने से प्राप्त किया जा सकता है। यह तेल कैप्सूल के रूप में भी बाजार में उपलब्ध होता है। कॉड लिवर ऑयल का उपयोग विटामिन-ए और विटामिन-डी के स्रोत के रूप में किया जाता है (1)। यह शरीर को कई प्रकार की बीमारियों से बचा सकता है, जिनके बारे में आगे विस्तार से बताया गया है।

चलिए, अब जानते हैं कि यह शरीर को कैसे स्वस्थ रख सकता है।

कॉड लिवर आयल के फायदे – Benefits of Cod Liver Oil in Hindi

1. आंखों के लिए कॉड लिवर आयल के फायदे

बढ़ती उम्र के साथ-साथ शरीर में कई तरह की समस्याएं हो सकती हैं और उन्हीं में से एक है नजर का कमजोर होना। ऐसे में कॉड लिवर आयल के सेवन से इस समस्या के जोखिम को कम किया जा सकता है। एनसीबीआई (National Center for Biotechnology Information) की वेबसाइट पर प्रकाशित एक अध्ययन  के अनुसार, विटामिन-ए और ओमेगा-3 फैटी एसिड ग्लूकोमा (Glaucoma) के उपचार में मददगार साबित हो सकते हैं।

ग्लूकोमा एक नेत्र संबंधी विकार है, जिसमें ऑप्टिक नर्व (जो दृष्टि के लिए महत्वपूर्ण होती है) को नुकसान होता है। यह विकार आगे चलकर अंधेपन का कारण बन सकता है। ऐसे में कॉड लिवर आयल के फायदे देखे जा सकते हैं। यह विटामिन-ए और ओमेगा-3 फैटी एसिड दोनों से समृद्ध होता है। ये दोनों पोषक तत्व दृष्टि संबंधी बीमारी ग्लूकोमा के जोखिम को कुछ कम कर सकते हैं (2)। फिलहाल, इस विषय में और शोध की आवश्यकता है।

2. हृदय के लिए कॉड लिवर आयल के फायदे

हृदय रोग के जोखिम से बचने के लिए कॉड लिवर ऑयल का सेवन किया जा सकता है। एनसीबीआई की वेबसाइट पर प्रकाशित एक मेडिकल रिसर्च के अनुसार, मधुमेह के मरीजों में कॉड लिवर ऑयल का सेवन करने से दिल की बीमारी बचा जा सकता है। फिलहाल, यह शोध सिर्फ चूहों पर किया गया है, मनुष्यों पर नहीं। इसलिए, इसके सेवन के बारे में एक बार डॉक्टर की राय लेना जरूरी है (3)।

3. एंटी-इंफ्लेमेटरी

कॉड लिवर आयल को एंटी-इंफ्लेमेटरी दवा के तौर पर इस्तेमाल करने से रूमेटाइड अर्थराइटिस (Rheumatoid Arthritis – एक प्रकार का गठिया) से राहत मिल सकती है। रूमेटाइड अर्थराइटिस शरीर में इन्फ्लेमेशन यानी सूजन के कारण होने वाली समस्या है। ऐसे में कॉड लिवर आयल में मौजूद एन-3 फैटी एसिड (n-3 fatty acids) एंटी-इंफ्लेमेटरी प्रभाव दिखा सकता है, जिससे जोड़ों के दर्द और सूजन से कुछ राहत मिल सकती है (4) (5)। वहीं, अगर ज्यादा तकलीफ हो, तो साथ में डॉक्टरी इलाज भी जरूर कराएं।

4. सांस संबंधी संक्रमण के लिए कॉड लिवर आयल

बैक्टीरियल या वायरल संक्रमण के कारण सांस संबंधी संक्रमण हो सकते हैं (6)। ऐसे में कॉड लिवर ऑयल का सेवन फायदेमंद हो सकता है। कॉड लिवर ऑयल में एंटी-इंफेक्टिव गुण मौजूद होते हैं। यह गुण संक्रमण से बचाव करने में मदद कर सकता है। साथ ही इसमें मौजूद विटामिन डी सांस संबंधी बीमारियों से बचाव कर सकता है (7)।

5. दिमाग के लिए कॉड लिवर आयल के फायदे

कभी-कभी बढ़ती उम्र के साथ याददाश्त कमजोर होनी जैसी समस्याएं हो सकती हैं। ऐसे में कॉड लिवर ऑयल का उपयोग दिमागी विकास में फायदेमंद साबित हो सकता है। इसके सेवन से बढ़ती उम्र के दौरान भी मस्तिष्क स्वस्थ रह सकता है (8)।

6. हड्डियों के लिए कॉड लिवर आयल के फायदे

यह तो लगभग हर कोई जानता है कि कैल्शियम हड्डियों के लिए बहुत जरूरी है। साथ ही विटामिन-डी भी हड्डियों के लिए आवश्यक पोषक तत्व है। विटामिन-डी शरीर में कैल्शियम को अवशोषित होने में मदद करता है, जिस कारण हड्डियों का स्वास्थ्य बरकरार रह सकता है। वहीं, कॉड लिवर ऑयल को विटामिन-डी का अच्छा स्रोत माना गया है (1)। विटामिन-डी शरीर में कैल्शियम के अवशोषण (Absorbtion) को बढ़ावा देने में मदद करता है (9)। ऐसे में कॉड लिवर आयल का सीमित मात्रा में सेवन करना फायदेमंद हो सकता है।

7. पेट के लिए कॉड लिवर आयल के फायदे

गलत खान-पान की वजह से पेट में गैस या अल्सर जैसी समस्या हो सकती हैं। वहीं, कॉड लिवर ऑयल में एंटी-अल्सर गुण मौजूद होते हैं। एसिटिक एसिड के कारण होने वाले क्रोनिक गैस्ट्रिक अल्सर के उपचार में कॉड लिवर ऑयल मददगार साबित हो सकता है। इतना ही नहीं यह ड्यूडिनल अल्सर (Duodenal Ulcer) से भी बचाव कर सकता है (10)। इस प्रकार का अल्सर डियोडेनम  (Duodenum-छोटी आंत का पहला हिस्सा) में होता है। वहीं, अगर कोई गंभीर रूप से अल्सर से पीड़ित है, तो उसे घरेलू नुस्खे के साथ-साथ डॉक्टर से इलाज भी जरूर करवाना चाहिए।

8. घाव को भरने व त्वचा के लिए कॉड लिवर आयल के फायदे

कॉड लिवर ऑयल युक्त मरहम का उपयोग करने से घाव को जल्द भरने में मदद मिल सकती है। ऐसा माना गया है कि विटामिन-ए जो कॉड लिवर आयल में एक महत्वपूर्ण पोषक तत्व होता है, घाव को जल्दी भरने में मदद कर सकता है। इसे त्वचा पर मौजूद रैशेज, घाव व जलने की समस्या से राहत पाने में भी उपयोग किया जा सकता है (11)। फिलहाल, इस मामले में अभी और सटीक प्रमाण की आवश्यकता है। इसलिए, इसके उपयोग से पहले डॉक्टरी सलाह जरूर लें (1)।

आगे जानिए कि कॉड लीवर ऑयल का उपयोग कैसे किया जाए।

कॉड लिवर आयल का उपयोग – How to Use Cod Liver Oil in Hindi

कॉड लीवर ऑयल का उपयोग के बारे में हम नीचे जानकारी दे रहे हैं (1)।

खुराक : कॉड लिवर आयल की उचित खुराक कई कारकों पर निर्भर करती है, जैसे कि उपयोगकर्ता की आयु, स्वास्थ्य और कई अन्य स्थितियां। इसलिए, किसे कितना कॉड लिवर आयल उपयोग करना चाहिए, इस बारे में डॉक्टर से परामर्श जरूर लें।

टाइम : कई लोगों का मानना है कि कॉड लिवर ऑयल के सप्लीमेंट्स को रात को खाने के बाद लेना चाहिए, लेकिन लोगों के कहे अनुसार इसका सेवन करना उचित नहीं है। इसलिए, डॉक्टर की सलाह लेना जरूरी है कि इसका सेवन किस समय करना ठीक है।

हर चीज के फायदे और नुकसान दोनों होते हैं, वैसे ही कॉड लिवर आयल से नुकसान भी हो सकते हैं। इसलिए, एहतियात के तौर पर हम कॉड लिवर आयल से नुकसान के बारे में भी जानकारी दे रहे हैं।

कॉड लिवर आयल से नुकसान – Side Effects of Cod Liver Oil in Hindi

अधिक सेवन करने से कॉड लिवर आयल से नुकसान के बारे में नीचे पढ़ें (1):

  • सांस की दुर्गंध
  • सीने में जलन
  • पेट खराब या दस्त
  • मतली
  • रक्तस्त्राव की समस्या
  • गर्भवती और स्तनपान कराने वाली महिलाओं को कॉड लिवर ऑयल का सेवन नहीं करना चाहिए। इसकी अधिक मात्रा से शरीर में विटामिन-ए और विटामिन-डी का स्तर बढ़ सकता है, जो मां और होने वाले शिशु दोनों के लिए घातक हो सकता है।
  • अगर कोई व्यक्ति ब्लड प्रेशर कम करने की दवाई का सेवन कर रहा है, तो वह डॉक्टर से सलाह करने के बाद ही कॉड लिवर ऑयल का सेवन करें। दवा के साथ कॉड लिवर ऑयल को लेने से ब्लड प्रेशर जरूरत से ज्यादा कम हो सकता है।

कॉड लिवर आयल के फायदे जानने के बाद इसे खाने की इच्छा कई लोगों को होगी, लेकिन हम स्पष्ट कर दें कि कॉड लिवर आयल के फायदे से शारीरिक समस्याओं से सिर्फ बचाव हो सकता है। हम यह दावा नहीं कर रहे हैं कि यह किसी बीमारी को पूरी तरह से खत्म कर सकता है। अगर किसी को कोई गंभीर स्वास्थ्य संबंधी परेशानी है, तो वह डॉक्टर की सलाह लेने में बिल्कुल देर न करे। इसके अलावा, कॉड लीवर ऑयल का उपयोग भी डॉक्टर की सलाह के अनुसार ही करें। कॉड लिवर आयल से जुड़ी अन्य जानकारी के लिए नीचे दिए कमेंट बॉक्स की मदद ले सकते हैं।

और पढ़े:

Was this article helpful?
The following two tabs change content below.

Arpita Biswas

अर्पिता ने पटना विश्वविद्यालय से मास कम्यूनिकेशन में स्नातक किया है। इन्होंने 2014 से अपने लेखन करियर की शुरुआत की थी। इनके अभी तक 1000 से भी ज्यादा आर्टिकल पब्लिश हो चुके हैं। अर्पिता को विभिन्न विषयों पर लिखना पसंद है, लेकिन उनकी विशेष रूचि हेल्थ और घरेलू उपचारों पर लिखना है। उन्हें अपने काम के साथ एक्सपेरिमेंट करना और मल्टी-टास्किंग काम करना पसंद है। इन्हें लेखन के अलावा डांसिंग का भी शौक है। इन्हें खाली समय में मूवी व कार्टून देखना और गाने सुनना पसंद है।

ताज़े आलेख

scorecardresearch