दांत दर्द के कारण, लक्षण, इलाज और घरेलू उपचार – Tooth Pain (Dant Dard) Remedies in Hindi

Medically reviewed by Dr. Zeel Gandhi, Ayurvedic Doctor, BAMS
Written by

दर्द कोई भी हो, कष्टदायी हो सकता है, लेकिन जब बात हो दांत दर्द की, तो यह किसी मुश्किल से कम नहीं है। कुछ खाते वक्त अगर अचानक दांत का दर्द होने लगे, तो खाने का मजा खराब हो सकता है। इसके अलावा, दांतों में होने वाली झनझनाहट वाकई में तकलीफदायक भी हो सकती है। कई बार लोग दांत दर्द की दवा का सेवन कर लेते हैं, लेकिन कभी-कभी दांत दर्द ऐसे वक्त पर होता है, जब डॉक्टर का विकल्प भी मुमकिन नहीं हो पाता है। ऐसे में स्टाइलक्रेज के इस लेख से हम दांत दर्द का घरेलू उपचार बताने जा रहे हैं। कई लोग दांत में दर्द की दवा लेना नहीं चाहते हैं, ऐसे में इस लेख में बताए गए दांत दर्द के घरेलू उपाय लाभकारी हो सकते हैं। तो बिना देर करते हुए, लेख में पढ़ें दांत दर्द के घरेलू उपाय।

जानें विस्तार से

दांत दर्द के घरेलू उपचार से पहले जानते हैं दांत दर्द के कारण।

दांत दर्द के कारण – Causes of Toothache Hindi

दांत दर्द के कारण कई हो सकते हैं, जिनमें से कुछ के बारे में हम नीचे विस्तार से बता रहे हैं (1) (2)।

  • दांतों की सड़न।
  • दांतों की चोट।
  • टूटे हुए दांत।
  • मुंह का अल्सर।
  • ढीली फिलिंग।
  • मसूड़ों में सूजन।
  • दांत के अंदर सूजन।
  • बैक्टीरिया की वजह से दांतों में सड़न या संक्रमण।
  • कान में दर्द।
  • जबड़े या मुंह में चोट लगना।
  • हार्ट अटैक।
  • अकल दाढ़ भी एक कारण हो सकता है (3)।

स्क्रॉल करें

अब जानते हैं दांत दर्द के लक्षण क्या-क्या हो सकते हैं।

दांत दर्द के लक्षण – Symptoms of Tooth Pain in Hindi

दांत में दर्द होने पर दर्द के साथ-साथ मुंह में काफी असहजता हो सकती है। इसके अलावा, दांत दर्द के अन्य लक्षण कुछ इस प्रकार के हो सकते हैं (1) –

  • कुछ भी चबाते समय दांतों में दर्द होना या झनझनाहट महसूस होना।
  • ठंडा या गर्म खाने पर संवेदनशीलता महसूस होना।
  • दांतों से खून आना और मसूड़ों की पकड़ कमजोर पड़ना।
  • जबड़े में और चेहरे पर सूजन आना।

आगे पढ़ें

लेख के इस भाग में जानिए दांत दर्द से छुटकारा पाने के लिए दांत दर्द का घरेलू उपचार।

दांत दर्द का घरेलू उपचार – Home Remedies for Toothache in Hindi

नीचे पढ़ें दांत दर्द का उपाय करने के लिए कौन-कौन से घरेलू नुस्खों को अपनाया जा सकता है। यहां इस बात का ध्यान रखें कि दांत दर्द के घरेलू उपचार कुछ हद तक इस समस्या को कम करने में मदद कर सकते हैं। अगर दांत दर्द ज्यादा हो रहा है, तो बेहतर है कि इसका डॉक्टरी उपचार करवाया जाए।

1. दांत दर्द के लिए लौंग का तेल

सामग्री:

  • एक-दो बूंद लौंग का तेल
  • रूई

उपयोग करने का तरीका:

  • जिस दांत में दर्द है, उस पर रूई की मदद से लौंग का तेल लगाएं।
  • कोशिश करें कि तेल अंदर न निगलें, इसे थोड़ी देर दांतों पर लगा रहने दें।
  • फिर कुल्ला कर लें।
  • इसे पूरे दिन में तीन से चार बार लगा सकते हैं, जब तक दर्द कम न हो जाए।
  • इसके अलावा, दर्द वाले दांत में लौंग भी दबाकर रख सकते हैं।

कैसे फायदेमंद हो सकता है?

दांत में दर्द के घरेलू उपाय की बात करें, तो लौंग एक कारगर उपाय हो सकता है। दरअसल, एनसीबीआई (National Center for Biotechnology Information) की वेबसाइट पर प्रकाशित एक स्टडी के अनुसार, लॉन्ग या लौंग के तेल को एक हर्बल दवा की तरह उपयोग किया जाता रहा है। लौंग के तेल का मुख्य घटक यूजेनॉल (eugenol) और एसिटिल यूजेनॉल (acetyl eugenol) के कारण यह एंटी-इन्फ्लेमेटरी और एनाल्जेसिक (दर्दनिवारक) लाभ पहुंचा सकता है। ऐसे में इसका उपयोग दांत के दर्द का रामबाण इलाज हो सकता है (4) (5)। हालांकि, इस बारे में अभी और शोध की आवश्यकता है, लेकिन कुछ देर के राहत के लिए इसका उपयोग किया जा सकता है। इसके अलावा, ध्यान रहे कि जरूरत से इसका उपयोग न करें क्योंकि इससे गले में खराश, उल्टी, किडनी, लिवर की समस्या या सांस लेने में परेशानी भी हो सकती है (6)। ऐसे में, अगर किसी को स्वास्थ्य संबंधी कोई परेशानी है, तो इसके उपयोग से पहले विशेषज्ञ की सलाह जरूर लें।

2. अदरक का पाउडर

सामग्री:

  • आधा चम्मच अदरक का पाउडर
  • पानी (पेस्ट बनाने के लिए)

उपयोग करने का तरीका:

  • अदरक के पाउडर को पानी में मिलाकर पेस्ट बना लें।
  • अब इस पेस्ट को दर्द वाले दांत में लगाएं।
  • थोड़ी देर लगा रहने दें, फिर कुल्ला कर लें।
  • चाहें, तो अदरक के छोटे टुकड़े को कुचलकर, उसे भी दर्द वाले दांत में लगा सकते हैं।

कैसे फायदेमंद हो सकता है?

दांत दर्द के घरेलू इलाज की बात करें, तो अदरक लाभकारी हो सकता है। एनसीबीआई की वेबसाइट पर प्रकाशित एक शोध में यह बात सामने आयी है कि जिंजर पाउडर उतना ही प्रभावी हो सकता है, जितना आईबूप्रोफेनिन (Ibuprofenin – एक प्रकार का पेनकिलर) (7)। इस आधार पर कह सकते हैं कि दांत में किसी प्रकार की चोट या दर्द के दौरान अदरक या अदरक का पाउडर लगाना लाभकारी हो सकता है। हालांकि, यह हल्के-फुल्के दांत दर्द के लिए कारगर हो सकता है, लेकिन अगर समस्या ज्यादा हो, तो डॉक्टरी सलाह भी आवश्यक है।

3. हींग

सामग्री:

  • एक चुटकी हिंग का पाउडर
  • 1-2 चम्मच पानी
  • रूई

उपयोग करने का तरीका:

  • हींग को पानी में मिलाकर पेस्ट बना लें।
  • अब इस पेस्ट को दर्द वाले दांत पर रूई की मदद से लगाएं।
  • जब भी दांत में दर्द हो, इसका इस्तेमाल करें।

कैसे फायदेमंद हो सकता है?

दांत दर्द के लिए हींग उपयोगी हो सकता है। इसमें दर्दनिवारक (analgesic) गुण मौजूद होता है, जिस कारण यह किसी भी तरह के दर्द के लिए उपयोगी हो सकता है (8) (9)। इसके साथ ही इसमें एंटी-बैक्टीरियल गुण भी होता है, जो बैक्टीरिया के कारण दांतों के सड़न से बचाव या दर्द से राहत दिला सकता है (10) (11) (12)। हींग दांत दर्द की दवा की तरह काम कर सकता है।

4. दांत दर्द के लिए प्याज

सामग्री:

  • एक कच्चा प्याज

उपयोग करने का तरीका:

  • प्याज के टुकड़े को दर्द वाले दांत पर लगाएं।
  • इसे कुछ मिनट के लिए लगा रहने दें।
  • जब तक दर्द कम न हो जाए, इस प्रक्रिया को दिन में दो बार दोहराएं।

कैसे फायदेमंद हो सकता है?

प्याज न सिर्फ खाने में स्वाद लाता है, बल्कि मुंह के स्वास्थ्य के लिए भी लाभकारी हो सकता है। दांत में दर्द के घरेलू उपाय के विषय में मौजूद एक स्टडी के मुताबिक, प्याज में मौजूद एंटी-बैक्टीरियल गुण मुंह के बैक्टीरिया पर असरदार हो सकता है (13)। इसके साथ ही यह दांत दर्द का घरेलू इलाज के तौर पर भी एक प्राकृतिक दवा की तरह उपयोग किया जा सकता है (14)।

5. दांत दर्द के लिए लहसुन

सामग्री:

  • एक लहसुन की कली
  • एक चम्मच सेंधा नमक या सामान्य नमक

उपयोग करने का तरीका:

  • लहसुन की कली को अच्छी तरह पीसकर इसमें सेंधा नमक मिलाएं।
  • इस पेस्ट को दर्द वाले दांत पर लगाएं।
  • जब तक दर्द कम न हो जाए, दिन भर में थोड़ा-थोड़ा कर के दो बार लगाएं।

कैसे फायदेमंद हो सकता है?

इसमें कोई शक नहीं है कि लहसुन के फायदे कई सारे हैं। उन्हीं फायदों में से एक है, दांत दर्द का घरेलू इलाज। दरअसल, कई स्टडीज में यह बात सामने आयी है कि लहसुन में मौजूद एंटीबैक्टीरियल गुण के कारण यह दांतों के प्लाक पर काफी असरदार हो सकता है। यह एंटीबैक्टीरियल गुण इसमें मौजूद महत्वपूर्ण घटक एलिसिन को माना जाता है (15)।

इसके साथ ही एनसीबीआई की वेबसाइट पर प्रकाशित कुछ अन्य अध्ययनों में भी यह बात सामने आयी है कि एलिसिन का एंटीमाइक्रोबियल गुण मसूड़ों के संक्रमण का कारण बनने वाले मुंह के बैक्टीरिया से राहत दिलाने में सहायक हो सकता है (16)।

इतना ही नहीं, वैज्ञानिकों ने लहसुन के अर्क के माउथवॉश को भी असरदार पाया है (17)। हालांकि, ध्यान रहे कि ज्यादा देर तक लहसुन को मुंह में न रखें क्योंकि ऐसा करने से ओरल म्यूकोसा (Oral Mucosa- मुंह के अंदर की त्वचा) को जला भी सकता है (18)। ऐसे में दांतों को स्वस्थ रखने के लिए और दर्द से बचाव के लिए लहसुन युक्त टूथपेस्ट या माउथवॉश का उपयोग किया जा सकता है, क्योंकि यह कैविटी के जोखिम को कम करने में सहायक हो सकता है (19)।

6. नमक का पानी

सामग्री:

  • एक गिलास गुनगुना पानी
  • एक चम्मच नमक

उपयोग करने का तरीका:

  • गुनगुने पानी में अच्छी तरह नमक मिला लें।
  • फिर इस पानी से कुल्ला करें।
  • इस प्रक्रिया को दिन में तीन से चार बार दोहराएं।

कैसे फायदेमंद हो सकता है?

अगर तुरंत दांत दर्द से आराम पाना है, तो नमक पानी फायदेमंद हो सकता है। दांत दर्द की दवा लेने के साथ-साथ अगर दांत दर्द के घरेलू नुस्खे के तौर पर नमक के पानी से कुल्ला किया जाए, तो दर्द से राहत मिल सकती है। यह एक ओवर दी काउंटर (over the counter medicine – ऐसी दवा जिसके लिए डॉक्टरी पर्चे की जरूरत नहीं होती) दर्द निवारक की तरह काम कर सकता है (1) (20)। यह दाढ़ दर्द का घरेलू उपाय भी हो सकता है। हालांकि, यह ध्यान रहे कि यह दर्द को या उसके लक्षणों को कम कर सकता है, इसे दांत की दवा समझने की भूल न करें।

7. अमरूद की पत्तियां

सामग्री:

  • 4-5 अमरूद की पत्तियां
  • आधा से एक चम्मच नामक
  • पानी (आवश्यकतानुसार)

उपयोग करने का तरीका:

  • अमरूद की पत्तियों को पानी में उबालें।
  • अब इसे छान लें।
  • अब इसमें नमक डालें और फिर जब यह गुनगुना हो जाए, तो इससे कुल्ला कर लें।
  • दर्द से राहत के लिए अमरूद की ताजा पत्तियों को चबा भी सकते हैं।
  • ध्यान रहे पत्तियों को पहले अच्छे से धोकर साफ कर लें, उसके बाद ही उपयोग करें।

कैसे फायदेमंद हो सकता है?

दांत दर्द के घरेलू नुस्खे की बात की जाए, तो अमरूद के पत्ते मुंह के स्वास्थ्य के लिए लाभकारी हो सकते हैं। यह बात एनसीबीआई की वेबसाइट पर प्रकाशित एक स्टडी में सामने आयी है। दरअसल, यह समीक्षा पीरियडोंटल बीमारी के इलाज में अमरूद की चिकित्सीय क्षमता पर प्रकाश डालने का प्रयास करती है। इसमें यह बात सामने आयी है कि अमरूद की पत्तियों में मौजूद गुआजावेरिन (Guaijaverin – एक प्रकार का केमिकल) में एंटीप्लाक गुण मौजूद है, जो मुंह के स्वास्थ्य के लिए लाभकारी हो सकता है (21)। इसके साथ ही अमरूद की पत्तियों में एंटीमाइक्रोबियल, एंटी-इन्फ्लेमेटरी, एनाल्जेसिक (दर्द निवारक) गुण भी मौजूद होता है। वहीं, एक अन्य शोध में यह बात सामने आयी है कि अमरूद की पत्तियों को लोग मुंह के अल्सर और दांत दर्द के लिए घरेलू उपाय के तौर पर उपयोग करते हैं (22)।

पढ़ते रहिये

8. कलौंजी का तेल

सामग्री:

  • आधा चम्मच कलौंजी का तेल
  • एक क्यू टिप या ईयर बड

उपयोग करने का तरीका:

  • कलौंजी के तेल में क्यू टिप या ईयर बड को भिगोएं।
  • अब इसे दर्द से प्रभावित दांत पर लगाएं।
  • फिर थोड़ी सेर बाद कुल्ला कर लें।
  • चाहें, तो गुनगुने पानी में इस तेल को डालकर भी उसे माउथवॉश की तरह उपयोग कर सकते हैं।

कैसे फायदेमंद हो सकता है?

दांत दर्द के घरेलू उपचार के रूप में कलौंजी भी लाभकारी हो सकता है। दरअसल, कलौंजी में थाइमोक्विनोन (Thymoquinone – एक प्रकार का यौगिक) नामक मौजूद होता है, जिसमें एनाल्जेसिक गुण होते हैं (23)। यही गुण दर्द से राहत दिलाने में सहायक हो सकता है। वहीं, चूहों पर किए गए शोध में कलौंजी के अल्कोहल एक्सट्रैक्ट में दर्द से राहत दिलाने का असर देखा गया है (24)। इसके अलावा, कलौंजी का तेल पेनकिलर की तरह काम कर सकता है (25)।

9. बेकिंग सोडा

सामग्री:

  • आधा से एक चम्मच बेकिंग सोडा
  • पानी
  • रूई

उपयोग करने का तरीका:

  • रूई को पानी में भिगोएं और फिर इस पर बेकिंग सोडा लगाएं।
  • बेकिंग सोडा लगाकर रूई को दर्द वाले दांत पर लगाएं।
  • इस प्रक्रिया को दिन में दो से तीन बार दोहराएं।
  • चाहें, तो गुनगुने पानी में बेकिंग सोडा मिलाएं और इस पानी से कुल्ला करें।

कैसे फायदेमंद हो सकता है?

दांत दर्द के घरेलू उपचार की बात करें, तो बेकिंग सोडा एक सुरक्षित और असरदार घरेलू उपाय के तौर पर काम कर सकता है। इसमें मौजूद (bactericidal property) जीवाणुनाशक गुण मुंह के बैक्टीरिया को खत्म करने में राहत दिला सकते हैं (26)। हालांकि, यह दांत दर्द से कितना राहत दे सकते हैं, इस बारे में अभी सीधे तौर पर कोई ठोस वैज्ञानिक प्रमाण उपलब्ध नहीं है। जैसे कि लेख में हमने पहले ही जानकारी दी थी कि कई बार बैक्टीरिया भी दांत का कारण हो सकता है। ऐसे में अनुमान के तौर पर कह सकते हैं कि बेकिंग सोडा के उपयोग से बैक्टीरिया से बचाव हो सकता है और दांत दर्द राहत मिल सकती है (27)। इसे माउथवाश की तरह भी उपयोग कर सकते हैं (28)।

10. वनीला एक्सट्रैक्ट

सामग्री:

  • वनीला एक्सट्रैक्ट की दो-तीन बूंदें
  • रूई

उपयोग करने का तरीका:

  • जिस दांत में दर्द हो, उस पर रूई की मदद से वैनिला एक्सट्रैक्ट लगाएं।

कैसे फायदेमंद हो सकता है?

दांत को आराम देने के लिए वैनिला एक्सट्रैक्ट को सेल्फ केयर के तौर पर उपयोग किया जाता रहा है। कई लोग इसे दांतों के लिए एक घरेलू उपाय के तौर पर उपयोग करते हैं (29)।

11. ऑयल पुलिंग

सामग्री:

  • 1-2 बड़े चम्मच नारियल का तेल
  • गुनगुना पानी
  • टूथब्रश
  • टूथपेस्ट

उपयोग करने का तरीका:

  • लगभग 10-15 मिनट के लिए नारियल के तेल को अपने मुंह में रखें।
  • फिर मुंह से तेल को थूक दें।
  • इसके बाद गुनगुने पानी से कुल्ला करें।
  • कुल्ला करने के बाद सामान्य रूप से ब्रश कर लें।
  • ऐसा दिन में दो बार करें।

कैसे फायदेमंद हो सकता है?

ऑयल पुलिंग तकनीक का इस्तेमाल दांत दर्द, दांतों में संक्रमण, मसूड़ों से खून बहना, मसूड़े की सूजन और अन्य मुंह की समस्याओं के इलाज के लिए किया जा सकता है (30)। दांत दर्द का घरेलू इलाज के साथ ही यह मुंह के स्वास्थ्य के लिए और प्लाक जैसी समस्याओं को कम करने के लिए भी उपयोगी साबित हो सकता है (31) (32)। वहीं, नारियल तेल में लॉरिक एसिड (Lauric acid) की उच्च मात्रा होती है, जिसमें एंटी-इंफ्लेमेटरी और एंटीबैक्टीरियल गुण होते हैं, जिससे यह दांत दर्द से राहत दिलाने में मदद मिल सकती है (33)। ऑयल पुलिंग तकनीक सूरजमुखी का तेल या तिल के तेल से भी किया जा सकता है। यह मुंह के बदबू को भी दूर करने में सहायक हो सकता है (34)। हालांकि, इस बारे में अभी और शोध की आवश्यकता है, लेकिन दांत दर्द से कुछ देर की राहत के लिए इसका उपयोग किया जा सकता है। ऑयल पुलिंग के लिए ऑलिव ऑयल का उपयोग भी किया जा सकता है। यह मुंह के दुर्गंध की समस्या से राहत दिला सकता है।

लेख से जुड़े रहिये

12. दालचीनी पाउडर

सामग्री:

  • 1 चम्मच दालचीनी पाउडर
  • 5 चम्मच शहद

उपयोग करने का तरीका:

  • दालचीनी पाउडर में शहद मिलाकर पेस्ट बना लें।
  • इस पेस्ट को दर्द वाले दांत पर लगाएं।
  • फिर कुछ देर बाद कुल्ला कर लें।

कैसे फायदेमंद हो सकता है?

दांत दर्द के लिए घरेलू इलाज के तौर पर दालचीनी का उपयोग पारंपरिक दवा की तरह किया जाता रहा है (35)। दालचीनी में मौजूद एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण दांत दर्द से राहत दिलाने में सहायक हो सकता है (36)। इसके साथ ही दालचीनी में मौजूद एंटीबैक्टीरियल गुण मुंह के स्वास्थ्य के लिए लाभकारी हो सकता है (37)। इतना ही नहीं, दालचीनी तेल भी दांत दर्द का रामबाण इलाज हो सकता है (38)। वहीं, शहद भी दांत दर्द से राहत दिलाने में सहायक हो सकता है (39)।

13. ऑरेगैनो ऑयल

सामग्री:

  • ऑरेगैनो ऑयल की दो-तीन बूंदें
  • एक ईयर बड

उपयोग करने का तरीका:

  • ईयर बड को ऑरेगैनो ऑयल में भिगोकर दांतों पर लगाएं।
  • इस प्रक्रिया को हर कुछ घंटों में दोहरा सकते हैं।

कैसे फायदेमंद हो सकता है?

टीथ पेन के घरेलू नुस्खे की बात की जाए, तो ऑरेगैनो ऑयल भी लाभकारी हो सकता है। दांत दर्द की समस्या से निजात पाने के लिए ऑरेगैनो ऑयल का उपयोग किया जा सकता है। यह दांत दर्द की समस्या से राहत दिलाने में सहायक हो सकता है (40)। हालांकि, यह किस प्रकार यह काम करता है, इसे लेकर अभी और शोध किए जाने की आवश्यकता है।

14. पिपरमिंट ऑयल

सामग्री:

  • एक से दो बूंद पिपरमिंट ऑयल
  • 1 गिलास पानी

उपयोग करने का तरीका:

  • पानी में पिपरमिंट ऑयल डालें।
  • अब इससे कुल्ला कर लें।

कैसे फायदेमंद हो सकता है?

कई टूथपेस्ट में पिपरमिंट का उपयोग किया जाता है। ऐसे में पुदीने के पत्ते के तेल के फायदे की बात करें, तो यह मुंह के स्वास्थ्य के लिए लाभकारी हो सकता है। पिपरमिंट ऑयल में एंटीबैक्टीरियल गुण मौजूद होते हैं, जो मुंह के बैक्टीरिया में लाभकारी हो सकता है। इसके साथ ही इसमें एंटीसेप्टिक गुण भी हैं, जो मुंह की समस्या के लिए असरदार हो सकता है (41) (42)। इसके अलावा, यह पेनकिलर की तरह भी काम कर सकता है (43)। ऐसे में इसका उपयोग टीथ पेन के घरेलू नुस्खे के तौर पर किया जा सकता है।

नोट : ऊपर बताए गए ये नुस्खे पूरी तरह दांत दर्द की दवा के तौर पर काम करें या न करें, लेकिन हल्के-फुल्के दांत दर्द से राहत दिलाने में सहायक हो सकते हैं।

आगे पढ़ें

दाँत दर्द का घरेलू उपचार कुछ देर का राहत दे सकता है, लेकिन अगर समस्या ज्यादा होने लगे, तो दांत दर्द का इलाज भी जरूरी है। लेख के इस भाग में जानिए दांत के दर्द का इलाज।

दांत दर्द का इलाज – Treatments for Toothache in Hindi

दांत दर्द का इलाज दांत की स्थिति के अनुसार किया जा सकता है (1) (2) (44) (45)।

  • डॉक्टर दवाइयों से दांत के दर्द का इलाज कर सकते हैं। इन दवाइयों में एंटीबायोटिक्स, दर्द या सूजन कम करने की दवाई शामिल हैं।
  • अगर मसूड़ों या दांतों मे किसी प्रकार का संक्रमण हो, तो उसके लिए डॉक्टर दांत में दर्द का इलाज के तौर पर दवा या अन्य उपचार की सलाह दे सकते हैं।
  • कुछ मामलों में डॉक्टर दांत दर्द का इलाज के रूप में दांत भरने (filling) की सलाह दे सकते हैं।
  • दांत दर्द के उपाय के तौर पर डॉक्टर रूट कैनाल थेरेपी की सलाह दी जा सकती है।
  • कुछ मामलों में दांत दर्द के उपाय के तौर पर दांत को उखाड़ने की सलाह भी डॉक्टर दे सकते हैं।
  • अगर प्लाक होने के कारण टीथ पेन हो रहा है, तो चिकित्सक दांत में दर्द का इलाज के रूप में उसे हटा देंगे और नियमित रूप से ब्रश करने की सलाह दे सकते हैं।

अंत तक पढ़ें

अब जानते हैं कि दांत दर्द में क्या खाया जा सकता है।

दांत दर्द में क्या खाना चाहिए – What to Eat During Toothache in Hindi

ऐसे खाद्य पदार्थों का सेवन करें जो नर्म हों और जिन्हें चबाना और निगलना आसान हों। नीचे जानिए टीथ पेन में क्या खाना चाहिए (1)।

  • उबले हुए आलू
  • बिना चीनी का मिल्कशेक
  • स्मूदी
  • जूस
  • दलिया
  • बिना मसाले के खाद्य पदार्थ
  • पका हुआ केला

स्क्रॉल करें

अब जानते हैं कि दांत दर्द में किन चीजों से परहेज करना जरूरी है।

दांत दर्द में परहेज – What to Avoid During Toothache in Hindi

नीचे पढ़ें दांत दर्द में किन चीजों से परहेज करना आवश्यक है (1) (44) (46) –

  • ज्यादा मीठा या शुगर वाले खाद्य पदार्थों के सेवन से बचें।
  • ज्यादा तेल मसाले वाले खाद्य पदार्थों का सेवन न करें।
  • एसिडिक फलों का सेवन करने से बचें।
  • जरूरत से ज्यादा गर्म या ठंडा न खाएं और न पिएं।
  • ज्यादा कठोर खाद्य पदार्थों का सेवन न करें।

नोट : इसके अलावा, अगर दर्द ज्यादा हो, तो डॉक्टरी सलाह के साथ-साथ डॉक्टर से डाइट चार्ट के बारे में परामर्श लेकर, उस अनुसार डाइट अपनाएं।

आगे पढ़ें

अब जानते हैं, दांत दर्द में डॉक्टरी सलाह कब लेनी जरूरी है।

दांत दर्द के लिए डॉक्टर की सलाह कब लेनी चाहिए?

नीचे पढ़ें दांत दर्द के लिए डॉक्टर की सलाह कब लेनी चाहिए (1) (2)।

  • अगर दांत दर्द बहुत अधिक है।
  • दर्द अगर एक या दो दिन से ज्यादा रहे।
  • अगर दांत दर्द के साथ बुखार, कान में दर्द या मुंह खोलने से दर्द हो।
  • अगर दांत दर्द के साथ सांस लेने में परेशानी हो।
  • अगर कुछ खाने या निगलने में परेशानी हो।
  • चेहरे पर सूजन हो।
  • स्वाद में बदलाव महसूस हो।

पढ़ते रहें

लेख के इस भाग में जानेंगे कि दांत दर्द से बचाव किस प्रकार किया जा सकता है।

दांत दर्द से बचाव – Prevention Tips for Toothache in Hindi

नीचे जानिए दांत दर्द से बचाव के टिप्स –

  • मुंह की सफाई का ध्यान रखें।
  • तंबाकू का सेवन न करें।
  • कम शुगर वाली डाइट लें (1) (2)।
  • दिनभर में दो बार ब्रश करें। इससे कैविटी का जोखिम कम हो सकता है और दांत दर्द से बचाव हो सकता है (44)।
  • स्नैक्स कम खाएं (44)।
  • चीनी वाले पेय पदार्थों का सेवन न करें (44)।
  • धूम्रपान न करें (1)।
  • फ्लोराइड युक्त टूथपेस्ट का उपयोग कर सकते हैं, फ्लोराइड दांतों को मजबूत बना सकता है (1) (47)।
  • फाइबर युक्त फल और सब्जियों का सेवन करें (48)।
  • चीज़, दूध, दही जैसे डेरी प्रोडक्ट्स का सेवन कर सकते हैं (48)।
  • स्वस्थ और पौष्टिक आहार का सेवन करें (1)।
  • फ्लॉसिंग करें (Flossing – दांत साफ करने के धागे से दांत साफ करें (12)।
  • बीच-बीच में डेंटल चेकअप करवाएं (12)।

दांत का दर्द काफी तकलीफ देता है, लेकिन पहले से ही कुछ सावधानियां बरतने से इस समस्या से बचा जा सकता है। अगर फिर भी कोई दांत दर्द से परेशान है, तो ऊपर बताए गए दांत दर्द के घरेलू उपाय अपनाए जा सकते हैं। हल्के-फुल्के दांत दर्द से राहत पाने के लिए दांतों में दर्द के उपाय काम आ सकते हैं और दाँत दर्द की दवा की जरूरत शायद न पड़े। वहीं, अगर दांत दर्द की समस्या ज्यादा बढ़ जाए, तो तुरंत डॉक्टर से संपर्क करें क्योंकि यह किसी संक्रमण या अन्य बीमारी का लक्षण हो सकता है। उम्मीद है कि इस लेख में बताए गए दांत दर्द के घरेलू उपचार उपयोगी साबित होंगे।

अक्सर पूछे जाने वाले सवाल

अगर मेरे दांतों से खून आने लगे, तो मैं क्या करूं?

आमतौर पर यह दांतों की नहीं, बल्कि मसूड़ों की समस्या हो सकती है। ध्यान दें कि कहीं जोर से ब्रश तो नहीं कर रहे हैं। इसके अलावा, राहत पाने के लिए एक कपड़े को पानी में भिगोएं और प्रभावित क्षेत्र पर लगाएं। इससे कुछ देर में ब्लीडिंग से राहत मिल सकती है। अगर फिर भी ब्लीडिंग बंद न हो, तो बेहतर होगा कि तुरंत दांत के डॉक्टर से चेकअप कराएं।

दांत दर्द होने पर क्या न करें?

अगर दांत दर्द हो, तो इन बातों का ध्यान रखें (1) (44) –
● ज्यादा चीनी वाले खाद्य पदार्थ न खाएं। इससे दांतों में बैक्टीरिया पैदा हो सकते हैं, जो दर्द का कारण बन सकते हैं।
● ज्यादा ठंडी या ज्यादा गर्म चीज न खाएं।
● दांतों या मसूड़ों पर दर्द निवारक क्रीम न लगाएं। इसमें मौजूद केमिकल नुकसान पहुंचा सकते हैं।

दांतों में दर्द होना कब इमरजेंसी बन सकता है?

अगर दांत दर्द के साथ नीचे बताए गए लक्षण नजर आएं, तो देर न करते हुए डॉक्टर के पास जाना चाहिए (1) (2) :

● अगर दर्द तीव्र हो
● दर्द एक या दो दिन से ज्यादा रह जाए।
● मसूड़ों और जबड़ों में सूजन।
● सीने में भी दर्द होने लगे।
● सांस लेने में तकलीफ होने लगे।
● खांसते समय खून आने लगे।
● अगर बुखार आए।

क्या दांत दर्द के कारण कान में दर्द होता है?

हां, दांत दर्द के कारण कान में भी दर्द हो सकता है। अगर ऊपरी जबड़े में दर्द हो। ऐसे में नस दांत के दर्द को कान तक ले जाती है। इसके साथ ही दांत में संक्रमण भी कान दर्द का कारण हो सकता है (49) (2)।

क्या दांत दर्द के कारण बुखार आ सकता है?

हां, दांत के दर्द से बुखार भी आ सकता है। यह ज्यादातर तब होता है, जब इन्फेक्शन के कारण दांत में दर्द होता है (2)। अगर दांत दर्द के कारण बुखार आए, तो इसे अनदेखा न करते हुए डॉक्टर से संपर्क करना चाहिए।

क्या कैविटी के कारण दांत दर्द हो सकता है?

हां, कैविटी के कारण भी दांत में दर्द हो सकता है। खासतौर पर कुछ मीठा, ठंडा या गर्म खाने से दांत में तेज दर्द होने लगता है (44)।

Sources

Articles on StyleCraze are backed by verified information from peer-reviewed and academic research papers, reputed organizations, research institutions, and medical associations to ensure accuracy and relevance. Read our editorial policy to learn more.

    1. Toothache And Swelling
      https://www.healthdirect.gov.au/toothache-and-swelling
    2. Toothaches
      https://medlineplus.gov/ency/article/003067.htm
    3. Wisdom Teeth
      https://www.betterhealth.vic.gov.au/health/conditionsandtreatments/wisdom-teeth#:~:text=Wisdom%20teeth%20can%20cause%20various,difficulty%20chewing%20and%20bad%20breath.
    4. Multimodal management of dental pain with focus on alternative medicine: A novel herbal dental gel
      https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC4906852/
    5. Clove
      https://medlineplus.gov/druginfo/natural/251.html
    6. In Vitro Inhibitory Effect of Clove Essential Oil and Its Two Active Principles on Tooth Decalcification by Apple Juice
      https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC3432374/
    7. Comparison of anti-inflammatory and analgesic effects of Ginger powder and Ibuprofen in postsurgical pain model: A randomized, double-blind, case–control clinical trial
      https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC5356382/
    8. Ferula asafoetida: Traditional uses and pharmacological activity
      https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC3459456/
    9. Biological activities and medicinal properties of Asafoetida: A review
      https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC5506628/
    10. Antibacterial activity of Ferula asafoetida: a comparison of red and white type
      https://jabonline.in/admin/php/uploads/65_pdf.pdf
    11. Tooth Decay
      https://medlineplus.gov/toothdecay.html#:~:text=It%20happens%20when%20bacteria%20in,infection%2C%20and%20even%20tooth%20loss.
    12. Asafoetida (Heeng): The Well Known MedicinalCondiment of India & Iran
      http://oaji.net/articles/2014/215-1397880645.pdf
    13. Teeth and mouth care
      https://www.betterhealth.vic.gov.au/health/conditionsandtreatments/teeth-care
    14. Anti-bacterial Action of Onion (Allium Cepa L.) Extracts Against Oral Pathogenic Bacteria
      https://pubmed.ncbi.nlm.nih.gov/9354029/
    15. Ethnomedicinal Plants Used by Traditional Healers to Treat Oral Health Problems in Cameroon
      https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC4606091/
    16. Garlic: a review of potential therapeutic effects
      https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC4103721/
    17. Garlic Allicin as a Potential Agent for Controlling Oral Pathogens
      https://pubmed.ncbi.nlm.nih.gov/21548800/
    18. Efficacy of garlic extract and chlorhexidine mouthwash in reduction of oral salivary microorganisms, an in vitro study
      https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC4389398/
    19. Garlic Burn of the Oral Mucosa: A Case Report and Review of Self-Treatment Chemical Burns
      https://pubmed.ncbi.nlm.nih.gov/28390650/
    20. Inhibitory Activity of Garlic (Allium Sativum) Extract on Multidrug-Resistant Streptococcus Mutans
      https://pubmed.ncbi.nlm.nih.gov/18007101/
    21. Tooth abscess
      https://medlineplus.gov/ency/article/001060.htm
    22. Psidium guajava: A review on its potential as an adjunct in treating periodontal disease
      https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC4127827/
    23. Psidium guajava: A Single Plant for Multiple Health Problems of Rural Indian Population
      https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC5628524/
    24. Nigella sativa and its active constituent thymoquinone in oral health
      https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC4800885/
    25. Nigella sativa L. (Black Cumin): A Promising Natural Remedy for Wide Range of Illnesses
      https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC6535880/
    26. Review on Clinical Trials of Black Seed (Nigella sativa ) and Its Active Constituent, Thymoquinone
      https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC5633670/
    27. Sodium Bicarbonate: A Review and Its Uses in Dentistry
      https://pubmed.ncbi.nlm.nih.gov/30409952/
    28. The Use of Sodium Bicarbonate in Oral Hygiene Products and Practice
      https://pubmed.ncbi.nlm.nih.gov/12017930/
    29. Dental erosion
      https://www.betterhealth.vic.gov.au/health/conditionsandtreatments/dental-erosion
    30. Oral Health Self-Care Behaviors of Rural Older Adults
      https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC2784128/
    31. Oil pulling for maintaining oral hygiene – A review
      https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC5198813/
    32. Oil pulling and importance of traditional medicine in oral health maintenance
      https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC5654187/
    33. Comparative Evaluation of Antiplaque Efficacy of Coconut Oil Pulling and a Placebo, Among Dental College Students: A Randomized Controlled Trial
      https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC5713846/
    34. Effect of coconut oil in plaque related gingivitis — A preliminary report
      https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC4382606/
    35. Tooth brushing, oil pulling and tissue regeneration: A review of holistic approaches to oral health
      https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC3131773/
    36. Cinnamon: A Multifaceted Medicinal Plant
      https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC4003790/
    37. Effect of cinnamon extract solution on human tooth enamel surface roughness
      https://iopscience.iop.org/article/10.1088/1742-6596/1073/3/032022/pdf
    38. Anti-Bacterial Activity of Cinnamon Oil on Oral Pathogens
      https://pdfs.semanticscholar.org/71aa/13a2ed47be9b46c4b31cdcc3ff9016dcb70d.pdf
    39. Comparative Study of Cinnamon Oil and Clove Oil on Some Oral Microbiota
      https://pubmed.ncbi.nlm.nih.gov/22783715/
    40. Medicinal and cosmetic uses of Bee’s Honey – A review
      https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC3611628/
    41. Oregano
      https://medlineplus.gov/druginfo/natural/644.html
    42. Antimicrobial efficacy of five essential oils against oral pathogens: An in vitro study
      https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC4054083/
    43. Essential oils, their therapeutic properties, and implication in dentistry: A review
      https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC4606594/
    44. Therapeutic Uses of Peppermint –A Review
      https://www.jpsr.pharmainfo.in/Documents/Volumes/vol7Issue07/jpsr07071524.pdf
    45. Dental Cavities
      https://medlineplus.gov/ency/article/001055.htm
    46. Tooth Decay
      https://medlineplus.gov/toothdecay.html
    47. Taking care of your teeth and mouth
      https://www.nia.nih.gov/health/taking-care-your-teeth-and-mouth
    48. Teeth and medication
      https://www.betterhealth.vic.gov.au/health/ConditionsAndTreatments/Teeth-and-medication
    49. The Best and Worst Foods for Your Teeth
      https://www.urmc.rochester.edu/encyclopedia/content.aspx?ContentTypeID=1&ContentID=4062
    50. Earache
      https://medlineplus.gov/ency/article/003046.htm
Was this article helpful?
The following two tabs change content below.
अर्पिता ने पटना विश्वविद्यालय से मास कम्यूनिकेशन में स्नातक किया है। इन्होंने 2014 से अपने लेखन करियर की शुरुआत की थी। इनके अभी तक 1000 से भी ज्यादा आर्टिकल पब्लिश हो चुके हैं। अर्पिता को विभिन्न विषयों पर लिखना पसंद है, लेकिन उनकी विशेष रूचि हेल्थ और घरेलू उपचारों पर लिखना है। उन्हें अपने काम के साथ एक्सपेरिमेंट करना और मल्टी-टास्किंग काम करना पसंद है। इन्हें लेखन के अलावा डांसिंग का भी शौक है। इन्हें खाली समय में मूवी व कार्टून देखना और गाने सुनना पसंद है।

ताज़े आलेख