दांतोंं से टार्टर और प्लाक हटाने के 15 सबसे कारगर घरेलू उपाय – Home Remedies To Remove Tartar And Plaque From Teeth in Hindi

by

अनियंत्रित जीवनशैली का शिकार हमारे दांत भी हो रहे हैं। अब तो दांतों की समस्या हर उम्र के लोगों में देखी जा सकती है। बैक्टीरिया के संपर्क में आने से दांतों में कई तरह की समस्याएं हो सकती हैं, जिसमें टार्टर और प्लाक भी शामिल है। प्लाक दांतों पर चढ़ी बैक्टीरिया युक्त एक चिपचिपी परत होती है। वहीं, मसूड़ों के ऊपर-नीचे विकसित होने वाली बैक्टीरियल परत को टार्टर कहते हैं। इससे मसूड़ों की बीमारी होने का डर बना रहता है।

विषय सूची


ओरल हेल्थ को बरकरार रखने के लिए रोजाना दांतों की सफाई, फ्लॉसिंग व नियमित दांतों की जांच बेहद जरूरी है। प्लाक और टार्टर को नंजरअंदाज करना आपके दांतों के लिए नुकसानदायक हो सकता है। इस लेख में हमारे साथ जानिए प्लाक-टार्टर से छुटकारा पाने के सबसे कारगर घरेलू उपायों के बारे में।

टार्टर और प्लाक को दूर करने के घरेलू उपाय – Home Remedies For Tartar and Plaque Removal in Hindi

1. दांतों की नियमित सफाई

Shutterstock

टार्टर और प्लाक से मुक्त रहने के लिए भोजन के बाद दांतों की अच्छी तरह सफाई बेहद जरूरी है। ब्रश करने के लिए हमेशा नरम ब्रिसल वाले टूथब्रश का उपयोग करें। दांतों की सतह और सभी कोनों पर अच्छी तरह ब्रश घूमाएं, जिससे कि दांतों में गंदगी लगी न रह जाए। याद रखें कि ब्रश को हमेशा 45 डिग्री के कोण पर मसूड़ों पर रखें।

2. फ्लोराइड टूथपेस्ट का उपयोग करें

ओरल स्वास्थ्य के लिए आप फ्लोराइड टूथपेस्ट का इस्तेमाल करें। यह टूथपेस्ट दांतों में फ्लोराइड की उपस्थिति को बढ़ाता है और उन्हें मजबूत बनाकर कैवीटी से निजात दिलाने में मदद करता है। यह दांतों को जड़ से मजबूत बनाता है, जिससे अम्लीय खाद्य पदार्थ और पेय के सेवन से भी दांत ज्यादा प्रभावित नहीं होते हैं। फ्लोराइड टूथपेस्ट का उपयोग खराब हो रही जगह को फिर से भरने और टार्टर को विकसित करने वाले बैक्टीरिया से बचने के लिए कर सकते हैं (1)।

3. टार्टर कंट्रोल टूथपेस्ट का उपयोग करें

दांतों से प्लाक और टार्टर को हटाने के लिए टार्टर कंट्रोल टूथपेस्ट का इस्तेमाल बेहद फायदेमंद होता है। इस तरह के टूथपेस्ट में कई रासायनिक तत्व होते हैं, जैसे कि पायरोफॉस्फेट, जिंक सिट्रेट व फ्लोराइड आदि। ये तत्व दांतों पर टार्टर को विकसित होने से रोकते हैं (2)। कुछ टार्टर कंट्रोल टूथपेस्ट में ट्राइक्लोसन नामक एंटीबायोटिक भी पाया जाता है, जो मुंह में पनपने वाले बैक्टीरिया से लड़ने में अहम भूमिका निभाता है (3)।

4. बेकिंग सोडा मिश्रण से दांत साफ करें

Shutterstock

सामग्री :
  • एक बड़ा चम्मच बेकिंग सोडा
  • एक चुटकी नमक
  • टूथब्रश
कैसे करें इस्तेमाल :
  • बेकिंग सोडा और नमक को मिलाएं।
  • इस मिश्रण को गीले टूथब्रश पर रखें।
  • अब धीरे-धीरे दांतों पर रगड़ें।
  • अब गुनगुने पानी से कुल्ला करें।
कितनी बार करें :

जल्द परिणाम के लिए हर दूसरे दिन इस प्रक्रिया को दोहराएं। प्लाक के साफ होने के बाद आप हफ्ते में एक बार इस प्रक्रिया को दोहरा सकते हैं।

5. एलोवेरा जेल और ग्लिसरीन स्क्रब का उपयोग

Shutterstock

सामग्री :
  • एक चम्मच एलोवेरा जेल
  • चार चम्मच वेजिटेबल ग्लिसरीन
  • चार-पांच बड़े चम्मच बेकिंग सोडा
  • लेमन एसेंशियल ऑयल की 10 बूंदें
  • एक कप पानी
कैसे करें इस्तेमाल :
  • सभी सामग्रियों को आपस में मिलाकर पेस्ट का निर्माण करें।
  • अब इस मिश्रण की कुछ मात्रा लें और दांतों पर रगड़ें।
  • इसके बाद अच्छी तरह कुल्ला कर लें।
कितनी बार करें :

इस प्रक्रिया को राजाना दोहराएं, जब तक कि दांतों पर लगा प्लाक खत्म न हो जाए।

कैसे है लाभदायक :

बेकिंग सोडा के साथ-साथ एलोवेरा जेल भी एंटीमाइक्रोबियल गुण से समृद्ध होता है। एलोवेरा में एंटीऑक्सीडेंट गुण भी पाए जाते हैं, जो बैक्टीरिया द्वारा उत्पन्न होने वाले मुक्त कणों को हटाकर दांत और मसूड़ों की सुरक्षित रखता है (7)। लेमन एसेंशियल ऑयल एक कारगर एंटीमाइक्रोबियल एजेंट है, जो दांतों में प्लाक और टार्टर पैदा करने वाले बैक्टीरिया से छुटकारा दिलाने का काम करता है (8)।

सावधानी :

यह उपाय लंबे समय तक न करें, क्योंकि ग्लिसरीन आपके दांतों की रिमिनिरलाइजेशन प्रक्रिया को बाधित कर सकता है।

6. फलों और सब्जियों को चबाना

दांतों से प्लाक और टार्टर हटाने के लिए सेब, खरबूजा, गाजर और सेलेरी को चबाना भी एक कारगर विकल्प है। दांतों को प्राकृतिक रूप से साफ करने के लिए आप भोजन के एक घंटे बाद इन फलों को चबा-चबाकर खा सकते हैं। ऐसा करने से न सिर्फ दांतों के प्लाक और टार्टर से छुटकारा मिलेगा, बल्कि मसूड़े भी मजबूत होंगे।

7. शीशम के बीज चबाएं

Shutterstock

सामग्री :
  • एक बड़ा चम्मच तिल
  • टूथब्रश
कैसे करें इस्तेमाल :
  • बीजों को चबाएं, लेकिन उन्हें निगले नहीं।
  • चबाने के बाद बिजों को मुंह में ही रहने दें और सूखे टूथब्रश से ब्रश कर लें।
कितनी बार करें :
  • हफ्ते में दो बार प्रक्रिया दोहराएं।
कैसे है लाभदायक :

ये बीज एक प्राकृतिक स्क्रब की तरह काम करते हैं। बिज दांतों को साफ व पॉलिश करते हैं और प्लाक व टार्टर को हटाने में मदद करते हैं।

8. करें अंजीर का सेवन

Shutterstock

सामग्री :
  • दो-तीन अंजीर
कैसे करें इस्तेमाल :
  • अंजीर को धीरे-धीरे चबाकर खाएं।
कितनी बार करें :
  • रोजाना भोजन के बाद अंजीर का सेवन करें।
कैसे है लाभदायक :

अंजीर का सेवन दांतों की सफाई और मसूड़ों को मजबूत बनाने का कारगर तरीका है। यह प्रक्रिया लार ग्रंथियों को उत्तेजित करती है और लार के स्राव को बढ़ाती है। अंजीर दांतों को साफ करने और प्लाक व टार्टर को हटाने में मदद करती है।

9. इलेक्ट्रिक टूथब्रश का इस्तेमाल करें

कई दंत चिकित्सक दांतों को ब्रश करने के लिए इलेक्ट्रिक टूथब्रश का इस्तेमाल करने की सलाह देते हैं, क्योंकि आम (मैनुअल) टूथब्रश की तुलना यह ज्यादा बेहतर होता है। यह टूथब्रश दांतों से टार्टर व प्लाक हटाने और दांतों को साफ व चमकदार करने में ज्यादा मदद करता है।

10. नियमित रूप से फ्लॉस करें

दांतों के बीच प्लाक और बारीक भोजन कणों को हटाने के लिए फ्लॉसिंग एक कारगर तरीका है। रोज गरारे करने के बाद दांतों को फ्लॉस करने से टार्टर का निर्माण रुक जाता है, जिससे मुंह की स्वच्छता बनी रहती है। फ्लॉस न केवल दांतों के बीच, बल्कि मसूड़ों के बीच भी सफाई करता है। इसलिए, दांत टूटने व मसूड़ों के रोगों से बचने के लिए इसका प्रयोग किया जा सकता है।

11. एंटीसेप्टिक ओरल क्लींजर या पेरोक्साइड सॉल्यूशन से गरारे

Shutterstock

सामग्री :
  • एक बड़ा चम्मच एंटीसेप्टिक माउथवॉश
  • तीन बड़े चम्मच 3% हाइड्रोजन पेरोक्साइड सॉल्यूशन
कैसे करें इस्तेमाल :
  • इन दोनों सामग्रियों को मिला लें और एक या दो मिनट तक इस मिश्रण से गरारे करें।
  • अब साफ पानी से गरारे करें।
कितनी बार करें :
  • इस प्रक्रिया को सप्ताह में दो बार दोहराएं।
कैसे है लाभदायक :

एंटीसेप्टिक ओरल क्लींजर और पेरोक्साइड सॉल्यूशन दोनों एंटी एंटीमाइक्रोबियल प्रकृति के होते हैं। मुंह से प्लॉक और टार्टर हटाने के लिए आप इन दोनों का इस्तेमाल कर सकते हैं (10),(11)।

12. डेंटल पिक का इस्तेमाल करें

दांतों से प्लाक और टार्टर हटाने के लिए आप डेंटल पिक का इस्तेमाल कर सकते हैं। यह आपको आसानी से मेडिकल की दुकान से मिल जाएगा । मैग्नीफाई ग्लास की मदद से टार्टर का पता लगाएं और डेंटल पिक से साफ करें। टार्टर को थूक दें और पानी से कुल्ला कर लें।

सावधान :

डेंटल पिक से टार्टर की सफाई ध्यान से करें, क्योंकि डेंटल पिक के मसूड़ों की गहराई में जाने से संक्रमण का खतरा हो सकता है।

13. तीखा भोजन खाएं

दांतों से प्लाक और टार्टर हटाने के लिए तीखा भोजन करना भी एक विकल्प साबित हो सकता है। मसालेदार खाद्य पदार्थ मुंह में लार के स्राव को बढ़ाते हैं। मुंह में उत्पन्न अतिरिक्त लार दांतों और मसूड़ों को साफ करने में मदद करता है।

14. सैंगुनेरिया का रस ( ब्लड रूट)

सामग्री :
  • सैंगुनेरिया रस की तीन-चार बूंदें
  • एक कप गुनगुना पानी
कैसे करें इस्तेमाल :
  • गुनगुने पानी में सैंगुनेरिया के रस को मिलाएं।
  • अब इस मिश्रण से गरारे करें।
कितनी बार करें :
  • इस माउथवॉश का इस्तेमाल दिन में दो बार करें।
कैसे है लाभदायक :

टूथपेस्ट में ब्लडरूट एक सामान्य तत्व है, क्योंकि कारगर एंटीमाइक्रोबियल एजेंट की तरह काम करता है। इसका उपयोग सुरक्षित भी माना गया है। यह दांत के प्लाक व टार्टर के साथ मसूड़े की सूजन को भी कम करने का काम करता है (12)।

15. ऑयल पुलिंग

Shutterstock

सामग्री :
  • नारियल (वर्जिन) तेल की एक-दो बूंदें
कैसे करें इस्तेमाल :
  • तेल को मुंह में 10-15 मिनट तक घुमाएं।
  • अब तेल को थूक दें और गुनगुने पानी से कुल्ला कर लें।
कितनी बार करें :
  • इस प्रक्रिया को दिन में दो बार दोहराएं।
कैसे है लाभदायक :

ऑयल पुलिंग को ऑयल स्विशिंग के रूप में भी जाना जाता है। दांतों के प्लाक और टार्टर से छुटकारा पाने के लिए इस विधि को प्रयोग में लाया जा सकता है। ऑयल पुलिंग प्लाक और इसी प्रकार के संक्रमण से निजात दिलाता है। साथ ही यह मुंह की गंदगी को बाहर कर देता है। नारियल का तेल एंटीमाइक्रोबियल गुण से समृद्ध होता है, जो ओरल हेल्थ को बढ़ावा देता है (13)।

दांतों में टार्टर विकसित होने पर उसे हटाना और रोकना मुश्किल हो जाता है। इस लेख में बताए गए उपायों के परिणाम में थोड़ा समय लग सकता है, इसलिए धैर्य बनाए रखना जरूरी है। इसके अलावा, यह भी जरूरी हो जाता है कि दांतों का टार्टर या प्लाक मुंह की किसी अन्य समस्या का कारण न बने। अगर टार्टर का सही समय पर उपचार न किया जाए, तो यह दांतों में सड़न पैदा कर सकता है और दांत टूट भी सकते हैं। टार्टर और प्लाक से निजात पाने के लिए कुछ अन्य सुझाव नीचे दिए जा रहे हैं, जिनका आप पालन कर सकते हैं।

टार्टर से बचने के अन्य टिप्स – More Tips To Prevent Tartar in Hindi

  • दांत की सफाई और जांच के लिए दंत चिकित्सक से नियमित रूप से मिलें।
  • इनेमल को सुरक्षित रखने और दांतों से प्लेक को आसानी से हटाने के लिए नरम ब्रिसल वाले टूथब्रश का इस्तेमाल करें।
  • धूम्रपान से बचें, क्योंकि तंबाकू मसूड़ों के नीचे टार्टर के निर्माण के लिए जिम्मेदार होता है।
  • मुंह में बैक्टीरिया के विकास को बढ़ावा देने वाले स्टार्च और शर्करा युक्त खाद्य पदार्थ खाने से बचें। जंक फूड्स से दूरी बनाए रखें।
  • प्रत्येक भोजन के बाद पर्याप्त मात्रा में पानी पीना और मुंह धोना चाहिए, ताकि मुंह में रह गए बारीक खाद्य कणों को साफ किया जा सके।
  • भोजन के बाद तरबूज या सेब खाएं, क्योंकि ये प्राकृतिक रूप से दांतों को साफ करने और मसूड़ों को स्वस्थ रखने में मदद करते हैं।
  • विटामिन-सी से भरपूर फलों का सेवन करें, क्योंकि ये आपके संपूर्ण स्वास्थ्य के साथ-साथ दंत स्वास्थ्य में भी सुधार करते हैं।

अक्सर पूछे जाने वाले सवाल

टार्टर को हानिकारक क्यों माना जाता है?

यदि टार्टर को समय रहते हटाया नहीं गया, तो यह दांत और मसूड़ों पर जमता रहता है और बाद में सख्त हो जाता है। फिर यह हानिकारक बैक्टीरिया के लिए प्रजनन क्षेत्र बन जाता है। टार्टर दांतों और मसूड़ों को नुकसान पहुंचाता है, जिससे मसूड़े की सूजन, इनेमल डैमेज व मसूड़ों की बीमारियां जैसी गंभीर बीमारियां हो सकती हैं। गंभीर मामलों में टार्टर बोन हेल्थ को भी प्रभावित कर सकता है। यहां तक कि कई मामलों में हृदय रोग का कारण भी बन सकता है।

दांतों पर टार्टर का निर्माण क्यों होता है?

बैक्टीरिया जमने से दांतों पर प्लाक बनने लगते हैं। अगर दांतों से प्लाक को साफ न किया जाए, तो यह सख्त होकर टार्टर बन जाता है। स्टार्च और शर्करा वाले भोजन का सेवन करने से टार्टर के निर्माण की आशंका बढ़ जाती है।

टार्टर को दांतों पर बनने में कितना समय लगता है?

प्लाक से टार्टर बनने में लगभग 12 दिन लग सकते हैं।

प्लाक और टार्टर के बीच क्या अंतर है?

प्लाक, मसूड़ों पर जमने वाली एक नरम और रंगहीन परत है, जिसके अंदर बैक्टीरिया बायोफिल्म का प्रजनन कार्य शुरू करते हैं। दैनिक ओरल केयर से इससे निजात पाया जा सकता है। जब प्लाक को नियमित रूप से साफ नहीं किया जाता है, तो दांतों और मसूड़ों के चारों ओर एक कठोर पीले रंग का पदार्थ बनने लगता है। प्लाक हटाने की तुलना में इस कठोर पीले पदार्थ को हटाना मुश्किल हो जाता है।
इस लेख को पढ़ने के बाद अब आप प्लाक और टार्टर को साफ करने के तरीकों के बारे में जान गए होंगे। अगर आप भी दांतों की इस समस्या से ग्रसित हैं, तो प्रतिक्षा न करें, आज से ही इन उपायों को करना शुरू कर दें। लेख में बताए गए सभी उपचार बहुत ही कारगर हैं, जो आपको जल्द राहत देने का काम करेंगे। हालांकि, यह ध्यान रखना जरूरी है कि टार्टर कठोर होते हैं और इन्हें हटाने में समय भी लग सकता है। प्लाक और टार्टर से बचने के लिए आप अपने ओरल हेल्थ पर पूरा ध्यान दें। यह लेख आपको कैसा लगा हमें कमेंट बॉक्स में बताए। अन्य जानकारी के लिए आप कमेंट बॉक्स में सवाल पूछ सकते हैं।

Was this article helpful?
The following two tabs change content below.

Nripendra Balmiki

नृपेंद्र बाल्मीकि एक युवा लेखक और पत्रकार हैं, जिन्होंने उत्तराखंड से पत्रकारिता एवं जनसंचार में स्नातकोत्तर (एमए) की डिग्री प्राप्त की है। नृपेंद्र विभिन्न विषयों पर लिखना पसंद करते हैं, खासकर स्वास्थ्य संबंधी विषयों पर इनकी पकड़ अच्छी है। नृपेंद्र एक कवि भी हैं और कई बड़े मंचों पर कविता पाठ कर चुके हैं। कविताओं के लिए इन्हें हैदराबाद के एक प्रतिष्ठित मीडिया संस्थान द्वारा सम्मानित भी किया जा चुका है।

ताज़े आलेख

scorecardresearch