दही के फायदे, उपयोग और नुकसान – Yogurt (Dahi) Benefits, Uses and Side Effects in Hindi

Medically reviewed by Neha Srivastava (Nutritionist), Nutritionist
Written by

विशेष स्वाद के कारण दही को लोग कई तरह से खाने के लिए उपयोग में लाते हैं। वैसे क्या आप जानते हैं कि रोजमर्रा की जिंदगी में शामिल यह दही सेहत के साथ-साथ सौंदर्य के लिए कितना फायदेमंद है। मुमकिन है कि अधिकतर लोग दही की सभी खूबियों के बारे में नहीं जानते होंगे। यही कारण है कि स्टाइलक्रेज के इस लेख में हम आपको दही के फायदे के साथ दही के गुण भी बताएंगे, जो स्वास्थ्य संबंधी कई समस्याओं से राहत दिलाने में सहायक साबित हो सकते हैं। बेशक दही कई शारीरिक समस्याओं से राहत दिला सकता है, लेकिन इसे उनका उपचार नहीं कहा जा सकता। किसी भी बीमारी के पूर्ण इलाज के लिए डॉक्टरी सलाह अनिवार्य है।

तो आइए बिना इधर-उधर की बात किए सीधे दही के फायदे क्या हैं, इस विषय पर आ जाते हैं।

दही के फायदे – Benefits of Yogurt in Hindi

दही के फायदों की बात करें तो इसे पेट के लिए बेहद ही फायदेमंद माना गया है। एक ओर जहां यह पाचन संबंधी कुछ समस्याओं में राहत पहुंचा कर पाचन तंत्र को मजबूत करने का काम करता है, वहीं यह शरीर में कुछ जरूरी पोषक तत्वों की पूर्ति भी करता है। इतना ही नहीं, दही अन्य खाद्य पदार्थों से मिलने वाले पोषक तत्वों के अवशोषण में भी मदद करता है। इसके अलावा, यह डायबिटीज, फ्रैक्चर से बचाने और हृदय रोग से राहत दिलाने में भी सहायक साबित हो सकता है (1)। वहीं त्वचा और बालों से जुड़ी कुछ समस्याओं में भी दही के फायदे हासिल किए जा सकते हैं। इन समस्याओं में दही किस प्रकार मदद कर सकता है, इस बारे में नीचे विस्तार से बताया गया है।

तो दही के लाभ के क्रम में सबसे पहले हम सेहत के लिए दही खाने के फायदे के बारे में जान लेते हैं।

सेहत के लिए दही के फायदे – Health Benefits of Yogurt (Dahi) in Hindi

1. प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाए

शरीर की प्रतिरोधक क्षमता में सुधार करने और उसे बढ़ाने में दही कारगर साबित हो सकता है। दरअसल, दही के स्वास्थ्य संबंधी गुणों से जुड़े एनसीबीआई (National Center for Biotechnology Information) पर प्रकाशित ‘एडवांस इन न्यूट्रिशन ऐन इंटरनेशनल रिव्यू जर्नल’ के एक शोध में इस बात का जिक्र मिलता है। शोध में इस बात को माना गया है कि दही में शरीर को नुकसान पहुंचाने वाले बैक्टीरिया को नष्ट करने की क्षमता होती हैं। इन हानिकारक बैक्टीरिया को नष्ट कर दही शरीर की प्रतिरोधक क्षमता का न केवल बचाव कर सकता है, बल्कि उसे बढ़ाने में भी मदद कर सकता है (1)। इस तथ्य को देखते हुए यह माना जा सकता है कि शरीर की प्रतिरोधक क्षमता में सुधार के लिए दही खाने के फायदे हासिल किए जा सकते हैं। इसके अलावा दही में अच्छे बैक्टीरिया होते हैं जो कि बार बार होने वाले योनि संक्रमण से से बचाव् कर सकते हैं।

2. पाचन स्वास्थ्य के लिए लाभकारी

लेख में हम पहले ही बता चुके हैं कि दही को पेट के लिए काफी फायदेमंद माना जाता है। वहीं विशेषज्ञों के मुताबिक दही में कुछ प्रोबायोटिक्स (Probiotics) पाए जाते हैं। यानी कुछ ऐसे बैक्टीरिया जिन्हें स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद माना जाता है। यह प्रोबायोटिक्स लैक्टोज (शुगर का एक प्रकार) के पाचन में मदद करते हैं। साथ ही पाचन संबंधी अन्य समस्याओं को दूर कर पाचन स्वास्थ्य को बनाए रखने में मदद कर सकते हैं (1)। ऐसे में यह कहा जा सकता है कि पाचन को मजबूत करने में भी दही खाने के फायदे कुछ हद तक लाभकारी साबित हो सकते हैं। हालांकि, इस संबंध में अभी और शोध किए जाने की आवश्यकता है। वहीं, दही भारतीय भोजन का एक विशेष हिस्सा है, सदियों से हमारे यहां भोजन के साथ दही या छाछ का सेवन किया जाता है, ये भोजन के पाचन में सहायक होता है साथ ही पेट की गर्मी को शांत कर सकता है। इसके अलावा दस्त की समस्या (Diarrhea) होने पर दही चावल का सेवन तुरंत लाभ पहुंचा सकता है।वहीं, जिन्हें दूध युक्त खाद्य पदार्थों से ऐलर्जी है या जिन्हें दूध नहीं पसंद वे दही का सेवन कर सकते हैं।

3. वजन नियंत्रित करने में मददगार

दही खाने के फायदे में बढ़ते वजन का नियंत्रण भी शामिल है। यही कारण है की वजन को नियंत्रित करने की चाह रखने वाले व्यक्तियों के लिए भी दही का उपयोग लाभकारी सिद्ध हो सकता है। विशेषज्ञों के मुताबिक दही के सेवन से लम्बे समय तक भूख का एहसास नहीं होता, जिस कारण वजन को नियंत्रित रखने में मदद मिलती है। वहीं इसमें कुछ ऐसे बैक्टीरिया पाए जाते हैं, जो भोजन को पचाने में मदद करते हैं और खाद्य पदार्थों से मिलने वाली कैलोरी को नियंत्रित कर वजन को घटाने में सहायक साबित हो सकते हैं (2)। ऐसे में यह कहा जा सकता है कि दही के सेवन से काफी हद तक वजन को नियंत्रित करने में मदद मिल सकती है।

4. प्रोटीन का अच्छा स्रोत

दही खाने के लाभ में प्रोटीन की पूर्ति भी शामिल है। दरअसल, दही में अन्य पोषक तत्वों के साथ ही प्रोटीन की भी अच्छी मात्रा पाई जाती है (3)। यही वजह है कि दही का सेवन कर शरीर में प्रोटीन की पूर्ति की जा सकती है। साथ ही इससे होने वाले फायदों को भी हासिल किया जा सकता है। बता दें प्रोटीन युक्त खाद्य पदार्थों को बॉडी बिल्डिंग फूड की श्रेणी में रखा जाता है। प्रोटीन कोशिकाओं की मरम्मत करने के साथ ही नई कोशिकाओं के निर्माण में भी मदद करता है। यही कारण है कि इसे बच्चों, किशोरों और गर्भवती महिलाओं के लिए अतिआवश्यक माना जाता है (4)।

5. ऑस्टियोपोरोसिस

दही का उपयोग ऑस्टियोपोरोसिस (हड्डियों का कमजोर होना) जैसी समस्या में भी लाभकारी साबित हो सकता है। दरअसल, दही में कैल्शियम, पोटेशियम और मैग्नीशियम के साथ-साथ कुछ मात्रा में विटामिन डी भी मौजूद होता है। दही में मौजूद ये सभी तत्व बोन मिनरल डेंसिटी को बढ़ाकर हड्डियों को मजबूती प्रदान करने में मदद करते हैं। एनसीबीआई की वेबसाइट पर प्रकाशित दूध उत्पादों से संबंधित एक शोध भी इस बात की पुष्टि करता है (5)। ऐसे में यह कहना गलत नहीं होगा कि दही खाने के लाभ के तौर पर ऑस्टियोपोरोसिस की समस्या में भी सकारात्मक परिणाम देखने को मिल सकते हैं।

6. हृदय स्वास्थ्य के लिए लाभकारी

हृदय स्वास्थ्य के लिए भी दही खाने के लाभ सहायक साबित हो सकते हैं। दरअसल, बोस्टन मेडिकल यूनिवर्सिटी द्वारा दही से संबंधित एक शोध से यह प्रमाणित हुआ है कि हफ्ते में दो बार दही का सेवन करने वाले उच्च रक्तचाप से पीड़ित लोगों में सामान्य के मुकाबले हृदय संबंधी समस्याओं का जोखिम काफी कम रहता है (6)। इस तथ्य को देखते हुए यह माना जा सकता है कि दही के उपयोग से हृदय स्वास्थ्य को बनाए रखने में मदद मिल सकती है। फिलहाल, इस संबंध में अभी और शोध की आवश्यकता है।

स्वास्थ्य के लिए दही खाने के लाभ जानने के बाद अब हम त्वचा के लिए दही के लाभ से जुड़े तथ्यों पर बात करेंगे।

त्वचा के लिए दही के फायदे – Skin Benefits of Yogurt in Hindi

1. नमी को रखे बरकरार

सामग्री

  • चार चम्मच दही
  • एक चम्मच कोको पाउडर
  • एक चम्मच शहद

कैसे इस्तेमाल करें

  • दही, कोको पाउडर और शहद को एक कटोरी में डालकर अच्छे से मिला लें।
  • अब तैयार हुए पेस्ट को चेहरे पर लगाएं और करीब 30 मिनट के लिए ऐसे ही छोड़ दें।
  • समय पूरा होने के बाद ठंडे पाने से चेहरे को धो लें।

कैसे है लाभदायक

दही के लाभ में से एक त्वचा को मोइस्चराइज करना भी है। रिपब्लिक ऑफ कोरिया की स्किन साइंस लेबोरेटरी द्वारा किए गए एक शोध में जिक्र मिलता है कि दही से तैयार किए जाने वाले फेस मास्क में नमी को बरकरार रखने की क्षमता पाई जाती है। साथ ही यह त्वचा को मुलायम और चमकदार बनाए रखने में भी मदद कर सकता है (7)। ऐसे में यह कहा जा सकता है कि दही का चेहरे पर उपयोग त्वचा को मोइस्चराइज करने में सहायक साबित हो सकता है।

2. झुर्रियों और महीन रेखाओं को करे दूर

सामग्री

  • दो चम्मच दही
  • एक चम्मच ओट्स

कैसे इस्तेमाल करें

  • किसी बर्तन में दही और ओट्स डालकर पांच से दस मिनट के लिए रख दें।
  • कुछ देर रखने के बाद ओट्स खुद दही में घुलने लगेगा।
  • अब दोनों को अच्छे से मिलाकर पेस्ट तैयार कर लें।
  • अब तैयार पेस्ट को चेहरे पर लगाएं और करीब 15 मिनट तक हलके हाथों से चेहरे की मसाज करें।
  • अच्छे से मसाज हो जाने के बाद ठंडे पानी से चेहरे को धो लें।

कैसे है लाभदायक

चेहरे पर झुर्रियों और महीन रेखाओं से परेशान लोग भी दही के लाभ पाने के लिए इसे चेहरे पर लगा सकते हैं। विशेषज्ञों के मुताबिक दही प्राकृतिक तौर पर झुर्रियों और चेहरे पर दिखने वाली महीन रेखाओं को दूर करने में मदद कर सकता है। वहीं इसमें मौजूद लैक्टिक एसिड मृत त्वचा को हटाने और त्वचा पर मौजूद रोम छिद्रों में कसाव लाने में भी सहायक साबित हो सकता है (8)। ऐसे में यह कहा जा सकता है कि झुर्रियों की समस्या में चेहरे पर दही लगाने के फायदे हासिल किए जा सकते हैं।

3. मुंहासे से दिलाए छुटकारा

सामग्री

  • एक चम्मच दही
  • एक रूई का टुकड़ा

कैसे इस्तेमाल करें

  • रूई के टुकड़े को दही में डुबो कर प्रभावित क्षेत्र पर अच्छे से लगाएं।
  • अब इसे पूरी रात के लिए ऐसे ही छोड़ दें।
  • सुबह उठकर ठंडे पानी से चेहरे को धो डालें।

कैसे है लाभदायक

जैसा कि हमने लेख में पहले भी बता दिया है कि दही में लैक्टिक एसिड पाया जाता है और यह मृत त्वचा को हटा कर त्वचा पर मौजूद रोम छिद्रों में कसाव लाने का काम करता है। मृत त्वचा और रोम छिद्रों का फैलाव मुंहासों के मुख्य कारणों में शामिल है। ऐसे में मुंहासों की समस्या से राहत पाने के लिए दही का उपयोग सहायक माना जा सकता है (9)।

4. दाग-धब्बों को करे दूर

सामग्री

  • एक चम्मच दही
  • आधा चम्मच शहद

कैसे इस्तेमाल करें

  • एक कटोरी में शहद और दही डालकर अच्छे से मिलाएं।
  • अब तैयार हुए इस पेस्ट को चेहरे पर लगाएं और करीब 10 से 15 मिनट के लिए छोड़ दें।
  • समय पूरा होने के बाद चेहरे को पानी से साफ कर लें।

कैसे है लाभदायक

चेहरे पर दही लगाने के फायदे में दाग-धब्बों से छुटकारा भी शामिल है। दरअसल, दही में पाए जाने वाले लैक्टिक एसिड में ब्लीचिंग प्रभाव पाया जाता है। इस कारण दही मृत त्वचा को तो हटाता ही है, साथ ही चेहरे की रंगत में भी सुधार लाने का काम करता है (10)। इस कारण यह कहा जा सकता है कि दही में मौजूद ब्लीचिंग प्रभाव चेहरे पर नजर आने वाले दाग-धब्बों को दूर करने में भी कुछ हद तक मददगार सिद्ध हो सकता है। फिलहाल, इस विषय पर अभी और शोध की आवश्यकता है।

5. डार्क सर्कल को करे दूर

सामग्री

  • एक चम्मच दही
  • एक रूई का टुकड़ा

कैसे इस्तेमाल करें

  • रूई के टुकड़े को दही में डुबोएं और हल्के हाथों से डार्क सर्कल्स पर लगाएं।
  • 10 मिनट तक इसे ऐसे ही लगा रहने दें।
  • समय पूरा होने के बाद इसे पानी से धो डालें।

कैसे है लाभदायक

क्लिनिकल एंड एस्थेटिक डर्मेटोलॉजी के जर्नल में इस बात का जिक्र मिलता है कि डार्क सर्कल्स को मेडिकल टर्म में पेरिऑरबिटल हाइपरपिग्मेंटेशन (Periorbital hyperpigmentation) कहा जाता है। साथ ही इस बात का भी उल्लेख किया गया कि ब्लीचिंग इफेक्ट वाले तत्व इस समस्या से छुटकारा दिलाने के विकल्प के तौर पर इस्तेमाल किए जा सकते हैं (11)। वहीं लेख में हम आपको पहले ही बता चुके हैं कि दही में लैक्टिक एसिड की मौजूदगी के कारण इसमें ब्लीचिंग प्रभाव पाया जाता है (10)। ऐसे में यह माना जा सकता है कि डार्क सर्कल की समस्या से राहत पाने के लिए भी दही को उपयोग में लाया जा सकता है।

6. स्किन इन्फेक्शन में सहायक

सामग्री

  • एक चम्मच दही
  • एक पट्टी

कैसे इस्तेमाल करें

  • सबसे पहले दही को प्रभावित क्षेत्र पर लगाएं।
  • बाद में इसे पट्टी से लपेट लें।
  • बेहतर प्रभाव के लिए इस प्रक्रिया को दिन में करीब दो बार दोहराया जा सकता है।

कैसे है लाभदायक

कोरियन सोसाइटी ऑफ फूड साइंस एंड टेक्नोलॉजी एंड स्प्रिंगर द्वारा भैस के दूध से तैयार दही पर किए गए शोध में पाया गया कि इसमें एंटीऑक्सीडेंट गुण के साथ ही एंटीबैक्टीरियल प्रभाव भी पाया जाता है। वहीं शोध में इस बात का भी जिक्र मिलता है कि दही में मौजूद एंटीबैक्टीरियल प्रभाव स्यूडोमोनास एरुगिनोसा (Pseudomonas Aeruginosa) नाम के एक खास बैक्टीरिया के प्रभाव को कम करने में सक्षम है (12)। पेसेयूडोमोनस एरुगिनोसा नामक यह बैक्टीरिया त्वचा के संक्रमण का कारण बन सकता है (13)। ऐसे में यह माना जा सकता है कि दही त्वचा से संबंधित संक्रमण पैदा करने वाले बैक्टीरिया को नष्ट कर त्वचा को स्वस्थ बनाए रखने में मददगार साबित हो सकता है।

7. सनबर्न से दिलाए राहत

सामग्री

  • एक चम्मच दही

कैसे इस्तेमाल करें

  • दही को चेहरे पर लगाएं और करीब 10 से 15 मिनट तक हल्के हाथों से मसाज करें।
  • अच्छे से मसाज हो जाने के बाद चेहरे को ठंडे पानी से धो लें।

कैसे है लाभदायक

जैसा कि हम लेख में पहले भी बता चुके हैं कि दही मृत त्वचा को हटाने और त्वचा पर मौजूद दाग-धब्बों को हटा उसकी रंगत सुधारने में मदद कर सकता है। वहीं सनबर्न एक ऐसी समस्या है, जिसमें त्वचा की बाहरी परत सूर्य की अल्ट्रावायलेट प्रभाव के कारण झुलस जाती है और काली पड़ जाती है (14)। ऐसे में दही अपने ठंडे प्रभाव के कारण सनबर्न के कारण होने वाली त्वचा पर जलन व चुभन की समस्या को दूर करने के साथ ही सनबर्न के कारण मृत हुई त्वचा को हटाकर राहत पहुंचाने का काम कर सकता है (15)। ऐसे में यह माना जा सकता है कि दही सनबर्न की समस्या में भी लाभकारी परिणाम प्रदर्शित कर सकता है।

लेख के अगले भाग में अब हम आपको बालों के लिए दही के फायदे बताएंगे।

बालों के लिए दही के फायदे – Hair Benefits of Yogurt in Hindi

1. डैंड्रफ की समस्या में फायदेमंद

सामग्री

  • आधा कप दही

कैसे इस्तेमाल करें

  • दही से स्कैल्प की अच्छे से मसाज करें।
  • अब करीब 15 से 20 मिनट के लिए इसे ऐसे ही लगा रहने दें।
  • समय पूरा होने के बाद बालों को शैम्पू कर लें।

कैसे है लाभदायक

लेख में हमने आपको पहले भी बताया कि दही में एंटीबैक्टीरियल गुण पाया जाता है, जो त्वचा से संबंधित कई संक्रमण को दूर करने में मदद कर सकता है (12)। वहीं डैंड्रफ भी सिर की त्वचा (जिसे स्कैल्प कहते हैं) पर होने वाले संक्रमण का एक प्रभाव है (16)। ऐसे में दही का उपयोग स्कैल्प पर कंडीशनर की तरह काम कर खुजली की समस्या को दूर करने के साथ ही डैंड्रफ को दूर करने में भी मदद कर सकता है (15)। फिलहाल, इस विषय पर अभी और शोध की आवश्यकता है।

2. बालों को कंडीशन करे

सामग्री

  • चार चम्मच दही
  • दो चम्मच एलोवेरा जेल
  • दो चम्मच नारियल तेल

कैसे इस्तेमाल करें

  • एक बड़ी कटोरी में दही, एलोवेरा जेल और नारियल तेल को एक साथ लेकर अच्छे से मिला लें।
  • अब तैयार पेस्ट को अपने बालों पर लगाएं और स्कैल्प की हलके हाथों से मसाज करें।
  • अब इसे एक घंटे तक ऐसे ही लगा रहने दें।
  •  समय पूरा होने पर शैम्पू से बालों को धो डालें।

कैसे है लाभदायक

विशेषज्ञों के मुताबिक दही एक प्राकृतिक कंडीशनर की तरह काम करता है। साथ ही यह स्कैल्प की स्किन को साफ करने और उसे पुनर्जीवित करने में मदद कर सकता है (15)। ऐसे में यह माना जा सकता है कि दही लगाने के फायदे में बालों के लिए इसे एक कंडीशनर की तरह उपयोग में लाया जा सकता है। फिलहाल, इस विषय पर अभी और शोध की आवश्यकता है।

3. बालों का झड़ना रोके

सामग्री

  • आधा कप दही
  • तीन चम्मच मेथी पाउडर

कैसे इस्तेमाल करें

  • दही में मेथी पाउडर मिलाकर इसका पेस्ट बना लें।
  • अब इस पेस्ट को स्कैल्प और बालों पर अच्छे से लगाएं।
  • एक घंटे तक इसे ऐसे ही लगा रहने दें और समय पूरा होने पर शैम्पू से धो डालें।

कैसे है लाभदायक

जैसा कि हम लेख में पहले ही बता चुके हैं कि दही का उपयोग डैंड्रफ की समस्या से छुटकारा दिलाने में सहायक साबित हो सकता है (15)। साथ ही हमने आपको इस बात की भी जानकारी दी कि डैंड्रफ स्कैल्प से जुड़ी समस्या है। वहीं यह बाल झड़ने के मुख्य कारणों में भी शामिल है (16)। ऐसे में यह माना जा सकता है कि डैंड्रफ के कारण बाल झड़ने की समस्या को दूर करने में दही का इस्तेमाल फायदेमंद साबित हो सकता है।

दही के फायदे जानने के बाद अब हम आपको दही के पौष्टिक तत्वों से जुड़ी जानकारी देने जा रहे हैं।

दही का पौष्टिक तत्व – Yogurt (Dahi) Nutritional Value in Hindi

नीचे दिए गए चार्ट की सहायता से दही के पौष्टिक तत्वों से जुड़ी विस्तृत जानकारी हासिल की जा सकती है (3)।

पोषक तत्वयूनिटमात्रा प्रति 100 ग्राम
पानीg85.07
एनर्जीKcal63
प्रोटीनg5.25
टोटल लिपिड (फैट)g1.55
कार्बोहाइड्रेटg7.04
शुगरg7.04
मिनरल
कैल्शियमmg183
आयरनmg0.08
मैग्नीशियमmg17
फोस्फोरसmg144
पोटेशियमmg234
सोडियमmg70
जिंकmg0.89
कॉपरmg0.013
मैगनीजmg0.004
सेलेनियम  µg3.3
विटामिन
विटामिन सीmg0.8
थियामिनmg0.044
राइबोफ्लेविनmg0.214
नियासिनmg0.114
विटामिन बी-6mg0.049
फोलेट (डीएफई)µg11
विटामिन ए (आरएई)µg14
विटामिन ए (आईयू)IU51
विटामिन ईmg0.03
विटामिन केµg0.2
लिपिड
फैटी एसिड (सैचुरेटेड)g1
फैटी एसिड (मोनोअनसैचुरेटेड)g0.426
फैटी एसिड (पॉलीसैचुरेटेड)g0.044

पोषक तत्वों के बाद अब हम आपको दही के उपयोग के कुछ आसान तरीके बताएंगे।

दही का उपयोग – How to Use Yogurt (Dahi) in Hindi

दही के उपयोग की बात करें तो दिन में 6 से 8 आउंस यानी लगभग 1 कप तक दही का सेवन किया जा सकता है (17)। हालांकि, इस मात्रा में उम्र और व्यक्ति के स्वास्थ्य के अनुसार बदलाव हो सकते हैं। बेहतर है इस बारे में डॉक्टरी सलाह लें। आइए अब हम इसे उपयोग में लाने के आसान तरीकों जान लेते हैं (15)।

  • फलों के साथ दही का उपयोग डेजर्ट बनाने के लिए किया जा सकता है। डेजर्ट के रूप में इसे नाश्ते में खाया जा सकता है।
  • खाद्य सामग्रियों के साथ फ्लेवर और नमी के लिए इसे उपयोग में लाया जा सकता है।
  • पनीर की सब्जी बनाने में आप इसे प्रयोग में ला सकते हैं।
  • बिरयानी बनाने में आप इसे इस्तेमाल कर सकते हैं।
  • वहीं आप खाने के साथ इससे तैयार रायते को इस्तेमाल में ला सकते हैं।
  • आप इससे मीठी लस्सी बना सकते हैं।
  • छाछ बनाकर भी सेवन कर सकते हैं।
  • दही बड़ा, दही पापड़ी और कढ़ी भी बनाकर सेवन कर सकते हैं।

आइए अंत में अब हम दही के नुकसान के संबंध में भी बात कर लेते हैं।

दही के नुकसान – Side Effects of Yogurt in Hindi

कुछ विशेष परिस्थितियों में या अधिक सेवन के कारण दही के नुकसान देखने को मिल सकते हैं। आइए उन पर डालते हैं एक नजर।

  • सोडियम की मौजूदगी के कारण अधिक दही खाने के नुकसान हड्डियों के लिए नुकसानदायक हो सकते हैं (5)। वहीं, जिन्हें जोड़ों में दरद की शिकायत रहती है, वे लोग खट्टे और ठंडे दही के सेवन से बचें।
  • दही की तासीर ठंडी होती हैं, इसलिए इसे कमरे के सामान्य तापमान पर ही लेना चाहिए। वहीं ठंडे मौसम में रात के वक्त इसके सेवन से बचना चाहिए।

दही के गुण और उपयोग तो आप अब अच्छे से समझ गए होंगे। साथ ही इसमें मौजूद पोषक तत्वों से जुड़ी जानकारी भी आपको पता चल गई होगी। सेहत के लिए दही के फायदे के साथ-साथ त्वचा और बालों के लिए दही के इस्तेमाल के बारे में भी लेख में विस्तार से बताया गया है। ऐसे में अगर आप भी प्रभावित होकर दही को नियमित इस्तेमाल में लाना चाहते हैं तो पहले लेख में बताए गए इससे संबंधित सभी पहलुओं को अच्छे से जान लें। साथ ही आपको इस बात का भी ध्यान रखना होगा कि लेख में बताई गई समस्याओं में दही का उपयोग राहत तो दिला सकता है, लेकिन पूर्ण उपचार डॉक्टरी सलाह पर ही निर्भर करता है। ऐसे में किसी भी समस्या के इलाज के लिए डॉक्टर की सलाह लेना बिलकुल भी न भूलें।

Sources

Articles on StyleCraze are backed by verified information from peer-reviewed and academic research papers, reputed organizations, research institutions, and medical associations to ensure accuracy and relevance. Read our editorial policy to learn more.

  1. Potential Health Benefits of Combining Yogurt and Fruits Based on Their Probiotic and Prebiotic Properties
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC5227968/
  2. The Potential Role of Yogurt in Weight Management and Prevention of Type 2 Diabetes
    https://pubmed.ncbi.nlm.nih.gov/27332081/
  3. Yogurt, plain, low fat
    https://fdc.nal.usda.gov/fdc-app.html#/food-details/170886/nutrients
  4. Protein in diet
    https://medlineplus.gov/ency/article/002467.htm
  5. Milk and yogurt consumption are linked with higher bone mineral density but not with hip fracture: the Framingham Offspring Study
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC3641848/
  6. Regular Yogurt Intake and Risk of Cardiovascular Disease Among Hypertensive Adults
    https://pubmed.ncbi.nlm.nih.gov/29462263/
  7. Clinical efficacy of facial masks containing yoghurt and Opuntia humifusa Raf. (F-YOP)
    https://pubmed.ncbi.nlm.nih.gov/22152494/
  8. A Study of Cucumber
    https://www.academia.edu/35981686/A_Study_of_Cucumber
  9. how to clear acne overnight
    https://www.academia.edu/38972527/how_to_clear_acne_overnight
  10. How to Lighten Skin Naturally Top 10 Home Remedies
    https://www.academia.edu/35593364/How_to_Lighten_Skin_Naturally_Top_10_Home_Remedies
  11. Periorbital Hyperpigmentation: A Comprehensive Review
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC4756872/
  12. Antioxidant and antibacterial activities of bioactive peptides in buffalo’s yoghurt fermented with different starter cultures
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC6049774/
  13. Pseudomonas aeruginosa infections of the skin
    https://pubmed.ncbi.nlm.nih.gov/6229990/
  14. Sunburn
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/books/NBK534837/
  15. benefits of public speaking
    https://www.academia.edu/11597892/benefits_of_public_speaking
  16. Dandruff, Cradle Cap, and Other Scalp Conditions
    https://medlineplus.gov/dandruffcradlecapandotherscalpconditions.html
    1. Full Liquid Diet
      https://www.uwhealth.org/healthfacts/nutrition/348.pdf
Was this article helpful?
The following two tabs change content below.
अर्पिता ने पटना विश्वविद्यालय से मास कम्यूनिकेशन में स्नातक किया है। इन्होंने 2014 से अपने लेखन करियर की शुरुआत की थी। इनके अभी तक 1000 से भी ज्यादा आर्टिकल पब्लिश हो चुके हैं। अर्पिता को विभिन्न विषयों पर लिखना पसंद है, लेकिन उनकी विशेष रूचि हेल्थ और घरेलू उपचारों पर लिखना है। उन्हें अपने काम के साथ एक्सपेरिमेंट करना और मल्टी-टास्किंग काम करना पसंद है। इन्हें लेखन के अलावा डांसिंग का भी शौक है। इन्हें खाली समय में मूवी व कार्टून देखना और गाने सुनना पसंद है।

ताज़े आलेख