सामग्री और उपयोग

डार्क चॉकलेट के फायदे और नुकसान – Dark Chocolate Benefits and Side Effects in Hindi

by
डार्क चॉकलेट के फायदे और नुकसान – Dark Chocolate Benefits and Side Effects in Hindi Hyderabd040-395603080 October 17, 2019

‘चॉकलेट’ यह शब्द सुनते ही हर किसी के चेहरे पर मुस्कान फैल जाती है। बच्चे हों या बूढ़े चॉकलेट भला किसे पसंद नहीं होती हैं। किसी का गुस्सा शांत करना हो या किसी का दिल खुश करना हो, चॉकलेट हमेशा एक पसंदीदा विकल्प रहा है। एक वक्त था जब चॉकलेट की कुछ गिनी-चुनी किस्में ही हुआ करती थीं, लेकिन आज बाजार में तमाम तरह की चॉकलेट मौजूद हैं और ‘डार्क चॉकलेट’ उन्हीं में से एक है। जिन्हें डार्क चॉकलेट पसंद है, उन्हें यह आर्टिकल जरूर पसंद आएगा और जो डार्क चॉकलेट नहीं खाते, वो इसके गुणों को जानकर इसे एक बार तो जरूर ट्राई करेंगे। इस लेख के जरिए हम आपको डार्क चॉकलेट के फायदे बताएंगे। अब देर किस बात की तैयार हो जाइए चॉकलेट खाने के फायदे जानने के लिए।

डार्क चॉकलेट क्या है?

What is dark chocolate Pinit

Shutterstock

‘डार्क चॉकलेट’ को किसी परिचय की जरूरत नहीं है, लेकिन जिनको जानकारी नहीं है, उन्हें हम बता दें कि ‘डार्क चॉकलेट’ कोको बीन्स से बनती है। मिल्क चॉकलेट की तुलना में डार्क चॉकलेट में 50 से 90 प्रतिशत कोको सॉलिड, कोको बटर और चीनी मौजूद होती है। इसमें आयरन, कॉपर, फ्लैवनॉल्स, जिंक व फास्फोरस जैसे पोषक तत्व पाए जाते हैं, जो स्वास्थ्य के लिए लाभकारी होते हैं (1)। लेख के आगे के भाग में हम डार्क चॉकलेट के स्वास्थ्य लाभ के बारे में विस्तार से जानकारी देंगे।

इस लेख के आगे के भाग में जानिए डार्क चॉकलेट के फायदे।

डार्क चॉकलेट के फायदे – Benefits of Dark Chocolate in Hindi

वैसे तो डार्क चॉकलेट के फायदे अनेक हैं, लेकिन उनमें से कुछ के बारे में हम आपको नीचे जानकारी दे रहे हैं।

1. ह्रदय के लिए डार्क चॉकलेट

Dark chocolate for heart Pinit

Shutterstock

दिल को स्वस्थ रखने के लिए बस थोड़ी मिठास यानी डार्क चॉकलेट की जरूरत है। यह न सिर्फ आपके टेस्ट बड को संतुष्ट करेगा, बल्कि आपके ह्रदय को भी स्वस्थ रखने में मदद करेगा। दरअसल, डार्क चॉकलेट में फ्लैवनॉल (flavanol) नामक तत्व मौजूद होता है, जो ह्रदय को स्वस्थ रखने में काफी मददगार साबित हो सकता है (1)। यह फ्लैवनॉल एंटीऑक्सीडेंट की तरह काम करके दिल की बीमारी से बचाव करने का काम कर सकता है।

2. डिप्रेशन में डार्क चॉकलेट

काम हो या निजी जीवन, चिंता और तनाव की समस्या लगभग हर किसी को है। इससे निजात पाने के लिए कुछ लोग काउन्सलिंग का सहारा लेते हैं, तो कुछ लोगों को पता ही नहीं चलता कि वो डिप्रेशन का शिकार हो गए हैं। ऐसे में अगर आपको चिड़चिड़ाहट या किसी प्रकार की चिंता है, तो खुद को शांत करने के लिए डार्क चॉकलेट का सेवन कर सकते हैं। एक वैज्ञानिक शोध के अनुसार, डार्क चॉकलेट में मौजूद पॉलीफेनॉल डिप्रेशन को कम करने में मददगार साबित हो सकते हैं (2) (3)।

3. कोलेस्ट्रॉल के लिए डार्क चॉकलेट

Dark chocolate for cholesterol Pinit

Shutterstock

बढ़ते कोलेस्ट्रॉल को नियंत्रित करने के लिए भी डॉर्क चॉकलेट के फायदे देखे जा सकते हैं। बता दें कि कोलेस्ट्रॉल बढ़ने से शरीर में कई तरह की बीमारियों का खतरा बढ़ जाता है, ऐसे में कोलेस्ट्रॉल का ध्यान रखना बेहद जरूरी है। यहां डार्क चॉकलेट खाना एक अच्छा विकल्प हो सकता है। डार्क चॉकलेट में मौजूद पॉलीफेनोल शरीर में एचडीएल (HDL) यानी अच्छे कोलेस्ट्रॉल को बढ़ाते हैं और एलडीएल (LDL) यानी हानिकारक कोलेस्ट्रॉल को कम करते हैं (4) (5)। इसलिए, भविष्य में अगर कोलेस्ट्रॉल के जोखिम को कम करना है, तो डार्क चॉकलेट की मिठास को अपनी जीवनशैली में जरूर शामिल करें।

4. एंटीऑक्सीडेंट गुण

शरीर को बीमारियों से बचाने और स्वस्थ रखने के लिए एंटीऑक्सीडेंट बहुत जरूरी होते हैं। अधिकांश फलों और सब्जियों में एंटीऑक्सीडेंट गुण पाए जाते हैं, लेकिन क्या आप जानते हैं कि डार्क चॉकलेट में भी एंटीऑक्सीडेंट गुण मौजूद होते हैं। आपको बता दें कि कोको को उन खाद्य पदार्थों की श्रेणी में रखा गया है, जिनमें ज्यादा मात्रा में फेनोलिक एंटीऑक्सीडेंट पाए जाते हैं (6)। इसलिए, अब खुद को स्वस्थ रखने के लिए डार्क चॉकलेट का सहारा ले सकते हैं।

5. सर्दी-जुकाम के लिए डार्क चॉकलेट

Dark chocolate for colds Pinit

Shutterstock

बदलते मौसम के साथ हल्की-फुल्की बीमारियां लगी रहती है, सर्दी-जुकाम भी उन्हीं में से एक है। ऐसे में सर्दी-जुकाम या श्वास संबंधी समस्याओं से खुद को बचाना है, तो डार्क चॉकलेट का सेवन करें। डार्क चॉकलेट में थियोब्रोमाइन (Theobromine) नामक रासायनिक पदार्थ होता है, जो सर्दी-जुकाम या अन्य श्वास तंत्र से संबंधित संक्रमण से बचा सकता है (7)(8)।

6. एनर्जी बढ़ाने के लिए

शरीर को सही तरीके से काम करने के लिए ऊर्जा की जरूरत होती है। एनर्जी की कमी के कारण शरीर सुस्त, थका हुआ और कमजोर महसूस करता है। ऐसे में लोग चाय-कॉफी का सहारा लेते हैं, क्योंकि उसमें कैफीन होता है, जो शरीर में ऊर्जा को बढ़ाने में मदद कर सकता है (9)। अगर आप चाय-कॉफी नहीं पीते हैं, तो आप बस अपने पास डार्क चॉकलेट रखें और जब भी आप थके हुए या सुस्त महसूस करें, तो डार्क चॉकलेट का सेवन कर लें। डार्क चॉकलेट में कैफीन मौजूद होता है, जो आपकी एनर्जी बढ़ाने में मददगार साबित हो सकता है (10)। हालांकि, गर्भवती महिलाएं या स्तनपान कराने वाली महिलाएं डार्क चॉकलेट के सेवन से पहले एक बार डॉक्टर की सलाह जरूर लें।

7. दिमाग के लिए डार्क चॉकलेट

Dark chocolate for the brain Pinit

Shutterstock

कई लोगों को आपने कहते सुना होगा कि दिमाग तेज करना है, तो बादाम खाओ। इसमें हम एक लाइन जोड़ेंगे कि अगर बादाम नहीं पसंद तो डार्क चॉकलेट खाओ। आपको जानकर आश्चर्य होगा कि डार्क चॉकलेट दिमाग को स्वस्थ रखने में मददगार साबित हो सकता है। डार्क चॉकलेट में मौजूद फ्लैवनॉल जिसमें एंटी-इंफ्लेमेटरी और एंटीऑक्सीडेंट गुण मौजूद होते हैं, ये दिमाग को स्वस्थ रखने में मदद कर सकते हैं (11)।

8. कैंसर से बचाव के लिए डार्क चॉकलेट

कैंसर जैसी जानलेवा बीमारी से रोकथाम के लिए भी डार्क चॉकलेट के फायदे देखे जा सकते हैं। एक वैज्ञानिक शोध के अनुसार, डार्क चॉकलेट में मौजूद फ्लैवनॉल पेट के कैंसर (colon cancer) से बचाने का काम कर सकते हैं (12)। भविष्य में कैंसर से बचने के लिए आप बीच-बीच डॉर्क चॉकलेट का सेवन कर सकते हैं।

9. ब्लड प्रेशर के लिए डार्क चॉकलेट

अगर आप हाई ब्लड प्रेशर के जोखिम से बचना चाहते हैं या हाई ब्लड प्रेशर की समस्या से राहत पाना चाहते हैं, तो अपनी डाइट में डार्क चॉकलेट को शामिल करें। डार्क चॉकलेट में फ्लेवनॉल्स होते हैं, जो शरीर में नाइट्रिक ऑक्साइड के उत्पादन को बढ़ावा देते हैं, जिससे शरीर में रक्त प्रवाह में सुधार आता है (1)। ऐसा होने से ब्लड प्रेशर संतुलित रहता है और हाई ब्लड प्रेशर का खतरा कम हो सकता है।

10. वजन कम करने के लिए डार्क चॉकलेट

मोटापे की समस्या के कारण शरीर में बीमारियों का खतरा बढ़ सकता है। ऐसे में डार्क चॉकलेट आपकी मदद कर सकता है। वैज्ञानिक शोध के अनुसार, अगर डाइट में कोको वाले चॉकलेट को शामिल किया जाए, तो वजन कम करना आसान हो सकता है। इसके लिए आपको नियमित तौर पर इसका सेवन करना होगा (13), (14)।

11. दृष्टि के लिए डार्क चॉकलेट

Dark chocolate for sight Pinit

Shutterstock

बढ़ती उम्र का प्रभाव दृष्टि में कमजोरी के रूप में दिख सकता है। ऐसे में डार्क चॉकलेट का सेवन दृष्टि में सुधार का काम कर सकता है, लेकिन इस संबंध में अभी और शोध की जरूरत है (15) (16)।

12. डायबिटीज में डार्क चॉकलेट

डायबिटीज में मीठा खाने की राय नहीं दी जाती, लेकिन कैसा हो अगर मधुमेह में आपको मीठा खाने की छूट मिल जाए। हां, ऐसा हो सकता है, अब जब भी आपको मीठा खाने की क्रेविंग हो, तो डार्क चॉकलेट का सेवन करें। इसमें मौजूद कोको और फ्लैवनॉल टाइप 2 डायबिटीज के खतरे को कम करने में मदद कर सकता है। हालांकि, मार्केट में मिलने वाले डार्क चॉकलेट में शुगर की मात्रा देखने के बाद ही उसका सेवन करें (17)(18)।

13. आंतों के लिए डार्क चॉकलेट

डार्क चॉकलेट का सेवन आंतों के लिए फायदेमंद हो सकता है। यह प्रीबायोटिक की तरह काम करता है और आंतों को स्वस्थ रखने में मदद कर सकता है (19), (20)। यह आंतों के मेटाबॉलिज्म में सुधार कर पाचन क्रिया को बढ़ावा देने में भी मदद कर सकता है (21)।

14. त्वचा के लिए डार्क चॉकलेट

Dark chocolate for skin Pinit

Shutterstock

डार्क चॉकलेट न सिर्फ आपके स्वास्थ्य बल्कि आपकी त्वचा के लिए भी फायदेमंद हो सकता है। आपको बता दें कि कोको बटर का उपयोग कई मॉइस्चराइजर में किया जाता है। डार्क चॉकलेट में भरपूर मात्रा में कोको मौजूद होता है, जो त्वचा के लिए लाभकारी हो सकता है (22)। इसके अलावा, डार्क चॉकलेट का सेवन त्वचा को हानिकारक यूवी किरणों से बचा सकता है। हालांकि, इस पर अभी और वैज्ञानिक शोध की जरूरत है (18)। त्वचा पर निखार लाने के लिए डार्क चॉकलेट का सेवन या फेशियल करने से पहले विशेषज्ञों से परामर्श जरूर कर लें।

आगे जानिए डार्क चॉकलेट में ऐसे कौन से पोषक तत्व मौजूद हैं, जो इसे इतना फायदेमंद बनाते हैं।

डार्क चॉकलेट के पौष्टिक तत्व – Dark Chocolate Nutritional Value in Hindi

नीचे दिए गए टेबल में जानिए डार्क चॉकलेट में मौजूद पोषक तत्वों के बारे में (23)।

पोषक तत्वमात्रा प्रति 100 ग्राम
पानी1.37 ग्राम
एनर्जी598 केसीएल
प्रोटीन7.79 ग्राम
टोटललिपिड(फैट)42.63 ग्राम
कार्बोहाइड्रेट45.90 ग्राम
फाइबर10.9 ग्राम
शुगर23.99 ग्राम
मिनरल
कैल्शियम73 मिलीग्राम
आयरन11.90 मिलीग्राम
मैग्नीशियम228 मिलीग्राम
फास्फोरस308 मिलीग्राम
पोटैशियम715 मिलीग्राम
सोडियम20 मिलीग्राम
जिंक3.31मिलीग्राम
विटामिन
थायमिन0.034 मिलीग्राम
राइबोफ्लेविन0.078 मिलीग्राम
नियासिन1.054 मिलीग्राम
विटामिनबी-60.038 मिलीग्राम
विटामिनबी-120.28 माइक्रोग्राम
विटामिनए, आरएई(Vitamin A, RAE)2 माइक्रोग्राम
विटामिनए, आईयू(Vitamin A, IU)39 आईयू
विटामिनई(अल्फा-टोकोफेरोल)0.59 मिलीग्राम
विटामिनके(फिलोक्विनोन-phylloquinone)7.3 माइक्रोग्राम
लिपिड
फैटीएसिड, टोटलसैचुरेटेड24.489 ग्राम
फैटीएसिड, टोटलमोनोसैचुरेटेड12.781 ग्राम
फैटीएसिड, टोटलपॉलीअनसैचुरेटेड1.257 ग्राम
फैटीएसिड, टोटलट्रांस0.030 ग्राम
कोलेस्ट्रॉल3 ग्राम
अन्य
कैफीन80 मिलीग्राम

इस लेख के आगे के भाग में जानिए कि डार्क चॉकलेट और मिल्क चॉकलेट में कौन ज्यादा बेहतर है।

मिल्क चॉकलेट और डार्क चॉकलेट – कौन सा बेहतर है?

ऊपर हमने आपको डार्क चॉकलेट के फायदे बताएं, जिन्हें पढ़कर आप समझ ही गए होंगे कि डार्क चॉकलेट कितना फायदेमंद है। दोस्तों कई मायनों में डार्क चॉकलेट मिल्क चॉकलेट से ज्यादा बेहतर है। इसमें मिल्क चॉकलेट की तुलना में ज्यादा मात्रा में कोको (50-90%) मौजूद होता है। साथ ही यह फ्लैवनॉल से भरपूर होता है, जो कई शारीरिक और मानसिक समस्याओं से बचाव कर सकता है (1), (18)।

आगे जानिये डार्क चॉकलेट खाने के नुकसान के बारे में।

डार्क चॉकलेट के नुकसान – Side Effects of Dark Chocolate in Hindi

हर चीज के फायदे और नुकसान दोनों होते हैं। जरूरत से ज्यादा किसी भी चीज का सेवन नुकसानदायक हो सकता है। कई गुणों से भरपूर डार्क चॉकलेट को ज्यादा खाने से नुकसान भी हो सकता हैं। जैसा कि हमने ऊपर आपको बताया था कि डार्क चॉकलेट में कैफीन होता है, ऐसे में इसके ज्यादा सेवन से नीचे बताई गई समस्याएं हो सकती हैं (9)।

  • अनिद्रा
  • सिरदर्द या माइग्रेन
  • सिर चकराना
  • डिहाइड्रेशन
  • चिंता
  • असहज महसूस होना
  • वजन बढ़ना
  • ह्रदय की गति तेज होना

अगर अभी तक आपने डार्क चॉकलेट को अपने रूटीन में शामिल नहीं किया है, तो अब भी देर नहीं हुई है। डार्क चॉकलेट के स्वास्थ्य लाभ तो आप जान ही गए हैं, तो अब इसके फायदे लेने के लिए इसे अपने रूटीन में शामिल कर लें। अगर सीमित मात्रा में इसका सेवन किया जाए, तो डार्क चॉकलेट खाने के नुकसान से बचकर आप इसके फायदों को अपने अंदर महसूस कर सकेंगे। इसके फायदे पाने के लिए बस आपको सामान्य चॉकलेट को डार्क चॉकलेट से बदलना है। अगर आपके पास डार्क चॉकलेट के स्वास्थ्य लाभ से जुड़ा कोई सवाल या सुझाव है, तो आप नीचे कमेंट बॉक्स का सहारा ले सकते हैं। अगर आप पहले से ही डार्क चॉकलेट खाना पसंद करते हैं, तो अपने पसंदीदा डार्क चॉकलेट के बारे में भी हमें बताना न भूलें।

अक्सर पूछे जाने वाले सवाल

क्या डार्क चॉकलेट में कैफीन है ?

हां, सामान्य चॉकलेट की तुलना में डार्क चॉकलेट में ज्यादा कैफीन होता है, क्योंकि इसमें कोको होता है। इसमें 80 मिलीग्राम कैफीन मौजूद होता है (23)।

एक दिन में कितना डार्क चॉकलेट खा सकते हैं ?

आप डार्क चॉकलेट बार में से प्रतिदिन एक या दो टुकड़े खा सकते हैं। हालांकि, यह हर व्यक्ति के उम्र और सेहत पर निर्भर करता है। इस संबंध में आपको डॉक्टर या विशेषज्ञ ज्यादा बेहतर तरीके से बता सकते हैं।

और पढ़े:

The following two tabs change content below.

Arpita Biswas

अर्पिता ने पटना विश्वविद्यालय से मास कम्यूनिकेशन में स्नातक किया है। इन्होंने 2014 से अपने लेखन करियर की शुरुआत की थी। इनके अभी तक 1000 से भी ज्यादा आर्टिकल पब्लिश हो चुके हैं। अर्पिता को विभिन्न विषयों पर लिखना पसंद है, लेकिन उनकी विशेष रूचि हेल्थ और घरेलू उपचारों पर लिखना है। उन्हें अपने काम के साथ एक्सपेरिमेंट करना और मल्टी-टास्किंग काम करना पसंद है। इन्हें लेखन के अलावा डांसिंग का भी शौक है। इन्हें खाली समय में मूवी व कार्टून देखना और गाने सुनना पसंद है।

संबंधित आलेख