दूध और अंडा के फायदे और नुकसान – Amazing Benefits of Milk and Egg in Hindi

by

दूध और अंडा दोनों की ही गिनती पौष्टिक खाद्य पदार्थों में होती है। अंडा और दूध अलग-अलग तो खाया ही जाता है, लेकिन इन्हें एक साथ खाने से भी शरीर को कई लाभ हो सकते हैं। जहां अंडा प्रोटीन, आयरन, विटामिन-ए, कैल्शियम जैसे पोषक तत्वों से भरपूर है (1)। वहीं, दूध का सेवन बच्चों में बढ़ते वजन की परेशानी से बचाव करने में मददगार हो सकता है। इतना ही नहीं, यह ह्रदय रोग, मधुमेह जैसी स्वास्थ्य समस्याओं के जोखिम को भी काम करने में सहायक हो सकता है (2)। अलग-अलग तो ये लाभकारी है ही, लेकिन एक साथ इनका सेवन और फायदेमंद हो सकता है। ऐसे में स्टाइलक्रेज के इस लेख में हम दूध अंडा खाने के फायदे की जानकारी दे रहे हैं। तो अंडा और दूध पीने के फायदे से जुड़ी ज्यादा से ज्यादा जानकारी के लिए लेख को अंत तक पढ़ें।

चलिए, आगे बढ़ते हैं

सबसे पहले हम दूध और अंडे के फायदे के बारे में जानते हैं।

दूध और अंडा के फायदे – Doodh Aur Anda Khane ke Fayde

दूध और अंडा दोनों को ही हेल्दी फूड की श्रेणी में रखा गया है (3)। इसमें कोई शक नहीं है कि दूध और अंडा खाने के फायदे कई सारे हो सकते हैं, लेकिन हम यह स्पष्ट कर दें कि इन्हें किसी गंभीर बीमारी का इलाज नहीं माना जा सकता है। अंडा और दूध का सेवन किसी स्वास्थ्य समस्या से बचाव या उनके लक्षणों को कम कर सकता है। वहीं, अगर कोई गंभीर बीमारी से पीड़ित है तो डॉक्टरी इलाज को प्राथमिकता देना आवश्यक है। तो चलिए अब जानते हैं अंडा और दूध पीने के फायदे, जो कुछ इस प्रकार हैं :

1. दांतों के लिए दूध और अंडा

दांतों को स्वस्थ रखने के लिए दूध अंडा खाने के फायदे हो सकते हैं। अंडा और दूध दोनों ही कैल्शियम के अच्छे स्त्रोत हैं। ऐसे में कैल्शियम युक्त अंडा और दूध दांतों को मजबूती प्रदान करने में सहायक हो सकते हैं (4)। जानकारी के लिए बता दें कि शरीर 99 प्रतिशत से अधिक कैल्शियम हड्डियों और दांतों में स्टोर करता है, जो उन्हें मजबूत रखने में मदद कर सकता है (5)।

इसके अलावा, अंडा विटामिन डी युक्त आहार में गिना जाता है, विटामिन डी शरीर में कैल्शियम अवशोषण के लिए उपयोगी हो सकता है (6)। ऐसे में पर्याप्त कैल्शियम और दांतों को स्वस्थ रखने के लिए ब्रेकफास्ट में अंडा और दूध को शामिल करना अच्छा विकल्प हो सकता है। 

2. हड्डियों के लिए दूध और अंडा खाने के फायदे

दूध और अंडा का सेवन हड्डियों की मजबूती के लिए भी उपयोगी हो सकता है। एनसीबीआई (National Center for Biotechnology Information) की वेबसाइट पर प्रकाशित एक शोध में, दूध को ऑस्टियोपोरोसिस की समस्या (हड्डी का एक प्रकार रोग) से बचाव के लिए उपयोगी पाया गया है। दूध और अन्य डेयरी उत्पाद में कैल्शियम के साथ-साथ कई सारे जरूरी पोषक तत्व होते हैं ,जो हड्डियों को मजबूती प्रदान करने के लिए आवश्यक हो सकते हैं (2)।

वहीं, एनसीबीआई की वेबसाइट पर प्रकाशित एक अन्य शोध में अंडे को भी हड्डियों के लिए उपयोगी पाया गया है। दरअसल, एक निर्धारित वक्त तक हर रोज कुछ बच्चों को अंडे का सेवन कराया गया। कुछ दिनों बाद यह पाया गया कि अंडे का सेवन न सिर्फ बच्चों की हड्डियों के विकास के लिए उपयोगी हो सकता है, बल्कि हड्डी के टूटने के जोखिम को भी कम कर सकता है (7)। इसके अलावा, हमने लेख में पहले ही जानकारी दी है कि अंडे की जर्दी विटामिन डी का अच्छा स्रोत है और विटामिन डी शरीर में कैल्शियम के अवशोषण में उपयोगी हो सकता है (6)। ऐसे में हड्डियों को स्वस्थ रखने के लिए दूध और अंडा लाभकारी हो सकता है।

3. पोषक तत्वों से भरपूर

हमने लेख की शुरुआत में ही जानकारी दी है कि दूध और अंडे को स्वस्थ आहार की श्रेणी में रखा गया है (3)। ये दोनों ही खाद्य पदार्थ पोषक तत्वों से भरपूर हैं। दूध कई जरूरी पोषक तत्वों जैसे – कैल्शियम, पोटेशियम, जिंक, राइबोफ्लेविन से भरपूर है। दूध का सेवन कई तरह की स्वास्थ्य समस्याएं जैसे – बढ़ता वजन, हृदय रोग, उच्च रक्तचाप, हड्डियों की परेशानी और कैंसर के जोखिम से बचाव करने में सहायक हो सकता है (2)। वहीं, अंडा भी पौष्टिकता में कम नहीं है। अंडे में जरूरी प्रोटीन, विटामिन, मिनरल्स मौजूद होते हैं (1)। इतना ही नहीं अंडे में एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण भी मौजूद होते हैं, जो सूजन की समस्या से बचाव करने में सहायक हो सकता है (8)।

4. आंखों के लिए

दूध और अंडा आंखों के लिए भी उपयोगी हो सकता है। एनसीबीआई की वेबसाइट पर प्रकाशित एक शोध में इस बात का जिक्र मिलता है कि जिंक आंखों के लिए उपयोगी पोषक तत्वों में से एक है। वहीं, जिंक युक्त खाद्य पदार्थों में दूध को भी शामिल किया गया है। ऐसे में बढ़ती उम्र में आंखों से संबंधित समस्याओं से बचाव के लिए जिंक युक्त दूध का सेवन लाभकारी हो सकता है (9)।

वहीं, आंखों के लिए स्वस्थ आहार की श्रेणी में अंडे को भी शामिल किया गया है। दरअसल, अंडा ल्यूटिन और जियाजैंथिन का अच्छा स्त्रोत है और ये दोनों ही पोषक तत्व आंखों के लिए महत्वपूर्ण है (10)। ऐसे में आंखों को स्वस्थ रखने के लिए डाइट में अंडा और दूध को शामिल करना एक आसान और असरदार विकल्प हो सकता है।

5. बालों के लिए

आजकल बालों से जुड़ी समस्याएं सामान्य हो चुकी हैं। इसके कई कारण हो सकते हैं, जैसे – कोई बीमारी, तनाव या पर्याप्त पोषक तत्व युक्त आहार का सेवन न करना (11)। ऐसे में अंडा और दूध जैसे पौष्टिक खाद्य पदार्थों को आहार में शामिल करके बालों को स्वस्थ बनाया जा सकता है। अंडा और दूध, पैंटोथेनिक एसिड, बायोटिन, विटामिन बी 12 का स्त्रोत है, जो झड़ते बालों की और वक्त से पहले बालों के सफेद होने की समस्या से बचाव करने में सहायक हो सकते हैं। ऐसे में बालों को स्वस्थ रखने के लिए डाइट में अंडा और दूध का सेवन लाभकारी हो सकता है (12)। हालांकि, ध्यान रहे कि अगर बालों की समस्या अधिक है तो सिर्फ अंडा और दूध पर निर्भर न करते हुए विशेषज्ञ की सलाह लेकर सही उपचार कराना भी आवश्यक है।

आगे पढ़ें

अब जानते हैं कि दूध और अंडे का किस तरह उपयोग किया जा सकता है।

दूध और अंडा का उपयोग – How to Use Milk and Egg in Hindi

जैसे कि लेख में आपने जाना कि दूध और अंडा खाने के फायदे कई सारे हैं। ऐसे में अंडा और दूध पीने के फायदे का लुत्फ उठाने के लिए इनका सही तरीके से सेवन करना जरूरी है। तो दूध अंडा खाने के फायदे के बाद लेख के इस भाग में हम दूध और अंडा का उपयोग करने का तरीका बता रहे हैं। तो कुछ इस प्रकार करें दूध अंडा का सेवन:

  • नाश्ते में उबला अंडा, एक गिलास दूध और टोस्ट का सेवन कर सकते हैं।
  • ऑमलेट बनाते वक्त उसमें थोड़ा दूध मिलाकर फेंट सकते हैं। इससे ऑमलेट का स्वाद और पौष्टिकता दोनों ही बढ़ेंगे।
  • दूध और अंडा मिलाकर केक तैयार कर उसका सेवन कर सकते हैं।
  • ब्रेड-ऑमलेट और दूध का सेवन करना भी अच्छा विकल्प हो सकता है।

पढ़ते रहें

दूध और अंडे के उपयोग के बाद, अब हम इससे होने वाले साइड इफेक्ट पर भी एक नजर डाल लेते हैं।

दूध और अंडा के नुकसान – Side Effects of Milk and Egg in Hindi

अंडा और दूध सेहत के लिए अच्छा है, इस बारे में तो आपने जान लिया। अब आपको बताते हैं कि अंडा और दूध के साइड इफेक्ट क्या हो सकते हैं। अंडा और दूध के नुकसान इसके सेवन के तरीके पर निर्भर करता है। तो अंडा और दूध के नुकसान कुछ इस प्रकार है:

  1. अगर अंडा अच्छे से बॉयल नहीं है, तो उसे न खाएं। कच्चे अंडे में साल्मोनेला (Salmonella) नाम का बैक्टीरिया होता है (13)। अंडा पूरी तरह से उबल जाने के बाद इसका सेवन करने से बैक्टीरिया का जोखिम कम हो सकता है।
  1. कुछ लोगों को अंडे से एलर्जी की समस्या हो सकती है (14)। इसमें सूजन, खांसी, उल्टी, बुखार, सांस लेने की समस्या के साथ-साथ अन्य कई परेशानियां हो सकती है (15)।
  1. कच्चे अंडे के सेवन से शरीर में बायोटिन की कमी हो सकती है, जो कि झड़ते बालों व त्वचा संबंधी समस्याओं का कारण हो सकता है (16)।
  1. गर्भवती कच्चा अंडा या कच्चे अंडे युक्त खाद्य पदार्थों के सेवन से बचें (17)। अगर जरूरत पड़े तो अंडे के सेवन से पहले डॉक्टरी सलाह भी जरूर लें।
  1. अंडे को फेंटकर, दूध में डालने से इसका स्वाद खराब हो सकता है। ऐसे में इसे पीने में समस्या हो सकती है। वहीं, तले हुए अंडे के साथ भी सीधे दूध पीना ठीक नहीं माना जाता है। ऐसे में सेवन से पहले डॉक्टर की सलाह लेना अच्छा विकल्प हो सकता है।

इस आर्टिकल में हमने आपको अंडे और दूध के फायदे, उपयोग और साइड इफेक्ट के बारे में बताया। दूध और अंडा हर तरह से शरीर को पोषण दे सकता है। हालांकि, अगर किसी को कोई गंभीर बीमारी है, तो दूध और अंडे का एक साथ प्रयोग करने से पहले डॉक्टरी सलाह जरूर लें। इसके अलावा छोटे बच्चों को अंडा देने से पहले भी डॉक्टर से परामर्श करें। उम्मीद करते हैं कि आपको यह आर्टिकल पसंद आया होगा। ऐसे ही और आर्टिकल पढ़ने के लिए जुड़े रहें हमारे साथ।

अक्सर पूछे जाने वाले सवाल

क्या दूध में अंडा मिलाकर पीने के दुष्प्रभाव हो सकते हैं?

दूध में अंडा मिलाकर पीने के फायदे के बजाय नुकसान हो सकते हैं। दरअसल, लेख में हमने पहले ही जानकारी दी है कि कच्चे अंडे में साल्मोनेला नाम का बैक्टीरिया होता है, जो इंसान को बीमार कर सकता है। इससे दस्त, उल्टी जैसी समस्याएं हो सकती है (13)। इसलिए दूध के साथ कच्चे अंडे नहीं, बल्कि उबले अंडे या ब्रेड ऑमलेट के तौर पर सेवन करना चाहिए।

क्या दूध और अंडे का सेवन वजन संतुलित रख सकता है?

लो फैट या फैट फ्री दूध और अंडा दोनों को ही वजन कम करने की डाइट में शामिल किया जा सकता है (18)। हालांकि, हमारी राय यही है कि संतुलित वजन के लिए  सिर्फ दूध और अंडे पर ही निर्भर न रहें, बल्कि स्वस्थ आहार और नियमित व्यायाम को भी जीवनशैली का हिस्सा बनाएं।

दूध में अंडा पीने की विधि क्या है?

दूध में अंडा पीने की विधि के तौर पर हम यही राय देंगे कि दूध के साथ उबले अंडे का सेवन करें। दूध में कच्चा अंडा डालकर पीने से बचें क्योंकि कच्चे अंडे में मौजूद साल्मोनेला नाम के बैक्टीरिया के कारण फूड पॉइजनिंग का जोखिम हो सकता है।

18 Sources

Was this article helpful?

ताज़े आलेख

scorecardresearch