Written by , (शिक्षा- एमए इन मास कम्युनिकेशन)

दूध पीना स्वास्थ्य के लिए लाभदायक होता है यह तो हम सभी जानते हैं, लेकिन दूध पीने का सही समय कौन सा है, इसे लेकर लोगों के मन में कई प्रकार के सवाल उठते हैं। उन्हीं सवालों का जवाब देने के लिए हम स्टाइलक्रेज का यह लेख लेकर आए हैं। यहां हम दूध पीने का सही तरीका और समय दोनों के बारे में जानकारी देंगे। साथ ही यहां आपको समय के अनुसार, दूध पीने के फायदे और नुकसान के बारे में भी जानने मिलेगा।

पढ़ना शुरू करें

सबसे पहले हम जानते हैं कि दूध पीने का सही समय क्या है।

दूध पीने का सही समय क्या है – Doodh Peene Ka Sahi Samay in Hindi

दूध पीने के सही समय की बात करें तो यह इस बात पर निर्भर करता है कि उसका सेवन किस लिए किया जा रहा है। अगर मानसिक स्वास्थ्य के लिए दूध का सेवन करना चाह रहे हैं, तो सुबह के समय इसे पीने के फायदे देखे जा सकते हैं (1)। वहीं, अगर नींद संबंधी परेशानियों से छुटकारा पाना चाह रहे हैं, तो रात के समय दूध पीना लाभदायक माना जा सकता है (2)।

इसके अलावा, अगर गर्भवती महिलाओं की बात करें तो उन्हें सुबह के नाश्ते में एक कप दूध व रात में आधा कप दूध के सेवन की सलाह दी गई है। हालांकि, अगर किसी महिला को दूध पीने से मतली या उल्टी की समस्या होती है तो ऐसे में उन्हें दूध के सेवन से पहले टोस्ट या रस्क खाने की सलाह दी जाती है (3)।

आगे पढ़ें

चलिए अब जानते हैं कि क्या दूध सुबह पिया जाना चाहिए।

क्या सुबह दूध पीना चाहिए

हां, बिल्कुल सुबह दूध पीना स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद हो सकता है। इस विषय से संबंधित एक शोध से जानकारी मिलती है कि सुबह के नाश्ते में प्रोटीन युक्त दूध का सेवन करने से खून में ट्रिप्टोफैन का स्तर बढ़ जाता है जिससे मानसिक स्वास्थ्य के साथ-साथ सुबह की गतिविधि में सुधार देखने को मिल सकता है (1)।

स्क्रॉल करें

क्या दूध सुबह पिया जाना चाहिए, यह जानने के बाद जरा इसके फायदे जान लीजिए।

सुबह दूध पीने के फायदे – Benefits of Drinking Milk in the Morning in Hindi

क्या दूध सुबह पिया जाना चाहिए, इस सवाल का जवाब तो आप जान ही चुके हैं। अब बारी है सुबह दूध पीने के फायदों के बारे में जानने की, जिसकी चर्चा हम नीचे कर रहे हैं:

1. मानसिक स्वास्थ्य में सुधार

सुबह के समय दूध पीने से मानसिक स्वास्थ्य सुधार देखने को मिल सकता है। दरअसल, दूध में मौजूद प्रोटीन खून में ट्रिप्टोफैन के स्तर को बढ़ा सकता है, जिससे सेरोटोनिन नामक हार्मोन के संश्लेषण में मदद मिल सकती है। इस प्रक्रिया के जरिए अवसाद की समस्या को कुछ हद तक कम कर मानसिक स्वास्थ्य में सुधार लाया जा सकता है (1)। इस आधार पर यह कहा जा सकता है कि सुबह के समय दूध पीने से मानसिक स्वास्थ्य सुधार देखने को मिल सकता है।

2. नींद में सुधार

बेहतर नींद के लिए भी सुबह के नाश्ते में दूध को शामिल करना फायदेमंद हो सकता है। इस विषय पर हुए एक शोध की मानें तो सुबह के वक्त दूध का सेवन करने से रात में अच्छी नींद आ सकती है (1)। ऐसे में यह कहना गलत नहीं होगा कि अनिद्रा जैसी समस्या से छुटकारा पाने के लिए सुबह में दूध पीना लाभकारी हो सकता है।

3. रक्तचाप नियंत्रण के लिए

हाई ब्लड प्रेशर की समस्या में भी सुबह के नाश्ते में दूध पीना फायदेमंद साबित हो सकता है। इससे जुड़े एक रिसर्च में साफतौर से इस बात का जिक्र मिलता है कि नियमित रूप से दूध का सेवन करने से रक्तचाप को नियंत्रित करने में मदद मिल सकती है (4)। इस आधार पर कहा जा सकता है कि ब्लड प्रेशर को नियंत्रित रखने के लिए दूध पीने के फायदे देखे जा सकते हैं।

4. वजन को नियंत्रित रखने में लाभकारी

वजन नियंत्रण में भी दूध का सेवन सहायक हो सकता है। दरअसल, दूध और डेयरी उत्पाद प्रोटीन के अच्छे स्रोत माने जाते हैं। वहीं, प्रोटीन वजन घटाने के साथ-साथ उसे नियंत्रित करने में काफी हद तक मदद कर सकता है। बताया जाता है कि प्रोटीन बार-बार भूख लगने की इच्छा को कम करके एनर्जी की खपत को रोक सकता है, जिससे शरीर में मौजूद फैट कम हो सकता है (5)। यह प्रक्रिया वजन कम करने में मदद कर सकती है।

5. डायबिटीज में लाभकारी

सुबह के समय दूध के सेवन से मधुमेह की समस्या से भी बचा जा सकता है। एक रिसर्च पेपर से जानकारी मिलती है कि नाश्ते में दूध पीने से ब्लड शुगर पर सकारात्मक प्रभाव पड़ सकता है (4)। इसके लिए जरूरी है कि आहार में लो फैट या बिना फैट वाला दूध शामिल किया जाए (6)। इस आधार पर कहा जा सकता है कि मधुमेह की समस्या में सुबह के समय दूध पीना फायदेमंद हो सकता है।

6. हड्डियों के लिए फायदेमंद

हड्डियों की मजबूती के लिए भी दूध पीने के लाभ देखे जा सकते हैं। दरअसल, दूध में प्रचुर मात्रा में कैल्शियम पाया जाता है। वहीं, हड्डियों के निर्माण के लिए कैल्शियम का सेवन जरूरी माना गया है। बता दें कि शरीर में कैल्शियम की कमी से हड्डियां कमजोर हो सकती है, जिस वजह से ऑस्टियोपोरोसिस की समस्या हो सकती है (7)। ऐसे में सुबह के समय दूध पीने से इस समस्या से बचा जा सकता है।

अब बारी है

क्या दूध सुबह पिया जाना चाहिए जानने के बाद इसके नुकसानों को भी जान लीजिए।

सुबह दूध पीने के नुकसान – Disadvantages of Drinking Milk in the Morning in Hindi

सुबह के समय दूध पीना तभी तक फायदेमंद है, जब तक की इसका सेवन सीमित मात्रा में किया जाए। अगर, अत्यधिक मात्रा में इसका सेवन किया जाता है, तो इसके फायदे होने के बजाए नुकसान भी देखने को मिल सकते हैं, जिसकी चर्चा हम नीचे कर रहे हैं:

आगे पढ़ें

मिल्क कब पीना चाहिए, इससे संबंधित लेख में अब हम जानेंगे रात में दूध कब पीना चाहिए।

क्या रात में दूध पीना चाहिए

जी हां, रात में भी दूध का सेवन किया जा सकता है। इस बात की जानकारी एनसीबीआई की वेबसाइट पर प्रकाशित एक शोध से मिलती है। इस शोध की मानें तो रात में दूध का सेवन करने से अच्छी नींद आ सकती है (2)। इस आधार पर कहा जा सकता है कि रात को दूध पीना फायदेमंद हो सकता है।

स्क्रॉल करें

रात में दूध कब पीना चाहिए, जानने के बाद इससे होने वाले फायदों के बारे में जान लीजिए।

रात में दूध पीने के फायदे – Benefits of Drinking Milk in the Night in Hindi

दूध कब पीना चाहिए, यह तो आप जान ही चुके हैं। चलिए अब हम आपको बताते हैं कि रात में दूध पीने के फायदे क्या-क्या हो सकते हैं:

1. नींद संबंधी विकारों से राहत

नींद से संबंधित समस्याओं के लिए रात को दूध पीना फायदेमंद साबित हो सकता है। इस पर हुए अध्ययन की मानें तो प्रतिदिन रात को सोने से पहले दूध पीने से नींद से जुड़ी समस्याओं से राहत मिल सकती है। इस आधार पर कह सकते हैं कि अच्छी नींद सोने के लिए रात के समय दूध का सेवन करना लाभदायक सिद्ध हो सकता है (2)।

2. दिन की गतिविधि में सुधार

दिन में काम करने के दौरान स्फूर्ति की आवश्यकता होती है, लेकिन कई बार नींद न पूरा होने से आलस सा महसूस होने लगता है। ऐसे में रात को सोने से पहले दूध पीना फायदेमंद हो सकता है। इससे जुड़े एक अध्ययन में बताया गया है कि रात को दूध पीने से नींद की गुणवत्ता में सुधार देखने को मिल सकता है, जिससे दिन की गतिविधि में भी सुधार देखा जा सकता है (2)।

3. चिंता से मुक्ति

चिंता की समस्या को कम करने के लिए रात के समय दूध का सेवन किया जा सकता है। इस बात की पुष्टि एनसीबीआई की वेबसाइट पर प्रकाशित एक शोध से होती है। इस शोध में बताया गया है कि रात के समय दूध पीने से चिंता संबंधी विकारों को करने में मदद मिल सकती है (2)।

आगे जानें

अब जान लेते हैं रात में दूध पीने से होने वाले नुकसानों के बारे में।

रात में दूध पीने के नुकसान – Disadvantages of Drinking Milk at Night-time in Hindi

कुछ मामलों में रात में दूध पीना नुकसानदायक साबित हो सकता है। यहां हम उन्हीं नुकसानों का जिक्र कर रहे हैं, जो कुछ इस प्रकार है:

  • दूध में ड्यूरेटिक प्रभाव होता है (11)। ऐसे में माना जा सकता है कि रात में दूध पीने से बार-बार पेशाब जाने की समस्या हो सकती है।
  • इसके अलावा, एक अध्ययन की मानें तो दूध का सेवन बलगम को बढ़ा सकता है (12)। ऐसे में हो सकता है कि रात में दूध पीने से सर्दी की समस्या हो सकती है।
  • जैसा कि हमने लेख के ऊपरी भाग में बताया कि दूध में मौजूद लैक्टोज के कारण कुछ लोगों को दूध से एलर्जी भी हो सकती है, जो इम्यून सिस्टम को प्रभावित कर सकता है (9)।
  • दूध में मौजूद लैक्टोज का नकारात्मक असर पाचन पर भी पड़ सकता है। जिस वजह से दस्त, ब्लोटिंग या गैस की समस्या हो सकती है (9)।

स्क्रॉल करें

दूध कब पीना चाहिए जानने के बाद अब जान लेते हैं दूध पीने का सही तरीका और समय क्या है।

दूध पीने का तरीका – Doodh Peene ka Sahi Tarika

इस लेख में आप दूध के फायदे तो जान ही चुके हैं, अब जानते हैं दूध पीने का सही तरीका क्या है:

  • दूध का सेवन अपनी पसंद के अनुसार ठंडा या गर्म किसी भी तरीके से सीधे तौर पर किया जा सकता है।
  • दूध में कई प्रकार के फ्रूट्स डालकर उसका शेक बनाकर भी पी सकते हैं।
  • अगर चाहें तो दूध में कॉर्नफ्लेक्स व चोकोज डालकर भी सेवन कर सकते हैं।
  • दूध में कोई हेल्दी प्रोटीन पाउडर मिलाकर भी पी सकते हैं।
  • यही नहीं, हल्दी के साथ भी दूध का सेवन किया जा सकता है।
  • इसके अलावा, हॉर्लिक्स के साथ भी दूध का सेवन कर सकते हैं।

दूध कब पीना चाहिए व दूध पीने का सही तरीका और समय क्या होना चाहिए इन सभी सवालों के जवाब इस लेख को पढ़ने के बाद मिल गए होंगे। इन दोनों समय में दूध पीने के फायदे भिन्न होते हैं इसलिए व्यक्ति अपनी इच्छा के अनुसार कभी भी दूध का सेवन कर सकता है। वहीं, यहां बताए गए नुकसान को ध्यान में रखकर ही दूध का सेवन करें। अब आगे हम अपने पाठकों द्वारा पूछे गए सवाल के जवाब दे रहे हैं।

अक्सर पूछे जाने वाले सवाल

प्रेगनेंसी में दूध पीने का सही समय क्या हो सकता है?

गर्भवती महिला का दूध पीना आवश्यक होता है। गर्भवती महिलाओं को विशेष तौर दूसरे तिमाही में कई पोषक तत्वों की आवश्यकता होती है, जिसे दूध पूरा कर सकता है (13)। हालांकि, गर्भावस्था के दौरान सबकी स्थिति एक जैसी नहीं होती है। इसलिए बेहतर होगा कि प्रेगनेंसी में दूध का सेवन करने से पहले एक बार डॉक्टरी सलाह अवश्य लें।

वजन बढ़ाने के लिए दूध पीने का सबसे सही समय क्या हो सकता है?

ऐसा माना जाता है कि वजन बढ़ाने के लिए सुबह के समय दूध पीना फायदेमंद हो सकता है।

वजन कम करने के लिए दूध पीने का सबसे सही समय क्या हो सकता है?

सामान्य तौर पर वजन कम करने के लिए रात के समय दूध पीना लाभकारी माना गया है।

संदर्भ (Sources):

Articles on StyleCraze are backed by verified information from peer-reviewed and academic research papers, reputed organizations, research institutions, and medical associations to ensure accuracy and relevance. Read our editorial policy to learn more.

  1. Effects of Drinking Cows’ Milk at Breakfast in Promoting Sleep-Health in Japanese University Athletes
    https://www.researchgate.net/publication/305822311_Effects_of_Drinking_Cows%27_Milk_at_Breakfast_in_Promoting_Sleep-Health_in_Japanese_University_Athletes
  2. Milk Collected at Night Induces Sedative and Anxiolytic-Like Effects and Augments Pentobarbital-Induced Sleeping Behavior in Mice
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC4638207/#:~:text=It%20was%20found%20that%20Nightshowed%20an%20increased%20circulating%20melatonin.&text=Furthermore%2C%20a%20study%20conducted%20inin%20a%20better%20daytime%20activity.
  3. DIET CHART FOR WOMEN IN SOUTH INDIA
    https://wcd.nic.in/sites/default/files/Diet%20Chart%20For%20South%20India.pdf
  4. Young adults’ milk consumption habits and knowledge about milk
    https://www.researchgate.net/publication/321218544_Young_adults%27_milk_consumption_habits_and_knowledge_about_milk
  5. Milk and dairy products: good or bad for human health? An assessment of the totality of scientific evidence
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC5122229/#CIT0044/
  6. Diabetes Diet Eating & Physical Activity
    https://www.niddk.nih.gov/health-information/diabetes/overview/diet-eating-physical-activity
  7. The Importance of Breakfast in Meeting Daily Recommended Calcium Intake in a Group of Schoolchildren
    https://www.researchgate.net/publication/13754349_The_Importance_of_Breakfast_in_Meeting_Daily_Recommended_Calcium_Intake_in_a_Group_of_Schoolchildren
  8. A review on milk and its biological effects on human health: Neurological conditions cardiovascular diseases and cancer
    https://www.researchgate.net/publication/329011702_A_review_on_milk_and_its_biological_effects_on_human_health_Neurological_conditions_cardiovascular_diseases_and_cancer
  9. Lactose Intolerance
    https://www.niddk.nih.gov/health-information/digestive-diseases/lactose-intolerance/all-content
  10. Raw Milk Consumption
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC4890836/
  11. EVALUATION OF DIURETIC ACTIVITY OF MILK EXTRACT OF SEMECARPUS ANACARDIUM NUT
    https://www.researchgate.net/publication/307713931_EVALUATION_OF_DIURETIC_ACTIVITY_OF_MILK_EXTRACT_OF_SEMECARPUS_ANACARDIUM_NUT
  12. Literature Review: The Common Cold
    https://journals.sagepub.com/doi/pdf/10.1177/014556139407300906
  13. Cow’s Milk Consumption and Health: A Health Professional’s Guide
    https://www.researchgate.net/publication/327855877_Cow%27s_Milk_Consumption_and_Health_A_Health_Professional%27s_Guide
Was this article helpful?
thumbsupthumbsdown
The following two tabs change content below.
अनुज जोशी ने दिल्ली विश्वविद्यालय से बीकॉम और कुरुक्षेत्र विश्वविद्यालय से मास कम्युनिकेशन में एमए किया है। अनुज को प्रिंट... more

ताज़े आलेख