सामग्री और उपयोग

इलायची के फायदे, उपयोग और नुकसान – Cardamom (Elaichi) Benefits, Uses and Side Effects in Hindi

Reviewed by Amita Mishra, Certified Sports Nutritionist and Qualified Yoga instructor
by
इलायची के फायदे, उपयोग और नुकसान – Cardamom (Elaichi) Benefits, Uses and Side Effects in Hindi Hyderabd040-395603080 August 20, 2019

इलायची एक लोकप्रिय मसाला है, जिसे अक्सर बिरयानी व खीर जैसे व्यंजनों का जायका बढ़ाने के लिए इस्तेमाल किया जाता है। कई लोग इलायची का प्रयोग चाय बनाने में भी करते हैं। छोटे से आकार की इलाचयी को अपनी सुंगध और गुणों के लिए जाना जाता है। आपको जानकर हैरानी होगी कि इसका प्रयोग कई शारीरिक समस्याओं को ठीक करने के लिए भी किया जा सकता है। इस लेख में हम आपको इलाचयी के औषधीय गुणों के बारे में बता रहे हैं। जानिए, इलायची किस प्रकार आपको फायदा पहुंचा सकती है।

आइए, सबसे पहले जानते हैं कि इलायची आखिर है क्या।

क्या है इलायची – What Is Cardamom in Hindi

इलायची एक मसाला है, जो जिन्जिबरेसी परिवार से संबंधित कई पौधों के बीज होते हैं। भारत, भूटान, नेपाल और इंडोनेशिया को इलाचयी का मूल क्षेत्र माना जाता है। इलायची की फलियां छोटी होती हैं और इसका आकारा थोड़ा त्रिकोणीय रूप में होता है। आपको बता दें कि इलायची को मसालों की रानी कहा जाता है और यह दुनिया का तीसरा सबसे महंगा मसाला है। सिर्फ इतना ही नहीं यह कई प्रकारों में उपलब्ध है।

आगे जानते हैं इलायची के प्रकारों के बारे में।

इलायची के प्रकार – Types of Cardamom in Hindi

इलायची मुख्य रूप से दो प्रकार की होती हैं, एक हरी और दूसरी काली इलायची।

हरी इलायची – इसे असली इलायची भी कहा जाता है और यह सबसे आम किस्म है। इसे भारत से अन्य देशों में निर्यात किया जाता है।

  • इसका उपयोग मीठे और नमकीन दोनों प्रकार के व्यंजनों का स्वाद बढ़ाने के लिए किया जाता है।
  • इसका इस्तेमाल मसालेदार करी और दूध आधारित पकवानों में भी किया जाता है।

काली इलायची – यह इलायची मूल रूप से पूर्वी हिमालय क्षेत्र से संबंध रखती है। इसकी खेती ज्यादातर सिक्किम, पूर्वी नेपाल और भारत के पश्चिम बंगाल के कुछ हिस्सों में की जाती है। यह रंग में भूरी होती है और आकार में थोड़ी लंबी होती है।

  • इसका इस्तेमाल बिरयानी जैसे व्यंजनों में किया जाता है।
  • यह गरम-मसालों का महत्वपूर्ण हिस्सा है।
  • गहरे भूरे रंग के ये बीज अपने औषधीय गुणों के लिए भी जाने जाते हैं।

सेहत के लिए इलायची के फायदे – Health Benefits of Cardamom in Hindi

इलायची का इस्तेमाल सिर्फ जायका बढ़ाने तक ही सीमित नहीं है, बल्कि इसका प्रयोग पाचन स्वास्थ्य को बेहतर बनाने से लेकर कैंसर जैसी गंभीर बीमारियों के खतरे को कम करने के लिए किया जा सकता है। नीचे जानिए कि कौन-कौन सी शारीरिक समस्याओं के लिए इलायची का इस्तेमाल किया जा सकता है।

1. पाचन स्वास्थ्य में सुधार

Digestion ke liye Elaichi Pinit

Shutterstock

इलायची में एंटीऑक्सीडेंट और एंटीइंफ्लेमेटरी गुण होते हैं। एक भारतीय अध्ययन के अनुसार, इलायची का उपयोग पाचन तंत्र को बेहतर करने के लिए किया जा सकता है। साथ ही यह मेटाबॉलिज्म को उत्तेजित कर सकती है (1), (2)। इसका प्रयोग गैस्ट्रोइंटेस्टाइनल बीमारियों जैसे दस्त व गैस आदि के रोकथाम के लिए भी किया जा सकता है। पेट की समस्याओं से निजात पाने का यह एक सटीक घरेलू उपाय है।

2. हृदय स्वास्थ्य को बढ़ावा

जैसा की हमने पहले भी बताया कि इलायची एंटीऑक्सीडेंट गुण से समृद्ध होती है। इसका यह गुण हृदय स्वास्थ्य को बढ़ावा दे सकता है। इसमें फाइबर भी मौजूद होता है, जो कोलेस्ट्रॉल के स्तर को कम कर हृदय को फायदा पहुंचा सकता है (3)।

दिल की सेहत की बात करें, तो काली इलायची हरी इलायची की तुलना में ज्यादा कारगर तरीके से काम कर सकती है, क्योंकि यह मेटाबॉलिक सिंड्रोम पर ज्यादा प्रभावी रूप से काम कर सकती है। साथ ही इस्केमिक हृदय रोग (रक्त प्रवाह में कमी के कारण होने वाली बीमारी) से पीड़ित रोगियों पर किए एक अध्ययन में इलायची फायदेमंद पाई गई है (4)।

3. डिप्रेशन का इलाज

एक स्वास्थ्य रिपोर्ट के अनुसार, इलायची लोगों को डिप्रेशन से निपटने में मदद कर सकती है। इसके लिए बस इलायची के बीजों का पाउडर बनाएं और रोजाना बनने वाली चाय में चुटकी भर इस्तेमाल करें। आप जल्द ही अपने में सकारात्मक परिणाम को महसूस कर पाएंगे (5)।

4. अस्थमा का इलाज

इलायची अस्थमा के मरीजों के लिए भी फायदेमंद हो सकती है। यह अस्थमा के लक्षण जैसे खांसी, सांस लेने में तकलीफ और सीने में जकड़न आदि को समाप्त कर सकती है। इलायती रक्त संचालन में मदद कर सांस लेने की प्रक्रिया को आसान बनाती है। इसके अलावा, यह बलगम झिल्ली (mucous membrane) को आराम पहुंचा कर दर्द व सूजन की समस्या को भी कम करती है।

इलायची पर हुए एक अध्ययन के अनुसार, हरी इलायची अस्थमा के साथ-साथ ब्रोंकाइटिस और अन्य सांस संबंधी समस्याओं का इलाज कर सकती है (6)।

5. ओरल हेल्थ में सुधार

Oral Health ke liye Elaichi Pinit

Shutterstock

इलायची में मौजूद एंटीमाइक्रोबियल गुण मुंह के स्वास्थ्य के लिए कारगर सिद्ध हो सकते हैं। यूरोपीय जर्नल ऑफ जनरल डेंटिस्ट्री के अनुसार, इलायची स्ट्रेप्टोकोकस म्यूटन जैसे रोगजनकों से रक्षा कर सकती है (7)। इसके अलावा, इलायची का तेज स्वाद लार प्रवाह (Salivary Flow) को उत्तेजित कर सकता है, जिससे दांतों के टूटने की आशंका कम हो सकती है।

यह तो आप जानते ही होंगे कि इलायची सांस की दुर्गंध को आसानी से दूर सकती है। इलायची के साथ सौंफ का सेवन करने से मुंह से दुंर्गंध नहीं आती है (8)।

6. ब्लड प्रेशर होता है कम

एक भारतीय अध्ययन के अनुसार, इलायची रक्तचाप को कम करने की क्षमता रखती है (9)। इसके लिए आप वेजिटेबल सूप में चुटकी भर पीसी हुई इलायची का प्रयोग कर सकते हैं।

7. रोकती है हिचकी

हिचकी कोई बीमारी नहीं है, लेकिन कभी-कभी यह मूड को चिड़चिड़ा बना देती है। हिचकी कि समस्या से निजात पाने के लिए आप इलायची का प्रयोग कर सकते हैं। बता दें कि इलायची एंटीऑक्सीडेंट से समृद्ध होती है, जिससे डायाफ्राम को आराम मिल सकता है (10), (11)।

8. बढ़ाती है भूख

अगर आपको भूख नहीं लगती है, तो आप इलायची का प्रयोग कर सकते हैं। एक अध्ययन के अनुसार इलायची भूख न लगने का इलाज कर सकती है (10)। यहां तक कि भूख बढ़ाने के लिए भी इलायची के तेल का प्रयोग किया जा सकता है (11)।

9. यौन स्वास्थ्य

माना जाता है कि आयुर्वेद में कामेच्छा के लिए इलायची का सेवन करने की सलाह दी गई है। इलायची पुरुष और महिला में यौन ऊर्जा को बढ़ाने का काम कर सकती है। इसके लिए आप निम्नलिखित सामग्री को इलायची के साथ ले सकते हैं (12) –

सामग्री

  • बादाम – 200 ग्राम
  • काजू – 200 ग्राम
  • लौंग – 25 ग्राम
  • इलायची 25 ग्राम
  • शहद – 400 ग्राम

प्रक्रिया

  • बादाम को रात भर के लिए पानी में भिगो कर रख लें, ताकि वो नरम हो जाएं।
  • अब बादाम के छिल्के उतार लें और बाकी सामग्रियों के साथ शहद में अच्छी तरह मिला लें।
  • ध्यान रहे कि इलायची और लौंग को कूट कर डालें।
  • अब मिश्रण को किसी जार में रख लें और हफ्ते भर के लिए छोड़ दें।
  • इसके बाद रोजाना दो चम्मच इस मिश्रण को लें।

10. कैंसर से रोकथाम

Cancer ke liye Elaichi Pinit

Shutterstock

इलायची का इस्तेमाल कैंसर के प्राकृतिक उपचार के लिए किया जा सकता है। जानवरों पर किए गए परीक्षण से पता चलता है कि इलायची कैंसर को पनपने से रोकने में मदद कर सकती है। अध्ययन के अनुसार इलायची में कीमो प्रिवेंटिव गुण होता है, जो त्वचा कैंसर के लिए लाभकारी हो सकता है (13)।

11. बढ़ाती है याददाश्त

जिन्हें याददाश्त की कमजोरी संबंधी शिकायत है, वो इलायची का सेवन कर सकते हैं। एक अध्ययन के अनुसार इलायची सीखने और याददाश्त को बढ़ाने का काम कर सकती है (14)। इसके लिए आप चाय में या अन्य खाद्य सामग्री में इसका इस्तेमाल कर सकते हैं। चुटकी भर इलायची बेहतर परिणाम देने की क्षमता रखती है।

12. शरीर को करती है डिटॉक्स

व्यंजनों का जायका बढ़ाने के साथ-साथ इलायची शरीर को डिटॉक्स करने के काम भी आती है। इलायची एंटीमाइक्रोबियल गुण से समृद्ध होती है और यह शरीर से हानिकारक बैक्टीरिया को निकालने का काम कर सकती है (15)।

सेहत के लिए इलायची के लाभ जानने के बाद आगे जानिए त्वचा के लिए इलायची के फायदे।

त्वचा के लिए इलायची के फायदे – Skin Benefits of Cardamom in Hindi

आंतरिक स्वास्थ्य के साथ-साथ इलायची त्वचा के लिए भी बहुत फायदेमंद है, नीचे जानिए छोटी-सी दिखने वाली इलायची किस प्रकार आपकी त्वचा संबंधी समस्याओं का इलाज कर सकती है –

1. गोरी त्वचा

इलायची आपकी त्वचा के रंग को निखार सकती है। इलायची से बना एसेंशियल ऑयल दाग-धब्बों को दूर कर चेहरे को साफ और गोरा बना सकता है। आप इलायची के तेल को बाजार से खरीद सकते हैं।

कैसे करें इस्तेमाल
  • गुनगुने पानी में दो-तीन बूंदें इलायची के तेल की डालें और कॉटन पैड की मदद से चेहरे पर लगाएं।
  • इसके अलावा, एक चम्मच शहद के साथ एक चौथाई चम्मच इलायची पाउडर मिलाकर, इसे चेहरे पर फेस मास्क की तरह इस्तेमाल कर सकते हैं।

2. एलर्जी का इलाज

Allergies ke liye Elaichi Pinit

Shutterstock

जैसा की हमने पहले बताया है कि इलायची एंटी माइक्रोबियल गुणों से समृद्ध होती है (15), इसलिए यह त्वचा पर एलर्जी जैसी समस्याओं के लिए कारगर हो सकती है। आप निम्नलिखित रूप से इसका इस्तेमाल कर सकते हैं –

कैसे करें इस्तेमाल
  • गुनगुने पानी में इलायची के तेल की दो-तीन बूंदें डालें और रूई की मदद से प्रभावित जगह पर लगाएं।
  • आप 1 चम्मच शहद के साथ एक चौथाई चम्मच इलायची पाउडर मिलाकर फेस पेक भी तैयार कर सकते हैं।

3. सौंदर्य प्रसाधनों में इस्तेमाल

टोनर और फेस क्रीम आदि कॉस्मेटिक प्रोडक्ट्स की अप्रिय गंध को दूर करने के लिए भी इलायची का इस्तेमाल किया जा सकता है। इलायची की तेज गंध सौंदर्य उत्पादों में इस्तेमाल होने वाली सामग्रियों की अप्रिय गंध को बेअसर कर देती है।

4. रक्त संचालन में सुधार

इलायची विटामिन-सी से भरपूर होती है, जो एक शक्तिशाली एंटीऑक्सीडेंट है (1)। इलायची शरीर के रक्त संचालन को सुचारू रूप से चलने में मदद कर सकती है।

5. थेराप्यूटिक प्रभाव

इलायची एंटीसेप्टिक व एंटीइंफ्लेमेटरी गुणों से समृद्ध होती है। इसलिए, इसका इस्तेमाल स्किन प्रोडक्ट में किया जाता है। इलायची में मौजूद थेराप्यूटिक प्रभाव त्वचा को ठंडक प्रदान करने और आराम पहुंचाने का काम करता है। इसका इस्तेमाल इत्र में भी किया जाता है, जो इंद्रियों को उत्तेजित करने का काम कर सकता है। इसके अलावा, इलायची का प्रयोग चेहरे के लिए बनाए जाने वाले साबुनों में भी किया जाता है।

6. साफ त्वचा

काली इलायची विषाक्त पदार्थों को बाहर निकालने में मदद करती है, जो आपकी त्वचा को नुकसान पहुंचा सकते हैं। काली इलायची चबाने से शरीर अंदर से डिटॉक्स हो जाता है, जिससे आपकी त्वचा साफ होती है।

7. होंठों के लिए

Lips ke liye Elaichi Pinit

Shutterstock

इलायची के तेल का इस्तेमाल होंठों के लिए बनने वाले सौंदर्य प्रसाधनों में भी किया जाता है। इलायची तेल युक्त लिप बाम होंठ को चिकना और खूबसूरत बनाने का काम करता है।

कैसे करें इस्तेमाल

इलायची तेल युक्त लिप बाम को आप रात को सोने से पहले अपने होंठों पर लगा सकते हैं।

त्वचा के लिए इलायची के लाभ जानने के बाद आगे जानिए बालों के लिए इलायची के फायदे।

बालों के लिए इलायची के फायदे – Hair Benefits of Cardamom in Hindi

आंतरिक स्वास्थ्य और त्वचा के साथ-साथ इलायची बालों के लिए भी फायदेमंद है, नीचे जानिए बालों को यह किस प्रकार लाभ पहुंचा सकती है –

1. स्कैल्प को रखती है स्वस्थ

इलायची, विशेष रूप से काली इलायची में एंटीऑक्सीडेंट गुण होता है (1), जिस कारण यह स्कैल्प को स्वस्थ रखने का काम करती है। इससे आप स्कैल्प संबंधी समस्याओं से दूर रह सकते हैं। इलायची रोम छिद्रों को पोषित करने का काम करती है। इलायची में एंटीबैक्टीरियल गुण भी होते हैं, जिस कारण स्कैल्प में जीवाणु पैदा नहीं हो पाते।

कैसे करें इस्तेमाल

आप नहाने से पहले इलायची के पानी से सिर को धो सकते हैं। इलायची का पानी तैयार करने के लिए आप 1 लिटर पानी में आधा चम्मच इलायची को कूट कर डालें और रात भर के लिए छोड़ दें। इसकी जगह आप इलायची पाउडर भी इस्तेमाल कर सकते हैं। फिर अगली सुबह इस पानी का इस्तेमाल करें।

2. स्वस्थ बालों को बढ़ावा

Healthy hair growth ke liye Elaichi Pinit

Shutterstock

आयुर्वेद में इलायची को महत्वपूर्ण तत्व के रूप में पहचान दी गई है। इलायची एंटीऑक्सीडेटिव गुणों से समृद्ध होती है (1), जिसे बालों के लिए भी लाभकारी माना गया है। बालों के लिए आप इलायची के तेल का इस्तेमाल कर सकते हैं। यह तेल बाल और रोम को स्वस्थ बनाने का काम करेगा और बालों की चमक भी बढ़ाएगा।

कैसे इस्तेमाल करें
  • आप इलायची के तेल को सीधे बालों पर लगा सकते हैं।
  • इसके अलावा, आप बालों के लिए रोजाना इलायची का सेवन (चबाकर या चाय में) कर सकते हैं।

इलायची खाने के फायदे जानने के बाद आगे हम इसमें मौजूद पौष्टिक तत्वों के बारे में बता रहे हैं।

इलायची के पौष्टिक तत्व – Cardamom Nutritional Value in Hindi

पोषक तत्वपोषक मूल्य(प्रति 100 ग्राम)आरडीए का प्रतिशत
ऊर्जा311 Kcal15.5%
कार्बोहाइड्रेट68.47 g52.5%
प्रोटीन10.76 g19%
कुल फैट6.7 g23%
कोलेस्ट्रॉल0mg0%
डाइटरी फाइबर28 g70%
विटामिन्स
नियासिन1.102 mg7%
पाइरिडोक्सिन0.230 mg18%
रिबोफ्लेविन0.182 mg14%
थियामिन0.198 mg16.5%
विटामिन-ए0 IU0%
विटामिन-सी21 mg35%
इलेक्ट्रोलाइट
सोडियम18 mg1%
पोटैशियम1119 mg24%
मिनरल्स
कैल्शियम 383 mg38%
कॉपर0.383 mg42.5%
आयरन13.97 mg175%
मैग्नीशियम229 mg57%
मैंगनीज28 mg1217%
फास्फोरस178 mg25%
जिंक7.47 mg68%

इलायची का उपयोग – How to Use Cardamom in Hindi

नीचे जानिए किस प्रकार करें इलायची का प्रयोग –

  • भारत में, इलायची गरम मसाले का एक महत्वपूर्ण तत्व है। इसका इस्तेमाल शाकाहारी और मांसाहारी दोनों प्रकार के भोजनों में किया जाता है।
  • इलायची को चाय या कॉफी में भी इस्तेमाल किया जाता है। इलायची के इस्तेमाल से इन दोनों पेय की खूशबू बढ़ जाती है।
  • साबूत हरी इलायची का इस्तेमाल पुलाव व बिरयानी जैसे गर्म व्यंजनों में किया जाता है। इलायची के प्रयोग से इन व्यंजनों की खुशबू बढ़ जाती है।
  • मसालेदार व्यंजनों के अलावा इलायची का उपयोग मिठाइयों में किया जाता है, जैसे खीर, गुलाब जामुन, गजक व हलवा आदि। ग्राउंड इलायची का उपयोग सूप और चावल के व्यंजन में भी किया जाता है।
  • चिकन को शहद, काली मिर्च और इलायची के साथ मेरिनेट भी किया जाता है।
  • सिट्रस फ्रूट सलाद में आप शहद के साथ इलायची का इस्तेमाल भी कर सकते हैं।

इलायची के नुकसान – Side Effects of Cardamom in Hindi

इस बात में कोई शक नहीं है कि स्वास्थ्य के लिए इलायची के कई चमत्कारी फायदे हैं, लेकिन इसका अत्यधिक उपयोग आपके लिए परेशानी खड़ी कर सकता है। नीचे जानिए इलायची के कुछ दुष्प्रभावों के बारे में (16)-

  • डायरिया
  • त्वचा में जलन
  • जीभ में सूजन
  • कब्ज आदि

दोस्तों, अब तो आपको छोटी-सी दिखने वाली इलायची के स्वास्थ्य लाभों के बारे में पता चल गया होगा। लेख में बताई गईं शारीरिक तकलीफों के लिए आप इसका इस्तेमाल कर सकते हैं। ध्यान रहे कि अगर इसके नियमित सेवन से एलर्जी या कब्ज जैसे लक्षण आपको दिखाई देते हैं, तो इसका सेवन बंद कर दें और डॉक्टर से संपर्क करें। आपको यह लेख कैसा लगा, हमें कमेंट बॉक्स में बताना न भूलें। इलायची से संबंधित अन्य जानकारी के लिए आप हमसे सवाल भी पूछ सकते हैं।

और पढ़े:

The following two tabs change content below.

Nripendra Balmiki

नृपेंद्र बाल्मीकि एक युवा लेखक और पत्रकार हैं, जिन्होंने उत्तराखंड से पत्रकारिता एवं जनसंचार में स्नातकोत्तर (एमए) की डिग्री प्राप्त की है। नृपेंद्र विभिन्न विषयों पर लिखना पसंद करते हैं, खासकर स्वास्थ्य संबंधी विषयों पर इनकी पकड़ अच्छी है। नृपेंद्र एक कवि भी हैं और कई बड़े मंचों पर कविता पाठ कर चुके हैं। कविताओं के लिए इन्हें हैदराबाद के एक प्रतिष्ठित मीडिया संस्थान द्वारा सम्मानित भी किया जा चुका है।

संबंधित आलेख