व्यायाम करने का सही समय – सुबह या शाम – Best Time To Do Exercise in Hindi

Written by , (शिक्षा- एमए इन मास कम्युनिकेशन)

व्यायाम न सिर्फ हमें फिट रखता है बल्कि कई बीमारियों से भी बचाने में मदद कर सकता है। हालांकि, कई लोग इस बात को लेकर संशय में रहते हैं कि आखिर व्यायाम करने का सही समय क्या है। अगर आप भी इसी दुविधा में हैं तो स्टाइलक्रेज का यह लेख आपकी इस दुविधा को दूर करने में मदद कर सकता है। यहां हम एक्सरसाइज करने का सही समय तो बताएंगे ही साथ ही उनके फायदों से भी आपको रूबरू कराएंगे।

स्क्रॉल करें

तो चलिए लेख में सबसे पहले जानते हैं कि व्यायाम करने का सही समय क्या है।

एक्सरसाइज करने का सबसे सही समय कौन-सा है- Best time to do Exercise in Hindi

नियमित रूप से व्यायाम करना कई मायनों में लाभकारी सिद्ध हो सकता है। इससे न सिर्फ बीमारियों से हमारे शरीर की रक्षा होती है बल्कि हमारा शरीर भी पूरी तरह से फिट रह सकता है। वहीं, अगर बात करें व्यायाम करने का सही समय कौन सा है तो बता दें कि इस संबंध में एनसीबीआई (नेशनल सेंटर फॉर बायोटेक्नोलॉजी इंफॉर्मेशन) की वेबसाइट पर एक रिसर्च प्रकाशित है, जिसमें सुबह और शाम दोनों को व्यायाम करने के लिए उचित समय बताया गया है (1)।

वहीं, मेडलाइन प्लस की वेबसाइट से जानकारी मिलती है कि स्वास्थ्य विशेषज्ञ दिन में कम से कम 30 मिनट तक व्यायाम करने की सलाह देते हैं। चाहें तो इसे तीन भागों में बांट कर भी किया जा सकता है। जिसमें सुबह के समय 10 मिनट, दोपहर के भोजन के बाद 10 मिनट और फिर शाम के समय 10 मिनट शामिल हैं (2)। लेख में आगे हमने सुबह और शाम व्यायाम या योग करने के फायदे के बारे में विस्तार से बताया है।

पढ़ना जारी रखें

लेख में सबसे पहले हम जानते हैं सुबह के समय व्यायाम के फायदे कौन-कौन से हो सकते हैं।

सुबह के समय व्यायाम के फायदे

सुबह के समय किया गया व्यायाम सेहत के लिए कई प्रकार से फायदेमंद हो सकता है। तो चलिए नीचे क्रमवार तरीके से जानते हैं, सुबह के समय व्यायाम के फायदे :

1. बेहतर नींद के लिए

नींद की गुणवत्ता बढ़ाने के लिए सुबह के समय किया गया व्यायाम फायदेमंद हो सकता है। इस विषय से संबंधित एक रिसर्च पेपर में इस बात की पुष्टि मिलती है कि सुबह के समय एरोबिक एक्सरसाइज करने से नींद की गुणवत्ता में काफी हद तक सुधार हो सकता है (3)।

वहीं, एक सीडीसी (सेंटर फॉर डिजीज कंट्रोल एंड प्रिवेंशन) की वेबसाइट से भी इस बात की जानकारी मिलती है कि अच्छी नींद पाने के लिए दिन में व्यायाम करना फायदेमंद हो सकता है। जिसमें रोजाना कम से कम 10 मिनट की वॉकिंग को शामिल किया गया है। यह न केवल नींद में सुधार कर सकता है बल्कि नींद की गुणवत्ता को भी बढ़ा सकता है (4)।

2. रक्तचाप को नियंत्रित करे

रक्तचाप को नियंत्रित करने के लिए भी सुबह के समय व्यायाम करना फायदेमंद हो सकता है। एनसीबीआई की वेबसाइट पर प्रकाशित शोध के मुताबिक सुबह के समय एरोबिक एक्सरसाइज करने से रक्तचाप को नियंत्रित करने में मदद मिल सकती है। दरअसल, एरोबिक एक्सरसाइज से रक्तचाप के स्तर में कमी आ सकती है जिसे पोस्ट एक्सरसाइज हाइपोटेंशन (पीईएच) के रूप में जाना जाता है (3)।

3. एनर्जी को बूस्ट करे

खुद को तरोताजा बनाए रखने और एनर्जी को बूस्ट करने के लिए भी सुबह के समय व्यायाम करने के फायदे देखे जा सकते हैं। इस बात की जानकारी मेडलाइन प्लस की वेबसाइट से मिलती है, जिसमें बताया गया है कि सुबह के समय 30 मिनट तक व्यायाम करने से पूरे दिन शरीर की ऊर्जा बनी रह सकती है। इसके लिए एक्सरसाइज के तौर पर वॉकिंग, जॉगिंग या फिर स्टेशनरी साइकिल का सहारा लिया जा सकता है (2)।

4. हृदय को स्वस्थ रखे

हृदय को स्वस्थ बनाए रखने के लिए भी रोजाना सुबह व्यायाम करना फायदेमंद हो सकता है। दरअसल, उच्च रक्तचाप हृदय रोग का एक बड़ा कारण माना जाता है। जैसा कि हमने लेख में बताया कि एरोबिक एक्सरसाइज करने से रक्तचाप को नियंत्रण में रखा जा सकता है। ऐसे में सुबह के समय व्यायाम करने से रक्तचाप को नियंत्रित कर हृदय को स्वस्थ रखने में मदद मिल सकती है (3)।

5. मांसपेशियों की मजबूती के लिए

मांसपेशियों की मजबूती के लिए भी सुबह के समय व्यायाम करना लाभकारी सिद्ध हो सकता है। इस बात की पुष्टि एनसीबीआई की वेबसाइट पर प्रकाशित एक शोध से होती है। इस शोध में साफ तौर से यह बताया गया है कि सुबह के समय व्यायाम करने से मांसपेशियों की ताकत में सुधार हो सकता है (1)। इस आधार पर यह कहना गलती नहीं होगा कि मांसपेशियों की ताकत बढ़ाने के लिए मॉर्निंग एक्सरसाइज फायदेमंद साबित हो सकती है।

पढ़ते रहें

लेख में आगे हम बता रहे हैं कि सुबह के समय व्यायाम करने के क्या नुकसान हो सकते हैं।

सुबह के समय व्यायाम के नुकसान

सुबह के समय किया गया व्यायाम फायदेमंद तो होता ही है लेकिन कुछ मामलों में यह नुकसानदायक भी साबित हो सकता है, जिसके बारे में हम नीचे विस्तार से बता रहे हैं (5) :

  • सुबह के समय फेफड़ों की कार्यप्रणाली सुस्त होती है, क्योंकि रात को सोने के बाद वायुमार्ग संकुचित हो जाते हैं। ऐसे में सुबह के समय नींद खुलने में थोड़ी परेशानी हो सकती है।
  • अगर किसी को सुबह जल्दी उठने की आदत नहीं है और उससे मॉर्निंग एक्सरसाइज के लिए सुबह जागना पड़ता है तो ऐसे में यह उसके लिए कष्टदायक हो सकता है।
  • सुबह सोकर उठने के तुरंत बाद मांसपेशियां थोड़ी सख्त रहती है, जिस वजह से व्यायाम करने में थोड़ी परेशानी हो सकती है। यही वजह है कि एक्सरसाइज शुरू करने से पहले हल्की स्ट्रेचिंग या फिर डीप ब्रीदिंग करने की सलाह दी जाती है, ताकि ब्लड फ्लो बेहतर हो सके।
  • इसके अलावा, अगर नाश्ता करने से पहले व्यायाम करते हैं तो इससे थकान महसूस हो सकती है।

बने रहें लेख में

सुबह के समय व्यायाम के फायदे के बाद यहां हम शाम के समय व्यायाम के फायदों का जिक्र कर रहे हैं।

शाम के समय व्यायाम के फायदे

सुबह के जैसे ही शाम के समय भी व्यायाम करने के फायदे कई सारे हैं। लेख के इस हिस्से में हम शाम के समय व्यायाम के फायदे के बारे में विस्तार से बता रहे हैं :

1. मानसिक स्वास्थ्य के लिए

सुबह के ही तरह शाम के समय किया जाने वाला व्यायाम भी कई मायनों में फायदा पहुंचा सकता है। एक शोध से जानकारी मिलती है कि रोजाना व्यायाम करने से मानसिक स्वास्थ्य और मनोदशा में सुधार हो सकता है। यही नहीं, एक्सरसाइज करने से चिंता और अवसाद की समस्या को भी दूर किया जा सकता है। साथ ही यह रक्त संचार में सुधार कर सकता है (6)। ऐसे में यह माना जा सकता है कि मेंटल हेल्थ के लिए शाम के समय एक्सरसाइज करना फायदेमंद साबित हो सकता है।

2. शारीरिक क्षमता को बढ़ाए

मांसपेशियों के साथ ही शरीर को भी ताकत प्रदान करने के लिए और स्टेमिना बढ़ाने के लिए शाम का व्यायाम फायदेमंद हो सकता है। रिसर्च के अनुसार संपूर्ण साइकिलिंग के दौरान पुरुषों की एंड्यूरेंस यानी कि सहनशक्ति सुबह की तुलना में शाम के समय काफी अधिक थी। इस आधार पर हम कह सकते हैं कि शाम का व्यायाम शारीरिक क्षमता को बढ़ाने में मददगार हो सकता है (1)।

3. धूम्रपान छोड़ने के लिए

धूम्रपान की आदत छोड़ाने के लिए भी व्यायाम करना फायदेमंद हो सकता है। एनसीबीआई की वेबसाइट पर प्रकाशित एक वैज्ञानिक अध्ययन के अनुसार, व्यायाम सिगरेट की तलब को कम कर सकता है। साथ ही इसके विथड्रावल लक्षण, जैसे- खराब मूड, डिप्रेशन, चिंता आदि को दूर करने में मदद भी कर सकता है। इसके अलावा, व्यायाम उन लोगों के स्वास्थ्य को बेहतर बनाने में भी मदद कर सकता है, जिन्हें धूम्रपान के कारण फेफड़ों की समस्या है (7)। ऐसे में यह माना जा सकता है कि धूम्रपान छोड़ने के लिए शाम के समय एक्सरसाइज करना लाभकारी सिद्ध हो सकता है।

4. हड्डियों को मजबूत करने के लिए

शाम के समय व्यायाम के फायदों में हड्डियों की मजबूती को भी शामिल किया जा सकता है। बता दें कि नियमित रूप से व्यायाम करने न केवल हड्डियां स्वस्थ रहती हैं, बल्कि ऑस्टियोपोरोसिस की समस्या से भी बचा जा सकता है। साथ ही साथ यह मांसपेशियों को मजबूत बनाने में भी सहायक सिद्ध हो सकता है (8)। इस आधार पर यह कहा जा सकता है कि अगर नियमित रूप से शाम के समय व्यायाम किया जाए तो इससे हड्डियां मजबूत हो सकती हैं।

5. मधुमेह में फायदेमंद

मधुमेह की समस्या को नियंत्रित करने के लिए भी शाम के समय किया जाने वाला व्यायाम फायदेमंद हो सकता है। रिसर्च के अनुसार शाम में एरोबिक-आधारित व्यायाम ग्लाइसेमिक नियंत्रण में सुधार कर सकता है, जो मधुमेह को कम करने में मददगार हो सकता है (9)। यही वजह है कि मधुमेह की समस्या में शाम के समय व्यायाम करना फायदेमंद माना गया है।

नीचे स्क्रॉल करें

शाम के समय व्यायाम के फायदे के बाद नीचे जानते हैं, कि शाम को व्यायाम करने के क्या नुकसान हो सकते हैं।

शाम के समय व्यायाम के नुकसान

शाम के समय व्यायाम करने के फायदे जानने के बाद यह जानना भी जरूरी है कि यदि इस समय व्यायाम करते हैं तो किन नकारात्मक परिस्थितियों का सामना करना पड़ सकता है (5) :

  • सोने के कुछ देर पहले व्यायाम करने से नींद की गुणवत्ता को बिगड़ सकती है, इस कारण सोने में परेशानी हो सकती है।
  • कसरत के बाद, तापमान, चयापचय और हृदय गति बढ़ जाती है, जिससे शरीर को तुरंत आराम नहीं मिल पाता है। इसलिए सोने से पहले हल्की स्ट्रेचिंग करने की सलाह दी जाती है।
  • इवनिंग एक्सरसाइज का एक नुकसान यह भी है कि सुबह के समय शाम में व्यायाम के विकल्प बहुत कम होते हैं। उदाहरण के लिए, शाम को जॉगिंग के लिए अधिक समय तक पार्क खुले नहीं रहते, जिम में भी भी भीड़ देखने को मिलती है आदि।
  • इसके अलावा, इवनिंग एक्सरसाइज को लोग दिन भर की थकान का बहाना देकर आसानी से टाल देते हैं।

इस लेख को पढ़ने के बाद व्यायाम करने का सही समय तो आपको पता चल ही गया होगा। ऐसे में अब चाहें तो अपनी सुविधा अनुसार, एक्सरसाइज को अपनी डेली रूटीन में शामिल कर सकते हैं। चाहें तो अपने डॉक्टर से भी एक्सरसाइज करने का सही समय जान सकते हैं और फिर उसे अपनी जीवन शैली में शामिल कर खुद को तंदुरुस्त रख सकते हैं। फिटनेस पर आधारित ऐसे ही लेख पढ़ने के लिए जुड़े रहें स्टाइलक्रेज के साथ।

अक्सर पूछे जाने वाले सवाल

दिन में कितनी बार एक्सरसाइज करनी चाहिए?

दिन में सुबह और शाम दो बार व्यायाम किया जा सकता है। हालांकि, वैज्ञानिकों के अनुसार रोजाना दिन में सुबह कम से कम 30 मिनट तक किया गया व्यायाम भी ऊर्जा प्रदान करने के लिए पर्याप्त होता है (2)।

संदर्भ (Sources)

Articles on StyleCraze are backed by verified information from peer-reviewed and academic research papers, reputed organizations, research institutions, and medical associations to ensure accuracy and relevance. Read our editorial policy to learn more.

  1. Morning and evening exercise
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC5481716/
  2. Make time to move
    https://medlineplus.gov/ency/patientinstructions/000765.htm
  3. Effects of exercise timing on sleep architecture and nocturnal blood pressure in pre hypertensives
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC4270305/
  4. Improve Sleep: Tips to Improve Your Sleep When Times Are Tough
    https://blogs.cdc.gov/niosh-science-blog/2020/06/29/sleep-hwd/
  5. The Pros And Cons Of Morning And Evening Exercise A Review Article
    https://www.iosrjournals.org/iosr-jdms/papers/Vol19-issue12/Series-14/A1912140107.pdf
  6. Exercise for Mental Health
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC1470658/
  7. Exercise-based smoking cessation interventions among women
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC5718352/
  8. Exercise for Your Bone Health
    https://www.bones.nih.gov/health-info/bone/bone-health/exercise/exercise-your-bone-health
  9. A Time to Eat and a Time to Exercise
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC6948807/
The following two tabs change content below.

ताज़े आलेख