एक्स्ट्रा मैरिटल के कारण और टिप्स : Extra Marital Affairs In Hindi

Written by , (शिक्षा- एमए इन जर्नलिज्म मीडिया कम्युनिकेशन)

शादी का बंधन पवित्र रिश्ता होता है, फिर चाहे वह लव मैरिज हो या फिर अरेंज मैरिज। जब कोई शादी के बंधन में रहते हुए किसी और के साथ संबंध रखता है, तो उसे एक्स्ट्रा मैरिटल अफेयर के रूप में जाना जाता है। इस विषय में अधिक जानकारी के लिए आप इस लेख को अंत तक पढ़ें। यहां एक्स्ट्रा मैरिटल अफेयर के कारण से लेकर एक्स्ट्रा मैरिटल अफेयर के प्रकार व इससे बचने के टिप्स भी दिए गए हैं।

पढ़ना शुरू करें

सबसे पहले पढ़ें एक्स्ट्रा मैरिटल अफेयर क्या है।

एक्स्ट्रा मैरिटल अफेयर क्या है? – What is extramarital affairs in Hindi

आसान भाषा में कहें तो शादी के बाद कोई पुरुष या स्त्री का पार्टनर के अलावा किसी और से प्यार करना या किसी गैर शख्स के साथ शारीरिक, भावनात्मक या मानसिक रूप से रिश्ता रखना एक्सट्रा मैरिटल अफेयर कहलाता है। भारतीय संस्कृति में शादी दो लोगों के बीच का एक वफादारी का बंधन है।

इस रिश्ते में दोनों साथी एक-दूसरे के प्रति पूरी तरह से समर्पित रहते हैं, लेकिन बदलते माहौल में शादी के बाद अफेयर के मामले आम हो गए हैं। आंकड़ों के अनुसार, भारत में लगभग 50% विवाहित पुरुष और 25% विवाहित महिलाएं शादी के बाद किसी और से प्यार करते हैं (1)।

आगे जानें

एक्स्ट्रा मैरिटल अफेयर क्या है, समझने के बाद जानें इसके प्रकार।

एक्स्ट्रा मैरिटल अफेयर के प्रकार – Types of Extra marital Affair in Hindi

अगर आपको लगता है कि सिर्फ शारीरिक रूप से ही पति या पत्नी को धोखा देना ही एक्सट्रा मैरिटल अफेयर है, तो ऐसा नहीं है। एक्स्ट्रा मैरिटल अफेयर के दो प्रकार हैं, जिनके बारे में हम नीचे बता रहे हैं (1)।

1. सेक्सुअल एक्सट्रा मैरिटल अफेयर – अगर शादी के बाद कोई अपने पति या पत्नी के अलावा किसी गैर से साथ शारीरिक संबंध बनाता है, तो उसे सेक्सुअल एक्सट्रा मैरिटल अफेयर कहते हैं।

2. इमोशनल एक्सट्रा मैरिटल अफेयर – विवाह के बाद किसी गैर शख्स के साथ सिर्फ भावनात्मक रूप से जुड़ा रहना भी एक्सट्रा मैरिटल अफेयर कहलाता है। इसे इमोशनल एक्सट्रा मैरिटल अफेयर कहते हैं। यहां तक कि सिर्फ फोन पर बात करना भी इसमें शामिल है।

नीचे पढ़ें

एक्स्ट्रा मैरिटल अफेयर के प्रकार के बाद अब जानते हैं इसके पीछे के कारण।

एक्स्ट्रा मैरिटल अफेयर के कारण

एक्स्ट्रा मैरिटल अफेयर के कारण कई हो सकते हैं। ये कारण अरेंज व लव दोनों ही तरह की शादी में उत्पन्न हो सकते हैं। एक्स्ट्रा मैरिटल अफेयर के कारण कुछ इस प्रकार हैं।

1. जबरदस्ती शादी होना

ऐसा अक्सर अरेंज मैरिज में होता है। परिवार वालों के दबाव में आकर की गई शादी एक्स्ट्रा मैरिटल अफेयर की वजह बन सकता है। इस तरह के रिश्ते में बंधने वाले व वाली अधिकतर किसी दूसरे को साथी के रूप में पाना चाहते हैं। ऐसे में परिवार की जबरदस्ती के कारण वो शादी तो कर लेते हैं, लेकिन खुद को उस रिश्ते में बांध नहीं पाते और शादी के बाद भी किसी और से प्यार करते रहते हैं।

2. जल्दबाजी में शादी करना

कम उम्र में शादी करना या पार्टनर से मिलने के तुरंत बाद ही शादी के लिए तैयार होना भी एक्स्ट्रा मैरिटल अफेयर की वजहों में से एक है। पार्टनर को बिना अच्छी तरह जाने जल्दबाजी में शादी का फैसला तो लोग ले लेते हैं, लेकिन जब धीरे-धीरे साथ रहने पर अपने साथी को समझते हैं, तो उन्हें अपना रिश्ता खलने लगता है। इस वजह से भी कई बार नए रिश्ते के प्रति लोगआकर्षित हो सकते हैं।

3. बदलाव भरी स्थिति होना

शादी के बाद लड़के और लड़की के जीवन में सब कुछ बदल जाता है। उन्हें सामाजिक, शारीरिक व भावनात्मक बदलावों से गुजरना पड़ता है। ये सारे बदलाव कई बार उनके लिए कठिन राह भी बन सकते हैं। इन बदलावों का सामना करते समय कुछ लोग रिश्ते में अपना संतुलन खो सकते हैं और नए रिश्ते के प्रति उनका झुकाव बढ़ सकता है।

4. फैमिली प्लानिंग में जल्दबादी

शादी के तुरंत बाद अपने नए रिश्ते में खुद को ढालने व साथी को समझने के लिए भरपूर समय देना चाहिए, लेकिन कुछ लोग बिना किसी फैमिली प्लानिंग के ही बच्चे कर लेते हैं। ऐसे में नए रिश्ते के साथ ही उन पर बच्चे की जिम्मेदारी भी आ जाती है, जो उनकी जिम्मेदारियों का दायरा बढ़ा देता है। इससे वे अपनी निजी लाइफ को एंजॉय करना भूल जाते हैं और आगे वे नए रिश्ते की तलाश में लग जाते हैं।

5. खराब शारीरिक रिश्ता

शादी के रिश्ते में न सिर्फ विश्वास व सम्मान की जरूरत होती है, बल्कि अच्छे शारीरिक संबंध का अनुभव होना भी अहम है। कई बार पार्टनर से शारीरिक रूप से संतुष्ट न होने पर साथी अपनी जरूरत को पूरा करने के लिए नए साथी की तलाश शुरू कर सकते हैं।

6. भावनात्मक रिश्ता न होना

कुछ कपल्स को देखकर ऐसा लगता है कि जैसे वो एक-दूसरे के लिए ही बने हों, लेकिन उनमें भावनात्मक रिश्ता न होने के कारण उनका रिश्ता कच्ची डोर के समान होता है। ये कच्ची डोर कभी भी दोनों के रिश्ते में किसी तीसरे के आने से टूट सकती है।

7. पैसों की तंगी

पैसों की तंगी को भी एक्स्ट्रा मैरिटल अफेयर का एक कारण माना जा सकता है। अगर पार्टनर आर्थिक रूप से अपने साथी की जरूरतों को पूरा नहीं कर पाता या आर्थिक रूप से उनकी स्थिति बहुत कमजोर है, तो इसके कारण उनके रिश्ते में झगड़े बढ़ सकते हैं। इस वजह उसके मन में साथी से अलग होने के ख्याल आ सकते हैं। साथ ही उन्हें ऐसे साथी की तलाश होने लगती है, जो उनकी आर्थिक जरूरतों को पूरा कर सकता हो।

8. जिंदगी की अलग-अलग प्राथमिकताएं

जीवन को लेकर सभी की प्राथमिकताएं अलग-अलग होती हैं। इसका प्रभाव भी शादीशुदा जीवन को प्रभावित कर सकता है। हर किसी के सोचने का नजरिया अलग होता है। ऐसे में दोनों को आपस में तालमेल बैठाने के लिए थोड़ा समझौता करना पड़ता है। अगर ऐसा नहीं होता है, तो भविष्य में दोनों के रिश्ते में दरार आ सकती है। ऐसी स्थिति में एक्स्ट्रा मैरिटल अफेयर की आशंका भी बढ़ सकती है।

9. लाइफ में फन की कमी

रिश्ता चाहे शादी का हो या फिर लवर्स का हो, प्यार के साथ इसमें कुछ शरारत व फन भी होना जरूरी है। अगर रिश्ते में फन नहीं होगा, तो पार्टनर्स एक-दूसरे से बहुत जल्दी बोर हो सकते हैं। ऐसे में कुछ लोग जीवन में फन व मस्ती करने के लिए भी एक्स्ट्रा मैरिटल अफेयर कर सकते हैं।

10. पत्नी का गर्भवती होना

एक्सट्रा मैरिटल अफेयर का एक कारण पत्नी का गर्भवती होना हो सकता है। एक अध्ययन में साफतौर से इस बात का जिक्र मिलता है कि कुछ पुरुष पत्नी के गर्भवती होने पर अन्य महिला के साथ शारीरिक संबंध बनाने के लिए आकर्षित हो सकते हैं (2)।

आगे पढ़ें

शादी के रिश्ते पर एक्स्ट्रा मैरिटल अफेयर का क्या प्रभाव होता है।

एक्स्ट्रा मैरिटल अफेयर का रिश्तों पर प्रभाव – Effect of Extra marital Affair on Relationships in Hindi

कुछ कपल्स आसानी से एक्स्ट्रा मैरिटल अफेयर के मामले संभाल लेते हैं, लेकिन कुछ कपल्स ऐसा नहीं कर पाते। इसकी वजह से उनका शादी-शुदा जीवन प्रभावित हो जाता है। उन्हें निजी तौर से लेकर सामाजिक स्तर पर भी कई मुश्किलों का सामना करना पड़ता है, जो निम्नलिखित हैं:

1. तलाक होना

एक्सट्रा मैरिटल अफेयर के कारण शादी का रिश्ता खत्म हो सकता है। एनसीबीआई की वेबसाइट पर प्रकाशित शोध के अनुसार, अधिकतर लोग धोखेबाज साथी से अपने रिश्ते को खत्म करना ही बेहतर समझते हैं। साथी के अफेयर की खबरे सुनकर पार्टनर तलाक ले सकता है (3)।

2. स्वाभिमान को ठेस पहुंचना

शादी के रिश्ते में धोखा खाए व्यक्ति के स्वाभिमान को ठेस पहुंच सकती है। इससे वह आत्म-सम्मान की कमी महसूस कर सकता है। यहां तक कि वह खुद को ही इसका कारण मान सकता है। इस वजह से इस रिश्ते के खत्म होने के बाद वो दूसरे रिश्ते में भी जाने के लिए जल्दी तैयार नहीं हो पाते हैं। उनमें नए रिश्ते में भी पिछले नतीजे आने का भय बना रह सकता है।

3. भावनात्मक असंतुलन होना

धोखा खाया साथी अपना भावनात्मक संतुलन खो सकता है। भावनात्मक रूप से वो हर रिश्ते के प्रति बहुत ज्यादा संवेदनशील हो सकता है। उनके मन में हर रिश्ते को खोने का डर बैठ सकता है। उनके मन में एक-एक करके सभी रिश्ते को खोने की असुरक्षा की भावना उत्पन्न हो सकती है।

4. भरोसा करने में परेशानी होना

अफेयर के शिकार साथी को जीवन में ट्रस्ट इश्यू हो सकता है। इस घटना के बाद दूसरे लोगों पर जल्दी भरोसा करने में उन्हें कठिनाई हो सकती है। वो हर रिश्ते व किसी की बात को संदेह की नजर से देखना शुरू कर सकते हैं। भरोसेमंद व्यक्ति की बात पर भी भरोसा करने में उन्हें हिचक हो सकती है।

5. मन में चीजों को दबा कर रखना

कुछ साथी जहां अफेयर की बात सुनकर चिल्ला सकते हैं या लड़ाई-झगड़ा कर सकते हैं, वहीं कुछ लोग अफेयर की खबर सुनकर खुद को शांत रख सकते हैं। वे अपने मन की भावना को खुद के अंदर की समेट कर रख सकते हैं। उन्हें यह समझने में परेशानी हो सकती है कि वे अपने मन की भावनाओं को किसी के सामने जाहिर करें या न करें।

6. सामाजिक जीवन प्रभावित होना

अफेयर की खबर से खासतौर पर महिला का जीवन सामाजिक तौर पर प्रभावित हो सकता है। अगर रिश्ते में धोखा पति की तरफ से मिलता है, तो परिवार के सदस्य समेत, रिश्तेदार व अन्य लोग महिला को सहानुभूति जाहिर करने लगते हैं। अगर रिश्ते में धोखा पत्नी की तरफ से मिले, तो लोग उसे समाज से बाहर भी कर सकते हैं और सामाजिक स्तर पर उसे कई तरह के ताने सुनने पड़ सकते हैं।

स्क्रॉल करें

आइए, जान लेते हैं एक्स्ट्रा मैरिटल अफेयर के जरूरी फैक्टर क्या हैं।

एक्स्ट्रा मैरिटल अफेयर के अन्य जरूरी फैक्टर – Extra marital Affair Factor in Hindi

  • नए संसाधनों की वजह से ही एक्स्ट्रा मैरिटल अफेयर रखना काफी आसान हो गया है। जैसे फेसबुक पर जब व्यक्ति अकाउंट बनाता है, तो उसमें अपना स्टेटस सिंगल डालता है। ऐसे लोग नई दोस्ती करते हैं और फिर उनसे मिलने की इच्छा जाहिर करते हैं।
  • स्मार्टफोन भी इस मामले में बहुत मददगार साबित होता है। खासतौर से व्हाट्सएप जैसे ऐप, जो मैसेज के जरिए बात करने के लिए काफी हैं।
  • इंटरनेट शॉपिंग के कारण भी एक्स्ट्रा मैरिटल अफेयर्स की संख्या बढ़ी है। जब गर्लफ्रेंड को गिफ्ट देना हो, तो लोग सीधे इंटरनेट शॉपिंग कर लेते हैं।
  • आजकल लोग अफेयर के बाद सीक्रेट बैंक अकाउंट बनाते हैं, ताकि उनका पैसा कहां और कितना खर्च हो रहा है, कोई न जान सके, उनकी बीवी तक नहीं।

पढ़ना जारी रखें

यहां जानें एक्स्ट्रा मैरिटल अफेयर से जुड़े तथ्य क्या हो सकते हैं।

एक्स्ट्रा मैरिटल अफेयर से जुड़े तथ्य – Facts related to extra-marital affair in Hindi

पूरी दुनिया में एक्स्ट्रा मेरिटल अफेयर से जुड़े कई तथ्य देखने को मिलते हैं। माना जा सकता है कि जिन महिलाओं के पति ज्यादा समय तक घर से दूर रहते हैं, वे महिलाएं जल्दी एक्स्ट्रा मैरिटल अफेयर की ओर आकर्षित होती हैं। कई बार पत्नी के प्रेग्नेंट होने पर पति के एक्स्ट्रा मैरिटल अफेयर की आशंका बढ़ जाती है। पत्नी से सेक्सुअल डिजायर पूरी न होने की वजह से पति अक्सर ऐसा कदम उठाते हैं।

अंत तक पढ़ें लेख

एक्स्ट्रा मैरिटल अफेयर से बाहर निकलने के कुछ कारगर टिप्स।

एक्स्ट्रा मैरिटल अफेयर से बाहर निकलने के उपाय- Tips to end extra marital affair in hindi

अगर एक्स्ट्रा मैरिटल अफेयर की वजह से शादी प्रभावित हो रही है और आप इससे बाहर आना चाहते हैं, तो नीचे दिए गए टिप्स को फॉलो कर परेशानी का हल निकाल सकते हैं।

1. गलतियों से सीखें

अगर खुद के अफेयर पर शर्मिंदा हैं और उसके लिए पछतावा हो रहा है, तो यह शादी बचाने के लिए एक अच्छा इशारा हो सकता है। जब भी अपनी अफेयर की गलती का एहसास हो, तुरंत उसे स्वीकार करें और अपनी शादी बचाने का हर सफल प्रयास करें। हो सके तो अपने साथी से इसके बारे में बात करें और उनसे मांफी भी मांगे। वादा भी करें कि भविष्य में दोबारा ऐसी गलती नहीं होगी।

2. तुलना न करें

अपने अफेयर वाले पार्टनर की तुलना कभी भी अपने पार्टनर से न करें। हर इंसान की अपनी-अपनी खूबियां और खामियां होती हैं। इस वजह से सभी की आदतें व स्वाभाव अलग होते है। ऐसे में उनकी तुलना करना सरासर गलता है। कभी भी तुलना से प्रभावित होकर एक्स्ट्रा मैरिटल अफेयर न करें। अगर पति या पत्नी की कोई आदत बहुत ज्यादा खराब है, तो इस बारे में उनसे खुलकर बात करें और अपनी इच्छा उनके सामने जाहिर करें। ताकि वो अपनी उस आदत में सुधार ला सकें।

3. पुराने अफेयर को खत्म करें

अगर शादी से पहले से ही अफेयर चल रहा है, तो कोशिश करें कि शादी के बाद से ही उसे खत्म कर दें। अपने अतीत को लेकर भविष्य को खुशहाल नहीं बनाया जा सकता है। इसलिए, नए जीवन साथी के साथ के सफर को स्वीकार करें और उन्हीं से प्यार करें। साथ ही अपनी शादी को थोड़ा समय भी दें। अगर इसके बाद भी पति या पत्नी से प्यार नहीं होता है, तो बेहतर होगा अपने पुराने अफेयर के बारे में उनसे बात करें और मिलकर कोई निर्णय लें।

4. अफेयर की वजह समझें

किस कारण से अफेयर हुआ है, सबसे पहले उसकी वजह को समझें। अगर लगता है कि शादी के रिश्ते में शारीरिक संतुष्टि, मान-सम्मान या भावनात्मक लगाव की कमी की वजह से ऐसा हुआ है, तो इस बारे में पति या पत्नी से बात करें। उन्हें अपने मन की भावना बताएं, ताकि वो भी इस पर अपनी सफाई दे सकें।

5. गलती स्वीकार करें

एक बात का ध्यान रखें कि अफेयर एक साथ कई लोगों का घर व दिल दोनों ही तोड़ सकता है। अगर सिर्फ मजे के लिए ही अफेयर था और उसके बारे में पति या पत्नी को पता चलता है, तो अपनी इस गलती को स्वीकार करें और उन्हें इस बात का अहसास दिलाएं कि भविष्य में कभी ऐसी गलती दोबारा नहीं होगी।

6. साथी को मौका दें

पति या पत्नी के अफेयर का पता चलता है, तो इसे दोनों तक ही सीमित रखें। पहले साथी की बातों को सुनें और उन्हें अपनी इस गलती को सुधारने का एक मौका दें। अगर इसके बाद भी वो इसी गलती को दोहराते हैं, तो इसके बारे में कानून का सहारा लिया जा सकता है। अफेयर की खबर से साथी को अपमानित न करें। इस तरह का व्यवहार रिश्ते में दूरियों को बढ़ा सकता है। वहीं, अगर उनकी इस गलती को छिपाएंगे, तो इससे उन्हें खुद की गलती पर जल्द ही पछतावा हो सकता है।

7. बात करें

अपनी शादी को लेकर समय-समय पर पति या पत्नी से बात करें। अगर इस शादी या साथी से जुड़ी खुद की कोई उम्मीदें हैं, तो उसे उनके सामने जाहिर करें। ऐसा करने से पति या पत्नी को भी रिश्ते को समझने और उसे मजबूत बनाने में आसानी होगी।

8. अपने पार्टनर को टाइम दें

शादी के बाद निजी व पारिवारिक तौर पर दोनों ही पार्टनर्स की जिम्मेदारियां बढ़ जाती हैं। ऐसे में एक-दूसरे के लिए समय निकालें। अपने घर के काम व ऑफिस के काम को एक समय तक शेड्यूल करें और साथी के लिए तय किए गए समय पर साथी के साथ ही वक्त बिताएं। साथ ही, ब्रेकफास्ट व डिनर भी साथ ही करें, ताकि इस दौरान एक-दूसरे का हाल-चाल भी समझ सकें और आपसी संबंध भी मधुर बने रहें।

9. रिश्ते को बोरिंग होने से बचाएं

रिश्ता चाहे कोई भी क्यों न हो, हर रिश्ते में एक वक्त के बाद कुछ बोरियत आ ही जाती है। अगर आपको रिश्ते में किसी तरह का एक्साइटमेंट नहीं दिखता है, तो इस बोरियत को खत्म करने की योजना बनाएं। इसके लिए साथी को कभी-कभी कोई उपहार दें या उन्हें शॉपिंग, मूवी, लंच या डिनर के लिए भी लेकर जाएं। साथ ही उनका मन खुश करने के लिए हर बार कोई नई ट्रिक भी आजमाएं।

10. वेकेशन पर जाएं

एक अध्ययन के अनुसार, वेकेशन पर जाने से न सिर्फ तनाव, चिंता व थकान कम हो सकती है, बल्कि शादी-शुदा जीवन के प्रति संतुष्टि भी अधिक हो सकती है (4)। ऐसे में व्यस्त जीवन से ब्रेक लें और साथी के साथ कहीं घूमनें जाएं। इससे दोनों रिश्ते के प्रति जिम्मेदारियों के भार को हल्का महसूस करेंगे और दोनों को एक-दूसरे के करीब आने में मदद होगी।

भारतीय संस्कृति में शादी के बाद अफेयर को सामाजिक तौर पर बहुत ही बुरा व्यवहार माना जाता है। हालांकि, बदलते दौर में लोग आज एक्स्ट्रा मैरिटल अफेयर को लेकर खुलकर बात करने लगे हैं। अगर आप भी ऐसी ही उलझन में फंसे हैं, तो बेहतर होगा कि सबसे पहले इसकी वजह को समझें और फिर साथी के साथ मिलकर सहमति से इस पर कोई आखिरी फैसला करें। एक तरफा फैसला लेने से बचें। ऐसा करने से दोनों को भविष्य के लिए सही व उचित निर्णय करने में आसानी होगी।

संदर्भ (Source)

Articles on StyleCraze are backed by verified information from peer-reviewed and academic research papers, reputed organizations, research institutions, and medical associations to ensure accuracy and relevance. Read our editorial policy to learn more.

  1. Extramarital Affairs (EMA) for Indian Women: An Overview of its Health Impacts
    https://actascientific.com/ASWH/pdf/ASWH-02-0111.pdf
  2. Effect of Pregnancy and Childbirth on Sexuality of Women in Ibadan Nigeria
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC3101881/
  3. The impact of extramarital relationships on the continuation of marriages
    https://pubmed.ncbi.nlm.nih.gov/7643421/
  4. Vacations improve mental health among rural women: the Wisconsin Rural Women\’s Health Study
    https://pubmed.ncbi.nlm.nih.gov/16218311/
Was this article helpful?
thumbsupthumbsdown
The following two tabs change content below.
पुजा कुमारी ने बनारस हिंदू यूनिवर्सिटी से जर्नलिज्म एंड मास कम्युनिकेशन में एमए किया है। इन्होंने वर्ष 2015 में अपने... more

ताज़े आलेख