घरेलू उपचार
Stylecraze

आईलैशज बढ़ाने के लिए अरंडी के तेल का उपयोग – Castor Oil For Eyelashes In Hindi

by
आईलैशज बढ़ाने के लिए अरंडी के तेल का उपयोग – Castor Oil For Eyelashes In Hindi Hyderabd040-395603080 September 16, 2019

आपको जानकर हैरानी होगी, लेकिन यह सच है कि बिना मस्कारा लगाए भी पलकों को सुंदर और घना बनाया जा सकता है। इसके लिए आपको कहीं बाहर जाने की जरूरत नहीं है, बल्कि आपकी रसोई में ही इसका हल छिपा हुआ है। हम बात कर रहे हैं, अरंडी के तेल की। घनी आईलैशज के लिए अरंडी का तेल काफी फायदेमंद माना जाता है। ज्यादातर घरों में अरंडी का तेल आसानी से मिल जाता है, लेकिन अगर आपके पास यह नहीं है, तो बाजार या फिर ऑनलाइन आप इसे आसानी से खरीद सकती हैं। अरंडी के तेल से न सिर्फ आपकी पलकें घनी होंगी, बल्कि यह पलकों को टूटने से भी बचाएगा। स्टाइलक्रेज के इस लेख में हम आपको आईलैशज बढ़ाने के लिए अरंडी का तेल इस्तेमाल करने के कुछ आसान तरीके बता रहे हैं।

आई लैश घनी बनाने के लिये अरंडी का तेल इस्तेमाल करने के तरीकों से पहले हम आपको बताएंगे कि यह पलकों के लिए कैसे फायदेमंद है।

अरंडी का तेल पलकों के लिए क्यों अच्छा है?

अरंडी का तेल पलकों को लंबा और घना करने के लिए बेहतरीन विकल्प माना जा सकता है। कारण यह है कि इसमें रिसिनोलिक एसिड पाया जाता है। यह बालों की जड़ों में रक्त प्रवाह को बढ़ाता है और पलकों के विकास के लिए उत्तेजित करता है (1)

लेख के आगे के भाग में अब हम आई लैश घनी बनाने के लिये अरंडी का तेल कैसे इस्तेमाल करना है, इस बारे में बताएंगे।

 पलकों के लिए अरंडी का तेल कैसे इस्तेमाल करें – How to Use Castor Oil for Eyelashes in Hindi

1. शुद्ध अरंडी का तेल

How to Use Castor Oil for Eyelashes in Hindi Pinit

Shutterstock

सामग्री :
  • थोड़ा-सा अरंडी का तेल
  • मस्‍कारा ब्रश
कैसे इस्तेमाल करें :
  • अपने चेहरे को अच्छी तरह साफ कर लें। ध्यान रहे कि आपकी आंखों पर किसी तरह का मेकअप न हो।
  • अब साफ मस्कारा ब्रश लें।
  • इस ब्रश को अरंडी के तेल में डुबोएं और पलकों पर लगाएं।
  • इसे रात भर पलकों पर लगा रहने दें और सुबह गुलाब जल या फिर मेकअप वाइप की मदद से साफ कर लें।
कैसे है लाभदायक :

जैसा कि आपको लेख में पहले भी बताया जा चुका है कि अरंडी के तेल में रिसिनोलिक एसिड मौजूद होता है, जो पलकों की जड़ों में खून का प्रवाह बढ़ाता है। इससे पलके लंबी और घनी होती हैं (1)

2. ग्लिसरीन, एग व्हाइट और कैस्टर ऑयल

How to Use Castor Oil for Eyelashes in Hindi (4) Pinit

Shutterstock

सामग्री :
  • एक चम्मच अरंडी का तेल
  • ग्लिसरीन की दो बूंदें
  • एगव्हाइट की दो बूंदें
  • एक खाली शीशी
  • मस्‍कारा ब्रश
कैसे इस्तेमाल करें :
  • एक छोटी-सी बोतल लें और इसमें थोड़ा-सा अरंडी का तेल डाल लें।
  • अब इसमें दो बूंदें ग्लिसरीन की डाल लें।
  • फिर इसमें दो बूंद जितना अंडे का सफेद भाग मिलाएं।
  • अब मस्कारा ब्रश की मदद से इस सीरम को अपनी दोनों पलकों पर लगाएं।
  • आप इसे कुछ घंटों के लिए लगा सकती हैं। उसके बाद आंखों को धो लें।
कैसे है लाभदायक :

अरंडी का तेल पलकों के लिए तो फायदेमंद होता ही है, लेकिन ग्लिसरीन और अंडे के सफेद हिस्से का समायोजन इसे और भी बेहतरीन बना देता है। दरअसल, अंडे के सफेद हिस्से में प्रोटीन होता है, जो पलकों के विकास में सहायक साबित होता है (2)। वहीं, ग्लिसरीन में नमी बनाए रखने की क्षमता पाई जाती है (3)। इस कारण यह पलकों को नरम और मुलायम बनाए रखने में मदद करता है।

नोट- इस मिक्सचर को इस्तेमाल करते वक्त आप ध्यान रखें कि यह आंखों में न जाने पाए।

3. जैतून का तेल और अरंडी का तेल

How to Use Castor Oil for Eyelashes in Hindi Pinit

Shutterstock

सामग्री :
  • दो चम्मच अरंडी का तेल
  • दो चम्मच जैतून का तेल
  • एक छोटी शीशी
  • मस्‍कारा ब्रश
कैसे इस्तेमाल करें :
  • एक बोतल लें, जिसमें आप दोनों तेल को मिलाकर रख सकें।
  • बोतल में दो चम्मच जैतून का तेल और दो चम्मच अरंडी का तेल डालें।
  • दोनों तेल को बोतल में अच्छी तरल मिला लें।
  • अब मस्कारा ब्रश की मदद से दोनों पलकों पर ये तेल लगाएं।
  • इसे रात भर आंखों पर लगा रहने दें। फिर सुबह मेकअप वाइप से साफ कर लें।
कैसे है लाभदायक :

आईलैशज बढ़ाने के लिए अरंडी का तेल और जैतून का तेल मिलाकर इस्तेमाल करना काफी फायदेमंद साबित हो सकता है। दरअसल, अरंडी के तेल की तरह जैतून का तेल भी पलकों के विकास में सहायक साबित हो सकता है। साथ ही यह पलकों के लिए मॉइस्चराइजर (नमी देने वाला) और शाइनर (चमक देने वाला) की तरह भी काम करता है (4)

4. स्वीट आलमंड ऑयल (बादाम का तेल) और अरंडी का तेल

How to Use Castor Oil for Eyelashes in Hindi Pinit

Shutterstock

सामग्री :
  • दो चम्मच बादाम का तेल
  • दो चम्मच अरंडी का तेल
  • एक छोटी शीशी
  • मस्‍कारा ब्रश
कैसे इस्तेमाल करें :
  • बोतल में दो चम्मच अरंडी का तेल और दो चम्मच बादाम का तेल डालें।
  • इस मिश्रण को अच्छी तरह मिलाकर मस्कारा ब्रश की मदद से पलकों पर लगाएं।
  • बेहतर परिणाम के लिए इसे रात भर पलकों पर लगाकर रखें।
कैसे है लाभदायक :

अरंडी और जैतून के तेल की ही तरह बादाम के तेल के उपयोग से पलकों को घना, लंबा और चमकदार बनाने में मदद मिलती है (4)। इस कारण अगर इसे अरंडी के तेल के साथ उपयोग में लाया जाता है, तो आपको जल्द ही बेहतर परिणाम देखने को मिल सकते हैं।

5. वैसलीन, नारियल तेल और कैस्टर ऑयल

How to Use Castor Oil for Eyelashes in Hindi (2) Pinit

Shutterstock

सामग्री :
  • दो चम्मच अरंडी का तेल
  • दो चम्मच नारियल का तेल
  • एक चम्मच वैसलीन
  • एक छोटी शीशी
  • मस्‍कारा ब्रश
कैसे इस्तेमाल करें :
  • सीरम बनाने के लिए एक छोटी बोतल लें।
  • इसमें वैसलीन, नारियल तेल और अरंडी का तेल मिलाएं।
  • इन तीनों को अच्छी तरह मिला लें।
  • अब मस्कारा ब्रश की मदद से अपनी दोनों पलकों पर इस सीरम को लगाएं।
  • इसे रातभर अपनी आंखों पर लगा रहने दें और फिर मेकअप वाइप से आंखें साफ कर लें।
कैसे है लाभदायक :

नारियल के तेल में विटामिन ए और ई पाया जाता है, जो बालों के साथ-साथ पलकों को मजबूत करने और उनके विकास में सहायक माना गया है (2)। वहीं, वैसलीन गंदगी हटाने और आईलैशेज में चमक पैदा करने का काम करता है (4)। इस कारण हम यह कह सकते हैं कि आई लैश घनी बनाने के लिये अरंडी का तेल, नारियल तेल और वैसलीन का मिक्सचर लाभकारी परिणाम दे सकता है।

लेख के आगे के भाग में हम जानेंगे कि आई लैश घनी बनाने के लिये अरंडी का तेल कितने दिनों में असर दिखा सकता है।

अरंडी के तेल से पलकें बढ़ने में कितना समय लगता है?

अरंडी के तेल से बेहतरीन परिणाम पाने के लिए आपको इसका रोजाना रात को इस्तेमाल करना होगा। आमतौर पर अरंडी के तेल से पलकें घनी होने में तीन से छह महीने का समय लग सकता है।

अब हम आपको आईलैशज बढ़ाने के लिए अरंडी का तेल इस्तेमाल करते समय ध्यान में रखने वाले जरूरी टिप्स बता रहे हैं।

आईलैशज बढ़ाने के लिए अरंडी तेल इस्तेमाल करने के कुछ और टिप्स

आईलैशज बढ़ाने के लिए कोल्ड प्रेस्ड अरंडी का तेल ही उपयोग में लाया जाना चाहिए। इसका कारण यह है कि अरंडी के तेल को बनाने के अन्य तरीकों में प्रोसेस करने के दौरान अत्यधिक ताप की वजह से उसमें कई पोषक तत्व कम हो जाते हैं, जबकि कोल्ड प्रेस्ड तेल में ऐसा नहीं होता। यही कारण है कि कोल्ड प्रेस्ड कैस्टर ऑयल में पोषक तत्वों की मात्रा सबसे अधिक मौजूद होती है (5)

मात्रा- जैसा कि आपको लेख में अरंडी के तेल के इस्तेमाल के बारे में बताया गया है कि इसे मस्कारा ब्रश के इस्तेमाल से लगाने की सलाह दी जाती हैं। इसका कारण यह है कि मस्कारा ब्रश को तेल में डुबोने पर जितना तेल उसमें आता है, वह पलकों के लिए पर्याप्त होता है।

कब उपयोग करें

  • आप इसे सुबह मेकअप से करीब एक से दो घंटे पहले इस्तेमाल कर सकते हैं।
  • वहीं, बेहतर प्रभाव के लिए इसे रात में सोने से पहले प्रयोग करें और रात भर के लिए छोड़ दें।

लेख के आगे के भाग में हम आपको बताएंगे कि आईलैशज बढ़ाने के लिए अरंडी का तेल कितना सुरक्षित है।

क्या आईलैशज के लिए अरंडी का तेल इस्तेमाल करना सुरक्षित है?

अरंडी का तेल पूरी तरह से प्राकृतिक है, जो आंखों को किसी भी तरह का नुकसान नहीं पहुंचाता। अगर यह थोड़ा-बहुत आंख में चला भी जाए, तो आंखों को किसी तरह का नुकसान नहीं होता। हालांकि, कुछ समय के लिए धुंधला दिखाई दे सकता है, लेकिन ऐसा होने पर आप आंखें धो सकते हैं। अरंडी का तेल आंखों में न लगे, इसके लिए आप थोड़ी-थोड़ी मात्रा पलकों पर लगाएं।

अब तो आप अच्छे से जान ही गए होंगे कि पलकों को घना और लंबा बनाने के लिए अरंडी का तेल क्यों फायदेमंद माना जाता है। लेख में आईलैशज बढ़ाने के लिए अरंडी का तेल इस्तेमाल करने के कई आसान तरीके भी बताए गए हैं। वहीं, हमने आपको इसकी उचित मात्रा और यह कितने दिनों में अपना प्रभाव दिखाएगा, इस बारे में भी पूरी जानकारी दी है। ऐसे में अगर आप भी पतली और टूटती पलकों की समस्या से परेशान हैं, तो यह लेख आपके लिए मददगार साबित होगा। हमारी सलाह है कि अरंडी का तेल इस्तेमाल करने से पहले एक बार लेख में दी गई सभी जानकारियों को अच्छे से पढ़ लें। उसके बाद ही इसका उपयोग करें। अगर इस समस्या से संबंधित कोई अन्य सवाल या सुझाव आपके मन में है, तो उसे नीचे दिए गए कमेंट बॉक्स के माध्यम से हम तक जरूर पहुंचाएं।

The following two tabs change content below.

Ankit Rastogi

अंकित रस्तोगी ने साल 2013 में हिसार यूनिवर्सिटी, हरियाणा से एमए मास कॉम की डिग्री हासिल की है। वहीं, इन्होंने अपने स्नातक के पहले वर्ष में कदम रखते ही टीवी और प्रिंट मीडिया का अनुभव लेना शुरू कर दिया था। वहीं, प्रोफेसनल तौर पर इन्हें इस फील्ड में करीब 6 सालों का अनुभव है। प्रिंट, टीवी और डिजिटल मीडिया में इन्होंने संपादन का काम किया है। कई डिजिटल वेबसाइट पर इनके राजनीतिक, स्वास्थ्य और लाइफस्टाइल से संबंधित कई लेख प्रकाशित हुए हैं। इनकी मुख्य रुचि फीचर लेखन में है। इन्हें गीत सुनने और गाने के साथ-साथ कई तरह के म्यूजिकल इंस्ट्रूमेंट बजाने का शौक भी हैं।

संबंधित आलेख