सामग्री और उपयोग
Stylecraze

गाजर के 24 फायदे, उपयोग और नुकसान – Carrots (Gajar) Benefits, Uses and Side Effects in Hindi

गाजर के 24 फायदे, उपयोग और नुकसान – Carrots (Gajar) Benefits, Uses and Side Effects in Hindi April 23, 2019

गाजर ऐसी सब्जी है, जिसमें पौष्टिक तत्वों की कमी नहीं है। गाजर खाने से न सिर्फ शरीर को पोषक तत्व मिलते हैं, बल्कि कई शारीरिक बीमारियों से भी छुटकारा मिलता है। आपको बता दें कि गाजर विटामिन-ए, विटामिन-सी, विटामिन-के, पोटैशियम व आयरन आदि से समृद्ध होती है (1)। रोजाना इसका सेवन करने से कब्ज व एसिडिटी से लेकर कील-मुंहासों से छुटकारा मिल सकता है। स्टाइलक्रेज के इस लेख में जानिए, गाजर खाना आपके लिए किस प्रकार लाभकारी हो सकता है।

विषय सूची


गाजर के फायदे – Benefits of Carrots in Hindi

शरीर के लिए गाजर के लाभ अनेक हैं। इसमें एंटीऑक्सीडेंट गुण पाए जाते हैं। गाजर आंखों, दांतों, मसूड़ों, मस्तिष्क, पाचन क्रिया, बालों व त्वचा के लिए फायदेमंद होने के साथ-साथ मधुमेह व कैंसर में भी लाभकारी साबित हो सकती है। इसके स्वास्थ्य लाभों को देखते हुए इसे ‘सुपरफूड’ भी कहा जाता है। बेहतर पाचन तंत्र के लिए इसका सेवन जूस या सलाद के रूप में किया जा सकता है। गाजर कैरोटेनॉइड और डाइटरी फाइबर जैसे बायोएक्टिव कंपाउड से समृद्ध होती है, जो शरीर के लिए काफी फायदेमंद माने जाते हैं (2)।

सेहत के लिए गाजर के फायदे – Health Benefits of Carrots in Hindi

गाजर का सेवन आप किसी भी तरह से कर सकते हैं। आप इसका जूस पिएं या फिर इसे उबालकर या सब्जी बनाकर खाएं। नीचे हम आपको सेहत के लिए गाजर खाने के फायदे बता रहे हैं :

1.आंखों के लिए

गाजर आंखों के लिए फायदेमंद मानी जाती है। इसका नियमित सेवन करने से आंखों की रोशनी तेज करने में मदद मिलती है। गाजर विटामिन-ए से भरपूर होती है और विटामिन-ए आंखों के लिए जरूरी पोषक तत्व है। ऐसे में रोजाना गाजर का सेवन करने से शरीर में विटामिन-ए की कमी नहीं होती। आपको बता दें कि विटामिन-ए प्रभावी एंटीऑक्सीडेंट है, जो शरीर को मुक्त कणों से बचाकर रखता है (3)। आंखों के लिए गाजर को पकाकर खाने की तुलना में कच्चा खाना ज्यादा फायदेमंद माना गया है।

एक रिपोर्ट के अनुसार, गाजर में मौजूद कैरोटीन नामक तत्व रात में कम दिखने की समस्या से निपटने में मदद करता है (4)। ऐसे में, अगर किसी को रात में कम दिखने की समस्या है, तो उसे अपने आहार में गाजर शामिल करनी चाहिए।

2. हृदय स्वास्थ्य

गाजर हृदय के मरीजों के साथ-साथ उच्च रक्तचाप के रोगियों के लिए भी फायदेमंद मानी जाती है। यह खून में कोलेस्ट्रॉल के स्तर को नियंत्रित कर हार्ट अटैक के जोखिम को कम करती है। गाजर का रस तनाव को कम करता है, जिससे हृदय भी स्वस्थ बना रहता है। गाजर शरीर में रोग-प्रतिरोधक क्षमता को मजबूत करने का काम भी करती है, ताकि शरीर इन बीमारियों से लड़ सके (5)।

3. दांतों के लिए

दांतों को स्वस्थ रखने के लिए भी गाजर खाने की सलाह दी जाती है। कच्ची गाजर खाने से मसूड़े साफ रहते हैं और प्लाक की समस्या नहीं होती। इसके अलावा, गाजर कैविटी और मुंह की दुर्गंध को भी दूर करने का काम करती है। गाजर एंटीमाइक्रोबियल गुणों से समृद्ध होती है (6), इसलिए यह मुंह के बैक्टीरिया को पनपने से रोकती है। अगर आप स्वस्थ दांत चाहते हैं, तो गाजर का सेवन जरूर करें।

4. कैंसर से बचाव

अध्ययनों से पता चला है कि गाजर कैंसर के खतरे को कम कर सकती है। ऐसा इसलिए है, क्योंकि गाजर पॉली-एसिटिलीन, एंटीऑक्सीडेंट व फालकैरिनोल से भरपूर होती है, जो कैंसर से लड़ने का काम करते हैं। गाजर कैंसर कोशिकाओं को विकासित होने से रोकती है (7)। एक अध्ययन के अनुसार, गाजर का नियमित सेवन गैस्ट्रिक कैंसर के जोखिम को कम कर सकता है (8)।

5. पाचन में मददगार

गाजर फाइबर का अच्छा स्रोत है, जिससे आपको मल त्यागने में कठिनाई नहीं होती। गाजर पाचन क्रिया को सुचारू रूप से चलाने में मदद करती है। इसकी मदद से भोजन अच्छी तरह पचता है (9)। यही कारण है कि कब्ज और एसिडिटी में भी गाजर फायदा पहुंचाती है। ऐसे में, पाचन के लिए आप रोजाना गाजर का जूस पी सकते हैं या फिर गाजर खा सकते हैं।

6. उच्च रक्तचाप के लिए

cardiovascular health Pinit

Shutterstock

उच्च रक्तचाप को नियंत्रित करने के लिए आप गाजर का सेवन कर सकते हैं। गाजर पोटैशियम और बीटा-कैरोटीन तत्वों से समृद्ध होती है (10) (11), जो रक्तचाप को कम करने में मदद करते हैं। गाजर का रस ह्रदय और गुर्दे के कार्यों को नियंत्रित करके सामान्य रक्तचाप को बनाए रखने में मदद करता है।

7. एजिंग से बचाव

गाजर में बीटा-कैरोटीन नामक तत्व पाया जाता है (11), जो एंटीऑक्सीडेंट के रूप में काम करता है। एंटीऑक्सीडेंट कोशिकाओं को क्षतिग्रस्त होने से रोकता है, जिससे चेहरे पर समय से पहले झुर्रियां पड़ने की आशंका कम हो जाती है। गाजर में मौजूद कैरोटीनॉयड और विटामिन-ए भी एंटी एजिंग का काम करते हैं (12)।

8. हड्डी का स्वास्थ्य

गाजर में कैल्शियम भी पाया जाता है, जो स्वस्थ और मजबूत हड्डियों के लिए जरूरी है। हमारा शरीर लगातार हड्डियों से कैल्शियम की छोटी मात्रा को हटाता है और इसे नए कैल्शियम से बदलने का काम करता है। अगर शरीर हड्डियों से अधिक कैल्शियम निकाल लेता है, तो शरीर की हड्डियां कमजोर हो जाती हैं और उनके टूटने की आशंका बढ़ जाती है। इसलिए, शरीर में कैल्शियम की मात्रा बनी रहनी जरूरी है, जिसके लिए आप गाजर का सेवन कर सकते हैं (13)।

9. इम्यून सिस्टम

गाजर विटामिन-सी से समृद्ध होती है। विटामिन-सी को इम्यून बूस्टर के तौर पर जाना जाता है, जिसकी कमी से आपका शरीर कई बीमारियां की चपेट में आ जाता है। शरीर में विटामिन-सी की मात्रा बरकरार रखने के लिए आप रोजाना गाजर का सेवन कर सकते हैं। विटामिन-सी के अलावा गाजर विटामिन-बी6 से भी समृद्ध होती है (14), जो प्रतिरक्षा प्रणाली में बायोकेमिकल रिएक्शन (कोशिका में एक अणु का दूसरे अणु में परिवर्तित होना) को सपोर्ट करती है।

10. मासिक धर्म के दौरान सहायक

गाजर का जूस महिलाओं के लिए फायदेमंद है। ऐसा इसलिए है क्योंकि, गाजर में फाइटोएस्ट्रोजन नामक तत्व पाया जाता है, जो मासिक धर्म के दौरान होने वाले दर्द को कम करने का काम करता है। इसके अलावा, गाजर रजोनिवृत्ति के बाद भी महिलाओं की मदद करती है, क्योंकि यह हॉट फ्लैशेस और रजोनिवृत्ति के लक्षणों को स्थिर करने का काम करती है (15)।

11. मधुमेह

मधुमेह के मरीजों के लिए गाजर फायदेमंद हो सकती है। गाजर में बीटा-कैरोटीन नामक तत्व पाया जाता है, जो डायबिटीज के जोखिम को कम कर सकता है। एक अध्ययन के अनुसार, बीटा-कैरोटीन से ब्लड शुगर नियंत्रित हो सकता है (16)।

12. स्ट्रोक से बचाए

Avoid stroke Pinit

Shutterstock

हार्वड विश्वविद्यालय के एक अध्ययन के अनुसार, गाजर हार्ट अटैक के जोखिम को कम कर सकती है। गाजर बीटा-कैरोटीन और कैरोटीनॉयड जैसे तत्वों से समृद्ध होती है, जो विटामिन-ए परिवार का ही हिस्सा है। एक अन्य अध्ययन के अनुसार, बीटा-कैरोटीन और कैरोटीनॉयड युक्त फल और सब्जी का सेवन करने से स्ट्रोक के जोखिम को 54 प्रतिशत कम किया जा सकता है (17)।

13. प्रेग्नेंसी में सहायक

गर्भावस्था के दौरान गाजर का सेवन करने से कई तकलीफों को दूर किया जा सकता है। गाजर में फोलेट नामक एक विटामिन पाया जाता है, जो खासकर गर्भ में पल रहे बच्चे और मां के लिए लाभकारी हो सकता है। गर्भावस्था के पहले और गर्भावस्था के दौरान फोलेट लेने से बच्चे में ‘न्यूरल ट्यूब डिफेक्ट’ की आशंका कम हो जाती है। न्यूरल ट्यूब डिफेक्ट एक चिकित्सकीय स्थिति है, जिसमें बच्चे की रीढ़, मस्तिष्क और खोपड़ी का विकास ठीक से नहीं हो पाता है। बेहतर स्वास्थ्य के लिए गर्भवती महिलाएं गाजर का सेवन कर सकती हैं (18),(19)।

14. शरीर की अंदरूनी सफाई

गाजर बीटा-कैरोटीन व फाइबर जैसे महत्वपूर्ण तत्वों से युक्त होती है (19), जो पाचन में सहायता कर शरीर को आतंरिक रूप से साफ करती हैं। इसके अलावा, फाइबर शरीर का वजन घटाने और कोलेस्ट्रॉल स्तर को नियंत्रित करने का काम भी करता है। शरीर को डिटॉक्सीफाई करने के लिए आप रोजाना ताजे गाजर का जूस पी सकते हैं।

सेहत के लिए गाजर के फायदे जानने के बाद आगे जानते हैं त्वचा के लिए गाजर के लाभ।

त्वचा के लिए गाजर के फायदे – Skin Benefits of Carrots in Hindi

अंदरूनी स्वास्थ्य के साथ-साथ गाजर त्वचा के लिए भी बहुत फायदेमंद है। गाजर के एंटीऑक्सीडेंट गुण त्वचा संबंधी कई बीमारियों को दूर कर त्वचा को स्वस्थ रखने का काम करते हैं। नीचे जानिए, स्किन के लिए गाजर के कुछ चमत्कारी लाभ –

1. दमकती त्वचा

Flammable skin Pinit

Shutterstock

दमकती और खूबसूरत त्वचा के लिए आप गाजर का इस्तेमाल कर सकते हैं। गाजर विटामिन-सी और कई एंटीऑक्सीडेंट गुणों से युक्त होती है (14), जिस कारण यह त्वचा पर सकारात्मक प्रभाव छोड़ती है। नीचे जानिए दमकती त्वचा के लिए किस प्रकार करें गाजर का इस्तेमाल –

कैसे करें इस्तेमाल?

  • चेहरे के लिए आप गाजर का फेस मास्क बना सकते हैं।
  • इसके लिए आप एक गाजर को अच्छी तरह ग्रांइड कर लें।
  • अब गाजर पेस्ट में एक चम्मच शहद मिला लें।
  • अब इस मिश्रण को चेहरे पर फेस मास्क की तरह लगाएं।
  • सूखने पर ठंडे पानी से चेहरा धो लें।
  • आप हफ्ते में दो बार यह प्रक्रिया दोहरा सकते हैं।

2. दाग-धब्बों के लिए

चेहरे से दाग-धब्बे हटाने के लिए भी आप गाजर का इस्तेमाल कर सकते हैं। गाजर में मौजूद जरूरी विटामिन त्वचा को साफ रखने का काम करते हैं (14)। गाजर में मौजूद विटामिन-सी एक कारगर एंटीऑक्सीडेंट के रूप में काम करता है, जो सोलर रेडिएशन, प्रदूषण और स्मोकिंग के कारण त्वचा को होने वाले नुकसान को कम करता है। वहीं, विटामिन-ई त्वचा के कोलेजन को नियंत्रित करने का काम करता है (20)। दाग-धब्बों से मुक्त त्वचा के लिए आप रोजाना गाजर का जूस पी सकते हैं। इसके अलावा, आप गाजर का फेस पैक भी लगा सकते हैं।

कैसे करें इस्तेमाल?

दाग-धब्बों से मुक्त त्वचा के लिए आप रोजाना गाजर का जूस पी सकते हैं। इसके अलावा, गाजर का फेस पैक भी लगा सकते हैं।

गाजर-पपीता फेस पैक

  • सबसे पहले एक छोटे आकार की गाजर, आधा कप पपीता और आधा कप दूध लें।
  • गाजर व पपीते को छोटा-छोटा काट लें और ग्राइंडर में दूध के साथ डालकर पेस्ट बना लें।
  • अब इस मिश्रण को चेहरे पर 20 मिनट के लिए लगाएं और बाद में ठंडे पानी से चेहरा धो लें।
  • आप हफ्ते में दो बार यह प्रक्रिया दोहरा सकते हैं।

3. एंटी-एजिंग

गाजर विटामिन-सी से समृद्ध होती है (14), जो कोलेजन के उत्पादन को बढ़ाती है। कोलेजन एक प्रकार का प्रोटीन है, जो त्वचा की लोच (Elasticity) का रख-रखाव करने का काम करता है। त्वचा की लोच ठीक रहने से त्वचा झुर्रियों से बची रहती हैं।

कैसे करें इस्तेमाल?

एजिंग से बचे रहने के लिए आप गाजर का रोजाना सेवन कर सकते हैं। इसके अलावा, नीचे बताए जा रहे गाजर के फेस पैक का इस्तेमाल हफ्ते में एक बार कर सकते हैं –

  • एक छोटे आकार का गाजर लें और उसे ग्रांइड कर पेस्ट बना लें।
  • अब इस पेस्ट में दो अंडे के सफेद और तीन-चार चम्मच नींबू के रस को मिलाएं।
  • इस मिश्रण को अच्छी तरह मिला लें और चेहरे पर 20 मिनट के लिए लगाएं।
  • फेस पैक सूख जाने के बाद ठंडे पानी से चेहरा धो लें।
  • हफ्ते में एक से दो बार यह फेस पैक लगाया जा सकता है।

4. सूर्य की तेज किरणों से बचाव

गाजर में बीटा-कैरोटीन पाया जाता है (21), जो सूर्य की हानिकारक किरणों से त्वचा को बचा सकता है। यह त्वचा के टिशू की मरम्मत करता है और पैराबैंगनी किरणों के खिलाफ सुरक्षा कवच बनाता है। सन बर्न जैसी स्थितियों से बचने के लिए रोजाना गाजर का सेवन कर सकते हैं। खासकर, गाजर का जूस इस मामले में ज्यादा फायदेमंद होगा, जो शरीर और त्वचा को हाइड्रेट रखने का काम भी करेगा।

5. सूखी त्वचा के लिए

सूखी त्वचा से बचने के लिए आप रोजाना गाजर का जूस पी सकते हैं। गाजर पोटैशियम और विटामिन-ई से समृद्ध होती है (14)। ये दोनों पोषक तत्व शरीर को डिहाइड्रेट से बचाने का काम करते हैं।

6. हीलिंग क्षमता

आपको जानकर हैरानी होगी कि गाजर का इस्तेमाल घाव, सूजन और कटने के उपचार के लिए किया जा सकता है। गाजर एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण से समृद्ध होती है (22), जो घावों या फिर चोट को भरने का काम करती है। घाव या फिर कटने-जलने की स्थिति में आप कसी हुई गाजर को प्रभावित जगह पर लगा सकते हैं।

7. एक कारगर मॉइस्चराइजर

गाजर एक कारगर मॉइस्चराइजर की तरह भी काम करती है, जिससे आपकी त्वचा मुलायम और आकर्षक बनती है। मॉइस्चराइजर के लिए आप गाजर का फेशियल मास्क बना सकते हैं। इसके लिए आपको चाहिए :

  • कसी हुई गाजर 2 चम्मच
  • एक चम्मच शहद
  • दूध की मलाई एक चम्मच
  • जैतून के तेल की कूछ बूंदें

कैसे करें इस्तेमाल?

  • कद्दूकस किए हुए गाजर का पेस्ट बना लें।
  • अब एक कटोरे में गाजर के पेस्ट के साथ बाकी सामग्रियों को मिलाएं।
  • अब अपने चेहरे को फेशियल क्लींजर से साफ करें और गाजर के मिश्रण को चेहरे पर 10-15 मिनट के लिए लगाएं।
  • आप हफ्ते में एक बार गाजर का फेशियल मास्क प्रयोग कर सकते हैं।

8. फेशियल स्प्रे

आप गाजर का फेशियल स्प्रे भी बना सकते हैं। इसके लिए आप एक छोटे गाजर का जूस निकाल लें और उसमें गुलाब जल मिलाएं। गुलाब जल गाजर के जूस का दोगना होना चाहिए। अब इस लिक्विड को स्प्रे बोतल में स्टोर कर लें और त्वचा के लिए इस्तेमाल करें।

बालों के लिए गाजर के फायदे – Hair Benefits of Carrots in Hindi

विटामिन-ए के साथ-साथ गाजर कई अन्य पोषक तत्वों से युक्त होती है, जो बालों के लिए फायदेमंद हो सकती है। नीचे जानिए बालों के लिए गाजर के लाभ –

1. बाल झड़ने की समस्या से छुटकारा

गाजर का सेवन आप झड़ते बालों की समस्या से निजात पाने के लिए कर सकते हैं। गाजर विटामिन-ए, विटामिन-बी, विटामिन-सी व विटामिन-ई से समृद्ध होती है, जो बालों की मजबूती के लिए जरूरी है (23)। बाल झड़ने की समस्या से बचे रहने के लिए आप रोजाना गाजर का जूस पी सकते हैं।

2. बालों का विकास

Hair growth Pinit

Shutterstock

रोजाना गाजर का जूस पीने से बालों का विकास होता है और घने व आकर्षक नजर आते हैं। गाजर में मौजूद विटामिन-सी और विटामिन-ई स्कैल्प को स्वस्थ रखने का काम करते हैं। साथ ही बालों को असमय सफेद होने से भी बचाते हैं (22)।

गाजर के पौष्टिक तत्व – Carrots Nutritional Value in Hindi

पोषक तत्वपोषक मूल्य (प्रति 100 ग्राम)आरडीए का प्रतिशत
ऊर्जा41 Kcal2%
कार्बोहाइड्रेट9.58 g7%
प्रोटीन0.93 g1.5%
कुल फैट0.24 g1%
कोलेस्ट्रॉल0 mg0%
डाइटरी फाइबर2.8 g7%
विटामिन्स
फोलेट19 µg5%
नियासिन0.983 mg6%
पैंटोथेनिक एसिड0.273 mg10%
पाइरिडोक्सिन0.138 mg5.5%
रिबोफ्लेविन0.058 mg4%
थियामिन0.066 mg6%
विटामिन-ए16706 IU556%
विटामिन-सी5.9 mg10%
विटामिन-के13.2 µg11%
इलेक्ट्रोलाइट
सोडियम69 mg4.5%
पोटैशियम320 mg6.5%
मिनरल्स
कैल्शियम33 mg3%
कॉपर0.045 mg5%
आयरन0.30 mg4%
मैग्नीशियम12 mg3%
मैंगनीज0.143 mg6%
फास्फोरस35 mg5%
सेलेनियम0.1 µg1%
जिंक0.24 mg2%
साइटो न्यूट्रिएंट
कैरोटीन -ए3427 µg
कैरोटीन-ß8285 µg
क्रिप्टो-जैथिन-बी0 µg
लुटें जेआक्शंतहीं256 µg

गाजर का उपयोग – How to Use Carrots in Hindi

जैसा कि हमने पहले बताया, गाजर ऐसी सब्जी है, जिसका सेवन विभिन्न तरीकों से किया जा सकता है। नीचे गाजर का सेवन करने के कुछ खास तरीके बताए गए हैं, जिन्हें आप अपने दैनिक जीवन में शामिल कर सकते हैं –

  • गाजर का जूस बनाकर पी सकते हैं।
  • गाजर को कच्चा खा सकते हैं।
  • आप गाजर की सलाद बना सकते हैं।
  • गाजर की स्मूदी बनाकर सेवन कर सकते हैं।
  • आप गाजर को फ्रेंच फ्राई के रूप में खा सकते हैं।
  • आप गाजर का सूप बनाकर सेवन कर सकते हैं।
  • गाजर के साथ आलू मिलाकर सब्जी बना सकते हैं, जैसे आप अन्य सब्जियां बनाकर खाते हैं।
  • गाजर का हलवा लोकप्रिय भारतीय पकवान है।

नीचे जानिए किस प्रकार बनाएं गाजर का हलवा –

सामग्री :

  • चार से पांच बड़े आकार की गाजर
  • दो कप दूध
  • आधा कप चीनी (ज्यादा मीठे के लिए और चीनी का इस्तेमाल कर सकते हैं)
  • आधा कप मावा
  • 10-12 कटे हुए बादाम
  • 10-12 किशमिश
  • 8-10 काजू बारीक कटे हुए
  • चार से पांच पिस्ता बारीक कटे हुए
  • 5 इलायची पीसी हुई
  • 1/4 कप घी

बनाने की प्रक्रिया :

  • गाजर छिलकर अच्छी तरह धो लें और कद्दूकस कर लें।
  • अब गैस पर बर्तन रखें और उसमें दूध डालकर थोड़ी देर पकाएं।
  • अब उसमें कद्दूकस की हुई गाजर डालें और मध्यम आंच पर पकाएं। बीच-बीच में चम्मच से चलाते रहें।
  • जब गाजर के साथ मिलकर दूध गाढ़ा हो जाए, तो उसमें चीनी और घी डालकर अच्छी तरह मिला दें।
  • थोड़ी देर बाद मावा मिलाएं और अच्छी तरह चलाएं।
  • अब इलायची और ड्राई फ्रूट्स डालें और मध्यम आंच पर पकाते रहें।
  • थोड़ी देर बाद गैस बंद कर दें। लीजिए, आपका लजीज गाजर का हलवा तैयार है।

इसमें कोई दो राय नहीं कि स्वास्थ्य के लिए गाजर के बहुत फायदे हैं, लेकिन इसका अत्यधिक सेवन करने से कुछ दुष्प्रभाव भी हो सकते हैं, जैसे :

  • एलर्जी
  • दस्त
  • कब्ज
  • मतली आदि

अब तो आप गाजर के विभिन्न स्वास्थ्य लाभों के बारे में जान गए होंगे। आज से ही इसे अपने दैनिक आहार में स्थान दें और इसके गुणों का लाभ उठाएं। ध्यान रखें कि अगर गाजर के नियमित सेवन के दौरान लेख में बताए गए दुष्प्रभाव नजर आते हैं, तो तुरंत इसका सेवन बंद करें और डॉक्टर से संपर्क करें। मधुमेह के मरीज इसका सेवन करने से पहले अपने डॉक्टर से जरूर पूछ लें। गाजर पर लिखा यह लेख आपको कैसा लगा, हमें कमेंट बॉक्स में जरूर बताएं। अन्य जानकारी के लिए आप हमसे सवाल भी पूछ सकते हैं।

संबंधित आलेख